🕉️Maa kali ka sandesh🕉️ तुम्हारे शत्रु का अंत गया है तुम्हारा चुप रहना तुम्हारे शत्रु को डरा रहा है - Kabrau Mogal Dham

🕉️Maa kali ka sandesh🕉️ तुम्हारे शत्रु का अंत गया है तुम्हारा चुप रहना तुम्हारे शत्रु को डरा रहा है

मेरे बच्चों आज तुम्हारी मां एक बार फिर
तुमसे बात करने आई है मेरी बातों को
ध्यानपूर्वक सुनना क्योंकि यह बातें
तुम्हारी जीवन को बदलने वाली है मेरे

बच्चे जब कोई चमत्कार होता है तब तुम
भगवान पर विश्वास करते हो किंतु तुम्हें
यह स्मरण रहना चाहिए कि भगवान सदा ही अपने
बच्चों के साथ होते हैं और उनका होना ही
एक चमत्कार

आज तुम्हारी मां तुम्हें आशीर्वाद देती
हूं कि तुम्हें धन ज्ञान बुद्धि यस और सभी
प्रकार के सुख प्राप्त हो लेकिन तुम्हें
यह सब तभी प्राप्त हो सकता है जब तुम अपनी

शक्ति को पहचान
लोगे मेरे बच्चे तुम क्या नहीं कर सकते हो
बस तुम्हें अपनी मां और अपनी शक्ति पर
विश्वास रखना होगा मैंने तुम्हारी उन सभी

का को देखा है जो तुमने दिन रात सहे हैं
लेकिन अब तुम्हारी मां तुम्हें इस प्रकार
से नहीं देख
सकती मेरे बच्चे अब तुम्हें तुम्हारे

नकारात्मक चीजों से बाहर निकलने का समय आ
गया है मैं आ गई अब तुम चिंता मत करो सब
ठीक हो
जाएगा मैं इसलिए तुम्हारे पास आई हूं ताकि

तुम्हें जीवन में वह सारी खुशियां मिले
जिनसे तुम आज तक वंचित थे और तुम्हें उन
सारी खुशियों को भोगने का अधिकार है मैं
तुम्हारी श्रद्धा भक्ति और ईमानदारी से

प्रसन्न हूं इसलिए मैं तुम्हें वह सभी
चीजें प्रदान कराना चाहती हूं जो तुम्हें
चाहिए वह तुम्हें तुम्हारी मां स्वयं
तुम्हें प्रदान

करूंगी मेरे बच्चे तुम चिंता मत करो
तुम्हारी मां अब तुम्हारे पास आ चुकी है
अब तुम्हें घबराने की आवश्यकता नहीं है
मुझ पर विश्वास
रखो मेरे पास तुम्हारे लिए बहुत सी

योजनाएं हैं जो तुम्हारी उज्जवल भविष्य के
लिए काम आएंगी और तुम्हारे भविष्य में आगे
चलकर जो तुम्हें ऊंचाइयों पर लेकर
जाएंगी मेरे बच्चे छोटी छोटी बातों पर

गुस्सा करना बंद करो यह केवल तुम्हारी
पवित्रता को नष्ट करेंगी तुम जानते हो कि
तुम उस प्रकार के नहीं हो जो केवल अपने
बारे में सोचे परंतु इन दुखों के कारण

तुम्हें बहुत अधिक गुस्सा आ रहा है उस
गुस्से पर काबू पाओ मेरे बच्चे भगवान की
तलाश करो जो तुम्हारे अंदर है यदि तुम
भगवान की तलाश करोगे तो तुम्हें स्वयं ही

शांति प्राप्त होगी क्योंकि शांति का
दूसरा अर्थ ही भगवान है भगवान हमेशा शांति
तथा विनम्रता पर विश्वास रखते हैं और
तुम्हें भी शांति तथा विनम्रता पर विश्वास

रखना
चाहिए मेरे बच्चे मैं तुम्हें आज आशीर्वाद
देती हूं कि तुम्हें तुम्हारी मंजिल में
सफलता मिलेगी और अपनी मनचाही जिंदगी जरूर
मिलेगी जिसके लिए तुम दिन रात मेहत करते

हो वह तुम्हें सब कुछ प्राप्त होगा मेरे
आशीर्वाद से तुम्हें वह सब प्राप्त होगा
जिसके बाद तुम इस संसार में किसी भी कार्य
को बड़ी आसानी से कर सकोगे तथा मेरे

आशीर्वाद की प्राप्ति के बाद ही तुम्हें
सुख समृद्धि अपने आप ही मिलती चली
जाएगी क्योंकि आशीर्वाद ही सर्वप्रथम वह
चीज है जो अगर मनुष्य के पास हो तो उसे

किसी चीज की कमी नहीं
रहती जितने भी इस संसार में बड़े व्यक्ति
रहे हैं और जो बड़े व्यक्ति हैं वह सब
मेरे आशीर्वाद के कारण ही बड़े हुए हैं

यदि उनके पास मेरा आशीर्वाद नहीं होता तो
वह धन को भी अर्जित नहीं कर पाते आशीर्वाद
ही ऐसी साधना है जो मनुष्य को हर तरह से
समृद्ध बनाती है मेरे बच्चे तुम केवल अपने

कामों पर ध्यान दो और मेरे चमत्कार के लिए
इंतजार करो मैं तुम्हें जीवन में इस
प्रकार के चमत्कार दिखाऊंगी कि तुम स्वयं
सोचोगे कि यह असंभव सा कार्य कैसे संभव हो

गया तुम मेरे प्यारे बच्चे हो और मैं
तुम्हें आशीर्वाद का वह भंडार दूंगी जिससे
तुम किसी मनुष्य के आगे नहीं झुको ग बल्कि
इस पूरे संसार को अपने आगे झुकाओगे इस

मतलबी संसार में तुम्हें अपने नाम को ऊंचा
करना है तथा अपने काम से उन लोगों की की
मदद करनी है जिन लोगों को तुम्हारी सहायता
की आवश्यकता है मेरे प्यारे बच्चे मेरा

रोज स्मरण करने से तुम्हें सकारात्मक और
आशीर्वाद जरूर
मिलेगा अपने दिमाग में पल रहे सारी चिताओं
को हटाओ चिंता से केवल तुम्हें दुख
प्राप्त होगा और दुख से तुम किसी भी

प्रकार के अच्छे कार्य को नहीं कर पाओगे
अब तुम्हारी मां तुम्हारे पास है तो
तुम्हें इन दुखों को सोचने की कोई जरूरत
नहीं है तुम जब भी अपने कार्य करने बैठते

हो कार्य करने से पहले मेरा ध्यान कर लेना
क्योंकि मेरे ध्यान करने से तुम्हें
सकारात्मक चीजें प्राप्त होंगी और मन को
शांति
मिलेगी मेरा आशीर्वाद तुम्हारे जीवन की

सारी बाधाओं को मिटा देगा तुम्हारे जीवन
के हर उस दुख को खत्म कर देगा जिस दुख के
कारण तुम ठीक प्रकार से ध्यान नहीं कर पा
रहे मैं तुम्हें आशीर्वाद देती हूं कि तुम

अपने पवित्र मन से मुझसे जो भी मांगोगे
मैं तुम्हें वह सारी चीजें प्रदान
करूंगी लेकिन तुम्हारी वह मांग सकारात्मक
होनी चाहिए मैं तुम्हें केवल वही वरदान

दूंगी जो तुम्हारे लिए उचित होगा तुम
मुझसे जिस प्रकार के वरदान मांगोगे
तुम्हें वह सब प्राप्त
होंगे लेकिन मैं तुम्हें फिर कह रही हूं

कि वह सकारात्मक वरदान होने चाहिए यदि उस
वरदान से किसी का बुरा होगा तो तुम्हें
ऐसे वरदान की प्राप्ति नहीं होगी तुम मेरे
सबसे प्यारे भक्त हो तुम्हें जीवन में

सबसे ज्यादा तरक्की मिले और तुम जिस कार्य
को भी करने के लिए अपने कदम बढ़ाओ उसमें
सफलता प्राप्त हो मेरा आशीर्वाद सदैव
तुम्हारे साथ रहेगा जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे तुम मेरे संदेश को
बार-बार अनदेखा कर रहे हो इसका अर्थ है कि
तुम मेरी बातों को अनदेखा कर रहे हो मेरी
बातों पर पूर्ण ध्यान नहीं दे रहे हो जो

मैं बता रही हूं उसे तुम सुन नहीं रहे
इसलिए मुझे बहुत दुख हो रहा है जिन बातों
को मैं ज्ञात कराना चाहती हूं उन बातों को
तु तुम कैसे ज्ञात कर पाओगे यदि तुम मेरे

संदेश को सुनोगे ही नहीं तो आगे के मार्ग
तुम्हें कैसे प्राप्त होंगे और आगे चलकर
तुम्हें और कठिनाइयों का सामना करना पड़
सकता है क्योंकि मेरे बच्चे जब घाव छोटा

होता है तभी तुम्हारे इलाज करने पर ठीक
होता है यदि वह घाव नासूर बन जाता है तो
उसका ठीक होना उतना ही मुश्किल होता है
मेरे बच्चे मैं तुमसे इतना प्रेम करती हूं

और मैं तुम्हें ऊंचाइयों पर देखना चाहती
हूं मैं नहीं चाहती हूं कि मेरे बच्चे को
कोई भी कष्ट हो तुम्हारे जीवन के कष्टों
को मैं अपने आंचल में समेट कर रख
लूंगी जब तक तुम्हारी मां तुम्हारी रक्षा

करने के लिए है तब तक तुम्हें चिंता करने
की आवश्यकता नहीं है जो तुम्हारा नुकसान
करने आएगा उसे स्वयं दंड
दूंगी मेरी बात को ध्यान रखो कि यदि बहुत
तेज बारिश हो रही है और तुम्हारे पास छता

है तो तुम निश्चित ही उस तेज बारिश में
भीगने से बच जाओगे यदि तुम्हारे पास छाता
ही नहीं है तो कैसे
बचोगे इसी प्रकार आने वाली मुसीबतों से

बचने के लिए तुम्हारे पास एक शक्ति जो
तुम्हें मेरे रूप में प्राप्त हो रही है
तुम्हे समस्याओं से बचाने में सहायक होगी
इसके साथ ही आप अपने अंतरात्मा की शक्ति

को उत्पन्न करो अंतर्ध्यान मन से मन को
एकाग्र करो और किसी एक कार्य पर
लगाओ जब तुम एकाग्र मन से किसी एक कार्य
को सोचोगे तो जो कार्य तुम्हारे मस्तिष्क

में उत्पन्न होगा उस कार्य को सोचते हुए
यदि तुम्हें यह पूर्ण विश्वास होने लगे कि
तुम उस कार्य को पूर्ण कर सकते हो अंदर से
उत्पन्न हुआ विश्वास ही तुम्हारे लिए मेरा
संकेत है कि तुम्हारा यही मार्ग है जो

तुम्हें तुम्हारी मंजिल तक
पहुंचाएगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम्हें
विश्वास तभी होगा जब तुम्हारी किस्मत में
यह कार्य संपूर्ण करने के लिए लिखा होगा
अन्यथा तुम्हें उस कार्य पर विश्वास ही

नहीं होगा और यह विश्वास भी तुम्हे मेरे द
दरा ही उत्पन्न होगा मेरा ही दिया हुआ
संकेत तुम्हें एक ध्यान के माध्यम से
पहुंचेगा कि तुम इस कार्य को करो इसलिए

दुनिया में किसी से पूछने की ज्यादा
आवश्यकता नहीं है तो तुम जब भी मेरे समक्ष
पूजा करने के लिए खड़े होते हो तब तुम
अपने मन में किसी भी कार्य के बारे में

पूछ सकते हो जो भी तुम्हारे मन में विचार
उत्पन्न होगा उस समय वही रास्ता होगा जीवन
में मार्ग बनते नहीं बनाने पड़ते हैं
तुम्हारे अंदर कुछ बढ़ाकर गुजरने की इच्छा

पैदा होते ही तुम्हारे लिए मैं हर बंद
रास्ता खोल देती हूं मेरे बच्चे साधारण
आंखों से तुम्हें भले ही दिखाई ना दे
लेकिन मैं तुम्हारे निकट ही हूं मेरी
शक्तियां तुम्हारा साथ देती

है एक बात को हमेशा याद रखना कि जब तुम
शक्तियों पर विश्वास करोगे तभी सभी
शक्तियां तुम्हारी सहायता करेंगी यदि तुम
अविश्वास करोगे तो कोई भी शक्ति तुम्हारे

निकट होकर भी तुम्हारी सहायता नहीं कर
पाएगी
क्योंकि हर चीज विश्वास से है यदि तुम
मानो तो मैं तुम्हारे लिए ईश्वर हूं ना
मानो तो एक पत्थर की
मूरत मेरे बच्चे जो तुम्हें धोखा दे रहे

हैं तुम्हारे अपने हैं और करीबी लोगों से
धोखा देने वालों से बचना बहुत मुश्किल
होता है परंतु तुम्हें तनिक भी चिंता करने
की आवश्यकता नहीं है क्योंकि तुम्हारी मां

तुम्हारे साथ है तो तुम्हें चिंता करने की
आवश्यकता नहीं है तुम्हारी रक्षा के
साथ-साथ आज मैं तुम्हें सावधान करने आई
हूं जिससे कि तुम उन लोगों से सावधान हो

जाओ और आगे चलकर उन व्यक्तियों की बातों
में आकर अपना भविष्य खराब ना करो क्योंकि
मेरे बच्चे वह तुम्हारा भविष्य खराब करना
चाहते हैं और ऐसा मेरे होते हुए नहीं हो

सकता इसलिए तुम ऐसे लोगों से सावधान हो
जाओ क्योंकि यदि तुम अनजान हो और कोई
व्यक्ति खिलवाड़ कर रहा है और तुम्हें
धोखा दे रहा है तो तुम्हें इस बात का

ज्ञात होना चाहिए जिससे कि तुम उससे बचने
में सफल हो पाओ और तुम्हारा जीवन बर्बाद
होने से बच जाएगा सफलता के रास्ते में कोई
रुकावट पैदा ना करें और कोशिश करते हुए

कार्य पूर्ण हो मेरे बच्चे एक बात का
ध्यान रखना कि बहते हुए पानी को यदि कोई
जबरदस्ती मोड़ने की कोशिश करता है तो तेज
बहता हुआ पानी कभी मुड़ता नहीं है क्योंकि

उसकी जो होती है वह बहुत तेज होती है उसी
तरह तुम अपनी गति को बनाओ कि यदि कोई उसको
मोड़ना भी चाहे तो मोड़ नहीं पाए मेरे
कहने का अर्थ यह है कि तुम्हारी सफलता के

मार्ग में यदि कोई आए तो वह तुम्हारे
सफलता के मार्ग से तुम्हें भटकना ना पाए
इस तरह तुम अपने आप को बनाओ और जो लोग
तुम्हें धोखा दे रहे हैं तुम्हारे बहुत

करीब है मुह पर मीठी मठी बातें करते हैं
लेकिन उनका असली मकसद सिर्फ सिर्फ तुम्हें
बर्बाद करना है वह तुम्हें आबाद होते हुए
नहीं देख सकते अब तुम्हें स्वयं पहचानना

होगा कि वह कौन है तुम्हारे रिश्तेदार भी
हो सकते हैं तुम्हारा कोई करीबी मित्र हो
सकता है कोई भी इंसान हो परंतु तुम्हें

सतर्क रहना है और किसी की बातों में आकर
अपने चुने हुए मार्ग को छोड़ना नहीं है
मैं स्वयं तुम्हें इतनी बुद्धि दूंगी कि
तुम उसे आराम से पहचान पाओगे तुम निश्चिंत

रहो तुम्हारी बुद्धि के अंदर वह बात स्वयम
ही आ
जाएंगी मैं तुम्हें यह पूर्ण विश्वास
दिलाती हूं कि इस मुसीबत से तुम्हें बचा
लूंगी तुम निश्चिंत रहो मेरा आशीर्वाद सदा

तुम्हारे साथ रहेगा जय मां काली हर हर
महादेव मेरे बच्चे यदि मेरा संदेश तुम्हें
प्राप्त हुआ है तो सिर्फ तुम आज जीवन का
एक ऐसा सत्य जानोगे जिसे जानकर तुम्हें
हैरानी होगी क्योंकि तुम्हारे मन में उठता

हर समय यह प्रश्न है कि मैं इतना पूजा पाठ
करता हूं फिर भी मेरा कार्य पूर्ण क्यों
नहीं हो रहा उसका उत्तर आज तुम्हें मिल
जाएगा क्योंकि हर बात के पीछे कारण होता

है कारण अच्छा हो या बुरा लेकिन होता जरूर
है यह बात सत्य है बस केवल तुम्हें वह
साधारण आंखों से ना तो वह कारण दिखाई देता
है ना ही तुम जानते हो कि आगे तुम्हारे
जीवन में क्या होने वाला है तुम केवल यह

देख सकते हो वर्तमान में चल रही बातों को
जान सकते हो जैसा समय तुम्हारे समक्ष उस
समय के बारे में तुम्हें ज्ञात होता है
लेकिन कुछ ऐसी बातें हैं जो तुम्हें जाना

बहुत जरूरी है क्योंकि जिसको संपूर्ण
ज्ञान हो जाता है वह ना तो परेशान होता है
किसी चीज को पाने के लिए और ना ही मन में
इन प्रश्नों को बार-बार सोचकर हैरान
परेशान होता है कि उसकी इच्छा पूर्ण क्यों

नहीं हो रही है मेरे बच्चे इस बात को
समझना जरूरी है कि यदि तुम ऐसा सोच रहे हो
कि तुम्हारी उन्नति नहीं हो रही तो तुम
गलत सोच रहे हो आज से पहले के समय को देखो

और आज के समय को देखो दोनों में तुलना
करोगे तो तुम्हें खुद ही ज्ञात हो जाएगा
कि तुम पहले से कितना उन्नति कर चुके हो

केवल फर्क इतना है कि तुम आज जो चाहते हो
उस चीज को आज समय में तुम्हें प्राप्त
नहीं है इसके साथ ही कभी-कभी तुम इतनी
बड़ी चीजों की आस कर लेते हो जो तुम्हारे

लिए बनी ही नहीं है क्योंकि जिस प्रकार एक
हाथ में पांच उंगलियां होने के बाद भी कोई
भी उंगली बराबर नहीं होती एक बड़ी होती है
दूसरी उंगली की तुलना में इसी प्रकार यह
जरूरी नहीं कि तुम जो सोच रहे हो वह
तुम्हें प्राप्त हो जरूरी यह है कि

तुम्हारे जीवन में कुछ अच्छा हो तुम
परिश्रम कर रहे हो उसका फल तुम्हें मिले
और तुम्हारी उन्नति हो तुम जिस समय में हो
उस समय से अच्छे समय में आते चले जाओ कभी
कभी बड़ी उम्मीद भी पूरा होने पर सुख का

अनुभव करने से वंचित रह जाते हो और यही
तुम सबसे बड़ी गलती करते हो मेरी बात को
ध्यानपूर्वक सुनो आज जो परिश्रम कर रहे हो
ईमानदारी रख रहे हो उन सभी अच्छे कार्य को

कर रहे हो जो तुम्हारे जीवन में उन्नति का
हर रास्ता खोल देती है तो तुम्हें सब छोड़
देना चाहिए कि तुम्हारे जीवन में कब कहां

कैसे क्या होगा लेकिन बस तुम्हें इस बात
पर पूर्ण भरोसा रखना चाहिए कि जो होगा वह
अच्छा होगा क्योंकि जीवन में अच्छा होना
महत्व रखता है और इसके साथ ही यह भी कारण

है तुम्हारी सोची हुई मंजिल पर शायद
तुम्हारी परिश्रम पूरी नहीं हो रही है
किसी के जीवन में किसी भी इच्छा को पूर्ण
करने के लिए जिस पर कार्य करना जब तुम
प्रारंभ करते हो तो उस पर इतना परिश्रम

करो कि तुम्हें ऐसा आभास होने लगे कि इससे
ज्यादा मैं और परिश्रम नहीं कर सकता
क्योंकि जब तक लोहा इतना गर्म ना
कि वह पिघलने ना लगे तब तक तुम उस लोहे को

कोई भी आकार नहीं दे सकते हो इसलिए पहले
जिस प्रकार लोहे को इतना ही गर्म किया
जाता है कि पिघलने लगे उसी प्रकार खुद को
कर्म की अग्नि में इतना पिघला कि जैसा
चाहो वैसे साचे में ढाल सको अर्थात

तुम्हारी किस्मत परिवर्तित हो जाए मेरे
बच्चे तुम हृदय की आवाज से सुनना तुम्हारे
हृदय में वही आवाज उत्पन्न होगी क्योंकि
किसी भी कार्य को पूर्ण करने में उन
कार्यों की कमी तुम्हें उस मंजिल से दूर

ही रखती है ना तो मुझसे कुछ पूछने की
जरूरत है और ना ही तुम्हें अपने मन को
निराश करने की मेरे बच्चे तुम्हारा कार्य
पूरा होगा या नहीं कार्यों को निस्वार्थ

भाव से करो तब तुम्हें अवश्य फल प्राप्त
होगा अगर तुम मुझसे कुछ पूछना चाहो
तुम्हारे हृदय में उत्पन्न हुई आवाज ही
मेरी आवाज होगी तुम्हारे गलत कर्मों की

माफी तुम्हें मिल चुकी है मेरे बच्चे माफी
तुम्हें इसलिए मिली है क्योंकि तुमने कुछ
ऐसे कार्य किए हैं जो पीछे की गई गलतियों
से तुमने जो अपने खराब समय को अपनी और

आकर्षित कर लिया था खराब समय को परिवर्तन
किया था उसे इसी प्रकार तुमने कुछ ऐसे
कार्य किए हैं जिनके कारण से तुम्हारा
अच्छा समय फिर से प्रारंभ हो चुका है और

फिर से तुमने अपने कर्मों के द्वारा ही
समय को फिर परिवर्तित किया है आज मैं
तुम्हें कुछ ऐसी खास बात बताने वाली हूं
जिसे सुनना तुम्हारे लिए अत्यंत आवश्यक है
यह एक कड़वा सत्य

है कि हर एक इंसान से गलती होती है इसमें
कोई संदेह नहीं कि कोई गुंजाइश ही नहीं है
इंसान कोई ना कोई जानकार गलती कर ही देता
है लेकिन किसी भी व्यक्ति को इस बात को
कदापि नहीं भूलना चाहिए कि यदि कोई भी

इंसान जानबूझकर सिर्फ उसकी भागीदारी होता
है अनजाने में की गई गलतियों को मैं माफ
कर देती हूं उनकी उन गलतियों की दंड मैं
नहीं देती इसके साथ ही हमेशा कुछ अच्छे
कार्य भी जीवन में करते रहने

चाहिए जिससे कि यदि तुमसे कोई गलती हो भी
जाती है तो उसकी क्षमा याचना तुम्हें मिल
जाए कठोर दंड का सामना नहीं करना पड़ता और
उन्हीं कार्यों में से कुछ कार्य है जो

तुम्हें हमेशा करते रहने
चाहिए जैसे कि भाग्य के भरोसे ना बैठे
रहना क्योंकि भाग्य तुम्हें तभी कुछ देता
है जब तुम स्वयं प्राप्त करना चाहते हो
उसके लिए कभी भी कड़ा परिश्रम करना ना

भूलना यदि तुम्हारा मस्तिष्क कुछ प्राप्त
करना चाहता है तो उसके लिए कठोर तपस्या
करना आवश्यक है इसके लिए तुम्हें ऐसी
शक्ति आकर्षित करनी होगी तुम्हें अपने मन

पर लगाम लगाना सीखना होगा दूसरों की मदद
करना सीखो कुछ ऐसे काम करो जिनको करने के
काफी समय पश्चात तुम्हारे हृदय और
तुम्हारे मन को खुशी हो क्योंकि तुम इस

बात को स्मरण रखना किसी भी कार्य को करते
समय भले ही तुम्हें खुशी ना हो लेकिन काम
को करने के पश्चात जिस कार्य के करने से
हृदय और मन को खुशी हो वही अच्छा काम होता
है तुम गलत काम करोगे तो भी तुम्हारे हृदय

को जरूर अच्छा नहीं लगेगा इसके साथ ही
तुम्हें यह सोचना अत्यंत आवश्यक है जीवन
में तुम्हें सभी देवताओं की पूजा करना
इतना जरूरी नहीं बल्कि अपने कर्मों पर
ध्यान देना जरूरी है और उससे भी ज्यादा

जरूरी है जब समस्या उत्पन्न होती है जब
तुम उसे उत्पन्न होने के लिए उसे अपनी ओर
आकर्षित करते हो अर्थात कुछ ऐसे कर्म करते
हो जो प्राकृतिक के खिलाफ है और प्राकृतिक
ही तुम्हारी ओर समस्याओं को आकर्षित कर है
इस बात को समझना होगा कि तकदीर कुछ नहीं

है जब तुम स्वयं की बागडोर स्वयं के हाथ
में रखो और जिस तरह से जीवन को चाहो उस
तरह से तुम चला सकते हो यदि तुम अपनी
बागडोर तकदीर के हाथों में थमा कर बैठे

रहोगे तो आगे आने वाले समय में तुम्हें
कुछ भी प्राप्त नहीं होगा यदि तुम अपनी
बागडोर अपने हाथों में रखोगे तो स्वयं जिस
का निर्माण करना चाहो उस चीज का निर्माण
कर सकते हो तुम्हें अपने आप ही स्वत ही

प्राप्त हो जाएगी तुम्हारे अंदर ही वह
शक्ति है अपने आप को
पहचानो मेरे बच्चे मेरा आशीर्वाद स मेरे
बच्चे अब तुम्हें बिल्कुल भी सहने की
आवश्यकता नहीं है जिन्होंने तुम्हें कष्ट

पहुंचाया है मैं उसे सबक
सिखाऊंगा भोले भाले पन का बहुत फायदा
उठाया है तुम भले ही उनके कर्मों को पहचान
नहीं पा रहे और उनके षड्यंत्र को देख नहीं
पा रहे हो लेकिन मुझे सब पता है मैं उनके

कर्मों को देख रही हूं मैं काली सबके
कर्मों का हिसाब रखती हूं और उनके कर्मों
का हिसाब उन्हें निश्चित ही प्राप्त होगा
लेकिन उससे पहले मैं तुम्हें सावधान करना
चाहती हूं क्योंकि मैं नहीं चाहती हूं कि
मेरे बच्चे को कोई धोखा दे और उसके जीवन
को गलत मार्ग पर ले जाए इसलिए मेरे बच्चे
तुम उसके षड्यंत्र को समझने की कोशिश करो
यदि तुम्हें समझ में नहीं आ रहा है तो मैं
तुम्हें बताती हूं कि वह व्यक्ति जरूरत से
ज्यादा मीठी वाणी बोलने वाला है जब भी तुम
किसी नए कार्य को प्रारंभ करते हो तो वह
उसमें जरूर रुकावट पैदा करता है तुम्हें
दूसरी दिशा दिखाने की कोशिश करता है
क्योंकि वह नहीं चाहता कि तुम्हारा कोई भी
चुना हुआ कार्य बने और तुम उन ऊंचाइयों को
ना छो इसलिए वह तुम्हारे हर मार्ग में
रुकावट करता है इसके साथ ही वह तुम्हारी
हर बातों को उल्टी दिशा में ले
जाएगा इसलिए तुम्हें हमेशा याद रखना है
तुम्हारा जो मुझ पर इतना विश्वास है
तुम्हारे अच्छे कर्म करने से मैं तुम पर
मेहरबान हो जाती हूं और तुम्हारा साथी
बनकर तुम्हारी रक्षा करती हूं यदि तुम सही
समझते हो एक बात और ध्यान रखो वह तुम्हारे
दुखों से खुश होता है जिस किसी के चेहरे
पर मुस्कान आती है तो तुम समझ लेना कि वही
सबसे बड़ा दुश्मन है और तुम्हारा ऐसे
इंसान के नजदीक रहना सही नहीं
होगा मेरे बच्चे अपने आप को किसी से कमजोर
समझने की गलती मत करना क्योंकि तुम जो
इतने शक्तिशाली अंदर से हो तुम्हें अपनी
शक्ति को स्वयं पहचान कर किसी को अपनी
कमजोरी मत बनने देना क्योंकि संसार का
नियम है किसी भी इंसान को कोई दबाता तभी
है जब वह स्वयं को कमजोर समझना है इसके
साथ ही तुम्हें हर मंगलवार को हनुमान
चालीसा पढ़ना है और अगले 21 दिन तक हनुमान
चालीसा प्रतिदिन पढ़ना और उसके 20 दिन
पूरे होने के बाद हर मंगलवार को हनुमान
चालीसा पढ़ने से तुम्हारा आत्मबल और बल
बुद्धि बढ़ती है जैसे कि तुम्हारी देखने
की शक्ति इतनी तप हो जाएगी कि तुम किसी के
झल को आराम से पहचान पाओगे किसी की बातों
में तुम नहीं आओगे इसके साथ साही तुम्हें
प्रतिदिन सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए
क्योंकि ऐसे कार्य करने से तुम्हारे आसपास
के विद्यमान सृष्टि आपकी सहायता
करेगी क्योंकि मेरे बच्चे जहां तुम साधारण
आंखों से देख नहीं पाते वही मैं सृष्टि के
हर एक चीज में विराजमान हूं और किसी भी
व्यक्ति के रूप में आकर तुम्हारी सहायता
करूंगी तुम्हारे उलझे हुए मार को सुलझा
दूंगी और मिलने वाली परेशानियों से बचा
लूंगी मेरे बच्चे तुम अपने हृदय से इस बात
को निकाल दो कि जीवन में कठिनाइयां
तुम्हारी गलतियों की वजह से आती है इसके
साथ साथ मैं तुम्हें यह विश्वास दिलाती
हूं कि जो तुम्हारे साथ गलत कर रहा है मैं
उसके जीवन की काया पलट कर
दूंगी उसके किए गए कर्मों का दंड अवश्य
दूंगी तभी उसे अपनी गलतियों का एहसास होगा
कि उसने तुम्हें जो धोखा दिया है तुम्हारे
साथ जो गलत किया है उसका परिणाम उसे
भुगतना ही होगा छोटी गलतियों की माफी
तुम्हें मिलती रहेगी लेकिन कोई बड़ी गलती
करता है तो उसे दंड देना ही पड़ता है जिस
प्रकार की यदि छोटी मोटी चोट होती है तो
वह पट्टी से ही ठीक हो जाती है परंतु वह
कहीं बड़ा होता है तो उसका इलाज करवाना
पड़ता है आज से ही तुम खुशियों के नए
मार्ग में प्रवेश कर चुके हो मेरे बच्चे
तुम्हें बहुत जल्दी सफलता की प्राप्ति
होगी तुमने हमेशा से ही दूसरों के लिए
कार्य किया है दूसरों की खुशी के लिए अपनी
ही खुशी का बलिदान किया है सभी के समक्ष
मुस्कुराते हुए भी अंदर ही अंदर आंसुओं के
घूट पए हैं
मेरे बच्चे मुझसे कुछ नहीं छिपा है मैं
तुमसे जानना चाहती हूं तुम यह साहस कहां
से लाए इसके बाद भी तुम्हारे अपनों ने भी
कभी तुम्हारी अहमियत को नहीं
समझा जब जब तुमने सत्य और धर्म को चुना है
तब तब तुम्हारे अपनों से दूर होने लगा है
और अनेकों अनेक चुनौतियों का सामना तुम
करते चले गए कभी गिरे तो कभी संभले कभी
बहुत मुस्कुराया तो कभी मुस्कुराने के
पीछे आंसुओं को छुपा लिया लेकिन मेरे
बच्चे मुझसे तो कभी भी नहीं छुपा सकते हो
मुझे भी तुम्हारा दर्द महसूस होता है
तुम्हारे सीने में जो छुपा दर्द है और जो
प्रेम है वह दोनों ही मैं महसूस करती हूं
इसलिए आज मैं यह आशीर्वाद देना चाहती हूं
कि तुम सफल होगे तुम्हारी जीत निश्चित है
लाख चुनौतियां तुम्हारे समक्ष क्यों ना आ
खड़ी हो जाए लेकिन तुम उन सबको गिराते हुए
सफल होगे तुम्हें शीघ्र ही अत्यंत सुखद
समाचार मिलेगा परम सौभाग्य प्रारंभ हो
जाएगा मेरे बच्चे केवल एक बात स्मरण रखना
तुम्हारे साथ जो कुछ भी हुआ है वह आपके
यहां तक लाने के लिए बेहद आवश्यक था इसलिए
कभी खुद पर संदेह मत करना
मेरे बच्चे तुम्हें जिन लोगों ने पीड़ा दी
है उन लोगों को धन्यवाद कहो और उन्हें
हृदय से क्षमा कर दो तुम्हें तकलीफ देने
वाले को सजा अवश्य
मिलेगी किंतु यदि वे तुम्हें गिराते नहीं
तो आज तुम आकाश में विचरण करने के काबिल
कैसे होते
हैं मेरे बच्चे कई बार चुनौतियां पुण्य
आत्माओं के लिए वरदान सिद्ध हो जाती है
क्योंकि तुम भी पुण्य आत्माओं में से एक
हो तुम्हारे जीवन में सब कुछ अचानक बदलने
वाला है तुम्हारी बरसों की मनोकामनाएं
पूरी होने वाली है जिसे पूरा होने की
उम्मीद तुम छोड़ चुके थे बहुत जल्द सच
होने वाला है तुम्हारा जीवन इस आने वाले
बदलाव से हमेशा के लिए बदल
जाएगा मेरे बच्चे यह सब कुछ एका एक नहीं
हुआ है तुम स्वयं नहीं जानते कि तुम्हारी
प्रार्थना हों में कितनी शक्ति है
तुम्हारा प्रेम भाव कितना प्रभावशाली है
तुम्हारी इसी सच्चाई और प्रेम की शक्ति के
कारण तुम्हें यह प्राप्त होगा किंतु मेरे
बच्चे इस उपहार को प्राप्त करके तुम यहां
पर मत रुक जाना तुम्हें आगे जाना है लेकिन
अधिकतर बच्चे जैसे ही अपने उपहार को पाते
हैं वह उसी में खो जाते हैं
वह इस बात को भूल जाते हैं कि यह बस एक
जीत है जो केवल उन्हें प्रसन्नता प्रदान
करती है किंतु उन्हें यह कई पड़ाव पार
करने होते हैं और उस अंतिम पड़ाव पर
दूसरों को भी ले जाना है मेरे बच्चे आज
मैं तुम्हें आशीर्वाद रूपी एक ऊर्जा भेज
रही हूं जो तुम्हारी आंतरिक शक्तियों से
जोड़ने में तुम्हारी सहायता
करेगी क्या तुम मुझे एक वचन दोगे तुम इस
यात्रा में कभी रुकोगे नहीं और दूसरों को
भी प्रेरित कर उसे परम प्रकाश की ओर ले
जाओगे यदि तुम्हें मुझ पर विश्वास है तो
अपने उपहार को स्वीकार करो और साथ ही इस
संकल्प से अपनी भक्ति में वृद्धि करो मेरे
बच्चे मैंने तुम्हारा विजय तिलक तैयार कर
लिया है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ
है जय हो माता रानी हर हर
महादेव मेरे बच्चे आज का दिन बहुत ही शुभ
है आज से अन्याय की दौड़ मैं अपने हाथों
में लेने वाली हूं जो हमेशा सत्य के मार्ग
पर चलते हैं वह एक सकारात्मक ऊर्जा को
अनुभव कर रहे
होंगे मेरे बच्चे क्या तुम इस प्राकृतिक
में एक शुद्ध हवा एक शुद्ध अनुभव को महसूस
कर पा रहे
आज यह हवा ईश्वर का गुणगान कर रही है आज
से सब कुछ बदलने वाला है हर एक चीज में
बदलाव आएगा क्योंकि आज का दिन और आने वाला
दिन अत्यंत शुभ है मेरे बच्चे कुछ नया और
अद्भुत प्रारंभ हो रहा है तुम यह सोच लो
कि तुम्हारी विजय निश्चित है जिस क्षण की
प्रतीक्षा तुम कई महीनों से कर रहे हो अब
वह सम आरंभ होने वाला है आपके लिए शुभ योग
शुरू होने जा रहा है क्योंकि यह महीना और
आने वाले महीने तुम्हारे लिए अत्यंत शुभ
रहने वाले
हैं मेरे बच्चे अब तुम सभी चिंताओं से
बाहर निकल जाओ अब तुम्हें अपने विचारों पर
ध्यान रखना है मैं जानती हूं कि तुम बहुत
दुखी हो इसलिए तुम अपने विचारों पर काबू
नहीं पा रहे हो लेकिन तुम्हें अब करना ही
होगा तुम्हारे विचार तुम्हारे भविष्य
निर्धारित करने वाले
हैं इसलिए तुम जो सच में पाना चाहते हो
केवल तुम्हें सिर्फ वही विचार करना है
तुम्हें अपने विचारों की शक्ति को पहचानना
है क्योंकि तुम अपने जीवन को जैसा भी
बनाना चाहते हो वह सिर्फ तुम अपने विचार
से ही कर सकते हो मेरे बच्चे मेरी
शक्तियों को जानो और और पहचानो और
सकारात्मक ऊर्जा की शक्ति को पहचानो इन
शक्तियों से तुम अपने जीवन में कुछ भी
हासिल कर सकते हो जो तुम पाना चाहते हो
तुम वह पा सकते हो तुम भी कर सकते हो केवल
अपने आप को नकारात्मक ऊर्जा से दूर रखो
तुम बहुत ही भाग्यशाली हो और मैं तुम्हारे
साथ हूं अब जो मैं तुम्हें बताने जा रही
हूं उसे ध्यान पूर्वक समझो
कभी भी किसी भी अभिमानी व्यक्ति को समझाने
का प्रयास भूल से भी मत करना क्योंकि
ज्ञानी व्यक्ति को समझाना आसान होता है और
यदि कोई अज्ञानी है तो उसे भी समझाया जा
सकता है किंतु कोई व्यक्ति अभियान से भरा
हुआ है तो उसे समझाना बहुत मुश्किल होता
है मेरे बच्चे ऐसे व्यक्तियों का इलाज
केवल वक्त कर सकता है इसलिए ना तो कभी भी
अभिमानी बनो और ना ही कभी किसी अभिमानी
व्यक्तियों का साथ दो जो इंसान सरल होता
है संस्कारी होता है केवल वही व्यक्ति
अपने जीवन में आगे बढ़ता है और तरक्की भी
करता है और सफलता को भी प्राप्त करता है
तुम्हारा जीवन तुम्हारी ही सोच और व्यवहार
का परिणाम है इसलिए अभियान से दूर रहो और
स्वाभिमानी व्यक्ति हमेशा सहज होते हैं
क्योंकि उनका दृष्टिकोण हमेशा सरल एव
आशावादी होता है उन्हें अपनी कमिया एवं
खूबियां मालूम रहती
है जबकि अभिमानी हमेशा अपनी कमियों को
ढकने की कोशिश करता है और अपनी गलतियां
कभी स्वीकार नहीं करते
हैं अभिमानी लोगों के रिश्ते दर्द भरे
होते हैं उनके रिश्ते उनकी महत्वता घमन पर
टिके होते
हैं अभिमानी व्यक्ति सफलता प्राप्त करने
के लिए रिश्ते तोड़ सकते हैं जबकि
स्वाभिमानी व्यक्ति हमेशा दूसरों की
भावनाओं का ख्याल रखते हैं इनके रिश्ते
मजबूत एवं सुखमय होते
हैं इसलिए मेरे बच्चे कभी भी अभिमानी
व्यक्ति मत बनना अभिमानी व्यक्ति चाहता है
कि सिर्फ उसकी सुनी और मानी जाए यह दूसरों
की बातों या विचारों को महत्व नहीं देते
जबकि स्वाभिमानी व्यक्ति अपने विचारों को
दूसरों पर नहीं ठोकते हैं वह अपनी गलती
अपने पर लेते
हैं अभिमानी व्यक्ति हमेशा आंखें बचाकर
बात करते हैं एवं उनकी आंखों में दूसरों
को हमेशा नीचे दिखाने का भाव होता है जबकि
स्वाभिमानी व्यक्ति की आंखें सरल होती है
एवं उन आंखों में दूसरों के लिए सम्मान का
भाव होता है मेरे बच्चे अभिमानी के रास्ते
बड़े सूक्ष्म होते हैं कभी यह त्याग के
रास्ते आता है कभी विनम्रता के कभी भक्ति
के तो कभी स्वाभिमान के इसकी पहचान करने
का एक ही तरीका है जहां भी मैं का भाव उठे
तो समझ जाना कि अभियान उत्पन्न हो रहा है
मेरे
स्वाभिमान तुम्हारे लड़खड़ाते कदमों को
ऊर्जावान कर उन्हें दृढ़ता प्रदान करता है
कठिन परिस्थितियों और विपन्न वस्था में भी
स्वाभिमान तुम्हें डूबने नहीं देता लेकिन
वही अभिमान अज्ञान के अंधेरे में खेलता है
अभिमान ज्ञान घमंड और अपनों को बड़ा
ताकतवर समझकर झूठा बनता है व्यक्ति को
अपने ज्ञान का अभिमान तो होता है लेकिन
अपने अभिमान का ज्ञान नहीं होता
है मेरे बच्चे अपने स्वाभिमान को जांच रहो
कहीं यह अभिमान में तो नहीं बदल रहा है
मेरे बच्चे मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे
साथ है मेरा आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए
888 लिखकर मुझे अपनी स्वीकृति प्रदान करा
देना और अपनी माता का अगला संदेश प्राप्त
करने के लिए अपनी माता के इस संदेश को
लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब अवश्य कर
लेना ताकि आने वाला आप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *