Farmer Protest News: किसान आंदोलन 2.0 ....फिर लगेगा महाजाम? देखिए Exclusive Ground Report - Kabrau Mogal Dham

Farmer Protest News: किसान आंदोलन 2.0 ….फिर लगेगा महाजाम? देखिए Exclusive Ground Report

और देखिए ग्राउंड जीरो पर हमारे तमाम
सहयोगी बने हुए हैं इस वक्त हर तस्वीर
सबसे पहले आप तक पहुंचाने के लिए मनोज
कुमार हमारे साथ शंभू बॉर्डर से जुड़े हुए

हैं अभिषेक राज टीकरी बॉर्डर से आपको नजर
आ रहे हैं और साथ ही भावना किशोर गाजीपुर
बॉर्डर से बनी हुई है सबसे पहले मनोज मैं
आपके पास आती हूं क्योंकि सबसे पहला जो

टकराव होगा वो शंभू बॉर्डर पर ही नजर आएगा
किसानों और पुलिस के बीच वहां पर क्या
इंतजा मात है और क्या वहां से अपडेट
है

मनोज का हम रुख करेंगे लेकिन अभिषेक का
रुख कर लेते हैं जो कि टकरी बॉर्डर पर
मौजूद है टिकरी बॉर्डर पर क्या स्थिति है
अभिषेक देखिए बिल्कुल लगातार पुलिस फोर्स

मौजूद है पैरामिलिट्री के जवान मौजूद है
दिल्ली पुलिस के जवान मौजूद है जिस तरीके
से किसान कूछ की आज संभावना है और टिकरी
बॉर्डर के ऊपर भारी जाम लग सकता है किसान

यहां पहुंच सकते हैं हैं दिल्ली जाने की
कोशिश कर सकते हैं ऐसे में जो लगातार
पैरामिलिट्री फोर्स है दिल्ली पुलिस की
टीम है आरएएस की टीम है वो यहां पे मौजूद
है और इसके अलावा इस पूरे रास्ते को अगर

आप देखेंगे तो यहां बड़े-बड़े कंटेनर से
रोकने की तैयारी की गई है यहां पे देखिए
आपको हैवी मशीन बुलाई गई है ताकि जो
कंटेनर्स हैं उनके जरिए रास्ते को ब्लॉक

किया जाए इसके अलावा अगर आपको नजर आए तो
देखिए ये पैरामिलिट्री फोर्स की सीआरपीएफ
की टुकड़ी नजर आएगी जो यहां पे किसी भी
तरीके से किसानों को अंदर आने से दिल्ली

के अंदर रोकने के लिए तैयार है इस इसके
अलावा रेपिड एक्शन फोर्स मौजूद है दिल्ली
पुलिस के जवान मौजूद है और इसके साथ-साथ
जो महिला दिल्ली पुलिस के जवान हैं उनको

भी लगाया गया है इस पूरे पूरे एपिसोड में
किसी भी तरीके से किसान दिल्ली के अंदर
प्रवेश ना कर पाएं इसको लेकर एक सुनिश्चित
जो रणनीति है वो बनाई गई है साउंड बॉक्स
लगाए गए हैं बड़े-बड़े ताकि यहां से

अनाउंस किया जाए यहां पे एक टेंपररी शेट
बनाया गया है तो तमाम तरीके जिस तरीके से
एक प्रोटेक्शन किया जा सके रास्ते पे किसी
तरीके से किसी को दिक्कत ना हो वो तमाम

कवायद जो है अभी की जा रही है पीछे अगर आप
देख पाएंगे तो दिल्ली पुलिस के जो आला
अधिकारी हैं वो आपको नजर आएंगे जो लगातार
हालात प मॉनिटरिंग कर रहे हैं अलग-अलग

कुछ वहां पर तैयारियां है उसकी जो है क
पली ब किसान आंदोलन हुआ था यहां पर टिकरी
बॉर्डर पर भी लंबे वक्त तक किसानों का
जमावड़ा लगा हुआ था एक साल तक वहां पर
बैठे हुए थे लेकिन इस बार पुलिस की तैयारी

के वहां तक पहुंचने ना दिया जाए भावना का
रुख कर लेते हैं गाजीपुर बॉर्डर से जुड़ी
हुई है भावना कोशिश तो पुलिस की यही कि
यहां तक किसान पहुंच ही नाना पाए उसके लिए
क्या व्यवस्था वहां पर की गई

है बिल्कुल शयता पूरी कोशिश की गई है कि
अगर किसान आते हैं वो तो दिल्ली की तरफ
आगे ना बढ़ पाए कल भी जिस तरह से मीटिंग
में लेकर कुछ भी साफ नहीं हो पाया इसलिए
किसानों ने ऐलान कर दिया लेकिन उसके पहले

गाजीपुर बॉर्डर की दो तस्वीरें सबसे पहले
हम आपको दिखाते हैं इस वक्त मैं नेशनल
हाईवे 24 पर मौजूद हूं जो यूपी से सीधा
दिल्ली को जोड़ता है लेकिन ये देखिए
गाजीपुर बॉर्डर पे पिछले बार जब किसान आए

थे तो यहीं पर प्रदर्शन किया था यहां पर
देखिए किस तरह से लोहे की कटीली ये जो
तारे हैं वो लगाई गई है इसके साथ ही कई
लेयर्स में यहां पर बैरिकेडिंग है

सीमेंटेड आप देखिए किस तरह से पूरी दीवार
जो है कल रात तैयार कर दी गई है इसमें
कंक्रीट और सीमेंट भरा गया है मजबूत दीवार
उसके साथ ही गड्ढे भी मिट्टी के किए गए

हैं ताकि कोई अगर साइड से निकलने की कोशिश
करता है तो देखिए गड्ढे में किस तरह से
यहां पे पूरी मिट्टी निकाल दी गई है कई
सारे यहां पे आपको ट्रक दिख रहे होंगे

मिट्टी भरे हुए यहां पे सीमेंटेड दीवार के
बाद आप देखिए पुलिस की गाड़ियां खड़ी हैं
उसके बाद फिर सीमेंटेड अ बैरिकेडिंग है
उसके बाद ये आप देखिए लोहे की बैरिकेडिंग

कई सारे यहां पर है इसके साथ ही सुरक्षा
कर्मी जो है अलग-अलग जगहों पर तैनात है
पैरामिलिट्री फोर्सेस है उसके बाद अब एनए
24 की आपको तस्वीर दिखाते हैं कि यहां पर

हैवी ट्रैफिक सुबह 6:00 बजे से देखने को
मिल रहा है क्योंकि यहां पर भी ऊपर देखिए
ऊपर की तस्वीर से आप अंदाजा लगा सकते हैं
कि इस वक्त सुरक्षा के कितने ज्यादा कड़े

इंतजाम दिल्ली पुलिस जो है वो करी हुई है
उसके साथ ही पैरामिलिट्री फोर्सेस कई सारे
क्रेन और बैरिकेडिंग उसके साथ आप ये देखिए
ये तस्वीर देखिए ये पूरी सीधी सड़क यहां
पर गुजरने वाले लोगों को तमाम तरीके की

दिक्कतें हो रही है इसलिए अगर घर से निकल
रहे हैं तो ट्रैफिक एडवाइजरी जरूर देखें
वरना फस सकते हैं कल पूरी अगर बात करें
पूरी शाम यहां पर हैवी ट्रैफिक रहा है और

ये देखिए ये सड़क उसके साथ ही ये तीनों ये
जो रोड्स है ये सीधा एनए 24 को एनए 24 है
और ये सीधे दिल्ली को जोड़ता है लेकिन इस
वक्त यहां पे सुरक्षा के कड़ इंतजाम

चप्पे-चप्पे पे सीसीटीवी कैमरे लाउड
स्पीकर्स और यहां पर आप ये देखिए पुलिस जो
है वो अपनी तैयारी करते हुए आपको नजर आ
रही होगी तो इसी तरह से हर बॉर्डर्स में
इस वक्त सिक्योरिटी के कड़े इंतजाम है कि

अगर किसान यहां तक पहुंचते हैं तो उनको
कैसे रोक जाए मोटे मोटे बकेटिंग कर दिए गए
हैं आप ये देखिए यहां पर किस तरह से ठीक
हैना तो गाजीपुर बॉर्डर पर सुरक्षा के
कितने कड़े बंदोबस्त किए गए हैं ये लगातार

आप हमें बता रही है लेकिन शंभू बॉर्डर का
हम रुख करें तो मनोज बताएंगे कि वहां पर
अभी फिलहाल क्या हालात बने हुए
हैं पंजाब के किसान आज दिल्ली कछ करने जा
रहे हैं क्योंकि केंद्र सरकार के

मंत्रियों के साथ जो देर रात वार्ता चली
वो पूरी तरीके से फेल हो चुकी है कोई
सहमति नहीं बनी जिसके बाद अब दिल्ली की
तरह पंजाब के किसान कूछ करेंगे इस वक्त हम

शंभू बॉर्डर पर हैं जहां पिछले अ कई दिनों
से जो बॉर्डर है वह सील किया जा चुका था
पहले ही और अब देखिए यहां पर सुरक्षा
व्यवस्था कितने जबरदस्त तरीके से बढ़ाई गई

है कई लेयर की सिक्योरिटी है अ अभूतपूर्व
सुरक्षा के जो प्रबंध हैं वो किए गए हैं
करीब पांच यहां पर बैरिकेड हैं जो लगाए गए
हैं और यह घग्घर ननदी है उसके ऊपर जो पुल
बने हैं आने और जाने के दोनों तरफ इसी

तरीके की जो स्थिति है वह बनाई गई है और
हमने देखा था कि कल दो दिन यहां पर टियर
शेल भी चलाए गए थे इस वक्त देखिए हरियाणा
पुलिस के जो जवान है वो यहां पर डिप्लॉयड

हैं अद सैनिक बल भी यहां पर डिप्लॉयड है
और आप देखिए तस्वीरों में हालांकि फॉग है
बहुत ज्यादा दूर तक दिखाई देना संभव नहीं
है लेकिन आप जिस तरीके से सीमेंटेड

ब्लॉक्स है ये बोल्डर लगाए गए हैं अ और
यहां पर आप इससे अगर आगे जाएंगे कुछ कटीले
तार बड़े-बड़े कीले आप तस्वीरें दिखाते
रहिएगा आपके जरि अभिषेक भी हमारे साथ

जुड़े हैं टिकरी बॉर्डर से भावना भी
गाजीपुर बॉर्डर से मौजूद है आज टाइम सान
ऑफ भारत की सबसे बड़ी टीम ग्राउंड जीरो पर
कवरेज के लिए आपके लिए मौजूद रहेगी हर

तस्वीर के साथ आंदोलन से जुड़ी हुई हम आगे
भी दिन भर आप तक पहुंचाते रहेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *