Navratri नवरात्रि के 9 दिन भूलसे भी ना करे ये 7 काम माँ दुर्गा रूठ जाएगी | Navratri 2023 - Kabrau Mogal Dham

Navratri नवरात्रि के 9 दिन भूलसे भी ना करे ये 7 काम माँ दुर्गा रूठ जाएगी | Navratri 2023

दोस्तों नवरात्रि का नाम सुनते ही माता रानी के भक्तों का मन प्रसन्नता से भर जाता है माता रानी के दर्शन के लिए सभी आतुर हो जाते हैं नवरात्रि का पर्व इतना अदभुत होता है कि इन नौ दिनों में सभी मनुष्य माता रानी की

भक्ति में डूब जाते हैं दोस्तों आश्विन मास की अमावस्या को पितृपक्ष की समाप्ति होती है और अश्विन मांस के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से नवरात्रि का आरंभ हो जाता है इस बार शारदीय नवरात्रि की शुरुआत 15

अक्टूबर से होने जा रही है और समापन 24 अक्टूबर को होगा नवरात्रि के इन नौ दिनों में माता रानी के अलग-अलग रूपों की पूजा आराधना की जाती है नवरात्रि में माता रानी को प्रसन्न करने के लिए तरह-तरह के उपाय

किए जाते हैं कुछ लोग माता रानी के लिए व्रत एवं उपवास रखते हैं दान धर्म करते हैं वहीं कुछ लोग माता रानी के लिए यज्ञ तथा हवन करते हैं कुछलोग अपने पैर के वाहनों का त्याग करते हैं अर्थात अपनी मनोकामना की

पूर्ति के लिए जूते चप्पल आदि का नौ दिनों तक त्याग करते हैं ऐसे कई प्रकार के कार्य होते हैं जिन्हें करके हम माता रानी के प्रति अपनी श्रद्धा प्रकट कर सकते हैं माता रानी अपने भक्तों से अत्यधिक प्रेम करती है वह उन्हें

कभी दुख में नहीं देख सकती जो भी सच्चे मन से मन को पुकारता है मां उसे कभी अनसुना नहीं करती है नवरात्रि का पर्व शक्ति का पर्व होता है इन नौ दिनों के दौरान आप व्रत का पालन करके मां दुर्गा से जो कुछ भी मांगते हैं माता रानी वह सब कुछ आपको प्रदान करती है माता के द्वार पर आने वाला कोई भी याचक खाली हाथ

नहीं जाता है बस मन में केवल माता रानी के प्रति श्रद्धा होनी चाहिए किंतु दोस्तों शास्त्रों में ऐसे भी कार्यों के बारे में बताया गया है जो मां दुर्गा को अप्रिय होते हैं इन कार्यों को करने वाले व्यक्ति परमां दुर्गा क्रोधित हो जाती है माता के क्रोध के सामने खड़े होने की क्षमता देवताओं के पास नहीं है तो साधारण मनुष्य की बात ही क्या मनुष्य

की पूजा अर्चना से माता जितनी जल्दी प्रसन्न होती है उतनी ही जल्दी माता रुष्ट हो जाती है जब कोई मनुष्य नवरात्रि में ऐसे अनिष्ट कार्य करता है आज हम आपको ऐसे ही साथ कार्यों के बारे में बताने जा रहे हैं जो नवरात्रि

के इन नौ दिनों में किसी भी मनुष्य को भूल से भी नहीं करनी चाहिए तो चलिए जान लेते हैं वह कौन से कार्य है जिन्हें नवरात्रि में करना अशुभ माना गया है सबसे पहला कार्य है स्त्रियों का अपमान दोस्तों आप सभी से विनती

है कि आप नवरात्रि में किसी भी स्त्री का अपमान ना करें हिंदू धर्म में स्त्रियों को माता रानी का रूप ही माना जाता है स्त्रियां माता रानी का ही अंश होती है माता रानी स्त्रियों का सम्मान करने वाले मनुष्य पर सदैव भी अपनी कृपा बरसती हैस्त्रियां स्वयं की खुशियों का त्याग करके आपके घर को स्वर्ग बनाती है स्त्री स्वयं उपवास करके

अपने पति की लंबी आयु की कामना करती है जीवन भर अपने परिवार के लिए बिना ढके कार्य करती है ऐसी पतिव्रता स्त्री का अपमान करना महा पाप होता है जो मनुष्य नवरात्रि में किसी भी स्त्री का अपमान करता है स्त्रियों की तरफ गलत भावना से देखा है उसे मां दुर्गा अवश्य ही दंड देती है दूसरी बात है द्वारा आए याचक का अपमान ना करें दोस्तों यदि नवरात्रि में आपके द्वार पर कोई कन्या वृद्धि स्त्री अथवा कोई दुखी मन भोजन की

इच्छा से इच्छा मांगती है तो उसका भूल से भी अपमान ना करें अथवा उन्हें खाली हाथ घर से जाने ना दे यदि आपके घर में कोई दासी है तो उसका भी अपमान ना करें नवरात्रि में उन्हें कुछ न कुछ भेंट अवश्य दें इससे मां दुर्गा अत्यंत प्रसन्न होती है और आपकी हर मनोकामना को पूर्ण करती हैतीसरी बात है नवरात्रि के इन नौ दिनों में

किसी भी प्रकार का अनिष्ट कार्य न करें जैसे झूठ बोलना पैसे की चोरी अथवा धोखेबाजी करना निष्पाप पशुओं को सताना किसी गरीब को नीचा दिखाना आदि कार्य भूल से भी ना करें माता रानी को ऐसे कार्य करने वाले लोग बिल्कुल भी पसंद नहीं होते ऐसे कार्य राक्षसी प्रवृत्ति के होते हैं जिससे मन अत्यंत क्रोधित हो जाती है चौथी बात है

तांशिक आहार का सेवन दोस्तों नवरात्रि में इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि आप भूल से भी तामसिक आहार का सेवन न करें जैसे मांस मदिरा आदि साथ ही लहसुन प्याज आदि भी तामसिक चीज ही है इन्हें भी ग्रहण करना उचित नहीं किंतु आप मांस का सेवन कतई ना करें नहीं तो मां दुर्गा आप पर क्रोधित हो जाएंगे

नवरात्रि में केवल सात्विक आहार को ही ग्रहण करें पांच भी बात है शारीरिकनवरात्रि के 9 दिन फूल से भी शारीरिक संबंध ना बनाएं जो भी मनुष्य व्रत का पालन करता है उसे तो भूल से भी शारीरिक संबंध नहीं बनना चाहिए जो व्यक्ति नवरात्रि के 9 दिन ब्रह्मचर्य व्रत का पालन करता है मां उसकी हर इच्छा को पूर्ण करती है छठी बात है घर को खाली न छोड़ें नवरात्रि का कलश यदि आपने अपने घर में स्थापित किया हुआ है तो आप

अपनेघर को कभी खाली ना छोड़े घर में किसी को अवश्य ही रुकना चाहिए नवरात्रि में मां आपके घर में किसी भी क्षण प्रवेश कर सकती है ऐसे में घर बंद हो घर में कोई भी उपस्थित ना हो तो मां की कृपा आपको प्राप्त नहीं होगी अगर घर में कोई भी ना हो तो बिल्ली आदि प्राणी कलश को गिरा सकते हैं जिसे बहुत ही बड़ा अपशगुन माना जाता है इसीलिए घर को कभी खाली नहीं छोड़ना चाहिए साथ ही विष्णु पुराण के अनुसार नवरात्रि में दिन में सोना वर्जित माना गया हैसातवीं बात है बाल नाखून आदि काटना नवरात्रि में बल तथा नाखून आदि काटने की

मनाई की गई है साथ ही नवरात्रि के 9 दिन चमड़े की वस्तुओं का प्रयोग करना भी वर्जित बताया गया है क्योंकि यह चीज पशुओं को मारकर बनाई जाती है नवरात्रि का व्रत धारण करने वाले व्यक्ति को इन नियमों का कठोरता से पालन करना चाहिए तो दोस्तों आप भी नवरात्रि के 9 दिन यह कार्य भूल से भी ना करें उम्मीद है आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी वीडियो को लाइक जरुर करें कमेंट में जय मां दुर्गा अवश्य लिखें साथ ही चैनल को सब्सक्राइब करें आप सभी का धन्यवाद नमस्कार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *