30 अप्रैल से पहले तुम्हारा यह जानना बहुत जरूरी है ब्रह्मांड संदेश इग्नोर ना करे - Kabrau Mogal Dham

30 अप्रैल से पहले तुम्हारा यह जानना बहुत जरूरी है ब्रह्मांड संदेश इग्नोर ना करे

मेरे प्रिय बच्चे मनुष्य के जीवन में जब

दुविधा की घड़ी आती है तब वह बेचैन हो

उठता है यह दर्शाता है उसका ईश्वर के

प्रति जरा भी विश्वास नहीं है वह भयभीत हो

उठता है और जिस मनुष्य के भीतर बसता है

उसके भीतर मेरा वास वास्तव में हो ही नहीं

सकता मेरे प्रिय यह बहुत ही दिव्य संदेश

है और यह संदेश उन नेत्रों तक ही पहुंचेगा

उन पुण्य आत्माओं तक ही पहुंचेगा जिनके

जीवन में चमत्कार की घड़ी घटने वाली है आज

जब तुम तक यह पहुंचा है तो यह प्रमाणिकता

है कि तुम्हारे जीवन में बहुत ही

सकारात्मक बदलाव होने वाले हैं कुछ ऐसा

घटने वाला है जो तुम्हारी सोच से तुम्हारी

कल्पना से अत्यंत परे है प्रकृति के

वातावरण का लाभ लेते हुए अब तुम अपने जीवन

को बेहतर दिशा में लेकर जाने वाले हो अब

समय हो चला है जब तुम्हारे जीवन की

रूपरेखा को बदल दिया जाए तुमने काफी

प्रतीक्षा कर ली है बहुत परीक्षा भी दी है

अब तुम्हारी परीक्षाओं के दौर का अंत हो

चला है अब वह सारी समस्या खत्म होने वाली

है जो अब तक तुम्हें पूरी तरह से घेरे हुई

थी और ऐसा होना अत्यंत आवश्यक है क्योंकि

यह प्रकृति संतुलन के नियम पर चलती है

यहां प्रत्येक चीज संतुलन के आधार पर ही

चलता है यदि समुद्र का जल वास्प होकर

सूर्य की ऊर्जा में समा आता है यदि वह

बादल बनता है तो अंततः वही वर्षा बनकर उसी

समुद्र को भरने का कार्य करता है यही नियम

मनुष्य की क्रिया पर भी लागू होता है यही

नियम मनुष्य के विचारों पर भी लागू होता

है किसी भी जीव का जीवन इन नियमों से

वंचित नहीं है फिर चाहे वह कितना ही

सूक्ष्म जीव हो या फिर अत्यंत ही विशाल

जीव हो यह तुम्हारे जीवन पर हर समय कार्य

कर रहा होता है इसलिए तुम्हें यह समझना

चाहिए कि तुम जो भी क्रिया कर रहे हो

प्रतिक्रिया स्वरूप में तुम्हारे जीवन में

भी वह घटना घटने ही है तुम जो भी विचार कर

रहे हो वह प्रतिक्रिया स्वरूप में

तुम्हारे जीवन में घटकर रहेगी इसलिए

तुम्हारे विचार जितने ज्यादा नकारात्मकता

से भरे होंगे जितने ज्यादा संशय से भरे

होंगे जितने ज्यादा संदेह होंगे तुम्हारे

विचारों में उतने ही ज्यादा मात्रा में

तुम्हारे जीवन में संदेह की संशय और

नकारात्मक परिस्थितियां उत्पन्न होने

लगेंगी इसलिए जितना ज्यादा संभव हो सके

अपने विचारों को सकारा परिस्थितियों से भर

डालो अपनी संगति को ऐसे लोगों के साथ रखो

जो तुम्हारे विचारों में सकारात्मकता का

संचार करें जो तुम्हारे भीतर आत्मविश्वास

को बढ़ाने का कार्य करें जो तुम्हारे भीतर

संदेह उत्पन्न ना करें जो तुम्हें

असुरक्षा की भावना से ग्रसित ना करें मेरे

प्रिय बच्चे यह तुम्हारे लिए अत्यंत

आवश्यक है क्योंकि यह तुम्हें संदेह की

परिस्थितियों से भर जाएगा यदि तुम ऐसे

लोगों के साथ रहो होगे जो तुम्हारे मित्र

हो या तुम्हारे मित्र ना हो जो तुम्हारे

कार्यक्षेत्र के हो या फिर तुम्हारे साथ

के हो लेकिन यदि वह सब तुम्हारे भीतर

असुरक्षा की भावना उत्पन्न करते हैं तुम

में किसी भी प्रकार की कमी को

[संगीत]

गिनवाला में अपने संगति का वास्तविक चुनाव

करना होगा और उन मनुष्यों को उन परिस्थिति

को त्यागना होगा जो किसी भी प्रकार की

तुम्हारे अंदर नकारात्मकता को भरने का

कार्य कर रहे हो अन्यथा तुम चाकर भी अपने

जीवन में बदलाव नहीं कर पाओगे अन्यथा कोई

देवदूत चाकर भी तुम्हारे जीवन में बदलाव

कर सकने में सक्षम नहीं हो पाएगा प्रिय

बच्चे मैंने तुम्हारा चुनाव किया है

क्योंकि तुम एक बेहद ही पुण्य आत्मा हो

तुम्हारे भीतर पवित्रता कूटकूट कर भरी हुई

है वास्तव में तुम शांति प्रिय जीवन चाहते

हो

लेकिन संसार की रीति ऐसी है मनुष्यों का

विचारधारा इस प्रकार से कार्य कर रहा है

कि वह हिंसात्मक होते जा रहे हैं वह एक

दूसरे को गिराकर एक दूसरे का पतन करके ऊपर

की ओर उठना चाहते हैं वह अपनों से ही

लड़ना चाहते हैं और अपनी विद्या को अपने

बल को अपने ज्ञान को अपनी प्रभु संपदा को

सिद्ध करना चाहते हैं कभी समृद्धि के

माध्यम से तो कभी ज्ञान के माध्यम से तो

कभी-कभी वह अपनी श्रेष्ठता को को सिद्ध

करने के लिए इस हद तक नीचे चले जाते हैं

जिसकी कल्पना करना मेरे लिए भी संभव नहीं

है और वास्तव में मनुष्य अपनी पतन का कारण

स्वयं ही खोज रहे हैं इसलिए मेरे प्रिय

ऐसी पतन की स्थिति में ऐसे विनाश के दौर

में जब सब कुछ अपने विकराल रूप में होने

वाला है मैं चाहती हूं कि तुम्हारे जैसी

सात्विक और पुण्य आत्मा को किसी प्रकार की

समस्या ना हो मैं चाहती हूं कि तुम्हारा

जीवन हमेशा हमेशा ही बेहतर होता जाए प्रिय

बच्चे तुम पर सूर्य की लालिमा बिखेरने

वाली हूं सूर्य वह जो तुम्हारे जीवन को

उदय करें सूर्य वह जो तुम्हारे जीवन में

प्रेम का संचार करें सूर्य वह जो तुम्हें

धन व समृद्धि संपदा से भर दे मेरे प्रिय

मैं तुम्हारे भीतर आत्म जागृति के रूप में

उत्पन्न होने वाले सूर्य की बात कर रही

हूं जो तुम्हारे रगों में प्रेम का संचार

करेगा जो तुम्हारी रगों में साहस और

हिम्मत का संचार करेगा क्योंकि इस क्षण यह

तुम्हें किसी चीज की सर्वाधिक आवश्यकता है

तो वह है आत्मविश्वास की तो वह है

तुम्हारे भीतर हिम्मत की अत्यधिक मात्रा

की क्योंकि यह हिम्मत ही है जो तुम्हारे

भीतर तुम्हें यह बताएगा कि तुम क्या कर

सकने में सक्षम हो और तुम्हें क्या करना

चाहिए प्रिय बच्चे यह तुम्हारा जीवन है

इसकी बागडोर तुम्हारे हाथों में होनी

चाहिए ना कि समाज द्वारा निर्मित किन्ही

कुरीतियों के विभिन्न प्रकार की योजनाओं

के माध्यम से तुम्हारा जीवन होना चाहिए या

फिर मनुष्यता ने जिस तरह की मापदंड को

जन्म दिया है उनके आधार पर वास्तव में

मनुष्य ने जिन मापदंडों को आधार बना लिया

वह पूरी तरह से निराधार है क्योंकि उनका

अस्तित्व ईश्वर के गुणों से मेल नहीं खाता

मनुष्य ने सौंदर्य जैसी रूपरेखा की है वह

पूरी तरह से निराधार है क्योंकि देवताओं

का सौंदर्य मनुष्य के सौंदर्य से भिन्न है

क्योंकि इस संसार में जितने जीव हैं वह

मेरे ही द्वारा गड़े गए हैं उनका सौंदर्य

भिन्न है मेरे प्रिय बच्चे तुम्हारे जीवन

में जीत की दिशाओं का निर्माण करने अब मैं

स्वयं आ रहा हूं मैंने तुम्हारे जीवन की

गतिविधियों को बहुत अच्छे तरीके से देखा

है और मैं यह जान सका हूं कि तुम लोगों की

सहायता क्यों नहीं ले पा रहे हो उनकी भी

जो स्वयं से तुम्हारी सहायता करने को

तैयार है मेरे प्रिय मैं यह अच्छी तरह से

जानता हूं कि क्यों तुम किसी भी तरह की

ईश्वरीय अथवा मानवीय सहायता से वंचित रह

जाते हो क्यों तुम्हें संकेतों का अर्थ

मालूम नहीं पड़ता है क्यों तुम यह नहीं

समझ पाते हो कि तुम्हारे लिए क्या रचित

किया जा रहा है लेकिन अब तुम्हें चिंता

करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि अब मैं

स्वयं आ रहा हूं तो मेरे होने का एहसास

मेरी अनुभूति तुम्हें निरंतर महसूस होती

रहेगी मैं किसी भी रूप में रहूं तुम उस

एहसास को भूल नहीं पाओगे इसलिए इसलिए मेरे

प्रिय अपने भीतर से भय का त्याग कर दो

अपने भीतर से भय की सभी बेड़ियां तोड़ दो

और अब जब मैं आ रहा हूं तो तुम्हारी जीत

सुनिश्चित हो चुकी है अपनी जीत की पुष्टि

करना तुम्हारे लिए अत्यंत आवश्यक है इसलिए

इसी क्षण बिना देरी किए हुए संख्या

लिखकर इस बात की पुष्टि कर दो कि तुम इस

जीत को अपनाने के लिए पूरी तरह से इच्छुक

हो और तुम इसके लिए पूरी तरह से तैयार हो

मेरे प्रिय मैं तुम्हारी मानव रूप में

होकर ही सहायता करूंगा तुम मेरे जिस रूप

को विचार करते हो वास्तव में वह मानव रूप

होता है लेकिन मैं इतना सीमित नहीं हूं जो

किसी एक रूप में बं जाऊं मेरे विभिन्न रूप

है वास्तव में मैं प्रत्येक अणुओं के

माध्यम से अपने कार्यों का संचालन करता

हूं लेकिन तुम मुझे मनुष्य रूप में ही

मानते हो कभी ईश्वर के रूप में तो कभी

ईश्वर के पुत्र के रूप में तो कभी देव के

रूप में तो कभी ऊर्जा शक्ति के रूप में

लेकिन मैं वास्तव में इन सबसे ही परे हूं

जो मैं हूं उसकी कल्पना तक तुम अभी पहुंच

नहीं पाए हो इसलिए निरंतर शिकायतें करते

हो क्योंकि तुम ना तो अपनी क्षमता को

समझते हो ना ही मेरी महिमा को जानते हो ना

तुम मेरी ताकत को जानते हो ना अपने संकल्प

शक्ति को जानते हो हो जिस दिन तुम्हारा

परिचय तुम्हारी अपनी संकल्प शक्ति से हो

गया जिस दिन तुम अपने भीतर उतर गए और अपने

आप को जान लिया उस दिन तुम मेरे स्वरूप को

भी जान जाओगे उस दिन तुम वंचित ना रहोगे

किसी भी प्रकार की सहायता से किसी भी

प्रकार की दिव्यता से प्रिय बच्चे मैं

जानता हूं कि तुम प्रेम की अभिलाषा लिए अब

तक जीवन जीते आए हो जो अब तक पूर्ण ना हुई

है लेकिन यह ज्यादा समय की बात नहीं है अब

तुम पूर्णता में इन सबका एहसास करने वाले

हो अब तुम्हारा जीवन वास्तव में वास्तविक

रूप से ही बदलेगा यह परिवर्तनकारी युग है

और तुम इस युग के साक्षी होने वाले हो इस

युग में तुम्हारे लिए बहुत कुछ घटना घटने

वाली है इसलिए अपने आप को तैयार रखो प्रेम

की दिव्य धारा से स्वयं को बांध लो जो कोई

भी तुम्हारे जीवन में तुम्हें नुकसान

पहुंचाने की चाहत कर रहा है वह यह नहीं

जानता कि वह क्या गलती कर रहा है इसलिए

उसे उसके हाल पर छोड़ दो उसे सबक सिखाना

उसे उसकी गलती का एहसास कराना उसके कर्मों

का फल देना मेरा कार्य है और मैं यह बहुत

ही अच्छे ढंग से करता हूं किंतु हर चीज का

समय होता है तुम्हारे जल्दी करने से या

आवेगी हो जाने से यह घटना नहीं घटेगी

इसलिए स्वयं को मुक्त रखो मेरे बच्चे बहुत

जल्द तुम्हारी सारी उलझने समाप्त होने

वाली है तुम्हारे भाग्य पर जो ताला लगा

हुआ था अब वह खुल जाएगा मैंने देखा है कि

तुमने बहुत प्रतीक्षा की है इसलिए अब तुम

तुम्हारी प्रतीक्षा का फल तुम्हें प्राप्त

होकर रहेगा मेरे प्रिय बचपन से ही तुम

बहुत ज्यादा चित स्वभाव को लेकर जिए हो और

साथ में तुम्हारे अंदर थोड़ा जिद्दी पन भी

है तुम जिस भी कार्य को करने की ठान लेते

हो यदि पूरे दिल से उसको करने की ठान लेते

हो तो उसको पूर्ण किए बिना शांत नहीं

बैठते लेकिन पिछले कुछ वर्षों में भाग्य

ने तुम्हारा उस प्रकार से साथ नहीं दिया

जैसा तुमने सोचा था तुमने जीतने के बहुत

प्रयास किए लेकिन परिस्थितियां कुछ ऐसी

बनी कि तुम स्वयं से भी हार मानते हुए गए

और हर कार्य को तुमने बीच में ही करना

छोड़ दिया तुमने जिस कार्य में भी अपनी

किस्मत आजमाई जहां भी अपने भाग्य को

आजमाने का फैसला किया वहां तुम्हें निराशा

हाथ लगी तुमने बहुत अधिक प्रयास किया बहुत

ज्यादा प्रयत्न किए बहुत विचार किया बहुत

मंथन किया लेकिन तुम असफल होते गए इसलिए

तुम्हारा मन इससे बहुत ज्यादा व्याकुल हो

उठा व्यवस्था तुम्हें घेर चली गई लेकिन अब

तुम्हें एक और प्रयास करना है अब तुम

धीरे-धीरे अपने ऊपर विश्वास बनाते जाओ

तुमने एक सही मार्ग चुना है तुम जब

आध्यात्म के मार्ग पर बढ़ना प्रारंभ किए

तब तुम्हारे अंदर धीरे-धीरे विश्वास आता

गया और यह देखकर मैं तुमसे बहुत खुश हूं

क्योंकि तुमने स्वयं को बदलने का प्रयास

किया लेकिन अभी भी तुम्हारा मन कुछ दुविधा

में फंसा हुआ है बहुत से ऐसे प्रश्न है

जिनका उत्तर जानने के लिए तुम व्याकुल हो

रहे हो बहुत सी उलझने तुम्हें खाई जा रही

है तुम्हारा मन भटकता जा रहा है कई बार

अपने कार्यों से तुम्हारा मन हटता है और

तुम्हें सही मार्ग नजर नहीं आता और इसी

भटकते मन के कारण तुमने मुझसे बहुत बार

समाधान मांगा है और यही कारण है कि मैं

तुम्हारा मार्गदर्शन करने आया हूं मेरे

प्रिय बच्चे बार-बार असफलता हाथ लगने से

तुम अपनी योजनाएं बदलने का प्रयत्न करते

हो अपनी दिशा बदलना चाहते हो तुम्हें लगता

है कि तुम्हें शायद कोई सरल मार्ग मिल

जाएगा कहीं से कोई चमत्कार हो जाएगा और

सारी चीजें बदल जाएंगी और ऐसा होगा तो तुम

जल्दी से अपने लक्ष्य तक पहुंच जाओगे मेरे

बच्चे तुम जो सोच रहे हो वह उचित नहीं

क्योंकि यह सब कुछ होगा तुम्हारे जीवन में

चमत्कार होगा ऐसे राह भी मिलेंगे लेकिन जब

तक तुम इसका विचार करोगे तब तक नहीं

क्योंकि जब तुम विचार करोगे चीजों को अपने

अनुरूप करना चाहोगे तो उसका उल्टा होगा

चीजें तुम्हारे अनुरूप नहीं होंगी लेकिन

जब तुम यह विचार करना त्याग दोगे छोड़

दोगे तो तुम वहीं पहुंच जाओगे जहां तुम

पहुंचना चाहते हो क्योंकि तुम्हारे

प्रयासों में वास्तव में कोई कमी नहीं है

तुमने अपने कार्य को अपना पूरा श्रम दिया

है अपनी पूरी श्रद्धा दी है तुमने मेहनत

की है और मैं जानता हूं कि तुम्हारी मेहनत

के किस प्रकार से है इसलिए तुम्हें इससे

घबराना नहीं है अति शीघ्र ही तुम्हें इसका

परिणाम भी मिलेगा लेकिन यदि तुम लगातार

यही सोचते रहोगे कि तुम्हें ऐसे सफलता

मिलेगी या वैसे सफलता मिलेगी तो फिर तुम

अपने रास्ते से भटक जाओगे क्योंकि जब तुम

परिणाम के बारे में सोचने लगोगे तो फिर

प्रकृति अपना कार्य कैसे करेगी तुम

प्रकृति का कार्य मत करो मेरे बच्चे तुम

अपना कार्य करो प्रकृति अपना कार्य करना

जानती है मैंने तुम्हारे धैर्य की बहुत

परीक्षा ली है और मैं जानता हूं कि तुम उन

परीक्षाओं में उत्तीर्ण करते गए हो तुमने

अपने धैर्य का बहुत अच्छा परिचय दिया है

मैं जानता हूं तुम में प्रतिभा है लोगों

को संभालने की तुम में काबिलियत है आगे

बढ़ने की और तुम में सामर्थ्य भी है स्वयं

को श्रेष्ठ बनाने का तुमने प्रमाणित किया

है कि तुम काबिल हो इसलिए तुम्हें तो

बिल्कुल भी चिंता नहीं करनी चाहिए शीघ्र

ही तुम्हारी किस्मत चमक जाएगी लेकिन यदि

तुम निरंतर विचार करोगे कि तुम्हें सफलता

कैसे मिलेगी कैसे का विचार तुम्हें ले डूब

सकता है मेरे बच्चे इसलिए कैसे पर विचार

मत करो वह सब कुछ करना मेरा कार्य है वह

होकर रहेगा तुम्हारे घर के दरवाजे पर जल्द

ही दस्तक होगा सफलताओं का जल्द ही दस्तक

होगा किसी ऐसे इंसान का जो तुम्हें बहुत

हर्षो लास प्रदान करने वाला समाचार

सुनाएगा और वह समाचार तुम्हारे संपूर्ण

जीवन को प्रभावित करेगा तुम्हारे परिवार

में कोई और है जो बहुत व्यथित है जिसका मन

बहुत व्याकुल हो रहा है कोई है जो बहुत

परेशान है उसे तुम्हारे सहायता की

आवश्यकता है वह बहुत मानसिक तनाव से गुजर

रहा है और तुम ही उसका सहारा हो तुम उसका

सहारा बनना जैसे ही प्रारंभ करोगे मैं

तुम्हारे जीवन में उन दूतों को भेजना

प्रारंभ करूंगा अपने गढ़ों में से किसी एक

को भेज ना प्रारंभ करूंगा और उसके जाते ही

तुम्हारा जीवन बदलने लगेगा चमत्कार

वास्तविक हो उठेंगे तुम्हारी कल्पनाएं

वास्तविक हो जाएंगी लेकिन तुम्हें इसका

विचार नहीं करना है तुम्हें बार-बार यह

सोचना नहीं है तुम्हें सोचना है तो केवल

एक चीज का कि तुम समृद्ध हो रहे हो

तुम्हें सोचना है तो केवल यह कि तुम्हारे

पास खुशियां आती जा रही हैं तुम्हें सोचना

है तो केवल इस बात का कि तुम्हारी जो

प्रतिभा है तुम उसका प्रदर्शन कैसे करो ना

कि इस बात का कि चीजें कैसे होंगी सारी

चीजें वास्तविक उचित ढंग से उसी अनुरूप

होंगी जैसा मैं चाहूंगा और मैं वही चाहता

हूं जिसमें तुम्हारी भलाई हो मैं तुम्हारी

भलाई से बेहतर कुछ भी नहीं चाहता तुम्हें

बहुत अच्छे अवसर मिलने वाले हैं समृद्धि

से भरे अवसर मिलने वाले हैं तुम बेहद

भाग्यशाली हो और यही कारण है कि तुम्हारे

जीवन में यह संदेश आया है यह संदेश

तुम्हारी खुशी तुम्हारी सफलता का प्रतीक

है मेरे बच्चे क्या तुम्हें पता है कि

तुम्हारे प्रेम जीवन में क्या क्या घटित

हो रहा है तुम्हारा साथी किन व्यथा हों से

गुजर रहा है उसके मन में तुम्हें लेकर

बहुत से प्रश्न उठ रहे हैं वह बहुत

व्याकुल हुआ जा रहा है वह सोच रहा है कि

तुम्हारे जीवन में कोई और भी शख्स है मेरे

बच्चे में उसकी व्याकुलता भी दूर करूंगा

उसे एहसास दिलाऊंगा कि वास्तव में तुम

उससे कितना प्रेम करते हो मैं उसे यह

एहसास दिलाऊंगा कि तुम्हारे जीवन में

जितना महत्व उसका है उतना महत्व कभी किसी

और का नहीं हो सकता उसकी जगह तुम्हारे

जीवन में कोई और शख्स नहीं ले सकता और

उसने बहुत भूल की है मैं उसे उसकी भूल का

भी एहसास दिलाऊंगा वह तुमसे माफी मांगेगा

और तुम्हें अपने प्रेम का भी एहसास कराएगा

उसने जब भी तुम्हारा दिल दुखाया था उन

सारी बातों के लिए वह तुमसे क्षमा मांगेगा

और मैं जानता हूं तुम्हारा दिल बहुत बड़ा

है तुम उसे खुशी से माफ कर दोगे साथ ही वह

सारे लोग जिन्होंने कभी तुम्हें नीचा

दिखाया था तुम्हारा अपमान किया था मैं उन

सबको उनकी गलती का एहसास कराने वाला हूं

और मैं जानता हूं तुम उन सबको माफ कर दो

क्योंकि तुम्हारा दिल बहुत बड़ा है मेरे

बच्चे तुम्हारा यह दिल जिसकी वजह से

तुम्हारे कर्म अच्छे होते गए हैं तुम्हारा

यह दिल जिसकी वजह से तुम लोगों का बुरा

नहीं चाहते बल्कि तुम तो उनका अच्छा चाहते

हो मैं तुम्हारे इस दिल की वजह से

तुम्हारे समक्ष हूं तुम मुझे देख नहीं

पाते परंतु मैं निरंतर तुम्हारे साथ हूं

तुम्हारी सहायता कर रहा हूं और तुम्हें

खुशियां प्रदान करने का मार्ग बना रहा हूं

मेरे बच्चे तुम विजय रथ पर सवार होने वाले

हो तुम्हारी चर्चाएं हर तरफ होने वाली हैं

तुम प्रशंसा के पात्र हो इसलिए तुम्हें

प्रशंसा मिलकर रहेगी

चांद की रोशनी बारिश यह तुम्हें एहसास

दिलाएंगे तुम्हारी जीत का तुम महसूस करोगे

कि तुम्हारे भाग्य में क्या-क्या परिवर्तन

हो रहा है और किस प्रकार से तुम्हारा

भाग्य उदय हो रहा है मेरे बच्चे तुम्हारा

जीवन अमूल्य है तुम्हें इस अमूल्य जीवन के

महत्व को समझना होगा और फिर उस मार्ग को

चुनना होगा जो सबसे उचित है जो सबसे

श्रेष्ठ है और मुझे पूरा विश्वास है कि

तुम श्रेष्ठ मार्ग ही चुनो

मैंने तुम्हें बहुत प्रेम से बनाया है तुम

में बुद्धिमत्ता बहुत है और तुम उसी

बुद्धि का प्रयोग करके अपने जीवन में आगे

बढ़ते जाओगे अब तुम्हारे लिए सारे द्वार

खुल रहे हैं तुम्हारे जीवन में परिवर्तन

के द्वार भी खुल रहे हैं और यहां से तुम

अपना जीवन बदलने वाले हो मेरे बच्चे तुम

खुशियों को प्रेम को श्रद्धा को और अपार

विश्वास को भी प्राप्त करोगे अब तुम सुकून

की ओर बढ़ते जाओगे और इन सारी

परिस्थितियों में एक बात याद रखना मेरा

आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है मैं सदैव

तुम्हारे आसपास हूं हमेशा खुश रहो

तुम्हारा कल्याण होगा लेकिन एक बात कभी मत

भूलना तुम इस संसार में जो बांटते हो अपने

लिए भी वही पाते हो फिर चाहे प्रेम बांटो

धन बांटो ईर्षा बांटो या किसी के प्रति

अपनापन बांटो तुम भी बदले में वही पाने

वाले हो इसलिए जो बांटना है उसका चुनाव

बहुत सोच सम करना यही तुम्हारे लिए आवश्यक

है और अपनी जीत की पुष्टि निरंतर करते

रहना ऐसा करना तुम्हारी जीतने के लिए

अत्यंत आवश्यक है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *