Farmer Protest: Shambhu Boder पर Tear Gas चली तो Rakesh Tikait का भी बड़ा बयान आ गया। Haryana Tak - Kabrau Mogal Dham

Farmer Protest: Shambhu Boder पर Tear Gas चली तो Rakesh Tikait का भी बड़ा बयान आ गया। Haryana Tak

स दिल्ली मेंशन चल रहा
है देखो हमारा ये है नहीं नहीं वो पंजाब
का है ना उसका एक संगठन है उनका प्रोग्राम
है उन्होने उसकी कॉल दे रखी है और अगर

उनके साथ में कोई अनज होगा तो सब किसान
देश का साथ में है ना हमारे से दिल्ली दूर
है ना किसान दूर है अपनी बात कहने आ रहे
हैं पूरा देश में अलग-अलग तरीके से लोग अ

अपनी बात कह रहे हैं तो सरकार उनकी बात
सुने और सबके मुद्दे एक हैं वह कर्जा माफी
का है स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट का
लागू करने का है एमएसपी गारंटी कानून का

है फसलों के दाम का सवाल है तो यह सब इशू
है बिजली अमेंडमेंट बिल का है
सब सर आज हम देख सकते है कि पूरे दिल्ली

में आज प्रोटेस्ट हो रहा है सारे फार्मर्स
का लेकिन आज आप नहीं नहीं नहीं सब सब उसका
फार्मर्स का नहीं है कुछ संगठन है जो वहां
पर जा रहे हैं कुछ की जो एसकेएम है उसकी
16 फरवरी की कॉल

है तो अलग-अलग उसमें अलग अलग तारीख में सब
लोग अपना प्रोटेस्ट कर रहे हैं वह भी एक
संगठन है और हमारे मूवमेंट में सब लोग साथ
रहे हम जब दिल्ली में 13 महीने

चला अपनी बात कहने का देश में सबको राइट
है और सरकार उनकी बातचीत सुने दो की
मीटिंग हुई है तो सरकार फिर बात करें जब
13 महीने में हमारी 14 दौर की वार्ता हुई

सरकार से तो अभी उनसे सरकार को बात करनी
चाहिए इशू सबके एक है सेम इ है कोई एक दिन
पहले चल गया कोई एक दिन बाद में चल रहा है
हमारा 16 फरवरी को है ग्रामीण भारत बंद का

है लेकिन पुलिस और जो प्रशासन सरकार जो
अत्याचार कर रही है दीवार खींचना उनको
रोकना गांव में लाजमेंट करवाना उनके ऊपर
केस रजिस्टर करना वो गलत है उन सब में हम

सब लोग साथ हैं ना हमारे से किसान दूर है
ना हमारे से दिल्ली दूर है हम सब निगाह
बनाए हुए रखे हैं सर अगर आज अभी बात की
जाए जो आपने कहा कि अत्याचार चल रहा है आज

कर्नाटक की फार्मर्स को भी मध्य प्रदेश
में भोपाल वो कल उनको अरेस्ट करा है और
लोग ये मूवमेंट का हिस्सा है ये पूरा यह
पूरा एक गिरफ्तारी भी आंदोलन का हिस्सा है

कल वहां से करीब 200 से 250 लोग कल तक
अरेस्ट हुए हैं उसमें कर्नाटक के किसान
हैं और अपने जो अपने संगठन के एसकेएम के
वो भी करीब 200 लोग से ज्यादा हैं उनकी
गिरफ्तारी हुई है तो उसके बाद में देखते

हैं हमने कहा कि किसी का कोई बिल नहीं
करवानी अभी यहां के बाद में उनको शाम तक
और कल तक देखेंगे सर आखरी सवाल आज आपसे ये
कि आज ये जो भी चल रहा है दो साल पहले आप
भी ये सारी प्रोटेस्ट के सामने थे सर आप

सबको साथ में लेके चल रहे थे आज अभी सवा
वो हो जाते हैं सब अलग-अलग कुछ हो जाते
हैं जो भी सीनियर लीडर्स थे सर का फम जो
भी आगे लीड करे चाहे आप हो चाहे गी सर हो
जो भी हो आज वो सब क्यों नहीं हो सके नहीं

नहीं सब अलग-अलग हो जाते हैं किसी उसम हो
जाते हैं एसकेएम इस मूवमेंट में अभी साथ
नहीं है जी लेकिन दूसरे लोग हैं वे भी
किसान है और इशू सब के एक हैं देश में

बहुत आंदोलन चल ले 500 से ज्यादा संगठन है
देश में तो कोई कभी कॉल दे देता है कोई
कभी दे देता है सर दो साल पहले जब आपने
एजीटेशन किया था सर हमने देखा कि उसका
काफी असर पड़ है पूरे देश का जो भी था सब

गया एक तर और सारा सपोर्ट फार्मर्स के साथ
था वो एजुकेशन के टाइम में आपको लगता है
सर कि इस साल भी लोकसभा इलेक्शन से पहले
बहुत दबाव है सराज सरकार पे कि फार्मर्स

की जो भी मांग हो उस सबको पूरे करें और
पूरा करें पूरा करें पूरा करनी चाहिए
सरकार को देखो अगर उन किसानों के साथ में
छेड़खानी

करी उनके साथ में कोई भी बल प्रयोग करा तो
पूरा देश का किसान फिर इकट्ठा है उनको
जाने दे जहां जाए या तो बातचीत से समाधान
करो या उनको बैठने दो

इस अलग कोई भी काम होगा तो देश में फिर
बड़े आंदोलन होंगे सर को कैसा रहेगा हमारा
ग्रामीण भारत बंद है किसान खेत हड़ताल है
अपने खेत में ना जाए काम ना करें तो एक
दिन का ग्रामीण भारत बंद जो ग्रामीण

दुकानदार है व बंद रखें ट्रांसपोर्टर है
जो और लेवर है वे अपना बंद रखें ग्रामीण
भारत
बंद 16 तारीख
का
सरने सुन ले अबने सुनने की बात सुन
लेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *