4 अचूक धन उपाय - माँ काली शुक्रवार धन उपाय | Maa Kali | Maa Ka Ashirwad - Kabrau Mogal Dham

4 अचूक धन उपाय – माँ काली शुक्रवार धन उपाय | Maa Kali | Maa Ka Ashirwad

कि हमारी जन्म से लेकर मृत्यु तक हर इंसान

इस दौड़ में शामिल है पहले स्कूल में

अंखिया मार्क्स लाने की रॉड और जब बचपन

खत्म होता है तो धन इकट्ठा करने की दौड़

और दोस्तों धन की दौड़ कोई बुरी चीज नहीं

है यह प्राकृतिक है स्वभाविक है

कि घने जंगलों में वृक्षों के बीच में भी

सूरज की किरणों को पाने की दौड़ होती है

जानवरों को अपने शिकार के लिए दौड़ होती

है वैसे ही आज के समय में धन इंसानों के

जीवन का एक अभिन्न हिस्सा है

मैं भूखे पेट भक्ति की रह पर तो चलन ही जा

सकता भूखे पेट भजन नहीं हो गोपाला और वैसे

भी दोस्तों धन मां लक्ष्मी का वरदान है

लेकिन कई बार हम अपने पूरे परिश्रम के

बावजूद भी इतना धन नहीं जोड़ पाते कि अपने

परिवार और बच्चों को अच्छा जीवन दे पाए और

कई बार घर में बरकत नहीं हो पाती है धन की

जो कि जाने-अनजाने हमारे मानसिक तनाव का

कारण बन जाता है और जन्म होता है क्रोध का

प्लेलिस्ट का वृक्ष का तो आज मैं आपको इस

वीडियो में ऐसे बेहद सरल चार उपाय बताउंगी

जिसको करने के बाद जितने धन के हकदार हैं

उतना धन आपको अवश्य मिलेगा चाहे वह किसी

भी रूप में मिले इन उपायों को करने के बाद

मां लक्ष्मी के वरदान से आप अछूते नहीं रह

पाएंगे नमस्कार दोस्तों आप सभी पर मां का

आशीर्वाद और बजरंगबली की कृपा सदैव बनी

रहे

हैं तो आपका ज्यादा समय न लेते हुए मैं

चलती हूं सीधा उपायों की तरफ

है तो दोस्तों शुरू करते हैं पहले उपाय से

यह जो मैं पहला उपाय बताने जा रही हूं

दिखने में बहुत साधारण है लेकिन बहुत

कारगर है इसे ध्यान से सुनिए क्योंकि कई

बार छोटे-छोटे बदलाओ छोटी-छोटी चीजें

हमारी पूरी जिंदगी बदल देती है और एक बहुत

ही सकारात्मक बदलाव हमारी लाइफ में लेकर

आती है और यह उपाय है कि घर के पूजा स्थल

जरूरी में सदैव लाल कपड़ा बिछाकर रखें

दोस्तों हर रंग की अपनी एक ऊर्जा अपना एक

प्रभाव होता है और लाल रंग मां भगवती और

धन की देवी मां लक्ष्मी का प्रिय रंग है

प्रोस्पेरिटी यानी समृद्धि को अपनी तरफ

अट्रेक्ट करता है धन को अपनी तरफ खींचता

है

है तो इसीलिए अपने घर के पूजा स्थल में और

तिजोरी में हमेशा आप लाल कपड़ा बिछाकर

रखें और संध्या काल में घर की जो लक्ष्मी

है या फिर घर की कोई भी स्त्री नियमपूर्वक

जब संध्या पूजन कर लेती है यानी जप शाम को

आप अपना पूजन कर लेते हैं तो उसके बाद

अपने धन स्थान को या तिजोरी को भी

अगरबत्ती और धूप को जरूर दिखाएं है और यह

कार्य आपको नियमपूर्वक करना है यह नहीं कि

आज के आखिरी दिन बाद के ऐसा नहीं यह

आपको रोज करना है क्योंकि जो आपका धन का

स्थान है जो आपकी तिजौरी है वहां पर भी

मां लक्ष्मी का वास है तो रोज नियमपूर्वक

संध्या काल भी अपनी पूजन के बाद आप अपने

धन वाले स्थान में धूप अगरबत्ती दिखाएंगे

दीपक दिखाएंगे उस स्थान को नमन करेंगे और

मां लक्ष्मी को मन ही मन प्रणाम करेंगे यह

पहला उपाय तो आइए चलते हैं अब दूसरा उपाय

की तरफ दोस्तों दिन-रात आप जी तोड़ मेहनत

कर रहे हैं धन कमाने के लिए लेकिन जितनी

आप मेहनत कर रहे हैं उस हिसाब से आपको

फायदा नहीं हो रहा है पैसा नहीं टिकता है

तो इसके पीछे

में कारण आपकी तिजौरी का गलत स्थान पर

होना भी हो सकता है आप अपनी तिजोरी को

हमेशा दक्षिण या दक्षिण पश्चिम दिशा की

दीवार से सटाकर ताकि जब तिजोरी ता मुख

खुले तो उसका मुख उत्तर दिशा की तरफ उत्तर

दिशा भगवान कुबेर की दिशा मानी जाती है जो

धन के देवता है

है इसके अलावा अपनी अलमारी को आप पश्चिम

दीवार से भी सटा कर रख सकते हैं ऐसे में

तिजोरी का जो मुख है वह पूर्व दिशा की तरफ

खुलेगा और पूर्व दिशा देवताओं की दिशा

मानी जाती है वास्तु विज्ञान में पूर्व

दिशा को उन्नति और ऊर्जा की दिशा कहा गया

है इस दिशा के स्वामी इन रहे हैं जो

देवराज है तो पूर्व दिशा की तरफ तिजोरी का

मुख्य यदि आप करते हैं तो देवराज इंद्र की

कृपा आप पर बनी रहेगी घर में धन का आगमन

सहज और सुलभ होगा और जो पसीना बहा रहे हैं

धन कमाने में वह व्यक्त नहीं जाएगा

इंग्लिश एक चीज का आपको ध्यान रखना है

दोस्तों कि आपका जो तिजोरी का मुंह है

यानि जो धन स्थान है उसका मुख दक्षिण दिशा

की तरफ कभी नहीं खुलना चाहिए बड़े से बड़े

खजाने खाली हो जाते हैं धन पानी की तरह

खर्च होता है और आर्थिक तंगी बनी रहती है

कितनी भी मेहनत कर ले उसका कोई फायदा नहीं

होगा तो हमेशा जवाब अपनी अलमारी रख रहे

हैं तिजोरी या धन स्थान तरफ बना रहे क्लिक

करेंगे तो उसकी दिशा का जरूर ध्यान रखिए

कि अब चलते हैं तीसरा उपाय की तरफ अब मैं

आपको धन वृद्धि का एक बहुत ही अचूक उपाय

बता रही हूं कोई भी धन संबंधी परेशानी है

तो आपको इस उपाय को जरूर करना है और इसके

रिजल्ट देखकर आप खुद ही चमत्कृत हो जाएंगे

और आपको यकीन हो जाएगा कि दैवीय कृपा अगर

मिल जाए तो सब कुछ संभव है इस उपाय के लिए

आपको चाहिए भोज-पत्र थोड़ा देसी घी मिला

हुआ लाल सिंदूर और अनार की कलम अब आपको

इसमें करना क्या है कि भोज पत्र में देसी

घी मिलेंगे सिंदूर से आपको श्री लिखना है

तीन बार श्री और एक स्वच्छ लाल कपड़े में

लपेट कर अपने धन स्थान पर इस पत्र को आपको

रख देना है यह उपाय आपको किसी भी महीने के

शुक्ल पक्ष के शुक्रवार से शुरू करना है

और लगातार चार शुक्रवार को आपको यही उपाय

करना है यही उपाय रिपीट करना है यानि कि

आपको फिर से भोजपत्र लेना है और देसी घी

मिले हुए सिंदूर में अनार की कलम से आपको

तीन बार शर्म लिखना है और उस पत्र को

अपने कपड़े में लपेटकर अपनी तिजोरी अपने

धन वाले स्थान पर रख देना है और हर बार

आपको भोज पत्र रखने के लिए अलग-अलग लाल

कपड़ा लेने की जरूरत नहीं है जिस लाल

कपड़े में अपने पहले शुक्रवार को भोज

पत्रों को रखा हुआ है उसी मैं आप यह दूसरा

भी रख दें और चारों शुक्रवार जब उपाय

करेंगे तो चारों भोज-पत्र उसी लाल कपड़े

में आपको रख देने हैं

कि अब छह महीने बाद आपको क्या करना है कि

लाल कपड़े को उन सभी भोज पत्रों के संग

आपको बहते हुए जल में प्रवाहित कर देना है

अगर आपके घर के आसपास बहता हुआ जल नदी

वगैरह नहीं है तो कोई बात नही किसी बड़े

वृक्ष की जड़ में इन चीजों को आप दबा दें

और ऊपर से मिट्टी डाल दें ताकि यह धरना

बहुत अचूक उपाय दोस्तों और महीने के

अंदर अंदर आपको इसके पॉजिटिव रिजल्ट महसूस

होने लगेंगे और इस प्रयोग को करने के बाद

अगर आपको लगता है कि यह प्रयोग आपको फिर

करना चाहिए तो आप छह महीने बाद इस प्रयोग

को दोबारा कर सकते हैं

हैं तो आइए दोस्तों अब चलते हैं चौथे उपाय

की तरफ आपको हर शुक्रवार को मां काली के

मंदिर में जाकर एक सरसों के तेल का दीया

जलाना है और एक पानी वाला नारियल मां को

अर्पित करना है और मां से अपने घर की सुख

समृद्धि के लिए प्रार्थना करनी है अगर आप

हर शुक्रवार नहीं जा सकते हैं तो कम से कम

महीने में दो शुक्रवार अवश्य आपको मां के

मंदिर में जाना है और शुक्रवार के दिन मां

काली को चावल की खीर का भोग आपको जरूर

लगाना है अपने घर के मंदिर में ही आप इसके

का भोग मां को अर्पित कर सकते हैं यह जो

आप खीर का भोग मां को अर्पित करेंगे यह

संध्या के पूजन में आपको अर्पित करना है

मां को मां की कृपा बहुत जल्द आप अपने

जीवन में महसूस करेंगे यह उपाय आपके जीवन

में धन के स्रोतों को बढ़ाता है और आप

जरूर करके देखिए और इस प्रयोग का जो

प्रभाव है जो पॉजिटिव रिजल्ट है आपको खुद

महसूस होंगे तो दोस्तों यह चारों हैं

अकाट्य प्रभावशाली उपाय हैं इनको आप जरूर

करिए और अपने जीवन में जो धन संबंधी

परेशानी

कि पुलिस स्वयं ही दूर की चीज है

हेलो दोस्तों थोड़ा हम चर्चा कर रहे हैं

हमारे को सबस्क्राइब के सवालों के बारे

में आप यह सेक्शन पूरा देखिए और ध्यान से

देखिए वह सकते हैं आपको भी आपके सवाल का

जवाब मिल जाए यह सवाल मां काली की शनिवार

की व्रत कथा से रिलेटेड है इनमें जो पहला

सवाल है वह संगीता शर्मा जी का है संगीता

जी पूछ रही है कि क्या मां काली के शनिवार

के व्रत में चाय पी सकते हैं तो जी हां

संगीता जी आप बिल्कुल भी सकते हैं चाहे बस

आपको यह ध्यान रखना है कि आपको अ नहीं

खाना है आप इस व्रत में समा के चावल आलू

फल सिंघाड़ा मूंगफली और सूखे में भी दिखा

सकते हैं सूर्यास्त के बाद ही आपको इस

प्रकार खोलना है

कि अब दूसरा सवाल रिया कुमारी का है यह

पूछ रही है कि मां काली के शनिवार के व्रत

में नमकीन चावल या नमकीन आलू खा सकते हैं

या नहीं आ

है तो मैं आपको बता दूं कि जो भी आप ग्रहण

करें सिर्फ मीठा ले नमकीन नहीं ग्रहण करना

है इन सबमें मां का लेकर शनिवार के व्रत

में समा चावलों के आधार बना सकते हैं आलू

का हलवा बना सकते हैं बहुत टेस्टी होता है

तो यह आप खा सकते पर नमक आपको नहीं लेना

है

कि अब अगला सवाल कनिका आरती जी का है यह

पूछ रही है कि अगर व्रत के दौरान पीरियस आ

गए तो क्या करें और कई लोग कन्याओं को

ब्रह्म की वजह से नहीं भी होते हैं ऐसे

में वह क्या करें तो कनिका जी अगर व्रत के

दौरान आपको पीरियड्स सा गए तो कोई बात

नहीं आप उस रखो ना रखें उस व्रत को छोड़

दें अगले शनिवार को आप रब करेंगे और जब

नफरत की गिनती आपकी पूरी हो जाएगी तो आप

उसका उद्यापन कर लें और आपकी अगली बात कि

लोग कन्याओं को अहम की वजह से उद्यापन में

बना नहीं बेचते हैं तो ऐसे में आप क्या

करें कि जब आप मां काली के शनिवार के व्रत

का उद्यापन करें तो नौ कन्याओं को भोजन आफ

उनके हिस्से निकाले नो हिस्से निकालने ठीक

है और मां काली के मंदिर में जाकर जो घर

के आसपास कोई जो मां कामाख्या मंदिर है

वहां जाकर आप यह प्रशांत मां के सामने एक

पैकेट में बना कर रख दें और मां से

प्रार्थना करें कि वह आपके व्रत सफल करें

और कोई भी आप से भूल चूक हो गई है व्रत

में तो आपको वह क्षमा करें उम्मीद करती

हूं कि आप लोगों के

पियर हो गए होंगे और इंच इन सब्सक्राइबर्स

के सवाल ऑरेंजेस सब्सक्राइबर्स के सवाल

मैंने लिए हैं उनके जवाब से कई लोगों के अ

बहुत सारे प्रश्नों के उनको जवाब मिल गए

होंगे तो दोस्तों अपना ध्यान रखिए अगली

वीडियो में बहुत जल्दी मिलती हूं मां की

भक्ति में डूबे रहिए निश्चिंत रहिए जय

माता दी जय बजरंगबली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *