888 ?️Mahadev Ji Ka Sandesh? I Am your unwavering answer God Message Today? mahadev ka sandesh ? - Kabrau Mogal Dham

888 ?️Mahadev Ji Ka Sandesh? I Am your unwavering answer God Message Today? mahadev ka sandesh ?

मेरे प्रिय बच्चे कैसे हो तुम आज तुम्हारी काली माता तुम्हारे लिए एक ऐसा संदेश लेकर

आई है जिसे जानकर तुम प्रसन्नता से बहुत ही गदगद हो जाओगे क्योंकि मेरे बच्चे इस

संदेश में कुछ ऐसा ही है जिसे जानने के बात तुम्हें बहुत ही प्रसन्नता होगी मेरे

बच्चे तुम्हारे शत्रु जो तुम्हें बहुत परेशान करते थे अब उनके परेशान होने के

दिन आ गए हैं अब उनके घरों में इस प्रकार से कला और उपद्रव ने निवास कर लिया है

क्योंकि आपस में ही लड़ झगड़ कर मर रहे हैं वह इस प्रकार से लड़ रहे हैं कि एक

दूसरे के खून के प्यासे हो गए हैं उनके अंदर जो आपस का प्रेम भाव था वह सब समाप्त

हो गया है और वह अब एक दूसरे के खून के प्यासे हैं उनकी लड़ाई से पूरे मोहल्ले

में सनसनी मची हुई है मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रुओं की ऐसी दशा देखकर मैं तुम्हें

बताने के लिए आई हूं इसलिए मेरे मे बच्चे अगर तुम अपनी काली माता को दिल से मानते

हो तो इस वीडियो को अभी लाइक कर दीजिए और चैनल को सब्सक्राइब करके कमेंट में जय हो

माता रानी और हर हर महादेव जी टाइप कर दीजिए और साथ ही साथ अपने नाम का पहला

अक्षर दर्ज कर दीजिए ताकि हम तुम्हारे जीवन की सभी समस्याओं को दूर करने में मदद

कर सके मेरे बच्चे यह संदेश तुम्हारे लिए बहुत ही खास है क्योंकि इसमें आगे

तुम्हारा भी जीवन से जुड़ी हुई बहुत रोचक और आवश्यक बातें हैं जो तुम्हें आगे चलकर

तुम्हारे शत्रुओं की चाल से बचाएंगे और उनकी प्रत्येक योजनाओं को तुम्हें सूचित

करेंगे मेरे बच्चे जब किसी के कर्मों का घड़ा भर जाता है तो वह एक दिन फुट ठा

आवश्यक है मनुष्य को यह पता नहीं होता है कि जो मैं यह करू रहा हूं यह मेरे साथ

कैसा परिणाम लेकर आएगा बस वह करता रहता है वह सोचता है कि कि मैं जो कर रहा हूं उसे

कोई नहीं देख रहा है और ना मुझे कोई रोकने वाला है और नमो मुझे कोई समझने वाला है

किंतु उसका यह भ्रम होता है मेरे प्यारे बच्चे तुम यह बात हमेशा याद रखना अगर

तुमने किसी के साथ गलत किया है तो किसी ना किसी दिन तुम्हारे साथ भी वैसा ही होगा

यही आज तुम्हारे शत्रुओं के साथ हुआ है उन्होंने तुम्हारे साथ बहुत ही गंदा

व्यवहार किया है तुम्हारे हर कार्य को बाधित किया है तुम्हें हर प्रकार से

पीड़ित और परेशान किया है इसलिए अब उनके कर्मों का दंड मिल रहा है मेरे बच्चे आपके

जीवन में कुछ बहुत बड़ा घटित होने वाला है और तुम्हें इस बात के बारे में पूर्ण रूप

से अवगत कराना चाहती इसलिए मैं तुम्हारे पास आए हूं मेरे बच्चे तुम्हें सबसे पहले

मेरी बातों को सुनकर डरना नहीं है बल्कि तुम्हें केवल बातों को समझना है यदि तुम

समझ गए तो आने वाली उस उस चीज का सामना तुम बहुत आराम से कर पाएंगे क्योंकि जीवन

में घटित होने वाली अच्छी या बुरी चीजें बार-बार जीवन में आने का अर्थात प्रवेश

करने का का पूर्ण रूप से प्रयास करती है तो इसका अर्थ यह है कि तुम जब भी किसी

कार्य को करते हो तो उस कार्य से आकर्षित समय तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने का

प्रयास करता है अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी और वह बार-बार प्रयास करता है कई

बार तो अच्छा होते होते रह जाता है और कई बार बुरा होते होते रह जाता है उसका कारण केवल

इतना होता है कि तुम ध्यान नहीं देते और उसके साथ-साथ यदि कुछ बुरा होने वाला होता

है तुम्हारे पास देवीय शक्तियां होती है तुम अपने आप को सुरक्षा कवच में

सुरक्षित रखते हो इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें कोई ऐसी शक्ति नुकसान नहीं पहुंचा

पाती जो तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहती है इसके कई अर्थ होते हैं लेकिन लेकिन आज जो

मैं बताने आई हूं उसको सुनने से पहले एक बार जाए वह माता रानी जरूर लिखना इससे

मुझे बहुत प्रसन्नता होगी मेरे बच्चे जब तुम्हारे करीब कोई भी ऐसा इंसान यदि आता

है जिससे तुम्हें खतरा महसूस होता है या तुम्हें डर लगने लगता है या तुम्हारे हृदय

को यह आभास होता है कि इस व्यक्ति से तुम्हें नुकसान पहुंच सकता है तो तुम्हारा

मन बार-बार डरने लगता है और तुम से दूर हटने लगते हो तो उसके करीब नहीं जाते

लेकिन कई बार ऐसा देखने वाला व्यक्ति जिससे तुम्हें बिल्कुल

भी ना लगे तो तुम उसे पहचान ही नहीं पाओगे कि तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहता है या

नहीं चाहता या तुम्हारे करीब आने वाली ऐसी अदृश्य शक्ति है जो कि तुम्हें दिखाई नहीं

देती लेकिन ना हो तो भी नुकसान पहुंचा सकती है अब जो चीज तुम्हें दिखाई नहीं

देती उसे केवल हृदय से आभास कर सकते आंखों से देख नहीं सकते क्योंकि वह हवा

में विलीन होती है लेकिन मेरे बच्चे वहां कोई कमजोर शक्ति नहीं होती बल्कि इतनी

शक्तिशाली शक्ति होती है कि तुम्हें नुकसान पहुंचा सकती है लेकिन जब तुम्हें

कोई चीज दिखाई दे तो तुम उससे बचने का प्रयास कैसे कर सकते हैं यहां भी जानना

जरूरी है कि जो व्यक्ति तुम्हें दिखाई दे रहा है और यदि वह तुम्हें खतरा महसूस नहीं

कर पा रहा ले लेकिन तुम्हें उससे खतरा है उससे कैसे बचना है इसके साथ-साथ तुम्हें

एक बात को जान लेना होगा जो मैं तुम्हें आज बताऊंगी तुम्हें उस बात को भी जान लिया तो निश्चित

ही आने वाली चाहे कोई भी हो लेकिन तुम उससे बच जाओगे सबसे पहले तो तुम्हें इस

बात को जान लेना जरूरी है कि यदि तुम मेरी आधी अधूरी बातों को सुनोगे तो धूप से बचने

का रास्ता प्राप्त नहीं हो पाएगा यदि तुम पूर्ण रूप से बचना चाहते हो तो तुम्हें

मेरी पूरी बातों पर ध्यान देना होगा और अपने मन में हर बात को उतारना होगा

क्योंकि मेरे बच्चे एक चीज से बच सकते हो तो दूसरी से खतरा हो सकता है यदि सभी से

बचना है तो तुम्हें कुछ बातों को जान लेना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि कई बार मैं

तो तुम्हें बचा लेती है लेकिन तुम कहीं ना कहीं कोई ऐसी गलती कर देते हो तो नुकसान

तुम्हारा होने के साथ-साथ मुझे भी होता है इसलिए मेरे बच्चे आज मैं

तुम्हारी मां तुम्हें पूर्ण रूप से बचाने आई तुम किसी के नुकसान पहुंचाने पर एक ही

रास्ता ऐसा नहीं होना चाहिए कि तुम्हें कोई नुकसान पहुंचा पाए क्या तुम्हें उस

बात के बारे में अवगत ना हो और यही मेरा धर्म बदला है क्योंकि मैं एक मां और मां

अपने बच्चों की हर प्रकार से रक्षा करती है वह हमेशा अपने बच्चों का भला चाहती है

उसके मन में हमेशा यही डर लगा रहता है कि कहीं मेरे बच्चे को कोई नुकसान

ना हो जाए किसी भी कारण पास और यही मेरा है मैं भी तुम्हें बार-बार के इसलिए बताती

हूं और आगाह करती हूं जिससे कि तुम्हें जीवन में कोई भी परेशानी ना हो

क्योंकि मेरे बच्चे में मां होकर अपनी ममता को कैसे रोक सकती सबसे पहली बात तो

तुम्हें इस बात का स्मरण रखना होगा कि स्त्री हो या पुरुष यदि उसे कोई स्त्री या

उसे कोई पुरुष जबरदस्ती मित्रता ना चाता है अर्थात तुम्हारे मना करने पर भी बहुत

बार-बार तुमसे बातें करने का प्रयास करें बार-बार तुम्हारे करीब आने का प्रयास करें

और तुम उसे अनदेखा कर रहे हैं फिर भी वह तुम्हारे करीब आती चली जा रही है यहां

तुम्हारे करीब आता चला जा रहा है तुमसे मित्रता बनाने के लिए बार-बार कहता है और

तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारा मित्र बनना चाहता है या चाहते हैं तो तुम

निश्चित ही इस बात को समझने की बहुत कोई साधारण इंसान नहीं है बल्कि जो तुमसे

जबरदस्ती मित्रता निभाने की या तुम्हारे अनदेखा करने के पश्चात भी उनसे मित्रता

बनाने की कोशिश कर रही है वह जरूर कोई ना कोई परेशानी लाने वाली है क्योंकि मेरे

बच्चे उसके इरादे नेक नहीं है जो अच्छा इंसान होता है जिसकी भावनाएं अच्छी होती

है मित्रता वो भी करते हैं लेकिन ना केवल सामने वाले की भावना को देखकर मित्रता

करती है जबरदस्ती किसी के ऐसे पीछे नहीं पड़ती है और जो ऐसा करते हैं निश्चित ही

उनके मन में कुछ ना कुछ सामने वाले के प्रति गलत भावना रहती है वह कुछ ना कुछ

नुकसान पहुंचाना चाहते हैं और इसी इरादे से वहां बार-बार करीब आने की कोशिश करते

हैं जिससे कि जबकी कभी ना कभी उनसे मित्रता करें और इसी का फायदा उठाकर आपका

नुकसान करते हैं अर्थात आपके जीवन में कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान करेंगे जिससे कि आपको

जीवन भर पछताना पड़ेगा इसलिए मेरे बच्चे ऐसे व्यक्ति से सबसे पहली बात तो दूर रहना

प्रारंभ करो और दूसरा इस बात को ध्यान रखें कि यदि तुम्हें कोई भी ऐसी मानसिक

स्थिति रही है अर्थात तुम्हारा मन बार-बार किसी भी मांग को लेकर परेशान हो रहा है या

क्यों बेवजह से किसी बात से सबसे ज्यादा डर रहे हो तो तुम्हें एक बात को स्मरण

रखना चाहिए कि कोई ना कोई ऐसी शक्ति तुम्हें घेर रही है जो कि तुम्हारे हृदय

के और मस्तिष्क के अंदर नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न कर रही है अर्थात तुम्हारे मन के अंदर एक ऐसा

दृष्टिकोण बन रहा है जो कि किसी भी कार्य को ना करने के लिए उकसा रहा है और

तुम्हारी शक्ति को कमजोर कर रहा है अर्थात कहने का अर्थ यह है कि एक नकारात्मक ऊर्जा

तुम्हारे जीवन में प्रवेश कर रही जिस ऊर्जा को तुम्हें नष्ट करना होगा और यह

केवल तुम अपने ईष्ट देवता के मंत्रों का उच्चारण करके भी कर सकते हो या तुम अपनी

माता का नाम का उच्चारण करो या फिर हनुमान चालीसा चालीसा का पाठ करें क्योंकि

कुछ-कुछ शक्तियां ऐसी हैं जिनके मंत्रों का लगातार उच्चारण यदि तुम करते हो तो

निश्चित ही तो उस शक्ति का उच्चारण करते-करते उस शक्ति को अपने इर्दगिर्द विद्यमान कर लोगे इस बात का ध्यान रखो

कि कभी भी किसी भी शक्ति के मंत्र उच्चारण करने से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में

प्रवेश करने लगती है और तुम्हारे के विद्यमान हो जाती है तुम्हारी रक्षा करने

के लिए क्योंकि तुम स्वयं ही उस शक्ति को अपनी हो आकर्षित करते हैं अपने मुख से

निकले हुए एक एक शब्द से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में धीरे-धीरे करके प्रवेश

करने लगती है और यदि कोई भी नकारात्मक ऊर्जा यदि तुम्हारे मस्तिष्क में प्रवेश

करके विद्यमान हो जाती है और उसे अपने मस्तिष्क से अपने हृदय से अपने पूरे शरीर

से विकास नहीं पाते हो तो उसका मास तुम्हारे शरीर पर होने लगता है चाहती है

जैसा तुम करते हो अर्थात बहुत कुछ ना कुछ तुम्हारे जीवन में बेकार करने के लिए आती

है और बिगाड़ करके ही बाद जाती है क्योंकि उसका काम ही ऐसा होता है कहीं पर भी

विकराल रूप धारण करना अर्थात कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान कर ना किसी के प्रति मां फिर

तुम्हारे शरीर में प्रवेश करके दूसरों का नुकसान करता है क्योंकि किसी से उसको

प्रसन्नता होती है मैं तुम्हें डराना नहीं चाहती और ही मेरा उद्देश्य है तुम्हें

लड़ा था लेकिन यह सच है कि कुछ कुछ ऊर्जा ऐसी होती है किसी भी व्यक्ति की बुद्धि को

पूर्ण रूप से बंद कर देती है और उसकी सोचने समझने की शक्ति को क्षीण कर दे दी

है इसलिए कभी भी अपने ऊपर ऐसी ऊर्जा को विद्यमान मत होने दो क्योंकि यदि ऐसी

ऊर्जा विद्यमान हो जाती है तो तुम्हारे जीवन में बहुत बड़ा संकट उत्पन्न

करती है और खतरा भी लेकर आती है यदि तुम्हारे मस्तिष्क के अंदर बार-बार गलत

विचारधाराएं उत्पन्न हो रही है बिना वजह से कुछ ऐसी मानसिक स्थिति हो गई है जिसमें

तुम दूसरों का अच्छा ना सोचकर गलत भावना लेकर आ रहे हो या तुम्हारे मन के अंदर

अपने आप ही गलत भावना उत्पन्न हो रही है और तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारे

जीवन में तुम्हारे मन की जो स्थिति है वह एक अलग दिशाओं में चली गई है तुम्हें ऐसा

नहीं सोचना चाहिए फिर भी तुम्हारे मन की भावनाओं को काबू में नहीं रख पा रहे

बार-बार दुर्गुण धारणाओं को रोकने का प्रयास कर रही लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा

है तुमसे और तुम जानबूझ कर भी यह नहीं करते लेकिन तुम्हारे जीवन में ऐसा हो रहा

है यह सत्य है कि कई बार जीवन में हम जो सोचते हैं हम चाहते नहीं है और जो हम

चाहते हैं वैसा सोच नहीं पाते तो ऐसे में तुम समझ लेना कि तुम्हारे

मस्तिष्क पर किसी और चीज का वास हो चुका है अर्थात तुम्हारे हृदय में तो ईश्वर का

वास है लेकिन तुम्हारे मस्तिष्क में एक ऐसी ऊर्जा विमान हो चुकी है जिस ऊर्जा को

तुम्हारे मस्तिष्क में विद्यमान होने पर उसने तुम्हारी दिशाहीन बोर इसलिए मेरे

बच्चे शीघ्र ही तुम्हें मंत्रों का उच्चारण करना चाहिए और इन्हीं मंत्रों के उच्चारण से तुम्हारे मस्तिष्क में ईश्वर

का वास होगा और जो तुम्हारी गलत दिशा में मोदी हुई रुख है वह सही दिशा में चलने

लगेगी मेरे बच्चे इस बात को हमेशा स्मरण रखना कि तुम बहुत सोच समझकर ही किसी भी

कार्य को चुनना और यदि तुम बार-बार ऐसा आभास करने लगे होग यह तुम्हारा सूज हुआ

तुम्हारा नहीं है किसी और का है तुम्हारे हृदय को ऐसा आभास होने लगा है तुम इस पर

पूर्ण रूप से विचार करना और शक्तिशाली मंत्रों का उच्चारण प्रारंभ करना तीसरी और

सबसे जरूरी बात में तुम्हें बताना चाहती कि आज के युग में अर्थात आधुनिक युग में

जो लड़कियां हैं सभी सही है लेकिन अभी भी कुछ लड़कियां ऐसी होती है जो किसी भी

लड़की के जीवन में ऐसा नुकसान करके जाती है और नुकन के लिए ही वह प्रेम का संबंध

बनाती है वह सामने वाले को केवल लूटने और बर्बाद करने के इरादे से उसके जीवन में

आती है यदि कोई भी लड़का भावुक होता है लड़कियां उसका कई बार फायदा उठाती है हर

लड़की ऐसी नहीं होती लेकिन कुछ ऐसी होती हैं मैं उन्हें लड़कियों के लिए यह बताना

चाहती मेरे बच्चे तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लाने का या किसी के ऊपर मुसीबत आने

का कारण मत बन क्योंकि यदि तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लेकर भी

अर्थात दूसरों के प्रेम का फायदा उठाओ के और यदि लड़का ऐसा करता है लड़कियों के साथ

अर्थ किसी भी लड़की की इज्जत नहीं करता उसका मान सम्मान नहीं करता उसकी इज्जत का

ख्याल नहीं रखता तो उन दोनों के ऊपर निश्चित ही संकट आता है क्योंकि वहां आ

रही बुद्धि में गलत बात जो दोनों में से किसी की बुद्धि में आ सकती है उसके जीवन

को गलत दिशा में मोड़ कर ले जाती है और उसके कर्मों को भी एक ऐसी दिशा में मोड़

दे दी है जिससे कि उसकी बुद्धि तो कार्य कर पाती है और ना पैसा व्यक्ति सोच पाता

है क्योंकि एक व्यक्ति तो भावनाओं से किसी के साथ जुड़ता है लेकिन एक व्यक्ति केवल

स्वार्थ वर्ष किसी को अपने साथ जुड़ता है और अपने मन के अंदर षड्यंत्र भरकर रचना है

उसकी बुद्धि में केवल दूसरे को नुकसान पहुंचाने का और कुछ ना कुछ ऐसी भावना जो

किसी के प्रति किसी को नुकसान पहुंचाने की होती है और खुद का फायदा करने की होती है

बस इसी इरादे सेवा व्यक्ति ऐसा करने की कोशिश करता है

मेरे बच्चे जो लोग ऐसा करते हैं फोन को मैं आज सावधान करने आई क्योंकि यदि तुम

दूसरे के जीवन में ऐसा करोगे तो तुम्हारे जीवन में भी मुसीबत आएगी तुम्हारे जीवन

में भी संकट आएगा क्योंकि तुम अपने गमों को एक गलत दि में ले जाना होगा और जिन

लोगों के साथ ऐसा होता है उन्हें भी सावधान करने आए मेरे बच्चे तुम किसी से

प्रेम करो लेकिन ऐसा प्रेम मत करो जिसमें तुम ठगे जाओ क्योंकि थोड़ा को किसी से

प्रेम करो सोच समझकर प्रेम करो तुम्हें यदि किसी व्यक्ति से प्रेम हो जाता है या

तो भी कोई बहुत अच्छा लगता है इसमें गलती तुम्हारी नहीं है क्योंकि विदेश से प्रेम

होता है तभी जब आंखों को कोई चीज ती है और हृदय उसके पीछे भाग पड़ता है और तुम हृदय

के पीछे भाग पड़ती हो तुम चलते चले जाते हैं एक ऐसी दशा में जहां पर सामने वाला

व्यक्ति तुम्हारे प्रति छल रख कर के कार्यों को करता है और तुम उसे नहीं पाते

और नहीं परत पाते हैं क्योंकि तुम्हारी आंखों पर पट्टी बंधी होती है और जिसकी

आंखों पर पट्टी बंधी है व्यक्ति देख नहीं सकता अर्थात प्रेम की पत्ती एक ऐसी पट्टी

होती जो व्यक्ति सामने वाले को ना तो परखने की चाह

रख पाता है और ही उसे रख पाता है क्योंकि उसके मन में यह भावना आती ही नहीं कि

सामने वाला व्यक्ति षड्यंत्र भी रख सकता है क्योंकि जब वह किसी से सच्चा प्रेम

करने लगता है तो वह यह सोच नहीं पाता कि कोई ऐसा भी कर सकता है उसकी भावना को केवल

प्रेम की होती है और प्रेम उसके हृदय में वास करता है और वहां सोचता ही रहता है कि

मैं जिसे प्रेम करता हूं उसे कितना प्रेम करो जितना मेरा सामर्थ हो और जितने मेरे

बस के हो बहुत ज्यादा उसे प्रेम करो बस यही धारणा रखकर के बाद व्यक्ति सामने को

प्रेम करता चला जाता है और उसे परखने की खींचा नहीं रख पाता उसे अगर यह बात कोई

तीसरा व्यक्ति बता दे कि वहां छल कर रहा है या कर रही है तब भी उस व्यक्ति की

आंखों पर प्रेम की जो पट्टी बंधी होती है वह उस पति को उतार कर कभी भी परखने की

जांच नहीं कर पाता क्योंकि उसे कुछ दिखाई नहीं देता है सच तो उससे बिल्कुल भी दिखाई

नहीं दे पाता जब तक उसकी प्रेम की पत्ती आंखों से उतारी जाती है तब तक बहुत देर हो

चुकी होती है उसे यह जानते जानते काफी समय निकल जाता है कि उसके जीवन में क्या हो

रहा है और कोई है जो उसे छल कर रहा है धोखा दे रहा है उसे पीठ में खंजर घूप रहा

है बात-बात पर उसका झूठ बोलना बात-बात पर उसका रूठ जाना हर बात पर भून दिखाना और

बात-बात पर छोड़ के चली जाऊंगी या छोड़ के चला जाऊंगा धमकी देना और जो जिससे प्रेम

करता है वह उसकी हर बात को स्वीकार कर लेता है डर के कारण और यहां दर कोई ऐसा

वैसा दर्द नहीं होता बल्कि अपने प्रेम को खोने का दर्द होता है और यह भी सच है कि

जो सच्चा प्रेम करता वह अपने प्रेम को होने से बिल्कुल डरता है क्योंकि उसके बिना रह नहीं सकता

और रहा भी नहीं पाता है उसका फिर कहीं मन नहीं लगता उसका दिल नहीं लगता तो वह उदास

हो जाता है वह हर समय सोचता ही रहता है ना तो किसी कार्य को कर पाता है और ना ही

किसी भी कार्य को करने में उसका मन लगता है इसलिए वहां विवश हो जाता है जो जाता है

अपने प्रेम के सामने और ऐसे में ही सामने वाला व्यक्ति जो केवल उससे दिखावा कर रहा

है प्रेम का छलावा कर रहा है ब्रेक का और षड्यंत्र रच रहा है उसके प्रति वहां उसका

फायदा उठा लेता है और फिर उसके साथ धोखाधड़ी करके उसे बर्बाद करने की फिराक

में रहता है मेरे बच्चे यदि ऐसा प्रेम तुम्हारे निकट आ रहा है तो सावधान हो जाओ

क्योंकि प्रेम प्रेम नहीं है बल्कि एक बहुत बड़ा संकट है एक ऐसा संकट है जो यदि

तो उससे फंस गए एक बार तो उससे निकलना नामुमकिन के बराबर हो जाता है क्योंकि

उससे निकलते निकलते बहुत देर हो जाती है और जहां तक कहा जाए तो तुम अपना सब कुछ गवा

बैठते थे तब तुम्हें ज्ञात होता है कि मेरा सब कुछ खत्म हो चुका है मैं बर्बाद

हो चुका हूं इस प्रेम के चक्कर में इसलिए मैं तुम्हें आज आगाह करने आई है अर्थात

में समझाने आए कि तुम ऐसे किसी प्रेम के चक्कर में मत पड़ो नहीं तो तुम्हारा जीवन

खराब हो जाएगा और तुम बर्बाद हो जाओ मेरे बच्चे यह सच है कि प्रेम करना चाहिए लेकिन

उससे नहीं जो तुम्हारे साथ छलावा कर रहा है या दिखावा कर रहा है या तुमसे षड्यंत्र

रचकर बातें करता है बल्कि उससे प्रेम करो जो तुमसे सच्चा प्रेम करता है तुम पर जान

छिड़क है तुम्हारी हर बार में उसकी स्वीकृति होती है और भावनाओं से भावनाओं

का प्रेम होता है ना कि स्वास्थ्य पर मेरे बचे जिसके मन में छलावा होता है उस

व्यक्ति को तुम कुछ ही समय में प सकते हो इसलिए प्रेम करो लेकिन आंखें खोलकर आंखें

बंद करके नहीं यदि आंखें बंद करके प्रेम करोगे तो थोड़ा सा आगे जाकर ही ठोकर खा

जाओगे और मुंह के बल गिर पड़ोगे गिरने से पहले ही तुम्हें समझना होगा और संभलना

होगा और जाना होगा इस बात को कि तुम जो अभी कर रहे हैं उससे कहीं तुम्हारा कोई

नुकसान तो नहीं हो रहा ऐसा कोई व्यक्ति को नहीं है तुम्हारे जीवन में जो तुमसे छलावा

कर रहा हूं और तुम उसके बारे में पूर्ण रूप से जान नहीं पा रहे एवं उसके हाथों से

धोखा खा रहे हैं और जीवन को बर्बाद कर रहे थे क्योंकि मेरे बच्चे यदि ऐसा हो रहा है

तो आगे तुम्हें रोने का मौका भी नहीं मिल पाएगा उस समय जिस समय तुम सब कुछ दवा

बैठोगे अर्थात जो छल कर रहा है वह सब कुछ लूटकर भाग जाएगा और तुम हाथ मलते रह जाऊंगी

क्योंकि संसार में पाच मिलियन बराबर नहीं होती और सब एक से नहीं होते इसी प्रकार

प्रेम करो लेकिन देखो कि कहीं कोई तुमसे छल तो नहीं कर रहा है कहीं तो किसी के

षड्यंत्र मैं तो नहीं रहे हैं यदि तुम्हारे साथ ऐसा हो रहा है तो निश्चित ही

बहुत गलत हो रहा है और अपने आप को तुम लोग क्योंकि यदि समय रहते तुम स्वयं को नहीं

रोको होगी तो आदि तुम्हें केवल पछतावा होगा और जीवन में कुछ नहीं बचेगा ऐसे लावे से और ऐसे संकट

से बचने का केवल एक ही उपाय है कि तुम ऐसे प्रेम को तुरंत छोड़ दो और जिससे भी तुम

प्रेम करो उसे देख परक कर करो उसका प्रेम परखने के बाद ही तुम उसे पूर्ण रूप से

प्रेम करो और परखने के लिए भी तुम्हें यह देखना होगा कि सामने वाला व्यक्ति क्या सच

में तुमसे प्रेम करता है क्या उसकी भावना तुम्हारे लिए उस तरह की है जिस तरह की

तुम्हा है क्या हो उतना प्रेम कर पाएगा तुमसे जितना तुम उससे करती हूं क्योंकि

मेरे बच्चे यदि वहां बात बात पर लगता है या लगती है बात बात पर तुम्हें छोड़ने की

धमकी दे दी है बात बात पर रूठ जाती है यह बात-बात पर उसको क्रोध आता है तो ऐसा

व्यक्ति तुमसे प्रेम नहीं करता क्योंकि प्रेम करने वाला व्यक्ति कभी भी छोड़ने की

बात नहीं करेगा और प्रेम करने वाला व्यक्ति तुम्हें होने से हमेशा डरेगा मेरे ब बचे प्रेम करने वाला व्यक्ति बात बात पर

क्रोध नहीं करेगा बल्कि जहां तुमसे कुछ गलती होगी तुमसे प्यार से बात करेगा और

तुम्हें प्रेम से समझाएगा क्योंकि उसके हृदय में प्रेम है और वह इस बात को समझता

है कि किसी से यदि कोई गलती हो जाए तो उसे प्रेम से समझाने पर जितना ज्यादा समझ में

आता है उतना क्रोध बस कभी नहीं सकता और यही कारण होता है किसी भी व्यक्ति का कि

बात तुम्हें उस समय ता है जब तुम्हें कोई भी बात समझ में नहीं आ रही होती है

क्योंकि प्रेम का धर्म ही सबसे पहला यही होता है कि अपने प्रेमी को समझाएं हर बात

के लिए मनाए यदि प्रेमी क्रोधित भी हो जाता है तो प्रेमिका उसे समझाती है और

प्रेमिका यदि क्रोध होती है तो प्रेमी उसे समझाता है वह दोनों के दूसरे को समझते हैं

भावनाओं को पहचानते हैं एक दूसरे के प्रति बढ़ते मिटते हैं बल्कि अध्ययन नहीं रखते

क्योंकि बहुत प्रेम करते हैं और प्रेम खुद को खुश करने का नाम ना होकर दूसरे को ड

खुश करने का नाम होता है यदि तुम अपने प्रेम से प्रेम करते हो या तुमसे कोई

प्रेम करता है तो निश्चित ही तुम्हारी छोटी-छोटी खुशी का ख्याल रखेगा तुम कब

हंसते हो उसे हंसी आएगी तुम कब रोते हो वह दुखी हो जाएगा तुमसे कभी भी किसी भी चीज

को मानने से पहले क्रोध में नहीं आएगा और नहीं क्रोध में तुमसे कभी ज्यादा बात

करेगा जब भी बात करेगा उसकी बातों में मिठास हो इतनी मिठास की उसके सामने तुमने

सब चीज सीखी लगी लगेगी क्योंकि प्रेम तो एक आनंद है प्रेम कोई ऐसा नहीं है कि बात

किसी के ऊपर ग्रोथ करे बल्कि वहां एक मधुर संगीत की तरह है जिससे दांतों में सुना

जाए तो बहुत अच्छी द सुनाई देती है और यदि दिल से महसूस किया जाए तो वहां रंग में

में रंग लेता है जिससे कि इंसान उसके रंग में रंगने के पश्चात पूरी दुनिया में हर

चीज को में देख पाता है उसकी दुनिया ही रंगबिरंगी हो जाती है वह अपने दिल से हर

चीज को महसूस करता है और उसे यह ज्ञात होता है कि

दुनिया कितनी खूबसूरत है यही तो होता है प्रेम का असली रंग जो जिससे प्रेम करता है

उसे उसी में पूरी दुनिया दिखाई देती है और सबसे ज्यादा इंसान विवश हो जाता है अपने

प्रेम के प्रति गलत भावना सोचने के बारे में और गलत भावना विचार करने के बारे में

क्योंकि प्रेम जब होता है तो इंसान किसी के बारे में बहुत अच्छी भावना रखता है और

अच्छा सोचता है दा प्रेम होता है लेकिन कई बार गलत व्यक्ति इसी बात का फायदा उठा

लेता है उसे यह बात बहुत अच्छे से ज्ञात होती है कि जब होता है तो उसकी आंखों पर

पट्टी बंधी होती है एक तरह से वह पूर्ण रूप से दे नहीं पाता और प्यार अंधा हो

जाता है और इसी का सामने वाला व्यक्ति गलत फायदा उठाकर तुम्हारे जीवन में बर्बादी का

सबसे बड़ा मार्ग बना देता है और ऐसे में सब कुछ बिखर बिखर दे यदि व्यक्ति संभल जाए

तो भी उसका दिल टूट जाता है और यदि वह समझ पाए तो सब कुछ बिक जाता है क्योंकि मेरे

बच्चे इंसान अपने हृदय से जीता है और हृदय से ही बिगड़ता है उसका हृदय टूटा तो वहां

टूट जाता है और यदि उसके हृदय में प्रेम की जो धारणा है लगातार प्रवाह करती रहती

है तो बहुत प्रसन्न रहता है को हर बात अच्छी लगती है और संसार में जो उसका जीवन

है वहां भी अच्छी से गुजारता है हर बात में आनंद लेता है और हर बात में उसे खुशी

महसूस होती है लेकिन यहां जो प्रेम की डोर टूटती है तो इंसान को बहुत ज्यादा कष्ट

होता है लेकिन धोखा खाने से अच्छा और तुम्हारे जीवन में कोई बड़ा संकट आए उससे

ज्यादा अच्छा है कि तुम प्रेम को पहचानो यदि ऐसा प्रेम है जो कि तुम्हें शहीद रचकर

धोखा दे रहा है तुम्हें लूटने की साजिश रच रहा है तुम्हारा जीवन बर्बाद करना चाहता

है तो उसे तुरंत नहीं छोड़ सकते तो धीरे-धीरे करके छोड़ दो लेकिन अपने दिल और

दिमाग से उस व्यक्ति को निकालने का भरपूर प्रस करो क्योंकि वहां आज या तो कल

तुम्हें बर्बाद करके ही रहेगा क्योंकि ऐसा व्यक्ति जो षड्यंत्र रचता है वह किसी का

नहीं हो सकता बच्चे आज मैं तुम्हें डराने नहीं आई और न ही तुमसे तुम्हारी ट्रेन को

दूर करने आए बल्कि मैं समझाने आए क्योंकि संसार में हर व्यक्ति एक जैसा नहीं होता

जो लोग षड्यंत्र रचते हैं अपने प्रेम के प्रति और प्रेम भरा षड्यंत्र रचकर किसी को

फंसाते है केवल उन लोग लोग के लिए यह संदेश है इसलिए वहां मेरे बच्चे बच पाए

यही मेरा संदेश है और जीवन में खुद को भी भी अकेला मत समझना हमेशा ध्यान रखना मैं

तुम्हारे साथ हर पल हर क्षण में तुम्हें देख रही है और जानती हूं कि तुम्हारे जीवन

में क्या रहा है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे कुछ जरूरी बात करने आई और जो बात करने आए उसे सुनना

अति आवश्यक है क्योंकि कुछ ऐसी बातें जो मैं तुमसे करना चाहती है और कुछ ऐसी बातें

जो मैं तुम्हें बताना चाहती हूं तुम जाग थे तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन में कुछ

ही समय में चमत्कार होना प्रारंभ हो जाएगा मेरे बच्चे एक बार को स्मरण रखना कि

मैंने तुम्हारे लिए समय निकाला है तो कभी भी मेरी बातों को सुनने के लिए जरूर समय

निकालना चाहिए क्योंकि जब मैं तुम्हें कुछ जरूरी बात बता रही हूं या कोई ऐसी बात

समझा रही जिससे तुमने जीवन का फिर छुपा हुआ है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ

है जय माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम अपने जीवन को क्यों बर्बाद कर रही हो

तुम्हें क्यों डर लग रहा है मैं तुम्हारे साथ अपने अंदर की बात को सुनो और अपनी मां

काली के बताए रास्ते पर चले मेरी बात ध्यानपूर्वक सुनना जो मैं तुम्हें बताना

चाहती मेरे बच्चे जब तक तुम जवान हो तो मैं केवल और केवल सीखने का प्रयास करना चाहिए कि तुम

किस तरह के मनुष्य बनना चाहते हो यही तो समय है जोखिम लेने का नई चीजें सीखने का

और नए-नए कौशल विकसित करने का अभी भविष्य के बारे में मत सोचो अभी केवल अपने

वर्तमान पर ध्यान दो अभी तुम्हें स्वयं को जानने का प्रयास करना चाहिए अपने जीवन की

बड़ी-बड़ी बातों से ज्यादा छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए जीवन की दौड़

में तो उसके सारे छोटे सुनहरे छड़ों को अनदेखा कर देते हैं जीवन में आगे जाकर जब

तुम पीछे देखते हैं तो उन्हें आभास होता है कि असल में वह छोटी-छोटी बातें भी

तुम्हारी खुशियां थी जीवन का अनुभव करते हुए तुम कई चीजें सीखते हैं जैसे प्रेम दर

सुंदरता कृतज्ञता यही अनुभव से सीखी हुई चीजें तुम्हें जीवन की बड़ी-बड़ी घटनाओं

के लिए तैयार करती है मेरे बच्चे तुम्हारी श्रद्धा को दे देख कर मैं अत्यधिक प्रसन्न

है मैंने तुम्हारी तकलीफ देखी है मैंने तुम्हारी निराशा को जान लिया है भले ही

तुम अपने दुखों के बारे में किसी को भी नाम बताएं मगर मुझे तुम्हारे सभी लोगों का

ज्ञान है अपनी विभिन्न परेशानियों के बावजूद हमें यह समझना चाहिए कि तुम जो कुछ

भी बनना चाहते थे वहां बनने के लिए कभी भी देर नहीं होती है तुम अपने जीवन में जो

कुछ भी चाहो वहां बन सकते हो तुम्हारी क्षमताओं की कोई सीमा नहीं है यदि तुम्हें

लगता है कि तुम्हारे जीवन में बहुत देर हो चुकी है तो ऐसा बिल्कुल नहीं है जीवन में

कभी भी किसी भी बात को लेकर देर नहीं होती है तुम्हें जो कुछ भी करना है जो कुछ भी

बनना है उन सभी के लिए जीवन में कभी भी देर नहीं होती है बस तुम्हारे मन में लगन

होनी चाहिए मेरे बच्चे तुम्हें इस संसार में भेजते वक्त मेरी आशा थी कि तुम संसार

में ऐसा जीवन जी जिस पर तुम्हें घर हुए जीवन का अर्थ ही यही है कि जब इसका अर्थ

है तो तुम्हारी कोई भी इच्छा अधूरी ना रह जाए तो मैं स्वयं के जीवन पर गर्व होना

चाहिए यदि किन्हीं कारणवश ऐसा नहीं है तो तुम्हें फिर से नई शुरुआत करनी चाहिए

तुम्हारे जीवन के सबसे अंधेरे रों में भी एक रोशनी सदा जलती रहेगी तो मैं बस उस

रोशनी को देखने की हिम्मत होनी चाहिए एक बार अपना अंधकार दूर

करने बाद तो वे दूसरों के लिए प्रकाश बनना चाहे तो में सदैव याद रखना चाहिए कि जीवन

की छोटी छोटी हाथ कभी जीवन की हार नहीं होती जीवन की हार केवल तभी होती है जब तुम

हार मान लेते हो तो मन में सफलता के लिए हार नहीं माननी चाहिए और एक बार सफल होने

के बाद दूसरों को हाल से बचाने का प्रयास करना चाहिए तुम्हारी किसी भी इच्छा की

पूर्ति कभी कोई प्रार्थना नहीं करती है बल्कि स्वयं तुम्हारी प्रकृति ही तुम्हारी इच्छा

पूर्ति करती है तुम्हें यह समझना होगा कि प्रार्थना कभी भी ईश्वर की सोच पर प्रभाव

डालने के लिए नहीं की जाती बल्कि रात स्वयं तुम्हारी प्रकृति को बदलने के लिए

दी जाती है प्रार्थना का असल उद्देश्य तुम्हारे मन पर प्रभाव डालता है बार-बार

प्रार्थना करने से तुम्हारे अंदर देख विश्वास उत्पन्न होता है कि तुम जिस भी

वस्तु की इच्छा कर रही हो वह तुम्हें प्राप्त हो सक सती है यही उम्मीद तुम्हारी

इच्छा की पूर्ति की ओर सहारा प्रथम कदम है उम्मीद किसी भी व्यक्ति के जीवन में बहुत

ही आवश्यक है तुम्हारे लिए उम्मीद अंधकार में भी उजाले का कार्य करती है जब कभी

जीवन की किसी भी मोड़ पर तुम्हें कोई भी रास्ता ना दिखाई दे रहा है तो उस

परिस्थिति में एक उम्मीद ही तुम्हें रास्ता ढूंढने के लिए प्रेरित करती है संपूर्ण संसार आखिर भूमि पर ही चल रहा है

यहां तक कि परेशानी की छड़ों मैं ईश्वर तक उम्मीद को ही ढूंढने का प्रयत्न करती है

तो मैं यहां सदैव याद रखना चाहिए कि संसार में आज तक जो कुछ भी हुआ है वह सब केवल

उम्मीद द्वारा ही किया गया है सभी कार्यों के पीछे की प्रेरणा है तुम्हें कभी भी

उम्मीद का साथ नहीं छोड़ना चाहिए मेरे बच्चे में तुम्हारी व्याकुलता से अच्छी

तरह अवगत तोहे मैंने देखा है कि तुम सदैव भ्रमित रहते हो तुम्हारा मन हमेशा उलझा

रहता है तुम्हारा मन उदासीन रहने का तो जैसे आदि हो चुका है

अपने मन की इस व्याकुलता को दूर करने का रास्ता यह है कि तुम्हें सदैव अपने जीवन

में यहां ज्ञात होना चाहिए कि तुम्हें क्या करना है या जाना है इससे भी ज्यादा

तुम्हारे मस्तिष्क में यह बात निश्चित होनी चाहिए कि तुम्हें क्या करना है तुम्हें यहां निश्चित रखना चाहिए कि

तुम्हें क्या करना है जब तुम्हें यह पता चल जाएगा कि तुम्हें क्या करना है तो उस

कार्य को करने के लिए तुम्हें क्या जानकारी अर्जित करने उसका पता तुम्हें

स्वतः ही चल जाएगा जीवन में आवश्यक यह है कि तुम्हें अपने उद्देश्य का ज्ञान होना

मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जाए और माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे

तुम्हारे दुखों का अंत आज निश्चित है जो कुछ भी तुमने देखा है जो कुछ भी तुमने

सुना है और जो कुछ भी तुम्हें सहा है उन सभी का आज निश्चित है आज तुम्हारे अंदर के

ज्ञान को तुम्हें बाहर लाना होगा इसलिए अपने सुख और आनंद की प्राप्ति के

लिए इस संदेश को अंत तक सुनना यदि इसे अंत तक सुनोगे तो मैं आज एक ऐसी चीज सीखने को

मिलेंगी जो आज तक तुम्हें कभी नहीं मिली आज तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली

है क्योंकि आज मैं तुमसे बेहद प्रसन्न हूं लेकिन फिर भी मैं तुम्हें जीवन की वहां

सच्चाई बताने जा रहे हैं जिस से तुम्हें सुनना होगा और अपने जीवन को सुधारना

होगा इसलिए अपनी माता को ध्यानपूर्वक सुनना ताकि तुम्हें जीवन में कभी किसी के

आगे झुकना ना पड़े मेरे बच्चे तुम जीवन में खुशियां ढूंढना चाहते हैं किंतु यह

क्यों भूल जाते हो कि खुशी तो तुम्हारी आसपास है और बहुत तुम्हें भी देख

सकती है जब तुम छोटी-छोटी चीजों में भी खुशियां बूंढो जैसे एक बच्चा अपनी मां में

सारी खुशी ढूं लेता है ऐसे ही तुम्हें भी सारी खुशियां हर जगह मिल सकती है बस

उन्हें महसूस करने की कोशिश करो लेकिन मेरे बच्चे तुम अक्सर उन चीजों में खुशी

देखते हो जो चीज काफी बड़ी होती है या जो तुम्हारे मन की ख्वाहिश होती है किंतु जब

तुम्हारी हर ख्वाहिश पूरी नहीं होती तो क्यों उदास हो जाते हैं किंतु तुम यह भूल

जाते हैं कि यदि उसी को अपने मन की इच्छाओं के रूप में देखने की कोश करोगे तो

तुम कभी खुश नहीं हो सकते आज मैं तुम्हें जो खुशी देने जा रही उस खुशी को महसूस

करने के लिए में स्वयं के अंदर कुछ बदलाव करने होंगे और यह खुशी तो केवल उन्हीं

लोगों से प्राप्त होगी जो तुम्हारे जीवन में है और जिनसे तुम्हारा जीवन जुड़ा हुआ

है मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को अपने जीवन में अपना लोगे तो तुम्हारा जीवन स्वर

से भी अच्छा हो जाएगा और उसके लिए केवल तुम्हें कुछ चीजों का त्याग करना होगा जो

मैं तुम्हें बताने जा रहे हैं ऐसी चीज तुम्हारे जीवन को बर्बाद कर दी यदि तुम इन

चीजों को छोड़ दोगे तो स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने लगेगा और जिस खुशी की तलाश

कर रही हो वहां तुम्हें प्राप्त हो जाएगी अपने अंदर की चीजों का निर्माण करना यह

तेजी से वह चीज है जो तुम्हारे भीतर फैले पाप का नाश करें और यदि तुमने तीन चीजों

को अपने जीवन में अपना लिया तो यकीन करो तुम्हारा जीवन पाप से मुक्त हो जाएगा पहली

चीज स्वयं के प्रति विश्वास मेरे बच्चे यदि तुम स्वयं के प्रति विश्वास जागृत कर

लोगे तो तुम्हारे मन में जितनी भी शंकाएं हैं और जो भी डर है वह स्वयं समाप्त हो

जाएंगे विश्वास एक ऐसी चीज है जो इंसान को बलवान करती है यदि तुम्हारे अंदर विश्वास

है तो तुम किसी भी चीज को हासिल कर सकते हैं चाहे वह कितनी ही कठिन क्यों ना हो को

दूसरी चीज प्रेम है यदि तुम अपने अंदर प्रेम का बीज बोए तो मेरा यकीन करो इस

संसार में किसी भी प्रकार का दुख तुम्हारे अंदर नहीं रहेगा क्योंकि जहां प्रेम होता

है वहां नफरत की थी स्वयं ही समाप्त हो जाता है यह तुम भी जानते हैं कि प्रेम

वहां भाषा है जो जानवर को ही समझ में आ जाती है यदि तुम उसे ट्रेन दोगे तो वहां

भी तुम्हें तभी नुकसान नहीं देगा बल्कि तुमसे भी उतना ही प्रेम

करेगा जितना तुम उससे करोगे तीसरी और सबसे अहम चीज रहा है जो हर मनुष्य में पाई जाती

है और उसका नाम क्रोध है मेरे बच्चे तुम्हें यहां पर रोड का त्याग करना है यदि

तुमने क्रोध का त्याग कर लिया तुम बड़ी से बड़ी विपत्ति में ठंडे दिमाग से काम ले

सकते हो क्योंकि जो मनुष्य क्रोध में आकर कोई फैसला या कार्य करता है तो आगे चलकर

पछताते हैं उन्हें उस समय क्रोध के चलते कुछ समझ नहीं नहीं आता किंतु बाद में जब

उन्हें समझ में आता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है इसलिए मेरे बच्चे विश्वास

प्रेम और क्रोध का प्यार यह तीनों चीज जिस दिन तुम्हारे अंदर आ गई उस दिन ऐसा कोई भी

कार्य नहीं है जो ना कर सको अब यह तुम्हारे ऊपर है कि तुम किस प्रकार से

कार्य कर सकते हैं और किस प्रकार से कार्य नहीं कर सकते स्वयं की शक्तियों को

पहचानने के लिए तुम्हें अपने भीतर इन तीन चीजों का निर्माण करना होगा मेरे बच्चे

तुम जब कभी भी अपने घर में अन्न बनाते हो यदि अन्न बच जाता है तो उस बस हुए अन्य को

बर्बाद मत करना बल्कि उसे किसी गरीब इंसान को या फिर गौ माता को खिला देना ऐसा करने

से तुम्हें पुण्य प्राप्त होगा मेरे बच्चे वहां अन्य भी बर्बाद नहीं होगा तभी दिखाने

को बर्बाद करके अन्नपूर्णा माता का अपमान मत करना जिस घर में अन्नपूर्णा माता अपमान

होता है है वहां खाने की कमी सदा बनी रहती है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपनी माता के इस

बात को ो स्मरण रखो कि तुम्हारा जीवन खुशियों में लाने के लिए यह गोल अति

आवश्यक है इस संसार में हर कोई चाहता है कि उससे सब प्रेम से बात करें उसकी इज्जत

करें यहां कोई नहीं चाहता कि मैं भी सामने वाले को प्रेम दू उसकी इज्जत करें और जब

तक यह सोच तुम्हारे अंदर नहीं आ जाएगी तब तक तो में भी दू दूसर से प्रेम नहीं मिल

सकेगा पहले अपने मन में इस सोच को लाओ यदि तुम्हें दूसरों से प्रेम चाहिए तो तुम्हें

पहले दूसरों को दो प्रेरित करना होगा सभी चाहते हैं कि हमें कोई परेशान ना करें

हमारा दिल नहीं दुखाया हम पर कभी कोई क्रोध ना करें किंतु हम यह भूल जाते हैं

कि इन चीजों की शुरुआत पहले हमें स्वयं के ऊपर करनी होगी स्वयं क्रोध करना बंद करना

होगा दूसरों को परेशान करना बंद करना होगा तब जाकर हमें भी खुशी मिलेगी और यह सब

चीजें तभी संभव है जब तुम्हारे मन में शांति यदि तुम्हारे मन में शांति नहीं है

तो तुम कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकते और यदि तुम्हारा मन शांत है तो इस संसार की

प्रत्येक चीज में तुम्हें शांति का अनुभव होगा और वहां शांति में उसी प्रदान करें

जिस खुशी की तलाश हर इंसान करता है जिस दिन तुम यह सभी चीजें करना प्रारंभ कर

दोगे उस दिन से तुम्हें पूर्ण शांति की प्राप्ति मिलने लगेगी और शांति तुम्हारे

जीवन को पूर्ण रूप से बदल देगी यदि तुम्हारे पास पैसे नहीं है और सारी सुख

सुविधाएं भी परंतु किसी एक चीज को ड लेकर तुम्हारे मन में अशांति है तो वह चीज

तुम्हारे मन को भटका कर रहेगी और किसी चीज को इच्छाएं कहते हैं जो अधूरी रहती है तो

मनुष्य भटकता रहता है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने मन की उन इच्छाओं पर काबू पाने

कि कोशिश करो जो तुम्हारे जीवन के लक्ष्य को भटकाती हैं यह याद रखो कि तुम्हारा

जीवन का लक्ष्य केवल तुम्हारा ही है यदि तुम्हें अपने लक्ष्य पर पूर्ण नियंत्रण

चाहिए वे स्वयं पर नियंत्रण करना होगा मेरे बच्चे में तुम्हारी माता तुम्हारे

लिए चिंतित है यदि तुम अपनी माता की बातों को समझ गए तो तुम्हारा जीवन आज से ही

बदलना शुरू हो जाएगा और मैं चाहती हूं कि तुम मेरे द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलो एक

माता अपने बच्चे से केवल इतना मांग रही है कि तुम सदा अच्छी तरह करके सच्चाई की राह

पर चले मेरे बच्चे तुमने जो मेरी भक्ति की है और भक्ति के चलते जो प्यार मुझसे किया

है वैसा ही प्यार तुम्हारी भी तुमसे ही करती है और जब भी तुम किसी राह पर भटकते

हो तो तुम्हारी मां को चिंता होने लगती है और मेरा हृदय रोने लगता है लेकिन मैं

जानती हूं कि तुम मेरी बहन बच्चे हो जो अपनी माता की थोड़ी सी चिंता से ही घबरा

जाते है इसलिए मेरे बच्चे अब समय आ गया है तुम्हें उचित मार्ग पर ले जाने का मैं

तुम्हारे जीवन का कल्याण चाहती और तोहे भी मेरी बातों को मानना होगा यही मेरा आदेश

है मैं नहीं चाहती कि मेरा बच्चा इस दुनिया की भीड़ में कहीं खो जाए या फिर

ऐसी ही भटकते रहे तुम्हारी मां तुमसे जितना अधिक प्रेम करती है उतना ही

तुम्हारी चिंता भी अब तो अपना ध्यान रखना और अपने जीवन को अच्छा करने के लिए मेरी

बताए हुए मार्ग पर चलना मैं चाहती हूं मेरे हृदय को मत दुखाना मेरे बच्चे अपनी

माता की बातों को आज मानकर कार्य करना मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है जय मां

काली हर हर महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे अत्यंत महत्त्वपूर्ण बात करना चाहता हूं जो भविष्य में

तुम्हारे साथ घटेगी मेरी बातों को ध्यान से सुनो आज मेरे मुख से निकला एक एक शब्द

तुम्हारे लिए भविष्यवाणी है आज मैं तुमसे यह बताना चाहता हूं कि तुम्हारे जीवन का

अंत कैसा होगा तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में क्या सोचेंगे मेरे बच्चे जितने

भी लोग इस संसार में जन्मे हैं उनका कोई ना कोई उद्देश्य होता है अपने उद्देश्यों

को पूरा करके हर किसी को एक ना एक दिन इस संसार को छोड़ना है अपनी जीवन यात्रा में

मनुष्य कई बार गिरता है कई बार संभलता है कभी हसता है तो कभी रोता है ऐसे में

मनुष्य हजारों सपने सजाता है कुछ के पूर्ण होते हैं और कुछ के अधूरे रह जाते हैं

मेरे बच्चे तुमने भी बड़े सपने सजाए हैं और उन्हें पूर्ण करने के लिए तुम कठिन

परिश्रम भी कर रहे हो किंतु अभी तक तुम्हें सफलता नहीं मिली है लेकिन मेरे बच्चे क्या तुमने कभी सोचा है कि तुम्हारे

ही जीवन में इतने दुख क्यों है जबक तो एक सच्चे इंसान किसी का दुख तुमसे देखा नहीं

जाता तुम्हारी भक्ति सच्ची है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में इतने संघर्ष इसलिए है

क्योंकि तुम कुछ और चाहते हो और मैं कुछ और चाहता हूं तुम जो पाना चाहते हैं उससे

कई गुना ज्यादा मैं तुम्हें देना चाहता है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है तो उस समय

भी अधिक लगेगा किंतु शीघ्र ही तुम्हारे जीवन में कई बड़े बदलाव होंगे और अपनी

बेहन और साहस के बल पर सफलता प्राप्त करेंगे किंतु तुम्हें मिलने

वाली यहां सफलता बहुत बड़ी नहीं लेकिन यहां वहां कुंजी है जो तुम्हें तुम्हारे

अंतिम गंतव्य तक ले जाएगा मेरे बच्चे जब तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में होंगे

तो तुम्हारा मन संतोष एवं शांति का अनुभव करेगा तुम्हारे जीवन का अंत बेहद दुखद

होगा तुम्हारी कोई भी सपने अधूरे नहीं रहे तुम अपना पूर्ण जीवन जीकर ही संसार त्याग

होगी और तुम अपने जीवन में कई ऐसे कार्य करोगे कि तुम्हारे जाने पर केवल तुम्हारे

परिजन को ही नहीं पूरे समाज को होगा हर किसी की आंखों में तुम्हारे लिए आंसू

होंगे और तुम्हारे जाने के बाद लोग तुम्हें याद करेंगे कुछ ऐसा होगा तुम्हारे

जीवन का किंतु अभी तो यह तुम्हारे जीवन का आरंभ में है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है

अब आगे बढ़ो मेरे बच्चे और अपने उद्देश्यों को पूरा करो मेरा आशीर्वाद सदा

तुम्हारे साथ रहेगा जाय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश

प्राप्त हुआ है तो तुम्हारे जीवन की समस्याएं आज समाप्त होने वाली है मेरे

बच्चे मेरी तीन बातों पर विशेष ध्यान देते हैं तुम्हारी हर परेशानी दूर हो जाएगी

सुबह से लेकर शाम तक और हर समय उठते बैठते जागते तुम्हारे मन में यही विचार हमेशा

लगा रहता है कि मेरे साथ ही ऐसा क्यों हो रहा है मैंने गलती की है मेरा क्या दोष है

मैंने तो कुछ गलत किया भी नहीं फिर भी मेरे साथ क्या हो रहा है मैं क्यों इतना

परेशान संसार के सभी व्यक्ति बहुत खुशहाल है और मेरे जीवन में कोई भी परेशानी मेरा

पीछा नहीं छोड़ रही है तुम्हारा मन सदा अपनी नाकामियों से परेशान रहता है कोई भी

नया कार्य प्रारंभ करते थे लेकिन अधूरा रहता है या पूरा होते होते रुक जाता है कई बार तो

तुम्हें ऐसा लगता है कि तुम किसी भी कार्य को नहीं कर पाओगे तुम्हारा हृदय यहां

मानने लगा है कि कोई भी काम सफल नहीं हो पा रहा है तुम्हारा विश्वास टूटने लगा है

डगमगाने लगा है तुम्हें ऐसा लग रहा है कि तुम्हारे जीवन में पता नहीं आगे क्या होने

वाला है आगे के सभी रास्ते बंद दिखाई दे रहे हैं ऐसा लग रहा है कि जीवन में कुछ

बचा नहीं है और तुम्हारा कोई साथ नहीं दे रहा है लेकिन मेरे बच्चे अभी भी कुछ

रास्ते खुले हुए हैं शजन पर चलकर तुम अपनी मंजिल को प्राप्त कर सकते हैं अपनी हर

परेशानी को समाप्त कर सकते हैं अगर कुछ कमी है तो उन पर चलने की आज मैं तुम्हें

तीन काम बताऊंगी बातों को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना और करना है पहले जीवन में

प्रतिदिन संध्या काल तुम अगले दिन के लिए यह निश्चय कर लो कि आज की गई गलती को कल

वोके कहने का अर्थ है कि पीछे की जो भी चीजें छूट रही

उनको नहीं दोहराएंगे आगे जब तुम्हें चलना है तो तुम्हें एक नए रास्ते को बनाते हुए

पीछे की गलतियों को छोड़कर चलना है तभी तुम उस मुकाम पर पहुंच सकते हैं जहां तक

पहुंचना चाहते हो दूसरा खुद के मार्ग खुद बना सुनो सबकी करो अपने हृदय की तुम्हारा

हृदय जब सबकी बातों को सुनने के बाद जो कहता है अंदर से जो विश्वास तुम्हारा जाता

है उसी को करो और तीसरा तुम सोच से जदा हो और काम करते हो जो भी विचार

तुम्हारे मन में आता है उस पर तुरंत काम करना प्रारंभ कर देना चाहिए ना कि तुम

सोचते सोचते अपने समय को व्यर्थ में दवाओ भले ही तो चिंताओं से घिरे हुए कितनी भी

भोजन से मायूस हो चुके हो फिर भी यदि तुम्हें इन परेशानियों से निकलना है तो

किसी भी मार्ग पर तुरंत काम करने से तुम्हारे समय की बचत होगी और उस पर

जितना जल्दी काम कर सकते हैं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से निकल जाएगा और उस

पर जितना जल्दी हो सके तो काम कर सकते हो नहीं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से

निकल जाएगा वही तुम्हें भी प्राप्त होगा जो तुम्हें चाहिए इस बात का ध्यान रखना

परेशानियां तब भीड़ की है जब तुम परेशानियों को देखकर अपने कदमों को पीछे

हटा दे इसलिए कभी भी परेशानियों से डरो मत उसका डटकर सामना करो जो डटकर सामना करके

आगे जाने की हिम्मत रखते हैं निश्चित ही हर परेशानी का सामना

कर लेते हैं क्योंकि किसी भी चीज से डरना ही असफलता का मुख्य कारण है और संसार में

ऐसी कोई चीज नहीं जो तुम नहीं कर सकते अगर कुछ कमियां है तो सोचकर केवल मन लगाकर

करने की जैसे ही इसे करोगे हर परेशानी से निकल जाओगे अब जो तुम्हें बताने जा रहे

हैं यह बात आज तक तुम्हें किसी ने भी नहीं बतानी होगी मेरे बच्चे तुम्हारी सफलता का

रहस्य यहां छुपा हुआ है तुम प्रयास करते हो दूसरे को देखने का तुम

देखने का प्रयास करती हूं कि वह जीवन में आगे कैसे बढ़ रहा है आगे बढ़ने के लिए बात

क्या कर रहा है और जो भी बात कर रहा है उनका उन्हें लाभ कैसे होगा तुम प्रयास

करते हैं उनके जीवन में देखने की उनकी गतिविधियों को तुम देखने और समझने का

प्रयास करते हैं इसलिए तुम पीछे छूट जाते हैं जीवन में यदि तुम आ आगे बढ़ना चाहते

हो तो तुम्हारी दृष्टि भी आगे की बोली चाहिए कदम भी उसी मार्ग पर आगे बढ़ाना

चाहिए अपनी गतिविधियों को देखो अपनी योजनाओं को देखे अपने प्रयासों को अपने

अनुभव को समझो और उसी मार्ग पर आगे हैं ऐसी कोई सफलता नहीं जो तुम्हें प्राप्त

नहीं होगी तो में कोई ना कोई विशेष है और तुम में कोई ना कोई दोष भी है यह

प्राकृतिक तुम्हें क्या सिखाती है यह सभी एक दूसरे से लड़ते नहीं है एक दूसरे के

लिए बाधा नहीं बनते बस अपना कर करते हैं सूर्य अपने प्रकाश से वनस्पतियों के पेड़

पौधों को जन्म देता है में वर्षा करते हैं लोग होते हैं पर्वत की यहां चलता है उस

वसा को एक दिशा देती है एक धारा बनती है जो बहती है यह सब क्या है यह सब एक संयोग

है चक्र है सभी साथ मिलकर अपना कन करते हैं अभी यहां प्राकृतिक जी जीवित है यही

तो वे भी करना है सहयोग में रहकर काम करना है किसी के लिए बांधा नहीं बनना है किसी

को छोटा नहीं समझना है ऐसे ही करते रहना है सबके साथ मिलकर कम करना है

प्राकृतिक ब्लीच भी यही सिखाती है मेरे बच्चे एक प्रबल मन कठिन परिस्थितियों को

एक चुनौती के रूप में देखता है और चुनौतियों में अवसर को देखता है यही

तुम्हें भी करना है इस संसार में किसी को भी दोषी मानने से तुम्हा सी समस्या सुलझ

नहीं जाएगी इसलिए इस संसार को दोष देने के स्थान पर उस समस्या की जड़ तक जाए उसे

समझो और अपने इस मन को प्रबल बना यदि तुम्हारा मन प्रबल हो गया तो इस संसार में

बड़ी से बड़ी कठिन से कठिन परिस्थितियां क्यों ना आ जाए तुम्हारे जीवन में बड़ी से

बड़ी समस्या क्यों ना बन जाए तुम अपने जीवन में आसानी से उसे पार कर सकते हो

क्योंकि तुम मेरे प्यारे बच्चे और मैं तुम्हें कभी दुखी नहीं देखना

चाहती इसलिए मेरी बातों का विशेष ध्यान देना मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

जय हो माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम्हारी आंखों के समक्ष यदि मेरा संदेश

आया है तो निश्चित ही तुम्हें आज मेरा यह एक वरदान प्राप्त होगा जिसके लिए पूरा

संसार तरस रहा है वहां तुम्हें प्राप्त होगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम बहुत

भाग्यशाली हो तुम्हारे अंदर यहां एक बहुत अच्छा गुण है कि तुम किसी को गिराने की

कोशिश नहीं करते हो लेकिन अब मेरी कही हुई बात पर विशेष ध्यान दो संसार में हर

व्यक्ति को क्या चाहिए किस चीज में उसकी खुशी है भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यक्तियों

की भिन्न-भिन्न प्रकार की खुशियां हो रही है लेकिन खुशियां कुछ चीजों से ही लगभग

सबकी जुड़ी होती है जैसे कि किसी को धन चाहिए किसी को संतान चाहिए किसी को घर

चाहिए किसी को व्यवसाय चाहिए लेकिन हर चीज जुड़ी हुई केवल एक चीज से है और वह चीज है

इस संसार में प्राप्त होने वाले आपकी अच्छी किस्मत अगर आपकी किस्मत अच्छी होगी

तो आपको कोई भी चीज मुफ्त में मिल जाएगी जरूरी नहीं कि आपको पैसे ही टमाटर थोड़ी

चीज प्राप्त हो बल्कि आपकी बुद्धि इतनी बलवान होगी कि आप उससे कम पैसों में भी

बड़े से बड़े मुकाम पर पहुंच सकते हैं क्योंकि संसार में बड़े मुकाम पर पहुंचने

के लिए तुम्हें जो चाहिए वह मैं तुम्हें आज बताऊंगी और वहां तक पहुंचने का रास्ता

भी बनाम लेकिन तुम भी मुझसे एक वादा करो कि तुम वहां तक पहुंचने के लिए पहल स्वयं

करो करोगे इसके लिए तुम्हें बुरा बनना होगा एक बात ध्यान रखना जितने ज्यादा बुरे

बनोगे उतना ही सफल हो जाओगे बुरे का अर्थ किसी का गलत करना नहीं होता बुरे बनो

स्वयं के लिए इस तरह बन जाओ के जीवन में जो तुम लोग उसे प्राप्त करने की शक्ति

तुम्हारे पास स्वयं ही आज भी अपने मन को दृढ़ निश्चय लेने वाला एक कठोर पत्थर की

तरह बना लो यदि तुम्हारे निर्णय पर तुम पूर्ण रूप से कार्य करने वाला और अपने कहे हुए वचनों पर

खरा उतरने वाला बच्चा तो तुम रामचंद्र जी के बारे में स्वयं जानते हो कि उन्होंने

अपने वचनों पर खरा उतरने के लिए सीता माता को लेकर मतभेद निवास किया था और वह इसलिए

महान और पूजनीय स्थान पर प्राप्त हुए जीवन में उन्हें महाराजा बनाया गया और ऐसे कई

राजा है जो अपने वचनों पर खरे उतरे हैं तो जीवन में हर माह उनको मंजिल पर पहुंचाना

है मेरे बच्चे तुम्हें मुझसे डरने की आवश्यकता नहीं क्योंकि मैं भले ही

तुम्हारे समक्ष गांधी रूप में प्रस्तुत लेकिन मैं दर असल तुम्हारी पार्वती मानी

और मेरा हृदय बहुत ही कोमल है मेरे बच्चे शक्ति ता उत्पन्न होती है जब तुम स्वयं उस

शक्ति को अपनी ओर आकर्षित करते हो जब तुम स्वयं अपनी बोली में हर बात पर खरे उतरने

लगते हैं और अपने वचनों से पीछे नहीं हटते तो स्वयं तुम्हारे अंदर शक्ति विद्यमान हो

जाती और शक्ति में तुम्हें जो चाहिए उसे प्राप्त करने के लिए तुम अपने मन को एकांत

में शक्ति को अर्जित करने की कोशिश करो जितना तुम अपने मन को शांत रखोगे हर

बाधाओं के नहीं और शांत मन से अपने हृदय की विचारधारा को उत्पन्न होने दोगे तभी

पूर्ण लाभ उठा पाएंगे जी में जब भी तुम्हारी मुश्किल घड़ी होती तो मेरी शक्ति

को तभी महसूस कर पाएंगे जब तुम अपने आप को स्वयं गलत कार्यों से बचाकर रखनी होगी

इसके साथ कि आपके अंदर जो शक्ति उत्पन्न होती है वह सही गलत का मार्गदर्शन भी करती

है और गलत रास्तों पर जाने से रोकती है और सही मार्ग पर तुम्हें आगे बढ़ाने की और

ज्यादा शक्ति प्रदान करती है तुम निश्चित पूर्व ग्रहो में तुम्हारी रक्षा करेंगी

मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ रहेगा जय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे कुछ भी

हो जाए अपने विश्वास को कभी टूटने मत देना तुम्हारे विश्वास की डोर बहुत मजबूत है

क्योंकि मैंने देखा है तुमने हर गंभीर समस्या चाहे कैसी भी परिस्थितियां क्यों

ना हो उसका सामना में दर्ज कर किया है मेरे बच्चे मैं तुमसे यही कहना चाहती हूं

कि तुम एक बहादुर बच्चे हो इतने बहादुर कि मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व होता है

क्या तुम्हें याद है तुमने अपनी जो परिस्थितियों का सामना किया था उसमें तुमने बहुत बहादुरी दिखाई थी मेरे बच्चे

तुमने मेरे ऊपर सब छोड़ दिया था और अपने कार्य को निरंतर करते जा रहे थे जो माह में उस

कार्य को कर रहे थे जो बहुत ही ज्यादा कठिन था परंतु तुमने हार नहीं मानी और

अपने सफर में आगे बढते रहे इसी आज मैं तुम्हें यह याद दिलाने आई कि जैसे तुमने

पहले अपनी हर समस्या का डटकर सामना किया है वैसे आगे भी

हमेशा करते रहना और मैं तुमसे यही कहना चाहूंगी कि आज मैं तुमसे बहुत प्रसन्न हूं

और मैं तुम्हें आशीर्वाद दे दे कि तुम्हारी जितनी भी इच्छा है बहुत जल्द से

जल्द पूरी हो जाए इसलिए बहुत सारी चिंता त्याग दो और अपनी मंजिल की ओर आगे बढ़ते

रहो मेरे बच्चे मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व है कि तुम्हें संसार में अपनी

सकारात्मक ऊर्जा फैला र हो मैंने तुम्हें इस प्यारे से संसार में भेजा है यह

सकारात्मक ऊर्जा लोगों को भी सिखाओ लोगों से अच्छे कार्य कर रहा मेरे बच्चे हमेशा

अच्छा ही सोचो यदि कोई किसी की बुराई करता है श्र निंदा करता है तो तुम्हें उन

बुराइयों से बचना है क्योंकि यदि तुम बुराई करोगे तो तुम उसी पद पर आगे जाओगे

जो मैं कभी नहीं चाहती है इसलिए जीवन में कभी ऐसा मत करना मेरा आशीर्वाद हमेशा मेरे

बच्चों के साथ ही है मेरे बच्चे आज का यह संदेश सबको प्राप्त नहीं होगा जिन्हें भी

यह संदेश आज प्राप्त होगा वह एक पुष्टिकरण होगा कि तुम्हारी कोई इच्छा पूरी होने

वाली है तुमने जो प्रार्थना की थी मैंने उसे स्वीकार कर लिया मेरे बच्चे मैं जानती

थी कि हाला अभी ठीक नहीं है तुम्हारा मन किसी कार्य में नहीं लगता तो मैं कुछ समझ नहीं

आता तुम अपने आप को फंसा हुआ पाते हो और अपनी पीड़ा कहीं भी तो किस से कहे मेरे

बच्चे तुम्हें मैं असमंजस में दे रही परंतु आज मैं तुमसे एक वादा करती हूं

शीघ्र सब कुछ अच्छा हो जाएगा यह जीवन से चलने लगेगा तोहे कामयाबी नहीं मिलेगी ऐसा

हो सकता है अपने मन में यह विचार लाते क्यों हो मेरे बच्चे जैसे ही तुम्हारे मन

में यह विचार आते है तब मैं स्वयं तुम्हें बताती है कि रुक जाओ आज भी तुम्हें कुछ

संकेत प्राप्त हुए होंगे इस संदेश को पढ़ने के बाद बा भी कुछ संकेत दूंगी और

तुम्हें आभास हो जाएगा कि मैं क्या कहना चाहती मेरे बच्चे आज केवल किसी कारण से यह

संदेश तुम्हें प्राप्त हुआ है कि तुम कामयाबी के बहुत करीब आ गए जब मैं

तुम्हारे लिए कुछ खूबसूरत योजना तैयार करते हैं तब तुम्हें कुछ विशेष राखी होती

है यह संकेत बड़े ही अनमोल होती है मेरे बच्चे अब इन्हें तो तुम्हें स्वयं ही

समझना होगा कि ऐसे कौन से अनमोल संकेत है जो तुम्हें निरंतर प्राप्त हो रहे हैं

मैंने तुम्हारे लिए जो योजना तैयार की है उस योजना के द्वार खुल रहे हैं जैसा कि

मैंने तुम्हें पिछली बार भी कहा था आने वाला मौसम चमत्कार का है जहां लगातार

चमत्कार ही प्रारंभ होंगे अब रोज एक सुबह खास होगी जहां चार और चमत्कार ही चमत्कार

होगा मेरे बच्चे तुम इस चमत्कार को दिव्य दृष्टि से देख सकते हैं बदलाव को निकट है

तुम अपने हौसलों को मजबूत करो तुम बदला के बहुत निकट पहुंच गए हैं दीप प्रज्वलित हो

चुका है जो तुम्हारे अंधकार को मिटाया जाए अपने मन से सभी भाई निकाल दो देखने का

नजरिया बदलो खुशियां चारों ओर है अपने सारे गम भुलाकर खुद को खुशियों के लिए

तैयार करें मेरे बच्चे जहां धूप है वहां छाया भी होगा रात्रि के बाद ही सुनहरा

सुबह आता है जैसे अभी है तो जल है इसी तरह अगर जीवन में कोई परेशानी है तो उस

परेशानी का अंत भी निश्चित होता है तब तुम क्यों इतना उदास होते इसीलिए मैं कहती

चिंता छोड़कर अपने आप से प्रेम करो क्या हालत बना ली है तुमने अपनी अपना ख्याल रखो

अपने आप से प्रेम करना ही छोड़ दिया है तुमने मेरे बच्चे मैं तुम्हारे जीवन में

केवल वही करती जो तुम्हारे लिए सही है दो दिनों के अंदर तुम्हें कुछ विशेष संकेत

प्राप्त होंगे यह संकेत तो में निद्रा के स सनों में भी बोल सकते हैं जिससे तुम्हें

सुनिश्चित हो जाएगा कि जल्द ही सब बदलने वाला है मैं चाहते हैं कि चिंता मुख होकर

मुस्कुराओ मैं चाहती हूं कि तुम अपने जीवन में जीत हासिल कर इसकी शुरुआत खुद स्वयं

से करो आगे मैं तुम्हारे रथ को संभाल लूंगी देर होने से पहले तुम्हें आज यह

संदेश प्राप्त हो गया है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन की दिशा अब पूरी तरह से

बदलने वाली है आने वाले समय के बारे में मैं तुम्हें कुछ बताना चाहती इसलिए

तुम्हें इस बात को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना होगा मेरे बच्चे आने वाला समय

तुम्हारे जीवन का सबसे अच्छा और महत्त्वपूर्ण समय होगा तुम्हारे जीवन को

एक नया आया मिलेगा तुम बाहें फैलाकर आने वाली खुशियों का स्वागत करना अब समय

परेशान रहने का नहीं है अब समय है खुशी से झूमने का सुबह उठकर खुली हवा में सांस

लेना और प्राकृतिक के सु

मेरे प्रिय बच्चे कैसे हो तुम आज तुम्हारी काली माता तुम्हारे लिए एक ऐसा संदेश लेकर

आई है जिसे जानकर तुम प्रसन्नता से बहुत ही गदगद हो जाओगे क्योंकि मेरे बच्चे इस

संदेश में कुछ ऐसा ही है जिसे जानने के बात तुम्हें बहुत ही प्रसन्नता होगी मेरे

बच्चे तुम्हारे शत्रु जो तुम्हें बहुत परेशान करते थे अब उनके परेशान होने के

दिन आ गए हैं अब उनके घरों में इस प्रकार से कला और उपद्रव ने निवास कर लिया है

क्योंकि आपस में ही लड़ झगड़ कर मर रहे हैं वह इस प्रकार से लड़ रहे हैं कि एक

दूसरे के खून के प्यासे हो गए हैं उनके अंदर जो आपस का प्रेम भाव था वह सब समाप्त

हो गया है और वह अब एक दूसरे के खून के प्यासे हैं उनकी लड़ाई से पूरे मोहल्ले

में सनसनी मची हुई है मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रुओं की ऐसी दशा देखकर मैं तुम्हें

बताने के लिए आई हूं इसलिए मेरे मे बच्चे अगर तुम अपनी काली माता को दिल से मानते

हो तो इस वीडियो को अभी लाइक कर दीजिए और चैनल को सब्सक्राइब करके कमेंट में जय हो

माता रानी और हर हर महादेव जी टाइप कर दीजिए और साथ ही साथ अपने नाम का पहला

अक्षर दर्ज कर दीजिए ताकि हम तुम्हारे जीवन की सभी समस्याओं को दूर करने में मदद

कर सके मेरे बच्चे यह संदेश तुम्हारे लिए बहुत ही खास है क्योंकि इसमें आगे

तुम्हारा भी जीवन से जुड़ी हुई बहुत रोचक और आवश्यक बातें हैं जो तुम्हें आगे चलकर

तुम्हारे शत्रुओं की चाल से बचाएंगे और उनकी प्रत्येक योजनाओं को तुम्हें सूचित

करेंगे मेरे बच्चे जब किसी के कर्मों का घड़ा भर जाता है तो वह एक दिन फुट ठा

आवश्यक है मनुष्य को यह पता नहीं होता है कि जो मैं यह करू रहा हूं यह मेरे साथ

कैसा परिणाम लेकर आएगा बस वह करता रहता है वह सोचता है कि कि मैं जो कर रहा हूं उसे

कोई नहीं देख रहा है और ना मुझे कोई रोकने वाला है और नमो मुझे कोई समझने वाला है

किंतु उसका यह भ्रम होता है मेरे प्यारे बच्चे तुम यह बात हमेशा याद रखना अगर

तुमने किसी के साथ गलत किया है तो किसी ना किसी दिन तुम्हारे साथ भी वैसा ही होगा

यही आज तुम्हारे शत्रुओं के साथ हुआ है उन्होंने तुम्हारे साथ बहुत ही गंदा

व्यवहार किया है तुम्हारे हर कार्य को बाधित किया है तुम्हें हर प्रकार से

पीड़ित और परेशान किया है इसलिए अब उनके कर्मों का दंड मिल रहा है मेरे बच्चे आपके

जीवन में कुछ बहुत बड़ा घटित होने वाला है और तुम्हें इस बात के बारे में पूर्ण रूप

से अवगत कराना चाहती इसलिए मैं तुम्हारे पास आए हूं मेरे बच्चे तुम्हें सबसे पहले

मेरी बातों को सुनकर डरना नहीं है बल्कि तुम्हें केवल बातों को समझना है यदि तुम

समझ गए तो आने वाली उस उस चीज का सामना तुम बहुत आराम से कर पाएंगे क्योंकि जीवन

में घटित होने वाली अच्छी या बुरी चीजें बार-बार जीवन में आने का अर्थात प्रवेश

करने का का पूर्ण रूप से प्रयास करती है तो इसका अर्थ यह है कि तुम जब भी किसी

कार्य को करते हो तो उस कार्य से आकर्षित समय तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने का

प्रयास करता है अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी और वह बार-बार प्रयास करता है कई

बार तो अच्छा होते होते रह जाता है और कई बार बुरा होते होते रह जाता है उसका कारण केवल

इतना होता है कि तुम ध्यान नहीं देते और उसके साथ-साथ यदि कुछ बुरा होने वाला होता

है तुम्हारे पास देवीय शक्तियां होती है तुम अपने आप को सुरक्षा कवच में

सुरक्षित रखते हो इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें कोई ऐसी शक्ति नुकसान नहीं पहुंचा

पाती जो तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहती है इसके कई अर्थ होते हैं लेकिन लेकिन आज जो

मैं बताने आई हूं उसको सुनने से पहले एक बार जाए वह माता रानी जरूर लिखना इससे

मुझे बहुत प्रसन्नता होगी मेरे बच्चे जब तुम्हारे करीब कोई भी ऐसा इंसान यदि आता

है जिससे तुम्हें खतरा महसूस होता है या तुम्हें डर लगने लगता है या तुम्हारे हृदय

को यह आभास होता है कि इस व्यक्ति से तुम्हें नुकसान पहुंच सकता है तो तुम्हारा

मन बार-बार डरने लगता है और तुम से दूर हटने लगते हो तो उसके करीब नहीं जाते

लेकिन कई बार ऐसा देखने वाला व्यक्ति जिससे तुम्हें बिल्कुल

भी ना लगे तो तुम उसे पहचान ही नहीं पाओगे कि तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहता है या

नहीं चाहता या तुम्हारे करीब आने वाली ऐसी अदृश्य शक्ति है जो कि तुम्हें दिखाई नहीं

देती लेकिन ना हो तो भी नुकसान पहुंचा सकती है अब जो चीज तुम्हें दिखाई नहीं

देती उसे केवल हृदय से आभास कर सकते आंखों से देख नहीं सकते क्योंकि वह हवा

में विलीन होती है लेकिन मेरे बच्चे वहां कोई कमजोर शक्ति नहीं होती बल्कि इतनी

शक्तिशाली शक्ति होती है कि तुम्हें नुकसान पहुंचा सकती है लेकिन जब तुम्हें

कोई चीज दिखाई दे तो तुम उससे बचने का प्रयास कैसे कर सकते हैं यहां भी जानना

जरूरी है कि जो व्यक्ति तुम्हें दिखाई दे रहा है और यदि वह तुम्हें खतरा महसूस नहीं

कर पा रहा ले लेकिन तुम्हें उससे खतरा है उससे कैसे बचना है इसके साथ-साथ तुम्हें

एक बात को जान लेना होगा जो मैं तुम्हें आज बताऊंगी तुम्हें उस बात को भी जान लिया तो निश्चित

ही आने वाली चाहे कोई भी हो लेकिन तुम उससे बच जाओगे सबसे पहले तो तुम्हें इस

बात को जान लेना जरूरी है कि यदि तुम मेरी आधी अधूरी बातों को सुनोगे तो धूप से बचने

का रास्ता प्राप्त नहीं हो पाएगा यदि तुम पूर्ण रूप से बचना चाहते हो तो तुम्हें

मेरी पूरी बातों पर ध्यान देना होगा और अपने मन में हर बात को उतारना होगा

क्योंकि मेरे बच्चे एक चीज से बच सकते हो तो दूसरी से खतरा हो सकता है यदि सभी से

बचना है तो तुम्हें कुछ बातों को जान लेना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि कई बार मैं

तो तुम्हें बचा लेती है लेकिन तुम कहीं ना कहीं कोई ऐसी गलती कर देते हो तो नुकसान

तुम्हारा होने के साथ-साथ मुझे भी होता है इसलिए मेरे बच्चे आज मैं

तुम्हारी मां तुम्हें पूर्ण रूप से बचाने आई तुम किसी के नुकसान पहुंचाने पर एक ही

रास्ता ऐसा नहीं होना चाहिए कि तुम्हें कोई नुकसान पहुंचा पाए क्या तुम्हें उस

बात के बारे में अवगत ना हो और यही मेरा धर्म बदला है क्योंकि मैं एक मां और मां

अपने बच्चों की हर प्रकार से रक्षा करती है वह हमेशा अपने बच्चों का भला चाहती है

उसके मन में हमेशा यही डर लगा रहता है कि कहीं मेरे बच्चे को कोई नुकसान

ना हो जाए किसी भी कारण पास और यही मेरा है मैं भी तुम्हें बार-बार के इसलिए बताती

हूं और आगाह करती हूं जिससे कि तुम्हें जीवन में कोई भी परेशानी ना हो

क्योंकि मेरे बच्चे में मां होकर अपनी ममता को कैसे रोक सकती सबसे पहली बात तो

तुम्हें इस बात का स्मरण रखना होगा कि स्त्री हो या पुरुष यदि उसे कोई स्त्री या

उसे कोई पुरुष जबरदस्ती मित्रता ना चाता है अर्थात तुम्हारे मना करने पर भी बहुत

बार-बार तुमसे बातें करने का प्रयास करें बार-बार तुम्हारे करीब आने का प्रयास करें

और तुम उसे अनदेखा कर रहे हैं फिर भी वह तुम्हारे करीब आती चली जा रही है यहां

तुम्हारे करीब आता चला जा रहा है तुमसे मित्रता बनाने के लिए बार-बार कहता है और

तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारा मित्र बनना चाहता है या चाहते हैं तो तुम

निश्चित ही इस बात को समझने की बहुत कोई साधारण इंसान नहीं है बल्कि जो तुमसे

जबरदस्ती मित्रता निभाने की या तुम्हारे अनदेखा करने के पश्चात भी उनसे मित्रता

बनाने की कोशिश कर रही है वह जरूर कोई ना कोई परेशानी लाने वाली है क्योंकि मेरे

बच्चे उसके इरादे नेक नहीं है जो अच्छा इंसान होता है जिसकी भावनाएं अच्छी होती

है मित्रता वो भी करते हैं लेकिन ना केवल सामने वाले की भावना को देखकर मित्रता

करती है जबरदस्ती किसी के ऐसे पीछे नहीं पड़ती है और जो ऐसा करते हैं निश्चित ही

उनके मन में कुछ ना कुछ सामने वाले के प्रति गलत भावना रहती है वह कुछ ना कुछ

नुकसान पहुंचाना चाहते हैं और इसी इरादे से वहां बार-बार करीब आने की कोशिश करते

हैं जिससे कि जबकी कभी ना कभी उनसे मित्रता करें और इसी का फायदा उठाकर आपका

नुकसान करते हैं अर्थात आपके जीवन में कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान करेंगे जिससे कि आपको

जीवन भर पछताना पड़ेगा इसलिए मेरे बच्चे ऐसे व्यक्ति से सबसे पहली बात तो दूर रहना

प्रारंभ करो और दूसरा इस बात को ध्यान रखें कि यदि तुम्हें कोई भी ऐसी मानसिक

स्थिति रही है अर्थात तुम्हारा मन बार-बार किसी भी मांग को लेकर परेशान हो रहा है या

क्यों बेवजह से किसी बात से सबसे ज्यादा डर रहे हो तो तुम्हें एक बात को स्मरण

रखना चाहिए कि कोई ना कोई ऐसी शक्ति तुम्हें घेर रही है जो कि तुम्हारे हृदय

के और मस्तिष्क के अंदर नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न कर रही है अर्थात तुम्हारे मन के अंदर एक ऐसा

दृष्टिकोण बन रहा है जो कि किसी भी कार्य को ना करने के लिए उकसा रहा है और

तुम्हारी शक्ति को कमजोर कर रहा है अर्थात कहने का अर्थ यह है कि एक नकारात्मक ऊर्जा

तुम्हारे जीवन में प्रवेश कर रही जिस ऊर्जा को तुम्हें नष्ट करना होगा और यह

केवल तुम अपने ईष्ट देवता के मंत्रों का उच्चारण करके भी कर सकते हो या तुम अपनी

माता का नाम का उच्चारण करो या फिर हनुमान चालीसा चालीसा का पाठ करें क्योंकि

कुछ-कुछ शक्तियां ऐसी हैं जिनके मंत्रों का लगातार उच्चारण यदि तुम करते हो तो

निश्चित ही तो उस शक्ति का उच्चारण करते-करते उस शक्ति को अपने इर्दगिर्द विद्यमान कर लोगे इस बात का ध्यान रखो

कि कभी भी किसी भी शक्ति के मंत्र उच्चारण करने से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में

प्रवेश करने लगती है और तुम्हारे के विद्यमान हो जाती है तुम्हारी रक्षा करने

के लिए क्योंकि तुम स्वयं ही उस शक्ति को अपनी हो आकर्षित करते हैं अपने मुख से

निकले हुए एक एक शब्द से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में धीरे-धीरे करके प्रवेश

करने लगती है और यदि कोई भी नकारात्मक ऊर्जा यदि तुम्हारे मस्तिष्क में प्रवेश

करके विद्यमान हो जाती है और उसे अपने मस्तिष्क से अपने हृदय से अपने पूरे शरीर

से विकास नहीं पाते हो तो उसका मास तुम्हारे शरीर पर होने लगता है चाहती है

जैसा तुम करते हो अर्थात बहुत कुछ ना कुछ तुम्हारे जीवन में बेकार करने के लिए आती

है और बिगाड़ करके ही बाद जाती है क्योंकि उसका काम ही ऐसा होता है कहीं पर भी

विकराल रूप धारण करना अर्थात कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान कर ना किसी के प्रति मां फिर

तुम्हारे शरीर में प्रवेश करके दूसरों का नुकसान करता है क्योंकि किसी से उसको

प्रसन्नता होती है मैं तुम्हें डराना नहीं चाहती और ही मेरा उद्देश्य है तुम्हें

लड़ा था लेकिन यह सच है कि कुछ कुछ ऊर्जा ऐसी होती है किसी भी व्यक्ति की बुद्धि को

पूर्ण रूप से बंद कर देती है और उसकी सोचने समझने की शक्ति को क्षीण कर दे दी

है इसलिए कभी भी अपने ऊपर ऐसी ऊर्जा को विद्यमान मत होने दो क्योंकि यदि ऐसी

ऊर्जा विद्यमान हो जाती है तो तुम्हारे जीवन में बहुत बड़ा संकट उत्पन्न

करती है और खतरा भी लेकर आती है यदि तुम्हारे मस्तिष्क के अंदर बार-बार गलत

विचारधाराएं उत्पन्न हो रही है बिना वजह से कुछ ऐसी मानसिक स्थिति हो गई है जिसमें

तुम दूसरों का अच्छा ना सोचकर गलत भावना लेकर आ रहे हो या तुम्हारे मन के अंदर

अपने आप ही गलत भावना उत्पन्न हो रही है और तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारे

जीवन में तुम्हारे मन की जो स्थिति है वह एक अलग दिशाओं में चली गई है तुम्हें ऐसा

नहीं सोचना चाहिए फिर भी तुम्हारे मन की भावनाओं को काबू में नहीं रख पा रहे

बार-बार दुर्गुण धारणाओं को रोकने का प्रयास कर रही लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा

है तुमसे और तुम जानबूझ कर भी यह नहीं करते लेकिन तुम्हारे जीवन में ऐसा हो रहा

है यह सत्य है कि कई बार जीवन में हम जो सोचते हैं हम चाहते नहीं है और जो हम

चाहते हैं वैसा सोच नहीं पाते तो ऐसे में तुम समझ लेना कि तुम्हारे

मस्तिष्क पर किसी और चीज का वास हो चुका है अर्थात तुम्हारे हृदय में तो ईश्वर का

वास है लेकिन तुम्हारे मस्तिष्क में एक ऐसी ऊर्जा विमान हो चुकी है जिस ऊर्जा को

तुम्हारे मस्तिष्क में विद्यमान होने पर उसने तुम्हारी दिशाहीन बोर इसलिए मेरे

बच्चे शीघ्र ही तुम्हें मंत्रों का उच्चारण करना चाहिए और इन्हीं मंत्रों के उच्चारण से तुम्हारे मस्तिष्क में ईश्वर

का वास होगा और जो तुम्हारी गलत दिशा में मोदी हुई रुख है वह सही दिशा में चलने

लगेगी मेरे बच्चे इस बात को हमेशा स्मरण रखना कि तुम बहुत सोच समझकर ही किसी भी

कार्य को चुनना और यदि तुम बार-बार ऐसा आभास करने लगे होग यह तुम्हारा सूज हुआ

तुम्हारा नहीं है किसी और का है तुम्हारे हृदय को ऐसा आभास होने लगा है तुम इस पर

पूर्ण रूप से विचार करना और शक्तिशाली मंत्रों का उच्चारण प्रारंभ करना तीसरी और

सबसे जरूरी बात में तुम्हें बताना चाहती कि आज के युग में अर्थात आधुनिक युग में

जो लड़कियां हैं सभी सही है लेकिन अभी भी कुछ लड़कियां ऐसी होती है जो किसी भी

लड़की के जीवन में ऐसा नुकसान करके जाती है और नुकन के लिए ही वह प्रेम का संबंध

बनाती है वह सामने वाले को केवल लूटने और बर्बाद करने के इरादे से उसके जीवन में

आती है यदि कोई भी लड़का भावुक होता है लड़कियां उसका कई बार फायदा उठाती है हर

लड़की ऐसी नहीं होती लेकिन कुछ ऐसी होती हैं मैं उन्हें लड़कियों के लिए यह बताना

चाहती मेरे बच्चे तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लाने का या किसी के ऊपर मुसीबत आने

का कारण मत बन क्योंकि यदि तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लेकर भी

अर्थात दूसरों के प्रेम का फायदा उठाओ के और यदि लड़का ऐसा करता है लड़कियों के साथ

अर्थ किसी भी लड़की की इज्जत नहीं करता उसका मान सम्मान नहीं करता उसकी इज्जत का

ख्याल नहीं रखता तो उन दोनों के ऊपर निश्चित ही संकट आता है क्योंकि वहां आ

रही बुद्धि में गलत बात जो दोनों में से किसी की बुद्धि में आ सकती है उसके जीवन

को गलत दिशा में मोड़ कर ले जाती है और उसके कर्मों को भी एक ऐसी दिशा में मोड़

दे दी है जिससे कि उसकी बुद्धि तो कार्य कर पाती है और ना पैसा व्यक्ति सोच पाता

है क्योंकि एक व्यक्ति तो भावनाओं से किसी के साथ जुड़ता है लेकिन एक व्यक्ति केवल

स्वार्थ वर्ष किसी को अपने साथ जुड़ता है और अपने मन के अंदर षड्यंत्र भरकर रचना है

उसकी बुद्धि में केवल दूसरे को नुकसान पहुंचाने का और कुछ ना कुछ ऐसी भावना जो

किसी के प्रति किसी को नुकसान पहुंचाने की होती है और खुद का फायदा करने की होती है

बस इसी इरादे सेवा व्यक्ति ऐसा करने की कोशिश करता है

मेरे बच्चे जो लोग ऐसा करते हैं फोन को मैं आज सावधान करने आई क्योंकि यदि तुम

दूसरे के जीवन में ऐसा करोगे तो तुम्हारे जीवन में भी मुसीबत आएगी तुम्हारे जीवन

में भी संकट आएगा क्योंकि तुम अपने गमों को एक गलत दि में ले जाना होगा और जिन

लोगों के साथ ऐसा होता है उन्हें भी सावधान करने आए मेरे बच्चे तुम किसी से

प्रेम करो लेकिन ऐसा प्रेम मत करो जिसमें तुम ठगे जाओ क्योंकि थोड़ा को किसी से

प्रेम करो सोच समझकर प्रेम करो तुम्हें यदि किसी व्यक्ति से प्रेम हो जाता है या

तो भी कोई बहुत अच्छा लगता है इसमें गलती तुम्हारी नहीं है क्योंकि विदेश से प्रेम

होता है तभी जब आंखों को कोई चीज ती है और हृदय उसके पीछे भाग पड़ता है और तुम हृदय

के पीछे भाग पड़ती हो तुम चलते चले जाते हैं एक ऐसी दशा में जहां पर सामने वाला

व्यक्ति तुम्हारे प्रति छल रख कर के कार्यों को करता है और तुम उसे नहीं पाते

और नहीं परत पाते हैं क्योंकि तुम्हारी आंखों पर पट्टी बंधी होती है और जिसकी

आंखों पर पट्टी बंधी है व्यक्ति देख नहीं सकता अर्थात प्रेम की पत्ती एक ऐसी पट्टी

होती जो व्यक्ति सामने वाले को ना तो परखने की चाह

रख पाता है और ही उसे रख पाता है क्योंकि उसके मन में यह भावना आती ही नहीं कि

सामने वाला व्यक्ति षड्यंत्र भी रख सकता है क्योंकि जब वह किसी से सच्चा प्रेम

करने लगता है तो वह यह सोच नहीं पाता कि कोई ऐसा भी कर सकता है उसकी भावना को केवल

प्रेम की होती है और प्रेम उसके हृदय में वास करता है और वहां सोचता ही रहता है कि

मैं जिसे प्रेम करता हूं उसे कितना प्रेम करो जितना मेरा सामर्थ हो और जितने मेरे

बस के हो बहुत ज्यादा उसे प्रेम करो बस यही धारणा रखकर के बाद व्यक्ति सामने को

प्रेम करता चला जाता है और उसे परखने की खींचा नहीं रख पाता उसे अगर यह बात कोई

तीसरा व्यक्ति बता दे कि वहां छल कर रहा है या कर रही है तब भी उस व्यक्ति की

आंखों पर प्रेम की जो पट्टी बंधी होती है वह उस पति को उतार कर कभी भी परखने की

जांच नहीं कर पाता क्योंकि उसे कुछ दिखाई नहीं देता है सच तो उससे बिल्कुल भी दिखाई

नहीं दे पाता जब तक उसकी प्रेम की पत्ती आंखों से उतारी जाती है तब तक बहुत देर हो

चुकी होती है उसे यह जानते जानते काफी समय निकल जाता है कि उसके जीवन में क्या हो

रहा है और कोई है जो उसे छल कर रहा है धोखा दे रहा है उसे पीठ में खंजर घूप रहा

है बात-बात पर उसका झूठ बोलना बात-बात पर उसका रूठ जाना हर बात पर भून दिखाना और

बात-बात पर छोड़ के चली जाऊंगी या छोड़ के चला जाऊंगा धमकी देना और जो जिससे प्रेम

करता है वह उसकी हर बात को स्वीकार कर लेता है डर के कारण और यहां दर कोई ऐसा

वैसा दर्द नहीं होता बल्कि अपने प्रेम को खोने का दर्द होता है और यह भी सच है कि

जो सच्चा प्रेम करता वह अपने प्रेम को होने से बिल्कुल डरता है क्योंकि उसके बिना रह नहीं सकता

और रहा भी नहीं पाता है उसका फिर कहीं मन नहीं लगता उसका दिल नहीं लगता तो वह उदास

हो जाता है वह हर समय सोचता ही रहता है ना तो किसी कार्य को कर पाता है और ना ही

किसी भी कार्य को करने में उसका मन लगता है इसलिए वहां विवश हो जाता है जो जाता है

अपने प्रेम के सामने और ऐसे में ही सामने वाला व्यक्ति जो केवल उससे दिखावा कर रहा

है प्रेम का छलावा कर रहा है ब्रेक का और षड्यंत्र रच रहा है उसके प्रति वहां उसका

फायदा उठा लेता है और फिर उसके साथ धोखाधड़ी करके उसे बर्बाद करने की फिराक

में रहता है मेरे बच्चे यदि ऐसा प्रेम तुम्हारे निकट आ रहा है तो सावधान हो जाओ

क्योंकि प्रेम प्रेम नहीं है बल्कि एक बहुत बड़ा संकट है एक ऐसा संकट है जो यदि

तो उससे फंस गए एक बार तो उससे निकलना नामुमकिन के बराबर हो जाता है क्योंकि

उससे निकलते निकलते बहुत देर हो जाती है और जहां तक कहा जाए तो तुम अपना सब कुछ गवा

बैठते थे तब तुम्हें ज्ञात होता है कि मेरा सब कुछ खत्म हो चुका है मैं बर्बाद

हो चुका हूं इस प्रेम के चक्कर में इसलिए मैं तुम्हें आज आगाह करने आई है अर्थात

में समझाने आए कि तुम ऐसे किसी प्रेम के चक्कर में मत पड़ो नहीं तो तुम्हारा जीवन

खराब हो जाएगा और तुम बर्बाद हो जाओ मेरे बच्चे यह सच है कि प्रेम करना चाहिए लेकिन

उससे नहीं जो तुम्हारे साथ छलावा कर रहा है या दिखावा कर रहा है या तुमसे षड्यंत्र

रचकर बातें करता है बल्कि उससे प्रेम करो जो तुमसे सच्चा प्रेम करता है तुम पर जान

छिड़क है तुम्हारी हर बार में उसकी स्वीकृति होती है और भावनाओं से भावनाओं

का प्रेम होता है ना कि स्वास्थ्य पर मेरे बचे जिसके मन में छलावा होता है उस

व्यक्ति को तुम कुछ ही समय में प सकते हो इसलिए प्रेम करो लेकिन आंखें खोलकर आंखें

बंद करके नहीं यदि आंखें बंद करके प्रेम करोगे तो थोड़ा सा आगे जाकर ही ठोकर खा

जाओगे और मुंह के बल गिर पड़ोगे गिरने से पहले ही तुम्हें समझना होगा और संभलना

होगा और जाना होगा इस बात को कि तुम जो अभी कर रहे हैं उससे कहीं तुम्हारा कोई

नुकसान तो नहीं हो रहा ऐसा कोई व्यक्ति को नहीं है तुम्हारे जीवन में जो तुमसे छलावा

कर रहा हूं और तुम उसके बारे में पूर्ण रूप से जान नहीं पा रहे एवं उसके हाथों से

धोखा खा रहे हैं और जीवन को बर्बाद कर रहे थे क्योंकि मेरे बच्चे यदि ऐसा हो रहा है

तो आगे तुम्हें रोने का मौका भी नहीं मिल पाएगा उस समय जिस समय तुम सब कुछ दवा

बैठोगे अर्थात जो छल कर रहा है वह सब कुछ लूटकर भाग जाएगा और तुम हाथ मलते रह जाऊंगी

क्योंकि संसार में पाच मिलियन बराबर नहीं होती और सब एक से नहीं होते इसी प्रकार

प्रेम करो लेकिन देखो कि कहीं कोई तुमसे छल तो नहीं कर रहा है कहीं तो किसी के

षड्यंत्र मैं तो नहीं रहे हैं यदि तुम्हारे साथ ऐसा हो रहा है तो निश्चित ही

बहुत गलत हो रहा है और अपने आप को तुम लोग क्योंकि यदि समय रहते तुम स्वयं को नहीं

रोको होगी तो आदि तुम्हें केवल पछतावा होगा और जीवन में कुछ नहीं बचेगा ऐसे लावे से और ऐसे संकट

से बचने का केवल एक ही उपाय है कि तुम ऐसे प्रेम को तुरंत छोड़ दो और जिससे भी तुम

प्रेम करो उसे देख परक कर करो उसका प्रेम परखने के बाद ही तुम उसे पूर्ण रूप से

प्रेम करो और परखने के लिए भी तुम्हें यह देखना होगा कि सामने वाला व्यक्ति क्या सच

में तुमसे प्रेम करता है क्या उसकी भावना तुम्हारे लिए उस तरह की है जिस तरह की

तुम्हा है क्या हो उतना प्रेम कर पाएगा तुमसे जितना तुम उससे करती हूं क्योंकि

मेरे बच्चे यदि वहां बात बात पर लगता है या लगती है बात बात पर तुम्हें छोड़ने की

धमकी दे दी है बात बात पर रूठ जाती है यह बात-बात पर उसको क्रोध आता है तो ऐसा

व्यक्ति तुमसे प्रेम नहीं करता क्योंकि प्रेम करने वाला व्यक्ति कभी भी छोड़ने की

बात नहीं करेगा और प्रेम करने वाला व्यक्ति तुम्हें होने से हमेशा डरेगा मेरे ब बचे प्रेम करने वाला व्यक्ति बात बात पर

क्रोध नहीं करेगा बल्कि जहां तुमसे कुछ गलती होगी तुमसे प्यार से बात करेगा और

तुम्हें प्रेम से समझाएगा क्योंकि उसके हृदय में प्रेम है और वह इस बात को समझता

है कि किसी से यदि कोई गलती हो जाए तो उसे प्रेम से समझाने पर जितना ज्यादा समझ में

आता है उतना क्रोध बस कभी नहीं सकता और यही कारण होता है किसी भी व्यक्ति का कि

बात तुम्हें उस समय ता है जब तुम्हें कोई भी बात समझ में नहीं आ रही होती है

क्योंकि प्रेम का धर्म ही सबसे पहला यही होता है कि अपने प्रेमी को समझाएं हर बात

के लिए मनाए यदि प्रेमी क्रोधित भी हो जाता है तो प्रेमिका उसे समझाती है और

प्रेमिका यदि क्रोध होती है तो प्रेमी उसे समझाता है वह दोनों के दूसरे को समझते हैं

भावनाओं को पहचानते हैं एक दूसरे के प्रति बढ़ते मिटते हैं बल्कि अध्ययन नहीं रखते

क्योंकि बहुत प्रेम करते हैं और प्रेम खुद को खुश करने का नाम ना होकर दूसरे को ड

खुश करने का नाम होता है यदि तुम अपने प्रेम से प्रेम करते हो या तुमसे कोई

प्रेम करता है तो निश्चित ही तुम्हारी छोटी-छोटी खुशी का ख्याल रखेगा तुम कब

हंसते हो उसे हंसी आएगी तुम कब रोते हो वह दुखी हो जाएगा तुमसे कभी भी किसी भी चीज

को मानने से पहले क्रोध में नहीं आएगा और नहीं क्रोध में तुमसे कभी ज्यादा बात

करेगा जब भी बात करेगा उसकी बातों में मिठास हो इतनी मिठास की उसके सामने तुमने

सब चीज सीखी लगी लगेगी क्योंकि प्रेम तो एक आनंद है प्रेम कोई ऐसा नहीं है कि बात

किसी के ऊपर ग्रोथ करे बल्कि वहां एक मधुर संगीत की तरह है जिससे दांतों में सुना

जाए तो बहुत अच्छी द सुनाई देती है और यदि दिल से महसूस किया जाए तो वहां रंग में

में रंग लेता है जिससे कि इंसान उसके रंग में रंगने के पश्चात पूरी दुनिया में हर

चीज को में देख पाता है उसकी दुनिया ही रंगबिरंगी हो जाती है वह अपने दिल से हर

चीज को महसूस करता है और उसे यह ज्ञात होता है कि

दुनिया कितनी खूबसूरत है यही तो होता है प्रेम का असली रंग जो जिससे प्रेम करता है

उसे उसी में पूरी दुनिया दिखाई देती है और सबसे ज्यादा इंसान विवश हो जाता है अपने

प्रेम के प्रति गलत भावना सोचने के बारे में और गलत भावना विचार करने के बारे में

क्योंकि प्रेम जब होता है तो इंसान किसी के बारे में बहुत अच्छी भावना रखता है और

अच्छा सोचता है दा प्रेम होता है लेकिन कई बार गलत व्यक्ति इसी बात का फायदा उठा

लेता है उसे यह बात बहुत अच्छे से ज्ञात होती है कि जब होता है तो उसकी आंखों पर

पट्टी बंधी होती है एक तरह से वह पूर्ण रूप से दे नहीं पाता और प्यार अंधा हो

जाता है और इसी का सामने वाला व्यक्ति गलत फायदा उठाकर तुम्हारे जीवन में बर्बादी का

सबसे बड़ा मार्ग बना देता है और ऐसे में सब कुछ बिखर बिखर दे यदि व्यक्ति संभल जाए

तो भी उसका दिल टूट जाता है और यदि वह समझ पाए तो सब कुछ बिक जाता है क्योंकि मेरे

बच्चे इंसान अपने हृदय से जीता है और हृदय से ही बिगड़ता है उसका हृदय टूटा तो वहां

टूट जाता है और यदि उसके हृदय में प्रेम की जो धारणा है लगातार प्रवाह करती रहती

है तो बहुत प्रसन्न रहता है को हर बात अच्छी लगती है और संसार में जो उसका जीवन

है वहां भी अच्छी से गुजारता है हर बात में आनंद लेता है और हर बात में उसे खुशी

महसूस होती है लेकिन यहां जो प्रेम की डोर टूटती है तो इंसान को बहुत ज्यादा कष्ट

होता है लेकिन धोखा खाने से अच्छा और तुम्हारे जीवन में कोई बड़ा संकट आए उससे

ज्यादा अच्छा है कि तुम प्रेम को पहचानो यदि ऐसा प्रेम है जो कि तुम्हें शहीद रचकर

धोखा दे रहा है तुम्हें लूटने की साजिश रच रहा है तुम्हारा जीवन बर्बाद करना चाहता

है तो उसे तुरंत नहीं छोड़ सकते तो धीरे-धीरे करके छोड़ दो लेकिन अपने दिल और

दिमाग से उस व्यक्ति को निकालने का भरपूर प्रस करो क्योंकि वहां आज या तो कल

तुम्हें बर्बाद करके ही रहेगा क्योंकि ऐसा व्यक्ति जो षड्यंत्र रचता है वह किसी का

नहीं हो सकता बच्चे आज मैं तुम्हें डराने नहीं आई और न ही तुमसे तुम्हारी ट्रेन को

दूर करने आए बल्कि मैं समझाने आए क्योंकि संसार में हर व्यक्ति एक जैसा नहीं होता

जो लोग षड्यंत्र रचते हैं अपने प्रेम के प्रति और प्रेम भरा षड्यंत्र रचकर किसी को

फंसाते है केवल उन लोग लोग के लिए यह संदेश है इसलिए वहां मेरे बच्चे बच पाए

यही मेरा संदेश है और जीवन में खुद को भी भी अकेला मत समझना हमेशा ध्यान रखना मैं

तुम्हारे साथ हर पल हर क्षण में तुम्हें देख रही है और जानती हूं कि तुम्हारे जीवन

में क्या रहा है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे कुछ जरूरी बात करने आई और जो बात करने आए उसे सुनना

अति आवश्यक है क्योंकि कुछ ऐसी बातें जो मैं तुमसे करना चाहती है और कुछ ऐसी बातें

जो मैं तुम्हें बताना चाहती हूं तुम जाग थे तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन में कुछ

ही समय में चमत्कार होना प्रारंभ हो जाएगा मेरे बच्चे एक बार को स्मरण रखना कि

मैंने तुम्हारे लिए समय निकाला है तो कभी भी मेरी बातों को सुनने के लिए जरूर समय

निकालना चाहिए क्योंकि जब मैं तुम्हें कुछ जरूरी बात बता रही हूं या कोई ऐसी बात

समझा रही जिससे तुमने जीवन का फिर छुपा हुआ है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ

है जय माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम अपने जीवन को क्यों बर्बाद कर रही हो

तुम्हें क्यों डर लग रहा है मैं तुम्हारे साथ अपने अंदर की बात को सुनो और अपनी मां

काली के बताए रास्ते पर चले मेरी बात ध्यानपूर्वक सुनना जो मैं तुम्हें बताना

चाहती मेरे बच्चे जब तक तुम जवान हो तो मैं केवल और केवल सीखने का प्रयास करना चाहिए कि तुम

किस तरह के मनुष्य बनना चाहते हो यही तो समय है जोखिम लेने का नई चीजें सीखने का

और नए-नए कौशल विकसित करने का अभी भविष्य के बारे में मत सोचो अभी केवल अपने

वर्तमान पर ध्यान दो अभी तुम्हें स्वयं को जानने का प्रयास करना चाहिए अपने जीवन की

बड़ी-बड़ी बातों से ज्यादा छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए जीवन की दौड़

में तो उसके सारे छोटे सुनहरे छड़ों को अनदेखा कर देते हैं जीवन में आगे जाकर जब

तुम पीछे देखते हैं तो उन्हें आभास होता है कि असल में वह छोटी-छोटी बातें भी

तुम्हारी खुशियां थी जीवन का अनुभव करते हुए तुम कई चीजें सीखते हैं जैसे प्रेम दर

सुंदरता कृतज्ञता यही अनुभव से सीखी हुई चीजें तुम्हें जीवन की बड़ी-बड़ी घटनाओं

के लिए तैयार करती है मेरे बच्चे तुम्हारी श्रद्धा को दे देख कर मैं अत्यधिक प्रसन्न

है मैंने तुम्हारी तकलीफ देखी है मैंने तुम्हारी निराशा को जान लिया है भले ही

तुम अपने दुखों के बारे में किसी को भी नाम बताएं मगर मुझे तुम्हारे सभी लोगों का

ज्ञान है अपनी विभिन्न परेशानियों के बावजूद हमें यह समझना चाहिए कि तुम जो कुछ

भी बनना चाहते थे वहां बनने के लिए कभी भी देर नहीं होती है तुम अपने जीवन में जो

कुछ भी चाहो वहां बन सकते हो तुम्हारी क्षमताओं की कोई सीमा नहीं है यदि तुम्हें

लगता है कि तुम्हारे जीवन में बहुत देर हो चुकी है तो ऐसा बिल्कुल नहीं है जीवन में

कभी भी किसी भी बात को लेकर देर नहीं होती है तुम्हें जो कुछ भी करना है जो कुछ भी

बनना है उन सभी के लिए जीवन में कभी भी देर नहीं होती है बस तुम्हारे मन में लगन

होनी चाहिए मेरे बच्चे तुम्हें इस संसार में भेजते वक्त मेरी आशा थी कि तुम संसार

में ऐसा जीवन जी जिस पर तुम्हें घर हुए जीवन का अर्थ ही यही है कि जब इसका अर्थ

है तो तुम्हारी कोई भी इच्छा अधूरी ना रह जाए तो मैं स्वयं के जीवन पर गर्व होना

चाहिए यदि किन्हीं कारणवश ऐसा नहीं है तो तुम्हें फिर से नई शुरुआत करनी चाहिए

तुम्हारे जीवन के सबसे अंधेरे रों में भी एक रोशनी सदा जलती रहेगी तो मैं बस उस

रोशनी को देखने की हिम्मत होनी चाहिए एक बार अपना अंधकार दूर

करने बाद तो वे दूसरों के लिए प्रकाश बनना चाहे तो में सदैव याद रखना चाहिए कि जीवन

की छोटी छोटी हाथ कभी जीवन की हार नहीं होती जीवन की हार केवल तभी होती है जब तुम

हार मान लेते हो तो मन में सफलता के लिए हार नहीं माननी चाहिए और एक बार सफल होने

के बाद दूसरों को हाल से बचाने का प्रयास करना चाहिए तुम्हारी किसी भी इच्छा की

पूर्ति कभी कोई प्रार्थना नहीं करती है बल्कि स्वयं तुम्हारी प्रकृति ही तुम्हारी इच्छा

पूर्ति करती है तुम्हें यह समझना होगा कि प्रार्थना कभी भी ईश्वर की सोच पर प्रभाव

डालने के लिए नहीं की जाती बल्कि रात स्वयं तुम्हारी प्रकृति को बदलने के लिए

दी जाती है प्रार्थना का असल उद्देश्य तुम्हारे मन पर प्रभाव डालता है बार-बार

प्रार्थना करने से तुम्हारे अंदर देख विश्वास उत्पन्न होता है कि तुम जिस भी

वस्तु की इच्छा कर रही हो वह तुम्हें प्राप्त हो सक सती है यही उम्मीद तुम्हारी

इच्छा की पूर्ति की ओर सहारा प्रथम कदम है उम्मीद किसी भी व्यक्ति के जीवन में बहुत

ही आवश्यक है तुम्हारे लिए उम्मीद अंधकार में भी उजाले का कार्य करती है जब कभी

जीवन की किसी भी मोड़ पर तुम्हें कोई भी रास्ता ना दिखाई दे रहा है तो उस

परिस्थिति में एक उम्मीद ही तुम्हें रास्ता ढूंढने के लिए प्रेरित करती है संपूर्ण संसार आखिर भूमि पर ही चल रहा है

यहां तक कि परेशानी की छड़ों मैं ईश्वर तक उम्मीद को ही ढूंढने का प्रयत्न करती है

तो मैं यहां सदैव याद रखना चाहिए कि संसार में आज तक जो कुछ भी हुआ है वह सब केवल

उम्मीद द्वारा ही किया गया है सभी कार्यों के पीछे की प्रेरणा है तुम्हें कभी भी

उम्मीद का साथ नहीं छोड़ना चाहिए मेरे बच्चे में तुम्हारी व्याकुलता से अच्छी

तरह अवगत तोहे मैंने देखा है कि तुम सदैव भ्रमित रहते हो तुम्हारा मन हमेशा उलझा

रहता है तुम्हारा मन उदासीन रहने का तो जैसे आदि हो चुका है

अपने मन की इस व्याकुलता को दूर करने का रास्ता यह है कि तुम्हें सदैव अपने जीवन

में यहां ज्ञात होना चाहिए कि तुम्हें क्या करना है या जाना है इससे भी ज्यादा

तुम्हारे मस्तिष्क में यह बात निश्चित होनी चाहिए कि तुम्हें क्या करना है तुम्हें यहां निश्चित रखना चाहिए कि

तुम्हें क्या करना है जब तुम्हें यह पता चल जाएगा कि तुम्हें क्या करना है तो उस

कार्य को करने के लिए तुम्हें क्या जानकारी अर्जित करने उसका पता तुम्हें

स्वतः ही चल जाएगा जीवन में आवश्यक यह है कि तुम्हें अपने उद्देश्य का ज्ञान होना

मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जाए और माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे

तुम्हारे दुखों का अंत आज निश्चित है जो कुछ भी तुमने देखा है जो कुछ भी तुमने

सुना है और जो कुछ भी तुम्हें सहा है उन सभी का आज निश्चित है आज तुम्हारे अंदर के

ज्ञान को तुम्हें बाहर लाना होगा इसलिए अपने सुख और आनंद की प्राप्ति के

लिए इस संदेश को अंत तक सुनना यदि इसे अंत तक सुनोगे तो मैं आज एक ऐसी चीज सीखने को

मिलेंगी जो आज तक तुम्हें कभी नहीं मिली आज तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली

है क्योंकि आज मैं तुमसे बेहद प्रसन्न हूं लेकिन फिर भी मैं तुम्हें जीवन की वहां

सच्चाई बताने जा रहे हैं जिस से तुम्हें सुनना होगा और अपने जीवन को सुधारना

होगा इसलिए अपनी माता को ध्यानपूर्वक सुनना ताकि तुम्हें जीवन में कभी किसी के

आगे झुकना ना पड़े मेरे बच्चे तुम जीवन में खुशियां ढूंढना चाहते हैं किंतु यह

क्यों भूल जाते हो कि खुशी तो तुम्हारी आसपास है और बहुत तुम्हें भी देख

सकती है जब तुम छोटी-छोटी चीजों में भी खुशियां बूंढो जैसे एक बच्चा अपनी मां में

सारी खुशी ढूं लेता है ऐसे ही तुम्हें भी सारी खुशियां हर जगह मिल सकती है बस

उन्हें महसूस करने की कोशिश करो लेकिन मेरे बच्चे तुम अक्सर उन चीजों में खुशी

देखते हो जो चीज काफी बड़ी होती है या जो तुम्हारे मन की ख्वाहिश होती है किंतु जब

तुम्हारी हर ख्वाहिश पूरी नहीं होती तो क्यों उदास हो जाते हैं किंतु तुम यह भूल

जाते हैं कि यदि उसी को अपने मन की इच्छाओं के रूप में देखने की कोश करोगे तो

तुम कभी खुश नहीं हो सकते आज मैं तुम्हें जो खुशी देने जा रही उस खुशी को महसूस

करने के लिए में स्वयं के अंदर कुछ बदलाव करने होंगे और यह खुशी तो केवल उन्हीं

लोगों से प्राप्त होगी जो तुम्हारे जीवन में है और जिनसे तुम्हारा जीवन जुड़ा हुआ

है मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को अपने जीवन में अपना लोगे तो तुम्हारा जीवन स्वर

से भी अच्छा हो जाएगा और उसके लिए केवल तुम्हें कुछ चीजों का त्याग करना होगा जो

मैं तुम्हें बताने जा रहे हैं ऐसी चीज तुम्हारे जीवन को बर्बाद कर दी यदि तुम इन

चीजों को छोड़ दोगे तो स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने लगेगा और जिस खुशी की तलाश

कर रही हो वहां तुम्हें प्राप्त हो जाएगी अपने अंदर की चीजों का निर्माण करना यह

तेजी से वह चीज है जो तुम्हारे भीतर फैले पाप का नाश करें और यदि तुमने तीन चीजों

को अपने जीवन में अपना लिया तो यकीन करो तुम्हारा जीवन पाप से मुक्त हो जाएगा पहली

चीज स्वयं के प्रति विश्वास मेरे बच्चे यदि तुम स्वयं के प्रति विश्वास जागृत कर

लोगे तो तुम्हारे मन में जितनी भी शंकाएं हैं और जो भी डर है वह स्वयं समाप्त हो

जाएंगे विश्वास एक ऐसी चीज है जो इंसान को बलवान करती है यदि तुम्हारे अंदर विश्वास

है तो तुम किसी भी चीज को हासिल कर सकते हैं चाहे वह कितनी ही कठिन क्यों ना हो को

दूसरी चीज प्रेम है यदि तुम अपने अंदर प्रेम का बीज बोए तो मेरा यकीन करो इस

संसार में किसी भी प्रकार का दुख तुम्हारे अंदर नहीं रहेगा क्योंकि जहां प्रेम होता

है वहां नफरत की थी स्वयं ही समाप्त हो जाता है यह तुम भी जानते हैं कि प्रेम

वहां भाषा है जो जानवर को ही समझ में आ जाती है यदि तुम उसे ट्रेन दोगे तो वहां

भी तुम्हें तभी नुकसान नहीं देगा बल्कि तुमसे भी उतना ही प्रेम

करेगा जितना तुम उससे करोगे तीसरी और सबसे अहम चीज रहा है जो हर मनुष्य में पाई जाती

है और उसका नाम क्रोध है मेरे बच्चे तुम्हें यहां पर रोड का त्याग करना है यदि

तुमने क्रोध का त्याग कर लिया तुम बड़ी से बड़ी विपत्ति में ठंडे दिमाग से काम ले

सकते हो क्योंकि जो मनुष्य क्रोध में आकर कोई फैसला या कार्य करता है तो आगे चलकर

पछताते हैं उन्हें उस समय क्रोध के चलते कुछ समझ नहीं नहीं आता किंतु बाद में जब

उन्हें समझ में आता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है इसलिए मेरे बच्चे विश्वास

प्रेम और क्रोध का प्यार यह तीनों चीज जिस दिन तुम्हारे अंदर आ गई उस दिन ऐसा कोई भी

कार्य नहीं है जो ना कर सको अब यह तुम्हारे ऊपर है कि तुम किस प्रकार से

कार्य कर सकते हैं और किस प्रकार से कार्य नहीं कर सकते स्वयं की शक्तियों को

पहचानने के लिए तुम्हें अपने भीतर इन तीन चीजों का निर्माण करना होगा मेरे बच्चे

तुम जब कभी भी अपने घर में अन्न बनाते हो यदि अन्न बच जाता है तो उस बस हुए अन्य को

बर्बाद मत करना बल्कि उसे किसी गरीब इंसान को या फिर गौ माता को खिला देना ऐसा करने

से तुम्हें पुण्य प्राप्त होगा मेरे बच्चे वहां अन्य भी बर्बाद नहीं होगा तभी दिखाने

को बर्बाद करके अन्नपूर्णा माता का अपमान मत करना जिस घर में अन्नपूर्णा माता अपमान

होता है है वहां खाने की कमी सदा बनी रहती है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपनी माता के इस

बात को ो स्मरण रखो कि तुम्हारा जीवन खुशियों में लाने के लिए यह गोल अति

आवश्यक है इस संसार में हर कोई चाहता है कि उससे सब प्रेम से बात करें उसकी इज्जत

करें यहां कोई नहीं चाहता कि मैं भी सामने वाले को प्रेम दू उसकी इज्जत करें और जब

तक यह सोच तुम्हारे अंदर नहीं आ जाएगी तब तक तो में भी दू दूसर से प्रेम नहीं मिल

सकेगा पहले अपने मन में इस सोच को लाओ यदि तुम्हें दूसरों से प्रेम चाहिए तो तुम्हें

पहले दूसरों को दो प्रेरित करना होगा सभी चाहते हैं कि हमें कोई परेशान ना करें

हमारा दिल नहीं दुखाया हम पर कभी कोई क्रोध ना करें किंतु हम यह भूल जाते हैं

कि इन चीजों की शुरुआत पहले हमें स्वयं के ऊपर करनी होगी स्वयं क्रोध करना बंद करना

होगा दूसरों को परेशान करना बंद करना होगा तब जाकर हमें भी खुशी मिलेगी और यह सब

चीजें तभी संभव है जब तुम्हारे मन में शांति यदि तुम्हारे मन में शांति नहीं है

तो तुम कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकते और यदि तुम्हारा मन शांत है तो इस संसार की

प्रत्येक चीज में तुम्हें शांति का अनुभव होगा और वहां शांति में उसी प्रदान करें

जिस खुशी की तलाश हर इंसान करता है जिस दिन तुम यह सभी चीजें करना प्रारंभ कर

दोगे उस दिन से तुम्हें पूर्ण शांति की प्राप्ति मिलने लगेगी और शांति तुम्हारे

जीवन को पूर्ण रूप से बदल देगी यदि तुम्हारे पास पैसे नहीं है और सारी सुख

सुविधाएं भी परंतु किसी एक चीज को ड लेकर तुम्हारे मन में अशांति है तो वह चीज

तुम्हारे मन को भटका कर रहेगी और किसी चीज को इच्छाएं कहते हैं जो अधूरी रहती है तो

मनुष्य भटकता रहता है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने मन की उन इच्छाओं पर काबू पाने

कि कोशिश करो जो तुम्हारे जीवन के लक्ष्य को भटकाती हैं यह याद रखो कि तुम्हारा

जीवन का लक्ष्य केवल तुम्हारा ही है यदि तुम्हें अपने लक्ष्य पर पूर्ण नियंत्रण

चाहिए वे स्वयं पर नियंत्रण करना होगा मेरे बच्चे में तुम्हारी माता तुम्हारे

लिए चिंतित है यदि तुम अपनी माता की बातों को समझ गए तो तुम्हारा जीवन आज से ही

बदलना शुरू हो जाएगा और मैं चाहती हूं कि तुम मेरे द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलो एक

माता अपने बच्चे से केवल इतना मांग रही है कि तुम सदा अच्छी तरह करके सच्चाई की राह

पर चले मेरे बच्चे तुमने जो मेरी भक्ति की है और भक्ति के चलते जो प्यार मुझसे किया

है वैसा ही प्यार तुम्हारी भी तुमसे ही करती है और जब भी तुम किसी राह पर भटकते

हो तो तुम्हारी मां को चिंता होने लगती है और मेरा हृदय रोने लगता है लेकिन मैं

जानती हूं कि तुम मेरी बहन बच्चे हो जो अपनी माता की थोड़ी सी चिंता से ही घबरा

जाते है इसलिए मेरे बच्चे अब समय आ गया है तुम्हें उचित मार्ग पर ले जाने का मैं

तुम्हारे जीवन का कल्याण चाहती और तोहे भी मेरी बातों को मानना होगा यही मेरा आदेश

है मैं नहीं चाहती कि मेरा बच्चा इस दुनिया की भीड़ में कहीं खो जाए या फिर

ऐसी ही भटकते रहे तुम्हारी मां तुमसे जितना अधिक प्रेम करती है उतना ही

तुम्हारी चिंता भी अब तो अपना ध्यान रखना और अपने जीवन को अच्छा करने के लिए मेरी

बताए हुए मार्ग पर चलना मैं चाहती हूं मेरे हृदय को मत दुखाना मेरे बच्चे अपनी

माता की बातों को आज मानकर कार्य करना मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है जय मां

काली हर हर महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे अत्यंत महत्त्वपूर्ण बात करना चाहता हूं जो भविष्य में

तुम्हारे साथ घटेगी मेरी बातों को ध्यान से सुनो आज मेरे मुख से निकला एक एक शब्द

तुम्हारे लिए भविष्यवाणी है आज मैं तुमसे यह बताना चाहता हूं कि तुम्हारे जीवन का

अंत कैसा होगा तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में क्या सोचेंगे मेरे बच्चे जितने

भी लोग इस संसार में जन्मे हैं उनका कोई ना कोई उद्देश्य होता है अपने उद्देश्यों

को पूरा करके हर किसी को एक ना एक दिन इस संसार को छोड़ना है अपनी जीवन यात्रा में

मनुष्य कई बार गिरता है कई बार संभलता है कभी हसता है तो कभी रोता है ऐसे में

मनुष्य हजारों सपने सजाता है कुछ के पूर्ण होते हैं और कुछ के अधूरे रह जाते हैं

मेरे बच्चे तुमने भी बड़े सपने सजाए हैं और उन्हें पूर्ण करने के लिए तुम कठिन

परिश्रम भी कर रहे हो किंतु अभी तक तुम्हें सफलता नहीं मिली है लेकिन मेरे बच्चे क्या तुमने कभी सोचा है कि तुम्हारे

ही जीवन में इतने दुख क्यों है जबक तो एक सच्चे इंसान किसी का दुख तुमसे देखा नहीं

जाता तुम्हारी भक्ति सच्ची है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में इतने संघर्ष इसलिए है

क्योंकि तुम कुछ और चाहते हो और मैं कुछ और चाहता हूं तुम जो पाना चाहते हैं उससे

कई गुना ज्यादा मैं तुम्हें देना चाहता है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है तो उस समय

भी अधिक लगेगा किंतु शीघ्र ही तुम्हारे जीवन में कई बड़े बदलाव होंगे और अपनी

बेहन और साहस के बल पर सफलता प्राप्त करेंगे किंतु तुम्हें मिलने

वाली यहां सफलता बहुत बड़ी नहीं लेकिन यहां वहां कुंजी है जो तुम्हें तुम्हारे

अंतिम गंतव्य तक ले जाएगा मेरे बच्चे जब तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में होंगे

तो तुम्हारा मन संतोष एवं शांति का अनुभव करेगा तुम्हारे जीवन का अंत बेहद दुखद

होगा तुम्हारी कोई भी सपने अधूरे नहीं रहे तुम अपना पूर्ण जीवन जीकर ही संसार त्याग

होगी और तुम अपने जीवन में कई ऐसे कार्य करोगे कि तुम्हारे जाने पर केवल तुम्हारे

परिजन को ही नहीं पूरे समाज को होगा हर किसी की आंखों में तुम्हारे लिए आंसू

होंगे और तुम्हारे जाने के बाद लोग तुम्हें याद करेंगे कुछ ऐसा होगा तुम्हारे

जीवन का किंतु अभी तो यह तुम्हारे जीवन का आरंभ में है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है

अब आगे बढ़ो मेरे बच्चे और अपने उद्देश्यों को पूरा करो मेरा आशीर्वाद सदा

तुम्हारे साथ रहेगा जाय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश

प्राप्त हुआ है तो तुम्हारे जीवन की समस्याएं आज समाप्त होने वाली है मेरे

बच्चे मेरी तीन बातों पर विशेष ध्यान देते हैं तुम्हारी हर परेशानी दूर हो जाएगी

सुबह से लेकर शाम तक और हर समय उठते बैठते जागते तुम्हारे मन में यही विचार हमेशा

लगा रहता है कि मेरे साथ ही ऐसा क्यों हो रहा है मैंने गलती की है मेरा क्या दोष है

मैंने तो कुछ गलत किया भी नहीं फिर भी मेरे साथ क्या हो रहा है मैं क्यों इतना

परेशान संसार के सभी व्यक्ति बहुत खुशहाल है और मेरे जीवन में कोई भी परेशानी मेरा

पीछा नहीं छोड़ रही है तुम्हारा मन सदा अपनी नाकामियों से परेशान रहता है कोई भी

नया कार्य प्रारंभ करते थे लेकिन अधूरा रहता है या पूरा होते होते रुक जाता है कई बार तो

तुम्हें ऐसा लगता है कि तुम किसी भी कार्य को नहीं कर पाओगे तुम्हारा हृदय यहां

मानने लगा है कि कोई भी काम सफल नहीं हो पा रहा है तुम्हारा विश्वास टूटने लगा है

डगमगाने लगा है तुम्हें ऐसा लग रहा है कि तुम्हारे जीवन में पता नहीं आगे क्या होने

वाला है आगे के सभी रास्ते बंद दिखाई दे रहे हैं ऐसा लग रहा है कि जीवन में कुछ

बचा नहीं है और तुम्हारा कोई साथ नहीं दे रहा है लेकिन मेरे बच्चे अभी भी कुछ

रास्ते खुले हुए हैं शजन पर चलकर तुम अपनी मंजिल को प्राप्त कर सकते हैं अपनी हर

परेशानी को समाप्त कर सकते हैं अगर कुछ कमी है तो उन पर चलने की आज मैं तुम्हें

तीन काम बताऊंगी बातों को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना और करना है पहले जीवन में

प्रतिदिन संध्या काल तुम अगले दिन के लिए यह निश्चय कर लो कि आज की गई गलती को कल

वोके कहने का अर्थ है कि पीछे की जो भी चीजें छूट रही

उनको नहीं दोहराएंगे आगे जब तुम्हें चलना है तो तुम्हें एक नए रास्ते को बनाते हुए

पीछे की गलतियों को छोड़कर चलना है तभी तुम उस मुकाम पर पहुंच सकते हैं जहां तक

पहुंचना चाहते हो दूसरा खुद के मार्ग खुद बना सुनो सबकी करो अपने हृदय की तुम्हारा

हृदय जब सबकी बातों को सुनने के बाद जो कहता है अंदर से जो विश्वास तुम्हारा जाता

है उसी को करो और तीसरा तुम सोच से जदा हो और काम करते हो जो भी विचार

तुम्हारे मन में आता है उस पर तुरंत काम करना प्रारंभ कर देना चाहिए ना कि तुम

सोचते सोचते अपने समय को व्यर्थ में दवाओ भले ही तो चिंताओं से घिरे हुए कितनी भी

भोजन से मायूस हो चुके हो फिर भी यदि तुम्हें इन परेशानियों से निकलना है तो

किसी भी मार्ग पर तुरंत काम करने से तुम्हारे समय की बचत होगी और उस पर

जितना जल्दी काम कर सकते हैं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से निकल जाएगा और उस

पर जितना जल्दी हो सके तो काम कर सकते हो नहीं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से

निकल जाएगा वही तुम्हें भी प्राप्त होगा जो तुम्हें चाहिए इस बात का ध्यान रखना

परेशानियां तब भीड़ की है जब तुम परेशानियों को देखकर अपने कदमों को पीछे

हटा दे इसलिए कभी भी परेशानियों से डरो मत उसका डटकर सामना करो जो डटकर सामना करके

आगे जाने की हिम्मत रखते हैं निश्चित ही हर परेशानी का सामना

कर लेते हैं क्योंकि किसी भी चीज से डरना ही असफलता का मुख्य कारण है और संसार में

ऐसी कोई चीज नहीं जो तुम नहीं कर सकते अगर कुछ कमियां है तो सोचकर केवल मन लगाकर

करने की जैसे ही इसे करोगे हर परेशानी से निकल जाओगे अब जो तुम्हें बताने जा रहे

हैं यह बात आज तक तुम्हें किसी ने भी नहीं बतानी होगी मेरे बच्चे तुम्हारी सफलता का

रहस्य यहां छुपा हुआ है तुम प्रयास करते हो दूसरे को देखने का तुम

देखने का प्रयास करती हूं कि वह जीवन में आगे कैसे बढ़ रहा है आगे बढ़ने के लिए बात

क्या कर रहा है और जो भी बात कर रहा है उनका उन्हें लाभ कैसे होगा तुम प्रयास

करते हैं उनके जीवन में देखने की उनकी गतिविधियों को तुम देखने और समझने का

प्रयास करते हैं इसलिए तुम पीछे छूट जाते हैं जीवन में यदि तुम आ आगे बढ़ना चाहते

हो तो तुम्हारी दृष्टि भी आगे की बोली चाहिए कदम भी उसी मार्ग पर आगे बढ़ाना

चाहिए अपनी गतिविधियों को देखो अपनी योजनाओं को देखे अपने प्रयासों को अपने

अनुभव को समझो और उसी मार्ग पर आगे हैं ऐसी कोई सफलता नहीं जो तुम्हें प्राप्त

नहीं होगी तो में कोई ना कोई विशेष है और तुम में कोई ना कोई दोष भी है यह

प्राकृतिक तुम्हें क्या सिखाती है यह सभी एक दूसरे से लड़ते नहीं है एक दूसरे के

लिए बाधा नहीं बनते बस अपना कर करते हैं सूर्य अपने प्रकाश से वनस्पतियों के पेड़

पौधों को जन्म देता है में वर्षा करते हैं लोग होते हैं पर्वत की यहां चलता है उस

वसा को एक दिशा देती है एक धारा बनती है जो बहती है यह सब क्या है यह सब एक संयोग

है चक्र है सभी साथ मिलकर अपना कन करते हैं अभी यहां प्राकृतिक जी जीवित है यही

तो वे भी करना है सहयोग में रहकर काम करना है किसी के लिए बांधा नहीं बनना है किसी

को छोटा नहीं समझना है ऐसे ही करते रहना है सबके साथ मिलकर कम करना है

प्राकृतिक ब्लीच भी यही सिखाती है मेरे बच्चे एक प्रबल मन कठिन परिस्थितियों को

एक चुनौती के रूप में देखता है और चुनौतियों में अवसर को देखता है यही

तुम्हें भी करना है इस संसार में किसी को भी दोषी मानने से तुम्हा सी समस्या सुलझ

नहीं जाएगी इसलिए इस संसार को दोष देने के स्थान पर उस समस्या की जड़ तक जाए उसे

समझो और अपने इस मन को प्रबल बना यदि तुम्हारा मन प्रबल हो गया तो इस संसार में

बड़ी से बड़ी कठिन से कठिन परिस्थितियां क्यों ना आ जाए तुम्हारे जीवन में बड़ी से

बड़ी समस्या क्यों ना बन जाए तुम अपने जीवन में आसानी से उसे पार कर सकते हो

क्योंकि तुम मेरे प्यारे बच्चे और मैं तुम्हें कभी दुखी नहीं देखना

चाहती इसलिए मेरी बातों का विशेष ध्यान देना मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

जय हो माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम्हारी आंखों के समक्ष यदि मेरा संदेश

आया है तो निश्चित ही तुम्हें आज मेरा यह एक वरदान प्राप्त होगा जिसके लिए पूरा

संसार तरस रहा है वहां तुम्हें प्राप्त होगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम बहुत

भाग्यशाली हो तुम्हारे अंदर यहां एक बहुत अच्छा गुण है कि तुम किसी को गिराने की

कोशिश नहीं करते हो लेकिन अब मेरी कही हुई बात पर विशेष ध्यान दो संसार में हर

व्यक्ति को क्या चाहिए किस चीज में उसकी खुशी है भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यक्तियों

की भिन्न-भिन्न प्रकार की खुशियां हो रही है लेकिन खुशियां कुछ चीजों से ही लगभग

सबकी जुड़ी होती है जैसे कि किसी को धन चाहिए किसी को संतान चाहिए किसी को घर

चाहिए किसी को व्यवसाय चाहिए लेकिन हर चीज जुड़ी हुई केवल एक चीज से है और वह चीज है

इस संसार में प्राप्त होने वाले आपकी अच्छी किस्मत अगर आपकी किस्मत अच्छी होगी

तो आपको कोई भी चीज मुफ्त में मिल जाएगी जरूरी नहीं कि आपको पैसे ही टमाटर थोड़ी

चीज प्राप्त हो बल्कि आपकी बुद्धि इतनी बलवान होगी कि आप उससे कम पैसों में भी

बड़े से बड़े मुकाम पर पहुंच सकते हैं क्योंकि संसार में बड़े मुकाम पर पहुंचने

के लिए तुम्हें जो चाहिए वह मैं तुम्हें आज बताऊंगी और वहां तक पहुंचने का रास्ता

भी बनाम लेकिन तुम भी मुझसे एक वादा करो कि तुम वहां तक पहुंचने के लिए पहल स्वयं

करो करोगे इसके लिए तुम्हें बुरा बनना होगा एक बात ध्यान रखना जितने ज्यादा बुरे

बनोगे उतना ही सफल हो जाओगे बुरे का अर्थ किसी का गलत करना नहीं होता बुरे बनो

स्वयं के लिए इस तरह बन जाओ के जीवन में जो तुम लोग उसे प्राप्त करने की शक्ति

तुम्हारे पास स्वयं ही आज भी अपने मन को दृढ़ निश्चय लेने वाला एक कठोर पत्थर की

तरह बना लो यदि तुम्हारे निर्णय पर तुम पूर्ण रूप से कार्य करने वाला और अपने कहे हुए वचनों पर

खरा उतरने वाला बच्चा तो तुम रामचंद्र जी के बारे में स्वयं जानते हो कि उन्होंने

अपने वचनों पर खरा उतरने के लिए सीता माता को लेकर मतभेद निवास किया था और वह इसलिए

महान और पूजनीय स्थान पर प्राप्त हुए जीवन में उन्हें महाराजा बनाया गया और ऐसे कई

राजा है जो अपने वचनों पर खरे उतरे हैं तो जीवन में हर माह उनको मंजिल पर पहुंचाना

है मेरे बच्चे तुम्हें मुझसे डरने की आवश्यकता नहीं क्योंकि मैं भले ही

तुम्हारे समक्ष गांधी रूप में प्रस्तुत लेकिन मैं दर असल तुम्हारी पार्वती मानी

और मेरा हृदय बहुत ही कोमल है मेरे बच्चे शक्ति ता उत्पन्न होती है जब तुम स्वयं उस

शक्ति को अपनी ओर आकर्षित करते हो जब तुम स्वयं अपनी बोली में हर बात पर खरे उतरने

लगते हैं और अपने वचनों से पीछे नहीं हटते तो स्वयं तुम्हारे अंदर शक्ति विद्यमान हो

जाती और शक्ति में तुम्हें जो चाहिए उसे प्राप्त करने के लिए तुम अपने मन को एकांत

में शक्ति को अर्जित करने की कोशिश करो जितना तुम अपने मन को शांत रखोगे हर

बाधाओं के नहीं और शांत मन से अपने हृदय की विचारधारा को उत्पन्न होने दोगे तभी

पूर्ण लाभ उठा पाएंगे जी में जब भी तुम्हारी मुश्किल घड़ी होती तो मेरी शक्ति

को तभी महसूस कर पाएंगे जब तुम अपने आप को स्वयं गलत कार्यों से बचाकर रखनी होगी

इसके साथ कि आपके अंदर जो शक्ति उत्पन्न होती है वह सही गलत का मार्गदर्शन भी करती

है और गलत रास्तों पर जाने से रोकती है और सही मार्ग पर तुम्हें आगे बढ़ाने की और

ज्यादा शक्ति प्रदान करती है तुम निश्चित पूर्व ग्रहो में तुम्हारी रक्षा करेंगी

मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ रहेगा जय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे कुछ भी

हो जाए अपने विश्वास को कभी टूटने मत देना तुम्हारे विश्वास की डोर बहुत मजबूत है

क्योंकि मैंने देखा है तुमने हर गंभीर समस्या चाहे कैसी भी परिस्थितियां क्यों

ना हो उसका सामना में दर्ज कर किया है मेरे बच्चे मैं तुमसे यही कहना चाहती हूं

कि तुम एक बहादुर बच्चे हो इतने बहादुर कि मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व होता है

क्या तुम्हें याद है तुमने अपनी जो परिस्थितियों का सामना किया था उसमें तुमने बहुत बहादुरी दिखाई थी मेरे बच्चे

तुमने मेरे ऊपर सब छोड़ दिया था और अपने कार्य को निरंतर करते जा रहे थे जो माह में उस

कार्य को कर रहे थे जो बहुत ही ज्यादा कठिन था परंतु तुमने हार नहीं मानी और

अपने सफर में आगे बढते रहे इसी आज मैं तुम्हें यह याद दिलाने आई कि जैसे तुमने

पहले अपनी हर समस्या का डटकर सामना किया है वैसे आगे भी

हमेशा करते रहना और मैं तुमसे यही कहना चाहूंगी कि आज मैं तुमसे बहुत प्रसन्न हूं

और मैं तुम्हें आशीर्वाद दे दे कि तुम्हारी जितनी भी इच्छा है बहुत जल्द से

जल्द पूरी हो जाए इसलिए बहुत सारी चिंता त्याग दो और अपनी मंजिल की ओर आगे बढ़ते

रहो मेरे बच्चे मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व है कि तुम्हें संसार में अपनी

सकारात्मक ऊर्जा फैला र हो मैंने तुम्हें इस प्यारे से संसार में भेजा है यह

सकारात्मक ऊर्जा लोगों को भी सिखाओ लोगों से अच्छे कार्य कर रहा मेरे बच्चे हमेशा

अच्छा ही सोचो यदि कोई किसी की बुराई करता है श्र निंदा करता है तो तुम्हें उन

बुराइयों से बचना है क्योंकि यदि तुम बुराई करोगे तो तुम उसी पद पर आगे जाओगे

जो मैं कभी नहीं चाहती है इसलिए जीवन में कभी ऐसा मत करना मेरा आशीर्वाद हमेशा मेरे

बच्चों के साथ ही है मेरे बच्चे आज का यह संदेश सबको प्राप्त नहीं होगा जिन्हें भी

यह संदेश आज प्राप्त होगा वह एक पुष्टिकरण होगा कि तुम्हारी कोई इच्छा पूरी होने

वाली है तुमने जो प्रार्थना की थी मैंने उसे स्वीकार कर लिया मेरे बच्चे मैं जानती

थी कि हाला अभी ठीक नहीं है तुम्हारा मन किसी कार्य में नहीं लगता तो मैं कुछ समझ नहीं

आता तुम अपने आप को फंसा हुआ पाते हो और अपनी पीड़ा कहीं भी तो किस से कहे मेरे

बच्चे तुम्हें मैं असमंजस में दे रही परंतु आज मैं तुमसे एक वादा करती हूं

शीघ्र सब कुछ अच्छा हो जाएगा यह जीवन से चलने लगेगा तोहे कामयाबी नहीं मिलेगी ऐसा

हो सकता है अपने मन में यह विचार लाते क्यों हो मेरे बच्चे जैसे ही तुम्हारे मन

में यह विचार आते है तब मैं स्वयं तुम्हें बताती है कि रुक जाओ आज भी तुम्हें कुछ

संकेत प्राप्त हुए होंगे इस संदेश को पढ़ने के बाद बा भी कुछ संकेत दूंगी और

तुम्हें आभास हो जाएगा कि मैं क्या कहना चाहती मेरे बच्चे आज केवल किसी कारण से यह

संदेश तुम्हें प्राप्त हुआ है कि तुम कामयाबी के बहुत करीब आ गए जब मैं

तुम्हारे लिए कुछ खूबसूरत योजना तैयार करते हैं तब तुम्हें कुछ विशेष राखी होती

है यह संकेत बड़े ही अनमोल होती है मेरे बच्चे अब इन्हें तो तुम्हें स्वयं ही

समझना होगा कि ऐसे कौन से अनमोल संकेत है जो तुम्हें निरंतर प्राप्त हो रहे हैं

मैंने तुम्हारे लिए जो योजना तैयार की है उस योजना के द्वार खुल रहे हैं जैसा कि

मैंने तुम्हें पिछली बार भी कहा था आने वाला मौसम चमत्कार का है जहां लगातार

चमत्कार ही प्रारंभ होंगे अब रोज एक सुबह खास होगी जहां चार और चमत्कार ही चमत्कार

होगा मेरे बच्चे तुम इस चमत्कार को दिव्य दृष्टि से देख सकते हैं बदलाव को निकट है

तुम अपने हौसलों को मजबूत करो तुम बदला के बहुत निकट पहुंच गए हैं दीप प्रज्वलित हो

चुका है जो तुम्हारे अंधकार को मिटाया जाए अपने मन से सभी भाई निकाल दो देखने का

नजरिया बदलो खुशियां चारों ओर है अपने सारे गम भुलाकर खुद को खुशियों के लिए

तैयार करें मेरे बच्चे जहां धूप है वहां छाया भी होगा रात्रि के बाद ही सुनहरा

सुबह आता है जैसे अभी है तो जल है इसी तरह अगर जीवन में कोई परेशानी है तो उस

परेशानी का अंत भी निश्चित होता है तब तुम क्यों इतना उदास होते इसीलिए मैं कहती

चिंता छोड़कर अपने आप से प्रेम करो क्या हालत बना ली है तुमने अपनी अपना ख्याल रखो

अपने आप से प्रेम करना ही छोड़ दिया है तुमने मेरे बच्चे मैं तुम्हारे जीवन में

केवल वही करती जो तुम्हारे लिए सही है दो दिनों के अंदर तुम्हें कुछ विशेष संकेत

प्राप्त होंगे यह संकेत तो में निद्रा के स सनों में भी बोल सकते हैं जिससे तुम्हें

सुनिश्चित हो जाएगा कि जल्द ही सब बदलने वाला है मैं चाहते हैं कि चिंता मुख होकर

मुस्कुराओ मैं चाहती हूं कि तुम अपने जीवन में जीत हासिल कर इसकी शुरुआत खुद स्वयं

से करो आगे मैं तुम्हारे रथ को संभाल लूंगी देर होने से पहले तुम्हें आज यह

संदेश प्राप्त हो गया है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन की दिशा अब पूरी तरह से

बदलने वाली है आने वाले समय के बारे में मैं तुम्हें कुछ बताना चाहती इसलिए

तुम्हें इस बात को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना होगा मेरे बच्चे आने वाला समय

तुम्हारे जीवन का सबसे अच्छा और महत्त्वपूर्ण समय होगा तुम्हारे जीवन को

एक नया आया मिलेगा तुम बाहें फैलाकर आने वाली खुशियों का स्वागत करना अब समय

परेशान रहने का नहीं है अब समय है खुशी से झूमने का सुबह उठकर खुली हवा में सांस

लेना और प्राकृतिक के सु

मेरे प्रिय बच्चे कैसे हो तुम आज तुम्हारी काली माता तुम्हारे लिए एक ऐसा संदेश लेकर

आई है जिसे जानकर तुम प्रसन्नता से बहुत ही गदगद हो जाओगे क्योंकि मेरे बच्चे इस

संदेश में कुछ ऐसा ही है जिसे जानने के बात तुम्हें बहुत ही प्रसन्नता होगी मेरे

बच्चे तुम्हारे शत्रु जो तुम्हें बहुत परेशान करते थे अब उनके परेशान होने के

दिन आ गए हैं अब उनके घरों में इस प्रकार से कला और उपद्रव ने निवास कर लिया है

क्योंकि आपस में ही लड़ झगड़ कर मर रहे हैं वह इस प्रकार से लड़ रहे हैं कि एक

दूसरे के खून के प्यासे हो गए हैं उनके अंदर जो आपस का प्रेम भाव था वह सब समाप्त

हो गया है और वह अब एक दूसरे के खून के प्यासे हैं उनकी लड़ाई से पूरे मोहल्ले

में सनसनी मची हुई है मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रुओं की ऐसी दशा देखकर मैं तुम्हें

बताने के लिए आई हूं इसलिए मेरे मे बच्चे अगर तुम अपनी काली माता को दिल से मानते

हो तो इस वीडियो को अभी लाइक कर दीजिए और चैनल को सब्सक्राइब करके कमेंट में जय हो

माता रानी और हर हर महादेव जी टाइप कर दीजिए और साथ ही साथ अपने नाम का पहला

अक्षर दर्ज कर दीजिए ताकि हम तुम्हारे जीवन की सभी समस्याओं को दूर करने में मदद

कर सके मेरे बच्चे यह संदेश तुम्हारे लिए बहुत ही खास है क्योंकि इसमें आगे

तुम्हारा भी जीवन से जुड़ी हुई बहुत रोचक और आवश्यक बातें हैं जो तुम्हें आगे चलकर

तुम्हारे शत्रुओं की चाल से बचाएंगे और उनकी प्रत्येक योजनाओं को तुम्हें सूचित

करेंगे मेरे बच्चे जब किसी के कर्मों का घड़ा भर जाता है तो वह एक दिन फुट ठा

आवश्यक है मनुष्य को यह पता नहीं होता है कि जो मैं यह करू रहा हूं यह मेरे साथ

कैसा परिणाम लेकर आएगा बस वह करता रहता है वह सोचता है कि कि मैं जो कर रहा हूं उसे

कोई नहीं देख रहा है और ना मुझे कोई रोकने वाला है और नमो मुझे कोई समझने वाला है

किंतु उसका यह भ्रम होता है मेरे प्यारे बच्चे तुम यह बात हमेशा याद रखना अगर

तुमने किसी के साथ गलत किया है तो किसी ना किसी दिन तुम्हारे साथ भी वैसा ही होगा

यही आज तुम्हारे शत्रुओं के साथ हुआ है उन्होंने तुम्हारे साथ बहुत ही गंदा

व्यवहार किया है तुम्हारे हर कार्य को बाधित किया है तुम्हें हर प्रकार से

पीड़ित और परेशान किया है इसलिए अब उनके कर्मों का दंड मिल रहा है मेरे बच्चे आपके

जीवन में कुछ बहुत बड़ा घटित होने वाला है और तुम्हें इस बात के बारे में पूर्ण रूप

से अवगत कराना चाहती इसलिए मैं तुम्हारे पास आए हूं मेरे बच्चे तुम्हें सबसे पहले

मेरी बातों को सुनकर डरना नहीं है बल्कि तुम्हें केवल बातों को समझना है यदि तुम

समझ गए तो आने वाली उस उस चीज का सामना तुम बहुत आराम से कर पाएंगे क्योंकि जीवन

में घटित होने वाली अच्छी या बुरी चीजें बार-बार जीवन में आने का अर्थात प्रवेश

करने का का पूर्ण रूप से प्रयास करती है तो इसका अर्थ यह है कि तुम जब भी किसी

कार्य को करते हो तो उस कार्य से आकर्षित समय तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने का

प्रयास करता है अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी और वह बार-बार प्रयास करता है कई

बार तो अच्छा होते होते रह जाता है और कई बार बुरा होते होते रह जाता है उसका कारण केवल

इतना होता है कि तुम ध्यान नहीं देते और उसके साथ-साथ यदि कुछ बुरा होने वाला होता

है तुम्हारे पास देवीय शक्तियां होती है तुम अपने आप को सुरक्षा कवच में

सुरक्षित रखते हो इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें कोई ऐसी शक्ति नुकसान नहीं पहुंचा

पाती जो तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहती है इसके कई अर्थ होते हैं लेकिन लेकिन आज जो

मैं बताने आई हूं उसको सुनने से पहले एक बार जाए वह माता रानी जरूर लिखना इससे

मुझे बहुत प्रसन्नता होगी मेरे बच्चे जब तुम्हारे करीब कोई भी ऐसा इंसान यदि आता

है जिससे तुम्हें खतरा महसूस होता है या तुम्हें डर लगने लगता है या तुम्हारे हृदय

को यह आभास होता है कि इस व्यक्ति से तुम्हें नुकसान पहुंच सकता है तो तुम्हारा

मन बार-बार डरने लगता है और तुम से दूर हटने लगते हो तो उसके करीब नहीं जाते

लेकिन कई बार ऐसा देखने वाला व्यक्ति जिससे तुम्हें बिल्कुल

भी ना लगे तो तुम उसे पहचान ही नहीं पाओगे कि तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहता है या

नहीं चाहता या तुम्हारे करीब आने वाली ऐसी अदृश्य शक्ति है जो कि तुम्हें दिखाई नहीं

देती लेकिन ना हो तो भी नुकसान पहुंचा सकती है अब जो चीज तुम्हें दिखाई नहीं

देती उसे केवल हृदय से आभास कर सकते आंखों से देख नहीं सकते क्योंकि वह हवा

में विलीन होती है लेकिन मेरे बच्चे वहां कोई कमजोर शक्ति नहीं होती बल्कि इतनी

शक्तिशाली शक्ति होती है कि तुम्हें नुकसान पहुंचा सकती है लेकिन जब तुम्हें

कोई चीज दिखाई दे तो तुम उससे बचने का प्रयास कैसे कर सकते हैं यहां भी जानना

जरूरी है कि जो व्यक्ति तुम्हें दिखाई दे रहा है और यदि वह तुम्हें खतरा महसूस नहीं

कर पा रहा ले लेकिन तुम्हें उससे खतरा है उससे कैसे बचना है इसके साथ-साथ तुम्हें

एक बात को जान लेना होगा जो मैं तुम्हें आज बताऊंगी तुम्हें उस बात को भी जान लिया तो निश्चित

ही आने वाली चाहे कोई भी हो लेकिन तुम उससे बच जाओगे सबसे पहले तो तुम्हें इस

बात को जान लेना जरूरी है कि यदि तुम मेरी आधी अधूरी बातों को सुनोगे तो धूप से बचने

का रास्ता प्राप्त नहीं हो पाएगा यदि तुम पूर्ण रूप से बचना चाहते हो तो तुम्हें

मेरी पूरी बातों पर ध्यान देना होगा और अपने मन में हर बात को उतारना होगा

क्योंकि मेरे बच्चे एक चीज से बच सकते हो तो दूसरी से खतरा हो सकता है यदि सभी से

बचना है तो तुम्हें कुछ बातों को जान लेना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि कई बार मैं

तो तुम्हें बचा लेती है लेकिन तुम कहीं ना कहीं कोई ऐसी गलती कर देते हो तो नुकसान

तुम्हारा होने के साथ-साथ मुझे भी होता है इसलिए मेरे बच्चे आज मैं

तुम्हारी मां तुम्हें पूर्ण रूप से बचाने आई तुम किसी के नुकसान पहुंचाने पर एक ही

रास्ता ऐसा नहीं होना चाहिए कि तुम्हें कोई नुकसान पहुंचा पाए क्या तुम्हें उस

बात के बारे में अवगत ना हो और यही मेरा धर्म बदला है क्योंकि मैं एक मां और मां

अपने बच्चों की हर प्रकार से रक्षा करती है वह हमेशा अपने बच्चों का भला चाहती है

उसके मन में हमेशा यही डर लगा रहता है कि कहीं मेरे बच्चे को कोई नुकसान

ना हो जाए किसी भी कारण पास और यही मेरा है मैं भी तुम्हें बार-बार के इसलिए बताती

हूं और आगाह करती हूं जिससे कि तुम्हें जीवन में कोई भी परेशानी ना हो

क्योंकि मेरे बच्चे में मां होकर अपनी ममता को कैसे रोक सकती सबसे पहली बात तो

तुम्हें इस बात का स्मरण रखना होगा कि स्त्री हो या पुरुष यदि उसे कोई स्त्री या

उसे कोई पुरुष जबरदस्ती मित्रता ना चाता है अर्थात तुम्हारे मना करने पर भी बहुत

बार-बार तुमसे बातें करने का प्रयास करें बार-बार तुम्हारे करीब आने का प्रयास करें

और तुम उसे अनदेखा कर रहे हैं फिर भी वह तुम्हारे करीब आती चली जा रही है यहां

तुम्हारे करीब आता चला जा रहा है तुमसे मित्रता बनाने के लिए बार-बार कहता है और

तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारा मित्र बनना चाहता है या चाहते हैं तो तुम

निश्चित ही इस बात को समझने की बहुत कोई साधारण इंसान नहीं है बल्कि जो तुमसे

जबरदस्ती मित्रता निभाने की या तुम्हारे अनदेखा करने के पश्चात भी उनसे मित्रता

बनाने की कोशिश कर रही है वह जरूर कोई ना कोई परेशानी लाने वाली है क्योंकि मेरे

बच्चे उसके इरादे नेक नहीं है जो अच्छा इंसान होता है जिसकी भावनाएं अच्छी होती

है मित्रता वो भी करते हैं लेकिन ना केवल सामने वाले की भावना को देखकर मित्रता

करती है जबरदस्ती किसी के ऐसे पीछे नहीं पड़ती है और जो ऐसा करते हैं निश्चित ही

उनके मन में कुछ ना कुछ सामने वाले के प्रति गलत भावना रहती है वह कुछ ना कुछ

नुकसान पहुंचाना चाहते हैं और इसी इरादे से वहां बार-बार करीब आने की कोशिश करते

हैं जिससे कि जबकी कभी ना कभी उनसे मित्रता करें और इसी का फायदा उठाकर आपका

नुकसान करते हैं अर्थात आपके जीवन में कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान करेंगे जिससे कि आपको

जीवन भर पछताना पड़ेगा इसलिए मेरे बच्चे ऐसे व्यक्ति से सबसे पहली बात तो दूर रहना

प्रारंभ करो और दूसरा इस बात को ध्यान रखें कि यदि तुम्हें कोई भी ऐसी मानसिक

स्थिति रही है अर्थात तुम्हारा मन बार-बार किसी भी मांग को लेकर परेशान हो रहा है या

क्यों बेवजह से किसी बात से सबसे ज्यादा डर रहे हो तो तुम्हें एक बात को स्मरण

रखना चाहिए कि कोई ना कोई ऐसी शक्ति तुम्हें घेर रही है जो कि तुम्हारे हृदय

के और मस्तिष्क के अंदर नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न कर रही है अर्थात तुम्हारे मन के अंदर एक ऐसा

दृष्टिकोण बन रहा है जो कि किसी भी कार्य को ना करने के लिए उकसा रहा है और

तुम्हारी शक्ति को कमजोर कर रहा है अर्थात कहने का अर्थ यह है कि एक नकारात्मक ऊर्जा

तुम्हारे जीवन में प्रवेश कर रही जिस ऊर्जा को तुम्हें नष्ट करना होगा और यह

केवल तुम अपने ईष्ट देवता के मंत्रों का उच्चारण करके भी कर सकते हो या तुम अपनी

माता का नाम का उच्चारण करो या फिर हनुमान चालीसा चालीसा का पाठ करें क्योंकि

कुछ-कुछ शक्तियां ऐसी हैं जिनके मंत्रों का लगातार उच्चारण यदि तुम करते हो तो

निश्चित ही तो उस शक्ति का उच्चारण करते-करते उस शक्ति को अपने इर्दगिर्द विद्यमान कर लोगे इस बात का ध्यान रखो

कि कभी भी किसी भी शक्ति के मंत्र उच्चारण करने से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में

प्रवेश करने लगती है और तुम्हारे के विद्यमान हो जाती है तुम्हारी रक्षा करने

के लिए क्योंकि तुम स्वयं ही उस शक्ति को अपनी हो आकर्षित करते हैं अपने मुख से

निकले हुए एक एक शब्द से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में धीरे-धीरे करके प्रवेश

करने लगती है और यदि कोई भी नकारात्मक ऊर्जा यदि तुम्हारे मस्तिष्क में प्रवेश

करके विद्यमान हो जाती है और उसे अपने मस्तिष्क से अपने हृदय से अपने पूरे शरीर

से विकास नहीं पाते हो तो उसका मास तुम्हारे शरीर पर होने लगता है चाहती है

जैसा तुम करते हो अर्थात बहुत कुछ ना कुछ तुम्हारे जीवन में बेकार करने के लिए आती

है और बिगाड़ करके ही बाद जाती है क्योंकि उसका काम ही ऐसा होता है कहीं पर भी

विकराल रूप धारण करना अर्थात कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान कर ना किसी के प्रति मां फिर

तुम्हारे शरीर में प्रवेश करके दूसरों का नुकसान करता है क्योंकि किसी से उसको

प्रसन्नता होती है मैं तुम्हें डराना नहीं चाहती और ही मेरा उद्देश्य है तुम्हें

लड़ा था लेकिन यह सच है कि कुछ कुछ ऊर्जा ऐसी होती है किसी भी व्यक्ति की बुद्धि को

पूर्ण रूप से बंद कर देती है और उसकी सोचने समझने की शक्ति को क्षीण कर दे दी

है इसलिए कभी भी अपने ऊपर ऐसी ऊर्जा को विद्यमान मत होने दो क्योंकि यदि ऐसी

ऊर्जा विद्यमान हो जाती है तो तुम्हारे जीवन में बहुत बड़ा संकट उत्पन्न

करती है और खतरा भी लेकर आती है यदि तुम्हारे मस्तिष्क के अंदर बार-बार गलत

विचारधाराएं उत्पन्न हो रही है बिना वजह से कुछ ऐसी मानसिक स्थिति हो गई है जिसमें

तुम दूसरों का अच्छा ना सोचकर गलत भावना लेकर आ रहे हो या तुम्हारे मन के अंदर

अपने आप ही गलत भावना उत्पन्न हो रही है और तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारे

जीवन में तुम्हारे मन की जो स्थिति है वह एक अलग दिशाओं में चली गई है तुम्हें ऐसा

नहीं सोचना चाहिए फिर भी तुम्हारे मन की भावनाओं को काबू में नहीं रख पा रहे

बार-बार दुर्गुण धारणाओं को रोकने का प्रयास कर रही लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा

है तुमसे और तुम जानबूझ कर भी यह नहीं करते लेकिन तुम्हारे जीवन में ऐसा हो रहा

है यह सत्य है कि कई बार जीवन में हम जो सोचते हैं हम चाहते नहीं है और जो हम

चाहते हैं वैसा सोच नहीं पाते तो ऐसे में तुम समझ लेना कि तुम्हारे

मस्तिष्क पर किसी और चीज का वास हो चुका है अर्थात तुम्हारे हृदय में तो ईश्वर का

वास है लेकिन तुम्हारे मस्तिष्क में एक ऐसी ऊर्जा विमान हो चुकी है जिस ऊर्जा को

तुम्हारे मस्तिष्क में विद्यमान होने पर उसने तुम्हारी दिशाहीन बोर इसलिए मेरे

बच्चे शीघ्र ही तुम्हें मंत्रों का उच्चारण करना चाहिए और इन्हीं मंत्रों के उच्चारण से तुम्हारे मस्तिष्क में ईश्वर

का वास होगा और जो तुम्हारी गलत दिशा में मोदी हुई रुख है वह सही दिशा में चलने

लगेगी मेरे बच्चे इस बात को हमेशा स्मरण रखना कि तुम बहुत सोच समझकर ही किसी भी

कार्य को चुनना और यदि तुम बार-बार ऐसा आभास करने लगे होग यह तुम्हारा सूज हुआ

तुम्हारा नहीं है किसी और का है तुम्हारे हृदय को ऐसा आभास होने लगा है तुम इस पर

पूर्ण रूप से विचार करना और शक्तिशाली मंत्रों का उच्चारण प्रारंभ करना तीसरी और

सबसे जरूरी बात में तुम्हें बताना चाहती कि आज के युग में अर्थात आधुनिक युग में

जो लड़कियां हैं सभी सही है लेकिन अभी भी कुछ लड़कियां ऐसी होती है जो किसी भी

लड़की के जीवन में ऐसा नुकसान करके जाती है और नुकन के लिए ही वह प्रेम का संबंध

बनाती है वह सामने वाले को केवल लूटने और बर्बाद करने के इरादे से उसके जीवन में

आती है यदि कोई भी लड़का भावुक होता है लड़कियां उसका कई बार फायदा उठाती है हर

लड़की ऐसी नहीं होती लेकिन कुछ ऐसी होती हैं मैं उन्हें लड़कियों के लिए यह बताना

चाहती मेरे बच्चे तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लाने का या किसी के ऊपर मुसीबत आने

का कारण मत बन क्योंकि यदि तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लेकर भी

अर्थात दूसरों के प्रेम का फायदा उठाओ के और यदि लड़का ऐसा करता है लड़कियों के साथ

अर्थ किसी भी लड़की की इज्जत नहीं करता उसका मान सम्मान नहीं करता उसकी इज्जत का

ख्याल नहीं रखता तो उन दोनों के ऊपर निश्चित ही संकट आता है क्योंकि वहां आ

रही बुद्धि में गलत बात जो दोनों में से किसी की बुद्धि में आ सकती है उसके जीवन

को गलत दिशा में मोड़ कर ले जाती है और उसके कर्मों को भी एक ऐसी दिशा में मोड़

दे दी है जिससे कि उसकी बुद्धि तो कार्य कर पाती है और ना पैसा व्यक्ति सोच पाता

है क्योंकि एक व्यक्ति तो भावनाओं से किसी के साथ जुड़ता है लेकिन एक व्यक्ति केवल

स्वार्थ वर्ष किसी को अपने साथ जुड़ता है और अपने मन के अंदर षड्यंत्र भरकर रचना है

उसकी बुद्धि में केवल दूसरे को नुकसान पहुंचाने का और कुछ ना कुछ ऐसी भावना जो

किसी के प्रति किसी को नुकसान पहुंचाने की होती है और खुद का फायदा करने की होती है

बस इसी इरादे सेवा व्यक्ति ऐसा करने की कोशिश करता है

मेरे बच्चे जो लोग ऐसा करते हैं फोन को मैं आज सावधान करने आई क्योंकि यदि तुम

दूसरे के जीवन में ऐसा करोगे तो तुम्हारे जीवन में भी मुसीबत आएगी तुम्हारे जीवन

में भी संकट आएगा क्योंकि तुम अपने गमों को एक गलत दि में ले जाना होगा और जिन

लोगों के साथ ऐसा होता है उन्हें भी सावधान करने आए मेरे बच्चे तुम किसी से

प्रेम करो लेकिन ऐसा प्रेम मत करो जिसमें तुम ठगे जाओ क्योंकि थोड़ा को किसी से

प्रेम करो सोच समझकर प्रेम करो तुम्हें यदि किसी व्यक्ति से प्रेम हो जाता है या

तो भी कोई बहुत अच्छा लगता है इसमें गलती तुम्हारी नहीं है क्योंकि विदेश से प्रेम

होता है तभी जब आंखों को कोई चीज ती है और हृदय उसके पीछे भाग पड़ता है और तुम हृदय

के पीछे भाग पड़ती हो तुम चलते चले जाते हैं एक ऐसी दशा में जहां पर सामने वाला

व्यक्ति तुम्हारे प्रति छल रख कर के कार्यों को करता है और तुम उसे नहीं पाते

और नहीं परत पाते हैं क्योंकि तुम्हारी आंखों पर पट्टी बंधी होती है और जिसकी

आंखों पर पट्टी बंधी है व्यक्ति देख नहीं सकता अर्थात प्रेम की पत्ती एक ऐसी पट्टी

होती जो व्यक्ति सामने वाले को ना तो परखने की चाह

रख पाता है और ही उसे रख पाता है क्योंकि उसके मन में यह भावना आती ही नहीं कि

सामने वाला व्यक्ति षड्यंत्र भी रख सकता है क्योंकि जब वह किसी से सच्चा प्रेम

करने लगता है तो वह यह सोच नहीं पाता कि कोई ऐसा भी कर सकता है उसकी भावना को केवल

प्रेम की होती है और प्रेम उसके हृदय में वास करता है और वहां सोचता ही रहता है कि

मैं जिसे प्रेम करता हूं उसे कितना प्रेम करो जितना मेरा सामर्थ हो और जितने मेरे

बस के हो बहुत ज्यादा उसे प्रेम करो बस यही धारणा रखकर के बाद व्यक्ति सामने को

प्रेम करता चला जाता है और उसे परखने की खींचा नहीं रख पाता उसे अगर यह बात कोई

तीसरा व्यक्ति बता दे कि वहां छल कर रहा है या कर रही है तब भी उस व्यक्ति की

आंखों पर प्रेम की जो पट्टी बंधी होती है वह उस पति को उतार कर कभी भी परखने की

जांच नहीं कर पाता क्योंकि उसे कुछ दिखाई नहीं देता है सच तो उससे बिल्कुल भी दिखाई

नहीं दे पाता जब तक उसकी प्रेम की पत्ती आंखों से उतारी जाती है तब तक बहुत देर हो

चुकी होती है उसे यह जानते जानते काफी समय निकल जाता है कि उसके जीवन में क्या हो

रहा है और कोई है जो उसे छल कर रहा है धोखा दे रहा है उसे पीठ में खंजर घूप रहा

है बात-बात पर उसका झूठ बोलना बात-बात पर उसका रूठ जाना हर बात पर भून दिखाना और

बात-बात पर छोड़ के चली जाऊंगी या छोड़ के चला जाऊंगा धमकी देना और जो जिससे प्रेम

करता है वह उसकी हर बात को स्वीकार कर लेता है डर के कारण और यहां दर कोई ऐसा

वैसा दर्द नहीं होता बल्कि अपने प्रेम को खोने का दर्द होता है और यह भी सच है कि

जो सच्चा प्रेम करता वह अपने प्रेम को होने से बिल्कुल डरता है क्योंकि उसके बिना रह नहीं सकता

और रहा भी नहीं पाता है उसका फिर कहीं मन नहीं लगता उसका दिल नहीं लगता तो वह उदास

हो जाता है वह हर समय सोचता ही रहता है ना तो किसी कार्य को कर पाता है और ना ही

किसी भी कार्य को करने में उसका मन लगता है इसलिए वहां विवश हो जाता है जो जाता है

अपने प्रेम के सामने और ऐसे में ही सामने वाला व्यक्ति जो केवल उससे दिखावा कर रहा

है प्रेम का छलावा कर रहा है ब्रेक का और षड्यंत्र रच रहा है उसके प्रति वहां उसका

फायदा उठा लेता है और फिर उसके साथ धोखाधड़ी करके उसे बर्बाद करने की फिराक

में रहता है मेरे बच्चे यदि ऐसा प्रेम तुम्हारे निकट आ रहा है तो सावधान हो जाओ

क्योंकि प्रेम प्रेम नहीं है बल्कि एक बहुत बड़ा संकट है एक ऐसा संकट है जो यदि

तो उससे फंस गए एक बार तो उससे निकलना नामुमकिन के बराबर हो जाता है क्योंकि

उससे निकलते निकलते बहुत देर हो जाती है और जहां तक कहा जाए तो तुम अपना सब कुछ गवा

बैठते थे तब तुम्हें ज्ञात होता है कि मेरा सब कुछ खत्म हो चुका है मैं बर्बाद

हो चुका हूं इस प्रेम के चक्कर में इसलिए मैं तुम्हें आज आगाह करने आई है अर्थात

में समझाने आए कि तुम ऐसे किसी प्रेम के चक्कर में मत पड़ो नहीं तो तुम्हारा जीवन

खराब हो जाएगा और तुम बर्बाद हो जाओ मेरे बच्चे यह सच है कि प्रेम करना चाहिए लेकिन

उससे नहीं जो तुम्हारे साथ छलावा कर रहा है या दिखावा कर रहा है या तुमसे षड्यंत्र

रचकर बातें करता है बल्कि उससे प्रेम करो जो तुमसे सच्चा प्रेम करता है तुम पर जान

छिड़क है तुम्हारी हर बार में उसकी स्वीकृति होती है और भावनाओं से भावनाओं

का प्रेम होता है ना कि स्वास्थ्य पर मेरे बचे जिसके मन में छलावा होता है उस

व्यक्ति को तुम कुछ ही समय में प सकते हो इसलिए प्रेम करो लेकिन आंखें खोलकर आंखें

बंद करके नहीं यदि आंखें बंद करके प्रेम करोगे तो थोड़ा सा आगे जाकर ही ठोकर खा

जाओगे और मुंह के बल गिर पड़ोगे गिरने से पहले ही तुम्हें समझना होगा और संभलना

होगा और जाना होगा इस बात को कि तुम जो अभी कर रहे हैं उससे कहीं तुम्हारा कोई

नुकसान तो नहीं हो रहा ऐसा कोई व्यक्ति को नहीं है तुम्हारे जीवन में जो तुमसे छलावा

कर रहा हूं और तुम उसके बारे में पूर्ण रूप से जान नहीं पा रहे एवं उसके हाथों से

धोखा खा रहे हैं और जीवन को बर्बाद कर रहे थे क्योंकि मेरे बच्चे यदि ऐसा हो रहा है

तो आगे तुम्हें रोने का मौका भी नहीं मिल पाएगा उस समय जिस समय तुम सब कुछ दवा

बैठोगे अर्थात जो छल कर रहा है वह सब कुछ लूटकर भाग जाएगा और तुम हाथ मलते रह जाऊंगी

क्योंकि संसार में पाच मिलियन बराबर नहीं होती और सब एक से नहीं होते इसी प्रकार

प्रेम करो लेकिन देखो कि कहीं कोई तुमसे छल तो नहीं कर रहा है कहीं तो किसी के

षड्यंत्र मैं तो नहीं रहे हैं यदि तुम्हारे साथ ऐसा हो रहा है तो निश्चित ही

बहुत गलत हो रहा है और अपने आप को तुम लोग क्योंकि यदि समय रहते तुम स्वयं को नहीं

रोको होगी तो आदि तुम्हें केवल पछतावा होगा और जीवन में कुछ नहीं बचेगा ऐसे लावे से और ऐसे संकट

से बचने का केवल एक ही उपाय है कि तुम ऐसे प्रेम को तुरंत छोड़ दो और जिससे भी तुम

प्रेम करो उसे देख परक कर करो उसका प्रेम परखने के बाद ही तुम उसे पूर्ण रूप से

प्रेम करो और परखने के लिए भी तुम्हें यह देखना होगा कि सामने वाला व्यक्ति क्या सच

में तुमसे प्रेम करता है क्या उसकी भावना तुम्हारे लिए उस तरह की है जिस तरह की

तुम्हा है क्या हो उतना प्रेम कर पाएगा तुमसे जितना तुम उससे करती हूं क्योंकि

मेरे बच्चे यदि वहां बात बात पर लगता है या लगती है बात बात पर तुम्हें छोड़ने की

धमकी दे दी है बात बात पर रूठ जाती है यह बात-बात पर उसको क्रोध आता है तो ऐसा

व्यक्ति तुमसे प्रेम नहीं करता क्योंकि प्रेम करने वाला व्यक्ति कभी भी छोड़ने की

बात नहीं करेगा और प्रेम करने वाला व्यक्ति तुम्हें होने से हमेशा डरेगा मेरे ब बचे प्रेम करने वाला व्यक्ति बात बात पर

क्रोध नहीं करेगा बल्कि जहां तुमसे कुछ गलती होगी तुमसे प्यार से बात करेगा और

तुम्हें प्रेम से समझाएगा क्योंकि उसके हृदय में प्रेम है और वह इस बात को समझता

है कि किसी से यदि कोई गलती हो जाए तो उसे प्रेम से समझाने पर जितना ज्यादा समझ में

आता है उतना क्रोध बस कभी नहीं सकता और यही कारण होता है किसी भी व्यक्ति का कि

बात तुम्हें उस समय ता है जब तुम्हें कोई भी बात समझ में नहीं आ रही होती है

क्योंकि प्रेम का धर्म ही सबसे पहला यही होता है कि अपने प्रेमी को समझाएं हर बात

के लिए मनाए यदि प्रेमी क्रोधित भी हो जाता है तो प्रेमिका उसे समझाती है और

प्रेमिका यदि क्रोध होती है तो प्रेमी उसे समझाता है वह दोनों के दूसरे को समझते हैं

भावनाओं को पहचानते हैं एक दूसरे के प्रति बढ़ते मिटते हैं बल्कि अध्ययन नहीं रखते

क्योंकि बहुत प्रेम करते हैं और प्रेम खुद को खुश करने का नाम ना होकर दूसरे को ड

खुश करने का नाम होता है यदि तुम अपने प्रेम से प्रेम करते हो या तुमसे कोई

प्रेम करता है तो निश्चित ही तुम्हारी छोटी-छोटी खुशी का ख्याल रखेगा तुम कब

हंसते हो उसे हंसी आएगी तुम कब रोते हो वह दुखी हो जाएगा तुमसे कभी भी किसी भी चीज

को मानने से पहले क्रोध में नहीं आएगा और नहीं क्रोध में तुमसे कभी ज्यादा बात

करेगा जब भी बात करेगा उसकी बातों में मिठास हो इतनी मिठास की उसके सामने तुमने

सब चीज सीखी लगी लगेगी क्योंकि प्रेम तो एक आनंद है प्रेम कोई ऐसा नहीं है कि बात

किसी के ऊपर ग्रोथ करे बल्कि वहां एक मधुर संगीत की तरह है जिससे दांतों में सुना

जाए तो बहुत अच्छी द सुनाई देती है और यदि दिल से महसूस किया जाए तो वहां रंग में

में रंग लेता है जिससे कि इंसान उसके रंग में रंगने के पश्चात पूरी दुनिया में हर

चीज को में देख पाता है उसकी दुनिया ही रंगबिरंगी हो जाती है वह अपने दिल से हर

चीज को महसूस करता है और उसे यह ज्ञात होता है कि

दुनिया कितनी खूबसूरत है यही तो होता है प्रेम का असली रंग जो जिससे प्रेम करता है

उसे उसी में पूरी दुनिया दिखाई देती है और सबसे ज्यादा इंसान विवश हो जाता है अपने

प्रेम के प्रति गलत भावना सोचने के बारे में और गलत भावना विचार करने के बारे में

क्योंकि प्रेम जब होता है तो इंसान किसी के बारे में बहुत अच्छी भावना रखता है और

अच्छा सोचता है दा प्रेम होता है लेकिन कई बार गलत व्यक्ति इसी बात का फायदा उठा

लेता है उसे यह बात बहुत अच्छे से ज्ञात होती है कि जब होता है तो उसकी आंखों पर

पट्टी बंधी होती है एक तरह से वह पूर्ण रूप से दे नहीं पाता और प्यार अंधा हो

जाता है और इसी का सामने वाला व्यक्ति गलत फायदा उठाकर तुम्हारे जीवन में बर्बादी का

सबसे बड़ा मार्ग बना देता है और ऐसे में सब कुछ बिखर बिखर दे यदि व्यक्ति संभल जाए

तो भी उसका दिल टूट जाता है और यदि वह समझ पाए तो सब कुछ बिक जाता है क्योंकि मेरे

बच्चे इंसान अपने हृदय से जीता है और हृदय से ही बिगड़ता है उसका हृदय टूटा तो वहां

टूट जाता है और यदि उसके हृदय में प्रेम की जो धारणा है लगातार प्रवाह करती रहती

है तो बहुत प्रसन्न रहता है को हर बात अच्छी लगती है और संसार में जो उसका जीवन

है वहां भी अच्छी से गुजारता है हर बात में आनंद लेता है और हर बात में उसे खुशी

महसूस होती है लेकिन यहां जो प्रेम की डोर टूटती है तो इंसान को बहुत ज्यादा कष्ट

होता है लेकिन धोखा खाने से अच्छा और तुम्हारे जीवन में कोई बड़ा संकट आए उससे

ज्यादा अच्छा है कि तुम प्रेम को पहचानो यदि ऐसा प्रेम है जो कि तुम्हें शहीद रचकर

धोखा दे रहा है तुम्हें लूटने की साजिश रच रहा है तुम्हारा जीवन बर्बाद करना चाहता

है तो उसे तुरंत नहीं छोड़ सकते तो धीरे-धीरे करके छोड़ दो लेकिन अपने दिल और

दिमाग से उस व्यक्ति को निकालने का भरपूर प्रस करो क्योंकि वहां आज या तो कल

तुम्हें बर्बाद करके ही रहेगा क्योंकि ऐसा व्यक्ति जो षड्यंत्र रचता है वह किसी का

नहीं हो सकता बच्चे आज मैं तुम्हें डराने नहीं आई और न ही तुमसे तुम्हारी ट्रेन को

दूर करने आए बल्कि मैं समझाने आए क्योंकि संसार में हर व्यक्ति एक जैसा नहीं होता

जो लोग षड्यंत्र रचते हैं अपने प्रेम के प्रति और प्रेम भरा षड्यंत्र रचकर किसी को

फंसाते है केवल उन लोग लोग के लिए यह संदेश है इसलिए वहां मेरे बच्चे बच पाए

यही मेरा संदेश है और जीवन में खुद को भी भी अकेला मत समझना हमेशा ध्यान रखना मैं

तुम्हारे साथ हर पल हर क्षण में तुम्हें देख रही है और जानती हूं कि तुम्हारे जीवन

में क्या रहा है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे कुछ जरूरी बात करने आई और जो बात करने आए उसे सुनना

अति आवश्यक है क्योंकि कुछ ऐसी बातें जो मैं तुमसे करना चाहती है और कुछ ऐसी बातें

जो मैं तुम्हें बताना चाहती हूं तुम जाग थे तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन में कुछ

ही समय में चमत्कार होना प्रारंभ हो जाएगा मेरे बच्चे एक बार को स्मरण रखना कि

मैंने तुम्हारे लिए समय निकाला है तो कभी भी मेरी बातों को सुनने के लिए जरूर समय

निकालना चाहिए क्योंकि जब मैं तुम्हें कुछ जरूरी बात बता रही हूं या कोई ऐसी बात

समझा रही जिससे तुमने जीवन का फिर छुपा हुआ है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ

है जय माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम अपने जीवन को क्यों बर्बाद कर रही हो

तुम्हें क्यों डर लग रहा है मैं तुम्हारे साथ अपने अंदर की बात को सुनो और अपनी मां

काली के बताए रास्ते पर चले मेरी बात ध्यानपूर्वक सुनना जो मैं तुम्हें बताना

चाहती मेरे बच्चे जब तक तुम जवान हो तो मैं केवल और केवल सीखने का प्रयास करना चाहिए कि तुम

किस तरह के मनुष्य बनना चाहते हो यही तो समय है जोखिम लेने का नई चीजें सीखने का

और नए-नए कौशल विकसित करने का अभी भविष्य के बारे में मत सोचो अभी केवल अपने

वर्तमान पर ध्यान दो अभी तुम्हें स्वयं को जानने का प्रयास करना चाहिए अपने जीवन की

बड़ी-बड़ी बातों से ज्यादा छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए जीवन की दौड़

में तो उसके सारे छोटे सुनहरे छड़ों को अनदेखा कर देते हैं जीवन में आगे जाकर जब

तुम पीछे देखते हैं तो उन्हें आभास होता है कि असल में वह छोटी-छोटी बातें भी

तुम्हारी खुशियां थी जीवन का अनुभव करते हुए तुम कई चीजें सीखते हैं जैसे प्रेम दर

सुंदरता कृतज्ञता यही अनुभव से सीखी हुई चीजें तुम्हें जीवन की बड़ी-बड़ी घटनाओं

के लिए तैयार करती है मेरे बच्चे तुम्हारी श्रद्धा को दे देख कर मैं अत्यधिक प्रसन्न

है मैंने तुम्हारी तकलीफ देखी है मैंने तुम्हारी निराशा को जान लिया है भले ही

तुम अपने दुखों के बारे में किसी को भी नाम बताएं मगर मुझे तुम्हारे सभी लोगों का

ज्ञान है अपनी विभिन्न परेशानियों के बावजूद हमें यह समझना चाहिए कि तुम जो कुछ

भी बनना चाहते थे वहां बनने के लिए कभी भी देर नहीं होती है तुम अपने जीवन में जो

कुछ भी चाहो वहां बन सकते हो तुम्हारी क्षमताओं की कोई सीमा नहीं है यदि तुम्हें

लगता है कि तुम्हारे जीवन में बहुत देर हो चुकी है तो ऐसा बिल्कुल नहीं है जीवन में

कभी भी किसी भी बात को लेकर देर नहीं होती है तुम्हें जो कुछ भी करना है जो कुछ भी

बनना है उन सभी के लिए जीवन में कभी भी देर नहीं होती है बस तुम्हारे मन में लगन

होनी चाहिए मेरे बच्चे तुम्हें इस संसार में भेजते वक्त मेरी आशा थी कि तुम संसार

में ऐसा जीवन जी जिस पर तुम्हें घर हुए जीवन का अर्थ ही यही है कि जब इसका अर्थ

है तो तुम्हारी कोई भी इच्छा अधूरी ना रह जाए तो मैं स्वयं के जीवन पर गर्व होना

चाहिए यदि किन्हीं कारणवश ऐसा नहीं है तो तुम्हें फिर से नई शुरुआत करनी चाहिए

तुम्हारे जीवन के सबसे अंधेरे रों में भी एक रोशनी सदा जलती रहेगी तो मैं बस उस

रोशनी को देखने की हिम्मत होनी चाहिए एक बार अपना अंधकार दूर

करने बाद तो वे दूसरों के लिए प्रकाश बनना चाहे तो में सदैव याद रखना चाहिए कि जीवन

की छोटी छोटी हाथ कभी जीवन की हार नहीं होती जीवन की हार केवल तभी होती है जब तुम

हार मान लेते हो तो मन में सफलता के लिए हार नहीं माननी चाहिए और एक बार सफल होने

के बाद दूसरों को हाल से बचाने का प्रयास करना चाहिए तुम्हारी किसी भी इच्छा की

पूर्ति कभी कोई प्रार्थना नहीं करती है बल्कि स्वयं तुम्हारी प्रकृति ही तुम्हारी इच्छा

पूर्ति करती है तुम्हें यह समझना होगा कि प्रार्थना कभी भी ईश्वर की सोच पर प्रभाव

डालने के लिए नहीं की जाती बल्कि रात स्वयं तुम्हारी प्रकृति को बदलने के लिए

दी जाती है प्रार्थना का असल उद्देश्य तुम्हारे मन पर प्रभाव डालता है बार-बार

प्रार्थना करने से तुम्हारे अंदर देख विश्वास उत्पन्न होता है कि तुम जिस भी

वस्तु की इच्छा कर रही हो वह तुम्हें प्राप्त हो सक सती है यही उम्मीद तुम्हारी

इच्छा की पूर्ति की ओर सहारा प्रथम कदम है उम्मीद किसी भी व्यक्ति के जीवन में बहुत

ही आवश्यक है तुम्हारे लिए उम्मीद अंधकार में भी उजाले का कार्य करती है जब कभी

जीवन की किसी भी मोड़ पर तुम्हें कोई भी रास्ता ना दिखाई दे रहा है तो उस

परिस्थिति में एक उम्मीद ही तुम्हें रास्ता ढूंढने के लिए प्रेरित करती है संपूर्ण संसार आखिर भूमि पर ही चल रहा है

यहां तक कि परेशानी की छड़ों मैं ईश्वर तक उम्मीद को ही ढूंढने का प्रयत्न करती है

तो मैं यहां सदैव याद रखना चाहिए कि संसार में आज तक जो कुछ भी हुआ है वह सब केवल

उम्मीद द्वारा ही किया गया है सभी कार्यों के पीछे की प्रेरणा है तुम्हें कभी भी

उम्मीद का साथ नहीं छोड़ना चाहिए मेरे बच्चे में तुम्हारी व्याकुलता से अच्छी

तरह अवगत तोहे मैंने देखा है कि तुम सदैव भ्रमित रहते हो तुम्हारा मन हमेशा उलझा

रहता है तुम्हारा मन उदासीन रहने का तो जैसे आदि हो चुका है

अपने मन की इस व्याकुलता को दूर करने का रास्ता यह है कि तुम्हें सदैव अपने जीवन

में यहां ज्ञात होना चाहिए कि तुम्हें क्या करना है या जाना है इससे भी ज्यादा

तुम्हारे मस्तिष्क में यह बात निश्चित होनी चाहिए कि तुम्हें क्या करना है तुम्हें यहां निश्चित रखना चाहिए कि

तुम्हें क्या करना है जब तुम्हें यह पता चल जाएगा कि तुम्हें क्या करना है तो उस

कार्य को करने के लिए तुम्हें क्या जानकारी अर्जित करने उसका पता तुम्हें

स्वतः ही चल जाएगा जीवन में आवश्यक यह है कि तुम्हें अपने उद्देश्य का ज्ञान होना

मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जाए और माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे

तुम्हारे दुखों का अंत आज निश्चित है जो कुछ भी तुमने देखा है जो कुछ भी तुमने

सुना है और जो कुछ भी तुम्हें सहा है उन सभी का आज निश्चित है आज तुम्हारे अंदर के

ज्ञान को तुम्हें बाहर लाना होगा इसलिए अपने सुख और आनंद की प्राप्ति के

लिए इस संदेश को अंत तक सुनना यदि इसे अंत तक सुनोगे तो मैं आज एक ऐसी चीज सीखने को

मिलेंगी जो आज तक तुम्हें कभी नहीं मिली आज तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली

है क्योंकि आज मैं तुमसे बेहद प्रसन्न हूं लेकिन फिर भी मैं तुम्हें जीवन की वहां

सच्चाई बताने जा रहे हैं जिस से तुम्हें सुनना होगा और अपने जीवन को सुधारना

होगा इसलिए अपनी माता को ध्यानपूर्वक सुनना ताकि तुम्हें जीवन में कभी किसी के

आगे झुकना ना पड़े मेरे बच्चे तुम जीवन में खुशियां ढूंढना चाहते हैं किंतु यह

क्यों भूल जाते हो कि खुशी तो तुम्हारी आसपास है और बहुत तुम्हें भी देख

सकती है जब तुम छोटी-छोटी चीजों में भी खुशियां बूंढो जैसे एक बच्चा अपनी मां में

सारी खुशी ढूं लेता है ऐसे ही तुम्हें भी सारी खुशियां हर जगह मिल सकती है बस

उन्हें महसूस करने की कोशिश करो लेकिन मेरे बच्चे तुम अक्सर उन चीजों में खुशी

देखते हो जो चीज काफी बड़ी होती है या जो तुम्हारे मन की ख्वाहिश होती है किंतु जब

तुम्हारी हर ख्वाहिश पूरी नहीं होती तो क्यों उदास हो जाते हैं किंतु तुम यह भूल

जाते हैं कि यदि उसी को अपने मन की इच्छाओं के रूप में देखने की कोश करोगे तो

तुम कभी खुश नहीं हो सकते आज मैं तुम्हें जो खुशी देने जा रही उस खुशी को महसूस

करने के लिए में स्वयं के अंदर कुछ बदलाव करने होंगे और यह खुशी तो केवल उन्हीं

लोगों से प्राप्त होगी जो तुम्हारे जीवन में है और जिनसे तुम्हारा जीवन जुड़ा हुआ

है मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को अपने जीवन में अपना लोगे तो तुम्हारा जीवन स्वर

से भी अच्छा हो जाएगा और उसके लिए केवल तुम्हें कुछ चीजों का त्याग करना होगा जो

मैं तुम्हें बताने जा रहे हैं ऐसी चीज तुम्हारे जीवन को बर्बाद कर दी यदि तुम इन

चीजों को छोड़ दोगे तो स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने लगेगा और जिस खुशी की तलाश

कर रही हो वहां तुम्हें प्राप्त हो जाएगी अपने अंदर की चीजों का निर्माण करना यह

तेजी से वह चीज है जो तुम्हारे भीतर फैले पाप का नाश करें और यदि तुमने तीन चीजों

को अपने जीवन में अपना लिया तो यकीन करो तुम्हारा जीवन पाप से मुक्त हो जाएगा पहली

चीज स्वयं के प्रति विश्वास मेरे बच्चे यदि तुम स्वयं के प्रति विश्वास जागृत कर

लोगे तो तुम्हारे मन में जितनी भी शंकाएं हैं और जो भी डर है वह स्वयं समाप्त हो

जाएंगे विश्वास एक ऐसी चीज है जो इंसान को बलवान करती है यदि तुम्हारे अंदर विश्वास

है तो तुम किसी भी चीज को हासिल कर सकते हैं चाहे वह कितनी ही कठिन क्यों ना हो को

दूसरी चीज प्रेम है यदि तुम अपने अंदर प्रेम का बीज बोए तो मेरा यकीन करो इस

संसार में किसी भी प्रकार का दुख तुम्हारे अंदर नहीं रहेगा क्योंकि जहां प्रेम होता

है वहां नफरत की थी स्वयं ही समाप्त हो जाता है यह तुम भी जानते हैं कि प्रेम

वहां भाषा है जो जानवर को ही समझ में आ जाती है यदि तुम उसे ट्रेन दोगे तो वहां

भी तुम्हें तभी नुकसान नहीं देगा बल्कि तुमसे भी उतना ही प्रेम

करेगा जितना तुम उससे करोगे तीसरी और सबसे अहम चीज रहा है जो हर मनुष्य में पाई जाती

है और उसका नाम क्रोध है मेरे बच्चे तुम्हें यहां पर रोड का त्याग करना है यदि

तुमने क्रोध का त्याग कर लिया तुम बड़ी से बड़ी विपत्ति में ठंडे दिमाग से काम ले

सकते हो क्योंकि जो मनुष्य क्रोध में आकर कोई फैसला या कार्य करता है तो आगे चलकर

पछताते हैं उन्हें उस समय क्रोध के चलते कुछ समझ नहीं नहीं आता किंतु बाद में जब

उन्हें समझ में आता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है इसलिए मेरे बच्चे विश्वास

प्रेम और क्रोध का प्यार यह तीनों चीज जिस दिन तुम्हारे अंदर आ गई उस दिन ऐसा कोई भी

कार्य नहीं है जो ना कर सको अब यह तुम्हारे ऊपर है कि तुम किस प्रकार से

कार्य कर सकते हैं और किस प्रकार से कार्य नहीं कर सकते स्वयं की शक्तियों को

पहचानने के लिए तुम्हें अपने भीतर इन तीन चीजों का निर्माण करना होगा मेरे बच्चे

तुम जब कभी भी अपने घर में अन्न बनाते हो यदि अन्न बच जाता है तो उस बस हुए अन्य को

बर्बाद मत करना बल्कि उसे किसी गरीब इंसान को या फिर गौ माता को खिला देना ऐसा करने

से तुम्हें पुण्य प्राप्त होगा मेरे बच्चे वहां अन्य भी बर्बाद नहीं होगा तभी दिखाने

को बर्बाद करके अन्नपूर्णा माता का अपमान मत करना जिस घर में अन्नपूर्णा माता अपमान

होता है है वहां खाने की कमी सदा बनी रहती है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपनी माता के इस

बात को ो स्मरण रखो कि तुम्हारा जीवन खुशियों में लाने के लिए यह गोल अति

आवश्यक है इस संसार में हर कोई चाहता है कि उससे सब प्रेम से बात करें उसकी इज्जत

करें यहां कोई नहीं चाहता कि मैं भी सामने वाले को प्रेम दू उसकी इज्जत करें और जब

तक यह सोच तुम्हारे अंदर नहीं आ जाएगी तब तक तो में भी दू दूसर से प्रेम नहीं मिल

सकेगा पहले अपने मन में इस सोच को लाओ यदि तुम्हें दूसरों से प्रेम चाहिए तो तुम्हें

पहले दूसरों को दो प्रेरित करना होगा सभी चाहते हैं कि हमें कोई परेशान ना करें

हमारा दिल नहीं दुखाया हम पर कभी कोई क्रोध ना करें किंतु हम यह भूल जाते हैं

कि इन चीजों की शुरुआत पहले हमें स्वयं के ऊपर करनी होगी स्वयं क्रोध करना बंद करना

होगा दूसरों को परेशान करना बंद करना होगा तब जाकर हमें भी खुशी मिलेगी और यह सब

चीजें तभी संभव है जब तुम्हारे मन में शांति यदि तुम्हारे मन में शांति नहीं है

तो तुम कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकते और यदि तुम्हारा मन शांत है तो इस संसार की

प्रत्येक चीज में तुम्हें शांति का अनुभव होगा और वहां शांति में उसी प्रदान करें

जिस खुशी की तलाश हर इंसान करता है जिस दिन तुम यह सभी चीजें करना प्रारंभ कर

दोगे उस दिन से तुम्हें पूर्ण शांति की प्राप्ति मिलने लगेगी और शांति तुम्हारे

जीवन को पूर्ण रूप से बदल देगी यदि तुम्हारे पास पैसे नहीं है और सारी सुख

सुविधाएं भी परंतु किसी एक चीज को ड लेकर तुम्हारे मन में अशांति है तो वह चीज

तुम्हारे मन को भटका कर रहेगी और किसी चीज को इच्छाएं कहते हैं जो अधूरी रहती है तो

मनुष्य भटकता रहता है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने मन की उन इच्छाओं पर काबू पाने

कि कोशिश करो जो तुम्हारे जीवन के लक्ष्य को भटकाती हैं यह याद रखो कि तुम्हारा

जीवन का लक्ष्य केवल तुम्हारा ही है यदि तुम्हें अपने लक्ष्य पर पूर्ण नियंत्रण

चाहिए वे स्वयं पर नियंत्रण करना होगा मेरे बच्चे में तुम्हारी माता तुम्हारे

लिए चिंतित है यदि तुम अपनी माता की बातों को समझ गए तो तुम्हारा जीवन आज से ही

बदलना शुरू हो जाएगा और मैं चाहती हूं कि तुम मेरे द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलो एक

माता अपने बच्चे से केवल इतना मांग रही है कि तुम सदा अच्छी तरह करके सच्चाई की राह

पर चले मेरे बच्चे तुमने जो मेरी भक्ति की है और भक्ति के चलते जो प्यार मुझसे किया

है वैसा ही प्यार तुम्हारी भी तुमसे ही करती है और जब भी तुम किसी राह पर भटकते

हो तो तुम्हारी मां को चिंता होने लगती है और मेरा हृदय रोने लगता है लेकिन मैं

जानती हूं कि तुम मेरी बहन बच्चे हो जो अपनी माता की थोड़ी सी चिंता से ही घबरा

जाते है इसलिए मेरे बच्चे अब समय आ गया है तुम्हें उचित मार्ग पर ले जाने का मैं

तुम्हारे जीवन का कल्याण चाहती और तोहे भी मेरी बातों को मानना होगा यही मेरा आदेश

है मैं नहीं चाहती कि मेरा बच्चा इस दुनिया की भीड़ में कहीं खो जाए या फिर

ऐसी ही भटकते रहे तुम्हारी मां तुमसे जितना अधिक प्रेम करती है उतना ही

तुम्हारी चिंता भी अब तो अपना ध्यान रखना और अपने जीवन को अच्छा करने के लिए मेरी

बताए हुए मार्ग पर चलना मैं चाहती हूं मेरे हृदय को मत दुखाना मेरे बच्चे अपनी

माता की बातों को आज मानकर कार्य करना मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है जय मां

काली हर हर महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे अत्यंत महत्त्वपूर्ण बात करना चाहता हूं जो भविष्य में

तुम्हारे साथ घटेगी मेरी बातों को ध्यान से सुनो आज मेरे मुख से निकला एक एक शब्द

तुम्हारे लिए भविष्यवाणी है आज मैं तुमसे यह बताना चाहता हूं कि तुम्हारे जीवन का

अंत कैसा होगा तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में क्या सोचेंगे मेरे बच्चे जितने

भी लोग इस संसार में जन्मे हैं उनका कोई ना कोई उद्देश्य होता है अपने उद्देश्यों

को पूरा करके हर किसी को एक ना एक दिन इस संसार को छोड़ना है अपनी जीवन यात्रा में

मनुष्य कई बार गिरता है कई बार संभलता है कभी हसता है तो कभी रोता है ऐसे में

मनुष्य हजारों सपने सजाता है कुछ के पूर्ण होते हैं और कुछ के अधूरे रह जाते हैं

मेरे बच्चे तुमने भी बड़े सपने सजाए हैं और उन्हें पूर्ण करने के लिए तुम कठिन

परिश्रम भी कर रहे हो किंतु अभी तक तुम्हें सफलता नहीं मिली है लेकिन मेरे बच्चे क्या तुमने कभी सोचा है कि तुम्हारे

ही जीवन में इतने दुख क्यों है जबक तो एक सच्चे इंसान किसी का दुख तुमसे देखा नहीं

जाता तुम्हारी भक्ति सच्ची है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में इतने संघर्ष इसलिए है

क्योंकि तुम कुछ और चाहते हो और मैं कुछ और चाहता हूं तुम जो पाना चाहते हैं उससे

कई गुना ज्यादा मैं तुम्हें देना चाहता है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है तो उस समय

भी अधिक लगेगा किंतु शीघ्र ही तुम्हारे जीवन में कई बड़े बदलाव होंगे और अपनी

बेहन और साहस के बल पर सफलता प्राप्त करेंगे किंतु तुम्हें मिलने

वाली यहां सफलता बहुत बड़ी नहीं लेकिन यहां वहां कुंजी है जो तुम्हें तुम्हारे

अंतिम गंतव्य तक ले जाएगा मेरे बच्चे जब तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में होंगे

तो तुम्हारा मन संतोष एवं शांति का अनुभव करेगा तुम्हारे जीवन का अंत बेहद दुखद

होगा तुम्हारी कोई भी सपने अधूरे नहीं रहे तुम अपना पूर्ण जीवन जीकर ही संसार त्याग

होगी और तुम अपने जीवन में कई ऐसे कार्य करोगे कि तुम्हारे जाने पर केवल तुम्हारे

परिजन को ही नहीं पूरे समाज को होगा हर किसी की आंखों में तुम्हारे लिए आंसू

होंगे और तुम्हारे जाने के बाद लोग तुम्हें याद करेंगे कुछ ऐसा होगा तुम्हारे

जीवन का किंतु अभी तो यह तुम्हारे जीवन का आरंभ में है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है

अब आगे बढ़ो मेरे बच्चे और अपने उद्देश्यों को पूरा करो मेरा आशीर्वाद सदा

तुम्हारे साथ रहेगा जाय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश

प्राप्त हुआ है तो तुम्हारे जीवन की समस्याएं आज समाप्त होने वाली है मेरे

बच्चे मेरी तीन बातों पर विशेष ध्यान देते हैं तुम्हारी हर परेशानी दूर हो जाएगी

सुबह से लेकर शाम तक और हर समय उठते बैठते जागते तुम्हारे मन में यही विचार हमेशा

लगा रहता है कि मेरे साथ ही ऐसा क्यों हो रहा है मैंने गलती की है मेरा क्या दोष है

मैंने तो कुछ गलत किया भी नहीं फिर भी मेरे साथ क्या हो रहा है मैं क्यों इतना

परेशान संसार के सभी व्यक्ति बहुत खुशहाल है और मेरे जीवन में कोई भी परेशानी मेरा

पीछा नहीं छोड़ रही है तुम्हारा मन सदा अपनी नाकामियों से परेशान रहता है कोई भी

नया कार्य प्रारंभ करते थे लेकिन अधूरा रहता है या पूरा होते होते रुक जाता है कई बार तो

तुम्हें ऐसा लगता है कि तुम किसी भी कार्य को नहीं कर पाओगे तुम्हारा हृदय यहां

मानने लगा है कि कोई भी काम सफल नहीं हो पा रहा है तुम्हारा विश्वास टूटने लगा है

डगमगाने लगा है तुम्हें ऐसा लग रहा है कि तुम्हारे जीवन में पता नहीं आगे क्या होने

वाला है आगे के सभी रास्ते बंद दिखाई दे रहे हैं ऐसा लग रहा है कि जीवन में कुछ

बचा नहीं है और तुम्हारा कोई साथ नहीं दे रहा है लेकिन मेरे बच्चे अभी भी कुछ

रास्ते खुले हुए हैं शजन पर चलकर तुम अपनी मंजिल को प्राप्त कर सकते हैं अपनी हर

परेशानी को समाप्त कर सकते हैं अगर कुछ कमी है तो उन पर चलने की आज मैं तुम्हें

तीन काम बताऊंगी बातों को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना और करना है पहले जीवन में

प्रतिदिन संध्या काल तुम अगले दिन के लिए यह निश्चय कर लो कि आज की गई गलती को कल

वोके कहने का अर्थ है कि पीछे की जो भी चीजें छूट रही

उनको नहीं दोहराएंगे आगे जब तुम्हें चलना है तो तुम्हें एक नए रास्ते को बनाते हुए

पीछे की गलतियों को छोड़कर चलना है तभी तुम उस मुकाम पर पहुंच सकते हैं जहां तक

पहुंचना चाहते हो दूसरा खुद के मार्ग खुद बना सुनो सबकी करो अपने हृदय की तुम्हारा

हृदय जब सबकी बातों को सुनने के बाद जो कहता है अंदर से जो विश्वास तुम्हारा जाता

है उसी को करो और तीसरा तुम सोच से जदा हो और काम करते हो जो भी विचार

तुम्हारे मन में आता है उस पर तुरंत काम करना प्रारंभ कर देना चाहिए ना कि तुम

सोचते सोचते अपने समय को व्यर्थ में दवाओ भले ही तो चिंताओं से घिरे हुए कितनी भी

भोजन से मायूस हो चुके हो फिर भी यदि तुम्हें इन परेशानियों से निकलना है तो

किसी भी मार्ग पर तुरंत काम करने से तुम्हारे समय की बचत होगी और उस पर

जितना जल्दी काम कर सकते हैं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से निकल जाएगा और उस

पर जितना जल्दी हो सके तो काम कर सकते हो नहीं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से

निकल जाएगा वही तुम्हें भी प्राप्त होगा जो तुम्हें चाहिए इस बात का ध्यान रखना

परेशानियां तब भीड़ की है जब तुम परेशानियों को देखकर अपने कदमों को पीछे

हटा दे इसलिए कभी भी परेशानियों से डरो मत उसका डटकर सामना करो जो डटकर सामना करके

आगे जाने की हिम्मत रखते हैं निश्चित ही हर परेशानी का सामना

कर लेते हैं क्योंकि किसी भी चीज से डरना ही असफलता का मुख्य कारण है और संसार में

ऐसी कोई चीज नहीं जो तुम नहीं कर सकते अगर कुछ कमियां है तो सोचकर केवल मन लगाकर

करने की जैसे ही इसे करोगे हर परेशानी से निकल जाओगे अब जो तुम्हें बताने जा रहे

हैं यह बात आज तक तुम्हें किसी ने भी नहीं बतानी होगी मेरे बच्चे तुम्हारी सफलता का

रहस्य यहां छुपा हुआ है तुम प्रयास करते हो दूसरे को देखने का तुम

देखने का प्रयास करती हूं कि वह जीवन में आगे कैसे बढ़ रहा है आगे बढ़ने के लिए बात

क्या कर रहा है और जो भी बात कर रहा है उनका उन्हें लाभ कैसे होगा तुम प्रयास

करते हैं उनके जीवन में देखने की उनकी गतिविधियों को तुम देखने और समझने का

प्रयास करते हैं इसलिए तुम पीछे छूट जाते हैं जीवन में यदि तुम आ आगे बढ़ना चाहते

हो तो तुम्हारी दृष्टि भी आगे की बोली चाहिए कदम भी उसी मार्ग पर आगे बढ़ाना

चाहिए अपनी गतिविधियों को देखो अपनी योजनाओं को देखे अपने प्रयासों को अपने

अनुभव को समझो और उसी मार्ग पर आगे हैं ऐसी कोई सफलता नहीं जो तुम्हें प्राप्त

नहीं होगी तो में कोई ना कोई विशेष है और तुम में कोई ना कोई दोष भी है यह

प्राकृतिक तुम्हें क्या सिखाती है यह सभी एक दूसरे से लड़ते नहीं है एक दूसरे के

लिए बाधा नहीं बनते बस अपना कर करते हैं सूर्य अपने प्रकाश से वनस्पतियों के पेड़

पौधों को जन्म देता है में वर्षा करते हैं लोग होते हैं पर्वत की यहां चलता है उस

वसा को एक दिशा देती है एक धारा बनती है जो बहती है यह सब क्या है यह सब एक संयोग

है चक्र है सभी साथ मिलकर अपना कन करते हैं अभी यहां प्राकृतिक जी जीवित है यही

तो वे भी करना है सहयोग में रहकर काम करना है किसी के लिए बांधा नहीं बनना है किसी

को छोटा नहीं समझना है ऐसे ही करते रहना है सबके साथ मिलकर कम करना है

प्राकृतिक ब्लीच भी यही सिखाती है मेरे बच्चे एक प्रबल मन कठिन परिस्थितियों को

एक चुनौती के रूप में देखता है और चुनौतियों में अवसर को देखता है यही

तुम्हें भी करना है इस संसार में किसी को भी दोषी मानने से तुम्हा सी समस्या सुलझ

नहीं जाएगी इसलिए इस संसार को दोष देने के स्थान पर उस समस्या की जड़ तक जाए उसे

समझो और अपने इस मन को प्रबल बना यदि तुम्हारा मन प्रबल हो गया तो इस संसार में

बड़ी से बड़ी कठिन से कठिन परिस्थितियां क्यों ना आ जाए तुम्हारे जीवन में बड़ी से

बड़ी समस्या क्यों ना बन जाए तुम अपने जीवन में आसानी से उसे पार कर सकते हो

क्योंकि तुम मेरे प्यारे बच्चे और मैं तुम्हें कभी दुखी नहीं देखना

चाहती इसलिए मेरी बातों का विशेष ध्यान देना मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

जय हो माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम्हारी आंखों के समक्ष यदि मेरा संदेश

आया है तो निश्चित ही तुम्हें आज मेरा यह एक वरदान प्राप्त होगा जिसके लिए पूरा

संसार तरस रहा है वहां तुम्हें प्राप्त होगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम बहुत

भाग्यशाली हो तुम्हारे अंदर यहां एक बहुत अच्छा गुण है कि तुम किसी को गिराने की

कोशिश नहीं करते हो लेकिन अब मेरी कही हुई बात पर विशेष ध्यान दो संसार में हर

व्यक्ति को क्या चाहिए किस चीज में उसकी खुशी है भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यक्तियों

की भिन्न-भिन्न प्रकार की खुशियां हो रही है लेकिन खुशियां कुछ चीजों से ही लगभग

सबकी जुड़ी होती है जैसे कि किसी को धन चाहिए किसी को संतान चाहिए किसी को घर

चाहिए किसी को व्यवसाय चाहिए लेकिन हर चीज जुड़ी हुई केवल एक चीज से है और वह चीज है

इस संसार में प्राप्त होने वाले आपकी अच्छी किस्मत अगर आपकी किस्मत अच्छी होगी

तो आपको कोई भी चीज मुफ्त में मिल जाएगी जरूरी नहीं कि आपको पैसे ही टमाटर थोड़ी

चीज प्राप्त हो बल्कि आपकी बुद्धि इतनी बलवान होगी कि आप उससे कम पैसों में भी

बड़े से बड़े मुकाम पर पहुंच सकते हैं क्योंकि संसार में बड़े मुकाम पर पहुंचने

के लिए तुम्हें जो चाहिए वह मैं तुम्हें आज बताऊंगी और वहां तक पहुंचने का रास्ता

भी बनाम लेकिन तुम भी मुझसे एक वादा करो कि तुम वहां तक पहुंचने के लिए पहल स्वयं

करो करोगे इसके लिए तुम्हें बुरा बनना होगा एक बात ध्यान रखना जितने ज्यादा बुरे

बनोगे उतना ही सफल हो जाओगे बुरे का अर्थ किसी का गलत करना नहीं होता बुरे बनो

स्वयं के लिए इस तरह बन जाओ के जीवन में जो तुम लोग उसे प्राप्त करने की शक्ति

तुम्हारे पास स्वयं ही आज भी अपने मन को दृढ़ निश्चय लेने वाला एक कठोर पत्थर की

तरह बना लो यदि तुम्हारे निर्णय पर तुम पूर्ण रूप से कार्य करने वाला और अपने कहे हुए वचनों पर

खरा उतरने वाला बच्चा तो तुम रामचंद्र जी के बारे में स्वयं जानते हो कि उन्होंने

अपने वचनों पर खरा उतरने के लिए सीता माता को लेकर मतभेद निवास किया था और वह इसलिए

महान और पूजनीय स्थान पर प्राप्त हुए जीवन में उन्हें महाराजा बनाया गया और ऐसे कई

राजा है जो अपने वचनों पर खरे उतरे हैं तो जीवन में हर माह उनको मंजिल पर पहुंचाना

है मेरे बच्चे तुम्हें मुझसे डरने की आवश्यकता नहीं क्योंकि मैं भले ही

तुम्हारे समक्ष गांधी रूप में प्रस्तुत लेकिन मैं दर असल तुम्हारी पार्वती मानी

और मेरा हृदय बहुत ही कोमल है मेरे बच्चे शक्ति ता उत्पन्न होती है जब तुम स्वयं उस

शक्ति को अपनी ओर आकर्षित करते हो जब तुम स्वयं अपनी बोली में हर बात पर खरे उतरने

लगते हैं और अपने वचनों से पीछे नहीं हटते तो स्वयं तुम्हारे अंदर शक्ति विद्यमान हो

जाती और शक्ति में तुम्हें जो चाहिए उसे प्राप्त करने के लिए तुम अपने मन को एकांत

में शक्ति को अर्जित करने की कोशिश करो जितना तुम अपने मन को शांत रखोगे हर

बाधाओं के नहीं और शांत मन से अपने हृदय की विचारधारा को उत्पन्न होने दोगे तभी

पूर्ण लाभ उठा पाएंगे जी में जब भी तुम्हारी मुश्किल घड़ी होती तो मेरी शक्ति

को तभी महसूस कर पाएंगे जब तुम अपने आप को स्वयं गलत कार्यों से बचाकर रखनी होगी

इसके साथ कि आपके अंदर जो शक्ति उत्पन्न होती है वह सही गलत का मार्गदर्शन भी करती

है और गलत रास्तों पर जाने से रोकती है और सही मार्ग पर तुम्हें आगे बढ़ाने की और

ज्यादा शक्ति प्रदान करती है तुम निश्चित पूर्व ग्रहो में तुम्हारी रक्षा करेंगी

मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ रहेगा जय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे कुछ भी

हो जाए अपने विश्वास को कभी टूटने मत देना तुम्हारे विश्वास की डोर बहुत मजबूत है

क्योंकि मैंने देखा है तुमने हर गंभीर समस्या चाहे कैसी भी परिस्थितियां क्यों

ना हो उसका सामना में दर्ज कर किया है मेरे बच्चे मैं तुमसे यही कहना चाहती हूं

कि तुम एक बहादुर बच्चे हो इतने बहादुर कि मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व होता है

क्या तुम्हें याद है तुमने अपनी जो परिस्थितियों का सामना किया था उसमें तुमने बहुत बहादुरी दिखाई थी मेरे बच्चे

तुमने मेरे ऊपर सब छोड़ दिया था और अपने कार्य को निरंतर करते जा रहे थे जो माह में उस

कार्य को कर रहे थे जो बहुत ही ज्यादा कठिन था परंतु तुमने हार नहीं मानी और

अपने सफर में आगे बढते रहे इसी आज मैं तुम्हें यह याद दिलाने आई कि जैसे तुमने

पहले अपनी हर समस्या का डटकर सामना किया है वैसे आगे भी

हमेशा करते रहना और मैं तुमसे यही कहना चाहूंगी कि आज मैं तुमसे बहुत प्रसन्न हूं

और मैं तुम्हें आशीर्वाद दे दे कि तुम्हारी जितनी भी इच्छा है बहुत जल्द से

जल्द पूरी हो जाए इसलिए बहुत सारी चिंता त्याग दो और अपनी मंजिल की ओर आगे बढ़ते

रहो मेरे बच्चे मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व है कि तुम्हें संसार में अपनी

सकारात्मक ऊर्जा फैला र हो मैंने तुम्हें इस प्यारे से संसार में भेजा है यह

सकारात्मक ऊर्जा लोगों को भी सिखाओ लोगों से अच्छे कार्य कर रहा मेरे बच्चे हमेशा

अच्छा ही सोचो यदि कोई किसी की बुराई करता है श्र निंदा करता है तो तुम्हें उन

बुराइयों से बचना है क्योंकि यदि तुम बुराई करोगे तो तुम उसी पद पर आगे जाओगे

जो मैं कभी नहीं चाहती है इसलिए जीवन में कभी ऐसा मत करना मेरा आशीर्वाद हमेशा मेरे

बच्चों के साथ ही है मेरे बच्चे आज का यह संदेश सबको प्राप्त नहीं होगा जिन्हें भी

यह संदेश आज प्राप्त होगा वह एक पुष्टिकरण होगा कि तुम्हारी कोई इच्छा पूरी होने

वाली है तुमने जो प्रार्थना की थी मैंने उसे स्वीकार कर लिया मेरे बच्चे मैं जानती

थी कि हाला अभी ठीक नहीं है तुम्हारा मन किसी कार्य में नहीं लगता तो मैं कुछ समझ नहीं

आता तुम अपने आप को फंसा हुआ पाते हो और अपनी पीड़ा कहीं भी तो किस से कहे मेरे

बच्चे तुम्हें मैं असमंजस में दे रही परंतु आज मैं तुमसे एक वादा करती हूं

शीघ्र सब कुछ अच्छा हो जाएगा यह जीवन से चलने लगेगा तोहे कामयाबी नहीं मिलेगी ऐसा

हो सकता है अपने मन में यह विचार लाते क्यों हो मेरे बच्चे जैसे ही तुम्हारे मन

में यह विचार आते है तब मैं स्वयं तुम्हें बताती है कि रुक जाओ आज भी तुम्हें कुछ

संकेत प्राप्त हुए होंगे इस संदेश को पढ़ने के बाद बा भी कुछ संकेत दूंगी और

तुम्हें आभास हो जाएगा कि मैं क्या कहना चाहती मेरे बच्चे आज केवल किसी कारण से यह

संदेश तुम्हें प्राप्त हुआ है कि तुम कामयाबी के बहुत करीब आ गए जब मैं

तुम्हारे लिए कुछ खूबसूरत योजना तैयार करते हैं तब तुम्हें कुछ विशेष राखी होती

है यह संकेत बड़े ही अनमोल होती है मेरे बच्चे अब इन्हें तो तुम्हें स्वयं ही

समझना होगा कि ऐसे कौन से अनमोल संकेत है जो तुम्हें निरंतर प्राप्त हो रहे हैं

मैंने तुम्हारे लिए जो योजना तैयार की है उस योजना के द्वार खुल रहे हैं जैसा कि

मैंने तुम्हें पिछली बार भी कहा था आने वाला मौसम चमत्कार का है जहां लगातार

चमत्कार ही प्रारंभ होंगे अब रोज एक सुबह खास होगी जहां चार और चमत्कार ही चमत्कार

होगा मेरे बच्चे तुम इस चमत्कार को दिव्य दृष्टि से देख सकते हैं बदलाव को निकट है

तुम अपने हौसलों को मजबूत करो तुम बदला के बहुत निकट पहुंच गए हैं दीप प्रज्वलित हो

चुका है जो तुम्हारे अंधकार को मिटाया जाए अपने मन से सभी भाई निकाल दो देखने का

नजरिया बदलो खुशियां चारों ओर है अपने सारे गम भुलाकर खुद को खुशियों के लिए

तैयार करें मेरे बच्चे जहां धूप है वहां छाया भी होगा रात्रि के बाद ही सुनहरा

सुबह आता है जैसे अभी है तो जल है इसी तरह अगर जीवन में कोई परेशानी है तो उस

परेशानी का अंत भी निश्चित होता है तब तुम क्यों इतना उदास होते इसीलिए मैं कहती

चिंता छोड़कर अपने आप से प्रेम करो क्या हालत बना ली है तुमने अपनी अपना ख्याल रखो

अपने आप से प्रेम करना ही छोड़ दिया है तुमने मेरे बच्चे मैं तुम्हारे जीवन में

केवल वही करती जो तुम्हारे लिए सही है दो दिनों के अंदर तुम्हें कुछ विशेष संकेत

प्राप्त होंगे यह संकेत तो में निद्रा के स सनों में भी बोल सकते हैं जिससे तुम्हें

सुनिश्चित हो जाएगा कि जल्द ही सब बदलने वाला है मैं चाहते हैं कि चिंता मुख होकर

मुस्कुराओ मैं चाहती हूं कि तुम अपने जीवन में जीत हासिल कर इसकी शुरुआत खुद स्वयं

से करो आगे मैं तुम्हारे रथ को संभाल लूंगी देर होने से पहले तुम्हें आज यह

संदेश प्राप्त हो गया है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन की दिशा अब पूरी तरह से

बदलने वाली है आने वाले समय के बारे में मैं तुम्हें कुछ बताना चाहती इसलिए

तुम्हें इस बात को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना होगा मेरे बच्चे आने वाला समय

तुम्हारे जीवन का सबसे अच्छा और महत्त्वपूर्ण समय होगा तुम्हारे जीवन को

एक नया आया मिलेगा तुम बाहें फैलाकर आने वाली खुशियों का स्वागत करना अब समय

परेशान रहने का नहीं है अब समय है खुशी से झूमने का सुबह उठकर खुली हवा में सांस

लेना और प्राकृतिक के सु

मेरे प्रिय बच्चे कैसे हो तुम आज तुम्हारी काली माता तुम्हारे लिए एक ऐसा संदेश लेकर

आई है जिसे जानकर तुम प्रसन्नता से बहुत ही गदगद हो जाओगे क्योंकि मेरे बच्चे इस

संदेश में कुछ ऐसा ही है जिसे जानने के बात तुम्हें बहुत ही प्रसन्नता होगी मेरे

बच्चे तुम्हारे शत्रु जो तुम्हें बहुत परेशान करते थे अब उनके परेशान होने के

दिन आ गए हैं अब उनके घरों में इस प्रकार से कला और उपद्रव ने निवास कर लिया है

क्योंकि आपस में ही लड़ झगड़ कर मर रहे हैं वह इस प्रकार से लड़ रहे हैं कि एक

दूसरे के खून के प्यासे हो गए हैं उनके अंदर जो आपस का प्रेम भाव था वह सब समाप्त

हो गया है और वह अब एक दूसरे के खून के प्यासे हैं उनकी लड़ाई से पूरे मोहल्ले

में सनसनी मची हुई है मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रुओं की ऐसी दशा देखकर मैं तुम्हें

बताने के लिए आई हूं इसलिए मेरे मे बच्चे अगर तुम अपनी काली माता को दिल से मानते

हो तो इस वीडियो को अभी लाइक कर दीजिए और चैनल को सब्सक्राइब करके कमेंट में जय हो

माता रानी और हर हर महादेव जी टाइप कर दीजिए और साथ ही साथ अपने नाम का पहला

अक्षर दर्ज कर दीजिए ताकि हम तुम्हारे जीवन की सभी समस्याओं को दूर करने में मदद

कर सके मेरे बच्चे यह संदेश तुम्हारे लिए बहुत ही खास है क्योंकि इसमें आगे

तुम्हारा भी जीवन से जुड़ी हुई बहुत रोचक और आवश्यक बातें हैं जो तुम्हें आगे चलकर

तुम्हारे शत्रुओं की चाल से बचाएंगे और उनकी प्रत्येक योजनाओं को तुम्हें सूचित

करेंगे मेरे बच्चे जब किसी के कर्मों का घड़ा भर जाता है तो वह एक दिन फुट ठा

आवश्यक है मनुष्य को यह पता नहीं होता है कि जो मैं यह करू रहा हूं यह मेरे साथ

कैसा परिणाम लेकर आएगा बस वह करता रहता है वह सोचता है कि कि मैं जो कर रहा हूं उसे

कोई नहीं देख रहा है और ना मुझे कोई रोकने वाला है और नमो मुझे कोई समझने वाला है

किंतु उसका यह भ्रम होता है मेरे प्यारे बच्चे तुम यह बात हमेशा याद रखना अगर

तुमने किसी के साथ गलत किया है तो किसी ना किसी दिन तुम्हारे साथ भी वैसा ही होगा

यही आज तुम्हारे शत्रुओं के साथ हुआ है उन्होंने तुम्हारे साथ बहुत ही गंदा

व्यवहार किया है तुम्हारे हर कार्य को बाधित किया है तुम्हें हर प्रकार से

पीड़ित और परेशान किया है इसलिए अब उनके कर्मों का दंड मिल रहा है मेरे बच्चे आपके

जीवन में कुछ बहुत बड़ा घटित होने वाला है और तुम्हें इस बात के बारे में पूर्ण रूप

से अवगत कराना चाहती इसलिए मैं तुम्हारे पास आए हूं मेरे बच्चे तुम्हें सबसे पहले

मेरी बातों को सुनकर डरना नहीं है बल्कि तुम्हें केवल बातों को समझना है यदि तुम

समझ गए तो आने वाली उस उस चीज का सामना तुम बहुत आराम से कर पाएंगे क्योंकि जीवन

में घटित होने वाली अच्छी या बुरी चीजें बार-बार जीवन में आने का अर्थात प्रवेश

करने का का पूर्ण रूप से प्रयास करती है तो इसका अर्थ यह है कि तुम जब भी किसी

कार्य को करते हो तो उस कार्य से आकर्षित समय तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने का

प्रयास करता है अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी और वह बार-बार प्रयास करता है कई

बार तो अच्छा होते होते रह जाता है और कई बार बुरा होते होते रह जाता है उसका कारण केवल

इतना होता है कि तुम ध्यान नहीं देते और उसके साथ-साथ यदि कुछ बुरा होने वाला होता

है तुम्हारे पास देवीय शक्तियां होती है तुम अपने आप को सुरक्षा कवच में

सुरक्षित रखते हो इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें कोई ऐसी शक्ति नुकसान नहीं पहुंचा

पाती जो तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहती है इसके कई अर्थ होते हैं लेकिन लेकिन आज जो

मैं बताने आई हूं उसको सुनने से पहले एक बार जाए वह माता रानी जरूर लिखना इससे

मुझे बहुत प्रसन्नता होगी मेरे बच्चे जब तुम्हारे करीब कोई भी ऐसा इंसान यदि आता

है जिससे तुम्हें खतरा महसूस होता है या तुम्हें डर लगने लगता है या तुम्हारे हृदय

को यह आभास होता है कि इस व्यक्ति से तुम्हें नुकसान पहुंच सकता है तो तुम्हारा

मन बार-बार डरने लगता है और तुम से दूर हटने लगते हो तो उसके करीब नहीं जाते

लेकिन कई बार ऐसा देखने वाला व्यक्ति जिससे तुम्हें बिल्कुल

भी ना लगे तो तुम उसे पहचान ही नहीं पाओगे कि तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहता है या

नहीं चाहता या तुम्हारे करीब आने वाली ऐसी अदृश्य शक्ति है जो कि तुम्हें दिखाई नहीं

देती लेकिन ना हो तो भी नुकसान पहुंचा सकती है अब जो चीज तुम्हें दिखाई नहीं

देती उसे केवल हृदय से आभास कर सकते आंखों से देख नहीं सकते क्योंकि वह हवा

में विलीन होती है लेकिन मेरे बच्चे वहां कोई कमजोर शक्ति नहीं होती बल्कि इतनी

शक्तिशाली शक्ति होती है कि तुम्हें नुकसान पहुंचा सकती है लेकिन जब तुम्हें

कोई चीज दिखाई दे तो तुम उससे बचने का प्रयास कैसे कर सकते हैं यहां भी जानना

जरूरी है कि जो व्यक्ति तुम्हें दिखाई दे रहा है और यदि वह तुम्हें खतरा महसूस नहीं

कर पा रहा ले लेकिन तुम्हें उससे खतरा है उससे कैसे बचना है इसके साथ-साथ तुम्हें

एक बात को जान लेना होगा जो मैं तुम्हें आज बताऊंगी तुम्हें उस बात को भी जान लिया तो निश्चित

ही आने वाली चाहे कोई भी हो लेकिन तुम उससे बच जाओगे सबसे पहले तो तुम्हें इस

बात को जान लेना जरूरी है कि यदि तुम मेरी आधी अधूरी बातों को सुनोगे तो धूप से बचने

का रास्ता प्राप्त नहीं हो पाएगा यदि तुम पूर्ण रूप से बचना चाहते हो तो तुम्हें

मेरी पूरी बातों पर ध्यान देना होगा और अपने मन में हर बात को उतारना होगा

क्योंकि मेरे बच्चे एक चीज से बच सकते हो तो दूसरी से खतरा हो सकता है यदि सभी से

बचना है तो तुम्हें कुछ बातों को जान लेना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि कई बार मैं

तो तुम्हें बचा लेती है लेकिन तुम कहीं ना कहीं कोई ऐसी गलती कर देते हो तो नुकसान

तुम्हारा होने के साथ-साथ मुझे भी होता है इसलिए मेरे बच्चे आज मैं

तुम्हारी मां तुम्हें पूर्ण रूप से बचाने आई तुम किसी के नुकसान पहुंचाने पर एक ही

रास्ता ऐसा नहीं होना चाहिए कि तुम्हें कोई नुकसान पहुंचा पाए क्या तुम्हें उस

बात के बारे में अवगत ना हो और यही मेरा धर्म बदला है क्योंकि मैं एक मां और मां

अपने बच्चों की हर प्रकार से रक्षा करती है वह हमेशा अपने बच्चों का भला चाहती है

उसके मन में हमेशा यही डर लगा रहता है कि कहीं मेरे बच्चे को कोई नुकसान

ना हो जाए किसी भी कारण पास और यही मेरा है मैं भी तुम्हें बार-बार के इसलिए बताती

हूं और आगाह करती हूं जिससे कि तुम्हें जीवन में कोई भी परेशानी ना हो

क्योंकि मेरे बच्चे में मां होकर अपनी ममता को कैसे रोक सकती सबसे पहली बात तो

तुम्हें इस बात का स्मरण रखना होगा कि स्त्री हो या पुरुष यदि उसे कोई स्त्री या

उसे कोई पुरुष जबरदस्ती मित्रता ना चाता है अर्थात तुम्हारे मना करने पर भी बहुत

बार-बार तुमसे बातें करने का प्रयास करें बार-बार तुम्हारे करीब आने का प्रयास करें

और तुम उसे अनदेखा कर रहे हैं फिर भी वह तुम्हारे करीब आती चली जा रही है यहां

तुम्हारे करीब आता चला जा रहा है तुमसे मित्रता बनाने के लिए बार-बार कहता है और

तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारा मित्र बनना चाहता है या चाहते हैं तो तुम

निश्चित ही इस बात को समझने की बहुत कोई साधारण इंसान नहीं है बल्कि जो तुमसे

जबरदस्ती मित्रता निभाने की या तुम्हारे अनदेखा करने के पश्चात भी उनसे मित्रता

बनाने की कोशिश कर रही है वह जरूर कोई ना कोई परेशानी लाने वाली है क्योंकि मेरे

बच्चे उसके इरादे नेक नहीं है जो अच्छा इंसान होता है जिसकी भावनाएं अच्छी होती

है मित्रता वो भी करते हैं लेकिन ना केवल सामने वाले की भावना को देखकर मित्रता

करती है जबरदस्ती किसी के ऐसे पीछे नहीं पड़ती है और जो ऐसा करते हैं निश्चित ही

उनके मन में कुछ ना कुछ सामने वाले के प्रति गलत भावना रहती है वह कुछ ना कुछ

नुकसान पहुंचाना चाहते हैं और इसी इरादे से वहां बार-बार करीब आने की कोशिश करते

हैं जिससे कि जबकी कभी ना कभी उनसे मित्रता करें और इसी का फायदा उठाकर आपका

नुकसान करते हैं अर्थात आपके जीवन में कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान करेंगे जिससे कि आपको

जीवन भर पछताना पड़ेगा इसलिए मेरे बच्चे ऐसे व्यक्ति से सबसे पहली बात तो दूर रहना

प्रारंभ करो और दूसरा इस बात को ध्यान रखें कि यदि तुम्हें कोई भी ऐसी मानसिक

स्थिति रही है अर्थात तुम्हारा मन बार-बार किसी भी मांग को लेकर परेशान हो रहा है या

क्यों बेवजह से किसी बात से सबसे ज्यादा डर रहे हो तो तुम्हें एक बात को स्मरण

रखना चाहिए कि कोई ना कोई ऐसी शक्ति तुम्हें घेर रही है जो कि तुम्हारे हृदय

के और मस्तिष्क के अंदर नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न कर रही है अर्थात तुम्हारे मन के अंदर एक ऐसा

दृष्टिकोण बन रहा है जो कि किसी भी कार्य को ना करने के लिए उकसा रहा है और

तुम्हारी शक्ति को कमजोर कर रहा है अर्थात कहने का अर्थ यह है कि एक नकारात्मक ऊर्जा

तुम्हारे जीवन में प्रवेश कर रही जिस ऊर्जा को तुम्हें नष्ट करना होगा और यह

केवल तुम अपने ईष्ट देवता के मंत्रों का उच्चारण करके भी कर सकते हो या तुम अपनी

माता का नाम का उच्चारण करो या फिर हनुमान चालीसा चालीसा का पाठ करें क्योंकि

कुछ-कुछ शक्तियां ऐसी हैं जिनके मंत्रों का लगातार उच्चारण यदि तुम करते हो तो

निश्चित ही तो उस शक्ति का उच्चारण करते-करते उस शक्ति को अपने इर्दगिर्द विद्यमान कर लोगे इस बात का ध्यान रखो

कि कभी भी किसी भी शक्ति के मंत्र उच्चारण करने से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में

प्रवेश करने लगती है और तुम्हारे के विद्यमान हो जाती है तुम्हारी रक्षा करने

के लिए क्योंकि तुम स्वयं ही उस शक्ति को अपनी हो आकर्षित करते हैं अपने मुख से

निकले हुए एक एक शब्द से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में धीरे-धीरे करके प्रवेश

करने लगती है और यदि कोई भी नकारात्मक ऊर्जा यदि तुम्हारे मस्तिष्क में प्रवेश

करके विद्यमान हो जाती है और उसे अपने मस्तिष्क से अपने हृदय से अपने पूरे शरीर

से विकास नहीं पाते हो तो उसका मास तुम्हारे शरीर पर होने लगता है चाहती है

जैसा तुम करते हो अर्थात बहुत कुछ ना कुछ तुम्हारे जीवन में बेकार करने के लिए आती

है और बिगाड़ करके ही बाद जाती है क्योंकि उसका काम ही ऐसा होता है कहीं पर भी

विकराल रूप धारण करना अर्थात कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान कर ना किसी के प्रति मां फिर

तुम्हारे शरीर में प्रवेश करके दूसरों का नुकसान करता है क्योंकि किसी से उसको

प्रसन्नता होती है मैं तुम्हें डराना नहीं चाहती और ही मेरा उद्देश्य है तुम्हें

लड़ा था लेकिन यह सच है कि कुछ कुछ ऊर्जा ऐसी होती है किसी भी व्यक्ति की बुद्धि को

पूर्ण रूप से बंद कर देती है और उसकी सोचने समझने की शक्ति को क्षीण कर दे दी

है इसलिए कभी भी अपने ऊपर ऐसी ऊर्जा को विद्यमान मत होने दो क्योंकि यदि ऐसी

ऊर्जा विद्यमान हो जाती है तो तुम्हारे जीवन में बहुत बड़ा संकट उत्पन्न

करती है और खतरा भी लेकर आती है यदि तुम्हारे मस्तिष्क के अंदर बार-बार गलत

विचारधाराएं उत्पन्न हो रही है बिना वजह से कुछ ऐसी मानसिक स्थिति हो गई है जिसमें

तुम दूसरों का अच्छा ना सोचकर गलत भावना लेकर आ रहे हो या तुम्हारे मन के अंदर

अपने आप ही गलत भावना उत्पन्न हो रही है और तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारे

जीवन में तुम्हारे मन की जो स्थिति है वह एक अलग दिशाओं में चली गई है तुम्हें ऐसा

नहीं सोचना चाहिए फिर भी तुम्हारे मन की भावनाओं को काबू में नहीं रख पा रहे

बार-बार दुर्गुण धारणाओं को रोकने का प्रयास कर रही लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा

है तुमसे और तुम जानबूझ कर भी यह नहीं करते लेकिन तुम्हारे जीवन में ऐसा हो रहा

है यह सत्य है कि कई बार जीवन में हम जो सोचते हैं हम चाहते नहीं है और जो हम

चाहते हैं वैसा सोच नहीं पाते तो ऐसे में तुम समझ लेना कि तुम्हारे

मस्तिष्क पर किसी और चीज का वास हो चुका है अर्थात तुम्हारे हृदय में तो ईश्वर का

वास है लेकिन तुम्हारे मस्तिष्क में एक ऐसी ऊर्जा विमान हो चुकी है जिस ऊर्जा को

तुम्हारे मस्तिष्क में विद्यमान होने पर उसने तुम्हारी दिशाहीन बोर इसलिए मेरे

बच्चे शीघ्र ही तुम्हें मंत्रों का उच्चारण करना चाहिए और इन्हीं मंत्रों के उच्चारण से तुम्हारे मस्तिष्क में ईश्वर

का वास होगा और जो तुम्हारी गलत दिशा में मोदी हुई रुख है वह सही दिशा में चलने

लगेगी मेरे बच्चे इस बात को हमेशा स्मरण रखना कि तुम बहुत सोच समझकर ही किसी भी

कार्य को चुनना और यदि तुम बार-बार ऐसा आभास करने लगे होग यह तुम्हारा सूज हुआ

तुम्हारा नहीं है किसी और का है तुम्हारे हृदय को ऐसा आभास होने लगा है तुम इस पर

पूर्ण रूप से विचार करना और शक्तिशाली मंत्रों का उच्चारण प्रारंभ करना तीसरी और

सबसे जरूरी बात में तुम्हें बताना चाहती कि आज के युग में अर्थात आधुनिक युग में

जो लड़कियां हैं सभी सही है लेकिन अभी भी कुछ लड़कियां ऐसी होती है जो किसी भी

लड़की के जीवन में ऐसा नुकसान करके जाती है और नुकन के लिए ही वह प्रेम का संबंध

बनाती है वह सामने वाले को केवल लूटने और बर्बाद करने के इरादे से उसके जीवन में

आती है यदि कोई भी लड़का भावुक होता है लड़कियां उसका कई बार फायदा उठाती है हर

लड़की ऐसी नहीं होती लेकिन कुछ ऐसी होती हैं मैं उन्हें लड़कियों के लिए यह बताना

चाहती मेरे बच्चे तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लाने का या किसी के ऊपर मुसीबत आने

का कारण मत बन क्योंकि यदि तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लेकर भी

अर्थात दूसरों के प्रेम का फायदा उठाओ के और यदि लड़का ऐसा करता है लड़कियों के साथ

अर्थ किसी भी लड़की की इज्जत नहीं करता उसका मान सम्मान नहीं करता उसकी इज्जत का

ख्याल नहीं रखता तो उन दोनों के ऊपर निश्चित ही संकट आता है क्योंकि वहां आ

रही बुद्धि में गलत बात जो दोनों में से किसी की बुद्धि में आ सकती है उसके जीवन

को गलत दिशा में मोड़ कर ले जाती है और उसके कर्मों को भी एक ऐसी दिशा में मोड़

दे दी है जिससे कि उसकी बुद्धि तो कार्य कर पाती है और ना पैसा व्यक्ति सोच पाता

है क्योंकि एक व्यक्ति तो भावनाओं से किसी के साथ जुड़ता है लेकिन एक व्यक्ति केवल

स्वार्थ वर्ष किसी को अपने साथ जुड़ता है और अपने मन के अंदर षड्यंत्र भरकर रचना है

उसकी बुद्धि में केवल दूसरे को नुकसान पहुंचाने का और कुछ ना कुछ ऐसी भावना जो

किसी के प्रति किसी को नुकसान पहुंचाने की होती है और खुद का फायदा करने की होती है

बस इसी इरादे सेवा व्यक्ति ऐसा करने की कोशिश करता है

मेरे बच्चे जो लोग ऐसा करते हैं फोन को मैं आज सावधान करने आई क्योंकि यदि तुम

दूसरे के जीवन में ऐसा करोगे तो तुम्हारे जीवन में भी मुसीबत आएगी तुम्हारे जीवन

में भी संकट आएगा क्योंकि तुम अपने गमों को एक गलत दि में ले जाना होगा और जिन

लोगों के साथ ऐसा होता है उन्हें भी सावधान करने आए मेरे बच्चे तुम किसी से

प्रेम करो लेकिन ऐसा प्रेम मत करो जिसमें तुम ठगे जाओ क्योंकि थोड़ा को किसी से

प्रेम करो सोच समझकर प्रेम करो तुम्हें यदि किसी व्यक्ति से प्रेम हो जाता है या

तो भी कोई बहुत अच्छा लगता है इसमें गलती तुम्हारी नहीं है क्योंकि विदेश से प्रेम

होता है तभी जब आंखों को कोई चीज ती है और हृदय उसके पीछे भाग पड़ता है और तुम हृदय

के पीछे भाग पड़ती हो तुम चलते चले जाते हैं एक ऐसी दशा में जहां पर सामने वाला

व्यक्ति तुम्हारे प्रति छल रख कर के कार्यों को करता है और तुम उसे नहीं पाते

और नहीं परत पाते हैं क्योंकि तुम्हारी आंखों पर पट्टी बंधी होती है और जिसकी

आंखों पर पट्टी बंधी है व्यक्ति देख नहीं सकता अर्थात प्रेम की पत्ती एक ऐसी पट्टी

होती जो व्यक्ति सामने वाले को ना तो परखने की चाह

रख पाता है और ही उसे रख पाता है क्योंकि उसके मन में यह भावना आती ही नहीं कि

सामने वाला व्यक्ति षड्यंत्र भी रख सकता है क्योंकि जब वह किसी से सच्चा प्रेम

करने लगता है तो वह यह सोच नहीं पाता कि कोई ऐसा भी कर सकता है उसकी भावना को केवल

प्रेम की होती है और प्रेम उसके हृदय में वास करता है और वहां सोचता ही रहता है कि

मैं जिसे प्रेम करता हूं उसे कितना प्रेम करो जितना मेरा सामर्थ हो और जितने मेरे

बस के हो बहुत ज्यादा उसे प्रेम करो बस यही धारणा रखकर के बाद व्यक्ति सामने को

प्रेम करता चला जाता है और उसे परखने की खींचा नहीं रख पाता उसे अगर यह बात कोई

तीसरा व्यक्ति बता दे कि वहां छल कर रहा है या कर रही है तब भी उस व्यक्ति की

आंखों पर प्रेम की जो पट्टी बंधी होती है वह उस पति को उतार कर कभी भी परखने की

जांच नहीं कर पाता क्योंकि उसे कुछ दिखाई नहीं देता है सच तो उससे बिल्कुल भी दिखाई

नहीं दे पाता जब तक उसकी प्रेम की पत्ती आंखों से उतारी जाती है तब तक बहुत देर हो

चुकी होती है उसे यह जानते जानते काफी समय निकल जाता है कि उसके जीवन में क्या हो

रहा है और कोई है जो उसे छल कर रहा है धोखा दे रहा है उसे पीठ में खंजर घूप रहा

है बात-बात पर उसका झूठ बोलना बात-बात पर उसका रूठ जाना हर बात पर भून दिखाना और

बात-बात पर छोड़ के चली जाऊंगी या छोड़ के चला जाऊंगा धमकी देना और जो जिससे प्रेम

करता है वह उसकी हर बात को स्वीकार कर लेता है डर के कारण और यहां दर कोई ऐसा

वैसा दर्द नहीं होता बल्कि अपने प्रेम को खोने का दर्द होता है और यह भी सच है कि

जो सच्चा प्रेम करता वह अपने प्रेम को होने से बिल्कुल डरता है क्योंकि उसके बिना रह नहीं सकता

और रहा भी नहीं पाता है उसका फिर कहीं मन नहीं लगता उसका दिल नहीं लगता तो वह उदास

हो जाता है वह हर समय सोचता ही रहता है ना तो किसी कार्य को कर पाता है और ना ही

किसी भी कार्य को करने में उसका मन लगता है इसलिए वहां विवश हो जाता है जो जाता है

अपने प्रेम के सामने और ऐसे में ही सामने वाला व्यक्ति जो केवल उससे दिखावा कर रहा

है प्रेम का छलावा कर रहा है ब्रेक का और षड्यंत्र रच रहा है उसके प्रति वहां उसका

फायदा उठा लेता है और फिर उसके साथ धोखाधड़ी करके उसे बर्बाद करने की फिराक

में रहता है मेरे बच्चे यदि ऐसा प्रेम तुम्हारे निकट आ रहा है तो सावधान हो जाओ

क्योंकि प्रेम प्रेम नहीं है बल्कि एक बहुत बड़ा संकट है एक ऐसा संकट है जो यदि

तो उससे फंस गए एक बार तो उससे निकलना नामुमकिन के बराबर हो जाता है क्योंकि

उससे निकलते निकलते बहुत देर हो जाती है और जहां तक कहा जाए तो तुम अपना सब कुछ गवा

बैठते थे तब तुम्हें ज्ञात होता है कि मेरा सब कुछ खत्म हो चुका है मैं बर्बाद

हो चुका हूं इस प्रेम के चक्कर में इसलिए मैं तुम्हें आज आगाह करने आई है अर्थात

में समझाने आए कि तुम ऐसे किसी प्रेम के चक्कर में मत पड़ो नहीं तो तुम्हारा जीवन

खराब हो जाएगा और तुम बर्बाद हो जाओ मेरे बच्चे यह सच है कि प्रेम करना चाहिए लेकिन

उससे नहीं जो तुम्हारे साथ छलावा कर रहा है या दिखावा कर रहा है या तुमसे षड्यंत्र

रचकर बातें करता है बल्कि उससे प्रेम करो जो तुमसे सच्चा प्रेम करता है तुम पर जान

छिड़क है तुम्हारी हर बार में उसकी स्वीकृति होती है और भावनाओं से भावनाओं

का प्रेम होता है ना कि स्वास्थ्य पर मेरे बचे जिसके मन में छलावा होता है उस

व्यक्ति को तुम कुछ ही समय में प सकते हो इसलिए प्रेम करो लेकिन आंखें खोलकर आंखें

बंद करके नहीं यदि आंखें बंद करके प्रेम करोगे तो थोड़ा सा आगे जाकर ही ठोकर खा

जाओगे और मुंह के बल गिर पड़ोगे गिरने से पहले ही तुम्हें समझना होगा और संभलना

होगा और जाना होगा इस बात को कि तुम जो अभी कर रहे हैं उससे कहीं तुम्हारा कोई

नुकसान तो नहीं हो रहा ऐसा कोई व्यक्ति को नहीं है तुम्हारे जीवन में जो तुमसे छलावा

कर रहा हूं और तुम उसके बारे में पूर्ण रूप से जान नहीं पा रहे एवं उसके हाथों से

धोखा खा रहे हैं और जीवन को बर्बाद कर रहे थे क्योंकि मेरे बच्चे यदि ऐसा हो रहा है

तो आगे तुम्हें रोने का मौका भी नहीं मिल पाएगा उस समय जिस समय तुम सब कुछ दवा

बैठोगे अर्थात जो छल कर रहा है वह सब कुछ लूटकर भाग जाएगा और तुम हाथ मलते रह जाऊंगी

क्योंकि संसार में पाच मिलियन बराबर नहीं होती और सब एक से नहीं होते इसी प्रकार

प्रेम करो लेकिन देखो कि कहीं कोई तुमसे छल तो नहीं कर रहा है कहीं तो किसी के

षड्यंत्र मैं तो नहीं रहे हैं यदि तुम्हारे साथ ऐसा हो रहा है तो निश्चित ही

बहुत गलत हो रहा है और अपने आप को तुम लोग क्योंकि यदि समय रहते तुम स्वयं को नहीं

रोको होगी तो आदि तुम्हें केवल पछतावा होगा और जीवन में कुछ नहीं बचेगा ऐसे लावे से और ऐसे संकट

से बचने का केवल एक ही उपाय है कि तुम ऐसे प्रेम को तुरंत छोड़ दो और जिससे भी तुम

प्रेम करो उसे देख परक कर करो उसका प्रेम परखने के बाद ही तुम उसे पूर्ण रूप से

प्रेम करो और परखने के लिए भी तुम्हें यह देखना होगा कि सामने वाला व्यक्ति क्या सच

में तुमसे प्रेम करता है क्या उसकी भावना तुम्हारे लिए उस तरह की है जिस तरह की

तुम्हा है क्या हो उतना प्रेम कर पाएगा तुमसे जितना तुम उससे करती हूं क्योंकि

मेरे बच्चे यदि वहां बात बात पर लगता है या लगती है बात बात पर तुम्हें छोड़ने की

धमकी दे दी है बात बात पर रूठ जाती है यह बात-बात पर उसको क्रोध आता है तो ऐसा

व्यक्ति तुमसे प्रेम नहीं करता क्योंकि प्रेम करने वाला व्यक्ति कभी भी छोड़ने की

बात नहीं करेगा और प्रेम करने वाला व्यक्ति तुम्हें होने से हमेशा डरेगा मेरे ब बचे प्रेम करने वाला व्यक्ति बात बात पर

क्रोध नहीं करेगा बल्कि जहां तुमसे कुछ गलती होगी तुमसे प्यार से बात करेगा और

तुम्हें प्रेम से समझाएगा क्योंकि उसके हृदय में प्रेम है और वह इस बात को समझता

है कि किसी से यदि कोई गलती हो जाए तो उसे प्रेम से समझाने पर जितना ज्यादा समझ में

आता है उतना क्रोध बस कभी नहीं सकता और यही कारण होता है किसी भी व्यक्ति का कि

बात तुम्हें उस समय ता है जब तुम्हें कोई भी बात समझ में नहीं आ रही होती है

क्योंकि प्रेम का धर्म ही सबसे पहला यही होता है कि अपने प्रेमी को समझाएं हर बात

के लिए मनाए यदि प्रेमी क्रोधित भी हो जाता है तो प्रेमिका उसे समझाती है और

प्रेमिका यदि क्रोध होती है तो प्रेमी उसे समझाता है वह दोनों के दूसरे को समझते हैं

भावनाओं को पहचानते हैं एक दूसरे के प्रति बढ़ते मिटते हैं बल्कि अध्ययन नहीं रखते

क्योंकि बहुत प्रेम करते हैं और प्रेम खुद को खुश करने का नाम ना होकर दूसरे को ड

खुश करने का नाम होता है यदि तुम अपने प्रेम से प्रेम करते हो या तुमसे कोई

प्रेम करता है तो निश्चित ही तुम्हारी छोटी-छोटी खुशी का ख्याल रखेगा तुम कब

हंसते हो उसे हंसी आएगी तुम कब रोते हो वह दुखी हो जाएगा तुमसे कभी भी किसी भी चीज

को मानने से पहले क्रोध में नहीं आएगा और नहीं क्रोध में तुमसे कभी ज्यादा बात

करेगा जब भी बात करेगा उसकी बातों में मिठास हो इतनी मिठास की उसके सामने तुमने

सब चीज सीखी लगी लगेगी क्योंकि प्रेम तो एक आनंद है प्रेम कोई ऐसा नहीं है कि बात

किसी के ऊपर ग्रोथ करे बल्कि वहां एक मधुर संगीत की तरह है जिससे दांतों में सुना

जाए तो बहुत अच्छी द सुनाई देती है और यदि दिल से महसूस किया जाए तो वहां रंग में

में रंग लेता है जिससे कि इंसान उसके रंग में रंगने के पश्चात पूरी दुनिया में हर

चीज को में देख पाता है उसकी दुनिया ही रंगबिरंगी हो जाती है वह अपने दिल से हर

चीज को महसूस करता है और उसे यह ज्ञात होता है कि

दुनिया कितनी खूबसूरत है यही तो होता है प्रेम का असली रंग जो जिससे प्रेम करता है

उसे उसी में पूरी दुनिया दिखाई देती है और सबसे ज्यादा इंसान विवश हो जाता है अपने

प्रेम के प्रति गलत भावना सोचने के बारे में और गलत भावना विचार करने के बारे में

क्योंकि प्रेम जब होता है तो इंसान किसी के बारे में बहुत अच्छी भावना रखता है और

अच्छा सोचता है दा प्रेम होता है लेकिन कई बार गलत व्यक्ति इसी बात का फायदा उठा

लेता है उसे यह बात बहुत अच्छे से ज्ञात होती है कि जब होता है तो उसकी आंखों पर

पट्टी बंधी होती है एक तरह से वह पूर्ण रूप से दे नहीं पाता और प्यार अंधा हो

जाता है और इसी का सामने वाला व्यक्ति गलत फायदा उठाकर तुम्हारे जीवन में बर्बादी का

सबसे बड़ा मार्ग बना देता है और ऐसे में सब कुछ बिखर बिखर दे यदि व्यक्ति संभल जाए

तो भी उसका दिल टूट जाता है और यदि वह समझ पाए तो सब कुछ बिक जाता है क्योंकि मेरे

बच्चे इंसान अपने हृदय से जीता है और हृदय से ही बिगड़ता है उसका हृदय टूटा तो वहां

टूट जाता है और यदि उसके हृदय में प्रेम की जो धारणा है लगातार प्रवाह करती रहती

है तो बहुत प्रसन्न रहता है को हर बात अच्छी लगती है और संसार में जो उसका जीवन

है वहां भी अच्छी से गुजारता है हर बात में आनंद लेता है और हर बात में उसे खुशी

महसूस होती है लेकिन यहां जो प्रेम की डोर टूटती है तो इंसान को बहुत ज्यादा कष्ट

होता है लेकिन धोखा खाने से अच्छा और तुम्हारे जीवन में कोई बड़ा संकट आए उससे

ज्यादा अच्छा है कि तुम प्रेम को पहचानो यदि ऐसा प्रेम है जो कि तुम्हें शहीद रचकर

धोखा दे रहा है तुम्हें लूटने की साजिश रच रहा है तुम्हारा जीवन बर्बाद करना चाहता

है तो उसे तुरंत नहीं छोड़ सकते तो धीरे-धीरे करके छोड़ दो लेकिन अपने दिल और

दिमाग से उस व्यक्ति को निकालने का भरपूर प्रस करो क्योंकि वहां आज या तो कल

तुम्हें बर्बाद करके ही रहेगा क्योंकि ऐसा व्यक्ति जो षड्यंत्र रचता है वह किसी का

नहीं हो सकता बच्चे आज मैं तुम्हें डराने नहीं आई और न ही तुमसे तुम्हारी ट्रेन को

दूर करने आए बल्कि मैं समझाने आए क्योंकि संसार में हर व्यक्ति एक जैसा नहीं होता

जो लोग षड्यंत्र रचते हैं अपने प्रेम के प्रति और प्रेम भरा षड्यंत्र रचकर किसी को

फंसाते है केवल उन लोग लोग के लिए यह संदेश है इसलिए वहां मेरे बच्चे बच पाए

यही मेरा संदेश है और जीवन में खुद को भी भी अकेला मत समझना हमेशा ध्यान रखना मैं

तुम्हारे साथ हर पल हर क्षण में तुम्हें देख रही है और जानती हूं कि तुम्हारे जीवन

में क्या रहा है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे कुछ जरूरी बात करने आई और जो बात करने आए उसे सुनना

अति आवश्यक है क्योंकि कुछ ऐसी बातें जो मैं तुमसे करना चाहती है और कुछ ऐसी बातें

जो मैं तुम्हें बताना चाहती हूं तुम जाग थे तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन में कुछ

ही समय में चमत्कार होना प्रारंभ हो जाएगा मेरे बच्चे एक बार को स्मरण रखना कि

मैंने तुम्हारे लिए समय निकाला है तो कभी भी मेरी बातों को सुनने के लिए जरूर समय

निकालना चाहिए क्योंकि जब मैं तुम्हें कुछ जरूरी बात बता रही हूं या कोई ऐसी बात

समझा रही जिससे तुमने जीवन का फिर छुपा हुआ है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ

है जय माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम अपने जीवन को क्यों बर्बाद कर रही हो

तुम्हें क्यों डर लग रहा है मैं तुम्हारे साथ अपने अंदर की बात को सुनो और अपनी मां

काली के बताए रास्ते पर चले मेरी बात ध्यानपूर्वक सुनना जो मैं तुम्हें बताना

चाहती मेरे बच्चे जब तक तुम जवान हो तो मैं केवल और केवल सीखने का प्रयास करना चाहिए कि तुम

किस तरह के मनुष्य बनना चाहते हो यही तो समय है जोखिम लेने का नई चीजें सीखने का

और नए-नए कौशल विकसित करने का अभी भविष्य के बारे में मत सोचो अभी केवल अपने

वर्तमान पर ध्यान दो अभी तुम्हें स्वयं को जानने का प्रयास करना चाहिए अपने जीवन की

बड़ी-बड़ी बातों से ज्यादा छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए जीवन की दौड़

में तो उसके सारे छोटे सुनहरे छड़ों को अनदेखा कर देते हैं जीवन में आगे जाकर जब

तुम पीछे देखते हैं तो उन्हें आभास होता है कि असल में वह छोटी-छोटी बातें भी

तुम्हारी खुशियां थी जीवन का अनुभव करते हुए तुम कई चीजें सीखते हैं जैसे प्रेम दर

सुंदरता कृतज्ञता यही अनुभव से सीखी हुई चीजें तुम्हें जीवन की बड़ी-बड़ी घटनाओं

के लिए तैयार करती है मेरे बच्चे तुम्हारी श्रद्धा को दे देख कर मैं अत्यधिक प्रसन्न

है मैंने तुम्हारी तकलीफ देखी है मैंने तुम्हारी निराशा को जान लिया है भले ही

तुम अपने दुखों के बारे में किसी को भी नाम बताएं मगर मुझे तुम्हारे सभी लोगों का

ज्ञान है अपनी विभिन्न परेशानियों के बावजूद हमें यह समझना चाहिए कि तुम जो कुछ

भी बनना चाहते थे वहां बनने के लिए कभी भी देर नहीं होती है तुम अपने जीवन में जो

कुछ भी चाहो वहां बन सकते हो तुम्हारी क्षमताओं की कोई सीमा नहीं है यदि तुम्हें

लगता है कि तुम्हारे जीवन में बहुत देर हो चुकी है तो ऐसा बिल्कुल नहीं है जीवन में

कभी भी किसी भी बात को लेकर देर नहीं होती है तुम्हें जो कुछ भी करना है जो कुछ भी

बनना है उन सभी के लिए जीवन में कभी भी देर नहीं होती है बस तुम्हारे मन में लगन

होनी चाहिए मेरे बच्चे तुम्हें इस संसार में भेजते वक्त मेरी आशा थी कि तुम संसार

में ऐसा जीवन जी जिस पर तुम्हें घर हुए जीवन का अर्थ ही यही है कि जब इसका अर्थ

है तो तुम्हारी कोई भी इच्छा अधूरी ना रह जाए तो मैं स्वयं के जीवन पर गर्व होना

चाहिए यदि किन्हीं कारणवश ऐसा नहीं है तो तुम्हें फिर से नई शुरुआत करनी चाहिए

तुम्हारे जीवन के सबसे अंधेरे रों में भी एक रोशनी सदा जलती रहेगी तो मैं बस उस

रोशनी को देखने की हिम्मत होनी चाहिए एक बार अपना अंधकार दूर

करने बाद तो वे दूसरों के लिए प्रकाश बनना चाहे तो में सदैव याद रखना चाहिए कि जीवन

की छोटी छोटी हाथ कभी जीवन की हार नहीं होती जीवन की हार केवल तभी होती है जब तुम

हार मान लेते हो तो मन में सफलता के लिए हार नहीं माननी चाहिए और एक बार सफल होने

के बाद दूसरों को हाल से बचाने का प्रयास करना चाहिए तुम्हारी किसी भी इच्छा की

पूर्ति कभी कोई प्रार्थना नहीं करती है बल्कि स्वयं तुम्हारी प्रकृति ही तुम्हारी इच्छा

पूर्ति करती है तुम्हें यह समझना होगा कि प्रार्थना कभी भी ईश्वर की सोच पर प्रभाव

डालने के लिए नहीं की जाती बल्कि रात स्वयं तुम्हारी प्रकृति को बदलने के लिए

दी जाती है प्रार्थना का असल उद्देश्य तुम्हारे मन पर प्रभाव डालता है बार-बार

प्रार्थना करने से तुम्हारे अंदर देख विश्वास उत्पन्न होता है कि तुम जिस भी

वस्तु की इच्छा कर रही हो वह तुम्हें प्राप्त हो सक सती है यही उम्मीद तुम्हारी

इच्छा की पूर्ति की ओर सहारा प्रथम कदम है उम्मीद किसी भी व्यक्ति के जीवन में बहुत

ही आवश्यक है तुम्हारे लिए उम्मीद अंधकार में भी उजाले का कार्य करती है जब कभी

जीवन की किसी भी मोड़ पर तुम्हें कोई भी रास्ता ना दिखाई दे रहा है तो उस

परिस्थिति में एक उम्मीद ही तुम्हें रास्ता ढूंढने के लिए प्रेरित करती है संपूर्ण संसार आखिर भूमि पर ही चल रहा है

यहां तक कि परेशानी की छड़ों मैं ईश्वर तक उम्मीद को ही ढूंढने का प्रयत्न करती है

तो मैं यहां सदैव याद रखना चाहिए कि संसार में आज तक जो कुछ भी हुआ है वह सब केवल

उम्मीद द्वारा ही किया गया है सभी कार्यों के पीछे की प्रेरणा है तुम्हें कभी भी

उम्मीद का साथ नहीं छोड़ना चाहिए मेरे बच्चे में तुम्हारी व्याकुलता से अच्छी

तरह अवगत तोहे मैंने देखा है कि तुम सदैव भ्रमित रहते हो तुम्हारा मन हमेशा उलझा

रहता है तुम्हारा मन उदासीन रहने का तो जैसे आदि हो चुका है

अपने मन की इस व्याकुलता को दूर करने का रास्ता यह है कि तुम्हें सदैव अपने जीवन

में यहां ज्ञात होना चाहिए कि तुम्हें क्या करना है या जाना है इससे भी ज्यादा

तुम्हारे मस्तिष्क में यह बात निश्चित होनी चाहिए कि तुम्हें क्या करना है तुम्हें यहां निश्चित रखना चाहिए कि

तुम्हें क्या करना है जब तुम्हें यह पता चल जाएगा कि तुम्हें क्या करना है तो उस

कार्य को करने के लिए तुम्हें क्या जानकारी अर्जित करने उसका पता तुम्हें

स्वतः ही चल जाएगा जीवन में आवश्यक यह है कि तुम्हें अपने उद्देश्य का ज्ञान होना

मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जाए और माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे

तुम्हारे दुखों का अंत आज निश्चित है जो कुछ भी तुमने देखा है जो कुछ भी तुमने

सुना है और जो कुछ भी तुम्हें सहा है उन सभी का आज निश्चित है आज तुम्हारे अंदर के

ज्ञान को तुम्हें बाहर लाना होगा इसलिए अपने सुख और आनंद की प्राप्ति के

लिए इस संदेश को अंत तक सुनना यदि इसे अंत तक सुनोगे तो मैं आज एक ऐसी चीज सीखने को

मिलेंगी जो आज तक तुम्हें कभी नहीं मिली आज तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली

है क्योंकि आज मैं तुमसे बेहद प्रसन्न हूं लेकिन फिर भी मैं तुम्हें जीवन की वहां

सच्चाई बताने जा रहे हैं जिस से तुम्हें सुनना होगा और अपने जीवन को सुधारना

होगा इसलिए अपनी माता को ध्यानपूर्वक सुनना ताकि तुम्हें जीवन में कभी किसी के

आगे झुकना ना पड़े मेरे बच्चे तुम जीवन में खुशियां ढूंढना चाहते हैं किंतु यह

क्यों भूल जाते हो कि खुशी तो तुम्हारी आसपास है और बहुत तुम्हें भी देख

सकती है जब तुम छोटी-छोटी चीजों में भी खुशियां बूंढो जैसे एक बच्चा अपनी मां में

सारी खुशी ढूं लेता है ऐसे ही तुम्हें भी सारी खुशियां हर जगह मिल सकती है बस

उन्हें महसूस करने की कोशिश करो लेकिन मेरे बच्चे तुम अक्सर उन चीजों में खुशी

देखते हो जो चीज काफी बड़ी होती है या जो तुम्हारे मन की ख्वाहिश होती है किंतु जब

तुम्हारी हर ख्वाहिश पूरी नहीं होती तो क्यों उदास हो जाते हैं किंतु तुम यह भूल

जाते हैं कि यदि उसी को अपने मन की इच्छाओं के रूप में देखने की कोश करोगे तो

तुम कभी खुश नहीं हो सकते आज मैं तुम्हें जो खुशी देने जा रही उस खुशी को महसूस

करने के लिए में स्वयं के अंदर कुछ बदलाव करने होंगे और यह खुशी तो केवल उन्हीं

लोगों से प्राप्त होगी जो तुम्हारे जीवन में है और जिनसे तुम्हारा जीवन जुड़ा हुआ

है मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को अपने जीवन में अपना लोगे तो तुम्हारा जीवन स्वर

से भी अच्छा हो जाएगा और उसके लिए केवल तुम्हें कुछ चीजों का त्याग करना होगा जो

मैं तुम्हें बताने जा रहे हैं ऐसी चीज तुम्हारे जीवन को बर्बाद कर दी यदि तुम इन

चीजों को छोड़ दोगे तो स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने लगेगा और जिस खुशी की तलाश

कर रही हो वहां तुम्हें प्राप्त हो जाएगी अपने अंदर की चीजों का निर्माण करना यह

तेजी से वह चीज है जो तुम्हारे भीतर फैले पाप का नाश करें और यदि तुमने तीन चीजों

को अपने जीवन में अपना लिया तो यकीन करो तुम्हारा जीवन पाप से मुक्त हो जाएगा पहली

चीज स्वयं के प्रति विश्वास मेरे बच्चे यदि तुम स्वयं के प्रति विश्वास जागृत कर

लोगे तो तुम्हारे मन में जितनी भी शंकाएं हैं और जो भी डर है वह स्वयं समाप्त हो

जाएंगे विश्वास एक ऐसी चीज है जो इंसान को बलवान करती है यदि तुम्हारे अंदर विश्वास

है तो तुम किसी भी चीज को हासिल कर सकते हैं चाहे वह कितनी ही कठिन क्यों ना हो को

दूसरी चीज प्रेम है यदि तुम अपने अंदर प्रेम का बीज बोए तो मेरा यकीन करो इस

संसार में किसी भी प्रकार का दुख तुम्हारे अंदर नहीं रहेगा क्योंकि जहां प्रेम होता

है वहां नफरत की थी स्वयं ही समाप्त हो जाता है यह तुम भी जानते हैं कि प्रेम

वहां भाषा है जो जानवर को ही समझ में आ जाती है यदि तुम उसे ट्रेन दोगे तो वहां

भी तुम्हें तभी नुकसान नहीं देगा बल्कि तुमसे भी उतना ही प्रेम

करेगा जितना तुम उससे करोगे तीसरी और सबसे अहम चीज रहा है जो हर मनुष्य में पाई जाती

है और उसका नाम क्रोध है मेरे बच्चे तुम्हें यहां पर रोड का त्याग करना है यदि

तुमने क्रोध का त्याग कर लिया तुम बड़ी से बड़ी विपत्ति में ठंडे दिमाग से काम ले

सकते हो क्योंकि जो मनुष्य क्रोध में आकर कोई फैसला या कार्य करता है तो आगे चलकर

पछताते हैं उन्हें उस समय क्रोध के चलते कुछ समझ नहीं नहीं आता किंतु बाद में जब

उन्हें समझ में आता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है इसलिए मेरे बच्चे विश्वास

प्रेम और क्रोध का प्यार यह तीनों चीज जिस दिन तुम्हारे अंदर आ गई उस दिन ऐसा कोई भी

कार्य नहीं है जो ना कर सको अब यह तुम्हारे ऊपर है कि तुम किस प्रकार से

कार्य कर सकते हैं और किस प्रकार से कार्य नहीं कर सकते स्वयं की शक्तियों को

पहचानने के लिए तुम्हें अपने भीतर इन तीन चीजों का निर्माण करना होगा मेरे बच्चे

तुम जब कभी भी अपने घर में अन्न बनाते हो यदि अन्न बच जाता है तो उस बस हुए अन्य को

बर्बाद मत करना बल्कि उसे किसी गरीब इंसान को या फिर गौ माता को खिला देना ऐसा करने

से तुम्हें पुण्य प्राप्त होगा मेरे बच्चे वहां अन्य भी बर्बाद नहीं होगा तभी दिखाने

को बर्बाद करके अन्नपूर्णा माता का अपमान मत करना जिस घर में अन्नपूर्णा माता अपमान

होता है है वहां खाने की कमी सदा बनी रहती है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपनी माता के इस

बात को ो स्मरण रखो कि तुम्हारा जीवन खुशियों में लाने के लिए यह गोल अति

आवश्यक है इस संसार में हर कोई चाहता है कि उससे सब प्रेम से बात करें उसकी इज्जत

करें यहां कोई नहीं चाहता कि मैं भी सामने वाले को प्रेम दू उसकी इज्जत करें और जब

तक यह सोच तुम्हारे अंदर नहीं आ जाएगी तब तक तो में भी दू दूसर से प्रेम नहीं मिल

सकेगा पहले अपने मन में इस सोच को लाओ यदि तुम्हें दूसरों से प्रेम चाहिए तो तुम्हें

पहले दूसरों को दो प्रेरित करना होगा सभी चाहते हैं कि हमें कोई परेशान ना करें

हमारा दिल नहीं दुखाया हम पर कभी कोई क्रोध ना करें किंतु हम यह भूल जाते हैं

कि इन चीजों की शुरुआत पहले हमें स्वयं के ऊपर करनी होगी स्वयं क्रोध करना बंद करना

होगा दूसरों को परेशान करना बंद करना होगा तब जाकर हमें भी खुशी मिलेगी और यह सब

चीजें तभी संभव है जब तुम्हारे मन में शांति यदि तुम्हारे मन में शांति नहीं है

तो तुम कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकते और यदि तुम्हारा मन शांत है तो इस संसार की

प्रत्येक चीज में तुम्हें शांति का अनुभव होगा और वहां शांति में उसी प्रदान करें

जिस खुशी की तलाश हर इंसान करता है जिस दिन तुम यह सभी चीजें करना प्रारंभ कर

दोगे उस दिन से तुम्हें पूर्ण शांति की प्राप्ति मिलने लगेगी और शांति तुम्हारे

जीवन को पूर्ण रूप से बदल देगी यदि तुम्हारे पास पैसे नहीं है और सारी सुख

सुविधाएं भी परंतु किसी एक चीज को ड लेकर तुम्हारे मन में अशांति है तो वह चीज

तुम्हारे मन को भटका कर रहेगी और किसी चीज को इच्छाएं कहते हैं जो अधूरी रहती है तो

मनुष्य भटकता रहता है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने मन की उन इच्छाओं पर काबू पाने

कि कोशिश करो जो तुम्हारे जीवन के लक्ष्य को भटकाती हैं यह याद रखो कि तुम्हारा

जीवन का लक्ष्य केवल तुम्हारा ही है यदि तुम्हें अपने लक्ष्य पर पूर्ण नियंत्रण

चाहिए वे स्वयं पर नियंत्रण करना होगा मेरे बच्चे में तुम्हारी माता तुम्हारे

लिए चिंतित है यदि तुम अपनी माता की बातों को समझ गए तो तुम्हारा जीवन आज से ही

बदलना शुरू हो जाएगा और मैं चाहती हूं कि तुम मेरे द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलो एक

माता अपने बच्चे से केवल इतना मांग रही है कि तुम सदा अच्छी तरह करके सच्चाई की राह

पर चले मेरे बच्चे तुमने जो मेरी भक्ति की है और भक्ति के चलते जो प्यार मुझसे किया

है वैसा ही प्यार तुम्हारी भी तुमसे ही करती है और जब भी तुम किसी राह पर भटकते

हो तो तुम्हारी मां को चिंता होने लगती है और मेरा हृदय रोने लगता है लेकिन मैं

जानती हूं कि तुम मेरी बहन बच्चे हो जो अपनी माता की थोड़ी सी चिंता से ही घबरा

जाते है इसलिए मेरे बच्चे अब समय आ गया है तुम्हें उचित मार्ग पर ले जाने का मैं

तुम्हारे जीवन का कल्याण चाहती और तोहे भी मेरी बातों को मानना होगा यही मेरा आदेश

है मैं नहीं चाहती कि मेरा बच्चा इस दुनिया की भीड़ में कहीं खो जाए या फिर

ऐसी ही भटकते रहे तुम्हारी मां तुमसे जितना अधिक प्रेम करती है उतना ही

तुम्हारी चिंता भी अब तो अपना ध्यान रखना और अपने जीवन को अच्छा करने के लिए मेरी

बताए हुए मार्ग पर चलना मैं चाहती हूं मेरे हृदय को मत दुखाना मेरे बच्चे अपनी

माता की बातों को आज मानकर कार्य करना मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है जय मां

काली हर हर महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे अत्यंत महत्त्वपूर्ण बात करना चाहता हूं जो भविष्य में

तुम्हारे साथ घटेगी मेरी बातों को ध्यान से सुनो आज मेरे मुख से निकला एक एक शब्द

तुम्हारे लिए भविष्यवाणी है आज मैं तुमसे यह बताना चाहता हूं कि तुम्हारे जीवन का

अंत कैसा होगा तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में क्या सोचेंगे मेरे बच्चे जितने

भी लोग इस संसार में जन्मे हैं उनका कोई ना कोई उद्देश्य होता है अपने उद्देश्यों

को पूरा करके हर किसी को एक ना एक दिन इस संसार को छोड़ना है अपनी जीवन यात्रा में

मनुष्य कई बार गिरता है कई बार संभलता है कभी हसता है तो कभी रोता है ऐसे में

मनुष्य हजारों सपने सजाता है कुछ के पूर्ण होते हैं और कुछ के अधूरे रह जाते हैं

मेरे बच्चे तुमने भी बड़े सपने सजाए हैं और उन्हें पूर्ण करने के लिए तुम कठिन

परिश्रम भी कर रहे हो किंतु अभी तक तुम्हें सफलता नहीं मिली है लेकिन मेरे बच्चे क्या तुमने कभी सोचा है कि तुम्हारे

ही जीवन में इतने दुख क्यों है जबक तो एक सच्चे इंसान किसी का दुख तुमसे देखा नहीं

जाता तुम्हारी भक्ति सच्ची है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में इतने संघर्ष इसलिए है

क्योंकि तुम कुछ और चाहते हो और मैं कुछ और चाहता हूं तुम जो पाना चाहते हैं उससे

कई गुना ज्यादा मैं तुम्हें देना चाहता है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है तो उस समय

भी अधिक लगेगा किंतु शीघ्र ही तुम्हारे जीवन में कई बड़े बदलाव होंगे और अपनी

बेहन और साहस के बल पर सफलता प्राप्त करेंगे किंतु तुम्हें मिलने

वाली यहां सफलता बहुत बड़ी नहीं लेकिन यहां वहां कुंजी है जो तुम्हें तुम्हारे

अंतिम गंतव्य तक ले जाएगा मेरे बच्चे जब तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में होंगे

तो तुम्हारा मन संतोष एवं शांति का अनुभव करेगा तुम्हारे जीवन का अंत बेहद दुखद

होगा तुम्हारी कोई भी सपने अधूरे नहीं रहे तुम अपना पूर्ण जीवन जीकर ही संसार त्याग

होगी और तुम अपने जीवन में कई ऐसे कार्य करोगे कि तुम्हारे जाने पर केवल तुम्हारे

परिजन को ही नहीं पूरे समाज को होगा हर किसी की आंखों में तुम्हारे लिए आंसू

होंगे और तुम्हारे जाने के बाद लोग तुम्हें याद करेंगे कुछ ऐसा होगा तुम्हारे

जीवन का किंतु अभी तो यह तुम्हारे जीवन का आरंभ में है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है

अब आगे बढ़ो मेरे बच्चे और अपने उद्देश्यों को पूरा करो मेरा आशीर्वाद सदा

तुम्हारे साथ रहेगा जाय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश

प्राप्त हुआ है तो तुम्हारे जीवन की समस्याएं आज समाप्त होने वाली है मेरे

बच्चे मेरी तीन बातों पर विशेष ध्यान देते हैं तुम्हारी हर परेशानी दूर हो जाएगी

सुबह से लेकर शाम तक और हर समय उठते बैठते जागते तुम्हारे मन में यही विचार हमेशा

लगा रहता है कि मेरे साथ ही ऐसा क्यों हो रहा है मैंने गलती की है मेरा क्या दोष है

मैंने तो कुछ गलत किया भी नहीं फिर भी मेरे साथ क्या हो रहा है मैं क्यों इतना

परेशान संसार के सभी व्यक्ति बहुत खुशहाल है और मेरे जीवन में कोई भी परेशानी मेरा

पीछा नहीं छोड़ रही है तुम्हारा मन सदा अपनी नाकामियों से परेशान रहता है कोई भी

नया कार्य प्रारंभ करते थे लेकिन अधूरा रहता है या पूरा होते होते रुक जाता है कई बार तो

तुम्हें ऐसा लगता है कि तुम किसी भी कार्य को नहीं कर पाओगे तुम्हारा हृदय यहां

मानने लगा है कि कोई भी काम सफल नहीं हो पा रहा है तुम्हारा विश्वास टूटने लगा है

डगमगाने लगा है तुम्हें ऐसा लग रहा है कि तुम्हारे जीवन में पता नहीं आगे क्या होने

वाला है आगे के सभी रास्ते बंद दिखाई दे रहे हैं ऐसा लग रहा है कि जीवन में कुछ

बचा नहीं है और तुम्हारा कोई साथ नहीं दे रहा है लेकिन मेरे बच्चे अभी भी कुछ

रास्ते खुले हुए हैं शजन पर चलकर तुम अपनी मंजिल को प्राप्त कर सकते हैं अपनी हर

परेशानी को समाप्त कर सकते हैं अगर कुछ कमी है तो उन पर चलने की आज मैं तुम्हें

तीन काम बताऊंगी बातों को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना और करना है पहले जीवन में

प्रतिदिन संध्या काल तुम अगले दिन के लिए यह निश्चय कर लो कि आज की गई गलती को कल

वोके कहने का अर्थ है कि पीछे की जो भी चीजें छूट रही

उनको नहीं दोहराएंगे आगे जब तुम्हें चलना है तो तुम्हें एक नए रास्ते को बनाते हुए

पीछे की गलतियों को छोड़कर चलना है तभी तुम उस मुकाम पर पहुंच सकते हैं जहां तक

पहुंचना चाहते हो दूसरा खुद के मार्ग खुद बना सुनो सबकी करो अपने हृदय की तुम्हारा

हृदय जब सबकी बातों को सुनने के बाद जो कहता है अंदर से जो विश्वास तुम्हारा जाता

है उसी को करो और तीसरा तुम सोच से जदा हो और काम करते हो जो भी विचार

तुम्हारे मन में आता है उस पर तुरंत काम करना प्रारंभ कर देना चाहिए ना कि तुम

सोचते सोचते अपने समय को व्यर्थ में दवाओ भले ही तो चिंताओं से घिरे हुए कितनी भी

भोजन से मायूस हो चुके हो फिर भी यदि तुम्हें इन परेशानियों से निकलना है तो

किसी भी मार्ग पर तुरंत काम करने से तुम्हारे समय की बचत होगी और उस पर

जितना जल्दी काम कर सकते हैं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से निकल जाएगा और उस

पर जितना जल्दी हो सके तो काम कर सकते हो नहीं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से

निकल जाएगा वही तुम्हें भी प्राप्त होगा जो तुम्हें चाहिए इस बात का ध्यान रखना

परेशानियां तब भीड़ की है जब तुम परेशानियों को देखकर अपने कदमों को पीछे

हटा दे इसलिए कभी भी परेशानियों से डरो मत उसका डटकर सामना करो जो डटकर सामना करके

आगे जाने की हिम्मत रखते हैं निश्चित ही हर परेशानी का सामना

कर लेते हैं क्योंकि किसी भी चीज से डरना ही असफलता का मुख्य कारण है और संसार में

ऐसी कोई चीज नहीं जो तुम नहीं कर सकते अगर कुछ कमियां है तो सोचकर केवल मन लगाकर

करने की जैसे ही इसे करोगे हर परेशानी से निकल जाओगे अब जो तुम्हें बताने जा रहे

हैं यह बात आज तक तुम्हें किसी ने भी नहीं बतानी होगी मेरे बच्चे तुम्हारी सफलता का

रहस्य यहां छुपा हुआ है तुम प्रयास करते हो दूसरे को देखने का तुम

देखने का प्रयास करती हूं कि वह जीवन में आगे कैसे बढ़ रहा है आगे बढ़ने के लिए बात

क्या कर रहा है और जो भी बात कर रहा है उनका उन्हें लाभ कैसे होगा तुम प्रयास

करते हैं उनके जीवन में देखने की उनकी गतिविधियों को तुम देखने और समझने का

प्रयास करते हैं इसलिए तुम पीछे छूट जाते हैं जीवन में यदि तुम आ आगे बढ़ना चाहते

हो तो तुम्हारी दृष्टि भी आगे की बोली चाहिए कदम भी उसी मार्ग पर आगे बढ़ाना

चाहिए अपनी गतिविधियों को देखो अपनी योजनाओं को देखे अपने प्रयासों को अपने

अनुभव को समझो और उसी मार्ग पर आगे हैं ऐसी कोई सफलता नहीं जो तुम्हें प्राप्त

नहीं होगी तो में कोई ना कोई विशेष है और तुम में कोई ना कोई दोष भी है यह

प्राकृतिक तुम्हें क्या सिखाती है यह सभी एक दूसरे से लड़ते नहीं है एक दूसरे के

लिए बाधा नहीं बनते बस अपना कर करते हैं सूर्य अपने प्रकाश से वनस्पतियों के पेड़

पौधों को जन्म देता है में वर्षा करते हैं लोग होते हैं पर्वत की यहां चलता है उस

वसा को एक दिशा देती है एक धारा बनती है जो बहती है यह सब क्या है यह सब एक संयोग

है चक्र है सभी साथ मिलकर अपना कन करते हैं अभी यहां प्राकृतिक जी जीवित है यही

तो वे भी करना है सहयोग में रहकर काम करना है किसी के लिए बांधा नहीं बनना है किसी

को छोटा नहीं समझना है ऐसे ही करते रहना है सबके साथ मिलकर कम करना है

प्राकृतिक ब्लीच भी यही सिखाती है मेरे बच्चे एक प्रबल मन कठिन परिस्थितियों को

एक चुनौती के रूप में देखता है और चुनौतियों में अवसर को देखता है यही

तुम्हें भी करना है इस संसार में किसी को भी दोषी मानने से तुम्हा सी समस्या सुलझ

नहीं जाएगी इसलिए इस संसार को दोष देने के स्थान पर उस समस्या की जड़ तक जाए उसे

समझो और अपने इस मन को प्रबल बना यदि तुम्हारा मन प्रबल हो गया तो इस संसार में

बड़ी से बड़ी कठिन से कठिन परिस्थितियां क्यों ना आ जाए तुम्हारे जीवन में बड़ी से

बड़ी समस्या क्यों ना बन जाए तुम अपने जीवन में आसानी से उसे पार कर सकते हो

क्योंकि तुम मेरे प्यारे बच्चे और मैं तुम्हें कभी दुखी नहीं देखना

चाहती इसलिए मेरी बातों का विशेष ध्यान देना मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

जय हो माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम्हारी आंखों के समक्ष यदि मेरा संदेश

आया है तो निश्चित ही तुम्हें आज मेरा यह एक वरदान प्राप्त होगा जिसके लिए पूरा

संसार तरस रहा है वहां तुम्हें प्राप्त होगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम बहुत

भाग्यशाली हो तुम्हारे अंदर यहां एक बहुत अच्छा गुण है कि तुम किसी को गिराने की

कोशिश नहीं करते हो लेकिन अब मेरी कही हुई बात पर विशेष ध्यान दो संसार में हर

व्यक्ति को क्या चाहिए किस चीज में उसकी खुशी है भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यक्तियों

की भिन्न-भिन्न प्रकार की खुशियां हो रही है लेकिन खुशियां कुछ चीजों से ही लगभग

सबकी जुड़ी होती है जैसे कि किसी को धन चाहिए किसी को संतान चाहिए किसी को घर

चाहिए किसी को व्यवसाय चाहिए लेकिन हर चीज जुड़ी हुई केवल एक चीज से है और वह चीज है

इस संसार में प्राप्त होने वाले आपकी अच्छी किस्मत अगर आपकी किस्मत अच्छी होगी

तो आपको कोई भी चीज मुफ्त में मिल जाएगी जरूरी नहीं कि आपको पैसे ही टमाटर थोड़ी

चीज प्राप्त हो बल्कि आपकी बुद्धि इतनी बलवान होगी कि आप उससे कम पैसों में भी

बड़े से बड़े मुकाम पर पहुंच सकते हैं क्योंकि संसार में बड़े मुकाम पर पहुंचने

के लिए तुम्हें जो चाहिए वह मैं तुम्हें आज बताऊंगी और वहां तक पहुंचने का रास्ता

भी बनाम लेकिन तुम भी मुझसे एक वादा करो कि तुम वहां तक पहुंचने के लिए पहल स्वयं

करो करोगे इसके लिए तुम्हें बुरा बनना होगा एक बात ध्यान रखना जितने ज्यादा बुरे

बनोगे उतना ही सफल हो जाओगे बुरे का अर्थ किसी का गलत करना नहीं होता बुरे बनो

स्वयं के लिए इस तरह बन जाओ के जीवन में जो तुम लोग उसे प्राप्त करने की शक्ति

तुम्हारे पास स्वयं ही आज भी अपने मन को दृढ़ निश्चय लेने वाला एक कठोर पत्थर की

तरह बना लो यदि तुम्हारे निर्णय पर तुम पूर्ण रूप से कार्य करने वाला और अपने कहे हुए वचनों पर

खरा उतरने वाला बच्चा तो तुम रामचंद्र जी के बारे में स्वयं जानते हो कि उन्होंने

अपने वचनों पर खरा उतरने के लिए सीता माता को लेकर मतभेद निवास किया था और वह इसलिए

महान और पूजनीय स्थान पर प्राप्त हुए जीवन में उन्हें महाराजा बनाया गया और ऐसे कई

राजा है जो अपने वचनों पर खरे उतरे हैं तो जीवन में हर माह उनको मंजिल पर पहुंचाना

है मेरे बच्चे तुम्हें मुझसे डरने की आवश्यकता नहीं क्योंकि मैं भले ही

तुम्हारे समक्ष गांधी रूप में प्रस्तुत लेकिन मैं दर असल तुम्हारी पार्वती मानी

और मेरा हृदय बहुत ही कोमल है मेरे बच्चे शक्ति ता उत्पन्न होती है जब तुम स्वयं उस

शक्ति को अपनी ओर आकर्षित करते हो जब तुम स्वयं अपनी बोली में हर बात पर खरे उतरने

लगते हैं और अपने वचनों से पीछे नहीं हटते तो स्वयं तुम्हारे अंदर शक्ति विद्यमान हो

जाती और शक्ति में तुम्हें जो चाहिए उसे प्राप्त करने के लिए तुम अपने मन को एकांत

में शक्ति को अर्जित करने की कोशिश करो जितना तुम अपने मन को शांत रखोगे हर

बाधाओं के नहीं और शांत मन से अपने हृदय की विचारधारा को उत्पन्न होने दोगे तभी

पूर्ण लाभ उठा पाएंगे जी में जब भी तुम्हारी मुश्किल घड़ी होती तो मेरी शक्ति

को तभी महसूस कर पाएंगे जब तुम अपने आप को स्वयं गलत कार्यों से बचाकर रखनी होगी

इसके साथ कि आपके अंदर जो शक्ति उत्पन्न होती है वह सही गलत का मार्गदर्शन भी करती

है और गलत रास्तों पर जाने से रोकती है और सही मार्ग पर तुम्हें आगे बढ़ाने की और

ज्यादा शक्ति प्रदान करती है तुम निश्चित पूर्व ग्रहो में तुम्हारी रक्षा करेंगी

मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ रहेगा जय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे कुछ भी

हो जाए अपने विश्वास को कभी टूटने मत देना तुम्हारे विश्वास की डोर बहुत मजबूत है

क्योंकि मैंने देखा है तुमने हर गंभीर समस्या चाहे कैसी भी परिस्थितियां क्यों

ना हो उसका सामना में दर्ज कर किया है मेरे बच्चे मैं तुमसे यही कहना चाहती हूं

कि तुम एक बहादुर बच्चे हो इतने बहादुर कि मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व होता है

क्या तुम्हें याद है तुमने अपनी जो परिस्थितियों का सामना किया था उसमें तुमने बहुत बहादुरी दिखाई थी मेरे बच्चे

तुमने मेरे ऊपर सब छोड़ दिया था और अपने कार्य को निरंतर करते जा रहे थे जो माह में उस

कार्य को कर रहे थे जो बहुत ही ज्यादा कठिन था परंतु तुमने हार नहीं मानी और

अपने सफर में आगे बढते रहे इसी आज मैं तुम्हें यह याद दिलाने आई कि जैसे तुमने

पहले अपनी हर समस्या का डटकर सामना किया है वैसे आगे भी

हमेशा करते रहना और मैं तुमसे यही कहना चाहूंगी कि आज मैं तुमसे बहुत प्रसन्न हूं

और मैं तुम्हें आशीर्वाद दे दे कि तुम्हारी जितनी भी इच्छा है बहुत जल्द से

जल्द पूरी हो जाए इसलिए बहुत सारी चिंता त्याग दो और अपनी मंजिल की ओर आगे बढ़ते

रहो मेरे बच्चे मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व है कि तुम्हें संसार में अपनी

सकारात्मक ऊर्जा फैला र हो मैंने तुम्हें इस प्यारे से संसार में भेजा है यह

सकारात्मक ऊर्जा लोगों को भी सिखाओ लोगों से अच्छे कार्य कर रहा मेरे बच्चे हमेशा

अच्छा ही सोचो यदि कोई किसी की बुराई करता है श्र निंदा करता है तो तुम्हें उन

बुराइयों से बचना है क्योंकि यदि तुम बुराई करोगे तो तुम उसी पद पर आगे जाओगे

जो मैं कभी नहीं चाहती है इसलिए जीवन में कभी ऐसा मत करना मेरा आशीर्वाद हमेशा मेरे

बच्चों के साथ ही है मेरे बच्चे आज का यह संदेश सबको प्राप्त नहीं होगा जिन्हें भी

यह संदेश आज प्राप्त होगा वह एक पुष्टिकरण होगा कि तुम्हारी कोई इच्छा पूरी होने

वाली है तुमने जो प्रार्थना की थी मैंने उसे स्वीकार कर लिया मेरे बच्चे मैं जानती

थी कि हाला अभी ठीक नहीं है तुम्हारा मन किसी कार्य में नहीं लगता तो मैं कुछ समझ नहीं

आता तुम अपने आप को फंसा हुआ पाते हो और अपनी पीड़ा कहीं भी तो किस से कहे मेरे

बच्चे तुम्हें मैं असमंजस में दे रही परंतु आज मैं तुमसे एक वादा करती हूं

शीघ्र सब कुछ अच्छा हो जाएगा यह जीवन से चलने लगेगा तोहे कामयाबी नहीं मिलेगी ऐसा

हो सकता है अपने मन में यह विचार लाते क्यों हो मेरे बच्चे जैसे ही तुम्हारे मन

में यह विचार आते है तब मैं स्वयं तुम्हें बताती है कि रुक जाओ आज भी तुम्हें कुछ

संकेत प्राप्त हुए होंगे इस संदेश को पढ़ने के बाद बा भी कुछ संकेत दूंगी और

तुम्हें आभास हो जाएगा कि मैं क्या कहना चाहती मेरे बच्चे आज केवल किसी कारण से यह

संदेश तुम्हें प्राप्त हुआ है कि तुम कामयाबी के बहुत करीब आ गए जब मैं

तुम्हारे लिए कुछ खूबसूरत योजना तैयार करते हैं तब तुम्हें कुछ विशेष राखी होती

है यह संकेत बड़े ही अनमोल होती है मेरे बच्चे अब इन्हें तो तुम्हें स्वयं ही

समझना होगा कि ऐसे कौन से अनमोल संकेत है जो तुम्हें निरंतर प्राप्त हो रहे हैं

मैंने तुम्हारे लिए जो योजना तैयार की है उस योजना के द्वार खुल रहे हैं जैसा कि

मैंने तुम्हें पिछली बार भी कहा था आने वाला मौसम चमत्कार का है जहां लगातार

चमत्कार ही प्रारंभ होंगे अब रोज एक सुबह खास होगी जहां चार और चमत्कार ही चमत्कार

होगा मेरे बच्चे तुम इस चमत्कार को दिव्य दृष्टि से देख सकते हैं बदलाव को निकट है

तुम अपने हौसलों को मजबूत करो तुम बदला के बहुत निकट पहुंच गए हैं दीप प्रज्वलित हो

चुका है जो तुम्हारे अंधकार को मिटाया जाए अपने मन से सभी भाई निकाल दो देखने का

नजरिया बदलो खुशियां चारों ओर है अपने सारे गम भुलाकर खुद को खुशियों के लिए

तैयार करें मेरे बच्चे जहां धूप है वहां छाया भी होगा रात्रि के बाद ही सुनहरा

सुबह आता है जैसे अभी है तो जल है इसी तरह अगर जीवन में कोई परेशानी है तो उस

परेशानी का अंत भी निश्चित होता है तब तुम क्यों इतना उदास होते इसीलिए मैं कहती

चिंता छोड़कर अपने आप से प्रेम करो क्या हालत बना ली है तुमने अपनी अपना ख्याल रखो

अपने आप से प्रेम करना ही छोड़ दिया है तुमने मेरे बच्चे मैं तुम्हारे जीवन में

केवल वही करती जो तुम्हारे लिए सही है दो दिनों के अंदर तुम्हें कुछ विशेष संकेत

प्राप्त होंगे यह संकेत तो में निद्रा के स सनों में भी बोल सकते हैं जिससे तुम्हें

सुनिश्चित हो जाएगा कि जल्द ही सब बदलने वाला है मैं चाहते हैं कि चिंता मुख होकर

मुस्कुराओ मैं चाहती हूं कि तुम अपने जीवन में जीत हासिल कर इसकी शुरुआत खुद स्वयं

से करो आगे मैं तुम्हारे रथ को संभाल लूंगी देर होने से पहले तुम्हें आज यह

संदेश प्राप्त हो गया है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन की दिशा अब पूरी तरह से

बदलने वाली है आने वाले समय के बारे में मैं तुम्हें कुछ बताना चाहती इसलिए

तुम्हें इस बात को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना होगा मेरे बच्चे आने वाला समय

तुम्हारे जीवन का सबसे अच्छा और महत्त्वपूर्ण समय होगा तुम्हारे जीवन को

एक नया आया मिलेगा तुम बाहें फैलाकर आने वाली खुशियों का स्वागत करना अब समय

परेशान रहने का नहीं है अब समय है खुशी से झूमने का सुबह उठकर खुली हवा में सांस

लेना और प्राकृतिक के सु

मेरे प्रिय बच्चे कैसे हो तुम आज तुम्हारी काली माता तुम्हारे लिए एक ऐसा संदेश लेकर

आई है जिसे जानकर तुम प्रसन्नता से बहुत ही गदगद हो जाओगे क्योंकि मेरे बच्चे इस

संदेश में कुछ ऐसा ही है जिसे जानने के बात तुम्हें बहुत ही प्रसन्नता होगी मेरे

बच्चे तुम्हारे शत्रु जो तुम्हें बहुत परेशान करते थे अब उनके परेशान होने के

दिन आ गए हैं अब उनके घरों में इस प्रकार से कला और उपद्रव ने निवास कर लिया है

क्योंकि आपस में ही लड़ झगड़ कर मर रहे हैं वह इस प्रकार से लड़ रहे हैं कि एक

दूसरे के खून के प्यासे हो गए हैं उनके अंदर जो आपस का प्रेम भाव था वह सब समाप्त

हो गया है और वह अब एक दूसरे के खून के प्यासे हैं उनकी लड़ाई से पूरे मोहल्ले

में सनसनी मची हुई है मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रुओं की ऐसी दशा देखकर मैं तुम्हें

बताने के लिए आई हूं इसलिए मेरे मे बच्चे अगर तुम अपनी काली माता को दिल से मानते

हो तो इस वीडियो को अभी लाइक कर दीजिए और चैनल को सब्सक्राइब करके कमेंट में जय हो

माता रानी और हर हर महादेव जी टाइप कर दीजिए और साथ ही साथ अपने नाम का पहला

अक्षर दर्ज कर दीजिए ताकि हम तुम्हारे जीवन की सभी समस्याओं को दूर करने में मदद

कर सके मेरे बच्चे यह संदेश तुम्हारे लिए बहुत ही खास है क्योंकि इसमें आगे

तुम्हारा भी जीवन से जुड़ी हुई बहुत रोचक और आवश्यक बातें हैं जो तुम्हें आगे चलकर

तुम्हारे शत्रुओं की चाल से बचाएंगे और उनकी प्रत्येक योजनाओं को तुम्हें सूचित

करेंगे मेरे बच्चे जब किसी के कर्मों का घड़ा भर जाता है तो वह एक दिन फुट ठा

आवश्यक है मनुष्य को यह पता नहीं होता है कि जो मैं यह करू रहा हूं यह मेरे साथ

कैसा परिणाम लेकर आएगा बस वह करता रहता है वह सोचता है कि कि मैं जो कर रहा हूं उसे

कोई नहीं देख रहा है और ना मुझे कोई रोकने वाला है और नमो मुझे कोई समझने वाला है

किंतु उसका यह भ्रम होता है मेरे प्यारे बच्चे तुम यह बात हमेशा याद रखना अगर

तुमने किसी के साथ गलत किया है तो किसी ना किसी दिन तुम्हारे साथ भी वैसा ही होगा

यही आज तुम्हारे शत्रुओं के साथ हुआ है उन्होंने तुम्हारे साथ बहुत ही गंदा

व्यवहार किया है तुम्हारे हर कार्य को बाधित किया है तुम्हें हर प्रकार से

पीड़ित और परेशान किया है इसलिए अब उनके कर्मों का दंड मिल रहा है मेरे बच्चे आपके

जीवन में कुछ बहुत बड़ा घटित होने वाला है और तुम्हें इस बात के बारे में पूर्ण रूप

से अवगत कराना चाहती इसलिए मैं तुम्हारे पास आए हूं मेरे बच्चे तुम्हें सबसे पहले

मेरी बातों को सुनकर डरना नहीं है बल्कि तुम्हें केवल बातों को समझना है यदि तुम

समझ गए तो आने वाली उस उस चीज का सामना तुम बहुत आराम से कर पाएंगे क्योंकि जीवन

में घटित होने वाली अच्छी या बुरी चीजें बार-बार जीवन में आने का अर्थात प्रवेश

करने का का पूर्ण रूप से प्रयास करती है तो इसका अर्थ यह है कि तुम जब भी किसी

कार्य को करते हो तो उस कार्य से आकर्षित समय तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने का

प्रयास करता है अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी और वह बार-बार प्रयास करता है कई

बार तो अच्छा होते होते रह जाता है और कई बार बुरा होते होते रह जाता है उसका कारण केवल

इतना होता है कि तुम ध्यान नहीं देते और उसके साथ-साथ यदि कुछ बुरा होने वाला होता

है तुम्हारे पास देवीय शक्तियां होती है तुम अपने आप को सुरक्षा कवच में

सुरक्षित रखते हो इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें कोई ऐसी शक्ति नुकसान नहीं पहुंचा

पाती जो तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहती है इसके कई अर्थ होते हैं लेकिन लेकिन आज जो

मैं बताने आई हूं उसको सुनने से पहले एक बार जाए वह माता रानी जरूर लिखना इससे

मुझे बहुत प्रसन्नता होगी मेरे बच्चे जब तुम्हारे करीब कोई भी ऐसा इंसान यदि आता

है जिससे तुम्हें खतरा महसूस होता है या तुम्हें डर लगने लगता है या तुम्हारे हृदय

को यह आभास होता है कि इस व्यक्ति से तुम्हें नुकसान पहुंच सकता है तो तुम्हारा

मन बार-बार डरने लगता है और तुम से दूर हटने लगते हो तो उसके करीब नहीं जाते

लेकिन कई बार ऐसा देखने वाला व्यक्ति जिससे तुम्हें बिल्कुल

भी ना लगे तो तुम उसे पहचान ही नहीं पाओगे कि तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहता है या

नहीं चाहता या तुम्हारे करीब आने वाली ऐसी अदृश्य शक्ति है जो कि तुम्हें दिखाई नहीं

देती लेकिन ना हो तो भी नुकसान पहुंचा सकती है अब जो चीज तुम्हें दिखाई नहीं

देती उसे केवल हृदय से आभास कर सकते आंखों से देख नहीं सकते क्योंकि वह हवा

में विलीन होती है लेकिन मेरे बच्चे वहां कोई कमजोर शक्ति नहीं होती बल्कि इतनी

शक्तिशाली शक्ति होती है कि तुम्हें नुकसान पहुंचा सकती है लेकिन जब तुम्हें

कोई चीज दिखाई दे तो तुम उससे बचने का प्रयास कैसे कर सकते हैं यहां भी जानना

जरूरी है कि जो व्यक्ति तुम्हें दिखाई दे रहा है और यदि वह तुम्हें खतरा महसूस नहीं

कर पा रहा ले लेकिन तुम्हें उससे खतरा है उससे कैसे बचना है इसके साथ-साथ तुम्हें

एक बात को जान लेना होगा जो मैं तुम्हें आज बताऊंगी तुम्हें उस बात को भी जान लिया तो निश्चित

ही आने वाली चाहे कोई भी हो लेकिन तुम उससे बच जाओगे सबसे पहले तो तुम्हें इस

बात को जान लेना जरूरी है कि यदि तुम मेरी आधी अधूरी बातों को सुनोगे तो धूप से बचने

का रास्ता प्राप्त नहीं हो पाएगा यदि तुम पूर्ण रूप से बचना चाहते हो तो तुम्हें

मेरी पूरी बातों पर ध्यान देना होगा और अपने मन में हर बात को उतारना होगा

क्योंकि मेरे बच्चे एक चीज से बच सकते हो तो दूसरी से खतरा हो सकता है यदि सभी से

बचना है तो तुम्हें कुछ बातों को जान लेना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि कई बार मैं

तो तुम्हें बचा लेती है लेकिन तुम कहीं ना कहीं कोई ऐसी गलती कर देते हो तो नुकसान

तुम्हारा होने के साथ-साथ मुझे भी होता है इसलिए मेरे बच्चे आज मैं

तुम्हारी मां तुम्हें पूर्ण रूप से बचाने आई तुम किसी के नुकसान पहुंचाने पर एक ही

रास्ता ऐसा नहीं होना चाहिए कि तुम्हें कोई नुकसान पहुंचा पाए क्या तुम्हें उस

बात के बारे में अवगत ना हो और यही मेरा धर्म बदला है क्योंकि मैं एक मां और मां

अपने बच्चों की हर प्रकार से रक्षा करती है वह हमेशा अपने बच्चों का भला चाहती है

उसके मन में हमेशा यही डर लगा रहता है कि कहीं मेरे बच्चे को कोई नुकसान

ना हो जाए किसी भी कारण पास और यही मेरा है मैं भी तुम्हें बार-बार के इसलिए बताती

हूं और आगाह करती हूं जिससे कि तुम्हें जीवन में कोई भी परेशानी ना हो

क्योंकि मेरे बच्चे में मां होकर अपनी ममता को कैसे रोक सकती सबसे पहली बात तो

तुम्हें इस बात का स्मरण रखना होगा कि स्त्री हो या पुरुष यदि उसे कोई स्त्री या

उसे कोई पुरुष जबरदस्ती मित्रता ना चाता है अर्थात तुम्हारे मना करने पर भी बहुत

बार-बार तुमसे बातें करने का प्रयास करें बार-बार तुम्हारे करीब आने का प्रयास करें

और तुम उसे अनदेखा कर रहे हैं फिर भी वह तुम्हारे करीब आती चली जा रही है यहां

तुम्हारे करीब आता चला जा रहा है तुमसे मित्रता बनाने के लिए बार-बार कहता है और

तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारा मित्र बनना चाहता है या चाहते हैं तो तुम

निश्चित ही इस बात को समझने की बहुत कोई साधारण इंसान नहीं है बल्कि जो तुमसे

जबरदस्ती मित्रता निभाने की या तुम्हारे अनदेखा करने के पश्चात भी उनसे मित्रता

बनाने की कोशिश कर रही है वह जरूर कोई ना कोई परेशानी लाने वाली है क्योंकि मेरे

बच्चे उसके इरादे नेक नहीं है जो अच्छा इंसान होता है जिसकी भावनाएं अच्छी होती

है मित्रता वो भी करते हैं लेकिन ना केवल सामने वाले की भावना को देखकर मित्रता

करती है जबरदस्ती किसी के ऐसे पीछे नहीं पड़ती है और जो ऐसा करते हैं निश्चित ही

उनके मन में कुछ ना कुछ सामने वाले के प्रति गलत भावना रहती है वह कुछ ना कुछ

नुकसान पहुंचाना चाहते हैं और इसी इरादे से वहां बार-बार करीब आने की कोशिश करते

हैं जिससे कि जबकी कभी ना कभी उनसे मित्रता करें और इसी का फायदा उठाकर आपका

नुकसान करते हैं अर्थात आपके जीवन में कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान करेंगे जिससे कि आपको

जीवन भर पछताना पड़ेगा इसलिए मेरे बच्चे ऐसे व्यक्ति से सबसे पहली बात तो दूर रहना

प्रारंभ करो और दूसरा इस बात को ध्यान रखें कि यदि तुम्हें कोई भी ऐसी मानसिक

स्थिति रही है अर्थात तुम्हारा मन बार-बार किसी भी मांग को लेकर परेशान हो रहा है या

क्यों बेवजह से किसी बात से सबसे ज्यादा डर रहे हो तो तुम्हें एक बात को स्मरण

रखना चाहिए कि कोई ना कोई ऐसी शक्ति तुम्हें घेर रही है जो कि तुम्हारे हृदय

के और मस्तिष्क के अंदर नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न कर रही है अर्थात तुम्हारे मन के अंदर एक ऐसा

दृष्टिकोण बन रहा है जो कि किसी भी कार्य को ना करने के लिए उकसा रहा है और

तुम्हारी शक्ति को कमजोर कर रहा है अर्थात कहने का अर्थ यह है कि एक नकारात्मक ऊर्जा

तुम्हारे जीवन में प्रवेश कर रही जिस ऊर्जा को तुम्हें नष्ट करना होगा और यह

केवल तुम अपने ईष्ट देवता के मंत्रों का उच्चारण करके भी कर सकते हो या तुम अपनी

माता का नाम का उच्चारण करो या फिर हनुमान चालीसा चालीसा का पाठ करें क्योंकि

कुछ-कुछ शक्तियां ऐसी हैं जिनके मंत्रों का लगातार उच्चारण यदि तुम करते हो तो

निश्चित ही तो उस शक्ति का उच्चारण करते-करते उस शक्ति को अपने इर्दगिर्द विद्यमान कर लोगे इस बात का ध्यान रखो

कि कभी भी किसी भी शक्ति के मंत्र उच्चारण करने से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में

प्रवेश करने लगती है और तुम्हारे के विद्यमान हो जाती है तुम्हारी रक्षा करने

के लिए क्योंकि तुम स्वयं ही उस शक्ति को अपनी हो आकर्षित करते हैं अपने मुख से

निकले हुए एक एक शब्द से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में धीरे-धीरे करके प्रवेश

करने लगती है और यदि कोई भी नकारात्मक ऊर्जा यदि तुम्हारे मस्तिष्क में प्रवेश

करके विद्यमान हो जाती है और उसे अपने मस्तिष्क से अपने हृदय से अपने पूरे शरीर

से विकास नहीं पाते हो तो उसका मास तुम्हारे शरीर पर होने लगता है चाहती है

जैसा तुम करते हो अर्थात बहुत कुछ ना कुछ तुम्हारे जीवन में बेकार करने के लिए आती

है और बिगाड़ करके ही बाद जाती है क्योंकि उसका काम ही ऐसा होता है कहीं पर भी

विकराल रूप धारण करना अर्थात कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान कर ना किसी के प्रति मां फिर

तुम्हारे शरीर में प्रवेश करके दूसरों का नुकसान करता है क्योंकि किसी से उसको

प्रसन्नता होती है मैं तुम्हें डराना नहीं चाहती और ही मेरा उद्देश्य है तुम्हें

लड़ा था लेकिन यह सच है कि कुछ कुछ ऊर्जा ऐसी होती है किसी भी व्यक्ति की बुद्धि को

पूर्ण रूप से बंद कर देती है और उसकी सोचने समझने की शक्ति को क्षीण कर दे दी

है इसलिए कभी भी अपने ऊपर ऐसी ऊर्जा को विद्यमान मत होने दो क्योंकि यदि ऐसी

ऊर्जा विद्यमान हो जाती है तो तुम्हारे जीवन में बहुत बड़ा संकट उत्पन्न

करती है और खतरा भी लेकर आती है यदि तुम्हारे मस्तिष्क के अंदर बार-बार गलत

विचारधाराएं उत्पन्न हो रही है बिना वजह से कुछ ऐसी मानसिक स्थिति हो गई है जिसमें

तुम दूसरों का अच्छा ना सोचकर गलत भावना लेकर आ रहे हो या तुम्हारे मन के अंदर

अपने आप ही गलत भावना उत्पन्न हो रही है और तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारे

जीवन में तुम्हारे मन की जो स्थिति है वह एक अलग दिशाओं में चली गई है तुम्हें ऐसा

नहीं सोचना चाहिए फिर भी तुम्हारे मन की भावनाओं को काबू में नहीं रख पा रहे

बार-बार दुर्गुण धारणाओं को रोकने का प्रयास कर रही लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा

है तुमसे और तुम जानबूझ कर भी यह नहीं करते लेकिन तुम्हारे जीवन में ऐसा हो रहा

है यह सत्य है कि कई बार जीवन में हम जो सोचते हैं हम चाहते नहीं है और जो हम

चाहते हैं वैसा सोच नहीं पाते तो ऐसे में तुम समझ लेना कि तुम्हारे

मस्तिष्क पर किसी और चीज का वास हो चुका है अर्थात तुम्हारे हृदय में तो ईश्वर का

वास है लेकिन तुम्हारे मस्तिष्क में एक ऐसी ऊर्जा विमान हो चुकी है जिस ऊर्जा को

तुम्हारे मस्तिष्क में विद्यमान होने पर उसने तुम्हारी दिशाहीन बोर इसलिए मेरे

बच्चे शीघ्र ही तुम्हें मंत्रों का उच्चारण करना चाहिए और इन्हीं मंत्रों के उच्चारण से तुम्हारे मस्तिष्क में ईश्वर

का वास होगा और जो तुम्हारी गलत दिशा में मोदी हुई रुख है वह सही दिशा में चलने

लगेगी मेरे बच्चे इस बात को हमेशा स्मरण रखना कि तुम बहुत सोच समझकर ही किसी भी

कार्य को चुनना और यदि तुम बार-बार ऐसा आभास करने लगे होग यह तुम्हारा सूज हुआ

तुम्हारा नहीं है किसी और का है तुम्हारे हृदय को ऐसा आभास होने लगा है तुम इस पर

पूर्ण रूप से विचार करना और शक्तिशाली मंत्रों का उच्चारण प्रारंभ करना तीसरी और

सबसे जरूरी बात में तुम्हें बताना चाहती कि आज के युग में अर्थात आधुनिक युग में

जो लड़कियां हैं सभी सही है लेकिन अभी भी कुछ लड़कियां ऐसी होती है जो किसी भी

लड़की के जीवन में ऐसा नुकसान करके जाती है और नुकन के लिए ही वह प्रेम का संबंध

बनाती है वह सामने वाले को केवल लूटने और बर्बाद करने के इरादे से उसके जीवन में

आती है यदि कोई भी लड़का भावुक होता है लड़कियां उसका कई बार फायदा उठाती है हर

लड़की ऐसी नहीं होती लेकिन कुछ ऐसी होती हैं मैं उन्हें लड़कियों के लिए यह बताना

चाहती मेरे बच्चे तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लाने का या किसी के ऊपर मुसीबत आने

का कारण मत बन क्योंकि यदि तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लेकर भी

अर्थात दूसरों के प्रेम का फायदा उठाओ के और यदि लड़का ऐसा करता है लड़कियों के साथ

अर्थ किसी भी लड़की की इज्जत नहीं करता उसका मान सम्मान नहीं करता उसकी इज्जत का

ख्याल नहीं रखता तो उन दोनों के ऊपर निश्चित ही संकट आता है क्योंकि वहां आ

रही बुद्धि में गलत बात जो दोनों में से किसी की बुद्धि में आ सकती है उसके जीवन

को गलत दिशा में मोड़ कर ले जाती है और उसके कर्मों को भी एक ऐसी दिशा में मोड़

दे दी है जिससे कि उसकी बुद्धि तो कार्य कर पाती है और ना पैसा व्यक्ति सोच पाता

है क्योंकि एक व्यक्ति तो भावनाओं से किसी के साथ जुड़ता है लेकिन एक व्यक्ति केवल

स्वार्थ वर्ष किसी को अपने साथ जुड़ता है और अपने मन के अंदर षड्यंत्र भरकर रचना है

उसकी बुद्धि में केवल दूसरे को नुकसान पहुंचाने का और कुछ ना कुछ ऐसी भावना जो

किसी के प्रति किसी को नुकसान पहुंचाने की होती है और खुद का फायदा करने की होती है

बस इसी इरादे सेवा व्यक्ति ऐसा करने की कोशिश करता है

मेरे बच्चे जो लोग ऐसा करते हैं फोन को मैं आज सावधान करने आई क्योंकि यदि तुम

दूसरे के जीवन में ऐसा करोगे तो तुम्हारे जीवन में भी मुसीबत आएगी तुम्हारे जीवन

में भी संकट आएगा क्योंकि तुम अपने गमों को एक गलत दि में ले जाना होगा और जिन

लोगों के साथ ऐसा होता है उन्हें भी सावधान करने आए मेरे बच्चे तुम किसी से

प्रेम करो लेकिन ऐसा प्रेम मत करो जिसमें तुम ठगे जाओ क्योंकि थोड़ा को किसी से

प्रेम करो सोच समझकर प्रेम करो तुम्हें यदि किसी व्यक्ति से प्रेम हो जाता है या

तो भी कोई बहुत अच्छा लगता है इसमें गलती तुम्हारी नहीं है क्योंकि विदेश से प्रेम

होता है तभी जब आंखों को कोई चीज ती है और हृदय उसके पीछे भाग पड़ता है और तुम हृदय

के पीछे भाग पड़ती हो तुम चलते चले जाते हैं एक ऐसी दशा में जहां पर सामने वाला

व्यक्ति तुम्हारे प्रति छल रख कर के कार्यों को करता है और तुम उसे नहीं पाते

और नहीं परत पाते हैं क्योंकि तुम्हारी आंखों पर पट्टी बंधी होती है और जिसकी

आंखों पर पट्टी बंधी है व्यक्ति देख नहीं सकता अर्थात प्रेम की पत्ती एक ऐसी पट्टी

होती जो व्यक्ति सामने वाले को ना तो परखने की चाह

रख पाता है और ही उसे रख पाता है क्योंकि उसके मन में यह भावना आती ही नहीं कि

सामने वाला व्यक्ति षड्यंत्र भी रख सकता है क्योंकि जब वह किसी से सच्चा प्रेम

करने लगता है तो वह यह सोच नहीं पाता कि कोई ऐसा भी कर सकता है उसकी भावना को केवल

प्रेम की होती है और प्रेम उसके हृदय में वास करता है और वहां सोचता ही रहता है कि

मैं जिसे प्रेम करता हूं उसे कितना प्रेम करो जितना मेरा सामर्थ हो और जितने मेरे

बस के हो बहुत ज्यादा उसे प्रेम करो बस यही धारणा रखकर के बाद व्यक्ति सामने को

प्रेम करता चला जाता है और उसे परखने की खींचा नहीं रख पाता उसे अगर यह बात कोई

तीसरा व्यक्ति बता दे कि वहां छल कर रहा है या कर रही है तब भी उस व्यक्ति की

आंखों पर प्रेम की जो पट्टी बंधी होती है वह उस पति को उतार कर कभी भी परखने की

जांच नहीं कर पाता क्योंकि उसे कुछ दिखाई नहीं देता है सच तो उससे बिल्कुल भी दिखाई

नहीं दे पाता जब तक उसकी प्रेम की पत्ती आंखों से उतारी जाती है तब तक बहुत देर हो

चुकी होती है उसे यह जानते जानते काफी समय निकल जाता है कि उसके जीवन में क्या हो

रहा है और कोई है जो उसे छल कर रहा है धोखा दे रहा है उसे पीठ में खंजर घूप रहा

है बात-बात पर उसका झूठ बोलना बात-बात पर उसका रूठ जाना हर बात पर भून दिखाना और

बात-बात पर छोड़ के चली जाऊंगी या छोड़ के चला जाऊंगा धमकी देना और जो जिससे प्रेम

करता है वह उसकी हर बात को स्वीकार कर लेता है डर के कारण और यहां दर कोई ऐसा

वैसा दर्द नहीं होता बल्कि अपने प्रेम को खोने का दर्द होता है और यह भी सच है कि

जो सच्चा प्रेम करता वह अपने प्रेम को होने से बिल्कुल डरता है क्योंकि उसके बिना रह नहीं सकता

और रहा भी नहीं पाता है उसका फिर कहीं मन नहीं लगता उसका दिल नहीं लगता तो वह उदास

हो जाता है वह हर समय सोचता ही रहता है ना तो किसी कार्य को कर पाता है और ना ही

किसी भी कार्य को करने में उसका मन लगता है इसलिए वहां विवश हो जाता है जो जाता है

अपने प्रेम के सामने और ऐसे में ही सामने वाला व्यक्ति जो केवल उससे दिखावा कर रहा

है प्रेम का छलावा कर रहा है ब्रेक का और षड्यंत्र रच रहा है उसके प्रति वहां उसका

फायदा उठा लेता है और फिर उसके साथ धोखाधड़ी करके उसे बर्बाद करने की फिराक

में रहता है मेरे बच्चे यदि ऐसा प्रेम तुम्हारे निकट आ रहा है तो सावधान हो जाओ

क्योंकि प्रेम प्रेम नहीं है बल्कि एक बहुत बड़ा संकट है एक ऐसा संकट है जो यदि

तो उससे फंस गए एक बार तो उससे निकलना नामुमकिन के बराबर हो जाता है क्योंकि

उससे निकलते निकलते बहुत देर हो जाती है और जहां तक कहा जाए तो तुम अपना सब कुछ गवा

बैठते थे तब तुम्हें ज्ञात होता है कि मेरा सब कुछ खत्म हो चुका है मैं बर्बाद

हो चुका हूं इस प्रेम के चक्कर में इसलिए मैं तुम्हें आज आगाह करने आई है अर्थात

में समझाने आए कि तुम ऐसे किसी प्रेम के चक्कर में मत पड़ो नहीं तो तुम्हारा जीवन

खराब हो जाएगा और तुम बर्बाद हो जाओ मेरे बच्चे यह सच है कि प्रेम करना चाहिए लेकिन

उससे नहीं जो तुम्हारे साथ छलावा कर रहा है या दिखावा कर रहा है या तुमसे षड्यंत्र

रचकर बातें करता है बल्कि उससे प्रेम करो जो तुमसे सच्चा प्रेम करता है तुम पर जान

छिड़क है तुम्हारी हर बार में उसकी स्वीकृति होती है और भावनाओं से भावनाओं

का प्रेम होता है ना कि स्वास्थ्य पर मेरे बचे जिसके मन में छलावा होता है उस

व्यक्ति को तुम कुछ ही समय में प सकते हो इसलिए प्रेम करो लेकिन आंखें खोलकर आंखें

बंद करके नहीं यदि आंखें बंद करके प्रेम करोगे तो थोड़ा सा आगे जाकर ही ठोकर खा

जाओगे और मुंह के बल गिर पड़ोगे गिरने से पहले ही तुम्हें समझना होगा और संभलना

होगा और जाना होगा इस बात को कि तुम जो अभी कर रहे हैं उससे कहीं तुम्हारा कोई

नुकसान तो नहीं हो रहा ऐसा कोई व्यक्ति को नहीं है तुम्हारे जीवन में जो तुमसे छलावा

कर रहा हूं और तुम उसके बारे में पूर्ण रूप से जान नहीं पा रहे एवं उसके हाथों से

धोखा खा रहे हैं और जीवन को बर्बाद कर रहे थे क्योंकि मेरे बच्चे यदि ऐसा हो रहा है

तो आगे तुम्हें रोने का मौका भी नहीं मिल पाएगा उस समय जिस समय तुम सब कुछ दवा

बैठोगे अर्थात जो छल कर रहा है वह सब कुछ लूटकर भाग जाएगा और तुम हाथ मलते रह जाऊंगी

क्योंकि संसार में पाच मिलियन बराबर नहीं होती और सब एक से नहीं होते इसी प्रकार

प्रेम करो लेकिन देखो कि कहीं कोई तुमसे छल तो नहीं कर रहा है कहीं तो किसी के

षड्यंत्र मैं तो नहीं रहे हैं यदि तुम्हारे साथ ऐसा हो रहा है तो निश्चित ही

बहुत गलत हो रहा है और अपने आप को तुम लोग क्योंकि यदि समय रहते तुम स्वयं को नहीं

रोको होगी तो आदि तुम्हें केवल पछतावा होगा और जीवन में कुछ नहीं बचेगा ऐसे लावे से और ऐसे संकट

से बचने का केवल एक ही उपाय है कि तुम ऐसे प्रेम को तुरंत छोड़ दो और जिससे भी तुम

प्रेम करो उसे देख परक कर करो उसका प्रेम परखने के बाद ही तुम उसे पूर्ण रूप से

प्रेम करो और परखने के लिए भी तुम्हें यह देखना होगा कि सामने वाला व्यक्ति क्या सच

में तुमसे प्रेम करता है क्या उसकी भावना तुम्हारे लिए उस तरह की है जिस तरह की

तुम्हा है क्या हो उतना प्रेम कर पाएगा तुमसे जितना तुम उससे करती हूं क्योंकि

मेरे बच्चे यदि वहां बात बात पर लगता है या लगती है बात बात पर तुम्हें छोड़ने की

धमकी दे दी है बात बात पर रूठ जाती है यह बात-बात पर उसको क्रोध आता है तो ऐसा

व्यक्ति तुमसे प्रेम नहीं करता क्योंकि प्रेम करने वाला व्यक्ति कभी भी छोड़ने की

बात नहीं करेगा और प्रेम करने वाला व्यक्ति तुम्हें होने से हमेशा डरेगा मेरे ब बचे प्रेम करने वाला व्यक्ति बात बात पर

क्रोध नहीं करेगा बल्कि जहां तुमसे कुछ गलती होगी तुमसे प्यार से बात करेगा और

तुम्हें प्रेम से समझाएगा क्योंकि उसके हृदय में प्रेम है और वह इस बात को समझता

है कि किसी से यदि कोई गलती हो जाए तो उसे प्रेम से समझाने पर जितना ज्यादा समझ में

आता है उतना क्रोध बस कभी नहीं सकता और यही कारण होता है किसी भी व्यक्ति का कि

बात तुम्हें उस समय ता है जब तुम्हें कोई भी बात समझ में नहीं आ रही होती है

क्योंकि प्रेम का धर्म ही सबसे पहला यही होता है कि अपने प्रेमी को समझाएं हर बात

के लिए मनाए यदि प्रेमी क्रोधित भी हो जाता है तो प्रेमिका उसे समझाती है और

प्रेमिका यदि क्रोध होती है तो प्रेमी उसे समझाता है वह दोनों के दूसरे को समझते हैं

भावनाओं को पहचानते हैं एक दूसरे के प्रति बढ़ते मिटते हैं बल्कि अध्ययन नहीं रखते

क्योंकि बहुत प्रेम करते हैं और प्रेम खुद को खुश करने का नाम ना होकर दूसरे को ड

खुश करने का नाम होता है यदि तुम अपने प्रेम से प्रेम करते हो या तुमसे कोई

प्रेम करता है तो निश्चित ही तुम्हारी छोटी-छोटी खुशी का ख्याल रखेगा तुम कब

हंसते हो उसे हंसी आएगी तुम कब रोते हो वह दुखी हो जाएगा तुमसे कभी भी किसी भी चीज

को मानने से पहले क्रोध में नहीं आएगा और नहीं क्रोध में तुमसे कभी ज्यादा बात

करेगा जब भी बात करेगा उसकी बातों में मिठास हो इतनी मिठास की उसके सामने तुमने

सब चीज सीखी लगी लगेगी क्योंकि प्रेम तो एक आनंद है प्रेम कोई ऐसा नहीं है कि बात

किसी के ऊपर ग्रोथ करे बल्कि वहां एक मधुर संगीत की तरह है जिससे दांतों में सुना

जाए तो बहुत अच्छी द सुनाई देती है और यदि दिल से महसूस किया जाए तो वहां रंग में

में रंग लेता है जिससे कि इंसान उसके रंग में रंगने के पश्चात पूरी दुनिया में हर

चीज को में देख पाता है उसकी दुनिया ही रंगबिरंगी हो जाती है वह अपने दिल से हर

चीज को महसूस करता है और उसे यह ज्ञात होता है कि

दुनिया कितनी खूबसूरत है यही तो होता है प्रेम का असली रंग जो जिससे प्रेम करता है

उसे उसी में पूरी दुनिया दिखाई देती है और सबसे ज्यादा इंसान विवश हो जाता है अपने

प्रेम के प्रति गलत भावना सोचने के बारे में और गलत भावना विचार करने के बारे में

क्योंकि प्रेम जब होता है तो इंसान किसी के बारे में बहुत अच्छी भावना रखता है और

अच्छा सोचता है दा प्रेम होता है लेकिन कई बार गलत व्यक्ति इसी बात का फायदा उठा

लेता है उसे यह बात बहुत अच्छे से ज्ञात होती है कि जब होता है तो उसकी आंखों पर

पट्टी बंधी होती है एक तरह से वह पूर्ण रूप से दे नहीं पाता और प्यार अंधा हो

जाता है और इसी का सामने वाला व्यक्ति गलत फायदा उठाकर तुम्हारे जीवन में बर्बादी का

सबसे बड़ा मार्ग बना देता है और ऐसे में सब कुछ बिखर बिखर दे यदि व्यक्ति संभल जाए

तो भी उसका दिल टूट जाता है और यदि वह समझ पाए तो सब कुछ बिक जाता है क्योंकि मेरे

बच्चे इंसान अपने हृदय से जीता है और हृदय से ही बिगड़ता है उसका हृदय टूटा तो वहां

टूट जाता है और यदि उसके हृदय में प्रेम की जो धारणा है लगातार प्रवाह करती रहती

है तो बहुत प्रसन्न रहता है को हर बात अच्छी लगती है और संसार में जो उसका जीवन

है वहां भी अच्छी से गुजारता है हर बात में आनंद लेता है और हर बात में उसे खुशी

महसूस होती है लेकिन यहां जो प्रेम की डोर टूटती है तो इंसान को बहुत ज्यादा कष्ट

होता है लेकिन धोखा खाने से अच्छा और तुम्हारे जीवन में कोई बड़ा संकट आए उससे

ज्यादा अच्छा है कि तुम प्रेम को पहचानो यदि ऐसा प्रेम है जो कि तुम्हें शहीद रचकर

धोखा दे रहा है तुम्हें लूटने की साजिश रच रहा है तुम्हारा जीवन बर्बाद करना चाहता

है तो उसे तुरंत नहीं छोड़ सकते तो धीरे-धीरे करके छोड़ दो लेकिन अपने दिल और

दिमाग से उस व्यक्ति को निकालने का भरपूर प्रस करो क्योंकि वहां आज या तो कल

तुम्हें बर्बाद करके ही रहेगा क्योंकि ऐसा व्यक्ति जो षड्यंत्र रचता है वह किसी का

नहीं हो सकता बच्चे आज मैं तुम्हें डराने नहीं आई और न ही तुमसे तुम्हारी ट्रेन को

दूर करने आए बल्कि मैं समझाने आए क्योंकि संसार में हर व्यक्ति एक जैसा नहीं होता

जो लोग षड्यंत्र रचते हैं अपने प्रेम के प्रति और प्रेम भरा षड्यंत्र रचकर किसी को

फंसाते है केवल उन लोग लोग के लिए यह संदेश है इसलिए वहां मेरे बच्चे बच पाए

यही मेरा संदेश है और जीवन में खुद को भी भी अकेला मत समझना हमेशा ध्यान रखना मैं

तुम्हारे साथ हर पल हर क्षण में तुम्हें देख रही है और जानती हूं कि तुम्हारे जीवन

में क्या रहा है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे कुछ जरूरी बात करने आई और जो बात करने आए उसे सुनना

अति आवश्यक है क्योंकि कुछ ऐसी बातें जो मैं तुमसे करना चाहती है और कुछ ऐसी बातें

जो मैं तुम्हें बताना चाहती हूं तुम जाग थे तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन में कुछ

ही समय में चमत्कार होना प्रारंभ हो जाएगा मेरे बच्चे एक बार को स्मरण रखना कि

मैंने तुम्हारे लिए समय निकाला है तो कभी भी मेरी बातों को सुनने के लिए जरूर समय

निकालना चाहिए क्योंकि जब मैं तुम्हें कुछ जरूरी बात बता रही हूं या कोई ऐसी बात

समझा रही जिससे तुमने जीवन का फिर छुपा हुआ है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ

है जय माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम अपने जीवन को क्यों बर्बाद कर रही हो

तुम्हें क्यों डर लग रहा है मैं तुम्हारे साथ अपने अंदर की बात को सुनो और अपनी मां

काली के बताए रास्ते पर चले मेरी बात ध्यानपूर्वक सुनना जो मैं तुम्हें बताना

चाहती मेरे बच्चे जब तक तुम जवान हो तो मैं केवल और केवल सीखने का प्रयास करना चाहिए कि तुम

किस तरह के मनुष्य बनना चाहते हो यही तो समय है जोखिम लेने का नई चीजें सीखने का

और नए-नए कौशल विकसित करने का अभी भविष्य के बारे में मत सोचो अभी केवल अपने

वर्तमान पर ध्यान दो अभी तुम्हें स्वयं को जानने का प्रयास करना चाहिए अपने जीवन की

बड़ी-बड़ी बातों से ज्यादा छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए जीवन की दौड़

में तो उसके सारे छोटे सुनहरे छड़ों को अनदेखा कर देते हैं जीवन में आगे जाकर जब

तुम पीछे देखते हैं तो उन्हें आभास होता है कि असल में वह छोटी-छोटी बातें भी

तुम्हारी खुशियां थी जीवन का अनुभव करते हुए तुम कई चीजें सीखते हैं जैसे प्रेम दर

सुंदरता कृतज्ञता यही अनुभव से सीखी हुई चीजें तुम्हें जीवन की बड़ी-बड़ी घटनाओं

के लिए तैयार करती है मेरे बच्चे तुम्हारी श्रद्धा को दे देख कर मैं अत्यधिक प्रसन्न

है मैंने तुम्हारी तकलीफ देखी है मैंने तुम्हारी निराशा को जान लिया है भले ही

तुम अपने दुखों के बारे में किसी को भी नाम बताएं मगर मुझे तुम्हारे सभी लोगों का

ज्ञान है अपनी विभिन्न परेशानियों के बावजूद हमें यह समझना चाहिए कि तुम जो कुछ

भी बनना चाहते थे वहां बनने के लिए कभी भी देर नहीं होती है तुम अपने जीवन में जो

कुछ भी चाहो वहां बन सकते हो तुम्हारी क्षमताओं की कोई सीमा नहीं है यदि तुम्हें

लगता है कि तुम्हारे जीवन में बहुत देर हो चुकी है तो ऐसा बिल्कुल नहीं है जीवन में

कभी भी किसी भी बात को लेकर देर नहीं होती है तुम्हें जो कुछ भी करना है जो कुछ भी

बनना है उन सभी के लिए जीवन में कभी भी देर नहीं होती है बस तुम्हारे मन में लगन

होनी चाहिए मेरे बच्चे तुम्हें इस संसार में भेजते वक्त मेरी आशा थी कि तुम संसार

में ऐसा जीवन जी जिस पर तुम्हें घर हुए जीवन का अर्थ ही यही है कि जब इसका अर्थ

है तो तुम्हारी कोई भी इच्छा अधूरी ना रह जाए तो मैं स्वयं के जीवन पर गर्व होना

चाहिए यदि किन्हीं कारणवश ऐसा नहीं है तो तुम्हें फिर से नई शुरुआत करनी चाहिए

तुम्हारे जीवन के सबसे अंधेरे रों में भी एक रोशनी सदा जलती रहेगी तो मैं बस उस

रोशनी को देखने की हिम्मत होनी चाहिए एक बार अपना अंधकार दूर

करने बाद तो वे दूसरों के लिए प्रकाश बनना चाहे तो में सदैव याद रखना चाहिए कि जीवन

की छोटी छोटी हाथ कभी जीवन की हार नहीं होती जीवन की हार केवल तभी होती है जब तुम

हार मान लेते हो तो मन में सफलता के लिए हार नहीं माननी चाहिए और एक बार सफल होने

के बाद दूसरों को हाल से बचाने का प्रयास करना चाहिए तुम्हारी किसी भी इच्छा की

पूर्ति कभी कोई प्रार्थना नहीं करती है बल्कि स्वयं तुम्हारी प्रकृति ही तुम्हारी इच्छा

पूर्ति करती है तुम्हें यह समझना होगा कि प्रार्थना कभी भी ईश्वर की सोच पर प्रभाव

डालने के लिए नहीं की जाती बल्कि रात स्वयं तुम्हारी प्रकृति को बदलने के लिए

दी जाती है प्रार्थना का असल उद्देश्य तुम्हारे मन पर प्रभाव डालता है बार-बार

प्रार्थना करने से तुम्हारे अंदर देख विश्वास उत्पन्न होता है कि तुम जिस भी

वस्तु की इच्छा कर रही हो वह तुम्हें प्राप्त हो सक सती है यही उम्मीद तुम्हारी

इच्छा की पूर्ति की ओर सहारा प्रथम कदम है उम्मीद किसी भी व्यक्ति के जीवन में बहुत

ही आवश्यक है तुम्हारे लिए उम्मीद अंधकार में भी उजाले का कार्य करती है जब कभी

जीवन की किसी भी मोड़ पर तुम्हें कोई भी रास्ता ना दिखाई दे रहा है तो उस

परिस्थिति में एक उम्मीद ही तुम्हें रास्ता ढूंढने के लिए प्रेरित करती है संपूर्ण संसार आखिर भूमि पर ही चल रहा है

यहां तक कि परेशानी की छड़ों मैं ईश्वर तक उम्मीद को ही ढूंढने का प्रयत्न करती है

तो मैं यहां सदैव याद रखना चाहिए कि संसार में आज तक जो कुछ भी हुआ है वह सब केवल

उम्मीद द्वारा ही किया गया है सभी कार्यों के पीछे की प्रेरणा है तुम्हें कभी भी

उम्मीद का साथ नहीं छोड़ना चाहिए मेरे बच्चे में तुम्हारी व्याकुलता से अच्छी

तरह अवगत तोहे मैंने देखा है कि तुम सदैव भ्रमित रहते हो तुम्हारा मन हमेशा उलझा

रहता है तुम्हारा मन उदासीन रहने का तो जैसे आदि हो चुका है

अपने मन की इस व्याकुलता को दूर करने का रास्ता यह है कि तुम्हें सदैव अपने जीवन

में यहां ज्ञात होना चाहिए कि तुम्हें क्या करना है या जाना है इससे भी ज्यादा

तुम्हारे मस्तिष्क में यह बात निश्चित होनी चाहिए कि तुम्हें क्या करना है तुम्हें यहां निश्चित रखना चाहिए कि

तुम्हें क्या करना है जब तुम्हें यह पता चल जाएगा कि तुम्हें क्या करना है तो उस

कार्य को करने के लिए तुम्हें क्या जानकारी अर्जित करने उसका पता तुम्हें

स्वतः ही चल जाएगा जीवन में आवश्यक यह है कि तुम्हें अपने उद्देश्य का ज्ञान होना

मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जाए और माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे

तुम्हारे दुखों का अंत आज निश्चित है जो कुछ भी तुमने देखा है जो कुछ भी तुमने

सुना है और जो कुछ भी तुम्हें सहा है उन सभी का आज निश्चित है आज तुम्हारे अंदर के

ज्ञान को तुम्हें बाहर लाना होगा इसलिए अपने सुख और आनंद की प्राप्ति के

लिए इस संदेश को अंत तक सुनना यदि इसे अंत तक सुनोगे तो मैं आज एक ऐसी चीज सीखने को

मिलेंगी जो आज तक तुम्हें कभी नहीं मिली आज तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली

है क्योंकि आज मैं तुमसे बेहद प्रसन्न हूं लेकिन फिर भी मैं तुम्हें जीवन की वहां

सच्चाई बताने जा रहे हैं जिस से तुम्हें सुनना होगा और अपने जीवन को सुधारना

होगा इसलिए अपनी माता को ध्यानपूर्वक सुनना ताकि तुम्हें जीवन में कभी किसी के

आगे झुकना ना पड़े मेरे बच्चे तुम जीवन में खुशियां ढूंढना चाहते हैं किंतु यह

क्यों भूल जाते हो कि खुशी तो तुम्हारी आसपास है और बहुत तुम्हें भी देख

सकती है जब तुम छोटी-छोटी चीजों में भी खुशियां बूंढो जैसे एक बच्चा अपनी मां में

सारी खुशी ढूं लेता है ऐसे ही तुम्हें भी सारी खुशियां हर जगह मिल सकती है बस

उन्हें महसूस करने की कोशिश करो लेकिन मेरे बच्चे तुम अक्सर उन चीजों में खुशी

देखते हो जो चीज काफी बड़ी होती है या जो तुम्हारे मन की ख्वाहिश होती है किंतु जब

तुम्हारी हर ख्वाहिश पूरी नहीं होती तो क्यों उदास हो जाते हैं किंतु तुम यह भूल

जाते हैं कि यदि उसी को अपने मन की इच्छाओं के रूप में देखने की कोश करोगे तो

तुम कभी खुश नहीं हो सकते आज मैं तुम्हें जो खुशी देने जा रही उस खुशी को महसूस

करने के लिए में स्वयं के अंदर कुछ बदलाव करने होंगे और यह खुशी तो केवल उन्हीं

लोगों से प्राप्त होगी जो तुम्हारे जीवन में है और जिनसे तुम्हारा जीवन जुड़ा हुआ

है मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को अपने जीवन में अपना लोगे तो तुम्हारा जीवन स्वर

से भी अच्छा हो जाएगा और उसके लिए केवल तुम्हें कुछ चीजों का त्याग करना होगा जो

मैं तुम्हें बताने जा रहे हैं ऐसी चीज तुम्हारे जीवन को बर्बाद कर दी यदि तुम इन

चीजों को छोड़ दोगे तो स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने लगेगा और जिस खुशी की तलाश

कर रही हो वहां तुम्हें प्राप्त हो जाएगी अपने अंदर की चीजों का निर्माण करना यह

तेजी से वह चीज है जो तुम्हारे भीतर फैले पाप का नाश करें और यदि तुमने तीन चीजों

को अपने जीवन में अपना लिया तो यकीन करो तुम्हारा जीवन पाप से मुक्त हो जाएगा पहली

चीज स्वयं के प्रति विश्वास मेरे बच्चे यदि तुम स्वयं के प्रति विश्वास जागृत कर

लोगे तो तुम्हारे मन में जितनी भी शंकाएं हैं और जो भी डर है वह स्वयं समाप्त हो

जाएंगे विश्वास एक ऐसी चीज है जो इंसान को बलवान करती है यदि तुम्हारे अंदर विश्वास

है तो तुम किसी भी चीज को हासिल कर सकते हैं चाहे वह कितनी ही कठिन क्यों ना हो को

दूसरी चीज प्रेम है यदि तुम अपने अंदर प्रेम का बीज बोए तो मेरा यकीन करो इस

संसार में किसी भी प्रकार का दुख तुम्हारे अंदर नहीं रहेगा क्योंकि जहां प्रेम होता

है वहां नफरत की थी स्वयं ही समाप्त हो जाता है यह तुम भी जानते हैं कि प्रेम

वहां भाषा है जो जानवर को ही समझ में आ जाती है यदि तुम उसे ट्रेन दोगे तो वहां

भी तुम्हें तभी नुकसान नहीं देगा बल्कि तुमसे भी उतना ही प्रेम

करेगा जितना तुम उससे करोगे तीसरी और सबसे अहम चीज रहा है जो हर मनुष्य में पाई जाती

है और उसका नाम क्रोध है मेरे बच्चे तुम्हें यहां पर रोड का त्याग करना है यदि

तुमने क्रोध का त्याग कर लिया तुम बड़ी से बड़ी विपत्ति में ठंडे दिमाग से काम ले

सकते हो क्योंकि जो मनुष्य क्रोध में आकर कोई फैसला या कार्य करता है तो आगे चलकर

पछताते हैं उन्हें उस समय क्रोध के चलते कुछ समझ नहीं नहीं आता किंतु बाद में जब

उन्हें समझ में आता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है इसलिए मेरे बच्चे विश्वास

प्रेम और क्रोध का प्यार यह तीनों चीज जिस दिन तुम्हारे अंदर आ गई उस दिन ऐसा कोई भी

कार्य नहीं है जो ना कर सको अब यह तुम्हारे ऊपर है कि तुम किस प्रकार से

कार्य कर सकते हैं और किस प्रकार से कार्य नहीं कर सकते स्वयं की शक्तियों को

पहचानने के लिए तुम्हें अपने भीतर इन तीन चीजों का निर्माण करना होगा मेरे बच्चे

तुम जब कभी भी अपने घर में अन्न बनाते हो यदि अन्न बच जाता है तो उस बस हुए अन्य को

बर्बाद मत करना बल्कि उसे किसी गरीब इंसान को या फिर गौ माता को खिला देना ऐसा करने

से तुम्हें पुण्य प्राप्त होगा मेरे बच्चे वहां अन्य भी बर्बाद नहीं होगा तभी दिखाने

को बर्बाद करके अन्नपूर्णा माता का अपमान मत करना जिस घर में अन्नपूर्णा माता अपमान

होता है है वहां खाने की कमी सदा बनी रहती है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपनी माता के इस

बात को ो स्मरण रखो कि तुम्हारा जीवन खुशियों में लाने के लिए यह गोल अति

आवश्यक है इस संसार में हर कोई चाहता है कि उससे सब प्रेम से बात करें उसकी इज्जत

करें यहां कोई नहीं चाहता कि मैं भी सामने वाले को प्रेम दू उसकी इज्जत करें और जब

तक यह सोच तुम्हारे अंदर नहीं आ जाएगी तब तक तो में भी दू दूसर से प्रेम नहीं मिल

सकेगा पहले अपने मन में इस सोच को लाओ यदि तुम्हें दूसरों से प्रेम चाहिए तो तुम्हें

पहले दूसरों को दो प्रेरित करना होगा सभी चाहते हैं कि हमें कोई परेशान ना करें

हमारा दिल नहीं दुखाया हम पर कभी कोई क्रोध ना करें किंतु हम यह भूल जाते हैं

कि इन चीजों की शुरुआत पहले हमें स्वयं के ऊपर करनी होगी स्वयं क्रोध करना बंद करना

होगा दूसरों को परेशान करना बंद करना होगा तब जाकर हमें भी खुशी मिलेगी और यह सब

चीजें तभी संभव है जब तुम्हारे मन में शांति यदि तुम्हारे मन में शांति नहीं है

तो तुम कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकते और यदि तुम्हारा मन शांत है तो इस संसार की

प्रत्येक चीज में तुम्हें शांति का अनुभव होगा और वहां शांति में उसी प्रदान करें

जिस खुशी की तलाश हर इंसान करता है जिस दिन तुम यह सभी चीजें करना प्रारंभ कर

दोगे उस दिन से तुम्हें पूर्ण शांति की प्राप्ति मिलने लगेगी और शांति तुम्हारे

जीवन को पूर्ण रूप से बदल देगी यदि तुम्हारे पास पैसे नहीं है और सारी सुख

सुविधाएं भी परंतु किसी एक चीज को ड लेकर तुम्हारे मन में अशांति है तो वह चीज

तुम्हारे मन को भटका कर रहेगी और किसी चीज को इच्छाएं कहते हैं जो अधूरी रहती है तो

मनुष्य भटकता रहता है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने मन की उन इच्छाओं पर काबू पाने

कि कोशिश करो जो तुम्हारे जीवन के लक्ष्य को भटकाती हैं यह याद रखो कि तुम्हारा

जीवन का लक्ष्य केवल तुम्हारा ही है यदि तुम्हें अपने लक्ष्य पर पूर्ण नियंत्रण

चाहिए वे स्वयं पर नियंत्रण करना होगा मेरे बच्चे में तुम्हारी माता तुम्हारे

लिए चिंतित है यदि तुम अपनी माता की बातों को समझ गए तो तुम्हारा जीवन आज से ही

बदलना शुरू हो जाएगा और मैं चाहती हूं कि तुम मेरे द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलो एक

माता अपने बच्चे से केवल इतना मांग रही है कि तुम सदा अच्छी तरह करके सच्चाई की राह

पर चले मेरे बच्चे तुमने जो मेरी भक्ति की है और भक्ति के चलते जो प्यार मुझसे किया

है वैसा ही प्यार तुम्हारी भी तुमसे ही करती है और जब भी तुम किसी राह पर भटकते

हो तो तुम्हारी मां को चिंता होने लगती है और मेरा हृदय रोने लगता है लेकिन मैं

जानती हूं कि तुम मेरी बहन बच्चे हो जो अपनी माता की थोड़ी सी चिंता से ही घबरा

जाते है इसलिए मेरे बच्चे अब समय आ गया है तुम्हें उचित मार्ग पर ले जाने का मैं

तुम्हारे जीवन का कल्याण चाहती और तोहे भी मेरी बातों को मानना होगा यही मेरा आदेश

है मैं नहीं चाहती कि मेरा बच्चा इस दुनिया की भीड़ में कहीं खो जाए या फिर

ऐसी ही भटकते रहे तुम्हारी मां तुमसे जितना अधिक प्रेम करती है उतना ही

तुम्हारी चिंता भी अब तो अपना ध्यान रखना और अपने जीवन को अच्छा करने के लिए मेरी

बताए हुए मार्ग पर चलना मैं चाहती हूं मेरे हृदय को मत दुखाना मेरे बच्चे अपनी

माता की बातों को आज मानकर कार्य करना मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है जय मां

काली हर हर महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे अत्यंत महत्त्वपूर्ण बात करना चाहता हूं जो भविष्य में

तुम्हारे साथ घटेगी मेरी बातों को ध्यान से सुनो आज मेरे मुख से निकला एक एक शब्द

तुम्हारे लिए भविष्यवाणी है आज मैं तुमसे यह बताना चाहता हूं कि तुम्हारे जीवन का

अंत कैसा होगा तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में क्या सोचेंगे मेरे बच्चे जितने

भी लोग इस संसार में जन्मे हैं उनका कोई ना कोई उद्देश्य होता है अपने उद्देश्यों

को पूरा करके हर किसी को एक ना एक दिन इस संसार को छोड़ना है अपनी जीवन यात्रा में

मनुष्य कई बार गिरता है कई बार संभलता है कभी हसता है तो कभी रोता है ऐसे में

मनुष्य हजारों सपने सजाता है कुछ के पूर्ण होते हैं और कुछ के अधूरे रह जाते हैं

मेरे बच्चे तुमने भी बड़े सपने सजाए हैं और उन्हें पूर्ण करने के लिए तुम कठिन

परिश्रम भी कर रहे हो किंतु अभी तक तुम्हें सफलता नहीं मिली है लेकिन मेरे बच्चे क्या तुमने कभी सोचा है कि तुम्हारे

ही जीवन में इतने दुख क्यों है जबक तो एक सच्चे इंसान किसी का दुख तुमसे देखा नहीं

जाता तुम्हारी भक्ति सच्ची है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में इतने संघर्ष इसलिए है

क्योंकि तुम कुछ और चाहते हो और मैं कुछ और चाहता हूं तुम जो पाना चाहते हैं उससे

कई गुना ज्यादा मैं तुम्हें देना चाहता है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है तो उस समय

भी अधिक लगेगा किंतु शीघ्र ही तुम्हारे जीवन में कई बड़े बदलाव होंगे और अपनी

बेहन और साहस के बल पर सफलता प्राप्त करेंगे किंतु तुम्हें मिलने

वाली यहां सफलता बहुत बड़ी नहीं लेकिन यहां वहां कुंजी है जो तुम्हें तुम्हारे

अंतिम गंतव्य तक ले जाएगा मेरे बच्चे जब तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में होंगे

तो तुम्हारा मन संतोष एवं शांति का अनुभव करेगा तुम्हारे जीवन का अंत बेहद दुखद

होगा तुम्हारी कोई भी सपने अधूरे नहीं रहे तुम अपना पूर्ण जीवन जीकर ही संसार त्याग

होगी और तुम अपने जीवन में कई ऐसे कार्य करोगे कि तुम्हारे जाने पर केवल तुम्हारे

परिजन को ही नहीं पूरे समाज को होगा हर किसी की आंखों में तुम्हारे लिए आंसू

होंगे और तुम्हारे जाने के बाद लोग तुम्हें याद करेंगे कुछ ऐसा होगा तुम्हारे

जीवन का किंतु अभी तो यह तुम्हारे जीवन का आरंभ में है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है

अब आगे बढ़ो मेरे बच्चे और अपने उद्देश्यों को पूरा करो मेरा आशीर्वाद सदा

तुम्हारे साथ रहेगा जाय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश

प्राप्त हुआ है तो तुम्हारे जीवन की समस्याएं आज समाप्त होने वाली है मेरे

बच्चे मेरी तीन बातों पर विशेष ध्यान देते हैं तुम्हारी हर परेशानी दूर हो जाएगी

सुबह से लेकर शाम तक और हर समय उठते बैठते जागते तुम्हारे मन में यही विचार हमेशा

लगा रहता है कि मेरे साथ ही ऐसा क्यों हो रहा है मैंने गलती की है मेरा क्या दोष है

मैंने तो कुछ गलत किया भी नहीं फिर भी मेरे साथ क्या हो रहा है मैं क्यों इतना

परेशान संसार के सभी व्यक्ति बहुत खुशहाल है और मेरे जीवन में कोई भी परेशानी मेरा

पीछा नहीं छोड़ रही है तुम्हारा मन सदा अपनी नाकामियों से परेशान रहता है कोई भी

नया कार्य प्रारंभ करते थे लेकिन अधूरा रहता है या पूरा होते होते रुक जाता है कई बार तो

तुम्हें ऐसा लगता है कि तुम किसी भी कार्य को नहीं कर पाओगे तुम्हारा हृदय यहां

मानने लगा है कि कोई भी काम सफल नहीं हो पा रहा है तुम्हारा विश्वास टूटने लगा है

डगमगाने लगा है तुम्हें ऐसा लग रहा है कि तुम्हारे जीवन में पता नहीं आगे क्या होने

वाला है आगे के सभी रास्ते बंद दिखाई दे रहे हैं ऐसा लग रहा है कि जीवन में कुछ

बचा नहीं है और तुम्हारा कोई साथ नहीं दे रहा है लेकिन मेरे बच्चे अभी भी कुछ

रास्ते खुले हुए हैं शजन पर चलकर तुम अपनी मंजिल को प्राप्त कर सकते हैं अपनी हर

परेशानी को समाप्त कर सकते हैं अगर कुछ कमी है तो उन पर चलने की आज मैं तुम्हें

तीन काम बताऊंगी बातों को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना और करना है पहले जीवन में

प्रतिदिन संध्या काल तुम अगले दिन के लिए यह निश्चय कर लो कि आज की गई गलती को कल

वोके कहने का अर्थ है कि पीछे की जो भी चीजें छूट रही

उनको नहीं दोहराएंगे आगे जब तुम्हें चलना है तो तुम्हें एक नए रास्ते को बनाते हुए

पीछे की गलतियों को छोड़कर चलना है तभी तुम उस मुकाम पर पहुंच सकते हैं जहां तक

पहुंचना चाहते हो दूसरा खुद के मार्ग खुद बना सुनो सबकी करो अपने हृदय की तुम्हारा

हृदय जब सबकी बातों को सुनने के बाद जो कहता है अंदर से जो विश्वास तुम्हारा जाता

है उसी को करो और तीसरा तुम सोच से जदा हो और काम करते हो जो भी विचार

तुम्हारे मन में आता है उस पर तुरंत काम करना प्रारंभ कर देना चाहिए ना कि तुम

सोचते सोचते अपने समय को व्यर्थ में दवाओ भले ही तो चिंताओं से घिरे हुए कितनी भी

भोजन से मायूस हो चुके हो फिर भी यदि तुम्हें इन परेशानियों से निकलना है तो

किसी भी मार्ग पर तुरंत काम करने से तुम्हारे समय की बचत होगी और उस पर

जितना जल्दी काम कर सकते हैं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से निकल जाएगा और उस

पर जितना जल्दी हो सके तो काम कर सकते हो नहीं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से

निकल जाएगा वही तुम्हें भी प्राप्त होगा जो तुम्हें चाहिए इस बात का ध्यान रखना

परेशानियां तब भीड़ की है जब तुम परेशानियों को देखकर अपने कदमों को पीछे

हटा दे इसलिए कभी भी परेशानियों से डरो मत उसका डटकर सामना करो जो डटकर सामना करके

आगे जाने की हिम्मत रखते हैं निश्चित ही हर परेशानी का सामना

कर लेते हैं क्योंकि किसी भी चीज से डरना ही असफलता का मुख्य कारण है और संसार में

ऐसी कोई चीज नहीं जो तुम नहीं कर सकते अगर कुछ कमियां है तो सोचकर केवल मन लगाकर

करने की जैसे ही इसे करोगे हर परेशानी से निकल जाओगे अब जो तुम्हें बताने जा रहे

हैं यह बात आज तक तुम्हें किसी ने भी नहीं बतानी होगी मेरे बच्चे तुम्हारी सफलता का

रहस्य यहां छुपा हुआ है तुम प्रयास करते हो दूसरे को देखने का तुम

देखने का प्रयास करती हूं कि वह जीवन में आगे कैसे बढ़ रहा है आगे बढ़ने के लिए बात

क्या कर रहा है और जो भी बात कर रहा है उनका उन्हें लाभ कैसे होगा तुम प्रयास

करते हैं उनके जीवन में देखने की उनकी गतिविधियों को तुम देखने और समझने का

प्रयास करते हैं इसलिए तुम पीछे छूट जाते हैं जीवन में यदि तुम आ आगे बढ़ना चाहते

हो तो तुम्हारी दृष्टि भी आगे की बोली चाहिए कदम भी उसी मार्ग पर आगे बढ़ाना

चाहिए अपनी गतिविधियों को देखो अपनी योजनाओं को देखे अपने प्रयासों को अपने

अनुभव को समझो और उसी मार्ग पर आगे हैं ऐसी कोई सफलता नहीं जो तुम्हें प्राप्त

नहीं होगी तो में कोई ना कोई विशेष है और तुम में कोई ना कोई दोष भी है यह

प्राकृतिक तुम्हें क्या सिखाती है यह सभी एक दूसरे से लड़ते नहीं है एक दूसरे के

लिए बाधा नहीं बनते बस अपना कर करते हैं सूर्य अपने प्रकाश से वनस्पतियों के पेड़

पौधों को जन्म देता है में वर्षा करते हैं लोग होते हैं पर्वत की यहां चलता है उस

वसा को एक दिशा देती है एक धारा बनती है जो बहती है यह सब क्या है यह सब एक संयोग

है चक्र है सभी साथ मिलकर अपना कन करते हैं अभी यहां प्राकृतिक जी जीवित है यही

तो वे भी करना है सहयोग में रहकर काम करना है किसी के लिए बांधा नहीं बनना है किसी

को छोटा नहीं समझना है ऐसे ही करते रहना है सबके साथ मिलकर कम करना है

प्राकृतिक ब्लीच भी यही सिखाती है मेरे बच्चे एक प्रबल मन कठिन परिस्थितियों को

एक चुनौती के रूप में देखता है और चुनौतियों में अवसर को देखता है यही

तुम्हें भी करना है इस संसार में किसी को भी दोषी मानने से तुम्हा सी समस्या सुलझ

नहीं जाएगी इसलिए इस संसार को दोष देने के स्थान पर उस समस्या की जड़ तक जाए उसे

समझो और अपने इस मन को प्रबल बना यदि तुम्हारा मन प्रबल हो गया तो इस संसार में

बड़ी से बड़ी कठिन से कठिन परिस्थितियां क्यों ना आ जाए तुम्हारे जीवन में बड़ी से

बड़ी समस्या क्यों ना बन जाए तुम अपने जीवन में आसानी से उसे पार कर सकते हो

क्योंकि तुम मेरे प्यारे बच्चे और मैं तुम्हें कभी दुखी नहीं देखना

चाहती इसलिए मेरी बातों का विशेष ध्यान देना मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

जय हो माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम्हारी आंखों के समक्ष यदि मेरा संदेश

आया है तो निश्चित ही तुम्हें आज मेरा यह एक वरदान प्राप्त होगा जिसके लिए पूरा

संसार तरस रहा है वहां तुम्हें प्राप्त होगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम बहुत

भाग्यशाली हो तुम्हारे अंदर यहां एक बहुत अच्छा गुण है कि तुम किसी को गिराने की

कोशिश नहीं करते हो लेकिन अब मेरी कही हुई बात पर विशेष ध्यान दो संसार में हर

व्यक्ति को क्या चाहिए किस चीज में उसकी खुशी है भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यक्तियों

की भिन्न-भिन्न प्रकार की खुशियां हो रही है लेकिन खुशियां कुछ चीजों से ही लगभग

सबकी जुड़ी होती है जैसे कि किसी को धन चाहिए किसी को संतान चाहिए किसी को घर

चाहिए किसी को व्यवसाय चाहिए लेकिन हर चीज जुड़ी हुई केवल एक चीज से है और वह चीज है

इस संसार में प्राप्त होने वाले आपकी अच्छी किस्मत अगर आपकी किस्मत अच्छी होगी

तो आपको कोई भी चीज मुफ्त में मिल जाएगी जरूरी नहीं कि आपको पैसे ही टमाटर थोड़ी

चीज प्राप्त हो बल्कि आपकी बुद्धि इतनी बलवान होगी कि आप उससे कम पैसों में भी

बड़े से बड़े मुकाम पर पहुंच सकते हैं क्योंकि संसार में बड़े मुकाम पर पहुंचने

के लिए तुम्हें जो चाहिए वह मैं तुम्हें आज बताऊंगी और वहां तक पहुंचने का रास्ता

भी बनाम लेकिन तुम भी मुझसे एक वादा करो कि तुम वहां तक पहुंचने के लिए पहल स्वयं

करो करोगे इसके लिए तुम्हें बुरा बनना होगा एक बात ध्यान रखना जितने ज्यादा बुरे

बनोगे उतना ही सफल हो जाओगे बुरे का अर्थ किसी का गलत करना नहीं होता बुरे बनो

स्वयं के लिए इस तरह बन जाओ के जीवन में जो तुम लोग उसे प्राप्त करने की शक्ति

तुम्हारे पास स्वयं ही आज भी अपने मन को दृढ़ निश्चय लेने वाला एक कठोर पत्थर की

तरह बना लो यदि तुम्हारे निर्णय पर तुम पूर्ण रूप से कार्य करने वाला और अपने कहे हुए वचनों पर

खरा उतरने वाला बच्चा तो तुम रामचंद्र जी के बारे में स्वयं जानते हो कि उन्होंने

अपने वचनों पर खरा उतरने के लिए सीता माता को लेकर मतभेद निवास किया था और वह इसलिए

महान और पूजनीय स्थान पर प्राप्त हुए जीवन में उन्हें महाराजा बनाया गया और ऐसे कई

राजा है जो अपने वचनों पर खरे उतरे हैं तो जीवन में हर माह उनको मंजिल पर पहुंचाना

है मेरे बच्चे तुम्हें मुझसे डरने की आवश्यकता नहीं क्योंकि मैं भले ही

तुम्हारे समक्ष गांधी रूप में प्रस्तुत लेकिन मैं दर असल तुम्हारी पार्वती मानी

और मेरा हृदय बहुत ही कोमल है मेरे बच्चे शक्ति ता उत्पन्न होती है जब तुम स्वयं उस

शक्ति को अपनी ओर आकर्षित करते हो जब तुम स्वयं अपनी बोली में हर बात पर खरे उतरने

लगते हैं और अपने वचनों से पीछे नहीं हटते तो स्वयं तुम्हारे अंदर शक्ति विद्यमान हो

जाती और शक्ति में तुम्हें जो चाहिए उसे प्राप्त करने के लिए तुम अपने मन को एकांत

में शक्ति को अर्जित करने की कोशिश करो जितना तुम अपने मन को शांत रखोगे हर

बाधाओं के नहीं और शांत मन से अपने हृदय की विचारधारा को उत्पन्न होने दोगे तभी

पूर्ण लाभ उठा पाएंगे जी में जब भी तुम्हारी मुश्किल घड़ी होती तो मेरी शक्ति

को तभी महसूस कर पाएंगे जब तुम अपने आप को स्वयं गलत कार्यों से बचाकर रखनी होगी

इसके साथ कि आपके अंदर जो शक्ति उत्पन्न होती है वह सही गलत का मार्गदर्शन भी करती

है और गलत रास्तों पर जाने से रोकती है और सही मार्ग पर तुम्हें आगे बढ़ाने की और

ज्यादा शक्ति प्रदान करती है तुम निश्चित पूर्व ग्रहो में तुम्हारी रक्षा करेंगी

मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ रहेगा जय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे कुछ भी

हो जाए अपने विश्वास को कभी टूटने मत देना तुम्हारे विश्वास की डोर बहुत मजबूत है

क्योंकि मैंने देखा है तुमने हर गंभीर समस्या चाहे कैसी भी परिस्थितियां क्यों

ना हो उसका सामना में दर्ज कर किया है मेरे बच्चे मैं तुमसे यही कहना चाहती हूं

कि तुम एक बहादुर बच्चे हो इतने बहादुर कि मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व होता है

क्या तुम्हें याद है तुमने अपनी जो परिस्थितियों का सामना किया था उसमें तुमने बहुत बहादुरी दिखाई थी मेरे बच्चे

तुमने मेरे ऊपर सब छोड़ दिया था और अपने कार्य को निरंतर करते जा रहे थे जो माह में उस

कार्य को कर रहे थे जो बहुत ही ज्यादा कठिन था परंतु तुमने हार नहीं मानी और

अपने सफर में आगे बढते रहे इसी आज मैं तुम्हें यह याद दिलाने आई कि जैसे तुमने

पहले अपनी हर समस्या का डटकर सामना किया है वैसे आगे भी

हमेशा करते रहना और मैं तुमसे यही कहना चाहूंगी कि आज मैं तुमसे बहुत प्रसन्न हूं

और मैं तुम्हें आशीर्वाद दे दे कि तुम्हारी जितनी भी इच्छा है बहुत जल्द से

जल्द पूरी हो जाए इसलिए बहुत सारी चिंता त्याग दो और अपनी मंजिल की ओर आगे बढ़ते

रहो मेरे बच्चे मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व है कि तुम्हें संसार में अपनी

सकारात्मक ऊर्जा फैला र हो मैंने तुम्हें इस प्यारे से संसार में भेजा है यह

सकारात्मक ऊर्जा लोगों को भी सिखाओ लोगों से अच्छे कार्य कर रहा मेरे बच्चे हमेशा

अच्छा ही सोचो यदि कोई किसी की बुराई करता है श्र निंदा करता है तो तुम्हें उन

बुराइयों से बचना है क्योंकि यदि तुम बुराई करोगे तो तुम उसी पद पर आगे जाओगे

जो मैं कभी नहीं चाहती है इसलिए जीवन में कभी ऐसा मत करना मेरा आशीर्वाद हमेशा मेरे

बच्चों के साथ ही है मेरे बच्चे आज का यह संदेश सबको प्राप्त नहीं होगा जिन्हें भी

यह संदेश आज प्राप्त होगा वह एक पुष्टिकरण होगा कि तुम्हारी कोई इच्छा पूरी होने

वाली है तुमने जो प्रार्थना की थी मैंने उसे स्वीकार कर लिया मेरे बच्चे मैं जानती

थी कि हाला अभी ठीक नहीं है तुम्हारा मन किसी कार्य में नहीं लगता तो मैं कुछ समझ नहीं

आता तुम अपने आप को फंसा हुआ पाते हो और अपनी पीड़ा कहीं भी तो किस से कहे मेरे

बच्चे तुम्हें मैं असमंजस में दे रही परंतु आज मैं तुमसे एक वादा करती हूं

शीघ्र सब कुछ अच्छा हो जाएगा यह जीवन से चलने लगेगा तोहे कामयाबी नहीं मिलेगी ऐसा

हो सकता है अपने मन में यह विचार लाते क्यों हो मेरे बच्चे जैसे ही तुम्हारे मन

में यह विचार आते है तब मैं स्वयं तुम्हें बताती है कि रुक जाओ आज भी तुम्हें कुछ

संकेत प्राप्त हुए होंगे इस संदेश को पढ़ने के बाद बा भी कुछ संकेत दूंगी और

तुम्हें आभास हो जाएगा कि मैं क्या कहना चाहती मेरे बच्चे आज केवल किसी कारण से यह

संदेश तुम्हें प्राप्त हुआ है कि तुम कामयाबी के बहुत करीब आ गए जब मैं

तुम्हारे लिए कुछ खूबसूरत योजना तैयार करते हैं तब तुम्हें कुछ विशेष राखी होती

है यह संकेत बड़े ही अनमोल होती है मेरे बच्चे अब इन्हें तो तुम्हें स्वयं ही

समझना होगा कि ऐसे कौन से अनमोल संकेत है जो तुम्हें निरंतर प्राप्त हो रहे हैं

मैंने तुम्हारे लिए जो योजना तैयार की है उस योजना के द्वार खुल रहे हैं जैसा कि

मैंने तुम्हें पिछली बार भी कहा था आने वाला मौसम चमत्कार का है जहां लगातार

चमत्कार ही प्रारंभ होंगे अब रोज एक सुबह खास होगी जहां चार और चमत्कार ही चमत्कार

होगा मेरे बच्चे तुम इस चमत्कार को दिव्य दृष्टि से देख सकते हैं बदलाव को निकट है

तुम अपने हौसलों को मजबूत करो तुम बदला के बहुत निकट पहुंच गए हैं दीप प्रज्वलित हो

चुका है जो तुम्हारे अंधकार को मिटाया जाए अपने मन से सभी भाई निकाल दो देखने का

नजरिया बदलो खुशियां चारों ओर है अपने सारे गम भुलाकर खुद को खुशियों के लिए

तैयार करें मेरे बच्चे जहां धूप है वहां छाया भी होगा रात्रि के बाद ही सुनहरा

सुबह आता है जैसे अभी है तो जल है इसी तरह अगर जीवन में कोई परेशानी है तो उस

परेशानी का अंत भी निश्चित होता है तब तुम क्यों इतना उदास होते इसीलिए मैं कहती

चिंता छोड़कर अपने आप से प्रेम करो क्या हालत बना ली है तुमने अपनी अपना ख्याल रखो

अपने आप से प्रेम करना ही छोड़ दिया है तुमने मेरे बच्चे मैं तुम्हारे जीवन में

केवल वही करती जो तुम्हारे लिए सही है दो दिनों के अंदर तुम्हें कुछ विशेष संकेत

प्राप्त होंगे यह संकेत तो में निद्रा के स सनों में भी बोल सकते हैं जिससे तुम्हें

सुनिश्चित हो जाएगा कि जल्द ही सब बदलने वाला है मैं चाहते हैं कि चिंता मुख होकर

मुस्कुराओ मैं चाहती हूं कि तुम अपने जीवन में जीत हासिल कर इसकी शुरुआत खुद स्वयं

से करो आगे मैं तुम्हारे रथ को संभाल लूंगी देर होने से पहले तुम्हें आज यह

संदेश प्राप्त हो गया है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन की दिशा अब पूरी तरह से

बदलने वाली है आने वाले समय के बारे में मैं तुम्हें कुछ बताना चाहती इसलिए

तुम्हें इस बात को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना होगा मेरे बच्चे आने वाला समय

तुम्हारे जीवन का सबसे अच्छा और महत्त्वपूर्ण समय होगा तुम्हारे जीवन को

एक नया आया मिलेगा तुम बाहें फैलाकर आने वाली खुशियों का स्वागत करना अब समय

परेशान रहने का नहीं है अब समय है खुशी से झूमने का सुबह उठकर खुली हवा में सांस

लेना और प्राकृतिक के सु

मेरे प्रिय बच्चे कैसे हो तुम आज तुम्हारी काली माता तुम्हारे लिए एक ऐसा संदेश लेकर

आई है जिसे जानकर तुम प्रसन्नता से बहुत ही गदगद हो जाओगे क्योंकि मेरे बच्चे इस

संदेश में कुछ ऐसा ही है जिसे जानने के बात तुम्हें बहुत ही प्रसन्नता होगी मेरे

बच्चे तुम्हारे शत्रु जो तुम्हें बहुत परेशान करते थे अब उनके परेशान होने के

दिन आ गए हैं अब उनके घरों में इस प्रकार से कला और उपद्रव ने निवास कर लिया है

क्योंकि आपस में ही लड़ झगड़ कर मर रहे हैं वह इस प्रकार से लड़ रहे हैं कि एक

दूसरे के खून के प्यासे हो गए हैं उनके अंदर जो आपस का प्रेम भाव था वह सब समाप्त

हो गया है और वह अब एक दूसरे के खून के प्यासे हैं उनकी लड़ाई से पूरे मोहल्ले

में सनसनी मची हुई है मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रुओं की ऐसी दशा देखकर मैं तुम्हें

बताने के लिए आई हूं इसलिए मेरे मे बच्चे अगर तुम अपनी काली माता को दिल से मानते

हो तो इस वीडियो को अभी लाइक कर दीजिए और चैनल को सब्सक्राइब करके कमेंट में जय हो

माता रानी और हर हर महादेव जी टाइप कर दीजिए और साथ ही साथ अपने नाम का पहला

अक्षर दर्ज कर दीजिए ताकि हम तुम्हारे जीवन की सभी समस्याओं को दूर करने में मदद

कर सके मेरे बच्चे यह संदेश तुम्हारे लिए बहुत ही खास है क्योंकि इसमें आगे

तुम्हारा भी जीवन से जुड़ी हुई बहुत रोचक और आवश्यक बातें हैं जो तुम्हें आगे चलकर

तुम्हारे शत्रुओं की चाल से बचाएंगे और उनकी प्रत्येक योजनाओं को तुम्हें सूचित

करेंगे मेरे बच्चे जब किसी के कर्मों का घड़ा भर जाता है तो वह एक दिन फुट ठा

आवश्यक है मनुष्य को यह पता नहीं होता है कि जो मैं यह करू रहा हूं यह मेरे साथ

कैसा परिणाम लेकर आएगा बस वह करता रहता है वह सोचता है कि कि मैं जो कर रहा हूं उसे

कोई नहीं देख रहा है और ना मुझे कोई रोकने वाला है और नमो मुझे कोई समझने वाला है

किंतु उसका यह भ्रम होता है मेरे प्यारे बच्चे तुम यह बात हमेशा याद रखना अगर

तुमने किसी के साथ गलत किया है तो किसी ना किसी दिन तुम्हारे साथ भी वैसा ही होगा

यही आज तुम्हारे शत्रुओं के साथ हुआ है उन्होंने तुम्हारे साथ बहुत ही गंदा

व्यवहार किया है तुम्हारे हर कार्य को बाधित किया है तुम्हें हर प्रकार से

पीड़ित और परेशान किया है इसलिए अब उनके कर्मों का दंड मिल रहा है मेरे बच्चे आपके

जीवन में कुछ बहुत बड़ा घटित होने वाला है और तुम्हें इस बात के बारे में पूर्ण रूप

से अवगत कराना चाहती इसलिए मैं तुम्हारे पास आए हूं मेरे बच्चे तुम्हें सबसे पहले

मेरी बातों को सुनकर डरना नहीं है बल्कि तुम्हें केवल बातों को समझना है यदि तुम

समझ गए तो आने वाली उस उस चीज का सामना तुम बहुत आराम से कर पाएंगे क्योंकि जीवन

में घटित होने वाली अच्छी या बुरी चीजें बार-बार जीवन में आने का अर्थात प्रवेश

करने का का पूर्ण रूप से प्रयास करती है तो इसका अर्थ यह है कि तुम जब भी किसी

कार्य को करते हो तो उस कार्य से आकर्षित समय तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने का

प्रयास करता है अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी और वह बार-बार प्रयास करता है कई

बार तो अच्छा होते होते रह जाता है और कई बार बुरा होते होते रह जाता है उसका कारण केवल

इतना होता है कि तुम ध्यान नहीं देते और उसके साथ-साथ यदि कुछ बुरा होने वाला होता

है तुम्हारे पास देवीय शक्तियां होती है तुम अपने आप को सुरक्षा कवच में

सुरक्षित रखते हो इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें कोई ऐसी शक्ति नुकसान नहीं पहुंचा

पाती जो तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहती है इसके कई अर्थ होते हैं लेकिन लेकिन आज जो

मैं बताने आई हूं उसको सुनने से पहले एक बार जाए वह माता रानी जरूर लिखना इससे

मुझे बहुत प्रसन्नता होगी मेरे बच्चे जब तुम्हारे करीब कोई भी ऐसा इंसान यदि आता

है जिससे तुम्हें खतरा महसूस होता है या तुम्हें डर लगने लगता है या तुम्हारे हृदय

को यह आभास होता है कि इस व्यक्ति से तुम्हें नुकसान पहुंच सकता है तो तुम्हारा

मन बार-बार डरने लगता है और तुम से दूर हटने लगते हो तो उसके करीब नहीं जाते

लेकिन कई बार ऐसा देखने वाला व्यक्ति जिससे तुम्हें बिल्कुल

भी ना लगे तो तुम उसे पहचान ही नहीं पाओगे कि तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहता है या

नहीं चाहता या तुम्हारे करीब आने वाली ऐसी अदृश्य शक्ति है जो कि तुम्हें दिखाई नहीं

देती लेकिन ना हो तो भी नुकसान पहुंचा सकती है अब जो चीज तुम्हें दिखाई नहीं

देती उसे केवल हृदय से आभास कर सकते आंखों से देख नहीं सकते क्योंकि वह हवा

में विलीन होती है लेकिन मेरे बच्चे वहां कोई कमजोर शक्ति नहीं होती बल्कि इतनी

शक्तिशाली शक्ति होती है कि तुम्हें नुकसान पहुंचा सकती है लेकिन जब तुम्हें

कोई चीज दिखाई दे तो तुम उससे बचने का प्रयास कैसे कर सकते हैं यहां भी जानना

जरूरी है कि जो व्यक्ति तुम्हें दिखाई दे रहा है और यदि वह तुम्हें खतरा महसूस नहीं

कर पा रहा ले लेकिन तुम्हें उससे खतरा है उससे कैसे बचना है इसके साथ-साथ तुम्हें

एक बात को जान लेना होगा जो मैं तुम्हें आज बताऊंगी तुम्हें उस बात को भी जान लिया तो निश्चित

ही आने वाली चाहे कोई भी हो लेकिन तुम उससे बच जाओगे सबसे पहले तो तुम्हें इस

बात को जान लेना जरूरी है कि यदि तुम मेरी आधी अधूरी बातों को सुनोगे तो धूप से बचने

का रास्ता प्राप्त नहीं हो पाएगा यदि तुम पूर्ण रूप से बचना चाहते हो तो तुम्हें

मेरी पूरी बातों पर ध्यान देना होगा और अपने मन में हर बात को उतारना होगा

क्योंकि मेरे बच्चे एक चीज से बच सकते हो तो दूसरी से खतरा हो सकता है यदि सभी से

बचना है तो तुम्हें कुछ बातों को जान लेना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि कई बार मैं

तो तुम्हें बचा लेती है लेकिन तुम कहीं ना कहीं कोई ऐसी गलती कर देते हो तो नुकसान

तुम्हारा होने के साथ-साथ मुझे भी होता है इसलिए मेरे बच्चे आज मैं

तुम्हारी मां तुम्हें पूर्ण रूप से बचाने आई तुम किसी के नुकसान पहुंचाने पर एक ही

रास्ता ऐसा नहीं होना चाहिए कि तुम्हें कोई नुकसान पहुंचा पाए क्या तुम्हें उस

बात के बारे में अवगत ना हो और यही मेरा धर्म बदला है क्योंकि मैं एक मां और मां

अपने बच्चों की हर प्रकार से रक्षा करती है वह हमेशा अपने बच्चों का भला चाहती है

उसके मन में हमेशा यही डर लगा रहता है कि कहीं मेरे बच्चे को कोई नुकसान

ना हो जाए किसी भी कारण पास और यही मेरा है मैं भी तुम्हें बार-बार के इसलिए बताती

हूं और आगाह करती हूं जिससे कि तुम्हें जीवन में कोई भी परेशानी ना हो

क्योंकि मेरे बच्चे में मां होकर अपनी ममता को कैसे रोक सकती सबसे पहली बात तो

तुम्हें इस बात का स्मरण रखना होगा कि स्त्री हो या पुरुष यदि उसे कोई स्त्री या

उसे कोई पुरुष जबरदस्ती मित्रता ना चाता है अर्थात तुम्हारे मना करने पर भी बहुत

बार-बार तुमसे बातें करने का प्रयास करें बार-बार तुम्हारे करीब आने का प्रयास करें

और तुम उसे अनदेखा कर रहे हैं फिर भी वह तुम्हारे करीब आती चली जा रही है यहां

तुम्हारे करीब आता चला जा रहा है तुमसे मित्रता बनाने के लिए बार-बार कहता है और

तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारा मित्र बनना चाहता है या चाहते हैं तो तुम

निश्चित ही इस बात को समझने की बहुत कोई साधारण इंसान नहीं है बल्कि जो तुमसे

जबरदस्ती मित्रता निभाने की या तुम्हारे अनदेखा करने के पश्चात भी उनसे मित्रता

बनाने की कोशिश कर रही है वह जरूर कोई ना कोई परेशानी लाने वाली है क्योंकि मेरे

बच्चे उसके इरादे नेक नहीं है जो अच्छा इंसान होता है जिसकी भावनाएं अच्छी होती

है मित्रता वो भी करते हैं लेकिन ना केवल सामने वाले की भावना को देखकर मित्रता

करती है जबरदस्ती किसी के ऐसे पीछे नहीं पड़ती है और जो ऐसा करते हैं निश्चित ही

उनके मन में कुछ ना कुछ सामने वाले के प्रति गलत भावना रहती है वह कुछ ना कुछ

नुकसान पहुंचाना चाहते हैं और इसी इरादे से वहां बार-बार करीब आने की कोशिश करते

हैं जिससे कि जबकी कभी ना कभी उनसे मित्रता करें और इसी का फायदा उठाकर आपका

नुकसान करते हैं अर्थात आपके जीवन में कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान करेंगे जिससे कि आपको

जीवन भर पछताना पड़ेगा इसलिए मेरे बच्चे ऐसे व्यक्ति से सबसे पहली बात तो दूर रहना

प्रारंभ करो और दूसरा इस बात को ध्यान रखें कि यदि तुम्हें कोई भी ऐसी मानसिक

स्थिति रही है अर्थात तुम्हारा मन बार-बार किसी भी मांग को लेकर परेशान हो रहा है या

क्यों बेवजह से किसी बात से सबसे ज्यादा डर रहे हो तो तुम्हें एक बात को स्मरण

रखना चाहिए कि कोई ना कोई ऐसी शक्ति तुम्हें घेर रही है जो कि तुम्हारे हृदय

के और मस्तिष्क के अंदर नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न कर रही है अर्थात तुम्हारे मन के अंदर एक ऐसा

दृष्टिकोण बन रहा है जो कि किसी भी कार्य को ना करने के लिए उकसा रहा है और

तुम्हारी शक्ति को कमजोर कर रहा है अर्थात कहने का अर्थ यह है कि एक नकारात्मक ऊर्जा

तुम्हारे जीवन में प्रवेश कर रही जिस ऊर्जा को तुम्हें नष्ट करना होगा और यह

केवल तुम अपने ईष्ट देवता के मंत्रों का उच्चारण करके भी कर सकते हो या तुम अपनी

माता का नाम का उच्चारण करो या फिर हनुमान चालीसा चालीसा का पाठ करें क्योंकि

कुछ-कुछ शक्तियां ऐसी हैं जिनके मंत्रों का लगातार उच्चारण यदि तुम करते हो तो

निश्चित ही तो उस शक्ति का उच्चारण करते-करते उस शक्ति को अपने इर्दगिर्द विद्यमान कर लोगे इस बात का ध्यान रखो

कि कभी भी किसी भी शक्ति के मंत्र उच्चारण करने से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में

प्रवेश करने लगती है और तुम्हारे के विद्यमान हो जाती है तुम्हारी रक्षा करने

के लिए क्योंकि तुम स्वयं ही उस शक्ति को अपनी हो आकर्षित करते हैं अपने मुख से

निकले हुए एक एक शब्द से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में धीरे-धीरे करके प्रवेश

करने लगती है और यदि कोई भी नकारात्मक ऊर्जा यदि तुम्हारे मस्तिष्क में प्रवेश

करके विद्यमान हो जाती है और उसे अपने मस्तिष्क से अपने हृदय से अपने पूरे शरीर

से विकास नहीं पाते हो तो उसका मास तुम्हारे शरीर पर होने लगता है चाहती है

जैसा तुम करते हो अर्थात बहुत कुछ ना कुछ तुम्हारे जीवन में बेकार करने के लिए आती

है और बिगाड़ करके ही बाद जाती है क्योंकि उसका काम ही ऐसा होता है कहीं पर भी

विकराल रूप धारण करना अर्थात कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान कर ना किसी के प्रति मां फिर

तुम्हारे शरीर में प्रवेश करके दूसरों का नुकसान करता है क्योंकि किसी से उसको

प्रसन्नता होती है मैं तुम्हें डराना नहीं चाहती और ही मेरा उद्देश्य है तुम्हें

लड़ा था लेकिन यह सच है कि कुछ कुछ ऊर्जा ऐसी होती है किसी भी व्यक्ति की बुद्धि को

पूर्ण रूप से बंद कर देती है और उसकी सोचने समझने की शक्ति को क्षीण कर दे दी

है इसलिए कभी भी अपने ऊपर ऐसी ऊर्जा को विद्यमान मत होने दो क्योंकि यदि ऐसी

ऊर्जा विद्यमान हो जाती है तो तुम्हारे जीवन में बहुत बड़ा संकट उत्पन्न

करती है और खतरा भी लेकर आती है यदि तुम्हारे मस्तिष्क के अंदर बार-बार गलत

विचारधाराएं उत्पन्न हो रही है बिना वजह से कुछ ऐसी मानसिक स्थिति हो गई है जिसमें

तुम दूसरों का अच्छा ना सोचकर गलत भावना लेकर आ रहे हो या तुम्हारे मन के अंदर

अपने आप ही गलत भावना उत्पन्न हो रही है और तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारे

जीवन में तुम्हारे मन की जो स्थिति है वह एक अलग दिशाओं में चली गई है तुम्हें ऐसा

नहीं सोचना चाहिए फिर भी तुम्हारे मन की भावनाओं को काबू में नहीं रख पा रहे

बार-बार दुर्गुण धारणाओं को रोकने का प्रयास कर रही लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा

है तुमसे और तुम जानबूझ कर भी यह नहीं करते लेकिन तुम्हारे जीवन में ऐसा हो रहा

है यह सत्य है कि कई बार जीवन में हम जो सोचते हैं हम चाहते नहीं है और जो हम

चाहते हैं वैसा सोच नहीं पाते तो ऐसे में तुम समझ लेना कि तुम्हारे

मस्तिष्क पर किसी और चीज का वास हो चुका है अर्थात तुम्हारे हृदय में तो ईश्वर का

वास है लेकिन तुम्हारे मस्तिष्क में एक ऐसी ऊर्जा विमान हो चुकी है जिस ऊर्जा को

तुम्हारे मस्तिष्क में विद्यमान होने पर उसने तुम्हारी दिशाहीन बोर इसलिए मेरे

बच्चे शीघ्र ही तुम्हें मंत्रों का उच्चारण करना चाहिए और इन्हीं मंत्रों के उच्चारण से तुम्हारे मस्तिष्क में ईश्वर

का वास होगा और जो तुम्हारी गलत दिशा में मोदी हुई रुख है वह सही दिशा में चलने

लगेगी मेरे बच्चे इस बात को हमेशा स्मरण रखना कि तुम बहुत सोच समझकर ही किसी भी

कार्य को चुनना और यदि तुम बार-बार ऐसा आभास करने लगे होग यह तुम्हारा सूज हुआ

तुम्हारा नहीं है किसी और का है तुम्हारे हृदय को ऐसा आभास होने लगा है तुम इस पर

पूर्ण रूप से विचार करना और शक्तिशाली मंत्रों का उच्चारण प्रारंभ करना तीसरी और

सबसे जरूरी बात में तुम्हें बताना चाहती कि आज के युग में अर्थात आधुनिक युग में

जो लड़कियां हैं सभी सही है लेकिन अभी भी कुछ लड़कियां ऐसी होती है जो किसी भी

लड़की के जीवन में ऐसा नुकसान करके जाती है और नुकन के लिए ही वह प्रेम का संबंध

बनाती है वह सामने वाले को केवल लूटने और बर्बाद करने के इरादे से उसके जीवन में

आती है यदि कोई भी लड़का भावुक होता है लड़कियां उसका कई बार फायदा उठाती है हर

लड़की ऐसी नहीं होती लेकिन कुछ ऐसी होती हैं मैं उन्हें लड़कियों के लिए यह बताना

चाहती मेरे बच्चे तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लाने का या किसी के ऊपर मुसीबत आने

का कारण मत बन क्योंकि यदि तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लेकर भी

अर्थात दूसरों के प्रेम का फायदा उठाओ के और यदि लड़का ऐसा करता है लड़कियों के साथ

अर्थ किसी भी लड़की की इज्जत नहीं करता उसका मान सम्मान नहीं करता उसकी इज्जत का

ख्याल नहीं रखता तो उन दोनों के ऊपर निश्चित ही संकट आता है क्योंकि वहां आ

रही बुद्धि में गलत बात जो दोनों में से किसी की बुद्धि में आ सकती है उसके जीवन

को गलत दिशा में मोड़ कर ले जाती है और उसके कर्मों को भी एक ऐसी दिशा में मोड़

दे दी है जिससे कि उसकी बुद्धि तो कार्य कर पाती है और ना पैसा व्यक्ति सोच पाता

है क्योंकि एक व्यक्ति तो भावनाओं से किसी के साथ जुड़ता है लेकिन एक व्यक्ति केवल

स्वार्थ वर्ष किसी को अपने साथ जुड़ता है और अपने मन के अंदर षड्यंत्र भरकर रचना है

उसकी बुद्धि में केवल दूसरे को नुकसान पहुंचाने का और कुछ ना कुछ ऐसी भावना जो

किसी के प्रति किसी को नुकसान पहुंचाने की होती है और खुद का फायदा करने की होती है

बस इसी इरादे सेवा व्यक्ति ऐसा करने की कोशिश करता है

मेरे बच्चे जो लोग ऐसा करते हैं फोन को मैं आज सावधान करने आई क्योंकि यदि तुम

दूसरे के जीवन में ऐसा करोगे तो तुम्हारे जीवन में भी मुसीबत आएगी तुम्हारे जीवन

में भी संकट आएगा क्योंकि तुम अपने गमों को एक गलत दि में ले जाना होगा और जिन

लोगों के साथ ऐसा होता है उन्हें भी सावधान करने आए मेरे बच्चे तुम किसी से

प्रेम करो लेकिन ऐसा प्रेम मत करो जिसमें तुम ठगे जाओ क्योंकि थोड़ा को किसी से

प्रेम करो सोच समझकर प्रेम करो तुम्हें यदि किसी व्यक्ति से प्रेम हो जाता है या

तो भी कोई बहुत अच्छा लगता है इसमें गलती तुम्हारी नहीं है क्योंकि विदेश से प्रेम

होता है तभी जब आंखों को कोई चीज ती है और हृदय उसके पीछे भाग पड़ता है और तुम हृदय

के पीछे भाग पड़ती हो तुम चलते चले जाते हैं एक ऐसी दशा में जहां पर सामने वाला

व्यक्ति तुम्हारे प्रति छल रख कर के कार्यों को करता है और तुम उसे नहीं पाते

और नहीं परत पाते हैं क्योंकि तुम्हारी आंखों पर पट्टी बंधी होती है और जिसकी

आंखों पर पट्टी बंधी है व्यक्ति देख नहीं सकता अर्थात प्रेम की पत्ती एक ऐसी पट्टी

होती जो व्यक्ति सामने वाले को ना तो परखने की चाह

रख पाता है और ही उसे रख पाता है क्योंकि उसके मन में यह भावना आती ही नहीं कि

सामने वाला व्यक्ति षड्यंत्र भी रख सकता है क्योंकि जब वह किसी से सच्चा प्रेम

करने लगता है तो वह यह सोच नहीं पाता कि कोई ऐसा भी कर सकता है उसकी भावना को केवल

प्रेम की होती है और प्रेम उसके हृदय में वास करता है और वहां सोचता ही रहता है कि

मैं जिसे प्रेम करता हूं उसे कितना प्रेम करो जितना मेरा सामर्थ हो और जितने मेरे

बस के हो बहुत ज्यादा उसे प्रेम करो बस यही धारणा रखकर के बाद व्यक्ति सामने को

प्रेम करता चला जाता है और उसे परखने की खींचा नहीं रख पाता उसे अगर यह बात कोई

तीसरा व्यक्ति बता दे कि वहां छल कर रहा है या कर रही है तब भी उस व्यक्ति की

आंखों पर प्रेम की जो पट्टी बंधी होती है वह उस पति को उतार कर कभी भी परखने की

जांच नहीं कर पाता क्योंकि उसे कुछ दिखाई नहीं देता है सच तो उससे बिल्कुल भी दिखाई

नहीं दे पाता जब तक उसकी प्रेम की पत्ती आंखों से उतारी जाती है तब तक बहुत देर हो

चुकी होती है उसे यह जानते जानते काफी समय निकल जाता है कि उसके जीवन में क्या हो

रहा है और कोई है जो उसे छल कर रहा है धोखा दे रहा है उसे पीठ में खंजर घूप रहा

है बात-बात पर उसका झूठ बोलना बात-बात पर उसका रूठ जाना हर बात पर भून दिखाना और

बात-बात पर छोड़ के चली जाऊंगी या छोड़ के चला जाऊंगा धमकी देना और जो जिससे प्रेम

करता है वह उसकी हर बात को स्वीकार कर लेता है डर के कारण और यहां दर कोई ऐसा

वैसा दर्द नहीं होता बल्कि अपने प्रेम को खोने का दर्द होता है और यह भी सच है कि

जो सच्चा प्रेम करता वह अपने प्रेम को होने से बिल्कुल डरता है क्योंकि उसके बिना रह नहीं सकता

और रहा भी नहीं पाता है उसका फिर कहीं मन नहीं लगता उसका दिल नहीं लगता तो वह उदास

हो जाता है वह हर समय सोचता ही रहता है ना तो किसी कार्य को कर पाता है और ना ही

किसी भी कार्य को करने में उसका मन लगता है इसलिए वहां विवश हो जाता है जो जाता है

अपने प्रेम के सामने और ऐसे में ही सामने वाला व्यक्ति जो केवल उससे दिखावा कर रहा

है प्रेम का छलावा कर रहा है ब्रेक का और षड्यंत्र रच रहा है उसके प्रति वहां उसका

फायदा उठा लेता है और फिर उसके साथ धोखाधड़ी करके उसे बर्बाद करने की फिराक

में रहता है मेरे बच्चे यदि ऐसा प्रेम तुम्हारे निकट आ रहा है तो सावधान हो जाओ

क्योंकि प्रेम प्रेम नहीं है बल्कि एक बहुत बड़ा संकट है एक ऐसा संकट है जो यदि

तो उससे फंस गए एक बार तो उससे निकलना नामुमकिन के बराबर हो जाता है क्योंकि

उससे निकलते निकलते बहुत देर हो जाती है और जहां तक कहा जाए तो तुम अपना सब कुछ गवा

बैठते थे तब तुम्हें ज्ञात होता है कि मेरा सब कुछ खत्म हो चुका है मैं बर्बाद

हो चुका हूं इस प्रेम के चक्कर में इसलिए मैं तुम्हें आज आगाह करने आई है अर्थात

में समझाने आए कि तुम ऐसे किसी प्रेम के चक्कर में मत पड़ो नहीं तो तुम्हारा जीवन

खराब हो जाएगा और तुम बर्बाद हो जाओ मेरे बच्चे यह सच है कि प्रेम करना चाहिए लेकिन

उससे नहीं जो तुम्हारे साथ छलावा कर रहा है या दिखावा कर रहा है या तुमसे षड्यंत्र

रचकर बातें करता है बल्कि उससे प्रेम करो जो तुमसे सच्चा प्रेम करता है तुम पर जान

छिड़क है तुम्हारी हर बार में उसकी स्वीकृति होती है और भावनाओं से भावनाओं

का प्रेम होता है ना कि स्वास्थ्य पर मेरे बचे जिसके मन में छलावा होता है उस

व्यक्ति को तुम कुछ ही समय में प सकते हो इसलिए प्रेम करो लेकिन आंखें खोलकर आंखें

बंद करके नहीं यदि आंखें बंद करके प्रेम करोगे तो थोड़ा सा आगे जाकर ही ठोकर खा

जाओगे और मुंह के बल गिर पड़ोगे गिरने से पहले ही तुम्हें समझना होगा और संभलना

होगा और जाना होगा इस बात को कि तुम जो अभी कर रहे हैं उससे कहीं तुम्हारा कोई

नुकसान तो नहीं हो रहा ऐसा कोई व्यक्ति को नहीं है तुम्हारे जीवन में जो तुमसे छलावा

कर रहा हूं और तुम उसके बारे में पूर्ण रूप से जान नहीं पा रहे एवं उसके हाथों से

धोखा खा रहे हैं और जीवन को बर्बाद कर रहे थे क्योंकि मेरे बच्चे यदि ऐसा हो रहा है

तो आगे तुम्हें रोने का मौका भी नहीं मिल पाएगा उस समय जिस समय तुम सब कुछ दवा

बैठोगे अर्थात जो छल कर रहा है वह सब कुछ लूटकर भाग जाएगा और तुम हाथ मलते रह जाऊंगी

क्योंकि संसार में पाच मिलियन बराबर नहीं होती और सब एक से नहीं होते इसी प्रकार

प्रेम करो लेकिन देखो कि कहीं कोई तुमसे छल तो नहीं कर रहा है कहीं तो किसी के

षड्यंत्र मैं तो नहीं रहे हैं यदि तुम्हारे साथ ऐसा हो रहा है तो निश्चित ही

बहुत गलत हो रहा है और अपने आप को तुम लोग क्योंकि यदि समय रहते तुम स्वयं को नहीं

रोको होगी तो आदि तुम्हें केवल पछतावा होगा और जीवन में कुछ नहीं बचेगा ऐसे लावे से और ऐसे संकट

से बचने का केवल एक ही उपाय है कि तुम ऐसे प्रेम को तुरंत छोड़ दो और जिससे भी तुम

प्रेम करो उसे देख परक कर करो उसका प्रेम परखने के बाद ही तुम उसे पूर्ण रूप से

प्रेम करो और परखने के लिए भी तुम्हें यह देखना होगा कि सामने वाला व्यक्ति क्या सच

में तुमसे प्रेम करता है क्या उसकी भावना तुम्हारे लिए उस तरह की है जिस तरह की

तुम्हा है क्या हो उतना प्रेम कर पाएगा तुमसे जितना तुम उससे करती हूं क्योंकि

मेरे बच्चे यदि वहां बात बात पर लगता है या लगती है बात बात पर तुम्हें छोड़ने की

धमकी दे दी है बात बात पर रूठ जाती है यह बात-बात पर उसको क्रोध आता है तो ऐसा

व्यक्ति तुमसे प्रेम नहीं करता क्योंकि प्रेम करने वाला व्यक्ति कभी भी छोड़ने की

बात नहीं करेगा और प्रेम करने वाला व्यक्ति तुम्हें होने से हमेशा डरेगा मेरे ब बचे प्रेम करने वाला व्यक्ति बात बात पर

क्रोध नहीं करेगा बल्कि जहां तुमसे कुछ गलती होगी तुमसे प्यार से बात करेगा और

तुम्हें प्रेम से समझाएगा क्योंकि उसके हृदय में प्रेम है और वह इस बात को समझता

है कि किसी से यदि कोई गलती हो जाए तो उसे प्रेम से समझाने पर जितना ज्यादा समझ में

आता है उतना क्रोध बस कभी नहीं सकता और यही कारण होता है किसी भी व्यक्ति का कि

बात तुम्हें उस समय ता है जब तुम्हें कोई भी बात समझ में नहीं आ रही होती है

क्योंकि प्रेम का धर्म ही सबसे पहला यही होता है कि अपने प्रेमी को समझाएं हर बात

के लिए मनाए यदि प्रेमी क्रोधित भी हो जाता है तो प्रेमिका उसे समझाती है और

प्रेमिका यदि क्रोध होती है तो प्रेमी उसे समझाता है वह दोनों के दूसरे को समझते हैं

भावनाओं को पहचानते हैं एक दूसरे के प्रति बढ़ते मिटते हैं बल्कि अध्ययन नहीं रखते

क्योंकि बहुत प्रेम करते हैं और प्रेम खुद को खुश करने का नाम ना होकर दूसरे को ड

खुश करने का नाम होता है यदि तुम अपने प्रेम से प्रेम करते हो या तुमसे कोई

प्रेम करता है तो निश्चित ही तुम्हारी छोटी-छोटी खुशी का ख्याल रखेगा तुम कब

हंसते हो उसे हंसी आएगी तुम कब रोते हो वह दुखी हो जाएगा तुमसे कभी भी किसी भी चीज

को मानने से पहले क्रोध में नहीं आएगा और नहीं क्रोध में तुमसे कभी ज्यादा बात

करेगा जब भी बात करेगा उसकी बातों में मिठास हो इतनी मिठास की उसके सामने तुमने

सब चीज सीखी लगी लगेगी क्योंकि प्रेम तो एक आनंद है प्रेम कोई ऐसा नहीं है कि बात

किसी के ऊपर ग्रोथ करे बल्कि वहां एक मधुर संगीत की तरह है जिससे दांतों में सुना

जाए तो बहुत अच्छी द सुनाई देती है और यदि दिल से महसूस किया जाए तो वहां रंग में

में रंग लेता है जिससे कि इंसान उसके रंग में रंगने के पश्चात पूरी दुनिया में हर

चीज को में देख पाता है उसकी दुनिया ही रंगबिरंगी हो जाती है वह अपने दिल से हर

चीज को महसूस करता है और उसे यह ज्ञात होता है कि

दुनिया कितनी खूबसूरत है यही तो होता है प्रेम का असली रंग जो जिससे प्रेम करता है

उसे उसी में पूरी दुनिया दिखाई देती है और सबसे ज्यादा इंसान विवश हो जाता है अपने

प्रेम के प्रति गलत भावना सोचने के बारे में और गलत भावना विचार करने के बारे में

क्योंकि प्रेम जब होता है तो इंसान किसी के बारे में बहुत अच्छी भावना रखता है और

अच्छा सोचता है दा प्रेम होता है लेकिन कई बार गलत व्यक्ति इसी बात का फायदा उठा

लेता है उसे यह बात बहुत अच्छे से ज्ञात होती है कि जब होता है तो उसकी आंखों पर

पट्टी बंधी होती है एक तरह से वह पूर्ण रूप से दे नहीं पाता और प्यार अंधा हो

जाता है और इसी का सामने वाला व्यक्ति गलत फायदा उठाकर तुम्हारे जीवन में बर्बादी का

सबसे बड़ा मार्ग बना देता है और ऐसे में सब कुछ बिखर बिखर दे यदि व्यक्ति संभल जाए

तो भी उसका दिल टूट जाता है और यदि वह समझ पाए तो सब कुछ बिक जाता है क्योंकि मेरे

बच्चे इंसान अपने हृदय से जीता है और हृदय से ही बिगड़ता है उसका हृदय टूटा तो वहां

टूट जाता है और यदि उसके हृदय में प्रेम की जो धारणा है लगातार प्रवाह करती रहती

है तो बहुत प्रसन्न रहता है को हर बात अच्छी लगती है और संसार में जो उसका जीवन

है वहां भी अच्छी से गुजारता है हर बात में आनंद लेता है और हर बात में उसे खुशी

महसूस होती है लेकिन यहां जो प्रेम की डोर टूटती है तो इंसान को बहुत ज्यादा कष्ट

होता है लेकिन धोखा खाने से अच्छा और तुम्हारे जीवन में कोई बड़ा संकट आए उससे

ज्यादा अच्छा है कि तुम प्रेम को पहचानो यदि ऐसा प्रेम है जो कि तुम्हें शहीद रचकर

धोखा दे रहा है तुम्हें लूटने की साजिश रच रहा है तुम्हारा जीवन बर्बाद करना चाहता

है तो उसे तुरंत नहीं छोड़ सकते तो धीरे-धीरे करके छोड़ दो लेकिन अपने दिल और

दिमाग से उस व्यक्ति को निकालने का भरपूर प्रस करो क्योंकि वहां आज या तो कल

तुम्हें बर्बाद करके ही रहेगा क्योंकि ऐसा व्यक्ति जो षड्यंत्र रचता है वह किसी का

नहीं हो सकता बच्चे आज मैं तुम्हें डराने नहीं आई और न ही तुमसे तुम्हारी ट्रेन को

दूर करने आए बल्कि मैं समझाने आए क्योंकि संसार में हर व्यक्ति एक जैसा नहीं होता

जो लोग षड्यंत्र रचते हैं अपने प्रेम के प्रति और प्रेम भरा षड्यंत्र रचकर किसी को

फंसाते है केवल उन लोग लोग के लिए यह संदेश है इसलिए वहां मेरे बच्चे बच पाए

यही मेरा संदेश है और जीवन में खुद को भी भी अकेला मत समझना हमेशा ध्यान रखना मैं

तुम्हारे साथ हर पल हर क्षण में तुम्हें देख रही है और जानती हूं कि तुम्हारे जीवन

में क्या रहा है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे कुछ जरूरी बात करने आई और जो बात करने आए उसे सुनना

अति आवश्यक है क्योंकि कुछ ऐसी बातें जो मैं तुमसे करना चाहती है और कुछ ऐसी बातें

जो मैं तुम्हें बताना चाहती हूं तुम जाग थे तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन में कुछ

ही समय में चमत्कार होना प्रारंभ हो जाएगा मेरे बच्चे एक बार को स्मरण रखना कि

मैंने तुम्हारे लिए समय निकाला है तो कभी भी मेरी बातों को सुनने के लिए जरूर समय

निकालना चाहिए क्योंकि जब मैं तुम्हें कुछ जरूरी बात बता रही हूं या कोई ऐसी बात

समझा रही जिससे तुमने जीवन का फिर छुपा हुआ है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ

है जय माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम अपने जीवन को क्यों बर्बाद कर रही हो

तुम्हें क्यों डर लग रहा है मैं तुम्हारे साथ अपने अंदर की बात को सुनो और अपनी मां

काली के बताए रास्ते पर चले मेरी बात ध्यानपूर्वक सुनना जो मैं तुम्हें बताना

चाहती मेरे बच्चे जब तक तुम जवान हो तो मैं केवल और केवल सीखने का प्रयास करना चाहिए कि तुम

किस तरह के मनुष्य बनना चाहते हो यही तो समय है जोखिम लेने का नई चीजें सीखने का

और नए-नए कौशल विकसित करने का अभी भविष्य के बारे में मत सोचो अभी केवल अपने

वर्तमान पर ध्यान दो अभी तुम्हें स्वयं को जानने का प्रयास करना चाहिए अपने जीवन की

बड़ी-बड़ी बातों से ज्यादा छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए जीवन की दौड़

में तो उसके सारे छोटे सुनहरे छड़ों को अनदेखा कर देते हैं जीवन में आगे जाकर जब

तुम पीछे देखते हैं तो उन्हें आभास होता है कि असल में वह छोटी-छोटी बातें भी

तुम्हारी खुशियां थी जीवन का अनुभव करते हुए तुम कई चीजें सीखते हैं जैसे प्रेम दर

सुंदरता कृतज्ञता यही अनुभव से सीखी हुई चीजें तुम्हें जीवन की बड़ी-बड़ी घटनाओं

के लिए तैयार करती है मेरे बच्चे तुम्हारी श्रद्धा को दे देख कर मैं अत्यधिक प्रसन्न

है मैंने तुम्हारी तकलीफ देखी है मैंने तुम्हारी निराशा को जान लिया है भले ही

तुम अपने दुखों के बारे में किसी को भी नाम बताएं मगर मुझे तुम्हारे सभी लोगों का

ज्ञान है अपनी विभिन्न परेशानियों के बावजूद हमें यह समझना चाहिए कि तुम जो कुछ

भी बनना चाहते थे वहां बनने के लिए कभी भी देर नहीं होती है तुम अपने जीवन में जो

कुछ भी चाहो वहां बन सकते हो तुम्हारी क्षमताओं की कोई सीमा नहीं है यदि तुम्हें

लगता है कि तुम्हारे जीवन में बहुत देर हो चुकी है तो ऐसा बिल्कुल नहीं है जीवन में

कभी भी किसी भी बात को लेकर देर नहीं होती है तुम्हें जो कुछ भी करना है जो कुछ भी

बनना है उन सभी के लिए जीवन में कभी भी देर नहीं होती है बस तुम्हारे मन में लगन

होनी चाहिए मेरे बच्चे तुम्हें इस संसार में भेजते वक्त मेरी आशा थी कि तुम संसार

में ऐसा जीवन जी जिस पर तुम्हें घर हुए जीवन का अर्थ ही यही है कि जब इसका अर्थ

है तो तुम्हारी कोई भी इच्छा अधूरी ना रह जाए तो मैं स्वयं के जीवन पर गर्व होना

चाहिए यदि किन्हीं कारणवश ऐसा नहीं है तो तुम्हें फिर से नई शुरुआत करनी चाहिए

तुम्हारे जीवन के सबसे अंधेरे रों में भी एक रोशनी सदा जलती रहेगी तो मैं बस उस

रोशनी को देखने की हिम्मत होनी चाहिए एक बार अपना अंधकार दूर

करने बाद तो वे दूसरों के लिए प्रकाश बनना चाहे तो में सदैव याद रखना चाहिए कि जीवन

की छोटी छोटी हाथ कभी जीवन की हार नहीं होती जीवन की हार केवल तभी होती है जब तुम

हार मान लेते हो तो मन में सफलता के लिए हार नहीं माननी चाहिए और एक बार सफल होने

के बाद दूसरों को हाल से बचाने का प्रयास करना चाहिए तुम्हारी किसी भी इच्छा की

पूर्ति कभी कोई प्रार्थना नहीं करती है बल्कि स्वयं तुम्हारी प्रकृति ही तुम्हारी इच्छा

पूर्ति करती है तुम्हें यह समझना होगा कि प्रार्थना कभी भी ईश्वर की सोच पर प्रभाव

डालने के लिए नहीं की जाती बल्कि रात स्वयं तुम्हारी प्रकृति को बदलने के लिए

दी जाती है प्रार्थना का असल उद्देश्य तुम्हारे मन पर प्रभाव डालता है बार-बार

प्रार्थना करने से तुम्हारे अंदर देख विश्वास उत्पन्न होता है कि तुम जिस भी

वस्तु की इच्छा कर रही हो वह तुम्हें प्राप्त हो सक सती है यही उम्मीद तुम्हारी

इच्छा की पूर्ति की ओर सहारा प्रथम कदम है उम्मीद किसी भी व्यक्ति के जीवन में बहुत

ही आवश्यक है तुम्हारे लिए उम्मीद अंधकार में भी उजाले का कार्य करती है जब कभी

जीवन की किसी भी मोड़ पर तुम्हें कोई भी रास्ता ना दिखाई दे रहा है तो उस

परिस्थिति में एक उम्मीद ही तुम्हें रास्ता ढूंढने के लिए प्रेरित करती है संपूर्ण संसार आखिर भूमि पर ही चल रहा है

यहां तक कि परेशानी की छड़ों मैं ईश्वर तक उम्मीद को ही ढूंढने का प्रयत्न करती है

तो मैं यहां सदैव याद रखना चाहिए कि संसार में आज तक जो कुछ भी हुआ है वह सब केवल

उम्मीद द्वारा ही किया गया है सभी कार्यों के पीछे की प्रेरणा है तुम्हें कभी भी

उम्मीद का साथ नहीं छोड़ना चाहिए मेरे बच्चे में तुम्हारी व्याकुलता से अच्छी

तरह अवगत तोहे मैंने देखा है कि तुम सदैव भ्रमित रहते हो तुम्हारा मन हमेशा उलझा

रहता है तुम्हारा मन उदासीन रहने का तो जैसे आदि हो चुका है

अपने मन की इस व्याकुलता को दूर करने का रास्ता यह है कि तुम्हें सदैव अपने जीवन

में यहां ज्ञात होना चाहिए कि तुम्हें क्या करना है या जाना है इससे भी ज्यादा

तुम्हारे मस्तिष्क में यह बात निश्चित होनी चाहिए कि तुम्हें क्या करना है तुम्हें यहां निश्चित रखना चाहिए कि

तुम्हें क्या करना है जब तुम्हें यह पता चल जाएगा कि तुम्हें क्या करना है तो उस

कार्य को करने के लिए तुम्हें क्या जानकारी अर्जित करने उसका पता तुम्हें

स्वतः ही चल जाएगा जीवन में आवश्यक यह है कि तुम्हें अपने उद्देश्य का ज्ञान होना

मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जाए और माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे

तुम्हारे दुखों का अंत आज निश्चित है जो कुछ भी तुमने देखा है जो कुछ भी तुमने

सुना है और जो कुछ भी तुम्हें सहा है उन सभी का आज निश्चित है आज तुम्हारे अंदर के

ज्ञान को तुम्हें बाहर लाना होगा इसलिए अपने सुख और आनंद की प्राप्ति के

लिए इस संदेश को अंत तक सुनना यदि इसे अंत तक सुनोगे तो मैं आज एक ऐसी चीज सीखने को

मिलेंगी जो आज तक तुम्हें कभी नहीं मिली आज तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली

है क्योंकि आज मैं तुमसे बेहद प्रसन्न हूं लेकिन फिर भी मैं तुम्हें जीवन की वहां

सच्चाई बताने जा रहे हैं जिस से तुम्हें सुनना होगा और अपने जीवन को सुधारना

होगा इसलिए अपनी माता को ध्यानपूर्वक सुनना ताकि तुम्हें जीवन में कभी किसी के

आगे झुकना ना पड़े मेरे बच्चे तुम जीवन में खुशियां ढूंढना चाहते हैं किंतु यह

क्यों भूल जाते हो कि खुशी तो तुम्हारी आसपास है और बहुत तुम्हें भी देख

सकती है जब तुम छोटी-छोटी चीजों में भी खुशियां बूंढो जैसे एक बच्चा अपनी मां में

सारी खुशी ढूं लेता है ऐसे ही तुम्हें भी सारी खुशियां हर जगह मिल सकती है बस

उन्हें महसूस करने की कोशिश करो लेकिन मेरे बच्चे तुम अक्सर उन चीजों में खुशी

देखते हो जो चीज काफी बड़ी होती है या जो तुम्हारे मन की ख्वाहिश होती है किंतु जब

तुम्हारी हर ख्वाहिश पूरी नहीं होती तो क्यों उदास हो जाते हैं किंतु तुम यह भूल

जाते हैं कि यदि उसी को अपने मन की इच्छाओं के रूप में देखने की कोश करोगे तो

तुम कभी खुश नहीं हो सकते आज मैं तुम्हें जो खुशी देने जा रही उस खुशी को महसूस

करने के लिए में स्वयं के अंदर कुछ बदलाव करने होंगे और यह खुशी तो केवल उन्हीं

लोगों से प्राप्त होगी जो तुम्हारे जीवन में है और जिनसे तुम्हारा जीवन जुड़ा हुआ

है मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को अपने जीवन में अपना लोगे तो तुम्हारा जीवन स्वर

से भी अच्छा हो जाएगा और उसके लिए केवल तुम्हें कुछ चीजों का त्याग करना होगा जो

मैं तुम्हें बताने जा रहे हैं ऐसी चीज तुम्हारे जीवन को बर्बाद कर दी यदि तुम इन

चीजों को छोड़ दोगे तो स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने लगेगा और जिस खुशी की तलाश

कर रही हो वहां तुम्हें प्राप्त हो जाएगी अपने अंदर की चीजों का निर्माण करना यह

तेजी से वह चीज है जो तुम्हारे भीतर फैले पाप का नाश करें और यदि तुमने तीन चीजों

को अपने जीवन में अपना लिया तो यकीन करो तुम्हारा जीवन पाप से मुक्त हो जाएगा पहली

चीज स्वयं के प्रति विश्वास मेरे बच्चे यदि तुम स्वयं के प्रति विश्वास जागृत कर

लोगे तो तुम्हारे मन में जितनी भी शंकाएं हैं और जो भी डर है वह स्वयं समाप्त हो

जाएंगे विश्वास एक ऐसी चीज है जो इंसान को बलवान करती है यदि तुम्हारे अंदर विश्वास

है तो तुम किसी भी चीज को हासिल कर सकते हैं चाहे वह कितनी ही कठिन क्यों ना हो को

दूसरी चीज प्रेम है यदि तुम अपने अंदर प्रेम का बीज बोए तो मेरा यकीन करो इस

संसार में किसी भी प्रकार का दुख तुम्हारे अंदर नहीं रहेगा क्योंकि जहां प्रेम होता

है वहां नफरत की थी स्वयं ही समाप्त हो जाता है यह तुम भी जानते हैं कि प्रेम

वहां भाषा है जो जानवर को ही समझ में आ जाती है यदि तुम उसे ट्रेन दोगे तो वहां

भी तुम्हें तभी नुकसान नहीं देगा बल्कि तुमसे भी उतना ही प्रेम

करेगा जितना तुम उससे करोगे तीसरी और सबसे अहम चीज रहा है जो हर मनुष्य में पाई जाती

है और उसका नाम क्रोध है मेरे बच्चे तुम्हें यहां पर रोड का त्याग करना है यदि

तुमने क्रोध का त्याग कर लिया तुम बड़ी से बड़ी विपत्ति में ठंडे दिमाग से काम ले

सकते हो क्योंकि जो मनुष्य क्रोध में आकर कोई फैसला या कार्य करता है तो आगे चलकर

पछताते हैं उन्हें उस समय क्रोध के चलते कुछ समझ नहीं नहीं आता किंतु बाद में जब

उन्हें समझ में आता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है इसलिए मेरे बच्चे विश्वास

प्रेम और क्रोध का प्यार यह तीनों चीज जिस दिन तुम्हारे अंदर आ गई उस दिन ऐसा कोई भी

कार्य नहीं है जो ना कर सको अब यह तुम्हारे ऊपर है कि तुम किस प्रकार से

कार्य कर सकते हैं और किस प्रकार से कार्य नहीं कर सकते स्वयं की शक्तियों को

पहचानने के लिए तुम्हें अपने भीतर इन तीन चीजों का निर्माण करना होगा मेरे बच्चे

तुम जब कभी भी अपने घर में अन्न बनाते हो यदि अन्न बच जाता है तो उस बस हुए अन्य को

बर्बाद मत करना बल्कि उसे किसी गरीब इंसान को या फिर गौ माता को खिला देना ऐसा करने

से तुम्हें पुण्य प्राप्त होगा मेरे बच्चे वहां अन्य भी बर्बाद नहीं होगा तभी दिखाने

को बर्बाद करके अन्नपूर्णा माता का अपमान मत करना जिस घर में अन्नपूर्णा माता अपमान

होता है है वहां खाने की कमी सदा बनी रहती है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपनी माता के इस

बात को ो स्मरण रखो कि तुम्हारा जीवन खुशियों में लाने के लिए यह गोल अति

आवश्यक है इस संसार में हर कोई चाहता है कि उससे सब प्रेम से बात करें उसकी इज्जत

करें यहां कोई नहीं चाहता कि मैं भी सामने वाले को प्रेम दू उसकी इज्जत करें और जब

तक यह सोच तुम्हारे अंदर नहीं आ जाएगी तब तक तो में भी दू दूसर से प्रेम नहीं मिल

सकेगा पहले अपने मन में इस सोच को लाओ यदि तुम्हें दूसरों से प्रेम चाहिए तो तुम्हें

पहले दूसरों को दो प्रेरित करना होगा सभी चाहते हैं कि हमें कोई परेशान ना करें

हमारा दिल नहीं दुखाया हम पर कभी कोई क्रोध ना करें किंतु हम यह भूल जाते हैं

कि इन चीजों की शुरुआत पहले हमें स्वयं के ऊपर करनी होगी स्वयं क्रोध करना बंद करना

होगा दूसरों को परेशान करना बंद करना होगा तब जाकर हमें भी खुशी मिलेगी और यह सब

चीजें तभी संभव है जब तुम्हारे मन में शांति यदि तुम्हारे मन में शांति नहीं है

तो तुम कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकते और यदि तुम्हारा मन शांत है तो इस संसार की

प्रत्येक चीज में तुम्हें शांति का अनुभव होगा और वहां शांति में उसी प्रदान करें

जिस खुशी की तलाश हर इंसान करता है जिस दिन तुम यह सभी चीजें करना प्रारंभ कर

दोगे उस दिन से तुम्हें पूर्ण शांति की प्राप्ति मिलने लगेगी और शांति तुम्हारे

जीवन को पूर्ण रूप से बदल देगी यदि तुम्हारे पास पैसे नहीं है और सारी सुख

सुविधाएं भी परंतु किसी एक चीज को ड लेकर तुम्हारे मन में अशांति है तो वह चीज

तुम्हारे मन को भटका कर रहेगी और किसी चीज को इच्छाएं कहते हैं जो अधूरी रहती है तो

मनुष्य भटकता रहता है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने मन की उन इच्छाओं पर काबू पाने

कि कोशिश करो जो तुम्हारे जीवन के लक्ष्य को भटकाती हैं यह याद रखो कि तुम्हारा

जीवन का लक्ष्य केवल तुम्हारा ही है यदि तुम्हें अपने लक्ष्य पर पूर्ण नियंत्रण

चाहिए वे स्वयं पर नियंत्रण करना होगा मेरे बच्चे में तुम्हारी माता तुम्हारे

लिए चिंतित है यदि तुम अपनी माता की बातों को समझ गए तो तुम्हारा जीवन आज से ही

बदलना शुरू हो जाएगा और मैं चाहती हूं कि तुम मेरे द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलो एक

माता अपने बच्चे से केवल इतना मांग रही है कि तुम सदा अच्छी तरह करके सच्चाई की राह

पर चले मेरे बच्चे तुमने जो मेरी भक्ति की है और भक्ति के चलते जो प्यार मुझसे किया

है वैसा ही प्यार तुम्हारी भी तुमसे ही करती है और जब भी तुम किसी राह पर भटकते

हो तो तुम्हारी मां को चिंता होने लगती है और मेरा हृदय रोने लगता है लेकिन मैं

जानती हूं कि तुम मेरी बहन बच्चे हो जो अपनी माता की थोड़ी सी चिंता से ही घबरा

जाते है इसलिए मेरे बच्चे अब समय आ गया है तुम्हें उचित मार्ग पर ले जाने का मैं

तुम्हारे जीवन का कल्याण चाहती और तोहे भी मेरी बातों को मानना होगा यही मेरा आदेश

है मैं नहीं चाहती कि मेरा बच्चा इस दुनिया की भीड़ में कहीं खो जाए या फिर

ऐसी ही भटकते रहे तुम्हारी मां तुमसे जितना अधिक प्रेम करती है उतना ही

तुम्हारी चिंता भी अब तो अपना ध्यान रखना और अपने जीवन को अच्छा करने के लिए मेरी

बताए हुए मार्ग पर चलना मैं चाहती हूं मेरे हृदय को मत दुखाना मेरे बच्चे अपनी

माता की बातों को आज मानकर कार्य करना मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है जय मां

काली हर हर महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे अत्यंत महत्त्वपूर्ण बात करना चाहता हूं जो भविष्य में

तुम्हारे साथ घटेगी मेरी बातों को ध्यान से सुनो आज मेरे मुख से निकला एक एक शब्द

तुम्हारे लिए भविष्यवाणी है आज मैं तुमसे यह बताना चाहता हूं कि तुम्हारे जीवन का

अंत कैसा होगा तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में क्या सोचेंगे मेरे बच्चे जितने

भी लोग इस संसार में जन्मे हैं उनका कोई ना कोई उद्देश्य होता है अपने उद्देश्यों

को पूरा करके हर किसी को एक ना एक दिन इस संसार को छोड़ना है अपनी जीवन यात्रा में

मनुष्य कई बार गिरता है कई बार संभलता है कभी हसता है तो कभी रोता है ऐसे में

मनुष्य हजारों सपने सजाता है कुछ के पूर्ण होते हैं और कुछ के अधूरे रह जाते हैं

मेरे बच्चे तुमने भी बड़े सपने सजाए हैं और उन्हें पूर्ण करने के लिए तुम कठिन

परिश्रम भी कर रहे हो किंतु अभी तक तुम्हें सफलता नहीं मिली है लेकिन मेरे बच्चे क्या तुमने कभी सोचा है कि तुम्हारे

ही जीवन में इतने दुख क्यों है जबक तो एक सच्चे इंसान किसी का दुख तुमसे देखा नहीं

जाता तुम्हारी भक्ति सच्ची है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में इतने संघर्ष इसलिए है

क्योंकि तुम कुछ और चाहते हो और मैं कुछ और चाहता हूं तुम जो पाना चाहते हैं उससे

कई गुना ज्यादा मैं तुम्हें देना चाहता है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है तो उस समय

भी अधिक लगेगा किंतु शीघ्र ही तुम्हारे जीवन में कई बड़े बदलाव होंगे और अपनी

बेहन और साहस के बल पर सफलता प्राप्त करेंगे किंतु तुम्हें मिलने

वाली यहां सफलता बहुत बड़ी नहीं लेकिन यहां वहां कुंजी है जो तुम्हें तुम्हारे

अंतिम गंतव्य तक ले जाएगा मेरे बच्चे जब तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में होंगे

तो तुम्हारा मन संतोष एवं शांति का अनुभव करेगा तुम्हारे जीवन का अंत बेहद दुखद

होगा तुम्हारी कोई भी सपने अधूरे नहीं रहे तुम अपना पूर्ण जीवन जीकर ही संसार त्याग

होगी और तुम अपने जीवन में कई ऐसे कार्य करोगे कि तुम्हारे जाने पर केवल तुम्हारे

परिजन को ही नहीं पूरे समाज को होगा हर किसी की आंखों में तुम्हारे लिए आंसू

होंगे और तुम्हारे जाने के बाद लोग तुम्हें याद करेंगे कुछ ऐसा होगा तुम्हारे

जीवन का किंतु अभी तो यह तुम्हारे जीवन का आरंभ में है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है

अब आगे बढ़ो मेरे बच्चे और अपने उद्देश्यों को पूरा करो मेरा आशीर्वाद सदा

तुम्हारे साथ रहेगा जाय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश

प्राप्त हुआ है तो तुम्हारे जीवन की समस्याएं आज समाप्त होने वाली है मेरे

बच्चे मेरी तीन बातों पर विशेष ध्यान देते हैं तुम्हारी हर परेशानी दूर हो जाएगी

सुबह से लेकर शाम तक और हर समय उठते बैठते जागते तुम्हारे मन में यही विचार हमेशा

लगा रहता है कि मेरे साथ ही ऐसा क्यों हो रहा है मैंने गलती की है मेरा क्या दोष है

मैंने तो कुछ गलत किया भी नहीं फिर भी मेरे साथ क्या हो रहा है मैं क्यों इतना

परेशान संसार के सभी व्यक्ति बहुत खुशहाल है और मेरे जीवन में कोई भी परेशानी मेरा

पीछा नहीं छोड़ रही है तुम्हारा मन सदा अपनी नाकामियों से परेशान रहता है कोई भी

नया कार्य प्रारंभ करते थे लेकिन अधूरा रहता है या पूरा होते होते रुक जाता है कई बार तो

तुम्हें ऐसा लगता है कि तुम किसी भी कार्य को नहीं कर पाओगे तुम्हारा हृदय यहां

मानने लगा है कि कोई भी काम सफल नहीं हो पा रहा है तुम्हारा विश्वास टूटने लगा है

डगमगाने लगा है तुम्हें ऐसा लग रहा है कि तुम्हारे जीवन में पता नहीं आगे क्या होने

वाला है आगे के सभी रास्ते बंद दिखाई दे रहे हैं ऐसा लग रहा है कि जीवन में कुछ

बचा नहीं है और तुम्हारा कोई साथ नहीं दे रहा है लेकिन मेरे बच्चे अभी भी कुछ

रास्ते खुले हुए हैं शजन पर चलकर तुम अपनी मंजिल को प्राप्त कर सकते हैं अपनी हर

परेशानी को समाप्त कर सकते हैं अगर कुछ कमी है तो उन पर चलने की आज मैं तुम्हें

तीन काम बताऊंगी बातों को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना और करना है पहले जीवन में

प्रतिदिन संध्या काल तुम अगले दिन के लिए यह निश्चय कर लो कि आज की गई गलती को कल

वोके कहने का अर्थ है कि पीछे की जो भी चीजें छूट रही

उनको नहीं दोहराएंगे आगे जब तुम्हें चलना है तो तुम्हें एक नए रास्ते को बनाते हुए

पीछे की गलतियों को छोड़कर चलना है तभी तुम उस मुकाम पर पहुंच सकते हैं जहां तक

पहुंचना चाहते हो दूसरा खुद के मार्ग खुद बना सुनो सबकी करो अपने हृदय की तुम्हारा

हृदय जब सबकी बातों को सुनने के बाद जो कहता है अंदर से जो विश्वास तुम्हारा जाता

है उसी को करो और तीसरा तुम सोच से जदा हो और काम करते हो जो भी विचार

तुम्हारे मन में आता है उस पर तुरंत काम करना प्रारंभ कर देना चाहिए ना कि तुम

सोचते सोचते अपने समय को व्यर्थ में दवाओ भले ही तो चिंताओं से घिरे हुए कितनी भी

भोजन से मायूस हो चुके हो फिर भी यदि तुम्हें इन परेशानियों से निकलना है तो

किसी भी मार्ग पर तुरंत काम करने से तुम्हारे समय की बचत होगी और उस पर

जितना जल्दी काम कर सकते हैं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से निकल जाएगा और उस

पर जितना जल्दी हो सके तो काम कर सकते हो नहीं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से

निकल जाएगा वही तुम्हें भी प्राप्त होगा जो तुम्हें चाहिए इस बात का ध्यान रखना

परेशानियां तब भीड़ की है जब तुम परेशानियों को देखकर अपने कदमों को पीछे

हटा दे इसलिए कभी भी परेशानियों से डरो मत उसका डटकर सामना करो जो डटकर सामना करके

आगे जाने की हिम्मत रखते हैं निश्चित ही हर परेशानी का सामना

कर लेते हैं क्योंकि किसी भी चीज से डरना ही असफलता का मुख्य कारण है और संसार में

ऐसी कोई चीज नहीं जो तुम नहीं कर सकते अगर कुछ कमियां है तो सोचकर केवल मन लगाकर

करने की जैसे ही इसे करोगे हर परेशानी से निकल जाओगे अब जो तुम्हें बताने जा रहे

हैं यह बात आज तक तुम्हें किसी ने भी नहीं बतानी होगी मेरे बच्चे तुम्हारी सफलता का

रहस्य यहां छुपा हुआ है तुम प्रयास करते हो दूसरे को देखने का तुम

देखने का प्रयास करती हूं कि वह जीवन में आगे कैसे बढ़ रहा है आगे बढ़ने के लिए बात

क्या कर रहा है और जो भी बात कर रहा है उनका उन्हें लाभ कैसे होगा तुम प्रयास

करते हैं उनके जीवन में देखने की उनकी गतिविधियों को तुम देखने और समझने का

प्रयास करते हैं इसलिए तुम पीछे छूट जाते हैं जीवन में यदि तुम आ आगे बढ़ना चाहते

हो तो तुम्हारी दृष्टि भी आगे की बोली चाहिए कदम भी उसी मार्ग पर आगे बढ़ाना

चाहिए अपनी गतिविधियों को देखो अपनी योजनाओं को देखे अपने प्रयासों को अपने

अनुभव को समझो और उसी मार्ग पर आगे हैं ऐसी कोई सफलता नहीं जो तुम्हें प्राप्त

नहीं होगी तो में कोई ना कोई विशेष है और तुम में कोई ना कोई दोष भी है यह

प्राकृतिक तुम्हें क्या सिखाती है यह सभी एक दूसरे से लड़ते नहीं है एक दूसरे के

लिए बाधा नहीं बनते बस अपना कर करते हैं सूर्य अपने प्रकाश से वनस्पतियों के पेड़

पौधों को जन्म देता है में वर्षा करते हैं लोग होते हैं पर्वत की यहां चलता है उस

वसा को एक दिशा देती है एक धारा बनती है जो बहती है यह सब क्या है यह सब एक संयोग

है चक्र है सभी साथ मिलकर अपना कन करते हैं अभी यहां प्राकृतिक जी जीवित है यही

तो वे भी करना है सहयोग में रहकर काम करना है किसी के लिए बांधा नहीं बनना है किसी

को छोटा नहीं समझना है ऐसे ही करते रहना है सबके साथ मिलकर कम करना है

प्राकृतिक ब्लीच भी यही सिखाती है मेरे बच्चे एक प्रबल मन कठिन परिस्थितियों को

एक चुनौती के रूप में देखता है और चुनौतियों में अवसर को देखता है यही

तुम्हें भी करना है इस संसार में किसी को भी दोषी मानने से तुम्हा सी समस्या सुलझ

नहीं जाएगी इसलिए इस संसार को दोष देने के स्थान पर उस समस्या की जड़ तक जाए उसे

समझो और अपने इस मन को प्रबल बना यदि तुम्हारा मन प्रबल हो गया तो इस संसार में

बड़ी से बड़ी कठिन से कठिन परिस्थितियां क्यों ना आ जाए तुम्हारे जीवन में बड़ी से

बड़ी समस्या क्यों ना बन जाए तुम अपने जीवन में आसानी से उसे पार कर सकते हो

क्योंकि तुम मेरे प्यारे बच्चे और मैं तुम्हें कभी दुखी नहीं देखना

चाहती इसलिए मेरी बातों का विशेष ध्यान देना मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

जय हो माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम्हारी आंखों के समक्ष यदि मेरा संदेश

आया है तो निश्चित ही तुम्हें आज मेरा यह एक वरदान प्राप्त होगा जिसके लिए पूरा

संसार तरस रहा है वहां तुम्हें प्राप्त होगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम बहुत

भाग्यशाली हो तुम्हारे अंदर यहां एक बहुत अच्छा गुण है कि तुम किसी को गिराने की

कोशिश नहीं करते हो लेकिन अब मेरी कही हुई बात पर विशेष ध्यान दो संसार में हर

व्यक्ति को क्या चाहिए किस चीज में उसकी खुशी है भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यक्तियों

की भिन्न-भिन्न प्रकार की खुशियां हो रही है लेकिन खुशियां कुछ चीजों से ही लगभग

सबकी जुड़ी होती है जैसे कि किसी को धन चाहिए किसी को संतान चाहिए किसी को घर

चाहिए किसी को व्यवसाय चाहिए लेकिन हर चीज जुड़ी हुई केवल एक चीज से है और वह चीज है

इस संसार में प्राप्त होने वाले आपकी अच्छी किस्मत अगर आपकी किस्मत अच्छी होगी

तो आपको कोई भी चीज मुफ्त में मिल जाएगी जरूरी नहीं कि आपको पैसे ही टमाटर थोड़ी

चीज प्राप्त हो बल्कि आपकी बुद्धि इतनी बलवान होगी कि आप उससे कम पैसों में भी

बड़े से बड़े मुकाम पर पहुंच सकते हैं क्योंकि संसार में बड़े मुकाम पर पहुंचने

के लिए तुम्हें जो चाहिए वह मैं तुम्हें आज बताऊंगी और वहां तक पहुंचने का रास्ता

भी बनाम लेकिन तुम भी मुझसे एक वादा करो कि तुम वहां तक पहुंचने के लिए पहल स्वयं

करो करोगे इसके लिए तुम्हें बुरा बनना होगा एक बात ध्यान रखना जितने ज्यादा बुरे

बनोगे उतना ही सफल हो जाओगे बुरे का अर्थ किसी का गलत करना नहीं होता बुरे बनो

स्वयं के लिए इस तरह बन जाओ के जीवन में जो तुम लोग उसे प्राप्त करने की शक्ति

तुम्हारे पास स्वयं ही आज भी अपने मन को दृढ़ निश्चय लेने वाला एक कठोर पत्थर की

तरह बना लो यदि तुम्हारे निर्णय पर तुम पूर्ण रूप से कार्य करने वाला और अपने कहे हुए वचनों पर

खरा उतरने वाला बच्चा तो तुम रामचंद्र जी के बारे में स्वयं जानते हो कि उन्होंने

अपने वचनों पर खरा उतरने के लिए सीता माता को लेकर मतभेद निवास किया था और वह इसलिए

महान और पूजनीय स्थान पर प्राप्त हुए जीवन में उन्हें महाराजा बनाया गया और ऐसे कई

राजा है जो अपने वचनों पर खरे उतरे हैं तो जीवन में हर माह उनको मंजिल पर पहुंचाना

है मेरे बच्चे तुम्हें मुझसे डरने की आवश्यकता नहीं क्योंकि मैं भले ही

तुम्हारे समक्ष गांधी रूप में प्रस्तुत लेकिन मैं दर असल तुम्हारी पार्वती मानी

और मेरा हृदय बहुत ही कोमल है मेरे बच्चे शक्ति ता उत्पन्न होती है जब तुम स्वयं उस

शक्ति को अपनी ओर आकर्षित करते हो जब तुम स्वयं अपनी बोली में हर बात पर खरे उतरने

लगते हैं और अपने वचनों से पीछे नहीं हटते तो स्वयं तुम्हारे अंदर शक्ति विद्यमान हो

जाती और शक्ति में तुम्हें जो चाहिए उसे प्राप्त करने के लिए तुम अपने मन को एकांत

में शक्ति को अर्जित करने की कोशिश करो जितना तुम अपने मन को शांत रखोगे हर

बाधाओं के नहीं और शांत मन से अपने हृदय की विचारधारा को उत्पन्न होने दोगे तभी

पूर्ण लाभ उठा पाएंगे जी में जब भी तुम्हारी मुश्किल घड़ी होती तो मेरी शक्ति

को तभी महसूस कर पाएंगे जब तुम अपने आप को स्वयं गलत कार्यों से बचाकर रखनी होगी

इसके साथ कि आपके अंदर जो शक्ति उत्पन्न होती है वह सही गलत का मार्गदर्शन भी करती

है और गलत रास्तों पर जाने से रोकती है और सही मार्ग पर तुम्हें आगे बढ़ाने की और

ज्यादा शक्ति प्रदान करती है तुम निश्चित पूर्व ग्रहो में तुम्हारी रक्षा करेंगी

मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ रहेगा जय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे कुछ भी

हो जाए अपने विश्वास को कभी टूटने मत देना तुम्हारे विश्वास की डोर बहुत मजबूत है

क्योंकि मैंने देखा है तुमने हर गंभीर समस्या चाहे कैसी भी परिस्थितियां क्यों

ना हो उसका सामना में दर्ज कर किया है मेरे बच्चे मैं तुमसे यही कहना चाहती हूं

कि तुम एक बहादुर बच्चे हो इतने बहादुर कि मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व होता है

क्या तुम्हें याद है तुमने अपनी जो परिस्थितियों का सामना किया था उसमें तुमने बहुत बहादुरी दिखाई थी मेरे बच्चे

तुमने मेरे ऊपर सब छोड़ दिया था और अपने कार्य को निरंतर करते जा रहे थे जो माह में उस

कार्य को कर रहे थे जो बहुत ही ज्यादा कठिन था परंतु तुमने हार नहीं मानी और

अपने सफर में आगे बढते रहे इसी आज मैं तुम्हें यह याद दिलाने आई कि जैसे तुमने

पहले अपनी हर समस्या का डटकर सामना किया है वैसे आगे भी

हमेशा करते रहना और मैं तुमसे यही कहना चाहूंगी कि आज मैं तुमसे बहुत प्रसन्न हूं

और मैं तुम्हें आशीर्वाद दे दे कि तुम्हारी जितनी भी इच्छा है बहुत जल्द से

जल्द पूरी हो जाए इसलिए बहुत सारी चिंता त्याग दो और अपनी मंजिल की ओर आगे बढ़ते

रहो मेरे बच्चे मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व है कि तुम्हें संसार में अपनी

सकारात्मक ऊर्जा फैला र हो मैंने तुम्हें इस प्यारे से संसार में भेजा है यह

सकारात्मक ऊर्जा लोगों को भी सिखाओ लोगों से अच्छे कार्य कर रहा मेरे बच्चे हमेशा

अच्छा ही सोचो यदि कोई किसी की बुराई करता है श्र निंदा करता है तो तुम्हें उन

बुराइयों से बचना है क्योंकि यदि तुम बुराई करोगे तो तुम उसी पद पर आगे जाओगे

जो मैं कभी नहीं चाहती है इसलिए जीवन में कभी ऐसा मत करना मेरा आशीर्वाद हमेशा मेरे

बच्चों के साथ ही है मेरे बच्चे आज का यह संदेश सबको प्राप्त नहीं होगा जिन्हें भी

यह संदेश आज प्राप्त होगा वह एक पुष्टिकरण होगा कि तुम्हारी कोई इच्छा पूरी होने

वाली है तुमने जो प्रार्थना की थी मैंने उसे स्वीकार कर लिया मेरे बच्चे मैं जानती

थी कि हाला अभी ठीक नहीं है तुम्हारा मन किसी कार्य में नहीं लगता तो मैं कुछ समझ नहीं

आता तुम अपने आप को फंसा हुआ पाते हो और अपनी पीड़ा कहीं भी तो किस से कहे मेरे

बच्चे तुम्हें मैं असमंजस में दे रही परंतु आज मैं तुमसे एक वादा करती हूं

शीघ्र सब कुछ अच्छा हो जाएगा यह जीवन से चलने लगेगा तोहे कामयाबी नहीं मिलेगी ऐसा

हो सकता है अपने मन में यह विचार लाते क्यों हो मेरे बच्चे जैसे ही तुम्हारे मन

में यह विचार आते है तब मैं स्वयं तुम्हें बताती है कि रुक जाओ आज भी तुम्हें कुछ

संकेत प्राप्त हुए होंगे इस संदेश को पढ़ने के बाद बा भी कुछ संकेत दूंगी और

तुम्हें आभास हो जाएगा कि मैं क्या कहना चाहती मेरे बच्चे आज केवल किसी कारण से यह

संदेश तुम्हें प्राप्त हुआ है कि तुम कामयाबी के बहुत करीब आ गए जब मैं

तुम्हारे लिए कुछ खूबसूरत योजना तैयार करते हैं तब तुम्हें कुछ विशेष राखी होती

है यह संकेत बड़े ही अनमोल होती है मेरे बच्चे अब इन्हें तो तुम्हें स्वयं ही

समझना होगा कि ऐसे कौन से अनमोल संकेत है जो तुम्हें निरंतर प्राप्त हो रहे हैं

मैंने तुम्हारे लिए जो योजना तैयार की है उस योजना के द्वार खुल रहे हैं जैसा कि

मैंने तुम्हें पिछली बार भी कहा था आने वाला मौसम चमत्कार का है जहां लगातार

चमत्कार ही प्रारंभ होंगे अब रोज एक सुबह खास होगी जहां चार और चमत्कार ही चमत्कार

होगा मेरे बच्चे तुम इस चमत्कार को दिव्य दृष्टि से देख सकते हैं बदलाव को निकट है

तुम अपने हौसलों को मजबूत करो तुम बदला के बहुत निकट पहुंच गए हैं दीप प्रज्वलित हो

चुका है जो तुम्हारे अंधकार को मिटाया जाए अपने मन से सभी भाई निकाल दो देखने का

नजरिया बदलो खुशियां चारों ओर है अपने सारे गम भुलाकर खुद को खुशियों के लिए

तैयार करें मेरे बच्चे जहां धूप है वहां छाया भी होगा रात्रि के बाद ही सुनहरा

सुबह आता है जैसे अभी है तो जल है इसी तरह अगर जीवन में कोई परेशानी है तो उस

परेशानी का अंत भी निश्चित होता है तब तुम क्यों इतना उदास होते इसीलिए मैं कहती

चिंता छोड़कर अपने आप से प्रेम करो क्या हालत बना ली है तुमने अपनी अपना ख्याल रखो

अपने आप से प्रेम करना ही छोड़ दिया है तुमने मेरे बच्चे मैं तुम्हारे जीवन में

केवल वही करती जो तुम्हारे लिए सही है दो दिनों के अंदर तुम्हें कुछ विशेष संकेत

प्राप्त होंगे यह संकेत तो में निद्रा के स सनों में भी बोल सकते हैं जिससे तुम्हें

सुनिश्चित हो जाएगा कि जल्द ही सब बदलने वाला है मैं चाहते हैं कि चिंता मुख होकर

मुस्कुराओ मैं चाहती हूं कि तुम अपने जीवन में जीत हासिल कर इसकी शुरुआत खुद स्वयं

से करो आगे मैं तुम्हारे रथ को संभाल लूंगी देर होने से पहले तुम्हें आज यह

संदेश प्राप्त हो गया है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन की दिशा अब पूरी तरह से

बदलने वाली है आने वाले समय के बारे में मैं तुम्हें कुछ बताना चाहती इसलिए

तुम्हें इस बात को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना होगा मेरे बच्चे आने वाला समय

तुम्हारे जीवन का सबसे अच्छा और महत्त्वपूर्ण समय होगा तुम्हारे जीवन को

एक नया आया मिलेगा तुम बाहें फैलाकर आने वाली खुशियों का स्वागत करना अब समय

परेशान रहने का नहीं है अब समय है खुशी से झूमने का सुबह उठकर खुली हवा में सांस

लेना और प्राकृतिक के सु

मेरे प्रिय बच्चे कैसे हो तुम आज तुम्हारी काली माता तुम्हारे लिए एक ऐसा संदेश लेकर

आई है जिसे जानकर तुम प्रसन्नता से बहुत ही गदगद हो जाओगे क्योंकि मेरे बच्चे इस

संदेश में कुछ ऐसा ही है जिसे जानने के बात तुम्हें बहुत ही प्रसन्नता होगी मेरे

बच्चे तुम्हारे शत्रु जो तुम्हें बहुत परेशान करते थे अब उनके परेशान होने के

दिन आ गए हैं अब उनके घरों में इस प्रकार से कला और उपद्रव ने निवास कर लिया है

क्योंकि आपस में ही लड़ झगड़ कर मर रहे हैं वह इस प्रकार से लड़ रहे हैं कि एक

दूसरे के खून के प्यासे हो गए हैं उनके अंदर जो आपस का प्रेम भाव था वह सब समाप्त

हो गया है और वह अब एक दूसरे के खून के प्यासे हैं उनकी लड़ाई से पूरे मोहल्ले

में सनसनी मची हुई है मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रुओं की ऐसी दशा देखकर मैं तुम्हें

बताने के लिए आई हूं इसलिए मेरे मे बच्चे अगर तुम अपनी काली माता को दिल से मानते

हो तो इस वीडियो को अभी लाइक कर दीजिए और चैनल को सब्सक्राइब करके कमेंट में जय हो

माता रानी और हर हर महादेव जी टाइप कर दीजिए और साथ ही साथ अपने नाम का पहला

अक्षर दर्ज कर दीजिए ताकि हम तुम्हारे जीवन की सभी समस्याओं को दूर करने में मदद

कर सके मेरे बच्चे यह संदेश तुम्हारे लिए बहुत ही खास है क्योंकि इसमें आगे

तुम्हारा भी जीवन से जुड़ी हुई बहुत रोचक और आवश्यक बातें हैं जो तुम्हें आगे चलकर

तुम्हारे शत्रुओं की चाल से बचाएंगे और उनकी प्रत्येक योजनाओं को तुम्हें सूचित

करेंगे मेरे बच्चे जब किसी के कर्मों का घड़ा भर जाता है तो वह एक दिन फुट ठा

आवश्यक है मनुष्य को यह पता नहीं होता है कि जो मैं यह करू रहा हूं यह मेरे साथ

कैसा परिणाम लेकर आएगा बस वह करता रहता है वह सोचता है कि कि मैं जो कर रहा हूं उसे

कोई नहीं देख रहा है और ना मुझे कोई रोकने वाला है और नमो मुझे कोई समझने वाला है

किंतु उसका यह भ्रम होता है मेरे प्यारे बच्चे तुम यह बात हमेशा याद रखना अगर

तुमने किसी के साथ गलत किया है तो किसी ना किसी दिन तुम्हारे साथ भी वैसा ही होगा

यही आज तुम्हारे शत्रुओं के साथ हुआ है उन्होंने तुम्हारे साथ बहुत ही गंदा

व्यवहार किया है तुम्हारे हर कार्य को बाधित किया है तुम्हें हर प्रकार से

पीड़ित और परेशान किया है इसलिए अब उनके कर्मों का दंड मिल रहा है मेरे बच्चे आपके

जीवन में कुछ बहुत बड़ा घटित होने वाला है और तुम्हें इस बात के बारे में पूर्ण रूप

से अवगत कराना चाहती इसलिए मैं तुम्हारे पास आए हूं मेरे बच्चे तुम्हें सबसे पहले

मेरी बातों को सुनकर डरना नहीं है बल्कि तुम्हें केवल बातों को समझना है यदि तुम

समझ गए तो आने वाली उस उस चीज का सामना तुम बहुत आराम से कर पाएंगे क्योंकि जीवन

में घटित होने वाली अच्छी या बुरी चीजें बार-बार जीवन में आने का अर्थात प्रवेश

करने का का पूर्ण रूप से प्रयास करती है तो इसका अर्थ यह है कि तुम जब भी किसी

कार्य को करते हो तो उस कार्य से आकर्षित समय तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने का

प्रयास करता है अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी और वह बार-बार प्रयास करता है कई

बार तो अच्छा होते होते रह जाता है और कई बार बुरा होते होते रह जाता है उसका कारण केवल

इतना होता है कि तुम ध्यान नहीं देते और उसके साथ-साथ यदि कुछ बुरा होने वाला होता

है तुम्हारे पास देवीय शक्तियां होती है तुम अपने आप को सुरक्षा कवच में

सुरक्षित रखते हो इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें कोई ऐसी शक्ति नुकसान नहीं पहुंचा

पाती जो तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहती है इसके कई अर्थ होते हैं लेकिन लेकिन आज जो

मैं बताने आई हूं उसको सुनने से पहले एक बार जाए वह माता रानी जरूर लिखना इससे

मुझे बहुत प्रसन्नता होगी मेरे बच्चे जब तुम्हारे करीब कोई भी ऐसा इंसान यदि आता

है जिससे तुम्हें खतरा महसूस होता है या तुम्हें डर लगने लगता है या तुम्हारे हृदय

को यह आभास होता है कि इस व्यक्ति से तुम्हें नुकसान पहुंच सकता है तो तुम्हारा

मन बार-बार डरने लगता है और तुम से दूर हटने लगते हो तो उसके करीब नहीं जाते

लेकिन कई बार ऐसा देखने वाला व्यक्ति जिससे तुम्हें बिल्कुल

भी ना लगे तो तुम उसे पहचान ही नहीं पाओगे कि तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहता है या

नहीं चाहता या तुम्हारे करीब आने वाली ऐसी अदृश्य शक्ति है जो कि तुम्हें दिखाई नहीं

देती लेकिन ना हो तो भी नुकसान पहुंचा सकती है अब जो चीज तुम्हें दिखाई नहीं

देती उसे केवल हृदय से आभास कर सकते आंखों से देख नहीं सकते क्योंकि वह हवा

में विलीन होती है लेकिन मेरे बच्चे वहां कोई कमजोर शक्ति नहीं होती बल्कि इतनी

शक्तिशाली शक्ति होती है कि तुम्हें नुकसान पहुंचा सकती है लेकिन जब तुम्हें

कोई चीज दिखाई दे तो तुम उससे बचने का प्रयास कैसे कर सकते हैं यहां भी जानना

जरूरी है कि जो व्यक्ति तुम्हें दिखाई दे रहा है और यदि वह तुम्हें खतरा महसूस नहीं

कर पा रहा ले लेकिन तुम्हें उससे खतरा है उससे कैसे बचना है इसके साथ-साथ तुम्हें

एक बात को जान लेना होगा जो मैं तुम्हें आज बताऊंगी तुम्हें उस बात को भी जान लिया तो निश्चित

ही आने वाली चाहे कोई भी हो लेकिन तुम उससे बच जाओगे सबसे पहले तो तुम्हें इस

बात को जान लेना जरूरी है कि यदि तुम मेरी आधी अधूरी बातों को सुनोगे तो धूप से बचने

का रास्ता प्राप्त नहीं हो पाएगा यदि तुम पूर्ण रूप से बचना चाहते हो तो तुम्हें

मेरी पूरी बातों पर ध्यान देना होगा और अपने मन में हर बात को उतारना होगा

क्योंकि मेरे बच्चे एक चीज से बच सकते हो तो दूसरी से खतरा हो सकता है यदि सभी से

बचना है तो तुम्हें कुछ बातों को जान लेना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि कई बार मैं

तो तुम्हें बचा लेती है लेकिन तुम कहीं ना कहीं कोई ऐसी गलती कर देते हो तो नुकसान

तुम्हारा होने के साथ-साथ मुझे भी होता है इसलिए मेरे बच्चे आज मैं

तुम्हारी मां तुम्हें पूर्ण रूप से बचाने आई तुम किसी के नुकसान पहुंचाने पर एक ही

रास्ता ऐसा नहीं होना चाहिए कि तुम्हें कोई नुकसान पहुंचा पाए क्या तुम्हें उस

बात के बारे में अवगत ना हो और यही मेरा धर्म बदला है क्योंकि मैं एक मां और मां

अपने बच्चों की हर प्रकार से रक्षा करती है वह हमेशा अपने बच्चों का भला चाहती है

उसके मन में हमेशा यही डर लगा रहता है कि कहीं मेरे बच्चे को कोई नुकसान

ना हो जाए किसी भी कारण पास और यही मेरा है मैं भी तुम्हें बार-बार के इसलिए बताती

हूं और आगाह करती हूं जिससे कि तुम्हें जीवन में कोई भी परेशानी ना हो

क्योंकि मेरे बच्चे में मां होकर अपनी ममता को कैसे रोक सकती सबसे पहली बात तो

तुम्हें इस बात का स्मरण रखना होगा कि स्त्री हो या पुरुष यदि उसे कोई स्त्री या

उसे कोई पुरुष जबरदस्ती मित्रता ना चाता है अर्थात तुम्हारे मना करने पर भी बहुत

बार-बार तुमसे बातें करने का प्रयास करें बार-बार तुम्हारे करीब आने का प्रयास करें

और तुम उसे अनदेखा कर रहे हैं फिर भी वह तुम्हारे करीब आती चली जा रही है यहां

तुम्हारे करीब आता चला जा रहा है तुमसे मित्रता बनाने के लिए बार-बार कहता है और

तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारा मित्र बनना चाहता है या चाहते हैं तो तुम

निश्चित ही इस बात को समझने की बहुत कोई साधारण इंसान नहीं है बल्कि जो तुमसे

जबरदस्ती मित्रता निभाने की या तुम्हारे अनदेखा करने के पश्चात भी उनसे मित्रता

बनाने की कोशिश कर रही है वह जरूर कोई ना कोई परेशानी लाने वाली है क्योंकि मेरे

बच्चे उसके इरादे नेक नहीं है जो अच्छा इंसान होता है जिसकी भावनाएं अच्छी होती

है मित्रता वो भी करते हैं लेकिन ना केवल सामने वाले की भावना को देखकर मित्रता

करती है जबरदस्ती किसी के ऐसे पीछे नहीं पड़ती है और जो ऐसा करते हैं निश्चित ही

उनके मन में कुछ ना कुछ सामने वाले के प्रति गलत भावना रहती है वह कुछ ना कुछ

नुकसान पहुंचाना चाहते हैं और इसी इरादे से वहां बार-बार करीब आने की कोशिश करते

हैं जिससे कि जबकी कभी ना कभी उनसे मित्रता करें और इसी का फायदा उठाकर आपका

नुकसान करते हैं अर्थात आपके जीवन में कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान करेंगे जिससे कि आपको

जीवन भर पछताना पड़ेगा इसलिए मेरे बच्चे ऐसे व्यक्ति से सबसे पहली बात तो दूर रहना

प्रारंभ करो और दूसरा इस बात को ध्यान रखें कि यदि तुम्हें कोई भी ऐसी मानसिक

स्थिति रही है अर्थात तुम्हारा मन बार-बार किसी भी मांग को लेकर परेशान हो रहा है या

क्यों बेवजह से किसी बात से सबसे ज्यादा डर रहे हो तो तुम्हें एक बात को स्मरण

रखना चाहिए कि कोई ना कोई ऐसी शक्ति तुम्हें घेर रही है जो कि तुम्हारे हृदय

के और मस्तिष्क के अंदर नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न कर रही है अर्थात तुम्हारे मन के अंदर एक ऐसा

दृष्टिकोण बन रहा है जो कि किसी भी कार्य को ना करने के लिए उकसा रहा है और

तुम्हारी शक्ति को कमजोर कर रहा है अर्थात कहने का अर्थ यह है कि एक नकारात्मक ऊर्जा

तुम्हारे जीवन में प्रवेश कर रही जिस ऊर्जा को तुम्हें नष्ट करना होगा और यह

केवल तुम अपने ईष्ट देवता के मंत्रों का उच्चारण करके भी कर सकते हो या तुम अपनी

माता का नाम का उच्चारण करो या फिर हनुमान चालीसा चालीसा का पाठ करें क्योंकि

कुछ-कुछ शक्तियां ऐसी हैं जिनके मंत्रों का लगातार उच्चारण यदि तुम करते हो तो

निश्चित ही तो उस शक्ति का उच्चारण करते-करते उस शक्ति को अपने इर्दगिर्द विद्यमान कर लोगे इस बात का ध्यान रखो

कि कभी भी किसी भी शक्ति के मंत्र उच्चारण करने से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में

प्रवेश करने लगती है और तुम्हारे के विद्यमान हो जाती है तुम्हारी रक्षा करने

के लिए क्योंकि तुम स्वयं ही उस शक्ति को अपनी हो आकर्षित करते हैं अपने मुख से

निकले हुए एक एक शब्द से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में धीरे-धीरे करके प्रवेश

करने लगती है और यदि कोई भी नकारात्मक ऊर्जा यदि तुम्हारे मस्तिष्क में प्रवेश

करके विद्यमान हो जाती है और उसे अपने मस्तिष्क से अपने हृदय से अपने पूरे शरीर

से विकास नहीं पाते हो तो उसका मास तुम्हारे शरीर पर होने लगता है चाहती है

जैसा तुम करते हो अर्थात बहुत कुछ ना कुछ तुम्हारे जीवन में बेकार करने के लिए आती

है और बिगाड़ करके ही बाद जाती है क्योंकि उसका काम ही ऐसा होता है कहीं पर भी

विकराल रूप धारण करना अर्थात कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान कर ना किसी के प्रति मां फिर

तुम्हारे शरीर में प्रवेश करके दूसरों का नुकसान करता है क्योंकि किसी से उसको

प्रसन्नता होती है मैं तुम्हें डराना नहीं चाहती और ही मेरा उद्देश्य है तुम्हें

लड़ा था लेकिन यह सच है कि कुछ कुछ ऊर्जा ऐसी होती है किसी भी व्यक्ति की बुद्धि को

पूर्ण रूप से बंद कर देती है और उसकी सोचने समझने की शक्ति को क्षीण कर दे दी

है इसलिए कभी भी अपने ऊपर ऐसी ऊर्जा को विद्यमान मत होने दो क्योंकि यदि ऐसी

ऊर्जा विद्यमान हो जाती है तो तुम्हारे जीवन में बहुत बड़ा संकट उत्पन्न

करती है और खतरा भी लेकर आती है यदि तुम्हारे मस्तिष्क के अंदर बार-बार गलत

विचारधाराएं उत्पन्न हो रही है बिना वजह से कुछ ऐसी मानसिक स्थिति हो गई है जिसमें

तुम दूसरों का अच्छा ना सोचकर गलत भावना लेकर आ रहे हो या तुम्हारे मन के अंदर

अपने आप ही गलत भावना उत्पन्न हो रही है और तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारे

जीवन में तुम्हारे मन की जो स्थिति है वह एक अलग दिशाओं में चली गई है तुम्हें ऐसा

नहीं सोचना चाहिए फिर भी तुम्हारे मन की भावनाओं को काबू में नहीं रख पा रहे

बार-बार दुर्गुण धारणाओं को रोकने का प्रयास कर रही लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा

है तुमसे और तुम जानबूझ कर भी यह नहीं करते लेकिन तुम्हारे जीवन में ऐसा हो रहा

है यह सत्य है कि कई बार जीवन में हम जो सोचते हैं हम चाहते नहीं है और जो हम

चाहते हैं वैसा सोच नहीं पाते तो ऐसे में तुम समझ लेना कि तुम्हारे

मस्तिष्क पर किसी और चीज का वास हो चुका है अर्थात तुम्हारे हृदय में तो ईश्वर का

वास है लेकिन तुम्हारे मस्तिष्क में एक ऐसी ऊर्जा विमान हो चुकी है जिस ऊर्जा को

तुम्हारे मस्तिष्क में विद्यमान होने पर उसने तुम्हारी दिशाहीन बोर इसलिए मेरे

बच्चे शीघ्र ही तुम्हें मंत्रों का उच्चारण करना चाहिए और इन्हीं मंत्रों के उच्चारण से तुम्हारे मस्तिष्क में ईश्वर

का वास होगा और जो तुम्हारी गलत दिशा में मोदी हुई रुख है वह सही दिशा में चलने

लगेगी मेरे बच्चे इस बात को हमेशा स्मरण रखना कि तुम बहुत सोच समझकर ही किसी भी

कार्य को चुनना और यदि तुम बार-बार ऐसा आभास करने लगे होग यह तुम्हारा सूज हुआ

तुम्हारा नहीं है किसी और का है तुम्हारे हृदय को ऐसा आभास होने लगा है तुम इस पर

पूर्ण रूप से विचार करना और शक्तिशाली मंत्रों का उच्चारण प्रारंभ करना तीसरी और

सबसे जरूरी बात में तुम्हें बताना चाहती कि आज के युग में अर्थात आधुनिक युग में

जो लड़कियां हैं सभी सही है लेकिन अभी भी कुछ लड़कियां ऐसी होती है जो किसी भी

लड़की के जीवन में ऐसा नुकसान करके जाती है और नुकन के लिए ही वह प्रेम का संबंध

बनाती है वह सामने वाले को केवल लूटने और बर्बाद करने के इरादे से उसके जीवन में

आती है यदि कोई भी लड़का भावुक होता है लड़कियां उसका कई बार फायदा उठाती है हर

लड़की ऐसी नहीं होती लेकिन कुछ ऐसी होती हैं मैं उन्हें लड़कियों के लिए यह बताना

चाहती मेरे बच्चे तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लाने का या किसी के ऊपर मुसीबत आने

का कारण मत बन क्योंकि यदि तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लेकर भी

अर्थात दूसरों के प्रेम का फायदा उठाओ के और यदि लड़का ऐसा करता है लड़कियों के साथ

अर्थ किसी भी लड़की की इज्जत नहीं करता उसका मान सम्मान नहीं करता उसकी इज्जत का

ख्याल नहीं रखता तो उन दोनों के ऊपर निश्चित ही संकट आता है क्योंकि वहां आ

रही बुद्धि में गलत बात जो दोनों में से किसी की बुद्धि में आ सकती है उसके जीवन

को गलत दिशा में मोड़ कर ले जाती है और उसके कर्मों को भी एक ऐसी दिशा में मोड़

दे दी है जिससे कि उसकी बुद्धि तो कार्य कर पाती है और ना पैसा व्यक्ति सोच पाता

है क्योंकि एक व्यक्ति तो भावनाओं से किसी के साथ जुड़ता है लेकिन एक व्यक्ति केवल

स्वार्थ वर्ष किसी को अपने साथ जुड़ता है और अपने मन के अंदर षड्यंत्र भरकर रचना है

उसकी बुद्धि में केवल दूसरे को नुकसान पहुंचाने का और कुछ ना कुछ ऐसी भावना जो

किसी के प्रति किसी को नुकसान पहुंचाने की होती है और खुद का फायदा करने की होती है

बस इसी इरादे सेवा व्यक्ति ऐसा करने की कोशिश करता है

मेरे बच्चे जो लोग ऐसा करते हैं फोन को मैं आज सावधान करने आई क्योंकि यदि तुम

दूसरे के जीवन में ऐसा करोगे तो तुम्हारे जीवन में भी मुसीबत आएगी तुम्हारे जीवन

में भी संकट आएगा क्योंकि तुम अपने गमों को एक गलत दि में ले जाना होगा और जिन

लोगों के साथ ऐसा होता है उन्हें भी सावधान करने आए मेरे बच्चे तुम किसी से

प्रेम करो लेकिन ऐसा प्रेम मत करो जिसमें तुम ठगे जाओ क्योंकि थोड़ा को किसी से

प्रेम करो सोच समझकर प्रेम करो तुम्हें यदि किसी व्यक्ति से प्रेम हो जाता है या

तो भी कोई बहुत अच्छा लगता है इसमें गलती तुम्हारी नहीं है क्योंकि विदेश से प्रेम

होता है तभी जब आंखों को कोई चीज ती है और हृदय उसके पीछे भाग पड़ता है और तुम हृदय

के पीछे भाग पड़ती हो तुम चलते चले जाते हैं एक ऐसी दशा में जहां पर सामने वाला

व्यक्ति तुम्हारे प्रति छल रख कर के कार्यों को करता है और तुम उसे नहीं पाते

और नहीं परत पाते हैं क्योंकि तुम्हारी आंखों पर पट्टी बंधी होती है और जिसकी

आंखों पर पट्टी बंधी है व्यक्ति देख नहीं सकता अर्थात प्रेम की पत्ती एक ऐसी पट्टी

होती जो व्यक्ति सामने वाले को ना तो परखने की चाह

रख पाता है और ही उसे रख पाता है क्योंकि उसके मन में यह भावना आती ही नहीं कि

सामने वाला व्यक्ति षड्यंत्र भी रख सकता है क्योंकि जब वह किसी से सच्चा प्रेम

करने लगता है तो वह यह सोच नहीं पाता कि कोई ऐसा भी कर सकता है उसकी भावना को केवल

प्रेम की होती है और प्रेम उसके हृदय में वास करता है और वहां सोचता ही रहता है कि

मैं जिसे प्रेम करता हूं उसे कितना प्रेम करो जितना मेरा सामर्थ हो और जितने मेरे

बस के हो बहुत ज्यादा उसे प्रेम करो बस यही धारणा रखकर के बाद व्यक्ति सामने को

प्रेम करता चला जाता है और उसे परखने की खींचा नहीं रख पाता उसे अगर यह बात कोई

तीसरा व्यक्ति बता दे कि वहां छल कर रहा है या कर रही है तब भी उस व्यक्ति की

आंखों पर प्रेम की जो पट्टी बंधी होती है वह उस पति को उतार कर कभी भी परखने की

जांच नहीं कर पाता क्योंकि उसे कुछ दिखाई नहीं देता है सच तो उससे बिल्कुल भी दिखाई

नहीं दे पाता जब तक उसकी प्रेम की पत्ती आंखों से उतारी जाती है तब तक बहुत देर हो

चुकी होती है उसे यह जानते जानते काफी समय निकल जाता है कि उसके जीवन में क्या हो

रहा है और कोई है जो उसे छल कर रहा है धोखा दे रहा है उसे पीठ में खंजर घूप रहा

है बात-बात पर उसका झूठ बोलना बात-बात पर उसका रूठ जाना हर बात पर भून दिखाना और

बात-बात पर छोड़ के चली जाऊंगी या छोड़ के चला जाऊंगा धमकी देना और जो जिससे प्रेम

करता है वह उसकी हर बात को स्वीकार कर लेता है डर के कारण और यहां दर कोई ऐसा

वैसा दर्द नहीं होता बल्कि अपने प्रेम को खोने का दर्द होता है और यह भी सच है कि

जो सच्चा प्रेम करता वह अपने प्रेम को होने से बिल्कुल डरता है क्योंकि उसके बिना रह नहीं सकता

और रहा भी नहीं पाता है उसका फिर कहीं मन नहीं लगता उसका दिल नहीं लगता तो वह उदास

हो जाता है वह हर समय सोचता ही रहता है ना तो किसी कार्य को कर पाता है और ना ही

किसी भी कार्य को करने में उसका मन लगता है इसलिए वहां विवश हो जाता है जो जाता है

अपने प्रेम के सामने और ऐसे में ही सामने वाला व्यक्ति जो केवल उससे दिखावा कर रहा

है प्रेम का छलावा कर रहा है ब्रेक का और षड्यंत्र रच रहा है उसके प्रति वहां उसका

फायदा उठा लेता है और फिर उसके साथ धोखाधड़ी करके उसे बर्बाद करने की फिराक

में रहता है मेरे बच्चे यदि ऐसा प्रेम तुम्हारे निकट आ रहा है तो सावधान हो जाओ

क्योंकि प्रेम प्रेम नहीं है बल्कि एक बहुत बड़ा संकट है एक ऐसा संकट है जो यदि

तो उससे फंस गए एक बार तो उससे निकलना नामुमकिन के बराबर हो जाता है क्योंकि

उससे निकलते निकलते बहुत देर हो जाती है और जहां तक कहा जाए तो तुम अपना सब कुछ गवा

बैठते थे तब तुम्हें ज्ञात होता है कि मेरा सब कुछ खत्म हो चुका है मैं बर्बाद

हो चुका हूं इस प्रेम के चक्कर में इसलिए मैं तुम्हें आज आगाह करने आई है अर्थात

में समझाने आए कि तुम ऐसे किसी प्रेम के चक्कर में मत पड़ो नहीं तो तुम्हारा जीवन

खराब हो जाएगा और तुम बर्बाद हो जाओ मेरे बच्चे यह सच है कि प्रेम करना चाहिए लेकिन

उससे नहीं जो तुम्हारे साथ छलावा कर रहा है या दिखावा कर रहा है या तुमसे षड्यंत्र

रचकर बातें करता है बल्कि उससे प्रेम करो जो तुमसे सच्चा प्रेम करता है तुम पर जान

छिड़क है तुम्हारी हर बार में उसकी स्वीकृति होती है और भावनाओं से भावनाओं

का प्रेम होता है ना कि स्वास्थ्य पर मेरे बचे जिसके मन में छलावा होता है उस

व्यक्ति को तुम कुछ ही समय में प सकते हो इसलिए प्रेम करो लेकिन आंखें खोलकर आंखें

बंद करके नहीं यदि आंखें बंद करके प्रेम करोगे तो थोड़ा सा आगे जाकर ही ठोकर खा

जाओगे और मुंह के बल गिर पड़ोगे गिरने से पहले ही तुम्हें समझना होगा और संभलना

होगा और जाना होगा इस बात को कि तुम जो अभी कर रहे हैं उससे कहीं तुम्हारा कोई

नुकसान तो नहीं हो रहा ऐसा कोई व्यक्ति को नहीं है तुम्हारे जीवन में जो तुमसे छलावा

कर रहा हूं और तुम उसके बारे में पूर्ण रूप से जान नहीं पा रहे एवं उसके हाथों से

धोखा खा रहे हैं और जीवन को बर्बाद कर रहे थे क्योंकि मेरे बच्चे यदि ऐसा हो रहा है

तो आगे तुम्हें रोने का मौका भी नहीं मिल पाएगा उस समय जिस समय तुम सब कुछ दवा

बैठोगे अर्थात जो छल कर रहा है वह सब कुछ लूटकर भाग जाएगा और तुम हाथ मलते रह जाऊंगी

क्योंकि संसार में पाच मिलियन बराबर नहीं होती और सब एक से नहीं होते इसी प्रकार

प्रेम करो लेकिन देखो कि कहीं कोई तुमसे छल तो नहीं कर रहा है कहीं तो किसी के

षड्यंत्र मैं तो नहीं रहे हैं यदि तुम्हारे साथ ऐसा हो रहा है तो निश्चित ही

बहुत गलत हो रहा है और अपने आप को तुम लोग क्योंकि यदि समय रहते तुम स्वयं को नहीं

रोको होगी तो आदि तुम्हें केवल पछतावा होगा और जीवन में कुछ नहीं बचेगा ऐसे लावे से और ऐसे संकट

से बचने का केवल एक ही उपाय है कि तुम ऐसे प्रेम को तुरंत छोड़ दो और जिससे भी तुम

प्रेम करो उसे देख परक कर करो उसका प्रेम परखने के बाद ही तुम उसे पूर्ण रूप से

प्रेम करो और परखने के लिए भी तुम्हें यह देखना होगा कि सामने वाला व्यक्ति क्या सच

में तुमसे प्रेम करता है क्या उसकी भावना तुम्हारे लिए उस तरह की है जिस तरह की

तुम्हा है क्या हो उतना प्रेम कर पाएगा तुमसे जितना तुम उससे करती हूं क्योंकि

मेरे बच्चे यदि वहां बात बात पर लगता है या लगती है बात बात पर तुम्हें छोड़ने की

धमकी दे दी है बात बात पर रूठ जाती है यह बात-बात पर उसको क्रोध आता है तो ऐसा

व्यक्ति तुमसे प्रेम नहीं करता क्योंकि प्रेम करने वाला व्यक्ति कभी भी छोड़ने की

बात नहीं करेगा और प्रेम करने वाला व्यक्ति तुम्हें होने से हमेशा डरेगा मेरे ब बचे प्रेम करने वाला व्यक्ति बात बात पर

क्रोध नहीं करेगा बल्कि जहां तुमसे कुछ गलती होगी तुमसे प्यार से बात करेगा और

तुम्हें प्रेम से समझाएगा क्योंकि उसके हृदय में प्रेम है और वह इस बात को समझता

है कि किसी से यदि कोई गलती हो जाए तो उसे प्रेम से समझाने पर जितना ज्यादा समझ में

आता है उतना क्रोध बस कभी नहीं सकता और यही कारण होता है किसी भी व्यक्ति का कि

बात तुम्हें उस समय ता है जब तुम्हें कोई भी बात समझ में नहीं आ रही होती है

क्योंकि प्रेम का धर्म ही सबसे पहला यही होता है कि अपने प्रेमी को समझाएं हर बात

के लिए मनाए यदि प्रेमी क्रोधित भी हो जाता है तो प्रेमिका उसे समझाती है और

प्रेमिका यदि क्रोध होती है तो प्रेमी उसे समझाता है वह दोनों के दूसरे को समझते हैं

भावनाओं को पहचानते हैं एक दूसरे के प्रति बढ़ते मिटते हैं बल्कि अध्ययन नहीं रखते

क्योंकि बहुत प्रेम करते हैं और प्रेम खुद को खुश करने का नाम ना होकर दूसरे को ड

खुश करने का नाम होता है यदि तुम अपने प्रेम से प्रेम करते हो या तुमसे कोई

प्रेम करता है तो निश्चित ही तुम्हारी छोटी-छोटी खुशी का ख्याल रखेगा तुम कब

हंसते हो उसे हंसी आएगी तुम कब रोते हो वह दुखी हो जाएगा तुमसे कभी भी किसी भी चीज

को मानने से पहले क्रोध में नहीं आएगा और नहीं क्रोध में तुमसे कभी ज्यादा बात

करेगा जब भी बात करेगा उसकी बातों में मिठास हो इतनी मिठास की उसके सामने तुमने

सब चीज सीखी लगी लगेगी क्योंकि प्रेम तो एक आनंद है प्रेम कोई ऐसा नहीं है कि बात

किसी के ऊपर ग्रोथ करे बल्कि वहां एक मधुर संगीत की तरह है जिससे दांतों में सुना

जाए तो बहुत अच्छी द सुनाई देती है और यदि दिल से महसूस किया जाए तो वहां रंग में

में रंग लेता है जिससे कि इंसान उसके रंग में रंगने के पश्चात पूरी दुनिया में हर

चीज को में देख पाता है उसकी दुनिया ही रंगबिरंगी हो जाती है वह अपने दिल से हर

चीज को महसूस करता है और उसे यह ज्ञात होता है कि

दुनिया कितनी खूबसूरत है यही तो होता है प्रेम का असली रंग जो जिससे प्रेम करता है

उसे उसी में पूरी दुनिया दिखाई देती है और सबसे ज्यादा इंसान विवश हो जाता है अपने

प्रेम के प्रति गलत भावना सोचने के बारे में और गलत भावना विचार करने के बारे में

क्योंकि प्रेम जब होता है तो इंसान किसी के बारे में बहुत अच्छी भावना रखता है और

अच्छा सोचता है दा प्रेम होता है लेकिन कई बार गलत व्यक्ति इसी बात का फायदा उठा

लेता है उसे यह बात बहुत अच्छे से ज्ञात होती है कि जब होता है तो उसकी आंखों पर

पट्टी बंधी होती है एक तरह से वह पूर्ण रूप से दे नहीं पाता और प्यार अंधा हो

जाता है और इसी का सामने वाला व्यक्ति गलत फायदा उठाकर तुम्हारे जीवन में बर्बादी का

सबसे बड़ा मार्ग बना देता है और ऐसे में सब कुछ बिखर बिखर दे यदि व्यक्ति संभल जाए

तो भी उसका दिल टूट जाता है और यदि वह समझ पाए तो सब कुछ बिक जाता है क्योंकि मेरे

बच्चे इंसान अपने हृदय से जीता है और हृदय से ही बिगड़ता है उसका हृदय टूटा तो वहां

टूट जाता है और यदि उसके हृदय में प्रेम की जो धारणा है लगातार प्रवाह करती रहती

है तो बहुत प्रसन्न रहता है को हर बात अच्छी लगती है और संसार में जो उसका जीवन

है वहां भी अच्छी से गुजारता है हर बात में आनंद लेता है और हर बात में उसे खुशी

महसूस होती है लेकिन यहां जो प्रेम की डोर टूटती है तो इंसान को बहुत ज्यादा कष्ट

होता है लेकिन धोखा खाने से अच्छा और तुम्हारे जीवन में कोई बड़ा संकट आए उससे

ज्यादा अच्छा है कि तुम प्रेम को पहचानो यदि ऐसा प्रेम है जो कि तुम्हें शहीद रचकर

धोखा दे रहा है तुम्हें लूटने की साजिश रच रहा है तुम्हारा जीवन बर्बाद करना चाहता

है तो उसे तुरंत नहीं छोड़ सकते तो धीरे-धीरे करके छोड़ दो लेकिन अपने दिल और

दिमाग से उस व्यक्ति को निकालने का भरपूर प्रस करो क्योंकि वहां आज या तो कल

तुम्हें बर्बाद करके ही रहेगा क्योंकि ऐसा व्यक्ति जो षड्यंत्र रचता है वह किसी का

नहीं हो सकता बच्चे आज मैं तुम्हें डराने नहीं आई और न ही तुमसे तुम्हारी ट्रेन को

दूर करने आए बल्कि मैं समझाने आए क्योंकि संसार में हर व्यक्ति एक जैसा नहीं होता

जो लोग षड्यंत्र रचते हैं अपने प्रेम के प्रति और प्रेम भरा षड्यंत्र रचकर किसी को

फंसाते है केवल उन लोग लोग के लिए यह संदेश है इसलिए वहां मेरे बच्चे बच पाए

यही मेरा संदेश है और जीवन में खुद को भी भी अकेला मत समझना हमेशा ध्यान रखना मैं

तुम्हारे साथ हर पल हर क्षण में तुम्हें देख रही है और जानती हूं कि तुम्हारे जीवन

में क्या रहा है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे कुछ जरूरी बात करने आई और जो बात करने आए उसे सुनना

अति आवश्यक है क्योंकि कुछ ऐसी बातें जो मैं तुमसे करना चाहती है और कुछ ऐसी बातें

जो मैं तुम्हें बताना चाहती हूं तुम जाग थे तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन में कुछ

ही समय में चमत्कार होना प्रारंभ हो जाएगा मेरे बच्चे एक बार को स्मरण रखना कि

मैंने तुम्हारे लिए समय निकाला है तो कभी भी मेरी बातों को सुनने के लिए जरूर समय

निकालना चाहिए क्योंकि जब मैं तुम्हें कुछ जरूरी बात बता रही हूं या कोई ऐसी बात

समझा रही जिससे तुमने जीवन का फिर छुपा हुआ है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ

है जय माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम अपने जीवन को क्यों बर्बाद कर रही हो

तुम्हें क्यों डर लग रहा है मैं तुम्हारे साथ अपने अंदर की बात को सुनो और अपनी मां

काली के बताए रास्ते पर चले मेरी बात ध्यानपूर्वक सुनना जो मैं तुम्हें बताना

चाहती मेरे बच्चे जब तक तुम जवान हो तो मैं केवल और केवल सीखने का प्रयास करना चाहिए कि तुम

किस तरह के मनुष्य बनना चाहते हो यही तो समय है जोखिम लेने का नई चीजें सीखने का

और नए-नए कौशल विकसित करने का अभी भविष्य के बारे में मत सोचो अभी केवल अपने

वर्तमान पर ध्यान दो अभी तुम्हें स्वयं को जानने का प्रयास करना चाहिए अपने जीवन की

बड़ी-बड़ी बातों से ज्यादा छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए जीवन की दौड़

में तो उसके सारे छोटे सुनहरे छड़ों को अनदेखा कर देते हैं जीवन में आगे जाकर जब

तुम पीछे देखते हैं तो उन्हें आभास होता है कि असल में वह छोटी-छोटी बातें भी

तुम्हारी खुशियां थी जीवन का अनुभव करते हुए तुम कई चीजें सीखते हैं जैसे प्रेम दर

सुंदरता कृतज्ञता यही अनुभव से सीखी हुई चीजें तुम्हें जीवन की बड़ी-बड़ी घटनाओं

के लिए तैयार करती है मेरे बच्चे तुम्हारी श्रद्धा को दे देख कर मैं अत्यधिक प्रसन्न

है मैंने तुम्हारी तकलीफ देखी है मैंने तुम्हारी निराशा को जान लिया है भले ही

तुम अपने दुखों के बारे में किसी को भी नाम बताएं मगर मुझे तुम्हारे सभी लोगों का

ज्ञान है अपनी विभिन्न परेशानियों के बावजूद हमें यह समझना चाहिए कि तुम जो कुछ

भी बनना चाहते थे वहां बनने के लिए कभी भी देर नहीं होती है तुम अपने जीवन में जो

कुछ भी चाहो वहां बन सकते हो तुम्हारी क्षमताओं की कोई सीमा नहीं है यदि तुम्हें

लगता है कि तुम्हारे जीवन में बहुत देर हो चुकी है तो ऐसा बिल्कुल नहीं है जीवन में

कभी भी किसी भी बात को लेकर देर नहीं होती है तुम्हें जो कुछ भी करना है जो कुछ भी

बनना है उन सभी के लिए जीवन में कभी भी देर नहीं होती है बस तुम्हारे मन में लगन

होनी चाहिए मेरे बच्चे तुम्हें इस संसार में भेजते वक्त मेरी आशा थी कि तुम संसार

में ऐसा जीवन जी जिस पर तुम्हें घर हुए जीवन का अर्थ ही यही है कि जब इसका अर्थ

है तो तुम्हारी कोई भी इच्छा अधूरी ना रह जाए तो मैं स्वयं के जीवन पर गर्व होना

चाहिए यदि किन्हीं कारणवश ऐसा नहीं है तो तुम्हें फिर से नई शुरुआत करनी चाहिए

तुम्हारे जीवन के सबसे अंधेरे रों में भी एक रोशनी सदा जलती रहेगी तो मैं बस उस

रोशनी को देखने की हिम्मत होनी चाहिए एक बार अपना अंधकार दूर

करने बाद तो वे दूसरों के लिए प्रकाश बनना चाहे तो में सदैव याद रखना चाहिए कि जीवन

की छोटी छोटी हाथ कभी जीवन की हार नहीं होती जीवन की हार केवल तभी होती है जब तुम

हार मान लेते हो तो मन में सफलता के लिए हार नहीं माननी चाहिए और एक बार सफल होने

के बाद दूसरों को हाल से बचाने का प्रयास करना चाहिए तुम्हारी किसी भी इच्छा की

पूर्ति कभी कोई प्रार्थना नहीं करती है बल्कि स्वयं तुम्हारी प्रकृति ही तुम्हारी इच्छा

पूर्ति करती है तुम्हें यह समझना होगा कि प्रार्थना कभी भी ईश्वर की सोच पर प्रभाव

डालने के लिए नहीं की जाती बल्कि रात स्वयं तुम्हारी प्रकृति को बदलने के लिए

दी जाती है प्रार्थना का असल उद्देश्य तुम्हारे मन पर प्रभाव डालता है बार-बार

प्रार्थना करने से तुम्हारे अंदर देख विश्वास उत्पन्न होता है कि तुम जिस भी

वस्तु की इच्छा कर रही हो वह तुम्हें प्राप्त हो सक सती है यही उम्मीद तुम्हारी

इच्छा की पूर्ति की ओर सहारा प्रथम कदम है उम्मीद किसी भी व्यक्ति के जीवन में बहुत

ही आवश्यक है तुम्हारे लिए उम्मीद अंधकार में भी उजाले का कार्य करती है जब कभी

जीवन की किसी भी मोड़ पर तुम्हें कोई भी रास्ता ना दिखाई दे रहा है तो उस

परिस्थिति में एक उम्मीद ही तुम्हें रास्ता ढूंढने के लिए प्रेरित करती है संपूर्ण संसार आखिर भूमि पर ही चल रहा है

यहां तक कि परेशानी की छड़ों मैं ईश्वर तक उम्मीद को ही ढूंढने का प्रयत्न करती है

तो मैं यहां सदैव याद रखना चाहिए कि संसार में आज तक जो कुछ भी हुआ है वह सब केवल

उम्मीद द्वारा ही किया गया है सभी कार्यों के पीछे की प्रेरणा है तुम्हें कभी भी

उम्मीद का साथ नहीं छोड़ना चाहिए मेरे बच्चे में तुम्हारी व्याकुलता से अच्छी

तरह अवगत तोहे मैंने देखा है कि तुम सदैव भ्रमित रहते हो तुम्हारा मन हमेशा उलझा

रहता है तुम्हारा मन उदासीन रहने का तो जैसे आदि हो चुका है

अपने मन की इस व्याकुलता को दूर करने का रास्ता यह है कि तुम्हें सदैव अपने जीवन

में यहां ज्ञात होना चाहिए कि तुम्हें क्या करना है या जाना है इससे भी ज्यादा

तुम्हारे मस्तिष्क में यह बात निश्चित होनी चाहिए कि तुम्हें क्या करना है तुम्हें यहां निश्चित रखना चाहिए कि

तुम्हें क्या करना है जब तुम्हें यह पता चल जाएगा कि तुम्हें क्या करना है तो उस

कार्य को करने के लिए तुम्हें क्या जानकारी अर्जित करने उसका पता तुम्हें

स्वतः ही चल जाएगा जीवन में आवश्यक यह है कि तुम्हें अपने उद्देश्य का ज्ञान होना

मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जाए और माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे

तुम्हारे दुखों का अंत आज निश्चित है जो कुछ भी तुमने देखा है जो कुछ भी तुमने

सुना है और जो कुछ भी तुम्हें सहा है उन सभी का आज निश्चित है आज तुम्हारे अंदर के

ज्ञान को तुम्हें बाहर लाना होगा इसलिए अपने सुख और आनंद की प्राप्ति के

लिए इस संदेश को अंत तक सुनना यदि इसे अंत तक सुनोगे तो मैं आज एक ऐसी चीज सीखने को

मिलेंगी जो आज तक तुम्हें कभी नहीं मिली आज तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली

है क्योंकि आज मैं तुमसे बेहद प्रसन्न हूं लेकिन फिर भी मैं तुम्हें जीवन की वहां

सच्चाई बताने जा रहे हैं जिस से तुम्हें सुनना होगा और अपने जीवन को सुधारना

होगा इसलिए अपनी माता को ध्यानपूर्वक सुनना ताकि तुम्हें जीवन में कभी किसी के

आगे झुकना ना पड़े मेरे बच्चे तुम जीवन में खुशियां ढूंढना चाहते हैं किंतु यह

क्यों भूल जाते हो कि खुशी तो तुम्हारी आसपास है और बहुत तुम्हें भी देख

सकती है जब तुम छोटी-छोटी चीजों में भी खुशियां बूंढो जैसे एक बच्चा अपनी मां में

सारी खुशी ढूं लेता है ऐसे ही तुम्हें भी सारी खुशियां हर जगह मिल सकती है बस

उन्हें महसूस करने की कोशिश करो लेकिन मेरे बच्चे तुम अक्सर उन चीजों में खुशी

देखते हो जो चीज काफी बड़ी होती है या जो तुम्हारे मन की ख्वाहिश होती है किंतु जब

तुम्हारी हर ख्वाहिश पूरी नहीं होती तो क्यों उदास हो जाते हैं किंतु तुम यह भूल

जाते हैं कि यदि उसी को अपने मन की इच्छाओं के रूप में देखने की कोश करोगे तो

तुम कभी खुश नहीं हो सकते आज मैं तुम्हें जो खुशी देने जा रही उस खुशी को महसूस

करने के लिए में स्वयं के अंदर कुछ बदलाव करने होंगे और यह खुशी तो केवल उन्हीं

लोगों से प्राप्त होगी जो तुम्हारे जीवन में है और जिनसे तुम्हारा जीवन जुड़ा हुआ

है मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को अपने जीवन में अपना लोगे तो तुम्हारा जीवन स्वर

से भी अच्छा हो जाएगा और उसके लिए केवल तुम्हें कुछ चीजों का त्याग करना होगा जो

मैं तुम्हें बताने जा रहे हैं ऐसी चीज तुम्हारे जीवन को बर्बाद कर दी यदि तुम इन

चीजों को छोड़ दोगे तो स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने लगेगा और जिस खुशी की तलाश

कर रही हो वहां तुम्हें प्राप्त हो जाएगी अपने अंदर की चीजों का निर्माण करना यह

तेजी से वह चीज है जो तुम्हारे भीतर फैले पाप का नाश करें और यदि तुमने तीन चीजों

को अपने जीवन में अपना लिया तो यकीन करो तुम्हारा जीवन पाप से मुक्त हो जाएगा पहली

चीज स्वयं के प्रति विश्वास मेरे बच्चे यदि तुम स्वयं के प्रति विश्वास जागृत कर

लोगे तो तुम्हारे मन में जितनी भी शंकाएं हैं और जो भी डर है वह स्वयं समाप्त हो

जाएंगे विश्वास एक ऐसी चीज है जो इंसान को बलवान करती है यदि तुम्हारे अंदर विश्वास

है तो तुम किसी भी चीज को हासिल कर सकते हैं चाहे वह कितनी ही कठिन क्यों ना हो को

दूसरी चीज प्रेम है यदि तुम अपने अंदर प्रेम का बीज बोए तो मेरा यकीन करो इस

संसार में किसी भी प्रकार का दुख तुम्हारे अंदर नहीं रहेगा क्योंकि जहां प्रेम होता

है वहां नफरत की थी स्वयं ही समाप्त हो जाता है यह तुम भी जानते हैं कि प्रेम

वहां भाषा है जो जानवर को ही समझ में आ जाती है यदि तुम उसे ट्रेन दोगे तो वहां

भी तुम्हें तभी नुकसान नहीं देगा बल्कि तुमसे भी उतना ही प्रेम

करेगा जितना तुम उससे करोगे तीसरी और सबसे अहम चीज रहा है जो हर मनुष्य में पाई जाती

है और उसका नाम क्रोध है मेरे बच्चे तुम्हें यहां पर रोड का त्याग करना है यदि

तुमने क्रोध का त्याग कर लिया तुम बड़ी से बड़ी विपत्ति में ठंडे दिमाग से काम ले

सकते हो क्योंकि जो मनुष्य क्रोध में आकर कोई फैसला या कार्य करता है तो आगे चलकर

पछताते हैं उन्हें उस समय क्रोध के चलते कुछ समझ नहीं नहीं आता किंतु बाद में जब

उन्हें समझ में आता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है इसलिए मेरे बच्चे विश्वास

प्रेम और क्रोध का प्यार यह तीनों चीज जिस दिन तुम्हारे अंदर आ गई उस दिन ऐसा कोई भी

कार्य नहीं है जो ना कर सको अब यह तुम्हारे ऊपर है कि तुम किस प्रकार से

कार्य कर सकते हैं और किस प्रकार से कार्य नहीं कर सकते स्वयं की शक्तियों को

पहचानने के लिए तुम्हें अपने भीतर इन तीन चीजों का निर्माण करना होगा मेरे बच्चे

तुम जब कभी भी अपने घर में अन्न बनाते हो यदि अन्न बच जाता है तो उस बस हुए अन्य को

बर्बाद मत करना बल्कि उसे किसी गरीब इंसान को या फिर गौ माता को खिला देना ऐसा करने

से तुम्हें पुण्य प्राप्त होगा मेरे बच्चे वहां अन्य भी बर्बाद नहीं होगा तभी दिखाने

को बर्बाद करके अन्नपूर्णा माता का अपमान मत करना जिस घर में अन्नपूर्णा माता अपमान

होता है है वहां खाने की कमी सदा बनी रहती है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपनी माता के इस

बात को ो स्मरण रखो कि तुम्हारा जीवन खुशियों में लाने के लिए यह गोल अति

आवश्यक है इस संसार में हर कोई चाहता है कि उससे सब प्रेम से बात करें उसकी इज्जत

करें यहां कोई नहीं चाहता कि मैं भी सामने वाले को प्रेम दू उसकी इज्जत करें और जब

तक यह सोच तुम्हारे अंदर नहीं आ जाएगी तब तक तो में भी दू दूसर से प्रेम नहीं मिल

सकेगा पहले अपने मन में इस सोच को लाओ यदि तुम्हें दूसरों से प्रेम चाहिए तो तुम्हें

पहले दूसरों को दो प्रेरित करना होगा सभी चाहते हैं कि हमें कोई परेशान ना करें

हमारा दिल नहीं दुखाया हम पर कभी कोई क्रोध ना करें किंतु हम यह भूल जाते हैं

कि इन चीजों की शुरुआत पहले हमें स्वयं के ऊपर करनी होगी स्वयं क्रोध करना बंद करना

होगा दूसरों को परेशान करना बंद करना होगा तब जाकर हमें भी खुशी मिलेगी और यह सब

चीजें तभी संभव है जब तुम्हारे मन में शांति यदि तुम्हारे मन में शांति नहीं है

तो तुम कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकते और यदि तुम्हारा मन शांत है तो इस संसार की

प्रत्येक चीज में तुम्हें शांति का अनुभव होगा और वहां शांति में उसी प्रदान करें

जिस खुशी की तलाश हर इंसान करता है जिस दिन तुम यह सभी चीजें करना प्रारंभ कर

दोगे उस दिन से तुम्हें पूर्ण शांति की प्राप्ति मिलने लगेगी और शांति तुम्हारे

जीवन को पूर्ण रूप से बदल देगी यदि तुम्हारे पास पैसे नहीं है और सारी सुख

सुविधाएं भी परंतु किसी एक चीज को ड लेकर तुम्हारे मन में अशांति है तो वह चीज

तुम्हारे मन को भटका कर रहेगी और किसी चीज को इच्छाएं कहते हैं जो अधूरी रहती है तो

मनुष्य भटकता रहता है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने मन की उन इच्छाओं पर काबू पाने

कि कोशिश करो जो तुम्हारे जीवन के लक्ष्य को भटकाती हैं यह याद रखो कि तुम्हारा

जीवन का लक्ष्य केवल तुम्हारा ही है यदि तुम्हें अपने लक्ष्य पर पूर्ण नियंत्रण

चाहिए वे स्वयं पर नियंत्रण करना होगा मेरे बच्चे में तुम्हारी माता तुम्हारे

लिए चिंतित है यदि तुम अपनी माता की बातों को समझ गए तो तुम्हारा जीवन आज से ही

बदलना शुरू हो जाएगा और मैं चाहती हूं कि तुम मेरे द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलो एक

माता अपने बच्चे से केवल इतना मांग रही है कि तुम सदा अच्छी तरह करके सच्चाई की राह

पर चले मेरे बच्चे तुमने जो मेरी भक्ति की है और भक्ति के चलते जो प्यार मुझसे किया

है वैसा ही प्यार तुम्हारी भी तुमसे ही करती है और जब भी तुम किसी राह पर भटकते

हो तो तुम्हारी मां को चिंता होने लगती है और मेरा हृदय रोने लगता है लेकिन मैं

जानती हूं कि तुम मेरी बहन बच्चे हो जो अपनी माता की थोड़ी सी चिंता से ही घबरा

जाते है इसलिए मेरे बच्चे अब समय आ गया है तुम्हें उचित मार्ग पर ले जाने का मैं

तुम्हारे जीवन का कल्याण चाहती और तोहे भी मेरी बातों को मानना होगा यही मेरा आदेश

है मैं नहीं चाहती कि मेरा बच्चा इस दुनिया की भीड़ में कहीं खो जाए या फिर

ऐसी ही भटकते रहे तुम्हारी मां तुमसे जितना अधिक प्रेम करती है उतना ही

तुम्हारी चिंता भी अब तो अपना ध्यान रखना और अपने जीवन को अच्छा करने के लिए मेरी

बताए हुए मार्ग पर चलना मैं चाहती हूं मेरे हृदय को मत दुखाना मेरे बच्चे अपनी

माता की बातों को आज मानकर कार्य करना मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है जय मां

काली हर हर महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे अत्यंत महत्त्वपूर्ण बात करना चाहता हूं जो भविष्य में

तुम्हारे साथ घटेगी मेरी बातों को ध्यान से सुनो आज मेरे मुख से निकला एक एक शब्द

तुम्हारे लिए भविष्यवाणी है आज मैं तुमसे यह बताना चाहता हूं कि तुम्हारे जीवन का

अंत कैसा होगा तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में क्या सोचेंगे मेरे बच्चे जितने

भी लोग इस संसार में जन्मे हैं उनका कोई ना कोई उद्देश्य होता है अपने उद्देश्यों

को पूरा करके हर किसी को एक ना एक दिन इस संसार को छोड़ना है अपनी जीवन यात्रा में

मनुष्य कई बार गिरता है कई बार संभलता है कभी हसता है तो कभी रोता है ऐसे में

मनुष्य हजारों सपने सजाता है कुछ के पूर्ण होते हैं और कुछ के अधूरे रह जाते हैं

मेरे बच्चे तुमने भी बड़े सपने सजाए हैं और उन्हें पूर्ण करने के लिए तुम कठिन

परिश्रम भी कर रहे हो किंतु अभी तक तुम्हें सफलता नहीं मिली है लेकिन मेरे बच्चे क्या तुमने कभी सोचा है कि तुम्हारे

ही जीवन में इतने दुख क्यों है जबक तो एक सच्चे इंसान किसी का दुख तुमसे देखा नहीं

जाता तुम्हारी भक्ति सच्ची है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में इतने संघर्ष इसलिए है

क्योंकि तुम कुछ और चाहते हो और मैं कुछ और चाहता हूं तुम जो पाना चाहते हैं उससे

कई गुना ज्यादा मैं तुम्हें देना चाहता है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है तो उस समय

भी अधिक लगेगा किंतु शीघ्र ही तुम्हारे जीवन में कई बड़े बदलाव होंगे और अपनी

बेहन और साहस के बल पर सफलता प्राप्त करेंगे किंतु तुम्हें मिलने

वाली यहां सफलता बहुत बड़ी नहीं लेकिन यहां वहां कुंजी है जो तुम्हें तुम्हारे

अंतिम गंतव्य तक ले जाएगा मेरे बच्चे जब तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में होंगे

तो तुम्हारा मन संतोष एवं शांति का अनुभव करेगा तुम्हारे जीवन का अंत बेहद दुखद

होगा तुम्हारी कोई भी सपने अधूरे नहीं रहे तुम अपना पूर्ण जीवन जीकर ही संसार त्याग

होगी और तुम अपने जीवन में कई ऐसे कार्य करोगे कि तुम्हारे जाने पर केवल तुम्हारे

परिजन को ही नहीं पूरे समाज को होगा हर किसी की आंखों में तुम्हारे लिए आंसू

होंगे और तुम्हारे जाने के बाद लोग तुम्हें याद करेंगे कुछ ऐसा होगा तुम्हारे

जीवन का किंतु अभी तो यह तुम्हारे जीवन का आरंभ में है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है

अब आगे बढ़ो मेरे बच्चे और अपने उद्देश्यों को पूरा करो मेरा आशीर्वाद सदा

तुम्हारे साथ रहेगा जाय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश

प्राप्त हुआ है तो तुम्हारे जीवन की समस्याएं आज समाप्त होने वाली है मेरे

बच्चे मेरी तीन बातों पर विशेष ध्यान देते हैं तुम्हारी हर परेशानी दूर हो जाएगी

सुबह से लेकर शाम तक और हर समय उठते बैठते जागते तुम्हारे मन में यही विचार हमेशा

लगा रहता है कि मेरे साथ ही ऐसा क्यों हो रहा है मैंने गलती की है मेरा क्या दोष है

मैंने तो कुछ गलत किया भी नहीं फिर भी मेरे साथ क्या हो रहा है मैं क्यों इतना

परेशान संसार के सभी व्यक्ति बहुत खुशहाल है और मेरे जीवन में कोई भी परेशानी मेरा

पीछा नहीं छोड़ रही है तुम्हारा मन सदा अपनी नाकामियों से परेशान रहता है कोई भी

नया कार्य प्रारंभ करते थे लेकिन अधूरा रहता है या पूरा होते होते रुक जाता है कई बार तो

तुम्हें ऐसा लगता है कि तुम किसी भी कार्य को नहीं कर पाओगे तुम्हारा हृदय यहां

मानने लगा है कि कोई भी काम सफल नहीं हो पा रहा है तुम्हारा विश्वास टूटने लगा है

डगमगाने लगा है तुम्हें ऐसा लग रहा है कि तुम्हारे जीवन में पता नहीं आगे क्या होने

वाला है आगे के सभी रास्ते बंद दिखाई दे रहे हैं ऐसा लग रहा है कि जीवन में कुछ

बचा नहीं है और तुम्हारा कोई साथ नहीं दे रहा है लेकिन मेरे बच्चे अभी भी कुछ

रास्ते खुले हुए हैं शजन पर चलकर तुम अपनी मंजिल को प्राप्त कर सकते हैं अपनी हर

परेशानी को समाप्त कर सकते हैं अगर कुछ कमी है तो उन पर चलने की आज मैं तुम्हें

तीन काम बताऊंगी बातों को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना और करना है पहले जीवन में

प्रतिदिन संध्या काल तुम अगले दिन के लिए यह निश्चय कर लो कि आज की गई गलती को कल

वोके कहने का अर्थ है कि पीछे की जो भी चीजें छूट रही

उनको नहीं दोहराएंगे आगे जब तुम्हें चलना है तो तुम्हें एक नए रास्ते को बनाते हुए

पीछे की गलतियों को छोड़कर चलना है तभी तुम उस मुकाम पर पहुंच सकते हैं जहां तक

पहुंचना चाहते हो दूसरा खुद के मार्ग खुद बना सुनो सबकी करो अपने हृदय की तुम्हारा

हृदय जब सबकी बातों को सुनने के बाद जो कहता है अंदर से जो विश्वास तुम्हारा जाता

है उसी को करो और तीसरा तुम सोच से जदा हो और काम करते हो जो भी विचार

तुम्हारे मन में आता है उस पर तुरंत काम करना प्रारंभ कर देना चाहिए ना कि तुम

सोचते सोचते अपने समय को व्यर्थ में दवाओ भले ही तो चिंताओं से घिरे हुए कितनी भी

भोजन से मायूस हो चुके हो फिर भी यदि तुम्हें इन परेशानियों से निकलना है तो

किसी भी मार्ग पर तुरंत काम करने से तुम्हारे समय की बचत होगी और उस पर

जितना जल्दी काम कर सकते हैं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से निकल जाएगा और उस

पर जितना जल्दी हो सके तो काम कर सकते हो नहीं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से

निकल जाएगा वही तुम्हें भी प्राप्त होगा जो तुम्हें चाहिए इस बात का ध्यान रखना

परेशानियां तब भीड़ की है जब तुम परेशानियों को देखकर अपने कदमों को पीछे

हटा दे इसलिए कभी भी परेशानियों से डरो मत उसका डटकर सामना करो जो डटकर सामना करके

आगे जाने की हिम्मत रखते हैं निश्चित ही हर परेशानी का सामना

कर लेते हैं क्योंकि किसी भी चीज से डरना ही असफलता का मुख्य कारण है और संसार में

ऐसी कोई चीज नहीं जो तुम नहीं कर सकते अगर कुछ कमियां है तो सोचकर केवल मन लगाकर

करने की जैसे ही इसे करोगे हर परेशानी से निकल जाओगे अब जो तुम्हें बताने जा रहे

हैं यह बात आज तक तुम्हें किसी ने भी नहीं बतानी होगी मेरे बच्चे तुम्हारी सफलता का

रहस्य यहां छुपा हुआ है तुम प्रयास करते हो दूसरे को देखने का तुम

देखने का प्रयास करती हूं कि वह जीवन में आगे कैसे बढ़ रहा है आगे बढ़ने के लिए बात

क्या कर रहा है और जो भी बात कर रहा है उनका उन्हें लाभ कैसे होगा तुम प्रयास

करते हैं उनके जीवन में देखने की उनकी गतिविधियों को तुम देखने और समझने का

प्रयास करते हैं इसलिए तुम पीछे छूट जाते हैं जीवन में यदि तुम आ आगे बढ़ना चाहते

हो तो तुम्हारी दृष्टि भी आगे की बोली चाहिए कदम भी उसी मार्ग पर आगे बढ़ाना

चाहिए अपनी गतिविधियों को देखो अपनी योजनाओं को देखे अपने प्रयासों को अपने

अनुभव को समझो और उसी मार्ग पर आगे हैं ऐसी कोई सफलता नहीं जो तुम्हें प्राप्त

नहीं होगी तो में कोई ना कोई विशेष है और तुम में कोई ना कोई दोष भी है यह

प्राकृतिक तुम्हें क्या सिखाती है यह सभी एक दूसरे से लड़ते नहीं है एक दूसरे के

लिए बाधा नहीं बनते बस अपना कर करते हैं सूर्य अपने प्रकाश से वनस्पतियों के पेड़

पौधों को जन्म देता है में वर्षा करते हैं लोग होते हैं पर्वत की यहां चलता है उस

वसा को एक दिशा देती है एक धारा बनती है जो बहती है यह सब क्या है यह सब एक संयोग

है चक्र है सभी साथ मिलकर अपना कन करते हैं अभी यहां प्राकृतिक जी जीवित है यही

तो वे भी करना है सहयोग में रहकर काम करना है किसी के लिए बांधा नहीं बनना है किसी

को छोटा नहीं समझना है ऐसे ही करते रहना है सबके साथ मिलकर कम करना है

प्राकृतिक ब्लीच भी यही सिखाती है मेरे बच्चे एक प्रबल मन कठिन परिस्थितियों को

एक चुनौती के रूप में देखता है और चुनौतियों में अवसर को देखता है यही

तुम्हें भी करना है इस संसार में किसी को भी दोषी मानने से तुम्हा सी समस्या सुलझ

नहीं जाएगी इसलिए इस संसार को दोष देने के स्थान पर उस समस्या की जड़ तक जाए उसे

समझो और अपने इस मन को प्रबल बना यदि तुम्हारा मन प्रबल हो गया तो इस संसार में

बड़ी से बड़ी कठिन से कठिन परिस्थितियां क्यों ना आ जाए तुम्हारे जीवन में बड़ी से

बड़ी समस्या क्यों ना बन जाए तुम अपने जीवन में आसानी से उसे पार कर सकते हो

क्योंकि तुम मेरे प्यारे बच्चे और मैं तुम्हें कभी दुखी नहीं देखना

चाहती इसलिए मेरी बातों का विशेष ध्यान देना मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

जय हो माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम्हारी आंखों के समक्ष यदि मेरा संदेश

आया है तो निश्चित ही तुम्हें आज मेरा यह एक वरदान प्राप्त होगा जिसके लिए पूरा

संसार तरस रहा है वहां तुम्हें प्राप्त होगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम बहुत

भाग्यशाली हो तुम्हारे अंदर यहां एक बहुत अच्छा गुण है कि तुम किसी को गिराने की

कोशिश नहीं करते हो लेकिन अब मेरी कही हुई बात पर विशेष ध्यान दो संसार में हर

व्यक्ति को क्या चाहिए किस चीज में उसकी खुशी है भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यक्तियों

की भिन्न-भिन्न प्रकार की खुशियां हो रही है लेकिन खुशियां कुछ चीजों से ही लगभग

सबकी जुड़ी होती है जैसे कि किसी को धन चाहिए किसी को संतान चाहिए किसी को घर

चाहिए किसी को व्यवसाय चाहिए लेकिन हर चीज जुड़ी हुई केवल एक चीज से है और वह चीज है

इस संसार में प्राप्त होने वाले आपकी अच्छी किस्मत अगर आपकी किस्मत अच्छी होगी

तो आपको कोई भी चीज मुफ्त में मिल जाएगी जरूरी नहीं कि आपको पैसे ही टमाटर थोड़ी

चीज प्राप्त हो बल्कि आपकी बुद्धि इतनी बलवान होगी कि आप उससे कम पैसों में भी

बड़े से बड़े मुकाम पर पहुंच सकते हैं क्योंकि संसार में बड़े मुकाम पर पहुंचने

के लिए तुम्हें जो चाहिए वह मैं तुम्हें आज बताऊंगी और वहां तक पहुंचने का रास्ता

भी बनाम लेकिन तुम भी मुझसे एक वादा करो कि तुम वहां तक पहुंचने के लिए पहल स्वयं

करो करोगे इसके लिए तुम्हें बुरा बनना होगा एक बात ध्यान रखना जितने ज्यादा बुरे

बनोगे उतना ही सफल हो जाओगे बुरे का अर्थ किसी का गलत करना नहीं होता बुरे बनो

स्वयं के लिए इस तरह बन जाओ के जीवन में जो तुम लोग उसे प्राप्त करने की शक्ति

तुम्हारे पास स्वयं ही आज भी अपने मन को दृढ़ निश्चय लेने वाला एक कठोर पत्थर की

तरह बना लो यदि तुम्हारे निर्णय पर तुम पूर्ण रूप से कार्य करने वाला और अपने कहे हुए वचनों पर

खरा उतरने वाला बच्चा तो तुम रामचंद्र जी के बारे में स्वयं जानते हो कि उन्होंने

अपने वचनों पर खरा उतरने के लिए सीता माता को लेकर मतभेद निवास किया था और वह इसलिए

महान और पूजनीय स्थान पर प्राप्त हुए जीवन में उन्हें महाराजा बनाया गया और ऐसे कई

राजा है जो अपने वचनों पर खरे उतरे हैं तो जीवन में हर माह उनको मंजिल पर पहुंचाना

है मेरे बच्चे तुम्हें मुझसे डरने की आवश्यकता नहीं क्योंकि मैं भले ही

तुम्हारे समक्ष गांधी रूप में प्रस्तुत लेकिन मैं दर असल तुम्हारी पार्वती मानी

और मेरा हृदय बहुत ही कोमल है मेरे बच्चे शक्ति ता उत्पन्न होती है जब तुम स्वयं उस

शक्ति को अपनी ओर आकर्षित करते हो जब तुम स्वयं अपनी बोली में हर बात पर खरे उतरने

लगते हैं और अपने वचनों से पीछे नहीं हटते तो स्वयं तुम्हारे अंदर शक्ति विद्यमान हो

जाती और शक्ति में तुम्हें जो चाहिए उसे प्राप्त करने के लिए तुम अपने मन को एकांत

में शक्ति को अर्जित करने की कोशिश करो जितना तुम अपने मन को शांत रखोगे हर

बाधाओं के नहीं और शांत मन से अपने हृदय की विचारधारा को उत्पन्न होने दोगे तभी

पूर्ण लाभ उठा पाएंगे जी में जब भी तुम्हारी मुश्किल घड़ी होती तो मेरी शक्ति

को तभी महसूस कर पाएंगे जब तुम अपने आप को स्वयं गलत कार्यों से बचाकर रखनी होगी

इसके साथ कि आपके अंदर जो शक्ति उत्पन्न होती है वह सही गलत का मार्गदर्शन भी करती

है और गलत रास्तों पर जाने से रोकती है और सही मार्ग पर तुम्हें आगे बढ़ाने की और

ज्यादा शक्ति प्रदान करती है तुम निश्चित पूर्व ग्रहो में तुम्हारी रक्षा करेंगी

मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ रहेगा जय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे कुछ भी

हो जाए अपने विश्वास को कभी टूटने मत देना तुम्हारे विश्वास की डोर बहुत मजबूत है

क्योंकि मैंने देखा है तुमने हर गंभीर समस्या चाहे कैसी भी परिस्थितियां क्यों

ना हो उसका सामना में दर्ज कर किया है मेरे बच्चे मैं तुमसे यही कहना चाहती हूं

कि तुम एक बहादुर बच्चे हो इतने बहादुर कि मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व होता है

क्या तुम्हें याद है तुमने अपनी जो परिस्थितियों का सामना किया था उसमें तुमने बहुत बहादुरी दिखाई थी मेरे बच्चे

तुमने मेरे ऊपर सब छोड़ दिया था और अपने कार्य को निरंतर करते जा रहे थे जो माह में उस

कार्य को कर रहे थे जो बहुत ही ज्यादा कठिन था परंतु तुमने हार नहीं मानी और

अपने सफर में आगे बढते रहे इसी आज मैं तुम्हें यह याद दिलाने आई कि जैसे तुमने

पहले अपनी हर समस्या का डटकर सामना किया है वैसे आगे भी

हमेशा करते रहना और मैं तुमसे यही कहना चाहूंगी कि आज मैं तुमसे बहुत प्रसन्न हूं

और मैं तुम्हें आशीर्वाद दे दे कि तुम्हारी जितनी भी इच्छा है बहुत जल्द से

जल्द पूरी हो जाए इसलिए बहुत सारी चिंता त्याग दो और अपनी मंजिल की ओर आगे बढ़ते

रहो मेरे बच्चे मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व है कि तुम्हें संसार में अपनी

सकारात्मक ऊर्जा फैला र हो मैंने तुम्हें इस प्यारे से संसार में भेजा है यह

सकारात्मक ऊर्जा लोगों को भी सिखाओ लोगों से अच्छे कार्य कर रहा मेरे बच्चे हमेशा

अच्छा ही सोचो यदि कोई किसी की बुराई करता है श्र निंदा करता है तो तुम्हें उन

बुराइयों से बचना है क्योंकि यदि तुम बुराई करोगे तो तुम उसी पद पर आगे जाओगे

जो मैं कभी नहीं चाहती है इसलिए जीवन में कभी ऐसा मत करना मेरा आशीर्वाद हमेशा मेरे

बच्चों के साथ ही है मेरे बच्चे आज का यह संदेश सबको प्राप्त नहीं होगा जिन्हें भी

यह संदेश आज प्राप्त होगा वह एक पुष्टिकरण होगा कि तुम्हारी कोई इच्छा पूरी होने

वाली है तुमने जो प्रार्थना की थी मैंने उसे स्वीकार कर लिया मेरे बच्चे मैं जानती

थी कि हाला अभी ठीक नहीं है तुम्हारा मन किसी कार्य में नहीं लगता तो मैं कुछ समझ नहीं

आता तुम अपने आप को फंसा हुआ पाते हो और अपनी पीड़ा कहीं भी तो किस से कहे मेरे

बच्चे तुम्हें मैं असमंजस में दे रही परंतु आज मैं तुमसे एक वादा करती हूं

शीघ्र सब कुछ अच्छा हो जाएगा यह जीवन से चलने लगेगा तोहे कामयाबी नहीं मिलेगी ऐसा

हो सकता है अपने मन में यह विचार लाते क्यों हो मेरे बच्चे जैसे ही तुम्हारे मन

में यह विचार आते है तब मैं स्वयं तुम्हें बताती है कि रुक जाओ आज भी तुम्हें कुछ

संकेत प्राप्त हुए होंगे इस संदेश को पढ़ने के बाद बा भी कुछ संकेत दूंगी और

तुम्हें आभास हो जाएगा कि मैं क्या कहना चाहती मेरे बच्चे आज केवल किसी कारण से यह

संदेश तुम्हें प्राप्त हुआ है कि तुम कामयाबी के बहुत करीब आ गए जब मैं

तुम्हारे लिए कुछ खूबसूरत योजना तैयार करते हैं तब तुम्हें कुछ विशेष राखी होती

है यह संकेत बड़े ही अनमोल होती है मेरे बच्चे अब इन्हें तो तुम्हें स्वयं ही

समझना होगा कि ऐसे कौन से अनमोल संकेत है जो तुम्हें निरंतर प्राप्त हो रहे हैं

मैंने तुम्हारे लिए जो योजना तैयार की है उस योजना के द्वार खुल रहे हैं जैसा कि

मैंने तुम्हें पिछली बार भी कहा था आने वाला मौसम चमत्कार का है जहां लगातार

चमत्कार ही प्रारंभ होंगे अब रोज एक सुबह खास होगी जहां चार और चमत्कार ही चमत्कार

होगा मेरे बच्चे तुम इस चमत्कार को दिव्य दृष्टि से देख सकते हैं बदलाव को निकट है

तुम अपने हौसलों को मजबूत करो तुम बदला के बहुत निकट पहुंच गए हैं दीप प्रज्वलित हो

चुका है जो तुम्हारे अंधकार को मिटाया जाए अपने मन से सभी भाई निकाल दो देखने का

नजरिया बदलो खुशियां चारों ओर है अपने सारे गम भुलाकर खुद को खुशियों के लिए

तैयार करें मेरे बच्चे जहां धूप है वहां छाया भी होगा रात्रि के बाद ही सुनहरा

सुबह आता है जैसे अभी है तो जल है इसी तरह अगर जीवन में कोई परेशानी है तो उस

परेशानी का अंत भी निश्चित होता है तब तुम क्यों इतना उदास होते इसीलिए मैं कहती

चिंता छोड़कर अपने आप से प्रेम करो क्या हालत बना ली है तुमने अपनी अपना ख्याल रखो

अपने आप से प्रेम करना ही छोड़ दिया है तुमने मेरे बच्चे मैं तुम्हारे जीवन में

केवल वही करती जो तुम्हारे लिए सही है दो दिनों के अंदर तुम्हें कुछ विशेष संकेत

प्राप्त होंगे यह संकेत तो में निद्रा के स सनों में भी बोल सकते हैं जिससे तुम्हें

सुनिश्चित हो जाएगा कि जल्द ही सब बदलने वाला है मैं चाहते हैं कि चिंता मुख होकर

मुस्कुराओ मैं चाहती हूं कि तुम अपने जीवन में जीत हासिल कर इसकी शुरुआत खुद स्वयं

से करो आगे मैं तुम्हारे रथ को संभाल लूंगी देर होने से पहले तुम्हें आज यह

संदेश प्राप्त हो गया है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन की दिशा अब पूरी तरह से

बदलने वाली है आने वाले समय के बारे में मैं तुम्हें कुछ बताना चाहती इसलिए

तुम्हें इस बात को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना होगा मेरे बच्चे आने वाला समय

तुम्हारे जीवन का सबसे अच्छा और महत्त्वपूर्ण समय होगा तुम्हारे जीवन को

एक नया आया मिलेगा तुम बाहें फैलाकर आने वाली खुशियों का स्वागत करना अब समय

परेशान रहने का नहीं है अब समय है खुशी से झूमने का सुबह उठकर खुली हवा में सांस

लेना और प्राकृतिक के सु

मेरे प्रिय बच्चे कैसे हो तुम आज तुम्हारी काली माता तुम्हारे लिए एक ऐसा संदेश लेकर

आई है जिसे जानकर तुम प्रसन्नता से बहुत ही गदगद हो जाओगे क्योंकि मेरे बच्चे इस

संदेश में कुछ ऐसा ही है जिसे जानने के बात तुम्हें बहुत ही प्रसन्नता होगी मेरे

बच्चे तुम्हारे शत्रु जो तुम्हें बहुत परेशान करते थे अब उनके परेशान होने के

दिन आ गए हैं अब उनके घरों में इस प्रकार से कला और उपद्रव ने निवास कर लिया है

क्योंकि आपस में ही लड़ झगड़ कर मर रहे हैं वह इस प्रकार से लड़ रहे हैं कि एक

दूसरे के खून के प्यासे हो गए हैं उनके अंदर जो आपस का प्रेम भाव था वह सब समाप्त

हो गया है और वह अब एक दूसरे के खून के प्यासे हैं उनकी लड़ाई से पूरे मोहल्ले

में सनसनी मची हुई है मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रुओं की ऐसी दशा देखकर मैं तुम्हें

बताने के लिए आई हूं इसलिए मेरे मे बच्चे अगर तुम अपनी काली माता को दिल से मानते

हो तो इस वीडियो को अभी लाइक कर दीजिए और चैनल को सब्सक्राइब करके कमेंट में जय हो

माता रानी और हर हर महादेव जी टाइप कर दीजिए और साथ ही साथ अपने नाम का पहला

अक्षर दर्ज कर दीजिए ताकि हम तुम्हारे जीवन की सभी समस्याओं को दूर करने में मदद

कर सके मेरे बच्चे यह संदेश तुम्हारे लिए बहुत ही खास है क्योंकि इसमें आगे

तुम्हारा भी जीवन से जुड़ी हुई बहुत रोचक और आवश्यक बातें हैं जो तुम्हें आगे चलकर

तुम्हारे शत्रुओं की चाल से बचाएंगे और उनकी प्रत्येक योजनाओं को तुम्हें सूचित

करेंगे मेरे बच्चे जब किसी के कर्मों का घड़ा भर जाता है तो वह एक दिन फुट ठा

आवश्यक है मनुष्य को यह पता नहीं होता है कि जो मैं यह करू रहा हूं यह मेरे साथ

कैसा परिणाम लेकर आएगा बस वह करता रहता है वह सोचता है कि कि मैं जो कर रहा हूं उसे

कोई नहीं देख रहा है और ना मुझे कोई रोकने वाला है और नमो मुझे कोई समझने वाला है

किंतु उसका यह भ्रम होता है मेरे प्यारे बच्चे तुम यह बात हमेशा याद रखना अगर

तुमने किसी के साथ गलत किया है तो किसी ना किसी दिन तुम्हारे साथ भी वैसा ही होगा

यही आज तुम्हारे शत्रुओं के साथ हुआ है उन्होंने तुम्हारे साथ बहुत ही गंदा

व्यवहार किया है तुम्हारे हर कार्य को बाधित किया है तुम्हें हर प्रकार से

पीड़ित और परेशान किया है इसलिए अब उनके कर्मों का दंड मिल रहा है मेरे बच्चे आपके

जीवन में कुछ बहुत बड़ा घटित होने वाला है और तुम्हें इस बात के बारे में पूर्ण रूप

से अवगत कराना चाहती इसलिए मैं तुम्हारे पास आए हूं मेरे बच्चे तुम्हें सबसे पहले

मेरी बातों को सुनकर डरना नहीं है बल्कि तुम्हें केवल बातों को समझना है यदि तुम

समझ गए तो आने वाली उस उस चीज का सामना तुम बहुत आराम से कर पाएंगे क्योंकि जीवन

में घटित होने वाली अच्छी या बुरी चीजें बार-बार जीवन में आने का अर्थात प्रवेश

करने का का पूर्ण रूप से प्रयास करती है तो इसका अर्थ यह है कि तुम जब भी किसी

कार्य को करते हो तो उस कार्य से आकर्षित समय तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने का

प्रयास करता है अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी और वह बार-बार प्रयास करता है कई

बार तो अच्छा होते होते रह जाता है और कई बार बुरा होते होते रह जाता है उसका कारण केवल

इतना होता है कि तुम ध्यान नहीं देते और उसके साथ-साथ यदि कुछ बुरा होने वाला होता

है तुम्हारे पास देवीय शक्तियां होती है तुम अपने आप को सुरक्षा कवच में

सुरक्षित रखते हो इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें कोई ऐसी शक्ति नुकसान नहीं पहुंचा

पाती जो तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहती है इसके कई अर्थ होते हैं लेकिन लेकिन आज जो

मैं बताने आई हूं उसको सुनने से पहले एक बार जाए वह माता रानी जरूर लिखना इससे

मुझे बहुत प्रसन्नता होगी मेरे बच्चे जब तुम्हारे करीब कोई भी ऐसा इंसान यदि आता

है जिससे तुम्हें खतरा महसूस होता है या तुम्हें डर लगने लगता है या तुम्हारे हृदय

को यह आभास होता है कि इस व्यक्ति से तुम्हें नुकसान पहुंच सकता है तो तुम्हारा

मन बार-बार डरने लगता है और तुम से दूर हटने लगते हो तो उसके करीब नहीं जाते

लेकिन कई बार ऐसा देखने वाला व्यक्ति जिससे तुम्हें बिल्कुल

भी ना लगे तो तुम उसे पहचान ही नहीं पाओगे कि तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहता है या

नहीं चाहता या तुम्हारे करीब आने वाली ऐसी अदृश्य शक्ति है जो कि तुम्हें दिखाई नहीं

देती लेकिन ना हो तो भी नुकसान पहुंचा सकती है अब जो चीज तुम्हें दिखाई नहीं

देती उसे केवल हृदय से आभास कर सकते आंखों से देख नहीं सकते क्योंकि वह हवा

में विलीन होती है लेकिन मेरे बच्चे वहां कोई कमजोर शक्ति नहीं होती बल्कि इतनी

शक्तिशाली शक्ति होती है कि तुम्हें नुकसान पहुंचा सकती है लेकिन जब तुम्हें

कोई चीज दिखाई दे तो तुम उससे बचने का प्रयास कैसे कर सकते हैं यहां भी जानना

जरूरी है कि जो व्यक्ति तुम्हें दिखाई दे रहा है और यदि वह तुम्हें खतरा महसूस नहीं

कर पा रहा ले लेकिन तुम्हें उससे खतरा है उससे कैसे बचना है इसके साथ-साथ तुम्हें

एक बात को जान लेना होगा जो मैं तुम्हें आज बताऊंगी तुम्हें उस बात को भी जान लिया तो निश्चित

ही आने वाली चाहे कोई भी हो लेकिन तुम उससे बच जाओगे सबसे पहले तो तुम्हें इस

बात को जान लेना जरूरी है कि यदि तुम मेरी आधी अधूरी बातों को सुनोगे तो धूप से बचने

का रास्ता प्राप्त नहीं हो पाएगा यदि तुम पूर्ण रूप से बचना चाहते हो तो तुम्हें

मेरी पूरी बातों पर ध्यान देना होगा और अपने मन में हर बात को उतारना होगा

क्योंकि मेरे बच्चे एक चीज से बच सकते हो तो दूसरी से खतरा हो सकता है यदि सभी से

बचना है तो तुम्हें कुछ बातों को जान लेना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि कई बार मैं

तो तुम्हें बचा लेती है लेकिन तुम कहीं ना कहीं कोई ऐसी गलती कर देते हो तो नुकसान

तुम्हारा होने के साथ-साथ मुझे भी होता है इसलिए मेरे बच्चे आज मैं

तुम्हारी मां तुम्हें पूर्ण रूप से बचाने आई तुम किसी के नुकसान पहुंचाने पर एक ही

रास्ता ऐसा नहीं होना चाहिए कि तुम्हें कोई नुकसान पहुंचा पाए क्या तुम्हें उस

बात के बारे में अवगत ना हो और यही मेरा धर्म बदला है क्योंकि मैं एक मां और मां

अपने बच्चों की हर प्रकार से रक्षा करती है वह हमेशा अपने बच्चों का भला चाहती है

उसके मन में हमेशा यही डर लगा रहता है कि कहीं मेरे बच्चे को कोई नुकसान

ना हो जाए किसी भी कारण पास और यही मेरा है मैं भी तुम्हें बार-बार के इसलिए बताती

हूं और आगाह करती हूं जिससे कि तुम्हें जीवन में कोई भी परेशानी ना हो

क्योंकि मेरे बच्चे में मां होकर अपनी ममता को कैसे रोक सकती सबसे पहली बात तो

तुम्हें इस बात का स्मरण रखना होगा कि स्त्री हो या पुरुष यदि उसे कोई स्त्री या

उसे कोई पुरुष जबरदस्ती मित्रता ना चाता है अर्थात तुम्हारे मना करने पर भी बहुत

बार-बार तुमसे बातें करने का प्रयास करें बार-बार तुम्हारे करीब आने का प्रयास करें

और तुम उसे अनदेखा कर रहे हैं फिर भी वह तुम्हारे करीब आती चली जा रही है यहां

तुम्हारे करीब आता चला जा रहा है तुमसे मित्रता बनाने के लिए बार-बार कहता है और

तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारा मित्र बनना चाहता है या चाहते हैं तो तुम

निश्चित ही इस बात को समझने की बहुत कोई साधारण इंसान नहीं है बल्कि जो तुमसे

जबरदस्ती मित्रता निभाने की या तुम्हारे अनदेखा करने के पश्चात भी उनसे मित्रता

बनाने की कोशिश कर रही है वह जरूर कोई ना कोई परेशानी लाने वाली है क्योंकि मेरे

बच्चे उसके इरादे नेक नहीं है जो अच्छा इंसान होता है जिसकी भावनाएं अच्छी होती

है मित्रता वो भी करते हैं लेकिन ना केवल सामने वाले की भावना को देखकर मित्रता

करती है जबरदस्ती किसी के ऐसे पीछे नहीं पड़ती है और जो ऐसा करते हैं निश्चित ही

उनके मन में कुछ ना कुछ सामने वाले के प्रति गलत भावना रहती है वह कुछ ना कुछ

नुकसान पहुंचाना चाहते हैं और इसी इरादे से वहां बार-बार करीब आने की कोशिश करते

हैं जिससे कि जबकी कभी ना कभी उनसे मित्रता करें और इसी का फायदा उठाकर आपका

नुकसान करते हैं अर्थात आपके जीवन में कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान करेंगे जिससे कि आपको

जीवन भर पछताना पड़ेगा इसलिए मेरे बच्चे ऐसे व्यक्ति से सबसे पहली बात तो दूर रहना

प्रारंभ करो और दूसरा इस बात को ध्यान रखें कि यदि तुम्हें कोई भी ऐसी मानसिक

स्थिति रही है अर्थात तुम्हारा मन बार-बार किसी भी मांग को लेकर परेशान हो रहा है या

क्यों बेवजह से किसी बात से सबसे ज्यादा डर रहे हो तो तुम्हें एक बात को स्मरण

रखना चाहिए कि कोई ना कोई ऐसी शक्ति तुम्हें घेर रही है जो कि तुम्हारे हृदय

के और मस्तिष्क के अंदर नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न कर रही है अर्थात तुम्हारे मन के अंदर एक ऐसा

दृष्टिकोण बन रहा है जो कि किसी भी कार्य को ना करने के लिए उकसा रहा है और

तुम्हारी शक्ति को कमजोर कर रहा है अर्थात कहने का अर्थ यह है कि एक नकारात्मक ऊर्जा

तुम्हारे जीवन में प्रवेश कर रही जिस ऊर्जा को तुम्हें नष्ट करना होगा और यह

केवल तुम अपने ईष्ट देवता के मंत्रों का उच्चारण करके भी कर सकते हो या तुम अपनी

माता का नाम का उच्चारण करो या फिर हनुमान चालीसा चालीसा का पाठ करें क्योंकि

कुछ-कुछ शक्तियां ऐसी हैं जिनके मंत्रों का लगातार उच्चारण यदि तुम करते हो तो

निश्चित ही तो उस शक्ति का उच्चारण करते-करते उस शक्ति को अपने इर्दगिर्द विद्यमान कर लोगे इस बात का ध्यान रखो

कि कभी भी किसी भी शक्ति के मंत्र उच्चारण करने से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में

प्रवेश करने लगती है और तुम्हारे के विद्यमान हो जाती है तुम्हारी रक्षा करने

के लिए क्योंकि तुम स्वयं ही उस शक्ति को अपनी हो आकर्षित करते हैं अपने मुख से

निकले हुए एक एक शब्द से वह शक्ति तुम्हारे जीवन में धीरे-धीरे करके प्रवेश

करने लगती है और यदि कोई भी नकारात्मक ऊर्जा यदि तुम्हारे मस्तिष्क में प्रवेश

करके विद्यमान हो जाती है और उसे अपने मस्तिष्क से अपने हृदय से अपने पूरे शरीर

से विकास नहीं पाते हो तो उसका मास तुम्हारे शरीर पर होने लगता है चाहती है

जैसा तुम करते हो अर्थात बहुत कुछ ना कुछ तुम्हारे जीवन में बेकार करने के लिए आती

है और बिगाड़ करके ही बाद जाती है क्योंकि उसका काम ही ऐसा होता है कहीं पर भी

विकराल रूप धारण करना अर्थात कुछ ना कुछ ऐसा नुकसान कर ना किसी के प्रति मां फिर

तुम्हारे शरीर में प्रवेश करके दूसरों का नुकसान करता है क्योंकि किसी से उसको

प्रसन्नता होती है मैं तुम्हें डराना नहीं चाहती और ही मेरा उद्देश्य है तुम्हें

लड़ा था लेकिन यह सच है कि कुछ कुछ ऊर्जा ऐसी होती है किसी भी व्यक्ति की बुद्धि को

पूर्ण रूप से बंद कर देती है और उसकी सोचने समझने की शक्ति को क्षीण कर दे दी

है इसलिए कभी भी अपने ऊपर ऐसी ऊर्जा को विद्यमान मत होने दो क्योंकि यदि ऐसी

ऊर्जा विद्यमान हो जाती है तो तुम्हारे जीवन में बहुत बड़ा संकट उत्पन्न

करती है और खतरा भी लेकर आती है यदि तुम्हारे मस्तिष्क के अंदर बार-बार गलत

विचारधाराएं उत्पन्न हो रही है बिना वजह से कुछ ऐसी मानसिक स्थिति हो गई है जिसमें

तुम दूसरों का अच्छा ना सोचकर गलत भावना लेकर आ रहे हो या तुम्हारे मन के अंदर

अपने आप ही गलत भावना उत्पन्न हो रही है और तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारे

जीवन में तुम्हारे मन की जो स्थिति है वह एक अलग दिशाओं में चली गई है तुम्हें ऐसा

नहीं सोचना चाहिए फिर भी तुम्हारे मन की भावनाओं को काबू में नहीं रख पा रहे

बार-बार दुर्गुण धारणाओं को रोकने का प्रयास कर रही लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा

है तुमसे और तुम जानबूझ कर भी यह नहीं करते लेकिन तुम्हारे जीवन में ऐसा हो रहा

है यह सत्य है कि कई बार जीवन में हम जो सोचते हैं हम चाहते नहीं है और जो हम

चाहते हैं वैसा सोच नहीं पाते तो ऐसे में तुम समझ लेना कि तुम्हारे

मस्तिष्क पर किसी और चीज का वास हो चुका है अर्थात तुम्हारे हृदय में तो ईश्वर का

वास है लेकिन तुम्हारे मस्तिष्क में एक ऐसी ऊर्जा विमान हो चुकी है जिस ऊर्जा को

तुम्हारे मस्तिष्क में विद्यमान होने पर उसने तुम्हारी दिशाहीन बोर इसलिए मेरे

बच्चे शीघ्र ही तुम्हें मंत्रों का उच्चारण करना चाहिए और इन्हीं मंत्रों के उच्चारण से तुम्हारे मस्तिष्क में ईश्वर

का वास होगा और जो तुम्हारी गलत दिशा में मोदी हुई रुख है वह सही दिशा में चलने

लगेगी मेरे बच्चे इस बात को हमेशा स्मरण रखना कि तुम बहुत सोच समझकर ही किसी भी

कार्य को चुनना और यदि तुम बार-बार ऐसा आभास करने लगे होग यह तुम्हारा सूज हुआ

तुम्हारा नहीं है किसी और का है तुम्हारे हृदय को ऐसा आभास होने लगा है तुम इस पर

पूर्ण रूप से विचार करना और शक्तिशाली मंत्रों का उच्चारण प्रारंभ करना तीसरी और

सबसे जरूरी बात में तुम्हें बताना चाहती कि आज के युग में अर्थात आधुनिक युग में

जो लड़कियां हैं सभी सही है लेकिन अभी भी कुछ लड़कियां ऐसी होती है जो किसी भी

लड़की के जीवन में ऐसा नुकसान करके जाती है और नुकन के लिए ही वह प्रेम का संबंध

बनाती है वह सामने वाले को केवल लूटने और बर्बाद करने के इरादे से उसके जीवन में

आती है यदि कोई भी लड़का भावुक होता है लड़कियां उसका कई बार फायदा उठाती है हर

लड़की ऐसी नहीं होती लेकिन कुछ ऐसी होती हैं मैं उन्हें लड़कियों के लिए यह बताना

चाहती मेरे बच्चे तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लाने का या किसी के ऊपर मुसीबत आने

का कारण मत बन क्योंकि यदि तुम दूसरों के ऊपर मुसीबत लेकर भी

अर्थात दूसरों के प्रेम का फायदा उठाओ के और यदि लड़का ऐसा करता है लड़कियों के साथ

अर्थ किसी भी लड़की की इज्जत नहीं करता उसका मान सम्मान नहीं करता उसकी इज्जत का

ख्याल नहीं रखता तो उन दोनों के ऊपर निश्चित ही संकट आता है क्योंकि वहां आ

रही बुद्धि में गलत बात जो दोनों में से किसी की बुद्धि में आ सकती है उसके जीवन

को गलत दिशा में मोड़ कर ले जाती है और उसके कर्मों को भी एक ऐसी दिशा में मोड़

दे दी है जिससे कि उसकी बुद्धि तो कार्य कर पाती है और ना पैसा व्यक्ति सोच पाता

है क्योंकि एक व्यक्ति तो भावनाओं से किसी के साथ जुड़ता है लेकिन एक व्यक्ति केवल

स्वार्थ वर्ष किसी को अपने साथ जुड़ता है और अपने मन के अंदर षड्यंत्र भरकर रचना है

उसकी बुद्धि में केवल दूसरे को नुकसान पहुंचाने का और कुछ ना कुछ ऐसी भावना जो

किसी के प्रति किसी को नुकसान पहुंचाने की होती है और खुद का फायदा करने की होती है

बस इसी इरादे सेवा व्यक्ति ऐसा करने की कोशिश करता है

मेरे बच्चे जो लोग ऐसा करते हैं फोन को मैं आज सावधान करने आई क्योंकि यदि तुम

दूसरे के जीवन में ऐसा करोगे तो तुम्हारे जीवन में भी मुसीबत आएगी तुम्हारे जीवन

में भी संकट आएगा क्योंकि तुम अपने गमों को एक गलत दि में ले जाना होगा और जिन

लोगों के साथ ऐसा होता है उन्हें भी सावधान करने आए मेरे बच्चे तुम किसी से

प्रेम करो लेकिन ऐसा प्रेम मत करो जिसमें तुम ठगे जाओ क्योंकि थोड़ा को किसी से

प्रेम करो सोच समझकर प्रेम करो तुम्हें यदि किसी व्यक्ति से प्रेम हो जाता है या

तो भी कोई बहुत अच्छा लगता है इसमें गलती तुम्हारी नहीं है क्योंकि विदेश से प्रेम

होता है तभी जब आंखों को कोई चीज ती है और हृदय उसके पीछे भाग पड़ता है और तुम हृदय

के पीछे भाग पड़ती हो तुम चलते चले जाते हैं एक ऐसी दशा में जहां पर सामने वाला

व्यक्ति तुम्हारे प्रति छल रख कर के कार्यों को करता है और तुम उसे नहीं पाते

और नहीं परत पाते हैं क्योंकि तुम्हारी आंखों पर पट्टी बंधी होती है और जिसकी

आंखों पर पट्टी बंधी है व्यक्ति देख नहीं सकता अर्थात प्रेम की पत्ती एक ऐसी पट्टी

होती जो व्यक्ति सामने वाले को ना तो परखने की चाह

रख पाता है और ही उसे रख पाता है क्योंकि उसके मन में यह भावना आती ही नहीं कि

सामने वाला व्यक्ति षड्यंत्र भी रख सकता है क्योंकि जब वह किसी से सच्चा प्रेम

करने लगता है तो वह यह सोच नहीं पाता कि कोई ऐसा भी कर सकता है उसकी भावना को केवल

प्रेम की होती है और प्रेम उसके हृदय में वास करता है और वहां सोचता ही रहता है कि

मैं जिसे प्रेम करता हूं उसे कितना प्रेम करो जितना मेरा सामर्थ हो और जितने मेरे

बस के हो बहुत ज्यादा उसे प्रेम करो बस यही धारणा रखकर के बाद व्यक्ति सामने को

प्रेम करता चला जाता है और उसे परखने की खींचा नहीं रख पाता उसे अगर यह बात कोई

तीसरा व्यक्ति बता दे कि वहां छल कर रहा है या कर रही है तब भी उस व्यक्ति की

आंखों पर प्रेम की जो पट्टी बंधी होती है वह उस पति को उतार कर कभी भी परखने की

जांच नहीं कर पाता क्योंकि उसे कुछ दिखाई नहीं देता है सच तो उससे बिल्कुल भी दिखाई

नहीं दे पाता जब तक उसकी प्रेम की पत्ती आंखों से उतारी जाती है तब तक बहुत देर हो

चुकी होती है उसे यह जानते जानते काफी समय निकल जाता है कि उसके जीवन में क्या हो

रहा है और कोई है जो उसे छल कर रहा है धोखा दे रहा है उसे पीठ में खंजर घूप रहा

है बात-बात पर उसका झूठ बोलना बात-बात पर उसका रूठ जाना हर बात पर भून दिखाना और

बात-बात पर छोड़ के चली जाऊंगी या छोड़ के चला जाऊंगा धमकी देना और जो जिससे प्रेम

करता है वह उसकी हर बात को स्वीकार कर लेता है डर के कारण और यहां दर कोई ऐसा

वैसा दर्द नहीं होता बल्कि अपने प्रेम को खोने का दर्द होता है और यह भी सच है कि

जो सच्चा प्रेम करता वह अपने प्रेम को होने से बिल्कुल डरता है क्योंकि उसके बिना रह नहीं सकता

और रहा भी नहीं पाता है उसका फिर कहीं मन नहीं लगता उसका दिल नहीं लगता तो वह उदास

हो जाता है वह हर समय सोचता ही रहता है ना तो किसी कार्य को कर पाता है और ना ही

किसी भी कार्य को करने में उसका मन लगता है इसलिए वहां विवश हो जाता है जो जाता है

अपने प्रेम के सामने और ऐसे में ही सामने वाला व्यक्ति जो केवल उससे दिखावा कर रहा

है प्रेम का छलावा कर रहा है ब्रेक का और षड्यंत्र रच रहा है उसके प्रति वहां उसका

फायदा उठा लेता है और फिर उसके साथ धोखाधड़ी करके उसे बर्बाद करने की फिराक

में रहता है मेरे बच्चे यदि ऐसा प्रेम तुम्हारे निकट आ रहा है तो सावधान हो जाओ

क्योंकि प्रेम प्रेम नहीं है बल्कि एक बहुत बड़ा संकट है एक ऐसा संकट है जो यदि

तो उससे फंस गए एक बार तो उससे निकलना नामुमकिन के बराबर हो जाता है क्योंकि

उससे निकलते निकलते बहुत देर हो जाती है और जहां तक कहा जाए तो तुम अपना सब कुछ गवा

बैठते थे तब तुम्हें ज्ञात होता है कि मेरा सब कुछ खत्म हो चुका है मैं बर्बाद

हो चुका हूं इस प्रेम के चक्कर में इसलिए मैं तुम्हें आज आगाह करने आई है अर्थात

में समझाने आए कि तुम ऐसे किसी प्रेम के चक्कर में मत पड़ो नहीं तो तुम्हारा जीवन

खराब हो जाएगा और तुम बर्बाद हो जाओ मेरे बच्चे यह सच है कि प्रेम करना चाहिए लेकिन

उससे नहीं जो तुम्हारे साथ छलावा कर रहा है या दिखावा कर रहा है या तुमसे षड्यंत्र

रचकर बातें करता है बल्कि उससे प्रेम करो जो तुमसे सच्चा प्रेम करता है तुम पर जान

छिड़क है तुम्हारी हर बार में उसकी स्वीकृति होती है और भावनाओं से भावनाओं

का प्रेम होता है ना कि स्वास्थ्य पर मेरे बचे जिसके मन में छलावा होता है उस

व्यक्ति को तुम कुछ ही समय में प सकते हो इसलिए प्रेम करो लेकिन आंखें खोलकर आंखें

बंद करके नहीं यदि आंखें बंद करके प्रेम करोगे तो थोड़ा सा आगे जाकर ही ठोकर खा

जाओगे और मुंह के बल गिर पड़ोगे गिरने से पहले ही तुम्हें समझना होगा और संभलना

होगा और जाना होगा इस बात को कि तुम जो अभी कर रहे हैं उससे कहीं तुम्हारा कोई

नुकसान तो नहीं हो रहा ऐसा कोई व्यक्ति को नहीं है तुम्हारे जीवन में जो तुमसे छलावा

कर रहा हूं और तुम उसके बारे में पूर्ण रूप से जान नहीं पा रहे एवं उसके हाथों से

धोखा खा रहे हैं और जीवन को बर्बाद कर रहे थे क्योंकि मेरे बच्चे यदि ऐसा हो रहा है

तो आगे तुम्हें रोने का मौका भी नहीं मिल पाएगा उस समय जिस समय तुम सब कुछ दवा

बैठोगे अर्थात जो छल कर रहा है वह सब कुछ लूटकर भाग जाएगा और तुम हाथ मलते रह जाऊंगी

क्योंकि संसार में पाच मिलियन बराबर नहीं होती और सब एक से नहीं होते इसी प्रकार

प्रेम करो लेकिन देखो कि कहीं कोई तुमसे छल तो नहीं कर रहा है कहीं तो किसी के

षड्यंत्र मैं तो नहीं रहे हैं यदि तुम्हारे साथ ऐसा हो रहा है तो निश्चित ही

बहुत गलत हो रहा है और अपने आप को तुम लोग क्योंकि यदि समय रहते तुम स्वयं को नहीं

रोको होगी तो आदि तुम्हें केवल पछतावा होगा और जीवन में कुछ नहीं बचेगा ऐसे लावे से और ऐसे संकट

से बचने का केवल एक ही उपाय है कि तुम ऐसे प्रेम को तुरंत छोड़ दो और जिससे भी तुम

प्रेम करो उसे देख परक कर करो उसका प्रेम परखने के बाद ही तुम उसे पूर्ण रूप से

प्रेम करो और परखने के लिए भी तुम्हें यह देखना होगा कि सामने वाला व्यक्ति क्या सच

में तुमसे प्रेम करता है क्या उसकी भावना तुम्हारे लिए उस तरह की है जिस तरह की

तुम्हा है क्या हो उतना प्रेम कर पाएगा तुमसे जितना तुम उससे करती हूं क्योंकि

मेरे बच्चे यदि वहां बात बात पर लगता है या लगती है बात बात पर तुम्हें छोड़ने की

धमकी दे दी है बात बात पर रूठ जाती है यह बात-बात पर उसको क्रोध आता है तो ऐसा

व्यक्ति तुमसे प्रेम नहीं करता क्योंकि प्रेम करने वाला व्यक्ति कभी भी छोड़ने की

बात नहीं करेगा और प्रेम करने वाला व्यक्ति तुम्हें होने से हमेशा डरेगा मेरे ब बचे प्रेम करने वाला व्यक्ति बात बात पर

क्रोध नहीं करेगा बल्कि जहां तुमसे कुछ गलती होगी तुमसे प्यार से बात करेगा और

तुम्हें प्रेम से समझाएगा क्योंकि उसके हृदय में प्रेम है और वह इस बात को समझता

है कि किसी से यदि कोई गलती हो जाए तो उसे प्रेम से समझाने पर जितना ज्यादा समझ में

आता है उतना क्रोध बस कभी नहीं सकता और यही कारण होता है किसी भी व्यक्ति का कि

बात तुम्हें उस समय ता है जब तुम्हें कोई भी बात समझ में नहीं आ रही होती है

क्योंकि प्रेम का धर्म ही सबसे पहला यही होता है कि अपने प्रेमी को समझाएं हर बात

के लिए मनाए यदि प्रेमी क्रोधित भी हो जाता है तो प्रेमिका उसे समझाती है और

प्रेमिका यदि क्रोध होती है तो प्रेमी उसे समझाता है वह दोनों के दूसरे को समझते हैं

भावनाओं को पहचानते हैं एक दूसरे के प्रति बढ़ते मिटते हैं बल्कि अध्ययन नहीं रखते

क्योंकि बहुत प्रेम करते हैं और प्रेम खुद को खुश करने का नाम ना होकर दूसरे को ड

खुश करने का नाम होता है यदि तुम अपने प्रेम से प्रेम करते हो या तुमसे कोई

प्रेम करता है तो निश्चित ही तुम्हारी छोटी-छोटी खुशी का ख्याल रखेगा तुम कब

हंसते हो उसे हंसी आएगी तुम कब रोते हो वह दुखी हो जाएगा तुमसे कभी भी किसी भी चीज

को मानने से पहले क्रोध में नहीं आएगा और नहीं क्रोध में तुमसे कभी ज्यादा बात

करेगा जब भी बात करेगा उसकी बातों में मिठास हो इतनी मिठास की उसके सामने तुमने

सब चीज सीखी लगी लगेगी क्योंकि प्रेम तो एक आनंद है प्रेम कोई ऐसा नहीं है कि बात

किसी के ऊपर ग्रोथ करे बल्कि वहां एक मधुर संगीत की तरह है जिससे दांतों में सुना

जाए तो बहुत अच्छी द सुनाई देती है और यदि दिल से महसूस किया जाए तो वहां रंग में

में रंग लेता है जिससे कि इंसान उसके रंग में रंगने के पश्चात पूरी दुनिया में हर

चीज को में देख पाता है उसकी दुनिया ही रंगबिरंगी हो जाती है वह अपने दिल से हर

चीज को महसूस करता है और उसे यह ज्ञात होता है कि

दुनिया कितनी खूबसूरत है यही तो होता है प्रेम का असली रंग जो जिससे प्रेम करता है

उसे उसी में पूरी दुनिया दिखाई देती है और सबसे ज्यादा इंसान विवश हो जाता है अपने

प्रेम के प्रति गलत भावना सोचने के बारे में और गलत भावना विचार करने के बारे में

क्योंकि प्रेम जब होता है तो इंसान किसी के बारे में बहुत अच्छी भावना रखता है और

अच्छा सोचता है दा प्रेम होता है लेकिन कई बार गलत व्यक्ति इसी बात का फायदा उठा

लेता है उसे यह बात बहुत अच्छे से ज्ञात होती है कि जब होता है तो उसकी आंखों पर

पट्टी बंधी होती है एक तरह से वह पूर्ण रूप से दे नहीं पाता और प्यार अंधा हो

जाता है और इसी का सामने वाला व्यक्ति गलत फायदा उठाकर तुम्हारे जीवन में बर्बादी का

सबसे बड़ा मार्ग बना देता है और ऐसे में सब कुछ बिखर बिखर दे यदि व्यक्ति संभल जाए

तो भी उसका दिल टूट जाता है और यदि वह समझ पाए तो सब कुछ बिक जाता है क्योंकि मेरे

बच्चे इंसान अपने हृदय से जीता है और हृदय से ही बिगड़ता है उसका हृदय टूटा तो वहां

टूट जाता है और यदि उसके हृदय में प्रेम की जो धारणा है लगातार प्रवाह करती रहती

है तो बहुत प्रसन्न रहता है को हर बात अच्छी लगती है और संसार में जो उसका जीवन

है वहां भी अच्छी से गुजारता है हर बात में आनंद लेता है और हर बात में उसे खुशी

महसूस होती है लेकिन यहां जो प्रेम की डोर टूटती है तो इंसान को बहुत ज्यादा कष्ट

होता है लेकिन धोखा खाने से अच्छा और तुम्हारे जीवन में कोई बड़ा संकट आए उससे

ज्यादा अच्छा है कि तुम प्रेम को पहचानो यदि ऐसा प्रेम है जो कि तुम्हें शहीद रचकर

धोखा दे रहा है तुम्हें लूटने की साजिश रच रहा है तुम्हारा जीवन बर्बाद करना चाहता

है तो उसे तुरंत नहीं छोड़ सकते तो धीरे-धीरे करके छोड़ दो लेकिन अपने दिल और

दिमाग से उस व्यक्ति को निकालने का भरपूर प्रस करो क्योंकि वहां आज या तो कल

तुम्हें बर्बाद करके ही रहेगा क्योंकि ऐसा व्यक्ति जो षड्यंत्र रचता है वह किसी का

नहीं हो सकता बच्चे आज मैं तुम्हें डराने नहीं आई और न ही तुमसे तुम्हारी ट्रेन को

दूर करने आए बल्कि मैं समझाने आए क्योंकि संसार में हर व्यक्ति एक जैसा नहीं होता

जो लोग षड्यंत्र रचते हैं अपने प्रेम के प्रति और प्रेम भरा षड्यंत्र रचकर किसी को

फंसाते है केवल उन लोग लोग के लिए यह संदेश है इसलिए वहां मेरे बच्चे बच पाए

यही मेरा संदेश है और जीवन में खुद को भी भी अकेला मत समझना हमेशा ध्यान रखना मैं

तुम्हारे साथ हर पल हर क्षण में तुम्हें देख रही है और जानती हूं कि तुम्हारे जीवन

में क्या रहा है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे कुछ जरूरी बात करने आई और जो बात करने आए उसे सुनना

अति आवश्यक है क्योंकि कुछ ऐसी बातें जो मैं तुमसे करना चाहती है और कुछ ऐसी बातें

जो मैं तुम्हें बताना चाहती हूं तुम जाग थे तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन में कुछ

ही समय में चमत्कार होना प्रारंभ हो जाएगा मेरे बच्चे एक बार को स्मरण रखना कि

मैंने तुम्हारे लिए समय निकाला है तो कभी भी मेरी बातों को सुनने के लिए जरूर समय

निकालना चाहिए क्योंकि जब मैं तुम्हें कुछ जरूरी बात बता रही हूं या कोई ऐसी बात

समझा रही जिससे तुमने जीवन का फिर छुपा हुआ है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ

है जय माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम अपने जीवन को क्यों बर्बाद कर रही हो

तुम्हें क्यों डर लग रहा है मैं तुम्हारे साथ अपने अंदर की बात को सुनो और अपनी मां

काली के बताए रास्ते पर चले मेरी बात ध्यानपूर्वक सुनना जो मैं तुम्हें बताना

चाहती मेरे बच्चे जब तक तुम जवान हो तो मैं केवल और केवल सीखने का प्रयास करना चाहिए कि तुम

किस तरह के मनुष्य बनना चाहते हो यही तो समय है जोखिम लेने का नई चीजें सीखने का

और नए-नए कौशल विकसित करने का अभी भविष्य के बारे में मत सोचो अभी केवल अपने

वर्तमान पर ध्यान दो अभी तुम्हें स्वयं को जानने का प्रयास करना चाहिए अपने जीवन की

बड़ी-बड़ी बातों से ज्यादा छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए जीवन की दौड़

में तो उसके सारे छोटे सुनहरे छड़ों को अनदेखा कर देते हैं जीवन में आगे जाकर जब

तुम पीछे देखते हैं तो उन्हें आभास होता है कि असल में वह छोटी-छोटी बातें भी

तुम्हारी खुशियां थी जीवन का अनुभव करते हुए तुम कई चीजें सीखते हैं जैसे प्रेम दर

सुंदरता कृतज्ञता यही अनुभव से सीखी हुई चीजें तुम्हें जीवन की बड़ी-बड़ी घटनाओं

के लिए तैयार करती है मेरे बच्चे तुम्हारी श्रद्धा को दे देख कर मैं अत्यधिक प्रसन्न

है मैंने तुम्हारी तकलीफ देखी है मैंने तुम्हारी निराशा को जान लिया है भले ही

तुम अपने दुखों के बारे में किसी को भी नाम बताएं मगर मुझे तुम्हारे सभी लोगों का

ज्ञान है अपनी विभिन्न परेशानियों के बावजूद हमें यह समझना चाहिए कि तुम जो कुछ

भी बनना चाहते थे वहां बनने के लिए कभी भी देर नहीं होती है तुम अपने जीवन में जो

कुछ भी चाहो वहां बन सकते हो तुम्हारी क्षमताओं की कोई सीमा नहीं है यदि तुम्हें

लगता है कि तुम्हारे जीवन में बहुत देर हो चुकी है तो ऐसा बिल्कुल नहीं है जीवन में

कभी भी किसी भी बात को लेकर देर नहीं होती है तुम्हें जो कुछ भी करना है जो कुछ भी

बनना है उन सभी के लिए जीवन में कभी भी देर नहीं होती है बस तुम्हारे मन में लगन

होनी चाहिए मेरे बच्चे तुम्हें इस संसार में भेजते वक्त मेरी आशा थी कि तुम संसार

में ऐसा जीवन जी जिस पर तुम्हें घर हुए जीवन का अर्थ ही यही है कि जब इसका अर्थ

है तो तुम्हारी कोई भी इच्छा अधूरी ना रह जाए तो मैं स्वयं के जीवन पर गर्व होना

चाहिए यदि किन्हीं कारणवश ऐसा नहीं है तो तुम्हें फिर से नई शुरुआत करनी चाहिए

तुम्हारे जीवन के सबसे अंधेरे रों में भी एक रोशनी सदा जलती रहेगी तो मैं बस उस

रोशनी को देखने की हिम्मत होनी चाहिए एक बार अपना अंधकार दूर

करने बाद तो वे दूसरों के लिए प्रकाश बनना चाहे तो में सदैव याद रखना चाहिए कि जीवन

की छोटी छोटी हाथ कभी जीवन की हार नहीं होती जीवन की हार केवल तभी होती है जब तुम

हार मान लेते हो तो मन में सफलता के लिए हार नहीं माननी चाहिए और एक बार सफल होने

के बाद दूसरों को हाल से बचाने का प्रयास करना चाहिए तुम्हारी किसी भी इच्छा की

पूर्ति कभी कोई प्रार्थना नहीं करती है बल्कि स्वयं तुम्हारी प्रकृति ही तुम्हारी इच्छा

पूर्ति करती है तुम्हें यह समझना होगा कि प्रार्थना कभी भी ईश्वर की सोच पर प्रभाव

डालने के लिए नहीं की जाती बल्कि रात स्वयं तुम्हारी प्रकृति को बदलने के लिए

दी जाती है प्रार्थना का असल उद्देश्य तुम्हारे मन पर प्रभाव डालता है बार-बार

प्रार्थना करने से तुम्हारे अंदर देख विश्वास उत्पन्न होता है कि तुम जिस भी

वस्तु की इच्छा कर रही हो वह तुम्हें प्राप्त हो सक सती है यही उम्मीद तुम्हारी

इच्छा की पूर्ति की ओर सहारा प्रथम कदम है उम्मीद किसी भी व्यक्ति के जीवन में बहुत

ही आवश्यक है तुम्हारे लिए उम्मीद अंधकार में भी उजाले का कार्य करती है जब कभी

जीवन की किसी भी मोड़ पर तुम्हें कोई भी रास्ता ना दिखाई दे रहा है तो उस

परिस्थिति में एक उम्मीद ही तुम्हें रास्ता ढूंढने के लिए प्रेरित करती है संपूर्ण संसार आखिर भूमि पर ही चल रहा है

यहां तक कि परेशानी की छड़ों मैं ईश्वर तक उम्मीद को ही ढूंढने का प्रयत्न करती है

तो मैं यहां सदैव याद रखना चाहिए कि संसार में आज तक जो कुछ भी हुआ है वह सब केवल

उम्मीद द्वारा ही किया गया है सभी कार्यों के पीछे की प्रेरणा है तुम्हें कभी भी

उम्मीद का साथ नहीं छोड़ना चाहिए मेरे बच्चे में तुम्हारी व्याकुलता से अच्छी

तरह अवगत तोहे मैंने देखा है कि तुम सदैव भ्रमित रहते हो तुम्हारा मन हमेशा उलझा

रहता है तुम्हारा मन उदासीन रहने का तो जैसे आदि हो चुका है

अपने मन की इस व्याकुलता को दूर करने का रास्ता यह है कि तुम्हें सदैव अपने जीवन

में यहां ज्ञात होना चाहिए कि तुम्हें क्या करना है या जाना है इससे भी ज्यादा

तुम्हारे मस्तिष्क में यह बात निश्चित होनी चाहिए कि तुम्हें क्या करना है तुम्हें यहां निश्चित रखना चाहिए कि

तुम्हें क्या करना है जब तुम्हें यह पता चल जाएगा कि तुम्हें क्या करना है तो उस

कार्य को करने के लिए तुम्हें क्या जानकारी अर्जित करने उसका पता तुम्हें

स्वतः ही चल जाएगा जीवन में आवश्यक यह है कि तुम्हें अपने उद्देश्य का ज्ञान होना

मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है जाए और माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे

तुम्हारे दुखों का अंत आज निश्चित है जो कुछ भी तुमने देखा है जो कुछ भी तुमने

सुना है और जो कुछ भी तुम्हें सहा है उन सभी का आज निश्चित है आज तुम्हारे अंदर के

ज्ञान को तुम्हें बाहर लाना होगा इसलिए अपने सुख और आनंद की प्राप्ति के

लिए इस संदेश को अंत तक सुनना यदि इसे अंत तक सुनोगे तो मैं आज एक ऐसी चीज सीखने को

मिलेंगी जो आज तक तुम्हें कभी नहीं मिली आज तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली

है क्योंकि आज मैं तुमसे बेहद प्रसन्न हूं लेकिन फिर भी मैं तुम्हें जीवन की वहां

सच्चाई बताने जा रहे हैं जिस से तुम्हें सुनना होगा और अपने जीवन को सुधारना

होगा इसलिए अपनी माता को ध्यानपूर्वक सुनना ताकि तुम्हें जीवन में कभी किसी के

आगे झुकना ना पड़े मेरे बच्चे तुम जीवन में खुशियां ढूंढना चाहते हैं किंतु यह

क्यों भूल जाते हो कि खुशी तो तुम्हारी आसपास है और बहुत तुम्हें भी देख

सकती है जब तुम छोटी-छोटी चीजों में भी खुशियां बूंढो जैसे एक बच्चा अपनी मां में

सारी खुशी ढूं लेता है ऐसे ही तुम्हें भी सारी खुशियां हर जगह मिल सकती है बस

उन्हें महसूस करने की कोशिश करो लेकिन मेरे बच्चे तुम अक्सर उन चीजों में खुशी

देखते हो जो चीज काफी बड़ी होती है या जो तुम्हारे मन की ख्वाहिश होती है किंतु जब

तुम्हारी हर ख्वाहिश पूरी नहीं होती तो क्यों उदास हो जाते हैं किंतु तुम यह भूल

जाते हैं कि यदि उसी को अपने मन की इच्छाओं के रूप में देखने की कोश करोगे तो

तुम कभी खुश नहीं हो सकते आज मैं तुम्हें जो खुशी देने जा रही उस खुशी को महसूस

करने के लिए में स्वयं के अंदर कुछ बदलाव करने होंगे और यह खुशी तो केवल उन्हीं

लोगों से प्राप्त होगी जो तुम्हारे जीवन में है और जिनसे तुम्हारा जीवन जुड़ा हुआ

है मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को अपने जीवन में अपना लोगे तो तुम्हारा जीवन स्वर

से भी अच्छा हो जाएगा और उसके लिए केवल तुम्हें कुछ चीजों का त्याग करना होगा जो

मैं तुम्हें बताने जा रहे हैं ऐसी चीज तुम्हारे जीवन को बर्बाद कर दी यदि तुम इन

चीजों को छोड़ दोगे तो स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने लगेगा और जिस खुशी की तलाश

कर रही हो वहां तुम्हें प्राप्त हो जाएगी अपने अंदर की चीजों का निर्माण करना यह

तेजी से वह चीज है जो तुम्हारे भीतर फैले पाप का नाश करें और यदि तुमने तीन चीजों

को अपने जीवन में अपना लिया तो यकीन करो तुम्हारा जीवन पाप से मुक्त हो जाएगा पहली

चीज स्वयं के प्रति विश्वास मेरे बच्चे यदि तुम स्वयं के प्रति विश्वास जागृत कर

लोगे तो तुम्हारे मन में जितनी भी शंकाएं हैं और जो भी डर है वह स्वयं समाप्त हो

जाएंगे विश्वास एक ऐसी चीज है जो इंसान को बलवान करती है यदि तुम्हारे अंदर विश्वास

है तो तुम किसी भी चीज को हासिल कर सकते हैं चाहे वह कितनी ही कठिन क्यों ना हो को

दूसरी चीज प्रेम है यदि तुम अपने अंदर प्रेम का बीज बोए तो मेरा यकीन करो इस

संसार में किसी भी प्रकार का दुख तुम्हारे अंदर नहीं रहेगा क्योंकि जहां प्रेम होता

है वहां नफरत की थी स्वयं ही समाप्त हो जाता है यह तुम भी जानते हैं कि प्रेम

वहां भाषा है जो जानवर को ही समझ में आ जाती है यदि तुम उसे ट्रेन दोगे तो वहां

भी तुम्हें तभी नुकसान नहीं देगा बल्कि तुमसे भी उतना ही प्रेम

करेगा जितना तुम उससे करोगे तीसरी और सबसे अहम चीज रहा है जो हर मनुष्य में पाई जाती

है और उसका नाम क्रोध है मेरे बच्चे तुम्हें यहां पर रोड का त्याग करना है यदि

तुमने क्रोध का त्याग कर लिया तुम बड़ी से बड़ी विपत्ति में ठंडे दिमाग से काम ले

सकते हो क्योंकि जो मनुष्य क्रोध में आकर कोई फैसला या कार्य करता है तो आगे चलकर

पछताते हैं उन्हें उस समय क्रोध के चलते कुछ समझ नहीं नहीं आता किंतु बाद में जब

उन्हें समझ में आता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है इसलिए मेरे बच्चे विश्वास

प्रेम और क्रोध का प्यार यह तीनों चीज जिस दिन तुम्हारे अंदर आ गई उस दिन ऐसा कोई भी

कार्य नहीं है जो ना कर सको अब यह तुम्हारे ऊपर है कि तुम किस प्रकार से

कार्य कर सकते हैं और किस प्रकार से कार्य नहीं कर सकते स्वयं की शक्तियों को

पहचानने के लिए तुम्हें अपने भीतर इन तीन चीजों का निर्माण करना होगा मेरे बच्चे

तुम जब कभी भी अपने घर में अन्न बनाते हो यदि अन्न बच जाता है तो उस बस हुए अन्य को

बर्बाद मत करना बल्कि उसे किसी गरीब इंसान को या फिर गौ माता को खिला देना ऐसा करने

से तुम्हें पुण्य प्राप्त होगा मेरे बच्चे वहां अन्य भी बर्बाद नहीं होगा तभी दिखाने

को बर्बाद करके अन्नपूर्णा माता का अपमान मत करना जिस घर में अन्नपूर्णा माता अपमान

होता है है वहां खाने की कमी सदा बनी रहती है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपनी माता के इस

बात को ो स्मरण रखो कि तुम्हारा जीवन खुशियों में लाने के लिए यह गोल अति

आवश्यक है इस संसार में हर कोई चाहता है कि उससे सब प्रेम से बात करें उसकी इज्जत

करें यहां कोई नहीं चाहता कि मैं भी सामने वाले को प्रेम दू उसकी इज्जत करें और जब

तक यह सोच तुम्हारे अंदर नहीं आ जाएगी तब तक तो में भी दू दूसर से प्रेम नहीं मिल

सकेगा पहले अपने मन में इस सोच को लाओ यदि तुम्हें दूसरों से प्रेम चाहिए तो तुम्हें

पहले दूसरों को दो प्रेरित करना होगा सभी चाहते हैं कि हमें कोई परेशान ना करें

हमारा दिल नहीं दुखाया हम पर कभी कोई क्रोध ना करें किंतु हम यह भूल जाते हैं

कि इन चीजों की शुरुआत पहले हमें स्वयं के ऊपर करनी होगी स्वयं क्रोध करना बंद करना

होगा दूसरों को परेशान करना बंद करना होगा तब जाकर हमें भी खुशी मिलेगी और यह सब

चीजें तभी संभव है जब तुम्हारे मन में शांति यदि तुम्हारे मन में शांति नहीं है

तो तुम कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकते और यदि तुम्हारा मन शांत है तो इस संसार की

प्रत्येक चीज में तुम्हें शांति का अनुभव होगा और वहां शांति में उसी प्रदान करें

जिस खुशी की तलाश हर इंसान करता है जिस दिन तुम यह सभी चीजें करना प्रारंभ कर

दोगे उस दिन से तुम्हें पूर्ण शांति की प्राप्ति मिलने लगेगी और शांति तुम्हारे

जीवन को पूर्ण रूप से बदल देगी यदि तुम्हारे पास पैसे नहीं है और सारी सुख

सुविधाएं भी परंतु किसी एक चीज को ड लेकर तुम्हारे मन में अशांति है तो वह चीज

तुम्हारे मन को भटका कर रहेगी और किसी चीज को इच्छाएं कहते हैं जो अधूरी रहती है तो

मनुष्य भटकता रहता है इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने मन की उन इच्छाओं पर काबू पाने

कि कोशिश करो जो तुम्हारे जीवन के लक्ष्य को भटकाती हैं यह याद रखो कि तुम्हारा

जीवन का लक्ष्य केवल तुम्हारा ही है यदि तुम्हें अपने लक्ष्य पर पूर्ण नियंत्रण

चाहिए वे स्वयं पर नियंत्रण करना होगा मेरे बच्चे में तुम्हारी माता तुम्हारे

लिए चिंतित है यदि तुम अपनी माता की बातों को समझ गए तो तुम्हारा जीवन आज से ही

बदलना शुरू हो जाएगा और मैं चाहती हूं कि तुम मेरे द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलो एक

माता अपने बच्चे से केवल इतना मांग रही है कि तुम सदा अच्छी तरह करके सच्चाई की राह

पर चले मेरे बच्चे तुमने जो मेरी भक्ति की है और भक्ति के चलते जो प्यार मुझसे किया

है वैसा ही प्यार तुम्हारी भी तुमसे ही करती है और जब भी तुम किसी राह पर भटकते

हो तो तुम्हारी मां को चिंता होने लगती है और मेरा हृदय रोने लगता है लेकिन मैं

जानती हूं कि तुम मेरी बहन बच्चे हो जो अपनी माता की थोड़ी सी चिंता से ही घबरा

जाते है इसलिए मेरे बच्चे अब समय आ गया है तुम्हें उचित मार्ग पर ले जाने का मैं

तुम्हारे जीवन का कल्याण चाहती और तोहे भी मेरी बातों को मानना होगा यही मेरा आदेश

है मैं नहीं चाहती कि मेरा बच्चा इस दुनिया की भीड़ में कहीं खो जाए या फिर

ऐसी ही भटकते रहे तुम्हारी मां तुमसे जितना अधिक प्रेम करती है उतना ही

तुम्हारी चिंता भी अब तो अपना ध्यान रखना और अपने जीवन को अच्छा करने के लिए मेरी

बताए हुए मार्ग पर चलना मैं चाहती हूं मेरे हृदय को मत दुखाना मेरे बच्चे अपनी

माता की बातों को आज मानकर कार्य करना मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है जय मां

काली हर हर महादेव मेरे बच्चे आज मैं तुमसे अत्यंत महत्त्वपूर्ण बात करना चाहता हूं जो भविष्य में

तुम्हारे साथ घटेगी मेरी बातों को ध्यान से सुनो आज मेरे मुख से निकला एक एक शब्द

तुम्हारे लिए भविष्यवाणी है आज मैं तुमसे यह बताना चाहता हूं कि तुम्हारे जीवन का

अंत कैसा होगा तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में क्या सोचेंगे मेरे बच्चे जितने

भी लोग इस संसार में जन्मे हैं उनका कोई ना कोई उद्देश्य होता है अपने उद्देश्यों

को पूरा करके हर किसी को एक ना एक दिन इस संसार को छोड़ना है अपनी जीवन यात्रा में

मनुष्य कई बार गिरता है कई बार संभलता है कभी हसता है तो कभी रोता है ऐसे में

मनुष्य हजारों सपने सजाता है कुछ के पूर्ण होते हैं और कुछ के अधूरे रह जाते हैं

मेरे बच्चे तुमने भी बड़े सपने सजाए हैं और उन्हें पूर्ण करने के लिए तुम कठिन

परिश्रम भी कर रहे हो किंतु अभी तक तुम्हें सफलता नहीं मिली है लेकिन मेरे बच्चे क्या तुमने कभी सोचा है कि तुम्हारे

ही जीवन में इतने दुख क्यों है जबक तो एक सच्चे इंसान किसी का दुख तुमसे देखा नहीं

जाता तुम्हारी भक्ति सच्ची है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में इतने संघर्ष इसलिए है

क्योंकि तुम कुछ और चाहते हो और मैं कुछ और चाहता हूं तुम जो पाना चाहते हैं उससे

कई गुना ज्यादा मैं तुम्हें देना चाहता है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है तो उस समय

भी अधिक लगेगा किंतु शीघ्र ही तुम्हारे जीवन में कई बड़े बदलाव होंगे और अपनी

बेहन और साहस के बल पर सफलता प्राप्त करेंगे किंतु तुम्हें मिलने

वाली यहां सफलता बहुत बड़ी नहीं लेकिन यहां वहां कुंजी है जो तुम्हें तुम्हारे

अंतिम गंतव्य तक ले जाएगा मेरे बच्चे जब तुम अपने जीवन के अंतिम क्षणों में होंगे

तो तुम्हारा मन संतोष एवं शांति का अनुभव करेगा तुम्हारे जीवन का अंत बेहद दुखद

होगा तुम्हारी कोई भी सपने अधूरे नहीं रहे तुम अपना पूर्ण जीवन जीकर ही संसार त्याग

होगी और तुम अपने जीवन में कई ऐसे कार्य करोगे कि तुम्हारे जाने पर केवल तुम्हारे

परिजन को ही नहीं पूरे समाज को होगा हर किसी की आंखों में तुम्हारे लिए आंसू

होंगे और तुम्हारे जाने के बाद लोग तुम्हें याद करेंगे कुछ ऐसा होगा तुम्हारे

जीवन का किंतु अभी तो यह तुम्हारे जीवन का आरंभ में है तुम्हारी जीवन यात्रा लंबी है

अब आगे बढ़ो मेरे बच्चे और अपने उद्देश्यों को पूरा करो मेरा आशीर्वाद सदा

तुम्हारे साथ रहेगा जाय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश

प्राप्त हुआ है तो तुम्हारे जीवन की समस्याएं आज समाप्त होने वाली है मेरे

बच्चे मेरी तीन बातों पर विशेष ध्यान देते हैं तुम्हारी हर परेशानी दूर हो जाएगी

सुबह से लेकर शाम तक और हर समय उठते बैठते जागते तुम्हारे मन में यही विचार हमेशा

लगा रहता है कि मेरे साथ ही ऐसा क्यों हो रहा है मैंने गलती की है मेरा क्या दोष है

मैंने तो कुछ गलत किया भी नहीं फिर भी मेरे साथ क्या हो रहा है मैं क्यों इतना

परेशान संसार के सभी व्यक्ति बहुत खुशहाल है और मेरे जीवन में कोई भी परेशानी मेरा

पीछा नहीं छोड़ रही है तुम्हारा मन सदा अपनी नाकामियों से परेशान रहता है कोई भी

नया कार्य प्रारंभ करते थे लेकिन अधूरा रहता है या पूरा होते होते रुक जाता है कई बार तो

तुम्हें ऐसा लगता है कि तुम किसी भी कार्य को नहीं कर पाओगे तुम्हारा हृदय यहां

मानने लगा है कि कोई भी काम सफल नहीं हो पा रहा है तुम्हारा विश्वास टूटने लगा है

डगमगाने लगा है तुम्हें ऐसा लग रहा है कि तुम्हारे जीवन में पता नहीं आगे क्या होने

वाला है आगे के सभी रास्ते बंद दिखाई दे रहे हैं ऐसा लग रहा है कि जीवन में कुछ

बचा नहीं है और तुम्हारा कोई साथ नहीं दे रहा है लेकिन मेरे बच्चे अभी भी कुछ

रास्ते खुले हुए हैं शजन पर चलकर तुम अपनी मंजिल को प्राप्त कर सकते हैं अपनी हर

परेशानी को समाप्त कर सकते हैं अगर कुछ कमी है तो उन पर चलने की आज मैं तुम्हें

तीन काम बताऊंगी बातों को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना और करना है पहले जीवन में

प्रतिदिन संध्या काल तुम अगले दिन के लिए यह निश्चय कर लो कि आज की गई गलती को कल

वोके कहने का अर्थ है कि पीछे की जो भी चीजें छूट रही

उनको नहीं दोहराएंगे आगे जब तुम्हें चलना है तो तुम्हें एक नए रास्ते को बनाते हुए

पीछे की गलतियों को छोड़कर चलना है तभी तुम उस मुकाम पर पहुंच सकते हैं जहां तक

पहुंचना चाहते हो दूसरा खुद के मार्ग खुद बना सुनो सबकी करो अपने हृदय की तुम्हारा

हृदय जब सबकी बातों को सुनने के बाद जो कहता है अंदर से जो विश्वास तुम्हारा जाता

है उसी को करो और तीसरा तुम सोच से जदा हो और काम करते हो जो भी विचार

तुम्हारे मन में आता है उस पर तुरंत काम करना प्रारंभ कर देना चाहिए ना कि तुम

सोचते सोचते अपने समय को व्यर्थ में दवाओ भले ही तो चिंताओं से घिरे हुए कितनी भी

भोजन से मायूस हो चुके हो फिर भी यदि तुम्हें इन परेशानियों से निकलना है तो

किसी भी मार्ग पर तुरंत काम करने से तुम्हारे समय की बचत होगी और उस पर

जितना जल्दी काम कर सकते हैं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से निकल जाएगा और उस

पर जितना जल्दी हो सके तो काम कर सकते हो नहीं तो एक सही समय तुम्हारे हाथों से

निकल जाएगा वही तुम्हें भी प्राप्त होगा जो तुम्हें चाहिए इस बात का ध्यान रखना

परेशानियां तब भीड़ की है जब तुम परेशानियों को देखकर अपने कदमों को पीछे

हटा दे इसलिए कभी भी परेशानियों से डरो मत उसका डटकर सामना करो जो डटकर सामना करके

आगे जाने की हिम्मत रखते हैं निश्चित ही हर परेशानी का सामना

कर लेते हैं क्योंकि किसी भी चीज से डरना ही असफलता का मुख्य कारण है और संसार में

ऐसी कोई चीज नहीं जो तुम नहीं कर सकते अगर कुछ कमियां है तो सोचकर केवल मन लगाकर

करने की जैसे ही इसे करोगे हर परेशानी से निकल जाओगे अब जो तुम्हें बताने जा रहे

हैं यह बात आज तक तुम्हें किसी ने भी नहीं बतानी होगी मेरे बच्चे तुम्हारी सफलता का

रहस्य यहां छुपा हुआ है तुम प्रयास करते हो दूसरे को देखने का तुम

देखने का प्रयास करती हूं कि वह जीवन में आगे कैसे बढ़ रहा है आगे बढ़ने के लिए बात

क्या कर रहा है और जो भी बात कर रहा है उनका उन्हें लाभ कैसे होगा तुम प्रयास

करते हैं उनके जीवन में देखने की उनकी गतिविधियों को तुम देखने और समझने का

प्रयास करते हैं इसलिए तुम पीछे छूट जाते हैं जीवन में यदि तुम आ आगे बढ़ना चाहते

हो तो तुम्हारी दृष्टि भी आगे की बोली चाहिए कदम भी उसी मार्ग पर आगे बढ़ाना

चाहिए अपनी गतिविधियों को देखो अपनी योजनाओं को देखे अपने प्रयासों को अपने

अनुभव को समझो और उसी मार्ग पर आगे हैं ऐसी कोई सफलता नहीं जो तुम्हें प्राप्त

नहीं होगी तो में कोई ना कोई विशेष है और तुम में कोई ना कोई दोष भी है यह

प्राकृतिक तुम्हें क्या सिखाती है यह सभी एक दूसरे से लड़ते नहीं है एक दूसरे के

लिए बाधा नहीं बनते बस अपना कर करते हैं सूर्य अपने प्रकाश से वनस्पतियों के पेड़

पौधों को जन्म देता है में वर्षा करते हैं लोग होते हैं पर्वत की यहां चलता है उस

वसा को एक दिशा देती है एक धारा बनती है जो बहती है यह सब क्या है यह सब एक संयोग

है चक्र है सभी साथ मिलकर अपना कन करते हैं अभी यहां प्राकृतिक जी जीवित है यही

तो वे भी करना है सहयोग में रहकर काम करना है किसी के लिए बांधा नहीं बनना है किसी

को छोटा नहीं समझना है ऐसे ही करते रहना है सबके साथ मिलकर कम करना है

प्राकृतिक ब्लीच भी यही सिखाती है मेरे बच्चे एक प्रबल मन कठिन परिस्थितियों को

एक चुनौती के रूप में देखता है और चुनौतियों में अवसर को देखता है यही

तुम्हें भी करना है इस संसार में किसी को भी दोषी मानने से तुम्हा सी समस्या सुलझ

नहीं जाएगी इसलिए इस संसार को दोष देने के स्थान पर उस समस्या की जड़ तक जाए उसे

समझो और अपने इस मन को प्रबल बना यदि तुम्हारा मन प्रबल हो गया तो इस संसार में

बड़ी से बड़ी कठिन से कठिन परिस्थितियां क्यों ना आ जाए तुम्हारे जीवन में बड़ी से

बड़ी समस्या क्यों ना बन जाए तुम अपने जीवन में आसानी से उसे पार कर सकते हो

क्योंकि तुम मेरे प्यारे बच्चे और मैं तुम्हें कभी दुखी नहीं देखना

चाहती इसलिए मेरी बातों का विशेष ध्यान देना मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

जय हो माता रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे तुम्हारी आंखों के समक्ष यदि मेरा संदेश

आया है तो निश्चित ही तुम्हें आज मेरा यह एक वरदान प्राप्त होगा जिसके लिए पूरा

संसार तरस रहा है वहां तुम्हें प्राप्त होगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम बहुत

भाग्यशाली हो तुम्हारे अंदर यहां एक बहुत अच्छा गुण है कि तुम किसी को गिराने की

कोशिश नहीं करते हो लेकिन अब मेरी कही हुई बात पर विशेष ध्यान दो संसार में हर

व्यक्ति को क्या चाहिए किस चीज में उसकी खुशी है भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यक्तियों

की भिन्न-भिन्न प्रकार की खुशियां हो रही है लेकिन खुशियां कुछ चीजों से ही लगभग

सबकी जुड़ी होती है जैसे कि किसी को धन चाहिए किसी को संतान चाहिए किसी को घर

चाहिए किसी को व्यवसाय चाहिए लेकिन हर चीज जुड़ी हुई केवल एक चीज से है और वह चीज है

इस संसार में प्राप्त होने वाले आपकी अच्छी किस्मत अगर आपकी किस्मत अच्छी होगी

तो आपको कोई भी चीज मुफ्त में मिल जाएगी जरूरी नहीं कि आपको पैसे ही टमाटर थोड़ी

चीज प्राप्त हो बल्कि आपकी बुद्धि इतनी बलवान होगी कि आप उससे कम पैसों में भी

बड़े से बड़े मुकाम पर पहुंच सकते हैं क्योंकि संसार में बड़े मुकाम पर पहुंचने

के लिए तुम्हें जो चाहिए वह मैं तुम्हें आज बताऊंगी और वहां तक पहुंचने का रास्ता

भी बनाम लेकिन तुम भी मुझसे एक वादा करो कि तुम वहां तक पहुंचने के लिए पहल स्वयं

करो करोगे इसके लिए तुम्हें बुरा बनना होगा एक बात ध्यान रखना जितने ज्यादा बुरे

बनोगे उतना ही सफल हो जाओगे बुरे का अर्थ किसी का गलत करना नहीं होता बुरे बनो

स्वयं के लिए इस तरह बन जाओ के जीवन में जो तुम लोग उसे प्राप्त करने की शक्ति

तुम्हारे पास स्वयं ही आज भी अपने मन को दृढ़ निश्चय लेने वाला एक कठोर पत्थर की

तरह बना लो यदि तुम्हारे निर्णय पर तुम पूर्ण रूप से कार्य करने वाला और अपने कहे हुए वचनों पर

खरा उतरने वाला बच्चा तो तुम रामचंद्र जी के बारे में स्वयं जानते हो कि उन्होंने

अपने वचनों पर खरा उतरने के लिए सीता माता को लेकर मतभेद निवास किया था और वह इसलिए

महान और पूजनीय स्थान पर प्राप्त हुए जीवन में उन्हें महाराजा बनाया गया और ऐसे कई

राजा है जो अपने वचनों पर खरे उतरे हैं तो जीवन में हर माह उनको मंजिल पर पहुंचाना

है मेरे बच्चे तुम्हें मुझसे डरने की आवश्यकता नहीं क्योंकि मैं भले ही

तुम्हारे समक्ष गांधी रूप में प्रस्तुत लेकिन मैं दर असल तुम्हारी पार्वती मानी

और मेरा हृदय बहुत ही कोमल है मेरे बच्चे शक्ति ता उत्पन्न होती है जब तुम स्वयं उस

शक्ति को अपनी ओर आकर्षित करते हो जब तुम स्वयं अपनी बोली में हर बात पर खरे उतरने

लगते हैं और अपने वचनों से पीछे नहीं हटते तो स्वयं तुम्हारे अंदर शक्ति विद्यमान हो

जाती और शक्ति में तुम्हें जो चाहिए उसे प्राप्त करने के लिए तुम अपने मन को एकांत

में शक्ति को अर्जित करने की कोशिश करो जितना तुम अपने मन को शांत रखोगे हर

बाधाओं के नहीं और शांत मन से अपने हृदय की विचारधारा को उत्पन्न होने दोगे तभी

पूर्ण लाभ उठा पाएंगे जी में जब भी तुम्हारी मुश्किल घड़ी होती तो मेरी शक्ति

को तभी महसूस कर पाएंगे जब तुम अपने आप को स्वयं गलत कार्यों से बचाकर रखनी होगी

इसके साथ कि आपके अंदर जो शक्ति उत्पन्न होती है वह सही गलत का मार्गदर्शन भी करती

है और गलत रास्तों पर जाने से रोकती है और सही मार्ग पर तुम्हें आगे बढ़ाने की और

ज्यादा शक्ति प्रदान करती है तुम निश्चित पूर्व ग्रहो में तुम्हारी रक्षा करेंगी

मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ रहेगा जय मां काली हर हर महादेव मेरे बच्चे कुछ भी

हो जाए अपने विश्वास को कभी टूटने मत देना तुम्हारे विश्वास की डोर बहुत मजबूत है

क्योंकि मैंने देखा है तुमने हर गंभीर समस्या चाहे कैसी भी परिस्थितियां क्यों

ना हो उसका सामना में दर्ज कर किया है मेरे बच्चे मैं तुमसे यही कहना चाहती हूं

कि तुम एक बहादुर बच्चे हो इतने बहादुर कि मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व होता है

क्या तुम्हें याद है तुमने अपनी जो परिस्थितियों का सामना किया था उसमें तुमने बहुत बहादुरी दिखाई थी मेरे बच्चे

तुमने मेरे ऊपर सब छोड़ दिया था और अपने कार्य को निरंतर करते जा रहे थे जो माह में उस

कार्य को कर रहे थे जो बहुत ही ज्यादा कठिन था परंतु तुमने हार नहीं मानी और

अपने सफर में आगे बढते रहे इसी आज मैं तुम्हें यह याद दिलाने आई कि जैसे तुमने

पहले अपनी हर समस्या का डटकर सामना किया है वैसे आगे भी

हमेशा करते रहना और मैं तुमसे यही कहना चाहूंगी कि आज मैं तुमसे बहुत प्रसन्न हूं

और मैं तुम्हें आशीर्वाद दे दे कि तुम्हारी जितनी भी इच्छा है बहुत जल्द से

जल्द पूरी हो जाए इसलिए बहुत सारी चिंता त्याग दो और अपनी मंजिल की ओर आगे बढ़ते

रहो मेरे बच्चे मुझे तुम पर बहुत ही ज्यादा गर्व है कि तुम्हें संसार में अपनी

सकारात्मक ऊर्जा फैला र हो मैंने तुम्हें इस प्यारे से संसार में भेजा है यह

सकारात्मक ऊर्जा लोगों को भी सिखाओ लोगों से अच्छे कार्य कर रहा मेरे बच्चे हमेशा

अच्छा ही सोचो यदि कोई किसी की बुराई करता है श्र निंदा करता है तो तुम्हें उन

बुराइयों से बचना है क्योंकि यदि तुम बुराई करोगे तो तुम उसी पद पर आगे जाओगे

जो मैं कभी नहीं चाहती है इसलिए जीवन में कभी ऐसा मत करना मेरा आशीर्वाद हमेशा मेरे

बच्चों के साथ ही है मेरे बच्चे आज का यह संदेश सबको प्राप्त नहीं होगा जिन्हें भी

यह संदेश आज प्राप्त होगा वह एक पुष्टिकरण होगा कि तुम्हारी कोई इच्छा पूरी होने

वाली है तुमने जो प्रार्थना की थी मैंने उसे स्वीकार कर लिया मेरे बच्चे मैं जानती

थी कि हाला अभी ठीक नहीं है तुम्हारा मन किसी कार्य में नहीं लगता तो मैं कुछ समझ नहीं

आता तुम अपने आप को फंसा हुआ पाते हो और अपनी पीड़ा कहीं भी तो किस से कहे मेरे

बच्चे तुम्हें मैं असमंजस में दे रही परंतु आज मैं तुमसे एक वादा करती हूं

शीघ्र सब कुछ अच्छा हो जाएगा यह जीवन से चलने लगेगा तोहे कामयाबी नहीं मिलेगी ऐसा

हो सकता है अपने मन में यह विचार लाते क्यों हो मेरे बच्चे जैसे ही तुम्हारे मन

में यह विचार आते है तब मैं स्वयं तुम्हें बताती है कि रुक जाओ आज भी तुम्हें कुछ

संकेत प्राप्त हुए होंगे इस संदेश को पढ़ने के बाद बा भी कुछ संकेत दूंगी और

तुम्हें आभास हो जाएगा कि मैं क्या कहना चाहती मेरे बच्चे आज केवल किसी कारण से यह

संदेश तुम्हें प्राप्त हुआ है कि तुम कामयाबी के बहुत करीब आ गए जब मैं

तुम्हारे लिए कुछ खूबसूरत योजना तैयार करते हैं तब तुम्हें कुछ विशेष राखी होती

है यह संकेत बड़े ही अनमोल होती है मेरे बच्चे अब इन्हें तो तुम्हें स्वयं ही

समझना होगा कि ऐसे कौन से अनमोल संकेत है जो तुम्हें निरंतर प्राप्त हो रहे हैं

मैंने तुम्हारे लिए जो योजना तैयार की है उस योजना के द्वार खुल रहे हैं जैसा कि

मैंने तुम्हें पिछली बार भी कहा था आने वाला मौसम चमत्कार का है जहां लगातार

चमत्कार ही प्रारंभ होंगे अब रोज एक सुबह खास होगी जहां चार और चमत्कार ही चमत्कार

होगा मेरे बच्चे तुम इस चमत्कार को दिव्य दृष्टि से देख सकते हैं बदलाव को निकट है

तुम अपने हौसलों को मजबूत करो तुम बदला के बहुत निकट पहुंच गए हैं दीप प्रज्वलित हो

चुका है जो तुम्हारे अंधकार को मिटाया जाए अपने मन से सभी भाई निकाल दो देखने का

नजरिया बदलो खुशियां चारों ओर है अपने सारे गम भुलाकर खुद को खुशियों के लिए

तैयार करें मेरे बच्चे जहां धूप है वहां छाया भी होगा रात्रि के बाद ही सुनहरा

सुबह आता है जैसे अभी है तो जल है इसी तरह अगर जीवन में कोई परेशानी है तो उस

परेशानी का अंत भी निश्चित होता है तब तुम क्यों इतना उदास होते इसीलिए मैं कहती

चिंता छोड़कर अपने आप से प्रेम करो क्या हालत बना ली है तुमने अपनी अपना ख्याल रखो

अपने आप से प्रेम करना ही छोड़ दिया है तुमने मेरे बच्चे मैं तुम्हारे जीवन में

केवल वही करती जो तुम्हारे लिए सही है दो दिनों के अंदर तुम्हें कुछ विशेष संकेत

प्राप्त होंगे यह संकेत तो में निद्रा के स सनों में भी बोल सकते हैं जिससे तुम्हें

सुनिश्चित हो जाएगा कि जल्द ही सब बदलने वाला है मैं चाहते हैं कि चिंता मुख होकर

मुस्कुराओ मैं चाहती हूं कि तुम अपने जीवन में जीत हासिल कर इसकी शुरुआत खुद स्वयं

से करो आगे मैं तुम्हारे रथ को संभाल लूंगी देर होने से पहले तुम्हें आज यह

संदेश प्राप्त हो गया है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन की दिशा अब पूरी तरह से

बदलने वाली है आने वाले समय के बारे में मैं तुम्हें कुछ बताना चाहती इसलिए

तुम्हें इस बात को ध्यानपूर्वक सुनना और समझना होगा मेरे बच्चे आने वाला समय

तुम्हारे जीवन का सबसे अच्छा और महत्त्वपूर्ण समय होगा तुम्हारे जीवन को

एक नया आया मिलेगा तुम बाहें फैलाकर आने वाली खुशियों का स्वागत करना अब समय

परेशान रहने का नहीं है अब समय है खुशी से झूमने का सुबह उठकर खुली हवा में सांस

लेना और प्राकृतिक के सु

मेरे प्रिय बच्चे कैसे हो तुम आज तुम्हारी काली माता तुम्हारे लिए एक ऐसा संदेश लेकर

आई है जिसे जानकर तुम प्रसन्नता से बहुत ही गदगद हो जाओगे क्योंकि मेरे बच्चे इस

संदेश में कुछ ऐसा ही है जिसे जानने के बात तुम्हें बहुत ही प्रसन्नता होगी मेरे

बच्चे तुम्हारे शत्रु जो तुम्हें बहुत परेशान करते थे अब उनके परेशान होने के

दिन आ गए हैं अब उनके घरों में इस प्रकार से कला और उपद्रव ने निवास कर लिया है

क्योंकि आपस में ही लड़ झगड़ कर मर रहे हैं वह इस प्रकार से लड़ रहे हैं कि एक

दूसरे के खून के प्यासे हो गए हैं उनके अंदर जो आपस का प्रेम भाव था वह सब समाप्त

हो गया है और वह अब एक दूसरे के खून के प्यासे हैं उनकी लड़ाई से पूरे मोहल्ले

में सनसनी मची हुई है मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रुओं की ऐसी दशा देखकर मैं तुम्हें

बताने के लिए आई हूं इसलिए मेरे मे बच्चे अगर तुम अपनी काली माता को दिल से मानते

हो तो इस वीडियो को अभी लाइक कर दीजिए और चैनल को सब्सक्राइब करके कमेंट में जय हो

माता रानी और हर हर महादेव जी टाइप कर दीजिए और साथ ही साथ अपने नाम का पहला

अक्षर दर्ज कर दीजिए ताकि हम तुम्हारे जीवन की सभी समस्याओं को दूर करने में मदद

कर सके मेरे बच्चे यह संदेश तुम्हारे लिए बहुत ही खास है क्योंकि इसमें आगे

तुम्हारा भी जीवन से जुड़ी हुई बहुत रोचक और आवश्यक बातें हैं जो तुम्हें आगे चलकर

तुम्हारे शत्रुओं की चाल से बचाएंगे और उनकी प्रत्येक योजनाओं को तुम्हें सूचित

करेंगे मेरे बच्चे जब किसी के कर्मों का घड़ा भर जाता है तो वह एक दिन फुट ठा

आवश्यक है मनुष्य को यह पता नहीं होता है कि जो मैं यह करू रहा हूं यह मेरे साथ

कैसा परिणाम लेकर आएगा बस वह करता रहता है वह सोचता है कि कि मैं जो कर रहा हूं उसे

कोई नहीं देख रहा है और ना मुझे कोई रोकने वाला है और नमो मुझे कोई समझने वाला है

किंतु उसका यह भ्रम होता है मेरे प्यारे बच्चे तुम यह बात हमेशा याद रखना अगर

तुमने किसी के साथ गलत किया है तो किसी ना किसी दिन तुम्हारे साथ भी वैसा ही होगा

यही आज तुम्हारे शत्रुओं के साथ हुआ है उन्होंने तुम्हारे साथ बहुत ही गंदा

व्यवहार किया है तुम्हारे हर कार्य को बाधित किया है तुम्हें हर प्रकार से

पीड़ित और परेशान किया है इसलिए अब उनके कर्मों का दंड मिल रहा है मेरे बच्चे आपके

जीवन में कुछ बहुत बड़ा घटित होने वाला है और तुम्हें इस बात के बारे में पूर्ण रूप

से अवगत कराना चाहती इसलिए मैं तुम्हारे पास आए हूं मेरे बच्चे तुम्हें सबसे पहले

मेरी बातों को सुनकर डरना नहीं है बल्कि तुम्हें केवल बातों को समझना है यदि तुम

समझ गए तो आने वाली उस उस चीज का सामना तुम बहुत आराम से कर पाएंगे क्योंकि जीवन

में घटित होने वाली अच्छी या बुरी चीजें बार-बार जीवन में आने का अर्थात प्रवेश

करने का का पूर्ण रूप से प्रयास करती है तो इसका अर्थ यह है कि तुम जब भी किसी

कार्य को करते हो तो उस कार्य से आकर्षित समय तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने का

प्रयास करता है अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी और वह बार-बार प्रयास करता है कई

बार तो अच्छा होते होते रह जाता है और कई बार बुरा होते होते रह जाता है उसका कारण केवल

इतना होता है कि तुम ध्यान नहीं देते और उसके साथ-साथ यदि कुछ बुरा होने वाला होता

है तुम्हारे पास देवीय शक्तियां होती है तुम अपने आप को सुरक्षा कवच में

सुरक्षित रखते हो इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें कोई ऐसी शक्ति नुकसान नहीं पहुंचा

पाती जो तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहती है इसके कई अर्थ होते हैं लेकिन लेकिन आज जो

मैं बताने आई हूं उसको सुनने से पहले एक बार जाए वह माता रानी जरूर लिखना इससे

मुझे बहुत प्रसन्नता होगी मेरे बच्चे जब तुम्हारे करीब कोई भी ऐसा इंसान यदि आता

है जिससे तुम्हें खतरा महसूस होता है या तुम्हें डर लगने लगता है या तुम्हारे हृदय

को यह आभास होता है कि इस व्यक्ति से तुम्हें नुकसान पहुंच सकता है तो तुम्हारा

मन बार-बार डरने लगता है और तुम से दूर हटने लगते हो तो उसके करीब नहीं जाते

लेकिन कई बार ऐसा देखने वाला व्यक्ति जिससे तुम्हें बिल्कुल

भी ना लगे तो तुम उसे पहचान ही नहीं पाओगे कि तुम्हें नुकसान पहुंचाना चाहता है या

नहीं चाहता या तुम्हारे करीब आने वाली ऐसी अदृश्य शक्ति है जो कि तुम्हें दिखाई नहीं

देती लेकिन ना हो तो भी नुकसान पहुंचा सकती है अब जो चीज तुम्हें दिखाई नहीं

देती उसे केवल हृदय से आभास कर सकते आंखों से देख नहीं सकते क्योंकि वह हवा

में विलीन होती है लेकिन मेरे बच्चे वहां कोई कमजोर शक्ति नहीं होती बल्कि इतनी

शक्तिशाली शक्ति होती है कि तुम्हें नुकसान पहुंचा सकती है लेकिन जब तुम्हें

कोई चीज दिखाई दे तो तुम उससे बचने का प्रयास कैसे कर सकते हैं यहां भी जानना

जरूरी है कि जो व्यक्ति तुम्हें दिखाई दे रहा है और यदि वह तुम्हें खतरा महसूस नहीं

कर पा रहा ले लेकिन तुम्हें उससे खतरा है उससे कैसे बचना है इसके साथ-साथ तुम्हें

एक बात को जान लेना होगा जो मैं तुम्हें आज बताऊंगी तुम्हें उस बात को भी जान लिया तो निश्चित

ही आने वाली चाहे कोई भी हो लेकिन तुम उससे बच जाओगे सबसे पहले तो तुम्हें इस

बात को जान लेना जरूरी है कि यदि तुम मेरी आधी अधूरी बातों को सुनोगे तो धूप से बचने

का रास्ता प्राप्त नहीं हो पाएगा यदि तुम पूर्ण रूप से बचना चाहते हो तो तुम्हें

मेरी पूरी बातों पर ध्यान देना होगा और अपने मन में हर बात को उतारना होगा

क्योंकि मेरे बच्चे एक चीज से बच सकते हो तो दूसरी से खतरा हो सकता है यदि सभी से

बचना है तो तुम्हें कुछ बातों को जान लेना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि कई बार मैं

तो तुम्हें बचा लेती है लेकिन तुम कहीं ना कहीं कोई ऐसी गलती कर देते हो तो नुकसान

तुम्हारा होने के साथ-साथ मुझे भी होता है इसलिए मेरे बच्चे आज मैं

तुम्हारी मां तुम्हें पूर्ण रूप से बचाने आई तुम किसी के नुकसान पहुंचाने पर एक ही

रास्ता ऐसा नहीं होना चाहिए कि तुम्हें कोई नुकसान पहुंचा पाए क्या तुम्हें उस

बात के बारे में अवगत ना हो और यही मेरा धर्म बदला है क्योंकि मैं एक मां और मां

अपने बच्चों की हर प्रकार से रक्षा करती है वह हमेशा अपने बच्चों का भला चाहती है

उसके मन में हमेशा यही डर लगा रहता है कि कहीं मेरे बच्चे को कोई नुकसान

ना हो जाए किसी भी कारण पास और यही मेरा है मैं भी तुम्हें बार-बार के इसलिए बताती

हूं और आगाह करती हूं जिससे कि तुम्हें जीवन में कोई भी परेशानी ना हो

क्योंकि मेरे बच्चे में मां होकर अपनी ममता को कैसे रोक सकती सबसे पहली बात तो

तुम्हें इस बात का स्मरण रखना होगा कि स्त्री हो या पुरुष यदि उसे कोई स्त्री या

उसे कोई पुरुष जबरदस्ती मित्रता ना चाता है अर्थात तुम्हारे मना करने पर भी बहुत

बार-बार तुमसे बातें करने का प्रयास करें बार-बार तुम्हारे करीब आने का प्रयास करें

और तुम उसे अनदेखा कर रहे हैं फिर भी वह तुम्हारे करीब आती चली जा रही है यहां

तुम्हारे करीब आता चला जा रहा है तुमसे मित्रता बनाने के लिए बार-बार कहता है और

तुम्हें ऐसा आभास होता है कि तुम्हारा मित्र बनना चाहता है या चाहते हैं तो तुम

निश्चित ही इस बात को समझने की बहुत कोई साधारण इंसान नहीं है बल्कि जो तुमसे

जबरदस्ती मित्रता निभाने की या तुम्हारे अनदेखा करने के पश्चात भी उनसे मित्रता

बनाने की कोशिश कर रही है वह जरूर कोई ना कोई परेशानी लाने वाली है क्योंकि मेरे

बच्चे उसके इरादे नेक नहीं है जो अच