Farmers Protest : किसानों का सरकार को 10 बजे तक का अल्टीमेटम | Kisan Andolan | Delhi Chalo | - Kabrau Mogal Dham

Farmers Protest : किसानों का सरकार को 10 बजे तक का अल्टीमेटम | Kisan Andolan | Delhi Chalo |

न्यू 18
इंडिया किसानों का दिल्ली चलो सिंघु
बॉर्डर सील सीमा पूरी तरीके से सील करने
की तैयारी है दरअसल किसान आज कुछ करने

वाले हैं ऐसे में बॉर्डर पर कड़ी सुरक्षा
की गई है किसानों और केंद्र सरकार के बीच
बैठक कल बेनतीजा रही लगभग 5च घंटे तक
चंडीगढ़ में बैठक हुई जिसमें कुछ मुद्दों

पर सहमति बनी लेकिन किसानों ने दिल्ली कूच
का ऐलान किया है बयान दिया बैठक के बाद और
ऐसे में अ कई मांगों पर सहमति जब नहीं बनी
है तो दिल्ली कूछ का ऐलान किया गया है ऐसे

में सुरक्षा व्यवस्था ड़ी कर दी गई है
बॉर्डर पर सुरक्षा चाक चौबंद है तो
चंडीगढ़ में कल यह बैठक होती है आपको
बताएं कि 5 घंटे तक यह बैठक चलती है
जिसमें केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल रहते

हैं अर्जुन मुंडा केंद्रीय मंत्री शामिल
होते हैं कई केंद्रीय मंत्री होते हैं
किसान नेता बैठक में मौजूद रहते हैं लेकिन
उसके बावजूद बैठक बेनतीजा रही इसमें कई

सारी मांगे हैं और ऐसे में किसान नेताओं
का यह कहना है कि जब सहमति नहीं बनी है तो
उन्होंने दिल्ली कूच का ऐलान किया है अब
किसानों को रोकने की कहां-कहां तैयारी की
गई है आपको बताएं कि अंबाला हरियाणा शंभू

बॉर्डर पर रोकने की तैयारी की गई है इसके
अलावा कुरुक्षेत्र में रोकने की तैयारी की
गई है झज्जर में जहां-जहां से किसान आ
सकते हैं वहां पर रोकने की तैयारी की गई

है क्योंकि कई सारे गांव के किसान हैं तो
चंडीगढ़ में किसानों और केंद्र सरकार के
बीच बैठक बेनतीजा रही और ऐसे में आज किसान
आंदोलन का ऐलान किया है दिल्ली कूछ करेंगे
सुबह 10

बजे हम लोगों ने लंबी बातचीत की है सरकार
के साथ सामने हर मुद्दे के ऊपर डिस्कशन
हुई है हमने सरकार का जो भाव देख लिया है
हमें नहीं लगता सरकार किसी मांग पर सन

सीरियस है हमें नहीं लगता किसी मांग को
उचित ढंग से वह पूरा करना चाहते हैं और
इसलिए तो हमने लंबा सब बातें उनसे की हर
बात प लंबी डिस्कस की हमारा कोशिश थी कि

हम किसी किस्म का टकराव नहीं चाहते हम
चाहते थे
मिल बैठकर मसले का हल हो जाए सरकार के मन
में जो मुझे लगता

है एक ऐसी बात है कि उसके मन में खोट
है अपनी मांगों को मनवाने के लिए किसान एक
बार फिर से दिल्ली कूछ करने के लिए पूरी
तरह से तैयार दिखाई दे रहे हैं सरकार ने

उन्हें मनाने की खूब कोशिश की है लेकिन
चंडीगढ़ में हुई पाच घंटे की मैराथन बैठक
के बाद भी कई मुद्दों पर बात नहीं बन पाई
है और इसके बाद किसानों ने अपना प्रदर्शन

जारी रखने का ऐलान कर दिया तो वहीं दिल्ली
कूछ करने को देखते हुए दिल्ली के सभी
बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्था और ज्यादा चाक
चौबंद कर दी गई है दिल्ली बॉर्डर को पूरी

तरह से सील कर दिया गया है जगह-जगह
बैरिकेडिंग लगाई गई है ताकि जबरदस्ती कोई
दाखिल होने की कोशिश करे तो उन्हें रोका
जा
सके किसान सरकार पर मांगे नहीं मानने का

आरोप लगा रहे हैं लेकिन केंद्रीय मंत्री
अर्जुन मुंडा का यह कहना है कि किसानों के
साथ कई मुद्दों पर गंभीरता से बात हुई
उन्होंने कहा कि जिन मुद्दों पर बात नहीं
बन पाई है उन पर बातचीत के जरिए समाधान
निकाला

जाएगा तो अर्जुन मुंडा ने कहा कि कई
मुद्दों पर बातचीत हुई है सहमति बनी है
लेकिन जिन मुद्दों पर सहमति नहीं बनी है
ऐसे में उनका समाधान निकाला जाएगा गंभीरता
से बातचीत हुई है और बातचीत के जरिए ही

समाधान निकालेंगे लेकिन इससे पहले किसान
नेता को आपने सुना उन्होंने कहा कि हम तो
दिल्ली कुछ करने वाले हैं बातें नहीं मानी
गई किसान संगठनों के साथ बातचीत
बहुत गंभीरता पूर्वक

हुई
और सरकार हमेशा चाहती है कि बातचीत के
माध्यम
से हर किसी समस्या का समाधान हम निकाल
सकते अस्थाई समाधान के लिए एक कमेटी बनाने
की आवश्यकता है और उसमें हम अपनी सारी

बातों को रखें और उसका अस्थाई समाधान
ढूंढे अब आपको बताते हैं कि आखिर किसानों
और केंद्र सरकार के बीच हुई बैठक में आखिर
क्या-क्या हुआ चंडीगढ़ में किसान संगठनों

और केंद्र सरकार के बीच पाच घंटे तक की
बैठक हुई है बैठक में बिजली अधिनियम 2020
को रद्द करने पर चर्चा हुई यूपी के
लखीमपुर खिरी में मारे गए किसानों के
परिजनों को मुआवजा देने पर भी बातचीत हुई

अब आपको बताते हैं कि किसान आंदोलन के समय
किसानों पर दर्ज मुकदमों को वापस लेने पर
चर्चा की गई तो ये अहम मुद्दे हैं जिन पर
बातचीत हुई है बैठक में सरकार और किसान

संगठनों के बीच कई मुद्दों पर सहमति बनी
लेकिन सबसे अहम बात एमएसपी गारंटी किसान
कर्ज माफी पर अभी भी मामला फंसा हुआ है
वहीं स्वामीनाथन आयोग को लेकर भी सरकार और
किसान संगठनों के बीच बातचीत नहीं बन पाई

है अब आपको यह बताते हैं कि आखिर केंद्र
सरकार के साथ 5 घंटे तक चली बैठक के बाद
किसानों के केंद्र सरकार पर क्या-क्या
आरोप किसानों ने लगाए हैं किसान नेताओं का
आरोप यह है कि केंद्र सरकार उनकी मांगों

को लेकर गंभीर नहीं है किसानों ने केंद्र
सरकार पर टाइम पास करने का आरोप लगाया
किसान नेताओं का यह कहना है कि हम एमएसपी
के मुद्दे पर बात करना चाहते थे लेकिन

सरकार ने इस मुद्दे पर कुछ नहीं किया
किसान नेताओं ने कहा कि हमें नहीं लगता कि
सरकार हमारी मांगों को पूरा करना चाहती है
बैठक के बाद किसान नेताओं ने कई मुद्दों

पर सहमति नहीं बनने का आरोप भी
लगाया
किसानों के दिल्ली कूच को देखते हुए
हरियाणा पुलिस ने सिंगु बॉर्डर पर सुरक्षा

व्यवस्था और ज्यादा चाक चौबंद कर दी है
पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर यहां
मॉक ड्रिल भी की है ड्रोन के जरिए पूरे
इलाके की निगरानी की जा रही है और फिर

आंसू गैस भी छोड़ यानी कि साफ है कि पुलिस
की तरफ से किसी भी तरह के हालात से निपटने
के लिए तैयारियां मुकम्मल कर ली गई है और
यह ड्रोन के जरिए पूरे इलाके की निगरानी

इसीलिए की जा रही
है और यह तस्वीरें हैं मक ड्रिल की जब
किसी भी तरह की विषम परिस्थिति से निपटने
के लिए सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद करने
के लिए इसके लिए बकायदा मॉग ड्रिल की गई

है क्योंकि जो खुफिया रिपोर्ट आई उसके
मुताबिक किसान आंदोलन की आड़ में कुछ
उपद्रवी हिंसक वारदात को भी अंजाम देते
हैं और इसीलिए इसकी पुख्ता तैयारी की

गई अब आपको बताते हैं कि आखिर किसानों के
दिल्ली कूछ का मकसद क्या है केंद्र सरकार
से उनकी क्या-क्या मांगे हैं ये आपको
बताते हैं किसान सभी फसलों की खरीद के लिए

एमएसपी गारंटी कानून की मांग कर रहे हैं
किसानों और मजदूरों के लिए कर्ज माफ करने
की मांग हो रही है आंदोलन के समय किसानों
पर दर्ज हुए मुकदमे वापस लिए जाए भूमि
अधिग्रहण अधिनियम 2013 को पूरे देश में

फिर से लागू किया जाए भूमि अधिग्रहण से
पहले किसानों की लिखित सहमति और कलेक्टरेट
से चार गुना मुआवजा देने की व्यवस्था हो
मनरेगा के तहत हर साल 200 दिनों के लिए

रोजगार उपलब्ध करवाया जाए मनरेगा में
मजदूरी बढ़ाकर 700 प्रति दिन की जाए
मनरेगा में कृषि को शामिल किया जाए मिर्च
हल्दी और दूसरे मसालों के लिए राष्ट्रीय

आयोग का गठन किया जाए लिस्ट लंबी है
संविधान की पांचवी सूची को लागू किया जाए
और आदिवासियों की जमीन की लूट बंद की जाए
यह तमाम मांगे किसानों की

है दिल्ली पुलिस ने किसान आंदोलन के
मद्देनजर एक बड़ी तैयारी की है पूरी
दिल्ली में अब धारा 144 जारी करने का
नोटिस जारी कर दिया गया है और एक साथ यहां
लोगों के होने पर मनाही है और इसके अलावा

दिल्ली पुलिस की तैनाती बॉर्डर पर और
ज्यादा बढ़ा दी गई है दिल्ली और हरियाणा
की सीमाओं पर सबसे ज्यादा सख्ती बरती जा
रही है बॉर्डर पर मल्टी लेयर चेकिंग भी की

जा रही है लोही की बैरिकेट्स लगाए गए हैं
दिल्ली पुलिस की सबसे बड़ी तैयारी सिंगु
और टिकरी बॉर्डर पर देखी गई
है देखिए हम लोग हर चीज को मॉनिटर कर रहे

इंक्लूडिंग सोशल मीडिया और जो भी इनपुट्स
आ रहे हैं और हमारे एडवांस पोर्टल्स भी हम
लोगों ने
डिप्लॉयडी इनसाइड यूपी एंड इनसाइड हरियाणा

इवन एस फार एस पंजाब तो वी आर गेटिंग लाइव
इंफॉर्मेशन व्ट इज हैपनिंग और हम लोगों ने
अपना जो एक अरेंजमेंट है 11 तारीख से ही
नॉर्थ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट में 11 तारीख से

ही शुरू कर दिया था इसी इंतजाम के लिए कल
एक 144 का एक मैंने प्रोहिबिटरी ऑर्डर भी
अपने जिले के लिए मैंने एक इशू किया था तो
हम लोग पूरी तरह से तैयार

हैं दिल्ली को चारों तरफ से सील किया गया
है किसानों ने दिल्ली पहुंचने का ऐलान
किया है और उसी के मद्देनजर दिल्ली पंजाब
हरियाणा में तैयारियां की जा रही है

जगह-जगह बैरिकेडिंग है सुरक्षा व्यवस्था
को चुस्त दुरुस्त किया गया है अलग-अलग
तस्वीरें आपके सामने हैं आठ तस्वीरें हैं
अब आप ये देखिए कि करनाल की तस्वीरें

देखिए टोहाना की देखिए शंभू बॉर्डर इसके
अलावा टिकरी बॉर्डर अब जितने भी बॉर्डर
हैं इनको सील किया गया गया है ताकि जो
किसानों ने ऐलान किया है कि 10 बजे दिल्ली

कूट करेंगे उनको वहीं पर रोका जाए जहां से
वह आ रहे हैं ऐसे में चप्पे-चप्पे पर
सुरक्षा बलों की तैनाती है ताकि माहौल ना
बिगड़े और किसी भी तरह की परेशानी लोगों
को ना

हो किसानों के दिल्ली चलो मार्च को देखते
हुए दिल्ली की सीमा पर सुरक्षा और ज्यादा
कड़ी कर दी गई है जगह-जगह बैरिकेडिंग लगाई
गई है और पूरे इलाके में धारा 144 लागू कर

दी गई है पूरी दिल्ली पर प नजर रखी जा रही
है ताकि कहीं पर भी कोई अप्रिय घटना ना हो
सके किसानों को रोकने के लिए तीन राज्यों
में तैयारियां की गई हैं हरियाणा पंजाब और

दिल्ली में जबरदस्त तैयारी है तीन
तस्वीरें आपको दिखाते हैं हरियाणा के
अंबाला में पंजाब की ओर से आने वाले
किसानों को रोकने के लिए मगडल की गई

हरियाणा पुलिस ने पंजाब की ओर से आंसू गैस
की गोले फेंककर मॉक डल की तो वहीं दिल्ली
में गाजीपुर बॉर्डर पर आरएफ की तैनाती कर
दी गई सीमा को सील किया गया है अमृतसर में

किसानों का एक जत्था पहुंचा है दावा किया
जा रहा है कि किसान दिल्ली की ओर पूछ करने
लगे हैं तो अंबाला में मॉक ड्रिल हुई है
तैयारियां परखने की कोशिश मॉक ड्रिल के

जरिए दिल्ली यूपी सीमा पर आरएफ की तैनाती
रैपिड एक्शन फोर्स और अमृतसर से किना
किसान पूछ कर रहे हैं ये जत्था निकला है
लेकिन जत्थे को बॉर्डर पर ही रोक दिया जाए
यह तैयारी पुलिस की

है तो तीन तस्वीरें आपके सामने हैं कल 5
घंटे तक बैठक होती है चंडीगढ़ में किसान
और केंद्र सरकार के बीच किसान नेता उसके
बाद मीडिया से मुखातिब होते हैं कहते हैं

सरकार गंभीर नहीं है सरकार कह रही है कुछ
मुद्दों पर सहमति बनी है लेकिन कुछ
मुद्दों पर जो सहमति नहीं बनी है बातचीत
के जरिए ही मामले को सुलझाया जाएगा लेकिन

अब यह तीन तस्वीरें आप देखिए क्योंकि
किसान तो ऐलान कर चुके हैं कि वो दिल्ली
कछ करने वाले हैं ऐसे में अंबाला में मॉक
ड्रिल की गई दिल्ली यूपी सीमा पर आरएफ की

तैनाती है अमृतसर से किसानों का जत्था
निकला है लेकिन बॉर्डर पर रोकने की पूरी
तैयारी है उधर हरियाणा पुलिस ने किसानों
के दिल्ली मार्च को देखते हुए एडवाइजरी

जारी कर दी है और दिल्ली से आने जाने वाले
लोगों से एडवाइजरी का पालन करने की अपील
की है क्योंकि आम लोगों को फर्क पड़ता है
आम लोग जैम से दो चार होते हैं हरियाणा

पुलिस ने किसानों के दिल्ली मार्च के
मद्देनजर लोगों से आवाजाही के लिए रेल का
उपयोग करने की अपील की है कि सड़क मार्ग
से मत जाइए रेल सेवा का आनंद लीजिए इसके
अलावा चंडीगढ़ से दिल्ली जाने के लिए

पंचकुला बरवाला साहा शाहाबाद कुरुक्षेत्र
के रास्ते जाए इसके अलावा पंचकुला बरवाला
यमुनानगर लाडवा इंद्री करनाल के रास्ते
जाए यह एडवाइजरी हरियाणा पुलिस की तरफ से
जारी की गई
है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *