Farmers Protest 2024: Farmers के आंदोलन को Congress और AAP पार्टी का समर्थन | Kisan Andolan - Kabrau Mogal Dham

Farmers Protest 2024: Farmers के आंदोलन को Congress और AAP पार्टी का समर्थन | Kisan Andolan

किसान संगठनों के दिल्ली चलो माच को रोकने
की कोशिशों के बीच उनको समर्थन भी मिल रहा
है कांग्रेस और आम आदमी पार्टी समेत कई
विपक्षी दल खुलकर किसानों का समर्थन कर

रहे हैं किसानों का जो दिल्ली चलो मार्च
है जिसको लेकर अभी कई राज्यों में सख्ती
बढ़ती जा रही है सीमाओं पर हरियाणा में कई
जिलों में इंटरनेट को बैन कर दिया गया है

आप कैसे देखते हैं जो मांग लेकर किसान
दिल्ली आ रहे हैं कमटी बनाई गई एमएसपी पर
देखेगी उस कमेटी का क्या निर्णय आज जब
किसान कहता है कि हम दिल्ली आएंगे 13

तारीख को दिल्ली की किलाबंदी क्यों की
जाती है उनके स्वागत में आप सड़कों को
कीलों से भर देते हैं आप सीमेंट की
चट्टाने लगा देते हैं आप इंटरनेट और

मोबाइल टेलीफोन सस्पेंड कर देते हैं किस
बात से डरती है सरकार तो एमएसपी पर कानून
बनना चाहिए आपको लग बिल्कुल बनना चाहिए
रविवार को पंजाब के तरण तारण में एक जनसभा
में मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सीधे केंद्र

पर निशाना साधा ब जा गल कर लो ना हरियाण
की कर
हरियाने वाली ज पंजाब वाली
हद उ किल ला रहे ने

पत्तिया तारा कलिया तारा
मेरी फिलहाल तो मेरी बेनती है केंद्र
सरकार के किसाना ना गल कर लो उ दिया मंगा
जाय जया ने मान लो तुसी इंडिया ते पंजाब द
बाडर ना

बनाओ यू नो लास्ट फोर
इयर्स लेक्शन
फार्मर्स आर एजिटेटिंग अनफॉर्चूनेटली
लास्ट टू इयर्स गवर्नमेंट इ सिटिंग टाइट
ऑन इट दे पिछले चार सालों से लाखों किसान

प्रदर्शन कर रहे हैं दुर्भाग्यवश पिछले दो
साल से सरकार हमसे बात नहीं कर रही है
क्योंकि वह संयुक्त किसान मोर्चा की साख
खत्म करना चाहती है संयुक्त किसान मोर्चा

लगातार लड़ रहा है हमने तीन दिन में
राज्यपाल घेराव किया है पूरे भारत में 26
जनवरी को ट्रैक्टर रैली हुई थी 2 लाख
ट्रैक्टर पूरे देश में घूमने थे लेकिन
सरकार सुन नहीं रही इन 500 डिस्ट्रिक्ट

लाख ट्रैक्टर ल होल कंट्री डिमांडिंग ट बट
गवर्नमेंट इ नॉट लिसनिंग टू अस डिस्कसिंग
विथ अस एंड दिस इ द सिचुएशन मोदी जी ने अब
जो अपनी सरकार को फोकस देने के लिए कहा है
गरीब

महिला युवा और
किसान उसको फोकस एरिया माना है और सेसे भी
बातचीत चल रही है तीन मंत्री केंद्र सरकार
के दिल्ली से चलकर चंडीगढ़ आए हैं पहले
दौर की वार्ता हो चुकी है और अब दूसरे दौर

की वार्ता भी होने जा रही है फिर मंत्री आ
रहे हैं और मुझे पूरी उम्मीद है कि बातचीत
से बड़े बड़े मसले हल होते हैं और यह मसला
भी हल हो जाए जाहिर है लोकसभा चुनावों से

पहले किसान संगठनों का दिल्ली चलो मार्च
राजनीतिक मंच बन गया है दिल्ली से हिमांशु
शेखर एडीटीवी
इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *