Farmers Protest: Kisan Andolan से कैसे हिल गई सरकार | Delhi | UP | Punjab | Haryana | Breaking News - Kabrau Mogal Dham

Farmers Protest: Kisan Andolan से कैसे हिल गई सरकार | Delhi | UP | Punjab | Haryana | Breaking News

दिल्ली से सटे हरियाणा पंजाब और यूपी के
बॉर्डर पर मुस्तैदी बढ़ा दी गई है बॉर्डर
को कटीरी तार सीमेंट के बैरिकेड से कवर
किया जा रहा है किसान मार्च को देखते हुए

उत्तर पूर्वी दिल्ली में धारा 144 लागू की
गई है प्रदर्शनकारियों को बॉर्डर पर ही
रोके जाने की तैयारी है बताया जा रहा है
कि उत्तराखंड और मध्य प्रदेश से भी किसान

दिल्ली पहुंच सकते हैं इस बीच गाजीपुर
बॉर्डर को छावनी में तब्दील कर दिया गया
है अगर आज किसानों ने होने वाली बातचीत

असफल रहती है तो गाजीपुर बॉर्डर को पूरी
तरह से सील किया जा सकता है वहीं हरियाणा
के फतेहाबाद में अस्थाई जेल बनाई गई है
दिल्ली पुलिस टीकरी बॉर्डर पर ड्रोन के

जरिए निगरानी कर रही है वहीं सिंधु बॉर्डर
पर तीन लेयर सिक्योरिटी का प्लान बनाया
गया है बैरिकेडिंग के साथ-साथ पूरे सिंधु
बॉर्डर से लेकर मुकरबा चौक तक 16 किमी के

रास्ते को आठ जोन में बांटा गया है
किसानों के दिल्ली घेराव को रोकने के लिए
हरियाणा और पंजाब से लगने वाले सिंधू
बॉर्डर पर कटीले तार लगा दिए गए हैं

सड़कों पर सीमेंट के बैरिकेड हैं दिल्ली
में गाजीपुर टीकरी और सिंधू बॉर्डर पर भी
दिल्ली पुलिस एतिहाद के तौर पर तैयारी कर
रही है ताकि किसानों को दिल्ली में प्रवेश

करने से रोका जा सके गाजीपुर बॉर्डर पर
पुलिस की गाड़ियां और बैरिकेड खड़े कर दिए
गए हैं सीसीटीवी और लाउड स्पीकर भी लगाए
जा रहे हैं पुलिस प्रशासन को डर है कि

कहीं पश्चिम उत्तर प्रदेश के दूसरे संगठन
भी इसमें शामिल ना हो जाएं अगर ऐसा होता
है तो संभव है कि दिल्ली मेरठ राजमार्ग भी
बाधित हो सकता है किसान आंदोलन को देखते
हुए दिल्ली की कई सीमाओं पर यातायात

प्रभावित रहेगा नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के साथ
ही शादरा जिले के फर्श बाजार गांधीनगर
विवेक विहार सीमापुरी जैसे इलाकों में
धारा 144 लागू होगी अमृतसर व्यास के में
किसानों का बड़ा जत्था दिल्ली कूछ करने के

लिए तैयार है बड़ी संख्या में किसानों के
ट्रैक्टर कतार में खड़े हैं ऑल इंडिया
किसान सभा ने किसानों के आंदोलन से फिलहाल
दूरी बनाई हुई है जबकि संयुक्त किसान

मोर्चा के बैनर तले 16 फरवरी को
राष्ट्रव्यापी भारत बंद का आवाहन किया गया
है जिसमें तमाम किसान और मजदूर पूरे दिन
हड़ताल और काम बंद करेंगे दोपहर 12 बजे से

लेकर शाम 4 बजे तक देश के सभी राष्ट्रीय
राजमार्गों का घेराव किया जाएगा और हाईवे
बंद किए जाएंगे ऑल इंडिया किसान सभा का
कहना है कि सरकार ने स्वामीनाथन को भारत
रत्न दे दिया लेकिन उनकी सिफारिश नहीं

मानी गई है प्रशासन किसी भी तरह की कोताही
नहीं बरतना चाहता केंद्र सरकार की ओर से
पियूष गोयल समेत मंत्रियों का प्रतिनिधि
मंडल किसानों से एक दौर की बातचीत कर चुका
है फरवरी को चंडीगढ़ में इन किसान नेताओं

के साथ केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल अर्जुन
मुंडा और नित्यानंद राय का प्रतिनिधि मंडल
फिर मुलाकात करेगा चुनावी साल में सरकार
किसी तरह का रिस्क नहीं लेना चाहती और
इसीलिए हर संभव किसानों को मनाने की
मशक्कत चल रही
है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *