?️ Maa Kali ?️बहुत जल्द तुम अपने नए घर में जाने वाले हो क्योंकि ?। - Kabrau Mogal Dham

?️ Maa Kali ?️बहुत जल्द तुम अपने नए घर में जाने वाले हो क्योंकि ?।

मेरे बच्चे मेरा संदेश मिलने का अर्थ है की मैथ की मैं तुम्हें बात बताने आई हूं तुमसे कोई है जो मिलना चाहता है

अभी के समय से पहले काफी समय पहले से तुम उसका इंतजार कर रहे थे लेकिन अब वह तुमसे खुद मिलना

चाहता है और उसका कुछ खास कारण है जिसकी वजह से वह तुम्हारे पास आकर मिलना चाहता है तुम उससे मिलने से पहले मेरी बातों को ध्यान पूर्वक अवश्य सुना और तुम्हें उससे मिलना है क्योंकि जिस प्रकार तुम किसी

अपने पसंद के व्यक्ति से मिलते हो तो अपने हृदय के अंदर को मिलता रखते हो क्योंकि तुम चाहते हो फिर वह तुमसे कभी रूठे ना इसी प्रकार तुमसे जो मिलने वाला है उससे मिलने से पहले तुम्हें इसी प्रकार कोमल हृदय

रखना होगा और अपनी गाड़ी मीठा और अच्छा बनाना होगा क्योंकि जिस प्रकार इंसान को मधुर वाणी पसंद है और उससे अच्छा स्वभाव पसंद है इसलिए इसी तरह जो तुमसे मिलने आने वाला है उसे भी मीठी वाणी और

कोमल ह्रदय ही पसंद है और वह कोई और नहीं है जो तुमसे मिलने आ रहे हैं बल्कि वह तो मेरे खुद भोलेनाथ परम पिता ईश्वर है जो तुमसे मिलने आ रहे हैं आने वाले शीघ्र ही समय में वह इस धरती पर एक महीने तक यही

विराजमान रहेंगे प्रसन्न मुर्दा में तुम्हें देखेंगे तुम्हारी बातों को सुनेंगे और तुम जो मांगोगे वह भी सुनेंगे लेकिन साथ साथ में तुमको उसे परीक्षा से गुजरना होगा जो वह तुम्हारी लेंगे अर्थात इस पृथ्वी पर तुम कितने सक्षम हो किसी

चीज को पानी में कितनी योग्यता है तुम्हारे अंदर वह तुम्हारे स्वभाव को देखकर समझेंगे जब वह तुम्हारे करीब प्रकृति में विद्यमान शक्ति के द्वारा आएंगे तब बस तुम्हें ध्यान रखना है कि तुम्हें किसी भी वजह से उनके साथ

 

कठोर वचन नहीं बोलना है और ना ही उनका अपमान करना है इसके लिए ज्यादा कुछ करने की आवश्यकता नहीं बल्कि बस तुम अपने स्वभाव को हमेशा इस तरह बनाकर रखो कि जब भी तुम किसी से बात करो तो

 

तुम्हारा ह्रदय के अंदर से बहुत ही कोमल वाणी निकले हुए शब्द और तुम्हारे मुख से निकले हुए शब्द सबको प्रिय लगे अर्थ यह है कि अगर तुम्हें ऐसा लगता है कि तुम किसी से मिलो तो वह तुमसे अच्छा बोली तुम्हें कितना

अच्छा लगेगा क्योंकि अच्छा बोलने में अच्छी भावना रखने में तुम्हारा कुछ जाता नहीं है मेरे बच्चे बल्कि तुम्हारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *