22:22?️Maa Kalratri तुम्हारे उपर एक हमला होने वाला है समय बहुत कम बचा है अनदेखा करने कि गलती मत करना - Kabrau Mogal Dham

22:22?️Maa Kalratri तुम्हारे उपर एक हमला होने वाला है समय बहुत कम बचा है अनदेखा करने कि गलती मत करना

मेरे बच्चे तुम्हें यह जानना अत्यंत

आवश्यक है कि मैं किन चार लोगों पर दया

कभी नहीं करती क्योंकि मेरे बच्चे यदि उन

चार लोगों में से तुम भी सम्मिलित हो तो

खतरा तुम्हारे ऊपर भी

मडराल आज जो बता रही हूं उसे ध्यान से

सुनना यदि तुमने अंधे का किया तो मेरे

बच्चे तुम यह बहुत बड़ी भूल करोगे इसलिए

ध्यानपूर्वक सुनकर और उन गलतियों को कभी

मत करना वरना मेरे बच्चे मेरे क्रोध का

सामना तुम्हें करना पड़ सकता है इसलिए मैं

तुम्हें सतर्क कर देना चाहती हूं मेरे

बच्चे जिससे तुम यह गलती भूल कर भी ना करो

जिसमें से पहली गलती है जो बच्चे अपने

माता-पिता का अपमान करते हैं और क्रोध बस

उनसे गलत भाषा बोलते हुए उन्हें सदैव उनका

जब चाहे निरादर करते रहते हैं और उनकी कोई

भी बात नहीं मानते और उन्हें बुढ़ापे में

ठुकरा देते हैं ऐसे लोग लोगों को मैं

कदापि क्षमा नहीं करती दूसरी गलती जो भी

पुरुष महिला अथवा बीवी पर बिना बजा

अत्याचार करते हैं और उसे परेशान करते हैं

और जो महिलाएं अपने पति से पीड़ित रहती

हैं और जो महिलाएं अपने पुरुष को बेवजह

परेशान करती हैं उन पर अपनी जबरदस्ती

थोपते हैं और जबरदस्ती करके उनसे अपने

कार्य उनकी सामर्थ्य के विपरीत करवाती हैं

ऐसे लोगों को मैं कभी क्षमा नहीं करती

तीसरी गलती जिस व्यक्ति की जुबान पर सदैव

झूठ रखा रहता है और हर बात में वह झूठ

बोलता है जो दूसरों की चीजें हड़पने में

माहिर है जो खुद की परिश्रम पर भरोसा ना

करें बस धोखेबाजी से सब कुछ हासिल करना

चाहते हैं उसकी नियत में सदैव धोखा रहता

है और दूसरों के साथ धोखा करना ही उसका

मुख्य कार्य होता है चौथी गलती जो दूसरों

के कार्यों में रुकावट पैदा करते हैं और

किसी के बनते बनते कार्यों को बिगाड़ देते

हैं जो किसी का भला नहीं चाहते केवल अपने

ही स्वार्थ में लगे रहते हैं और अपने

कार्यों को पूण करना चाहते हैं और ऐसा

व्यक्ति किसी का अपना सगा नहीं होता हर

किसी तीसरे व्यक्ति के बीच में उसे टांग

अड़ा की आदत होती है किसी के खुशहाल जीवन

को देखकर उसके आंतरिक मन में जलन की भावना

उत्पन्न होती है और वह व्यक्ति दूसरे का

काम बिगाड़ने में बहुत ज्यादा माहिर होते

हैं वह एक मीठी छुरी बनकर दूसरों को

नुकसान पहुंचाता है ऐसे लोग पर मैं दया

नहीं रखती हूं और ना ही मेरी किसी भी

प्रकार की दया की भावना होती है क्योंकि

यह सभी कार्य जानबूझकर किए गए कार्य होते

हैं और जानबूझकर किए गए गलत कार्य वह माफी

के काबिल नहीं होते और ना ही दया के काबिल

होते हैं इसलिए मेरे बच्चे मैं संदेश के

द्वारा तुम्हें बताना चाहती हूं कि तुम

इनमें से कोई भी कार्य मत करना वरना मेरे

क्रोध का सामना तुम्हें करना ही पड़ेगा

यदि तुम मुझ में श्रद्धा और विश्वास रखते

हो तो तुम आज मेरी बताई हुई बातों का पालन

करना मेरे बच्चे मैं जानती हूं कि तुम ऐसा

कोई कार्य नहीं करोगे जिससे कि मुझे क्रोध

आए और मैं यह भी जानती हूं कि तुम मुझसे

बहुत प्रेम करते हो और मैं भी तुमसे बहुत

प्रेम करती हूं इसलिए मैं यह नहीं चाहती

कि तुम ऐसा कोई भी कार्य करो जिससे मुझे

दुख उत्पन्न हो मेरे बच्चे तुम बस अपने

कर्मों पर भरोसा रखो क्योंकि कर्म ही

तुम्हारी शक्ति है जो तुम्हारे हर कार्य

की पूर्ण करने में सहायक होती है मेरा

आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है मेरे अगले

संदेश की प्रतीक्षा करना मेरे बच्चे यह सब

परिवर्तन ही है जो प्रारंभ हो गया है मेरे

बच्चे समय आ गया है जब प्राकृतिक में बड़े

बदलाव दिखेंगे जब प्राकृतिक स्वयं इंसाफ

करेगी सभी के हृदय में भक्ति की आंधी

बहेगी जोर शोर से धर्म का डंका बजाया

जाएगा मेरे बच्चे यह तूफान सभी के चेतना

के स्तर को झिंझक रख देगा मुझसे कुछ भी

छुपा नहीं है यह जो आकांक्षाओं के बादल

छाए हुए हैं और यह जो तुम्हारे मन में

सवालों के उलझने हैं यह सभी अब हटने वाले

हैं मेरे बच्चे आध्यात्मिक मार्ग पर चलने

वाले सत्य के रथ पर सवार होने वाले वह

केवल मूल स्वरूप को अब पहचान पाएंगे मेरे

बच्चे तुम अपनी चेतना से अब सब कुछ

प्राप्त कर पाओगे अब तुम्हारे साथ यह सब

घटना घटित

[संगीत]

होंगी तब तुम भी भय मुक्त हो जाओगे

तुम्हारे मन के अंदर का भय भी लुत हो

जाएगा वह समय भी प्रारंभ हो रहा है जब तुम

स्वयं के भीतर उस प्रकाश को देख पाओगे जो

इससे पहले तुमने कभी नहीं देखा था यह

बदलाव बड़ी ही तेजी से

होगा परंतु उे एक चेतावनी समझना है और

इससे भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है

क्योंकि यह सत्य रूपी तूफान होगा किंतु यह

सभी निश्छल पवित्र आत्माओं के लिए चेतावनी

रूप है कि अब समय आ गया है तुम्हें

पूर्णतः जागने

का जिसके भीतर तनिक भी अध्यात्मिक की

ललिता छुपी हुई है वह इस उजागर में सत्य

के मार्ग को चुन लेंगे क्या तुम्हें कुछ

दिनों से अपने भीतर या अपने आसपास में कोई

बदलाव दिख रहे हो यदि हां तो आज का संदेश

तुम्हारे लिए ही

है जो इस समय में भी नहीं जागा हुआ वह कभी

भी नहीं जाग पाएगा मेरे बच्चे तुम जिन

चीजों को बहुत ही बड़ा मानकर बैठे हो वह

तो केवल तुम्हारी कल्पना मात्र से

तुम्हारे पास आ जाएगा मेरे बच्चे जब जब

अधर्म और अन्याय अपनी सीमा को पार कर जाता

है तब परम शक्ति स्वयं ही इंसाफ करती है

मेरे बच्चे अब जागो समय आ गया है तुम्हें

इस परिवर्तन के पहले ही खुद को अपनी चेतना

के स्तर से जोड़ लेना होगा क्योंकि यह

तुम्हारे लिए आवश्यक है तुम परमात्मा के

कार्यों में जल्द ही सहायक बनने वाले

हो केवल मेरी एक बात याद रखना कि बदलाव

प्रारंभ हो चुका है इसका यह मतलब नहीं है

कि यह कुछ ही समय बाद हो या एक दिन में या

एक घंटे में याद रखो कि यह बदलाव पूरी

सृष्टि के लिए है पूरी सृष्टि के अन्याय

के लिए है

जब बदलाव पूरी सृष्टि के लिए होता है तब

इसका असर कुछ ही समय में नहीं हो सकता है

धीरे-धीरे तुम्हें यह सब कुछ स्पष्ट होता

जाएगा आने वाले दिनों में तुम्हें वह सब

कुछ मिल जाएगा जो तुमने जाने कब से मांग

रहे

थे मेरे बच्चे धन समृद्धि मान सम्मान का

आशीर्वाद तुम्हें मिलेगा शिक्षा में सफलता

प्राप्त होगी किंतु मेरे बच्चे अब तुम्हें

अपना प्रयास भी बढ़ाना होगा अपने परिश्रम

को और बढ़ाओ क्योंकि अन्याय का समय ज्यादा

दूर नहीं

है जो भी बदलाव तुम्हें अपने आसपास या

अपने भीतर दिखाई दे रहे हैं उसे ध्यान से

देखो क्योंकि तुम्हें प्राकृतिक अपनी

सहायक बनाने वाली है क्योंकि अब कुछ बहुत

ही अच्छा होने वाला है अपनी आत्मा को अधिक

से अधिक सकारात्मक बना लो

मेरे बच्चे जो सत्य के मार्ग पर लंबे समय

से चल रहे हैं जो अपने माता-पिता का

सम्मान करते हैं अब उनको अपने लगाए गए

अच्छे कर्मों के बीज का फल अवश्य मिलेगा

क्योंकि आने वाले तीन माहा बड़े परिवर्तन

से गुजरने वाले

हैं तुम भाग्यशाली हो तुम अध्यात्मिक

जागृति की ओर चल रहे हो प्राकृतिक में

न्याय की तैयारी जोरो शोर से चल रही है जो

हुए थे वह आने वाले समय में धीरे-धीरे

करके बनने लग जाएंगे जो भी तुम्हें

तुम्हारे मार्ग से हटाना चाहेंगे वह स्वयं

ही तुमसे दूर हो

जाएंगे क्योंकि तुम अभी से आध्यात्मिक

मार्ग पर चल पड़े हो इसलिए अब तुम्हारे

साथ जो भी घटित होगा उसे तुम अभी से महसूस

कर पाओगे मेरे बच्चे किसी भी बदलाव का

परिणाम केवल एक व्यक्ति तक सीमित नहीं

होता वह पूरी सृष्टि के लिए होता

है तुम्हें केवल अपने मन की बात सुननी है

और अपना कदम आगे बढ़ाने हैं क्योंकि तुम

बहुत कुछ आगे सीखने वाले हो मेरे बच्चे अब

तुम रुकना नहीं अभी तुम्हें अपने जीवन का

मूल उद्देश्य पूरी तरह से ज्ञात नहीं हुआ

है मेरे बच्चे जब मैं तुम्हारे साथ हूं तो

तुम्हें परे न होने की आवश्यकता नहीं है

तुम्हारे सपनों में मैं तुम्हें कुछ विशेष

संकेत देने आ रही हूं मन में जो भी दुविधा

है वह अपने आप ही हल हो जाएगी मेरे बच्चे

बदलाव केवल अच्छा नहीं होता बुरा भी होता

है और बदला बुरा ही नहीं होता श्रेष्ठ और

बहुत ही अच्छा भी होता है यह तुम्हारी

मानसिकता पर निर्भर करता है कि तुम अपने

बारे में क्या सोचते हो और अपने भविष्य

में तुम क्या करना चाहते हो यदि तुम अच्छा

सोचते हो तो हर हाल में तुम्हारे साथ

अच्छा

होगा सामान्य सोचोगे तो सामान्य ही होगा

और यदि बुरा सोचोगे तो बुरा ही होगा

क्योंकि यह सृष्टि का नियम है और

ब्रह्मांड में एक शक्ति हर समय काम कर रही

होती है मेरे बच्चे तुम्हें यह शक्ति सुन

भी रही है और समझ भी रही

है और तुम्हारे ही मुंह से निकले हुए

वचनों को सिद्ध और पूर्ण भी कर रही है

इसलिए यदि तुम अपने जीवन को संवारना चाहते

हो तब तुम्हें अपने स्वभाव और अपनी वाणी

को संवारना होगा हमेशा ऐसे बनने की कोशिश

करो जैसा तुम भविष्य में बनना चाहते

हो तुम्हें ब्रह्मांड को यह बताना है कि

तुम बहुत ज्यादा खुश हो और तुम्हारे पास

सब कुछ है तुम्हारे पास किसी भी चीज की की

कोई कमी नहीं है तुम्हारे जीवन में

खुशियां ही खुशियां है तुम्हें अपने जीवन

में ऐसा एक बार सोच कर देखना

है मेरे बच्चे केवल सोचने मात्र से ही

तुम्हारा जीवन बदलने के लिए प्रारंभ हो

जाएगा यह जो लगातार तुम्हारे जुवान पर

शिकायतें जो है यह बिल्कुल खत्म हो जाएंगी

तुम्हारा दिन सच में बदलने

लगेंगे मैं किसी काम का नहीं हूं मेरा

भाग्य खराब है मेरा कुछ भी नहीं हो सकता

मुझसे यह नहीं हो सकता अब मेरे साथ सब

उल्टा हो रहा है मेरे साथ कभी कुछ अच्छा

नहीं होता इस तरह के शब्दों से तुम्हें

बचने का प्रयास करना

चाहिए क्योंकि यही सृष्टि का नियम है और

यहां एक पवित्र ऊर्जा है जिसकी शक्तियां

चारों ओर व्याप्त है हर वक्त तुम सबकी

सहायता करने के लिए केवल सकारात्मक भाव के

साथ अपने जीवन में आगे बढ़ो और फिर देखो

क्या चमत्कार होता है अपनी दुनिया तुम

स्वयं अपने हाथों से

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *