22:22 मां काली? अब यह शक्ति तुम्हारे शरीर में प्रवेश करेगी ? #maakalikasandesh - Kabrau Mogal Dham

22:22 मां काली? अब यह शक्ति तुम्हारे शरीर में प्रवेश करेगी ? #maakalikasandesh

मेरे बच्चे तुम्हें अगले दिन में निश्चित ही तुम्हें सफलता प्राप्त होगी अब

तो खुश हो जो मेरे बच्चे तुम्हारी जिंदगी अगले दोनों में चमत्कारी रूप से

परिवर्तन से भरने वाली है तुम्हारा यहां भड़काने का समय समाप्त होने का समय

प्रारंभ हो चुका है आज मैं तुम्हें बताने वाली हूं मेरे बच्चे तुम्हारी तकदीर को

केवल दिन में पलटने के लिए काफी है परंतु मेरी कहीं गई बटन पर विशेष ध्यान

देना और ध्यानपूर्वक सुना क्योंकि आदि अधूरी बात सुनकर तुम केवल आधा ही ज्ञान ले

पाओगे जो किसी कम का नहीं होगा मेरे बच्चे ध्यान दो तुम्हें खुशियां प्राप्त होने से

पहले कुछ तैयारी कर लेनी चाहिए क्योंकि जब तुम्हारा जीवन परिवर्तित हो तब तुम्हें

आने वाली खुशियों का स्वागत करना आवश्यक है मेरे बच्चे तुम जो मेरी इतनी पूजा पाठ

करते हो और जो मुझे प्रसाद चढ़ते हो उससे मैं बहुत ज्यादा प्रश्न हूं आज संध्या कल

में जब तुम मेरे समक्ष दीपक जलाओ इस समय तुम्हारे मां में सबसे पहले जो विचारधारा

आएगी उसको तुम अपने मां ही मां उसे विचारधारा विचारण करना है बार-बार उसे पर

अपने ध्यान को एकाग्र होकर लगाना होगा क्योंकि मां में आया हुआ विचार कोई साधारण

विचार नहीं बल्कि ऐसी शुरुआत है जो आपको

जीवन में किसी शुभ कार्य का प्रारंभ होने जा रहा है इसलिए इसी विचार को आपको

बार-बार मां ही मां दोहराना है और अपने मां में इस बात को स्थापित करना है

रितु में यह कार्य कर चुके हो तुम्हें दिन में जब भी थोड़ा सा समय मिले तुम्हें उसे

विचार को याद करते रहना है बार-बार तुम्हें स्मरण करते रहना है की तुम उसे

कार्य को कर चुके हो उसको होते हुए खली आंखों से साक्षात देखने की कोशिश करना है

मेरे बच्चे यह सब लगातार दिन तक करना होगा सोनी के कुछ समय पहले याद करना होगा

और जैन के पश्चात तुम्हें याद करना होगा लगातार तीन दिन ऐसा करने के पश्चात

तुम्हारे अंदर एक ऐसी अलौकिक शक्ति विद्यमान हो जाएगी तब वह कार्य को करने के

लिए पूरा ब्रह्मांड तुम्हारा साथ देगा क्योंकि तुम्हारी आकर्षण शक्ति इस कार्य

के लिए बाढ़ चुकी होगी और बढ़ते ही वह कार्य पूर्ण होने के लिए तुम्हारे सभी

मार्ग खुला डालेंगे और खुशियां तुम्हारे कम चूमेंग मेरे बच्चे इसमें जो भी

तुम्हारे मार्ग में बड़ा होगी वह मैं स्वयं आकर दूर करूंगी इस बात के लिए तुम

निश्चित रहो मेरी बटन का ध्यान रखना यह मत भूलो की तुम्हारा आगे का समय कैसा होगा यह

तो नहीं जानते हो इसलिए मैं तुम्हारे लिए क्या कर रही हूं तुम्हें इस बात पर चिंता

करने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि मैं तुमसे बहुत प्रेम करती हूं और तुमको इतनी

ऊंचाइयों पर पहुंचाऊंगी की तुम्हें भी पता नहीं होगा क्योंकि मेरे भक्ति जी बात को

अपने मां में बस लेट है मैं उसकी इच्छा को पूर्ण करने के लिए सृष्टि की हर चीजों में

विद्यमान होकर उनकी सहायता करती हूं मेरे बच्चे कुछ बच्चे ऐसे होंगे जींस यह

सब कार्य नहीं करेंगे और वह मुझे प्रश्न नहीं कर पाएंगे परंतु वही कुछ ऐसे बच्चे

होंगे जो मुझे प्रश्न कर लेंगे सच तो यह है की मैं अपने बच्चों से थोड़ी सी पूजा

पाठ से शीघ्र प्रश्न हो जाति हूं परंतु पूजा पाठ के साथ साथ कुछ ऐसे कार्य

होते हैं जिससे मैं सदा प्रश्न रहती हूं और तुम्हारे बिना जान तुम्हारे भाग्य

परिवर्तन कर देती हूं क्योंकि तुम्हारे द्वारा किया गए कार्य मुझे बहुत ज्यादा

प्रश्न कर रहे अनुसार तुम्हारे जीवन में सही रूप से

कार्य हो जाते हैं जो की तुम्हारे द्वारा हो चुके हैं बाकी जो मेरे बच्चे हैं

जिन्होंने अब तक वह कार्य नहीं किया आज उनको यह बताना चाहती हूं की तुम भी कार्य

को यदि करना प्रारंभ करते हो तो मैं उनसे भी प्रश्न हो जाऊंगी और उसे उसकी मंजिल तक

पहुंच दूंगी और तुम्हें भी तुम्हारी मंजिल अवश्य मिलेगी मेरे बच्चे सदा खुश रहो मेरे

अगले संदेश की प्रतीक्षा करना मेरे बच्चे मेरा संदेश प्राप्त होने का

अर्थ मैं तुम्हें ऐसी बात बताने वाली हूं जिसे जानना तुम्हारे लिए बहुत जरूरी है

यदि आज तुमने इस संदेश को नहीं सुना तो

तुम अपने हाथ से एक मौका गाव डॉग यही तो मैं खास बात

बताना चाहती हूं की जीवन [संगीत]

क्योंकि जो मौके का लाभ उठा लेट है वही जीवन में सबसे बड़ी सफलता

हासिल करता है जैसे जोरदार बारिश होने के

बाद जमीन जितनी अधिक गली होती है वह

नरम होने के पश्चात उनकी खुदाई करने के बाद यदि बी

बी दिए जैन तो वह शीघ्र ही ग जाते हैं [संगीत]

क्योंकि जमीन में एक शक्ति उत्पन्न हो जाति है बारिश के पानी से

इसी प्रकार तुम्हें यह ध्यान रखना होगा की जब भी तुम्हारे हाथों

[संगीत] कोई मौका आता है तो तुम्हें

नहीं गवाना चाहिए जो सही समय होता है उसे

सही समय का मौका उठा लेट है वह अपनी जिंदगी में बहुत आगे चला

जाता है और जो जानबूझकर उसे मौके को गाव देता है तो

वह जिंदगी में उसे मौके को फिर दोबारा हासिल

नहीं कर सकता मेरे बच्चे इस बात का ध्यान रखना जी प्रकार घंटे में एक बार

सरस्वती तुम्हारी जुबान पर बैठी हैं उसे समय यदि तुम कुछ भी का देते

हो तो है कार्य [संगीत] पूर्ण हो जाता है इस प्रकार मैं भी तरक्की

का एक मौका अवश्य आएगा या तो ए चुका

होगा या आएगा लेकिन तुमने उसे

पहचान नहीं पहचान कर भी तुम कई बार अनमोको

को देखा कर देते हो पहचान नहीं पाते इस मौके से ही तुम बहुत

ऊंचाइयों तक जा सकते हो लेकिन

[संगीत] मेरे बच्चे इस बात का विशेष

ध्यान रखो की यदि तुम लोगों की मदद करते हो और लोगों को सही रास्ता दिखाई

हो तो मेरी इस बात पर पूर्ण विश्वास रखना मेरे बच्चे

की जब भी तुम्हारे समक्ष मौका

आएगा तो तुम उसे गवाओगे नहीं

बल्कि उसे पर कम करोगे क्योंकि वह मौका तुम्हारे लिए भी

तुम्हारी सफलता की सीधी बन जाएगा और तुम उसे पर कार्य करके सफलता

को प्राप्त करोगे क्योंकि जी प्रकार प्रकृति का

नियम होता है जैसा जो जिसके लिए करता है

वैसा ही उसे प्राप्त होता है तो ऐसा मौका तुम्हारे

हाथ से जा नहीं सकता अच्छे से समझ लो की तुम्हें

मौके का फायदा तभी मिल पाएगा [संगीत] जब तुम तो जैसा करोगे यदि दूसरों की

सहायता करने से अपने आप को पीछे हटा लोग तो

तुम्हारे हाथ से भी वह मौका चला जाएगा इसलिए

आज तुम मेरी इस बात को ध्यानपूर्वक सुनकर समझ लो की यदि तुम्हारे समक्ष कोई ऐसा

मौका आता है और तुम्हें ऐसा

प्रतीत होता है की शायद इससे तुम्हारा भविष्य सुधार सकता है

तो तुम उसे पर कार्य करने से पीछे मत हटो ना ही अपने मां में

नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न होने दो अपने अंदर का भाव

की पता नहीं इस पर कार्य पूर्ण होगा या नहीं होगा इस विश्वास

[संगीत] को उत्पन्न होने से पहले तुम

उसे पर कार्य करना प्रारंभ कर दो

क्योंकि यदि वह कार्य [संगीत]

तुम्हारा पूर्ण हो गया तो तुम्हारा जीवन बहुत आगे चला जाएगा और यदि

कार्य पूर्ण नहीं हुआ तो तुम्हारा [संगीत] कुछ जाएगा नहीं इसलिए

किसी भी सामने होते हुए मौके पर कम करने से पहले तुम्हें ना तो कुछ गलत

बटन को सोचना है और ना ही सोचते सोचते अपने

आप को कार्य करने से रोकना है तुम्हारे हाथ भी कामयाबी

आई है जब तुम कामयाबी के पीछे दौड़ लगाते

हुए यदि तुम आई हुई कामयाबी को

अपने हाथों से छोड़ डॉग तो तुम अपनी कामयाबी से बहुत दूर चले जाओगे

इस बात को याद रखना मेरे बच्चे बाकी सब मुझमें पर छोड़ दो मैं स्वयं

तुम्हारे साथ हूं मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा करना

जन्म देने वाली मां की तरह मैं तुम्हारा ख्याल फिर रखूंगी

सदा खुश रहो मेरे बच्चे [संगीत]

मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश प्राप्त हुआ है तो ठहरो जरा सुनो मेरी बात

को क्योंकि तुम्हें मेरी यह बात जानना बहुत जरूरी है इसलिए तुम मेरी बताई हुई

बात को ध्यानपूर्वक सुना क्योंकि ध्यान से सुना अत्यंत आवश्यक है

तभी तुम्हें मेरी बोली हुई बातें समझ में आएंगे की इन बटन को समझना क्यों जरूरी है

इसलिए तुमको यह समझना बहुत जरूरी है पहले

तुम मुझे एक बात का जवाब दो की यदि तुम्हारे साथ कोई ईमानदारी रखना है और

दूसरा वही तुम्हारे साथ कोई धोखा करता है तो तुमको यह बात पता

होने के बाद तुम किस इंसान का साथ देना चाहोगे तुम्हारा हृदय किसकी तरफ खींचेगा

इस प्रकार सही-सही के साथ राहत है और गलत व्यक्ति गलत व्यक्ति के संगत में

राहत है यदि गलत की संगति में ए जाए तो या

तो सही व्यक्ति जैसा गलत व्यक्ति बन जाएगा या गलत जैसा सही उसकी संगति में बन जाएगा

लेकिन दो अलग प्रवृत्ति के इंसान एक साथ नहीं र सकते क्योंकि उनको फल भी अलग-अलग

प्राप्त होते हैं इसलिए सबसे पहले कार्य तो तुम यह करो

की यदि तुम इस समय गलत संगति में हो तो तुरंत ही वह संगति छोड़ दो और यदि तुम खुद

पर विचार करके देखो तुम कोई गलत कार्य कर रहे हो तो उसे बैंड कर दो इसके साथ ही आज

से कार्य करने प्रारंभ करो जिसमें से पहले सुबह सूर्य निकालने से पहले उठाना प्रारंभ

करें यदि तुम सूर्य को निकालने के पश्चात उठाते हो तो है आदत आज से छोड़ दो और सुबह

जल्दी उठकर तुम स्नान करो एकांत में बैठकर तुम किसी भी अपने इस्ट देवता का स्मरण

करते हुए अपने मां को शांत वातावरण में एकाग्र करना प्रारंभ करो क्योंकि एकाग्र

मां की शक्ति मेरे बच्चे तुम्हारे लिए

बहुत जरूरी है किसी भी कम को करने के लिए

[संगीत]

प्राप्त करने के लिए एकाग्र होना जरूरी है एकाग्र मां से शांति और सुख

का अनुभव होगा और अगर तुम्हारे हृदय में शांति उत्पन्न होगी

तो इसके साथ ही आपके हृदय में सकारात्मक

ऊर्जा भी विराजमान रहती है सकारात्मक ऊर्जा ही आपके जीवन की जो

प्रारंभ से लेकर संध्या कल तक [संगीत]

ऐसी शक्ति उत्पन्न करती है की आपके हाथों से सब

अच्छे कार्य होंगे [संगीत]

तरफ जाएगा इसके साथ ही तुमको यह बात कभी

नहीं भूलनी चाहिए जीवन में जब भी तुम्हारे समस्याएं उत्पन्न होती है तो तुम किसी ना किसी गलती

के करण के उन समस्याओं को उत्पन्न कर लेते हो या तो तुम्हारा कोई भी गलत कार्य की

वजह से या तुम ध्यान रखो की हो सकता है तुम्हारा कोई ऐसा कार्य जो किसी देवता को

रोस्ट कर रहा हो यदि तुम अनजाने में भी किसी का अपमान कर रहे हो मेरे बच्चे तो

उसका पाप ना तो तुम्हें कभी लगता है और ना

ही उसका दंड तुम्हें कभी भूदेवीटी एन पड़ता

है क्योंकि उसका पाप होता ही नहीं लेकिन

यदि तुम जानबूझकर किसी देवता का अपमान कर

रहे हो या जानबूझकर किसी देवता को रुष्ट कर रहे हो

तो उसकी गलती की सजा तुम्हें समस्या के रूप में प्राप्त होती है और यदि तुम्हारे

जीवन में ऐसा हो रहा है तो निश्चित ही तुम उसे पर ध्यान रखो और ध्यान से अपनी

गलतियां को सुधारने की कोशिश करो जैसे ही तुम अपने कार्य में परिवर्तन लेकर आओगे

वैसे ही आने वाले समय में अपने सुधार होता

चला जाएगा और तुम्हें स्वयं दिखाई देगा की

तुम्हारा समय परिवर्तन हो रहा है जो समस्या

[संगीत]

परिवर्तन के करण ही यह हुआ [संगीत]

विश्वास रखकर करना प्रारंभ करूंगी जीवन

में सुधार होगा स्वयं के हाथों से सदा खुश

रहो मेरे बच्चे मेरे बच्चे तुम्हारी पीड़ा का अर्थ निश्चित है जो कुछ भी तुमने देखा

है जो कुछ भी तुमने सुना है जो कुछ भी तुमने शाह है उन सभी का अंत आज निश्चित है

आज तुम्हारे अंदर के ज्ञान को तुम्हें बाहर लाना होगा इसलिए अपने सुख और आनंद की

प्रताप के लिए इस संदेश को अंत तक सुना यदि तुम अंत तक सनोज तो तुम्हें आज एक ऐसी

चीज सीखने को मिलेगी जो आज तक तुम्हें कभी नहीं मिली

आज तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली है क्योंकि आज मैं तुमसे बेहद प्रश्न हूं

पर फिर भी मैं तुम्हें जीवन की वह सच्चाई बताने जा रही हूं जिससे तुम्हें सुन ना

होगा और सुनकर अपने जीवन को सुधारना होगा इसलिए अपनी माता को ध्यानपूर्वक सुना ताकि

तुम्हें जीवन में कभी किसी के आगे झुकना ना पड़े मेरे बच्चे तुम जीवन में खुशियां

ढूंढना चाहते हो किंतु यह क्यों भूल जाते हो की खुशी तो तुम्हारे आसपास है और वह

तुम्हें तभी दिखे शक्ति है जब तुम छोटी-छोटी चीजों में भी खुशियां ढूंढोगे

जैसे एक बच्चा अपनी मां में साड़ी खुशी ढूंढ लेट है ऐसे ही तुम्हें भी

साड़ी खुशियां हर जगह मिल शक्ति हैं बस तुम महसूस करने की कोशिश

किंतु मेरे बच्चे तुम अक्सर इन चीजों में खुशी देखते हो जो चीज काफी बड़ी होते हैं

या फिर जो तुम्हारे मां की ख्वाहिश हैं किंतु जब तुम्हारे हर ख्वाहिश पुरी नहीं

होती तो तुम उदास हो जाते हो किंतु तुम यह

भूल जाते हो की यदि तुम खुशी को अपने मां की इच्छा के रूप में देखने की कोशिश करोगे

तो तुम कभी खुश नहीं हो सकते आज मैं जो तुम्हें खुशी देने जा रही हूं उसे खुशी को

महसूस करने के लिए तुम्हें स्वयं के अंदर कुछ बदलाव करने होंगे

मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को अपने जीवन में अपना लोग तो तुम्हारा जीवन

स्वर्ग से भी अच्छा हो जाएगा और उनके लिए केवल तुम्हें कुछ चीजों का त्याग करना

होगा जो मैं तुम्हें बताने जा रही हूं ऐसी चीज तुम्हारे जीवन को बर्बाद करती है यदि

तुम इन चीजों को छोड़ डॉग तो स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने लगेगा और जी खुशी

की तलाश कर रहे हो वह तुम्हें प्राप्त हो जाएगी अपने अंदर तीन चीजों का निर्माण करो वह

तीन चीज हैं जो तुम्हारे भीतर फाइल पाप का नस करेगी और यदि तुमने तीन चीजों को अपने

जीवन में अपना लिया तो मेरा यकीन करो तुम्हारा जीवन पाप से मुक्त हो जाएगा

पहले चीज स्वयं के प्रति विश्वास मेरे

बच्चे यदि तुम स्वयं के प्रति विश्वास जागृत कर लोग तो तुम्हारे मां में जितनी

भी शंकाएं हैं और जो भी डर है वह समाप्त हो जाएंगे

विश्वास एक ऐसी चीज है जो इंसान को बलवान करती है यदि तुम्हारे अंदर विश्वास है तो

तुम किसी भी चीज को हासिल कर सकते हो फिर चाहे कितनी भी कठिनाई क्यों ना हो दूसरी

चीज प्रेम है यदि तुम अपने अंदर प्रेम का बी बूज तो मेरा यकीन करो इस संसार में

किसी भी प्रकार का दुख तुम्हारे अंदर नहीं रहेगा क्योंकि जहां प्रेम होता है हर नफरत

स्वयं समाप्त हो जाति है [संगीत]

तुम जानवर को भी प्रेम डॉग तो वह भी तुम्हें कभी नुकसान नहीं देगा

बल्कि तुमसे भी वह उतना ही प्यार करेगा जितना तुम मुझे करोगे

तीसरा सबसे हम चीज है जो हर मनुष्य में पी

जाति है और उसका नाम क्रोध है मेरे बच्चे तुम्हें यहां पर क्रोध का त्याग करना है

यदि तुमने क्रोध का त्याग कर लिया तो तुम बड़ी से बड़ी व्यक्ति का सामना कर सकते हो

इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने अंदर धीरे-धीरे क्रोध का त्याग कर दो शांति का भाव लो

मेरे बच्चे विश्वास प्रेम और क्रोध का त्याग यह तीनों चीज जी दिन तुम्हारे अंदर

ए गए उसे दिन ऐसा कोई भी कार्य नहीं है जो तुम ना कर पाव स्वयं की शक्तियों को पहचान

के लिए तुम्हें अपने अंदर इन तीनों चीजों का निर्माण होगा मेरे बच्चे तुम्हारे मत मानना मैं

सदैव तुम्हारे साथ हूं मेरे बच्चे मेरे बच्चे मैं तुमसे इतना अधिक प्रेम करती हूं

की आज मैं तुम्हें तुम्हारी परेशानियां से बाहर निकालना के लिए आई हूं

तुम बार-बार मुझे याद करते हो और यह प्रार्थना मुझे करते हो की तुम्हारी मां

तुम्हारी साड़ी परेशानी को दूर करके एक ऐसा मार्ग बताएं जो तुम्हें तुम्हारी

परेशानियां का अंत करने में मदद करें संसार में हर कोई चाहता है की उसका जीवन

खुशियों से भारत रहे परंतु है यह भूल जाता है क्यों अपने जीवन को खुशियों से स्वयं

भर सकता है ऐसी कोई भी चीज नहीं है जो इंसान ना कर सके परंतु आज के समय में अपने

स्वार्थ में आकर लोग मेहनत करना भूल चुके हैं जिसके करण

आगे चलकर उनके जीवन में बहुत सी परेशानी खड़ी

सबसे पहले कार्य तुम्हारा यह है की तुम्हें सिर्फ अपने बड़े में सोचना है जब

तक तुम खुद को इस काबिल नहीं बना लेते की तुम अपने जीवन में कुछ कर लो तब तक तुम

साड़ी चीजों से दूर रहना होगा जो तुम्हें जीवन में लक्ष्य से मटका देती है फिर चाहे

वह तुम्हारे अंदर का डर हो या फिर किसी इंसान के प्रति तुम्हारी भावना मेरे

बच्चों सबसे पहले लक्ष्य तुम्हारा यह है की तुमने अपने जीवन में कुछ करना है और

उसके लिए तुम्हें उन चीजों से दूर होना होगा जो तुम्हारा ध्यान को अपने लक्ष्य से

दूर करने की कोशिश करती है दूसरा बड़ा कार्य तुम्हें यह करना है की

तुम उन चीजों को करना छोड़ दो जींस तुम्हें नुकसान पहुंचता है तो अक्सर वह

कार्य करते हो जो कार्य तुम्हारे लिए सही नहीं है जब तक तुम ऐसे कार्य अपने जीवन

में करते रहोगे जो तुम्हारे लिए सही नहीं है तब तक तुम्हें सफलता नहीं मिल शक्ति है

इसलिए तुम्हें स्वयं अपने जीवन को सही करना होगा

जीवन में एक बात हमेशा याद रखना की तुम्हारे गन या अब गन इस बात पर निर्भर

करते हैं की तुम अपने आसपास के लोगों से किस प्रकार के संबंध रखते हो यदि तुम्हारी

संगत बुरे लोगों से है तो तुम कभी अच्छे कार्य नहीं कर सकते और यदि तुम्हारी संगत

अच्छे लोगों से है तो तुम जीवन में किसी प्रकार का बड़ा कार्य नहीं करोगे यह

तुम्हारे ऊपर निर्भर करता है की तुम कैसे लोगों को चुनते हो यदि तुम मेरे बताए हुए

रास्ते पर चलोगे तो इस संसार में वह दिन दूर नहीं की तुम्हारे कदमों में कामयाबी

होगी मैं तुम्हारी माता तुम्हारे लिए जितनी चिंतित रहती हूं उतना शायद तुम अपने

लिए भी नहीं रहते हो इसलिए मेरे संदेश को अंत तक सुना इस संसार में जितने भी कामयाब

लोग हैं जो भी आज तक सफल हुए हैं उनमें एक समाज बात करती है और वह बात यह है की वह

अपने आप को सफल करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं दूसरों के प्रति निर्भर नहीं

रहते स्वयं के द्वारा बनाए गए मार्ग पर चलते हैं जो मार्ग में सफलता की और ले

जाता है और ऐसा इसलिए है क्योंकि जब तक तुम अपनी बुद्धि का स्वयं प्रयोग नहीं

करोगे तुम कुछ भी कार्य नहीं कर सकते दूसरों के भरोसे बैठकर अपने कीमती समय को

बर्बाद मत करो यह समय बार-बार नहीं आता जी व्यक्ति के पास ज्ञान का भंडार होता है वह

कभी भी घमंड नहीं करता क्योंकि ऐसा व्यक्ति समझ जाता है की वास्तविकता में

जीवन क्या है परंतु जिन लोगों के पास ज्ञान की कमी है वह सदा ही सोचते हैं की

हमसे बड़ा संसार में कोई नहीं उनकी अज्ञानता की पहले पहचान है

है इसलिए मेरे बच्चों तुम्हें भी अपने जीवन में सबसे पहले ज्ञान को इकट्ठा करना

है यदि तुम्हारे पास ज्ञान होगा तो तुम किसी भी कार्य को सरलता से कर सकते हो और

बिना ज्ञान के अभाव में तुम कार्य करना तो दूर अपने रहना भी उचित प्रकार से नहीं कर

सकते अब मैं तुम्हें जो बात बता रही हूं उसे ध्यान से सुना सबसे पहले तुम्हें अब

सभी कार्य को करना बैंड करना होगा और केवल उसे कार्य को चुनो जी कार्य में तुम्हें

रुचि है और इस कार्य में अपनी नई शुरुआत करो यदि तुम एक कार्य में महारत हासिल कर

लोग तुम्हें किसी के आगे झुकना की आवश्यकता नहीं है बल्कि तुम अपने खुद के

दम पर बड़े से बड़े कार्य को तुम आसानी से कर पाओगे मेरे बच्चे अब से तुम जो सोचोगे वह होगा

जैसा तुम चाहोगे वैसा वैसा होने लगेगा तुम्हारी उम्मीद से बढ़कर अब तुम्हें वह

मिलेगा

और अभी जब तुम संदेश को पढ़ रहे हो तो तुम्हारे चेहरे पर एक सुंदर सी मुस्कान तो

हनी ही चाहिए क्योंकि मुस्कान ही तुम्हारी पहचान है और तुम्हारी खूबसूरती भी तो क्या

तुम अब तैयार हो अपने किया को पलटने के लिए यदि तुम अपनी इच्छा के बड़े में पूरे

दिन सोचते रहते हो और ऐसा तुम्हारे मां में ख्याल आता है की जितनी बार अपनी इच्छा

के बड़े में सोच लूंगा तो इतनी जल्दी मुझे मेरी चीज मिल जाएगी या तो तुम ऐसा सोचते

हो की यदि पूरे दिन मेरे दिमाग में मेरी इच्छा घूमती रहेगी तो मैं इसे कैसे हासिल

कर पाऊंगा यदि यही सवाल तुम्हारे अंदर भी बार-बार ए रहा है तो आज सुबह कुछ ऐसा

मालूम होगा जो पहले कभी भी देखा ना होगा और ना ही सुना होगा और ऐसा करने से तुम

अपनी इच्छा बहुत जल्दी आकर्षित करोगे जो कम आपके इतने दिन पहले पूरे नहीं हुए पूरे

होने वाले हैं सबसे पहले तुम्हें समझना पड़ेगा तुम्हें अपनी ऊर्जा को संतुलन में

करके अपनी चीजों को आकर्षित करना है

यदि तुम इसके बड़े में बार-बार सोच रहे हो तो तुम्हें सबसे पहले एक बात को गांठ बंद

लेना है और वह बात हर चीजों पर लागू होती है चाहे अपने रिश्ते को अच्छा करना हो

चाहे पैसे को आकर्षित करना हो चाहे कुछ खास आकर्षित करना चाहते हो या अपने नौकरी

को आकर्षित करना चाहते हो तो मैं सबसे पहले इस बात को समझना है की वह चीज जिसे

तुम चाहते हो तो तुम्हें समझना है वही चीज तुम्हें बाहर ही हैं वह इंसान जिसे तुम

याद कर रहे हो अब तुम अकेले नहीं रहोगे मेरे बच्चों आज

मैं तुमसे कुछ खाने आई हूं जब भी ऐसा लगे की अब सब कुछ खत्म हो गया है अब कोई भी

विकल्प नहीं बच्चा है तो हमेशा एक बात याद रखना की यह वही पाल है जहां से तुम्हारी

जिंदगी नहीं मोड लेने वाली है यह सोचकर की शायद रास्ता और भी लंबा है मंजिल अभी और

दूरी पर है परंतु मैं जानती हूं की तुम अच्छे इंसान हो तुम्हें रोना आता है तो

तुम खुद सहारा देते हो और जब तुम बहुत ज्यादा खुश होते हो तब तुम अपने साथ अपनी

खुशियां मानते हो जब तुम तक जाते हो तो खुद को समझते हो और जब तुम्हारा मां दुखी

हो जाता है तब खुद को संतुलित करते हो यह तुम्हारे अंदर का ईश्वर है हर मनुष्य के

अंदर ईश्वर का पास होता है चाहे मनुष्य अच्छा कर्म करें चाहे कर्म करें उसके अंदर

की आत्मा ईश्वर से कहानी संपर्क में होती है मेरे बच्चे तुम्हारे अंदर भी ईश्वर है

और तुम खुद को अपना ही मित्र बना बैठे हो और यह एक बहुत बड़ा संकेत है एक बहुत बड़ी

पहचान है की तुम्हारे अपने जीवन में अपार सफलता मिलेगी मेरे बच्चों तुम इतने आगे

जाओगे की तुम स्वयं नहीं समझ पाओगे की चलते-चलते मैं अपने जीवन में कहां से कहां

पहुंच गया हूं कहां था और कहां ए गया आज मैं कितना खुश हूं तुम समझोगे की जब मेरा

जन्म हुआ था तो मेरे दोनों हाथ खाली थे मैं तुम्हें बताना चाहती हूं की मैं जानती

हूं की इस जीवन में तुमने कभी किसी के साथ बुरे कर्म नहीं किया तथा ना ही तुमने किसी

का दिल दुखाया परंतु यह करनी पिछले जनों के कर्मों की मिल रही है तुम कर्म करते हो

उसका फल एन केवल इस जन्म में बल्कि अपने अगले जन्म में भी तुम्हें भोगना पड़ता है

इसलिए आज का संदेश तुम्हारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है तैयार हो जो अपने जीवन की

किया पलट के लिए मेरे बच्चे तुम्हारा जीवन बदलने वाला है इसका मतलब यह नहीं है की

तुम्हें और कठिनाइयां का सामना करना पड़े तुम्हारे जीवन में अपार दुख होने के करण

बहुत तक चुके हो और बहुत ज्यादा खुद को भीतर से कमजोर महसूस कर रहे हो इन कर्म से

अपने आत्मशक्ति से भी दूर हो गए हो जिसके चलते तुम्हारा मां पुरी तरह

कीटन में अच्छे और सच्चे इंसान हो क्योंकि जो इस वक्त मेरा संदेश अंत तक सुन पाया

अपने जीवन को पूर्ण रूप से बदलना चाहते हैं और तुम उन्हें में से एक हो मेरे

बच्चे मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है तुम्हारा दिन मंगलमय हो मेरे बच्चे मुझे

पता है की वर्तमान स्थिति से खुश नहीं हो तुम्हें लगता है की तुम्हारा जीवन दुर्लभ

है अपने भाग्य को कॉस्ट रहते हो तो मेरे बच्चे समझ लो यह सब तुम्हारे ही विचारों

का परिणाम है तुम में आत्मविश्वास की कमी है तुम्हारे विचारों में दोष है इसके लिए

कोई दूसरा दोषी नहीं बल्कि तुम खुद हो मेरे बच्चे अच्छे विचार ही तुम्हारे

जिंदगी को बेहतर बना सकते हैं और तुम हो की नकारात्मक विचार ही अपने मां में लेट

हो मेरे प्यार बच्चे तुम्हें ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए विचार जब शुद्ध रहेंगे

तो जीवन भी स्वक्ष और समृद्ध रहेगा आज मनुष्य जाति एक ही रोग से पीड़ित है यह

रोग है गरीबी यह गरीबी क्यों है इसका उत्तर यही है की मनुष्य को परमात्मा की

शक्ति पर भरोसा नहीं है अपने शक्ति में भी विश्वास नहीं है मेरे बच्चे तुम्हें उसे

परमपिता से पुत्र जैसा रिश्ता कायम करना होगा यदि तुम्हें विश्वास है की तुम्हें खाने

की कमी नहीं है तो तुम सब कुछ का सकते हो तुम्हें यह डर है की खाने को तो कुछ है ही

नहीं तब तुम भूखे रहते हो मेरे बच्चे अगर तुम्हें ऐसा ही सोचते हो की मुझे खाने को

नहीं बादल नहीं पाएगा तुम्हें अपनी शक्तियों पर

विश्वास करना होगा मैंने जो तुम्हें अपनी शक्तियां दी है उसे तुम्हें इस्तेमाल करना

होगा और वह तभी संभव है जब तुम मुझमें पर और अपने आप पर विश्वास करोगे मेरे बच्चे

दृढ़ता पूर्वक यह मानो की जी वास्तु की सच

में तुम्हें आवश्यकता है वह तुम्हारे पास है जब तुम चाहोगे उसे प्राप्त कर लोग

प्राप्त करने के लिए मां वचन और कर्म से प्रियतन करना पड़ेगा

सफलताएं इस के कम चूमते हैं जिसे सफलताओं पर विश्वास होता है और जिसे अपनी योग्यता

पर भरोसा होता है मेरे बच्चे तुम्हें अपनी योग्यता को कम नहीं समझना चाहिए क्योंकि

मैं जानती हूं तुम्हारे योग्यता को मेरे बच्चे धन वे लोग काम पाते हैं जिन्हें

अपनी धन कमाने की योग्यता पर विश्वास होता है जो दरिद्रता से कभी ना डगमगाकर कम रखना

है उसके रहन-सहन और कर दल में

राहत उसकी साड़ी शक्तियां इस और मड जाति है जिधर उसकी मंजिल है संसार में ऐसे बहुत

से लोग हैं जो अपने गरीबी की स्थिति को कुछ स्वीकार करते हैं और इस में संतुष्टि

अनुभव करते हुए आगे बढ़ाने के प्रयास नहीं करते हैं ऐसे लोग चाहे कितना भी प्रयास करें सफल

नहीं हो सकते क्योंकि वह वर्तमान स्थिति को उचित मां बैठे हैं और उनकी आशाएं

मिट्टी गई निर्धनता के भाई से भी लोग निर्धनता के शिकार हुए देखें जा सकते हैं

मेरे बच्चे बहुत से बच्चों को ही यह पाठ

पढ़ा दिया जाता है वह बेचारे सर दिन केवल इस शब्द गरीबी को सुनते हैं वेजेस और भी

देखते हैं उन्हें गरीबी की प्रेरणा मिलती है यही सुनते हैं यही देखते हैं यही सोचते

हैं तो बड़े होने पर यही संस्कार उनकी सफलता के रास्ते में सबसे बड़ी बड़ा बंटी

है उनके आत्मविश्वास की जेड बचपन में ही खोखली हो चुके होती हैं

जो लोग निर्धनता से भाई खाता नहीं प्राप्त कर पाते या जो आशंकाओं और

भाई से ग्रस्त रहते हैं उनकी आर्थिक दशा को सुधार अपने की शक्ति भी नष्ट हो जाति

है वे अपने सर पर पहले से लड़े बोझ को और भी

भारी कर लेते हैं और भी समर्थ हो जाते हैं मेरे बच्चे अगर तुम्हारी परवरिश यदि और भी

भयानक हो गया

जो उसके मनोभाव होते हैं आप पर भी यही तो सिद्धांत लागू होता है जब कोई लड़का किसी

परीक्षा की तैयारी कर रहा होता है और उसे पास होने की आशा नहीं रहती तो यह निश्चित

है की वह पास नहीं हो सकता क्योंकि जी चीज की आशा होती है वही तो प्राप्त हो शक्ति

है कोई भी नदी अपने निकालने के स्थान से उसे पर्वत से ऊंची नहीं उठ शक्ति

जिसे निर्धनता की आशा है या जिसे निर्धनता की अपेक्षाएं हैं वह कुछ बन ही नहीं सकता

मेरे बच्चे तुम्हें अपने लक्ष्य की और देखना चाहिए अपने सौभाग्य की आशा करनी

चाहिए सुख समृद्धि और विजय पर तुम्हारा अधिकार है अपने अधिकार को प्राप्त करो

मेरे बच्चे तुम्हारा अधिकार तुमसे कोई नहीं छन सकता बस तुम खुद अपने आप को पीछे

की और ले जाते हो मेरे बच्चे कोई भी व्यक्ति निर्धन नहीं माना जा सकता जिसके

पास कोटिया नहीं बल्कि वह निर्धन है जिसके विचारों में

निर्धनता है और जो मां से दरिद्र है क्योंकि निर्धनता एक मानसिक रोग है और मां

की दरिद्रता से ही आर्थिक दरिद्रता उत्पन्न होती है जो लोग करोड़पति बने हैं

उनमें आत्मविश्वास था उनके मां में धनवान बने के लिए सपना के साथ-साथ वैसी आशाएं

थीं लगन थी आत्मविश्वास था तभी समृद्धि

कंजूस आदमी इतना सुख समृद्धि प्राप्त नहीं कर सकता जो विशाल

व्यक्ति प्राप्त कर सकता है क्योंकि सुख और वैभव का वास्तविक रूप वह नहीं जिसे लोग

मां बैठने विकास से आंतरिक ज्ञान से सच्चा सुख

प्राप्त हो सकता है मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश प्राप्त हुआ है तो

ठहरो जरा सुनो मेरी बात को क्योंकि तुम्हें मेरी यह बात जानना बहुत जरूरी है

इसलिए तुम मेरी बताई हुई बात को ध्यानपूर्वक सुना क्योंकि ध्यान से सुना

अत्यंत आवश्यक [संगीत]

है इसलिए तुमको यह समझना बहुत जरूरी है

पहले तुम मुझे एक बात का जवाब दो की यदि तुम्हारे साथ कोई ईमानदारी रखना है और

दूसरा वही तुम्हारे साथ कोई धोखा करता है तो तुमको यह बात पता

होने के बाद तुम किस इंसान का साथ देना चाहोगे तुम्हारा हृदय किसकी तरफ खींचेगा

इस प्रकार सही-सही के साथ राहत है और गलत व्यक्ति गलत व्यक्ति के संगति में

राहत [संगीत]

बन जाएगा या गलत जैसा सही उसकी संगति में

बन जाएगा लेकिन दो अलग प्रवृत्ति के इंसान

एक साथ नहीं र सकते क्योंकि उनको फल भी अलग-अलग प्राप्त होते हैं इसलिए

सबसे पहले कार्य तो तुम यह करो की यदि तुम इस समय गलत संगति में हो तो

तुरंत ही संगति छोड़ दो और यदि तुम खुद पर विचार करके देखो तुम कोई गलत कार्य कर रहे

हो तो उसे बैंड कर दो इसके साथ ही आज से

कार्य करने प्रारंभ करो जिसमें से पहले सुबह सूर्य निकालने से पहले उठाना प्रारंभ

करें यदि तुम सूर्य को निकालने के पश्चात उठाते हो तो है आदत आज से छोड़ दो और सुबह

जल्दी उठकर तुम स्नान करो एकांत में बैठकर तुम किसी भी अपने इस्ट देवता का स्मरण

करते हुए अपने मां को

शक्ति मेरे बच्चे तुम्हारे लिए बहुत जरूरी है किसी भी कम को

करने के लिए [संगीत]

प्राप्त करने के लिए एकाग्र होना जरूरी है एकाग्र मां से शांति और सुख

का अनुभव होगा और अगर तुम्हारे हृदय में शांति उत्पन्न होगी

तो इसके साथ ही आपके हृदय में सकारात्मक

ऊर्जा भी विराजमान रहती है सकारात्मक ऊर्जा ही आपके जीवन की जो

प्रारंभ से लेकर संध्या कल तक [संगीत]

ऐसी शक्ति उत्पन्न करती है की आपके हाथों से सब

अच्छे कार्य होंगे [संगीत]

तरफ जाएगा इसके साथ ही तुमको यह बात कभी

नहीं भूलनी चाहिए जीवन में जब भी तुम्हारे समस्याएं उत्पन्न होती है तो तुम किसी ना किसी गलती

के करण के उन समस्याओं को उत्पन्न कर लेते हो या तो तुम्हारा कोई भी गलत कार्य की

वजह से या तुम ध्यान रखो की हो सकता है तुम्हारा कोई ऐसा कार्य जो किसी देवता को

रुष्ट कर रहा हो यदि तुम अनजाने में भी किसी का अपमान कर रहे हो मेरे बच्चे तो

उसका पाप ना तो तुम्हें कभी लगता है और ना

ही उसका दंड तुम्हें कभी भूदेवीटी ना पड़ता

है क्योंकि उसका पाप होता ही नहीं लेकिन

यदि तुम जानबूझकर किसी देवता का अपमान कर

रहे हो या जानबूझकर किसी देवता को रुष्ट कर रहे हो

तो उसकी गलती की सजा तुम्हें समस्या के रूप में प्राप्त होती है और यदि तुम्हारे

जीवन में ऐसा हो रहा है तो निश्चित ही तुम उसे पर ध्यान रखो और ध्यान से अपनी

गलतियां को सुधारने की कोशिश करो जैसे ही तुम अपने कार्य में परिवर्तन लेकर आओगे

वैसे ही आने वाले समय में अपने सुधार होता

चला जाएगा और तुम्हें स्वयं दिखाई देगा की

तुम्हारा समय परिवर्तन हो रहा है जो समस्या

[संगीत]

परिवर्तन के करण ही यह हुआ [संगीत]

विश्वास रखकर करना प्रारंभ करूंगी जीवन

में सुधार होगा स्वयं के हाथों से सदा खुश

रहो मेरे बच्चे मेरे बच्चे तुम्हें अगले दिन में निश्चित ही तुम्हें सफलता प्राप्त

होगी अब तो खुश हो जो मेरे बच्चे तुम्हारी जिंदगी अगले दोनों में चमत्कारी रूप से

परिवर्तन से भरने वाली है तुम्हारा यहां भड़काने का समय समाप्त होने का समय

प्रारंभ हो चुका है आज मैं तुम्हें बताने वाली हूं मेरे बच्चे तुम्हारी तकदीर को

केवल दिन में पलटने के लिए काफी है परंतु मेरी कहीं गई बटन पर विशेष ध्यान

देना और ध्यानपूर्वक सुना क्योंकि आदि अधूरी बात सुनकर तुम केवल आधा ही ज्ञान ले

पाओगे जो किसी कम का नहीं होगा मेरे बच्चे ध्यान दो तुम्हें खुशियां प्राप्त होने से

पहले कुछ तैयारी कर लेनी चाहिए क्योंकि जब तुम्हारा जीवन परिवर्तित हो तब तुम्हें

आने वाली खुशियों का स्वागत करना आवश्यक है मेरे बच्चे तुम जो मेरी इतनी पूजा पाठ

करते हो और जो मुझे प्रसाद चढ़ते हो उससे मैं बहुत ज्यादा प्रश्न हूं आज संध्या कल

में जब तुम मेरे समक्ष दीपक जलाओ इस समय तुम्हारे मां में सबसे पहले जो विचारधारा

आएगी उसको तुम अपने मां ही मां उसे विचारधारा विचारण करना है बार-बार उसे पर

अपने ध्यान को एकाग्र होकर लगाना होगा क्योंकि मां में आया हुआ विचार कोई साधारण

विचार नहीं ठीक ऐसी शुरुआत है जो आपको जीवन में किसी

शुभ कार्य का प्रारंभ होने जा रहा है इसलिए इसी विचार को आपको बार-बार मां ही

मां दोहराना है और अपने मां में इस बात को स्थापित करना है की तुम यह कार्य कर चुके

हो तुम्हें दिन में जब भी थोड़ा सा समय मिले तो मैं उसे विचार को याद करते रहना

है बार-बार तुम्हें इस मिनट करते रहना है की तुम उसे कार्य को कर चुके हो उसको

होते-होते साक्षात देखने की कोशिश करना है मेरे

बच्चे यह सब लगातार दिन तक करना होगा सोनी के कुछ समय पहले याद करना होगा और

जैन के पश्चात तुम्हें याद करना होगा लगातार तीन दिन ऐसा करने के पश्चात

तुम्हारे अंदर एक ऐसी अलौकिक शक्ति विद्यमान हो जाएगी तब वह कार्य को करने के

लिए पूरा ब्रह्मांड तुम्हारा साथ देगा क्योंकि तुम्हारी आकर्षण शक्ति इस कार्य

के लिए बाढ़ चुकी होगी और बढ़ते ही वह कार्य पूर्ण होने के लिए तुम्हारे सभी

मार्ग खुला जाएंगे और खुशियां तुम्हारे कम चूमेंग मेरे बच्चे इसमें जो भी तुम्हारे

मार्ग में बड़ा होगी वह मैं स्वयं आकर दूर करूंगी इस बात के लिए तुम निश्चित रहो

मेरी बटन का ध्यान रखना यह मत भूलो की तुम्हारा आगे का समय कैसा होगा यह तो नहीं

जानते हो इसलिए मैं तुम्हारे लिए क्या कर रही हूं तुम्हें इस बात पर चिंता करने की

कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि मैं तुमसे बहुत प्रेम करती हूं और तुमको इतनी

ऊंचाइयों पर पहुंचाऊंगी की तुम्हें भी पता नहीं होगा क्योंकि मेरे भक्ति जी बात को

अपने मां में बस लेट है मैं उसकी इच्छा को पूर्ण करने के लिए सृष्टि की हर चीजों में

विद्यमान होकर उनकी सहायता करती हूं मेरे बच्चे कुछ बच्चे ऐसे होंगे जींस यह

सब कार्य नहीं करेंगे और वह प्रश्न नहीं कर पाएंगे परंतु वही कुछ ऐसे बच्चे होंगे

जो मुझे प्रश्न कर लेंगे सच तो यह है की मैं अपने बच्चों से थोड़ी सी पूजा पाठ से

शीघ्र प्रश्न हो जाति हूं परंतु पूजा पाठ के साथ-साथ कुछ ऐसी कार्य

होते हैं जिससे मैं सदा प्रश्न रहती हूं और तुम्हारे बिना जान तुम्हारे भाग्य

परिवर्तन कर देती हूं क्योंकि तुम्हारे द्वारा किया गए कार्य मुझे बहुत ज्यादा

प्रश्न कर रहे अनुसार तुम्हारे जीवन में सही रूप से

कार्य हो जाते हैं जो की तुम्हारे द्वारा हो चुके हैं बाकी जो मेरे बच्चे हैं

जिन्होंने अब तक वह कार्य नहीं किया आज उनको यह बताना चाहती हूं की तुम भी उन

कार्य को यदि करना प्रारंभ करते हो तो मैं उनसे भी प्रश्न हो जाऊंगी और उसे उसकी

मंजिल तक पहुंच दूंगी और तुम्हें भी तुम्हारी मंजिल अवश्य मिलेगी मेरे बच्चे

सदा खुश रहो मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा करना

मेरे बच्चे मेरा संदेश प्राप्त होने का अर्थ मैं तुम्हें ऐसी बात बताने वाली हूं

जिसे जानना तुम्हारे लिए बहुत जरूरी है

यदि आज तुमने इस संदेश को नहीं सुना तो

तुम अपने हाथ से एक मौका गाव डॉग यही तो मैं खास बात

बताना चाहती हूं [संगीत]

उठा लेट है वही जीवन में सबसे बड़ी सफलता

हासिल करता है जैसे जोरदार बारिश होने के बाद जमीन

जितनी अधिक गली होती है वह नरम होने के पश्चात उनकी

खुदाई करने के बाद यदि बी बी दिए

[संगीत]

शक्ति उत्पन्न हो जाति है बारिश के पानी

से इसी प्रकार तुम्हें यह ध्यान रखना होगा की

जब भी तुम्हारे हाथों [संगीत] कोई मौका आता है तो तुम्हें

नहीं गवाना चाहिए जो सही समय होता है

[संगीत] वह अपनी जिंदगी में बहुत आगे चला जाता है

और मौके को गाव देता है तो है जिंदगी में उसे

मौके को फिर दोबारा हाथ से नहीं कर सकता मेरे बच्चे इस बात का ध्यान

रखना जी प्रकार घंटे में एक बार

सरस्वती तुम्हारी जुबान पर बैठी हैं उसे समय यदि तुम कुछ भी का देते

हो तो वह कार्य [संगीत] पूर्ण हो जाता है इस प्रकार मैं भी तरक्की

का एक मौका अवश्य आएगा [संगीत]

लेकिन तुमने उसे पहचान नहीं पाया होगा

पहचान कर भी तुम कई बार अनमोको और देखा कर देते हो

पहचान नहीं पाते इस मौके से ही तुम बहुत

ऊंचाइयों तक जा सकते हो और जान अनजाने में

[संगीत] मेरे बच्चे इस बात का विशेष ध्यान रखो की

यदि तुम लोगों की मदद करते हो और लोगों को

सही रास्ता दिखाई हो तो मेरी इस बात पर

पूर्ण विश्वास रखना मेरे बच्चे की जब भी तुम्हारे समक्ष मौका

[संगीत]

बल्कि उसे पर कम करोगे क्योंकि वह मौका तुम्हारे लिए भी

तुम्हारी सफलता की सीधी बन जाएगा और तुम

उसे पर कार्य करके सफलता को प्राप्त करोगे क्योंकि जी प्रकार प्रकृति का

नियम होता है जैसा जो जिसके लिए करता है

वैसा ही उसे प्राप्त होता है तो ऐसा मौका तुम्हारे

हाथ से जा नहीं सकता अच्छे से समझ लो की तुम्हें

मौके का फायदा तभी मिल पाएगा जब तुम तो जैसा करोगे यदि दूसरों की

सहायता करने से अपने आप को पीछे हटा लोग तो

तुम्हारे हाथ से भी वह मौका चला जाएगा इसलिए

आज तुम मेरी इस बात को ध्यानपूर्वक सुनकर समझ लो की यदि तुम्हारे समक्ष कोई ऐसा

मौका आता है और तुम्हें ऐसा प्रतीत होता है की शायद

इससे तुम्हारा भविष्य सुधार सकता है

तो तुम उसे पर कार्य करने से पीछे मत हटो ना ही अपने मां में नकारात्मक ऊर्जा को

उत्पन्न होने दो अपने अंदर का भाव

की पता नहीं इस पर कार्य पूर्ण होगा या नहीं होगा इस विश्वास

को उत्पन्न होने से पहले तुम उसे पर कार्य करना प्रारंभ कर दो

क्योंकि यदि वह कार्य

तुम्हारा पूर्ण हो गया तो तुम्हारा जीवन बहुत आगे चला

[संगीत]

नहीं इसलिए किसी भी सामने होते हुए मौके पर कम करने

से पहले तुम्हें ना तो कुछ गलत बटन को सोचना है

और ना ही सोचते सोचते अपने आप को कार्य करने से रोकना है

तुम्हारे हाथ भी कामयाबी आई है जब तुम कामयाबी

लगाते हुए यदि तुम आई हुई कामयाबी को

अपने हाथों से छोड़ डॉग तो तुम अपनी कामयाबी से बहुत दूर चले जाओगे

इस बात को याद रखना मेरे बच्चे बाकी सब मुझमें पर छोड़ दो मैं स्वयं

तुम्हारे साथ हूं मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा करना

जन्मदिन वाली मां की तरह मैं तुम्हारा ख्याल भी रखूंगी

सदा खुश रहो मेरे बच्चे [संगीत]

मेरे बच्चे तुम्हारी पीड़ा का निश्चित है

जो कुछ भी तुमने देखा है जो कुछ भी तुमने सुना है जो कुछ भी तुमने शाह है उन सभी का

अंत आज निश्चित है आज तुम्हारे अंदर के ज्ञान को तुम्हें बाहर लाना होगा इसलिए

अपने सुख और आनंद की प्रताप के लिए इस

संदेश को अंत तक सुना यदि तुम अंत तक सनोज

तो तुम्हें आज एक ऐसी चीज सीखने को मिलेगी जो आज तक तुम्हें कभी नहीं मिली आज

तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली है क्योंकि आज मैं तुमसे बेहद प्रश्न हूं पर

फिर मैं तुम्हें जीवन क्यों है सच्चाई बताने जा रही हूं जिसे तुम्हें सुन ना

होगा सुनकर अपने जीवन को सुधारना होगा इसलिए

अपनी माता को ध्यानपूर्वक सुना ताकि तुम्हें जीवन में कभी किसी के आगे झुकना

ना पड़े मेरे बच्चे तुम जीवन में खुशियां ढूंढना चाहते हो किंतु यह क्यों भूल जाते

हो की खुशी तो तुम्हारे आसपास है और वह तुम्हें तभी दिखे शक्ति है जब तुम

छोटी-छोटी चीजों में भी खुशियां ढूंढोगे जैसे एक बच्चा अपनी मां में

साड़ी खुशी ढूंढ लेट है ऐसे ही तुम्हें भी साड़ी खुशियां हर जगह मिल शक्ति हैं बस

तुम महसूस करने की कोशिश करो किंतु मेरे बच्चे तुम अक्सर इन चीजों में खुशी देखते

हो जो चीज काफी बड़ी होती है या फिर जो

तुम्हारे मां की ख्वाहिशें हैं किंतु जब तुम्हारी हर ख्वाहिश पुरी नहीं

तो तुम उदास हो जाते हो किंतु तुम यह भूल जाते हो की यदि तुम खुशी को अपने मां की

इच्छा के रूप में देखने की कोशिश करोगे तो तुम कभी खुश नहीं हो सकते आज मैं जो

तुम्हें खुशी देने जा रही हूं उसे खुशी को महसूस करने के लिए तुम्हें स्वयं के अंदर

कुछ बदलाव करने होंगे मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को अपने

जीवन में अपना लोग तो तुम्हारा जीवन स्वर्ग से भी अच्छा हो जाएगा और उनके लिए

केवल तुम्हें कुछ चीजों का त्याग करना होगा जो मैं तुम्हें बताने जा रही हूं ऐसी

चीज तुम्हारे जीवन को बर्बाद करती है

तो स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने लगेगा और जी खुशी की तलाश कर रहे हो वह तुम्हें

प्राप्त हो जाएगी अपने अंदर तीन चीजों का निर्माण करो वह

तीन चीज हैं जो तुम्हारे भीतर फाइल पाप का नस करेंगे और यदि तुमने तीन चीजों को अपने

जीवन में अपना लिया तो मेरा यकीन करो तुम्हारा जीवन पाप से मुक्त हो जाएगा

पहले चीज स्वयं के प्रति विश्वास मेरे

बच्चे यदि तुम स्वयं के प्रति विश्वास जागृत कर लोग तो तुम्हारे मां में जितनी

भी संकाय हैं और जो भी डर है वह समाप्त हो जाएंगे

विश्वास एक ऐसी चीज है जो इंसान को बलवान करती है यदि तुम्हारे अंदर विश्वास है तो

तुम किसी भी चीज को हासिल कर कर सकते हो फिर चाहे कितनी भी कठिनाई क्यों ना हो

दूसरी चीज प्रेम है यदि तुम अपने अंदर प्रेम का बी बूज तो मेरा यकीन करो इस

संसार में किसी भी प्रकार का दुख तुम्हारे अंदर नहीं रहेगा क्योंकि जहां प्रेम होता

है हर नफरत स्वयं समाप्त हो जाति है यदि

तुम भी जानते हो की प्रेम वी भाषा है जो जानवर को भी समझ में ए जाति है यदि तुम

जानवर को भी प्रेम डॉग तो वह भी तुम्हें कभी नुकसान नहीं देगा

बल्कि तुमसे भी वह उतना ही प्यार करेगा जितना तुम मुझे करोगे

तीसरा सबसे हम चीज यह है जो हर मनुष्य में

पी जाति है और उसका नाम क्रोध मेरे बच्चे तुम्हें यहां पर क्रोध का

त्याग करना है यदि तुमने क्रोध का त्याग कर लिया तो तुम बड़ी से बड़ी व्यक्ति का

सामना कर सकते हो इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने अंदर धीरे-धीरे क्रोध का त्याग कर दो

शांति का भाव लो मेरे बच्चे विश्वास प्रेम और क्रोध का त्याग यह तीनों चीज जी दिन

तुम्हारे अंदर ए गए उसे दिन ऐसा कोई भी कार्य नहीं है जो तुम ना कर पाव स्वयं के

शक्तियों को पहचान के लिए तुम्हें अपने अंदर इन तीनों चीजों का निर्माण करना होगा

मेरे बच्चे तुम हर मत मानना मैं सदैव तुम्हारे साथ हूं मेरे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *