mahadev message ?️ अब वो स्वयं तुम्हारे पास लौट रहा है ?️ shiv sandesh ❤️ universe message - Kabrau Mogal Dham

mahadev message ?️ अब वो स्वयं तुम्हारे पास लौट रहा है ?️ shiv sandesh ❤️ universe message

है वहां प्रत्येक परिस्थिति में यह एहसास

हमेशा विद्यमान रहता

है चाहे जो कुछ भी हो जाए वह परिस्थिति

में सब कुछ संभाल

लेगा यहां भरोसा होता है वहां संदेह का

प्रश्न ही नहीं उठता मेरे

बच्चे वही जीवन में सब कुछ समाप्त होने

जैसा कुछ भी नहीं होता

है सामने प्रत होने वाला प्रत्येक अंत एक

नई शुरुआत प्रतीत होती

है वह नई शुरुआत जो तुम्हारी प्रतीक्षा कर

रही होती है इसका आभास तुम्हें आने वाले

समय में होगा मेरे बच्चे अगर तुमने मेरे

बात नहीं सुनी तो सबसे बड़ी होगी रे मन

में मेरे बच्चे मैंने यह देखा है कि

तुम्हारे मन

में कभी अच्छे तो कभी बुरे विचार आते रहते

तुम कभी-कभी अच्छे विचारों की ओर आकर्षित

होते हो

तो य तुम्हें इस जीवन में चल रहे कष्टों

से इतनी पीड़ा होती है कि तुम्हे सोचते हो

कि मेरे जीवन से यह पीड़ा तो खत्म होगी

नहीं ऐसा ना हो कि मैं बुरे रास्ते पर चल

पडू मेरे बच्चे तुम अपनी सोच को कभी खराब

मत करना होने

देना यदि तुमने नकारात्मक पक्ष की ओर

ध्यान दिया तुम्हें गड्ढे में धकेल

देगी इससे तुम्हारा ही नुकसान होगा मेरे

बच्चे इसलिए हमेशा सकारात्मक पक्ष की ओर

ध्यान

दो वह भक्ति भी असफल हो जाती

है ऐसा करके तुम बुराई में विजय प्राप्त

कर लेते हो

किंतु तुम मुझसे दूर हो जाते

हो मेरे बच्चे तुम्हें सच्चाई के रास्ते

पर चलना है या बुराई के रास्ते पर चुनाव

तुम्हारा

होगा मेरे बच्चे एक बात याद रखना मन के

भटका में कभी मत

आना मन तुम्हें भटकाने की पूरी कोशिश

करेगा

परंतु

अपने मन में अच्छी जो ध्यान दोगे तो

तुम्हारा मन स्वर्ग की लहरों की तरह लहर

लता ल रता नजर आएगा मेरे संदेश के माध्यम

से तुम अपने जीवन में अच्छा कर

पाओगे जब भी तुम्हे कोई कल्याणकारी कार्य

करोगे तुम सुखी रहोगे आशा है तुम मेरी बात

का मान रखोगे

हमेशा मेरे बच्चे अभिमान एक स देती है तो

बेईमान बना देती है और विनम्रता एक साधारण

व्यक्ति को महान बना देती आप जो भी करें

उसे हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ

दे सुना आप ना अपने आप पर संदेह करेंगे और

ना ही पता मेरे क्योंकि हमें उसे हमारा

जीवन निर्वाह होता है लेकिन हम जो देते

हैं उसे जीवन का निर्माण होता

जब आप खुद के प्रति संबंदन में होते हैं

तो आपको आंतरिक शांति का मार्ग मिल जाता

है मेरे बच्चे जिंदगी के तपिश को शांत

कीजिए अक्सर भी पौधे मुरझा जाते हैं जिनकी

परवरिश सदैव छा में होती

है जीवन में जब भी कभी उथल पुथल हो तो

ध्यान रखें कि परिस्थिति आपको सब देने के

लिए स्वयं उपस्थित हो रही है जिसके लायक

आप

हो धैर्य प्रतीक्षा करने की क्षमता नहीं

बल्कि प्रतीक्षा करते समय एक अच्छा रवैया

रखनी क्षमता है ऐसा कोई फर्क नहीं पड़ता

कि आपने आप जीवन में कितनी गंदी आती है और

कितनी प्रगति की

है बल्कि आप उनसे एक कदम आगे जा सकते हैं

जो आगे बढ़ने की कोशिश भी नहीं कर रहे

[संगीत]

हैं पीछे मुड़कर अपने दुखों की सूची पर

ध्यान दे तो नहीं पता चलेगा कि उनकी सूची

की दुख सबसे ज्यादा

है मेरे बच्चे उसी तरह सुखों की भी सूची

होती है इस पर अपनी दृष्टि सदा रखते हैं

मेरे बचपन की प्रतीक्षा तुम्हारा दिन

सदियों से कर रहा

है प्रतीक्षा की सारी घड़ी आ गई है संकोच

नहीं करते अब वह स्वयं तुम्हारे पास लौट

रहा

है क वास में आएगा

जब तुम दोनों एक दूसरे के सामने आमने

सामने हो ग भीड़ में भी तुम उसे पहचानने

की क्षमता रखते

हो कोई सपना नहीं बल्कि

वास्तविक जिसे तुम अपने पूरे एहसास के साथ

जियोगे संसार में ऐसा कुछ भी नहीं जो

असंभव है अगर तुम किसी चीज को पाने की

चाहत रखते

हो तो पूरी कायनात उसे मिलाने की कोशिश

करती है

[संगीत]

यह सब कुछ इतना मौका सुंदर होगा कि देखने

वालों की नजर तुमसे हटेगी ही

नहीं यह दृश्य अचानक से घटेगी

चारों तरफ सुनहरा मौसम हो जाएगा उसके पास

आते ही तुम्हारा दिल तुम्हारे काबू में

नहीं

[संगीत]

रहेगा सब कुछ इतना सुनहरा कि तुम समझ ही

नहीं

[संगीत]

पाओगे उसके आने से चारों तरफ खुशियां ही

खुशियां छा

जाएगी यह सब इतना अचानक

होगा कि तुम परिकल्पना विश्वास यादों में

तुम

झूलना नजर

आओगे ऐसी जोड़ी बनेगी कि सारा विश्व

तुम भी याद रखोगे

क्या मिलन बहुत अद्भुत होगा मेरे बच्चे

ईश्वर पर विश्वास

रखो अब तुम्हारे साथ सब कुछ अच्छा होगा

सारे सुख प्राप्त होंगे तुम्हारा कल्याण

हो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *