22:22????️मां काली????️आपके शत्रु चकरा गए हैं तंत्र मंत्र उल्टा आपके शत्रुओं को जला गया है - Kabrau Mogal Dham

22:22????️मां काली????️आपके शत्रु चकरा गए हैं तंत्र मंत्र उल्टा आपके शत्रुओं को जला गया है

मैं काली मां तुम्हें बहुत सी चीजें देने

के लिए आज तुम्हारे पास आई हूं मेरे बच्चे

मुझे अनदेखा मत करना क्योंकि मुझे अनदेखा

करना तुम्हारे जीवन की सबसे बड़ी भूल होगी

यदि तुम मुझसे प्रेम करते हो और यह चाहते

हो कि मैं सदा तुम्हारे साथ रहूं तो

तुम्हें आज मेरे द्वारा बताई गई सभी बातों

को को अपने जीवन में अपनाना होगा और मेरे

संदेश को अंत तक अवश्य सुनना होगा ताकि

तुम्हें मेरे द्वारा बताए गए मार्ग पर

चलकर शांति का अनुभव हो मैं तुम्हें एक

आशीर्वाद देती हूं यदि तुमने मेरे संदेश

को अंत तक सुन लिया तो तुम्हें अगले

घंटे में एक ऐसी खुशखबरी मिलेगी जो तुमने

पहले कभी नहीं सुनी होगी और जिसके सु ते

ही तुम्हारा पूरा जीवन बदल जाएगा किंतु

तुम्हें मेरा यह संदेश अंत तक सुनना होगा

क्योंकि यह तुम्हारी भलाई के लिए ही बना

है मेरे बच्चे तुम सदा मुझसे पूछते रहते

हो कि तुम्हारे जीवन में कब अच्छा होगा तो

आज वह समय आ गया है जब तुम्हारे जीवन में

सब कुछ अच्छा होने वाला है और वह केवल

तुम्हारे द्वारा किए गए कार्यों द्वारा ही

सफल हो पाया है मैंने अपनी सभी शक्तियां

तुम्हें दे दी हैं जिनका तुम अच्छे से

इस्तेमाल करके अपने जीवन में आगे बढ़ सकते

हो तो अपनी सूझबूझ धैर्य से आत्मविश्वास

के साथ कार्य को करते हुए आगे बढ़ते जाओ

तुम्हें सफलता अवश्य मिलेगी तुम अपने मन

में यह डर मत रखो कि क्या सही होगा क्या

गलत होगा बस अपने कार्य को घड़ निश्चय के

साथ अपनी ईमानदारी के साथ करते जाओ अगर

तुम चिंता करते रहोगे तो तुम्हारा कार्य

सही होगा या गलत इसी विचार में तुम जिंदगी

भर सोचते रह जाओगे तो तुम कोई भी कार्य

नहीं कर पाओगे इसी उलझन में अपना पूरा समय

खराब कर दोगे मेरे बच्चे समय धीरे-धीरे

आगे बढ़ रहा है और तुम्हें भी इस समय के

साथ आगे बढ़ते रहना होगा अगर तुम सही समय

आने का इंतजार करते रहोगे तो वह सही समय

कभी नहीं आ पाएगा तुम बहुत ज्यादा पीछे रह

जाओगे इसलिए अपने कार्य को करते जाओ सही

या गलत की चिंता मत करो यह भी याद रखना

कार्य करते समय उनमें काफी बार विघ्न भी आ

जाएंगे लेकिन तुम उस कार्य को बीच में ही

मत छोड़ देना निरंतर प्रयास करते हुए आगे

बढ़ते जाओ तुम्हें सफलता अवश्य मिलेगी

मेरे बच्चे समय के महत्व को समझो समय बहुत

बलवान है यह कभी किसी के लिए नहीं रुकता

है इसलिए मेरे बच्चे उठो आगे बढ़ो और समय

के महत्व को जानो जीवन में सभी समस्याओं

का हल निकाला जा सकता है इसलिए मेरे

बच्चों समस्या आने पर घबराना नहीं चाहिए

बल्कि उनका सामना करना चाहिए अगर आप उनका

सामना निडरता पूर्वक करेंगे तभी आप उसको

सुलझा सकते हो मेरे बच्चे तुम्हें एक ही

कार्य करना है मेरी भक्ति के साथ-साथ

तुम्हें हमेशा सबकी मदद करने के लिए तैयार

होना है और निस्वार्थ होकर सबकी मदद करनी

है वह सेवा किसी भी प्रकार की हो सकती है

वह चाहे धन से हो मन से हो या चाहे तन से

हो ताकि वह व्यक्ति तुम्हें दिल से दुआ दे

और तुम्हारे सारे बिगड़े काम बने मैं

चाहती हूं मेरे बच्चे कि तुम अपने हाथों

से ऐसे व्यक्ति को भोजन कराओ इसलिए अगर

तुम सबकी मदद करते हो तो तुम्हें दुआ

अवश्य ही मिलेगी जिसके पास धन की कमी है

या उसके पास सुख सुविधाओं की भी कमी है तो

तुम उसकी थोड़ी बहुत मदद जरूर करना

क्योंकि तुम्हारी थोड़ी सी मदद से उन

व्यक्तियों के जीवन में बहुत सारी खुशियां

आ जाएंगी मेरी भक्ति के साथ अपने द्वारा

थोड़ा बहुत गरीब लोगों की मदद जरूर करें

ताकि तुम्हें इस जन्म के साथ-साथ आगे आने

वाले जन्मों में भी अच्छा जीवन मिल सके

मेरे बच्चों अपनी प्रार्थना और कर्मों पर

विश्वास रखो क्योंकि तुम्हारे लिए भगवान

जी ने जो लिखा है वह तुम्हें निश्चित ही

मिलकर

रहेगा मेरे बच्चे यह धन माया सब कुछ यहीं

रह जाएगी तुम्हारे साथ जाएंगे तो तुम्हारे

कर्म इसलिए अपने जीवन में अच्छे कर्म करो

अच्छी वाणी बोलो लोगों की सहायता करो मेरे

बच्चे तुम्हें जीवन में कभी बीती हुई

बातों को नहीं सोचना चाहिए ना ही आने वाले

कल को लेकर चिंतित होना चाहिए यदि तुम

बीती हुई बातों को सोचते रहोगे तो सदा ही

उन बातों को लेकर चिंतित रहोगे इसलिए बीती

हुई सभी बातों को भुलाकर अपने जीवन की नई

शुरुआत करो और आने वाले कल के लिए नए

कार्यों को करना प्रारंभ करो मेरे बच्चे

याद रखना यदि तुम कल को लेकर सदैव चिंतित

रहोगे तो तुम्हारा आज भी खराब होता रहेगा

इसलिए सदा ही आज में जियो कल क्या होगा यह

किसे पता जो है आज में है तुम्हारा जीवन

आज ही तुम्हारे जीवन का निर्माण करेगा और

तुम्हारे भविष्य को उज्जवल बनाएगा तुम जो

कार्य करते हो यह जो भी कर्म करते हो वह

तुम्हारे जीवन में एक महत्त्वपूर्ण अभिनय

निभाता है इसलिए कार्य को करने से पहले और

कर्म को करने से पहले कई बार अवश्य सोच

लेना कि इस कार्य से तुम्हें क्या लाभ है

या इस कर्म से तुम्हें जीवन में कौन से फल

प्राप्त होंगे जीवन में प्राप्त होने वाले

सभी फल हमें हमारे कर्मों से ही प्राप्त

होते हैं इसलिए कहा गया है कर्म से बड़ा

कोई भी पुण्य का काम नहीं है यदि कर्म

अच्छे हैं तो वह तुम्हारे जीवन को स्वर्ग

से भी सुंदर बना देंगे और यदि कर्म बुरे

हैं तो वह तुम्हारे जीवन को नर्क से भी

गंदा कर देंगे अब यह निर्णय तुम्हारे

हाथों में है कि तुम्हें अपने जीवन को

स्वर्ग बनाना है या फिर नर्क बनाना है मैं

तो केवल तुम्हें मार्ग दिखा सकती हूं

किंतु उस मार्ग पर चलना तो तुम्हें ही है

इसलिए मेरे बच्चे अपनी माता के सभी बातों

को ध्यान में रखकर ही कोई भी कार्य करना

तुम्हारा यह जीवन मंगलमय और सुख से भर

जाएगा यदि तुम मेरी बातों को मानकर उन्हें

अपने जीवन में अपना लोगे तुम्हारी मां कभी

भी तुम्हें गलत दिशा में नहीं लेकर जाएगी

मेरी हर दिशा बस तुम्हारे उज्जवल भविष्य

की ओर तुम्हें लेकर जाएगी अब मैं अपने लोक

वापस जाना चाहती हूं किंतु यह याद रखना कि

जाने से पहले मैं तुम्हें यह अवश्य कहूंगी

कि यदि तुम मेरी बातों को समझकर उस पर काम

करना आज से ही शुरू कर दोगे तो वह दिन दूर

नहीं जब तुम्हारे जीवन में सारी खुशियां

और जीवन की शांति दोनों ही अपार रूप से

तुम्हें प्राप्त होंगी जो आज है बस उसी

में खुश रहना चाहिए मेरे बच्चे आज जो

ज्ञान मैंने तुम्हें दिया है उसे अपने

जीवन में अपनाना जीवन में अपने लक्ष्य पर

पहुंचो अपनी मीठी वाणी अपने व्यवहार से

सबका दिल जीत लो अब मैं जाना चाहती हूं

मेरे जाने से पहले तो तुम्ह एक बात बता

करर जा रही हूं कि यह जीवन तुम्हारा है और

तुम्हें अपने जीवन को सुख और खुशी में

व्यतीत करना है इसलिए मेरे बच्चों अपनी

मां की बताई हुई सारी बातों को जरूर

अपनाना सदा खुश रहो मेरे बच्चे तुम्हारा

कल्याण हो मेरे बच्चे आज मैं तुमसे थोड़ा

नाराज हूं मैंने तुमसे कई बार कहा है और

मैंने तुम्हें बहुत बार समझाया है परंतु

तुमको बात समझ में ही नहीं आ रही है मैं

तुम्हें बार-बार समझाती हूं पर तुम मेरी

बात पर ध्यान नहीं देते हो मेरे बच्चे

तुम्हें मेरा संदेश प्राप्त होना कोई

इत्तेफाक नहीं है बल्कि मैं तुम्हें उस

बात से अवगत कराना चाहती हूं जिस बात को

तुम्हें जानना बहुत जरूरी है मेरे बच्चे

एक बात को तुम समझ लो और तुम्हारी जो अभी

स्थिति है उसका जिम्मेदार सिर्फ तुम हो

क्योंकि मैं जो मार्ग बताती हूं उस पर तुम

चलते नहीं हो लेकिन आज जो मैं बातें बता

रही हूं वह भूलकर भी तुम अनसुना और अनदेखा

मत

करना मेरे बच्चे यदि जीवन में स्मृ नहीं

रखोगे तो तुम्हें जीवन में बहुत कष्ट

उठाने पड़ेंगे जो कि मैं हरगिज नहीं चाहती

हूं यह संदेश आज तुम्हें प्राप्त हुआ है

इसका तात्पर्य यह है कि यह संदेश तुम्हारे

लिए ही है मेरे बच्चे तुम सही दिशा में

चलो क्योंकि तुम जो यह गलतियां बार-बार

दोहरा रहे हो इसमें तुम्हारा बहुत बड़ा

नुकसान हो सकता है क्योंकि यह जो गलतियां

है वह तुम्हें तुम्हारे जीवन में उन्नति

करने से रोक रही

है मेरे बच्चे मेरी बातों को ध्यान से समझ

क्योंकि तुम्हारा जीवन मैं उन ऊंचाइयों पर

ले जाना चाहती हूं जहां तक संसार में हर

व्यक्ति की नजर देखकर आश्चर्य हो जाएगी

मेरे बच्चे तुम्हें इन बातों का विशेष

ध्यान रखना

है तुम्हें अपने जीवन के कार्य पर एक

निष्ठा के साथ ध्यान देना अति आवश्यक है

जो आज मैं तुम्हें बता रही हूं परंतु आगे

तुम्हें और ध्यान देने की आवश्यकता है जब

तुम अपने कार्य को करते हैं सही मार्ग पर

चलते

हैं तब मेरी शक्ति तुम्हारे अंदर विधमान

हो जाती है मेरे बच्चे अब पुरानी बातों को

भूलना होगा पुरानी बातों की उलझन में मत

रहो अब नई योजनाएं बनाने का समय है मेरे

बच्चे तुम अब तक भविष्य के बारे में सोचना

प्रारंभ नहीं कर रहे हो

मेरे बच्चे तुम उन्हीं पुरानी बातों में

लगे हुए हो इसलिए तुम्हें मार्ग नहीं

दिखाई दे रहा है जिस कार्य को पूण करने के

बारे में बार-बार सोचकर परेशान हो रहे हो

मेरे बच्चे तुम्हें ऐसा नहीं करना चाहिए

तुम वही हो जिसका हृदय मेरे हृदय से जुड़ा

हुआ है मेरे बच्चे तुम्हारे मन में जो

मेरे लिए प्रेम बसा है

वही प्रेम मुझे बाध्य करता जा रहा है और

मैं तुम्हारी ओर आकर्षित हो रही हूं मेरे

बच्चे अब तुम एक नए समय में प्रवेश कर

चुके

हो यह चक्र तुम्हें एक उन्नति की ओर ले

जाएगा इस मार्ग पर तुम्हें जो भी

परीक्षाएं मिलेंगी उससे तुम कुछ ना कुछ

सीखते जाओगे तुम्हें मेरी ओर से अधिक से

अधिक ऊर्जा दी जाएगी मैं तुम्हारे साथ हूं

बस एक बार अपना हाथ

बढ़ाओ तुम्हें मेरी उपस्थिति का दर्द

महसूस होगा मैं हर पल तुम्हारे साथ हूं तो

तुम्हें डरने की कोई आवश्यकता नहीं है बस

मेरी बातों को माना करो मैं हमेशा

तुम्हारे हित में ही सोचती हूं मेरे बच्चे

मुझे ज्ञात है कि तुम्हारे जीवन में कई

कष्ट है यह कष्ट बार-बार तुम्हारे जीवन

में आकर तुम्हें परेशान करते हैं तुम्हें

यह समझने की आवश्यकता है कि तुम्हारे जीवन

के अधिकतम कष्ट तुम्हारे वर्तमान के कारण

नहीं है तुम्हारे जीवन के अधिकतम कष्ट

तुम्हारी यादों और विचारों के कारण है

तुम्हें या तो तुम्हारे बीते हुए कल की

यादों ने परेशान कर रखा है या तो आने वाले

कल के विचारों ने यदि तुम यह समझ लो कि ना

तो बीता हुआ कल तुम पर कोई प्रभाव डाल

सकता है और ना ही आने वाला

कल तो तुम्हारी अधिकतम परेशानियों का अंत

हो जाएगा तुम्हारे प्रेम सौहत की यदि

संसार में किसी को भी सबसे अधिक आवश्यकता

है तो वह स्वयं तुम्हें है संसार में

तुम्हें बहुत कम ही व्यक्ति ऐसे मिलेंगे

जो तुमसे सच्चे मन से प्यार करते

हो और तुम्हारा ध्यान रखते हो तुम्हारे

अंदर जो भी प्रेम और हद की भावना है

तुम्हें उसका इस्तेमाल सबसे पहले स्वयं के

लिए करना चाहिए तुम्हें स्वयं में पूर्ण

बनने का प्रयास करना चाहिए संसार में सदा

सदैव तुम्हारी रक्षा के लिए कोई नहीं है

तुम्हें अपने जीवन के पथ पर अकेले ही आगे

बढ़ने की क्षमता रखनी चाहिए क्योंकि एक

तुम ही हो जो स्वयं का साथ जीवन भर दोगे

तुम्हें इस बात का स स्मरण रखना चाहिए कि

यदि तुम वर्तमान के अलावा किसी और समय की

बात को लेकर परेशान

रहोगे तो वह परेशानी एकदम व्यर्थ है यदि

तुम बीते हुए कल या आने वाले कल को लेकर

ही परेशान रहोगे तो तुम और किसी का नहीं

बल्कि स्वयं को हानि ही पहुंचाओ

ग मेरे बच्चे प्रसन्न जीवन का सबसे छोटा

मार्ग है समय से प्रेम करना यदि तुम स्वयं

से अटूट प्रेम करते हो तो तुम्हारे तो

तुम्हारे जीवन में चाहे कितनी भी

परेशानियां क्यों ना आए तुम्हारी खुशियों

का अंत कभी नहीं होगा मेरे बच्चे तुम्हारे

इरादे मजबूत होने चाहिए तुम्हारी

आकांक्षाएं आश्चर्यजनक रूप से पूर्ण होंगी

बर शर्ते कि तुम अपने मन में इसके लिए ऐसे

विचार स्थिर किए रहना होगा में और आत्मा

में तुम्हें सदा पवित्रता सुंदरता रखनी

होगी मेरे बच्चे सदा खुश रहो यही तुम्हारी

माता का आशीर्वाद है मेरे अगले संदेश की

प्रतीक्षा करना मैं फिर आऊंगी तुमसे मिलने

अपना ख्याल रखना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *