0:13 / 8:25 22:22 Maa kali ?️ तुम्हारी मुस्कुराहट बहुत अनमोल है?️ आज मेरे मुख से सच्चाई सुन लो।?️ - Kabrau Mogal Dham

0:13 / 8:25 22:22 Maa kali ?️ तुम्हारी मुस्कुराहट बहुत अनमोल है?️ आज मेरे मुख से सच्चाई सुन लो।?️

मेरे

बच्चे अपने जीवन के संघर्ष देखकर तुम

निराश हो रहे

हो तुम्हारे मन में उल्टे सीधे विचार आ

रहे

हैं तुम्हें अपनी बुद्धि अपनी शक्ति अपनी

मेहनत

पर संदेह हो रहा

है सकारात्मक चीजों में

भी तुम्हें नकारात्मकता नजर आ रही

है तुम बाहर से सबको बड़ा खुश दिखा रहे

हो परंतु तुम्हारे भीतर बहुत दुख भरा

है तुम्हें ऐसा लग रहा

है जैसे हर कोई तुम्हारा दुश्मन

है तुम्हारा बुरा चाहता

[संगीत]

है कोई भी तुम्हारा साथ नहीं दे रहा

है मेरे बच्चे मैं जानती हूं

तुम केवल प्रेम के भूखे

हो तुम्हें किसी से धन दौलत रुपया पैसा

नहीं

चाहिए तुम केवल अपनापन चाहते

[संगीत]

हो परंतु कोई तुम्हारी भावनाओं को समझ

नहीं

पाता इसलिए अब तुम्हें लगने लगा

है कि शायद तुम में ही कोई कमी

है इसलिए लोग तुम्हारे साथ विश्वास घात कर

रहे

हैं मेरे बच्चे तुम में कोई कमी नहीं

है कमी उनमें है जो तुम्हारे प्रेम को समझ

नहीं

पाते तुम में गुणों का भंडार

[संगीत]

है तुम्हारा मन इतना साफ

है कि आज तुम्हारी मां स्वयं तुम्हें

संभालने आई

है

मेरे बच्चे तुम क्यों उदास

हो जब मैं हूं तुम्हारे

साथ मैं जानती हूं तुमने अपने मन

में कितना कुछ दबा रखा

[संगीत]

है जो तुम किसी से नहीं

[संगीत]

कहते तुम कहना तो चाहते

हो परंतु तुम डरते

हो कि कहीं लोग तुम्हारी भावना का मजाक ना

बना

द मेरे बच्चे तुम्हें जो कहना है मुझसे

कहो अपना दर्द कभी किसी से मत

कहना क्योंकि तुम्हारे जज्बातों की कद्र

कोई नहीं

करेगा तुम जब भी किसी से

कहोगे तो तुम्हें कभी संतुष्टि नहीं

[संगीत]

मिलेगी तुम्हें ऐसा लगेगा सामने वाला

तुम्हारी बात समझ नहीं रहा

है और फिर तुम और उलज

जाओगे फिर कुछ समय बाद वही

[संगीत]

व्यक्ति तुम्हारी स्थिति का तुम्हारी

मजबूरी का मजाक उड़ाए

का मेरे बच्चे यह तुमने स्वयं अनुभव किया

है कि तुमने जब भी किसी को अपना समझकर

[संगीत]

उससे अपने दिल का हाल बता

[संगीत]

तो उसने तुम पर बहुत गंदे ताने कसे

हैं परंतु फिर भी तुम वही गलती करते

हो मेरे बच्चे मैं जानती

हूं तुम बहुत अकेले हो गए

हो तुम्हें भावनात्मक सहारा

चाहिए सहानुभूति

चाहिए लेकिन तुम्हारा यही बचपना

[संगीत]

तुम्हें बहुत तकलीफ दे रहा

है क्योंकि सत्य तो यह

है कि कोई किसी का नहीं

[संगीत]

होता और जो अपना है उससे तुमने कभी प्रेम

नहीं

किया तुम हमेशा अपनी खुशी दूसरों में

ढूंढते

हो दूसरों की नजर में ऊंचा उठना चाहते

हो

उनकी नजर में सम्मान पाना चाहते

हो मेरे बच्चे सम्मान पद और परिस्थिति का

होता

है धन संपत्ति का होता है रूप सौंदर्य का

होता

है और तुमने दूसरों को प्रभावित करने के

लिए अपना सब कुछ गमा

दिया सब कुछ बर्बाद कर

दिया मैंने तुम्हें सोने जैसा सौंदर्य

स्वस्थ शरीर और हीरे जैसी मुस्कान दी

है मैंने तुम्हें लाखों में नहीं करोड़ों

में एक बनाया है तुम्हें अपार शक्तियां दी

है परंतु तुमने अपने शरीर अपनी खुशियों का

ध्यान नहीं

रखा तुमने हर समय खुद से शिकायत

की यहां तक कि दूसरों के लिए तुम रोए

हो मेरे ब

ऐसा क्या है जिसे खोने से तुम इतना डरते

हो मेरी बात गांठ बांध

लो इस पूरे ब्रह्मांड में तुम्हारे

लिए तुमसे ज्यादा मूल्यवान कुछ भी नहीं

है अपनी शक्तियों को पहचानो अपने आप से

प्रेम

करो हर दिन कुछ समय अपने लिए

निकालो मेरे बच्चे एक ना एक दिन सब कुछ

कुछ नष्ट हो जाना है इस संसार में कुछ भी

ऐसा नहीं है जिसे तुम अपने साथ लेकर जा

सकते

हो इसलिए किसी वस्तु या इंसान से स्वयं को

मत

बांधो तुम क्या सोचते

हो तुम्हारी मां तुम्हारी पीड़ा नहीं

समझती तुम जो पाने के लिए तड़प रहे हो

मुझे सब पता

है और मैं स्वयं वह तुम्ह दान करना चाहती

हूं परंतु तुम खुद उससे दूर जा रहे

हो यदि तुम्हें सफलता चाहिए तो निरंतर

संघर्ष

करो यदि प्रेम चाहिए तो निस्वार्थ प्रेम

करो यदि साथ चाहिए तो उसे स्वतंत्र छोड़

दो तुम्हारी मां तुम्हें वचन देती

है यदि तुम मेरे बताए गए मार्ग पर चलोगे

तो मैं तुम्हें कभी निराश नहीं

करूंगी मैं तुम्हें संसार का हर सुख हर

खुशी प्रदान

करूंगी मेरे बच्चे तुम क्यों इतने अधीर

होते

हो तुम्हारी व्याकुलता देखकर मेरा भी मन

व्यथित होता

है मैं मां हूं

तुम्हारी अपने संतान का दुख माता के हृदय

को छन्नी कर देता

है परंतु मैं माता होने का उत्तरदायित्व

निभा रही

हूं तुम्हें एक सफल और सच्चा इंसान बनाना

है

मुझे मेरे बच्चे तुम बहुत छोटी चीज के

पीछे भाग रहे

हो मेरी योजना तुम्हारे लिए बहुत बड़ी

[संगीत]

है चिंता मत करो मैं तुम्हें हारने नहीं

दूंगी खुश रहो अपना ध्यान

रखो

कैसी भी परिस्थिति हो मुस्कुराते

रहो क्योंकि तुम्हारी मुस्कान बहुत कीमती

[संगीत]

है भरोसा रखो तुम्हारी माता तुम्हारे साथ

है सब मंगलमय

होगा तुम्हारा कल्याण

हो सच्चे मन से

कहो जय मां काली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *