Maa Durga-अब तुम नहीं वो रोएगा - Kabrau Mogal Dham

Maa Durga-अब तुम नहीं वो रोएगा

आज का संदेश तुम्हारी आंखों के समक्ष आना

कोई इत्तेफाक नहीं किसी खास उद्देश्य से

आज ना तुम्हारे लिए है संदेह लिख रही हूं

शीघ्र अति शीघ्र तुम्हें है संदेश प्राप्त

हो जाएगा मेरे प्रिया मैं जानती हूं तुम

बहुत समय से संघर्ष कर रहे हो आर्थिक रूप

से भावनात्मक रूप से और आध्यात्मिक रूप से

तुम्हारा मां साफ है इसी करण कई प्रकार से

लोग तुम्हें प्रताड़ित करते हैं अदृश्य

शत्रु तुम्हारे आत्मबल को बार-बार तोड़ने

का प्रयास करते हैं अभी तो इस यात्रा में

बीचों-बीच खड़े हो तूफान ने तुम्हें घर

रखा है फिर भी तुम साहस के करण खड़े हो

क्योंकि मैं तुम्हारे साथ हूं मैं

तुम्हारी तरफ ए रहे किसी भी प्रहार को को

तुम तक नहीं पहुंचने दूंगी मेरे प्रिया

डरो मत मैं जल्द ही सब कुछ परिवर्तित करने

वाली हो तुम्हारे शत्रु पराजित होंगे तुम

बस अपना विश्वास बनाए रखो तीन व्यक्ति

तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने वाले हैं

कोई ऐसा जो तुम्हारे अतीत से परिचित है और

जानता है की तुम्हें समर्थन कैसे देना है

कोई ऐसा जो तुम्हारी क्षमताओं को जानता है

और कोई ऐसा जो तुम्हें आर्थिक लाभ दिल

सकता है यह तीनों प्रकार के व्यक्ति

तुम्हारे बहुत निकट है शीघ्र ही स्थिति

करवट बदलेगी तुम्हारे हालात भी बादल

जाएंगे तुम अपने जीवन में अनंत प्रसन्नता

का अनुभव करोगे तुम्हारे आसपास के लोग

खुशी को महसूस कर पाएंगे जल्द ही प्रकृति

में कुछ नए रंगो को बिखरते हुए तुम देखने

वाले हो मेरे पिया स्वयं को ग्रहण करने की

ऊर्जा को लेकर आओ और आशीर्वाद को ग्रहण

करने के लिए तैयार हो जो क्योंकि जब

तुम्हें परमात्मा की योजनाओं का पता चलेगा

तुम्हें एहसास होगा की तुम्हारे चिंता तो

यूं ही व्यर्थ की थी परमात्मा तो रचनाकार

है वह कब किस कहानी को किस दिशा में मोड

दे यह कोई नहीं जान सकता कभी कभी वह

संघर्ष से भारत एक मार्ग इसलिए बनाते हैं

ताकि तुम स्वयं की शक्ति से परिचित हो सको

बार-बार स्वयं को स्मरण करते रहना की

ईश्वर तुम्हारे साथ हैं तुम्हें उत्साह से

भर देगा मेरे प्रिया तुम कार्यशील हो सदैव

विश्वास से भरे हुए हो शिग्रही तुम्हारे

आसपास के लोग तुम्हारा नया स्वरूप देखेंगे

लोगों के मुख से बाढ़ रही तुम्हारी

प्रसन्नता को देखेंगे लोग तुमसे अत्यधिक

प्रभावित होने लगेंगे मेरे प्रिया तुम

चमत्कार के सामने खड़ी हो कोई अध्यक्ष

दुखद घटना जल्द ही तुम्हारे जीवन में घटना

वाली है हिम्मत मत हरण अभी तुम्हें

विश्वास बनाए रखना है तुम्हारा जीवन

परिवर्तन की और है हां प्रारंभ होने जा

रहा है तुम्हारे जीवन का एक अद्भुत सफर

तुम जैसे ही सफर पर कम रखोगे तो मैं बहुत

सारे नए अनुभूति प्राप्त होंगे तीन ऐसे

मित्र जो तुम्हारे जीवन से बहुत पहले रूठ

कर जा चुके थे वह पुनः तुम्हारे जीवन में

दस्तक देंगे बहुत साड़ी समस्याओं का दूर

जो तुम्हारे जीवन में चला था वह समाप्ति

की और जा रहे हैं इन दोनों बहुत सारे

प्रश्न तुम्हारे मां में चल रहे थे परंतु

इन सभी प्रश्नों के उत्तर तुम स्वयं ही

प्राप्त कर लोग तुम्हारी संघर्ष भरे जीवन

के दिन अब समाप्त हुए अब जो दिन प्रारंभ

हो रहे हैं वह खुशियों और आनंद के हैं

मेरे प्रिया तुमने हमेशा ही दूसरों के लिए

बहुत कुछ किया बहुत कुछ सहाबी है परंतु अब

तुम्हें उन सभी के पूर्ण फल प्राप्त होंगे

जो तुम्हें अब मिलने वाला है वह बहुत ही

दिव्या और अद्भुत है तैयार रहो एक सुनहरे

सफर के लिए मेरी प्रिया जी सफर पर तुम कम

रखना वाले हो वह मार्ग ईश्वर द्वारा फूलों

से सुसज्जित है पुराने मित्र तुमसे

जुड़ेंगे और शत्रु तुमसे स्वयं ही दूर हो

जाएंगे यह खुशियों के दिन है चारों दिशाओं

से हमें सहयोग की प्रताप होगी आने वाली

खुशियों को तुम अभी से ही महसूस कर सकते

हो महसूस करो ब्रह्मांड की दिव्या

शक्तियां तुम्हारे आसपास है मेरी प्रिया

तुम दिव्या शक्ति को तभी महसूस कर सकते हो

जब तुम्हारा हमारा शांत होगा अपने मां की

हलचल को शांत करो तुम्हारे लिए कुछ बहुत

ही अद्भुत लिखा गया है ब्रह्मांड की

शक्तियां तुम्हें बहुत कुछ देना चाहती हैं

केवल पुरानी बटन को भूल जो अब अपने अतीत

को भूल जो जो तुम्हें तकलीफ दे रहे हैं अब

अपने हृदय से उन्हें क्षमा कर दो जिन्हें

तुम क्षमा नहीं कर का रहे हो अपने मां को

शांत करो और अपने जीवन में एक कम आगे

बढ़ाओ फिर देखो क्या अद्भुत करिश्मा होता

है तुम्हारे जीवन में चमत्कार होंगे और सब

कुछ एकदम से बादल जाएगा मेरे प्रिया

दिव्या आत्मा हो इसलिए तैयार रहो एक

सुनिश्चित जीत के लिए टाइप यस आईएफ यू

बिलीव डिवाइन ब्लेसिंग मेरे प्यार बच्चे

इस संसार में मैंने सभी को किसी ना किसी

उद्देश्य से भेजो है सभी कोई एन कोई कार्य

करने के लिए संसार में आए हैं तुम भी आएगा

तुमको भी मैंने ही भेजो है

मैंने तुम्हें जी कार्य के लिए भेजो है

उसे तुम करोगे इसमें तुम्हें कोई भी संदेह

नहीं करनी चाहिए यदि कोई संदेह हो तो

निकाल कर फेक दो मेरे बच्चे

मां में संदेह के भावों को ना आने दो

संदेह के भावों को बिल्कुल निकाल फेंका

मेरे प्यार बच्चे तुम्हें अच्छे विचारों

को ही मां में उत्पन्न करना होगा जो

तुम्हारे हिट में हो वही तुम्हें सोचना

होगा

ऐसी प्रत्येक वस्तुओं को जो तुमको दुख

निराशा और असफलता की और ले जान वाली है

उसे अपने पास आने ही क्यों देते हो ऐसे

विचारों को अपने पास ना आने दो ऐसे विचार

बिल्कुल त्याग दो उन भावों का तिरस्कार कर

दो जो निराशा से भरे हैं जो संधि है जनक

है जो तुम्हारे प्रगति में बाधक है जब

तुम्हारी आदत सदा शोभाज और आशावादी विचार

ही बनाए रखना की होगी तुम्हारे मां में

सदा आनंद और उत्साह भारत रहेगा तब आप

निश्चित रूप से अधिक कार्य करोगे सफलताएं

प्राप्त करोगे कभी दुखों को और निराशाओं

का मुंह नहीं देखना पड़ेगा मेरे प्यार

बच्चे जब तुम्हारा भाव सदा आशा में और शुभ

सूचक रहेगा तब तुम आनंदमय और प्रश्न रहोगे

धर्ता पूर्वक कार्य करते रहने की आदत बना

लेते हो तो सदा आगे ही बढ़ते रहोगे अगर

शत्रु तुम्हारी सफलता सुख और शांति में

बड़ा पहुंचना है तो तुम उसे परस्त कर सकते

हो मेरे प्यार बच्चे तुम्हारी धरना यदि

यही है की बिना धन पणजी के संसार में

सफलता नहीं मिलती है है तो इसे मां से

निकाल दो

मां बच्चन और कर्म से तुम प्रियतन करो की

तुम्हारा भविष्य उज्जवल होना चाहिए तुम

सभी प्रकार से सुखी सफल और उन्नत को तो

तुमको सभी आवश्यक चीज प्राप्त होती चली

जाएगी

मेरे प्यार बच्चे सफलता के लिए संसार में

प्रवेश करते समय जो धन पूंजी तुम्हारे पास

बिल्कुल नहीं थी वह आई चली जाएगी क्योंकि

तुम्हारे पास आशामय उत्तम विचारों की

पूंजी है और वही सबसे बड़ी पूंजी है कुछ

लोग अपनी इच्छाओं को स्वयं कमजोर बना लेते

हैं वे नहीं जानते की इच्छाओं की पूर्ति

के लिए दृढ़ निश्चय और भाव जरूरी है और

निरंतर मलमल बच्चन और कर्म से प्रयास करते

रहने से ही अपने इच्छाओं को पूर्ण की

शक्ति मिलती है

इच्छाएं तभी पूर्ण हो शक्ति हैं जब भी

प्रबल होते हैं कमजोर इच्छाएं अपूर्ण रहते

हैं प्रारंभ में यदि इच्छाएं पूर्ण होती

दिखाई ना दे किसी प्रकार की रुकावट है तो

तनिक भी घबराने की जरूर नहीं है

प्रियतन जारी रखें

निश्चित रूप से तुम उन रूकावटों को पर कर

लोग तुम्हारी ही जीत होगी बस यह मत भूलना

की अभिलाषाएं तभी पुरी होती हैं जब दृढ़

निश्चय के साथ साथ परिश्रम और पर्यटन किया

जाते हैं

दृढ़ निश्चय ही सफल हुआ करते

उत्पादन शक्ति बढ़ाने के लिए इच्छा और

दृढ़ निश्चय के साथ प्रयास करना आवश्यक है

तभी सफलता प्राप्त होती है

मेरे प्यार बच्चे तुम मेरे ही अंश हो यह

तुमको प्रत्येक क्षण ध्यान में रखना चाहिए

मैंने तुमको भी फूड बनाकर भेजो है जब

तुमको यह विश्वास भरण होगा तो तुमको शक्ति

प्राप्त होगी

उत्पादक शक्ति बाढ़ जाएगी तुम अधिक से

अधिक कार्य कर सकोगे तुम्हारे विचारों में

सदा वही बातें हो वही सोच और कहें जिन्हें

तुम पूर्ण करने की इच्छा रखते हो

तरह-तरह की व्यर्थ बातें सोने यह खाने से

क्या लाभ

[संगीत]

मेरे बच्चे कुछ लोग घर निराशावादी होते

हैं और वे सदा अपने दुर्भाग्य पर आंसू

बहते हैं कुछ सदा अपनी असफलताओं का रोना

रोटी रहते हैं और भाग्य

[संगीत]

[संगीत]

रन धोने की बीमारी से छुटकारा का लो तुम

यही सोचो की ऊंचे पवित्र और उत्तम विचारों

से ही आत्मा को सुख शांति और आनंद प्राप्त

होता है तुम जी विषय में अनपढ़ होना चाहते

हो उसकी गहराईयां को जानना और ऊंचाइयों को

चुन चाहते हो उसके लिए पुरी शक्ति से मां

से उसने तब तक लगे रहो जब तक तुम को सफलता

के दर्शन ना होने लगे तुमको उसने संदेह ही

ना हो मेरे प्यार बच्चे तुम्हारे जीवन को

वास्तविक जीवन तुम्हारा आदर्श ही बनाता है

जैसे तुम्हारा आदर्श होगा वैसे ही तुम हो

गए तुम अपने आदर्श को अपने चेहरे

तुमको देखते ही तुम्हारे आदर्श का पता ग

सकता है तुम्हारे आदर्श तुम्हारे विचार और

मां के भाव सदा उत्तम ही रखती चाहिए

तुम्हारा है दृढ़ विश्वास और निश्चय हो की

तुम्हारा किसी भी प्रकार का संबंध

निर्धनता कमजोरी और आज्ञा से नहीं है रोग

शोक से तुम्हारा कोई वास्ता नहीं है

तुम्हारे हाथों से कोई कार्य बड़ा नहीं

होगा तुम सदा अच्छा कार्य ही

कर बुराइयों से तुम्हारा संबंध नहीं है

अगर तुम ऐसा कर सकते हो तो मेरे बच्चे

तुम्हें अपनी सफलता से कोई भी नहीं रॉक

सकता मैं कभी नहीं चाहती की मेरे बच्चे को

असफलता का सामना करना पड़े मेरे प्यार

बच्चे मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

सदा खुश रहना मेरे बच्चे मैं तुमसे कुछ

जरूरी बात करना चाहती हूं मुझे देख कर

अनदेखा मत करो

इसलिए कभी भी मेरी दूसरी बात को अनसुना

ध्यान देखा भूल कर भी मत करना मेरे बच्चे

ध्यान दो तुम्हारे जीवन के उसे अधूरे पाल

में जहां तुम खुद को अकेला महसूस करते हो

सोचो उसे बात के बड़े में जहां पर तुम

बहुत कमजोर पढ़ने हो यदि जहां तुम कमजोर

पढ़ रहे हो वहां पर तुम खुद को शक्तिशाली

बनाने के लिए कोई ऐसे कार्य करना प्रारंभ

कर दो जिससे कमजोर नहीं अपने आप बलशाली

महसूस कर पाव जी प्रकार पेड़ की जो डाली

कमजोर पढ़ने लगती है उसको टूटने के पहले

यदि सहारा देकर दूसरी डाली के साथ बंद

दिया जाए तो अवश्य ही नहीं टूटेगी और वहीं

की वहीं रुक जाएगी इसी प्रकार जीवन में

तुम्हारे यदि कुछ ऐसा है लम्हे महसूस हो

रहा है जहां पर तुम्हारे साथ कुछ गलत या

तुम्हें अपने आप के अंदर कमजोर महसूस करवा

रहा है उसके लिए तुम आज से अभी से प्रयास

करना प्रारंभ करो और वह प्रयास कैसे करना

है वह तुम्हें मैं विस्तार से बताऊंगी और

समझाऊंगी जब भी तुम संध्या कल में सोते हो

उससे पहले बार गहरी सांस लेना और अपनी

आंखों को बैंड कर केवल अपने इस्ट देवता को

याद करते हुए ऐसा महसूस करना की तुम जहां

पर कमजोर पद रहे थे वहां एक अधिक

शक्तिशाली इंसान हो कमजोर इंसान नहीं हो

किसी के तोड़ने पर टूट जो समय कितना भी

खराब हो लेकिन मैं शक्तिशाली इंसान हूं

जिसका खराब समय भी कुछ नहीं बिगाड़ सकता

क्योंकि मेरे साथ साक्षात लगती है अंदर

महसूस करो आंखों को बैंड करके बार-बार

गहरी सांस के साथ उसे उसे शक्ति को अंदर

महसूस करो जैसे-जैसे तुम्हें करोगे वैसे

वैसे सच में तुम्हारे अंदर वही शक्ति

विराजमान होती चली जाएगी क्योंकि जैसा

महसूस तुम करते हो वैसा तुम्हारे साथ सच

में घटित होने लगता है यदि बार-बार डरते

रहोगे तो निश्चित ही वह तुम्हें एक ऐसी

दिशा में ले जाएगा जहां पर तुम्हारे साथ

कोई अनहोनी हो शक्ति है तुम कमजोर पद सकते

हो और यदि तुम खुद को बलशाली समझ कर यह

थान लो की तुम्हारे साथ कुछ गलत नहीं होने

वाला तो मेरे बच्चे इस बात का विश्वास

रखना तुम्हारे साथ कुछ गलत नहीं होगा और

ना ही तुम जीवन में आगे चलते हुए मार्ग

में खुद को कमजोर महसूस करोगे तो इसके साथ

ही सोनी से पहले सोची हुई बात तुम्हारे

मस्तिष्क के साथ साथ पूरे शरीर पर हेवी

रहती है और वही शक्ति बनकर पुरी रात्रि

तुम पर असर करती है

उठने के बाद भी तुम्हें इसी तरह शांत मां

से आंखों को बैंड करके बार-बार इसी बात को

सोचना है सोने के बाद तुम जब स्नान करो

स्नान के बाद पूजा के समय भी तुम्हें

आंखों को बैंड करके इसी बात को बार-बार

सोचते रहना है अर्थात यही तुम्हें पूरे

दिन में जितने बार भी तुम्हारा मां ज्यादा

परेशान हो बार-बार अपने मां को शांत करके

अपने इश्क देवता का नाम लेते हुए इसी

प्रकार का सोचना दोनों के बाद तुम्हें

तुम्हारे अंदर स्वयं बाद अब दिखाई देगा

क्योंकि एक ही बात को जब तुम लगातार सोच

कर अपने ऊपर उसे बात का असर होने के लिए

प्रकृति में सभी विद्यमान शक्ति को एकत्र

करते हो तो तुम्हारे जीवन में एक शक्ति

तुम्हारे अंदर विराजमान हो जाति है और तुम

हर वक्त को मेरे ऊपर छोड़ दो और विश्वास

रखो मुझमें पर की जो होगा वह सही होगा

वैसे तुम्हारी बुद्धि में विद्यमान शक्ति

को आकर्षित करेगी जो

तुम्हारे हर कार्य

निकलता चला जाएगा

और सब कुछ सही होगा जीवन खुशी से भरेगा

मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा करना मैं

सदा तुम्हारे साथ हूं मेरे बच्चों तुमने

हमें याद किया तो हम ए गए हैं आज हम

तुम्हें एक महत्वपूर्ण संदेश देने आए हैं

मेरे बच्चे तुमने अपने जीवन में बहुत बुरे

कर्म करें जिसका तुम्हें बहुत पछतावा हो

चुका है यह हम देख रहे हैं की तुमने अपने

बुरे कर्मों के लिए स्वयं को काफी दंडित

कर दिया है और यदि तुम अपने कर्मों के लिए

खुद को उत्तरदाई समझते हो तो यह तुम्हारी

कोमलता है

जो तुम्हारे कोमल मां को दर्शाती है

जिसमें तुम अपने द्वारा किया गए बुरे

कर्मों को स्वीकार करते हो और यदि

भी समझते हो तो यह तुम्हारी निर्भरता है

यदि तुम्हें यह सोचते हो की तुम्हारे दुख

का करण कोई और है तो तुम सुखी कैसे र

पाओगे मेरे बच्चे तुम्हारे दुखों का करण

तुम्हारे स्वयं के अपने कर्मों की वजह से

ही है यदि तुम दुखी रहते हो तो उसका दोस्त

किसी और को मत तो बल्कि स्वयं के भीतर

झांको की तुम्हारे अंदर ऐसी कौन सी कमी है

जिसके करण यह दुख दुख तुम्हारी जिंदगी में

है क्योंकि दूसरों को परिवर्तित करना

हमारे बस में नहीं

अलग-अलग प्रकार से स्वयं के लिए सोचता है

तथा कार्य करता है पर मेरे बच्चे तुम केवल

अपने आप को परिवर्तित कर सकते हो यही एक

स्वतंत्रता है तुम्हारे पास जिंदगी में एक

बात हमेशा याद रखना मेरे बच्चे जब कोई

व्यक्ति पहाड़ चढ़ता है तो वह सदा ही झुक

कर चला है तथा जब कोई व्यक्ति पहाड़ उतरता

है तो वह हमेशा अकड़ कर चला है अगर कोई

झुक कर चला है इसका मतलब है की वह व्यक्ति

ऊंचाइयों पर जा रहा है

इस प्रकार मेरे बच्चे यदि कोई व्यक्ति

अकड़ कर चल रहा है तो इसका अर्थ है की वह

नीचे की और जा रहा है इसलिए मेरे बच्चे

जीवन में कभी कभी हमें आगे बढ़ाने के लिए

झुक कर चलना आवश्यक होता है जो इस जीवन

में झुकता है वही सब कुछ प्राप्त करता है

मेरे बच्चे परिवार से अलग होने की कभी मत

सोचना क्योंकि सुख पत्तों की कोई कद्र

नहीं होती जो पेड़ से अलग होकर गिर करते

हैं तुम्हारा परिवार तुम्हारे लिए उसे

वृक्ष के समाज है जो अपने पत्तों को अपने

में समेत कर रखना है और जो पेट पेड़ से

अलग होकर गिर जाते हैं वह छोटी सी हवा के

झोंके से ही वहां से दूर कहानी उड़ जाते

हैं या टूट कर बिखर जाते हैं हो सकता है

की कुछ समय तक आपको लगे की यही मेरी

दुनिया है और यही मेरी खुशियां हैं इस

दुनिया से बेहतर मेरे लिए और कुछ भी नहीं

पर कुछ वक्त के बाद आपको खुद ही एहसास हो

जाएगा की परिवार कितना जरूरी है परिवार तो

उसे मोतियों की तरह

[प्रशंसा]

अमूल्य होती है तुम्हारा कल्याण हो मेरे

बच्चे सदा खुश रहो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *