?️ मां काली ?️ बहुत बड़ी चाल चली गई ये राज सबके सामने आने वाला है उसका रचा षड़यंत्र सबके - Kabrau Mogal Dham

?️ मां काली ?️ बहुत बड़ी चाल चली गई ये राज सबके सामने आने वाला है उसका रचा षड़यंत्र सबके

मेरे बच्चे आज तुम्हें तुम्हारी माता ऐसा
संदेश देने आई है जिसे सुनकर तुम्हारा
जीवन खुशियों से भर जाएगा मेरे बच्चे जो
मेरी इस संदेश को लाइक करेगा और कमेंट में

जय हो माता रानी लिखेगा उसकी सारी
मनोकामनाएं और जो कुछ भी इच्छाएं होंगी
उसे स्वयं मैं पूर्ण करूंगी और मेरा
आशीर्वाद तुम पर और तुम्हारे परिवार पर

सदैव रहेगी मेरे बच्चे आज इस संदेश के मा
माम से मैं तुम्हें कुछ बताना चाहती हूं
जिसके विषय में तुम्हें कुछ भी झांत नहीं
है मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें तुम्हारे

शत्रुओं के बारे में कुछ खास बताना चाहती
हूं मेरे बच्चे तुम्हारे परिवार से जलने
वाले लोग बहुत है कुछ लोग तो बहुत पुराने
समय से तुम्हारे परिवार के पीछे पड़े हुए

हैं किंतु कुछ वर्षों से तुम्हारे शत्रुओं
की तादाद बर रही है तुमसे तो कुछ भी नहीं
छुपा है तुम जानते हो तुम्हारे शत्रुओं ने
तुम्हारे हर कार्य में बाधा डालने का

प्रयत्न किया है तुम्हें नीचा दिखाने के
लिए तुम्हारे जलने वालों ने ना जाने
क्या-क्या षड्यंत्र कर रहे हैं कभी
तुम्हारे बारे में लोगों से गलत बातें

कहते हैं तुम्हारी बुराई करते हैं मेरे
बच्चे तुम्हारे दुश्मनों ने हमेशा तुम्हें
और तुम्हारे परिवार को चोट पहुंचाने का
प्रयत्न किया है कभी झगड़े के माध्यम से

तो कभी भूमि विवाद तो कभी तुम्हारे बारे
में गलत अफवाह फैलाकर तुम्हारे मन को
तकलीफ देना चाहते हैं मेरे बच्चे मैं
जानती हूं तुम और तुम्हारे परिवार वाले

हमेशा ही दूसरों का भला करते आए हो मेरे
बच्चे इस पर विश्वास है तो हां लिखकर अपनी
माता के लिए सिर्फ एक लाइक कर दीजिए मेरे
बच्चे तुम किसी को अपना शत्रु नहीं बनाना

चाहते किंतु कुछ लोग तुमसे इतना ईश करते
हैं कि ना चाहते हुए भी तुम्हें उसका
सामना करना पड़ता है मेरे बच्चे तुम्हारा
शत्रु इतनी गंदी सोच का इंसान है कि वह

स्वयं ही तुम्हें खुश नहीं देखना चाहता
हमेशा अपनी नई नई चलों से तुम्हें परेशान
करता है और समाज में स्वयं को बहुत ही
अच्छा बताता है और समाज के लोग भी उसके

बात पर विश्वास करते हैं मेरे बच्चे तुम
बहुत अच्छे हो इसके बाद भी लोग तुम्हें ही
बुरा सम समते हैं किंतु तुमने हमेशा से ही
एक बहुत अच्छा कार्य किया है कि तुमने कभी

किसी की बात पर ध्यान ही नहीं दिया कौन
तुम्हें किस दृष्टि से देखता है कौन
तुम्हारे बारे में कैसा सोचता है तुम्हें
कोई फर्क नहीं पड़ता मेरे बच्चे बुरी

चीजों को बुरे लोगों को अनदेखा करने के
कारण ही तुम जीवन में बहुत आगे निकल गए हो
मेरे बच्चे क्या तुम यह बात जानते हो
कि तुम्हारा शत्रु अब तुम्हारे जीवन से

बहुत दूर जाने वाले हैं क्योंकि अब उन्हें
तुमसे डर लगने लगा है मेरे बच्चे तुम्हारे
शत्रुओं ने तुम्हें मानसिक रूप से परेशान
करने के लिए अनेकों गंदी चाल चली है किंतु

अब वह समझ गए हैं कि उनके किसी भी बात में
तुम्हें कोई रुचि नहीं है ना उनके किसी
षड्यंत्र से तुम्हें कोई मानसिक तनाव होता
है बल्कि तुम मौन रहते हो किसी की बात का

कोई उत्तर नहीं देते मेरे बच्चे तुम्हारे
शांत रहने की वजह से तुम्हारे शत्रुओं के
मन में भय जाग रहा है इसलिए वह धीरे-धीरे
तुमसे दूर जा रहे हैं मेरे बच्चे तुम्हारे

जीवन के हर क्षेत्र में बदलाव आ रहा है
आने वाले समय में धन के अनेकों भंडार
खुलेंगे तुम्हारे परिवार में सालों से कोई

अस्वस्थ है उसे भी स्वस्थ होने का
आशीर्वाद मिलेगा तुम्हारे परिवार की खोई
हुई खुशियां फिर से लौट आएंगी
घर में सुख शांति की स्थापना होगी मेरे

बच्चे तुम्हारे चेहरे का आकर्षण बढ़ेगा
अपने शरीर को लेकर तुम में आत्मविश्वास की
बहुत कमी थी किंतु अब तुम्हारा तन और मन
दोनों ही आत्मविश्वास से भरे रहेंगे मेरे

बच्चे तुम्हारे हजारों शत्रु होने के बाद
भी तुम कभी नहीं डरे तुमने सबके कर्मों का
हिसाब मुझ पर छोड़ दिया इसलिए अब तुम्हें
मेरा बत बड़ा न्याय दिखेगा तुम्हारे शत्रु

तुमसे माफी मांगेंगे तुमसे दूर चले जाएंगे
और तुम्हें कभी परेशान नहीं करेंगे मेरे
बच्चे तुमने बहुत दुख सहा है किंतु सत्य
का मार्ग नहीं छोड़ा इसलिए अब तुम्हारे

दुखों का अंत और अच्छे समय की शुरुआत हो
रही है मैं तुमसे बहुत खुश हूं मेरा
आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए 555 लिख
दीजिए और इस संदेश को लाइक करके चैनल को

सब्सक्राइब कर दीजिए मेरे बच्चे लंबे समय
से तुम जो करना चाह रहे थे अब उसका समय आ
गया है अब तुम्हारी मेहनत का फल तुम्हें
मिलेगा मेरे बच्चे तुमने बहुत मेहनत की है

खुद को बदलने के लिए किंतु इस समय तुम
बहुत उलझन में हो परेशान हो तुम्हें यह
समझ में नहीं आ रहा है कि तुम्हारे लिए
क्या सही है क्या गलत है अपनी क्षमता से

अधिक जिम्मेदारियां और काम को तुमने अपने
हाथ में ले लिया सबकी खुशी के लिए तुम
बहुत कुछ करना चाहते हो किंतु यह स्वप्न
तुम्हारा जैसे बिखर सा गया है तुम्हारा मन

10 कार्य पर भाग रहा है तुम यह सोच रहे हो
क्या मैं यह भी करूं और व भी करूं किंतु
कुछ भी नहीं कर पा रहे हो तुम इसलिए तुम
बहुत तनाव में हो मेरे बच्चे चिंता तनाव

परेशानी सब मेरी कदमों में रख दो क्योंकि
कुछ ही दिनों में सब कुछ बदलने वाला है
मेरे बच्चे इस संदेश के माध्यम से मैं
तुम्हें कुछ बताना चाहती हूं मेरे बच्चे

सफलता हमेशा से तुम्हारे जीवन में आने के
लिए तैयार है किंतु अपना चंचल मन के कारण
तुमने बहुत कुछ अच्छा खो दिया मेरे बच्चों
बचपन से ही तुम चंचल प्रवृति के हो

तुम्हारा मन कभी एक जगह टिकता ही नहीं एक
सा हजार सपने देखते हो तुम जब भी तुम कोई
कार्य करने का संकल्प लेते हो तो कुछ ही
दिन बाद तुम्हारा मन उस कार्य से हटकर

किसी अन्य कार्य पर भटकने लगता है इसलिए
आई हुई सफलता भी तुम्हारे हाथों से निकल
जाती है मेरे बच्चे तुम बहुत बुद्धिमान हो
तुम्हारा किसी भी कार्य को करने का तरीका

सराहना योग्य है तुम्हारे सोचने समझने की
क्षमता अन्य लोगों की तुलना में 10 गुना
अधिक है तुम जिस भी कार्य को करते हो उसे
बिना किसी त्रुटि के करते हो परंतु

तुम्हारे केवल एक ही गलती के कारण
तुम्हारी मेहनत पर पानी फिर जाता है मेरे
बच्चे तुम स्थिर होकर केवल एक ही कार्य पर
केंद्रित रहो तो है सफलता अवश्य ही मिली

मुझे यह भी यकीन है कि समय से पहले ही
तुम्हें अपार सफलता मिलेगी मेरे बच्चे यह
संदेश सुनने का अर्थ है कि इस बार फिर से
पुरानी गलती को मत दोहराना भाग्य तुम्हारे

लिए एक खुशियों भरा तोहफा ला रहा है एक
बड़ी सफलता तुम्हारे द्वार
मेरे बच्चे यह आखिरी अवसर है यदि इस बार
भी तुमने लापरवाही की तो तुम बहुत बड़ी

खुशी से वंचित रह जाओगे और भविष्य में
तुम्हें दर बदर की ठोकरें खानी पड़ेगी
मेरे बच्चे पिछले कुछ समय से तुम किसी एक
कार्य पर अपना ध्यान लगा रहे हो उसका
सकारात्मक बदलाव भी तुम्हें दिख रहा है

परंतु जिम्मेदारियों का बोझ तुम पर इतना
अधिक है कि तुम्हारा मन फिर से अशांत हो
रहा है
मेरे बच्चे मैं जानती हूं यह समय बहुत ही
कष्ट में बीत रहा है तुम्हें कहीं से भी

मासिक शांति नहीं मिल रही है तुम कुछ भी
करके इस स्थिति से बाहर निकलना चाहते हो
अपनों का दुख उनकी पीड़ा तुम सब देखा नहीं
जाता किंतु मेरे बच्चे यह वह समय जब

तुम्हें अपने आप पर काबू रखने की जरूरत है
मेरे बच्चे यह समय बहुत ही शुभ है अभी तक
तुमने हर विपत्ति का सामना किया है कुछ
समय और करो और एक ही दिशा में आगे बढ़ो

तुम्हारी मंजिल तुम्हारी प्रतीक्षा कर रही
है मेरे बच्चे घबराओ मत तुम बिल्कुल सही
दिशा में आगे बरा रहे हो किसी भी मोड पर
इस पर से मत भटकना मैं साथ हूं तुम्हारे

बहुत जल्द सफलता की शिखर पर तुम्हारे नाम
का झंडा लहराएगा मेरे बच्चे मैं तुमसे
कहना चाहती हूं कि बुरे दिन समाप्त हो रहे
हैं प्रेम प्रकाश सफलता से भरा एक नया

अध्याय जल्द ही शुरू हो रहा है क्या तुम
तैयार हो वह जल्द ही वह द्वार खुलेगा
जिसके लिए तुमने प्रार्थना की थी रातों
रात बड़ा चमत्कार हो जाएगा केवल मुझ पर

भरोसा रखो आज इस पहेली को बूझो यूं जमीन
पर बैठकर क्यों आसमान को देखते हो अब अपने
पंखों को खोलो क्योंकि जमाना केवल उड़ान
देखता है अपनी रचनात्मक से जुड़ कहीं ऐसी

जगह जाने का चयन करो जहां तुम्हें सुकून
मिलता हो कुछ ऐसा जहां तुम अपने आप से ही
जुड़ सको मेरे बच्चे जो तुम चाहते हो उसके
बेहद करीब हो परंतु यदि तुम ऐसे ही उदास

मन से कार्य करते रहोगे चिंताओं से और
तनाव से गिरे रहोगे तो सब कुछ दूर होता
चला जाएगा इसलिए एक पल को सब कुछ भूलकर
केवल स्वयं को याद रखो तुम्हें क्या चाहिए

तुम्हें क्या सबसे अच्छा लगता है मेरे
बच्चे तुमने ध्यान नहीं दिया परंतु सत्य
यही है कि तुम स्वयं को भूलते जा रहे हो त
करो कि तुम पहले कैसे थे और आज तुमने अपनी

कैसी दशा बना ली है इसलिए अब तुम्हें अपने
पंखों को खोलना है अब तुम्हें अपनी सबसे
ऊंची उड़ान भरनी है अब तुम्हें स्वयं से
जुड़ना होगा आज का यह संदेश अत्यंत विशेष

है यह बस तुम्हारे लिए ही है आज मैं
तुम्हें जीवन का सबसे बड़ा सत्य बताऊंगी
मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें बताने जा रही
हूं आज से ही तुम्हारा जीवन बदल सकता है

तुम्हारे जीवन की खुशियां कई गुना बढ़
सकती हैं मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में एक
ऐसा व्यक्ति है जो तुम्हें स्वयं से अधिक
महत्व देता है एक ऐसा व्यक्ति जो तुम्हें

निराश में भी आशा की छवि दिखाता है वह
तुमसे दूर हो अथवा पास कभी तुम्हें अकेले
होने का एहसास नहीं कराता मेरे बच्चे ऐसे
दुर्लभ लोग बहुत ही कम लोगों के भाग्य में

आते हैं कभी मित्र बनकर तो कभी जीवन साथी
बनके कभी प्रेम बनकर तो कभी सहपाठी बनकर
तुम्हारे जीवन में वह चाहे किसी भी रूप
में आया हो उसे अपना भाग्य समझो और आज उसे

हृदय से नमन करो जहां चारों तरफ स्वार्थ
में डूबे लोग अपने सगे संबंधियों को भी
नष्ट देने में पीछे नहीं हटते वही एक

व्यक्ति तुम्हारे जीवन को खुश से भरने के
लिए पीड़ा सहने को तैयार हो जाता है यह
तुम्हारे लिए ईश्वर द्वारा भेजा एक उपहार
स्वरूप ही है मेरे बच्चे सहजता से यह

उपहार तुम्हें मिल गया है इसलिए तुम इसका
मोल नहीं समझ रहे हो जीवन तो रफ्तार से
भाग ही रहा है समापन की ओर ना जाने कब
सांसों की डोर छूट जाएगी ना जाने कब

दोबारा वह तुम्हें मिले इसलिए आज ही वह
दिन है जब तुम उन्हें बताओगे कि तुम उन से
प्रेम करते हो तुम उनके लिए कितने आभारी
हो और वह तुम्हारे जीवन में एक सुंदर

उपहार है इसलिए तुम ही उन्हें नमन करो
यकीन करो एक छोटा सा प्रयास तुम्हें अनंत
प्रसन्नता प्रदान करेगा कई बार हम अपने मन
में जानते हैं कि वह व्यक्ति विशेष है और

उनका आभार भी मन में व्यक्त करते हैं
किंतु प्रकट नहीं करते आज वह दिन है जब
तुम प्रकट कर
उन्हें वह सब बताओ जो तुम महसूस करते हो

कल्पना करो तुम एक शिक्षक हो और तुम्हारी
कक्षा में एक छात्र है जो बड़े ही मन से
तुम्हारे लिए चित्र बनाता है पढ़ाई में
दिए सभी कार्य को कुशलता से करता है तो

क्या तुम उससे प्यार से सहारना नहीं दोगे
मेरे बच्चे जो सहारना करने के योग्य है
उसकी सहारना अवश्य करनी चाहिए यह उसके

मनोबल में वृद्धि करती है और और तुम्हारे
मन को भी बेहद प्रसन्नता प्रदान करती है
मेरे बच्चे अब देर किस बात की है उठो और
उन्हें यह बताओ वह कितने विशेष है और अपने

जीवन के नए अध्याय में प्रारंभ करो पहली
शुरुआत यहीं से करो मेरे बच्चे और अपने
पंखों को खोलो और खुले आसमान में उड़ जाओ
तुम्हें जो अच्छा लगता है वह करो अपने आप

को सजाओ और सवारू स्वयं से प्रेम करना भी
कभी नहीं भूलना मेरे बच्चे मैं जिससे अति
प्रसन्न होती हूं उसे यह तीन दुर्लभ चीजें
प्रदान करती हूं अधिकतर लोग मुझसे धन

प्रेम संतान रत्न आदि की कामना करते हैं
किंतु कुछ ऐसे खास लोग होते हैं जो मुझसे
सबसे परे की चीजों की कामना करते हैं और
अपनी ऐसी योग संतानों को मैं तीन अति
दुर्लभ चीज प्रदान करती हूं जो इस प्रकार

है पहली दुर्लभ चीज सच्ची भक्ति दूसरी
दुर्लभ चीज है व्यक्ति के मन में ऐसी
प्रेरणा लाना कि वह वैज्ञानिक आविष्कार
किसी पुस्तक की रचना धार्मिक वेदों की सरल

व्याख्या अथवा सामाजिक बदलाव ला सके तीसरे
दुर्लभ चीजें हैं ब्रह्मांड के अनंत रहस्य
को जानने की शक्ति यह तीन दुर्लभ चीजें
मैं अपनी परम योग संतान को ही प्रदान करती
हूं क्योंकि मैं यह कार्य देने से पहले

मैं अपने बच्चे का पूरा से परीक्षा लेती
हूं कलयुग में अधिकतर लोग भक्ति केवल अपनी
इच्छाओं की पूर्ति के लिए करते हैं किंतु
जिसमें सच्ची भक्ति अथवा निस्वार्थ भक्ति

प्रदान हो जाए वह इस ब्रह्मांड में सबसे
श्रेष्ठ होता है क्योंकि धन और समृद्धि
मात्र पूरे के समान है जिसे ईश्वर की
सच्ची भक्ति मिल गई वह यह समझ जाता है कि
वह ईश्वर की संतान है और वह पूरा

ब्रह्मांड ही है तो तो मात्र कंकर के कुछ
टुकड़ों के पीछे क्यों भागना यदि तुम्हें
इन तीनों में से कोई एक चीज मिल जाए तो
तुम्हारा जीवन धन्य और सफल हो जाएगा मेरे

बच्चे तुमने ध्यान नहीं दिया परंतु सत्य
यही है कि तुम स्वयं को भूलते जा रहे हो त
करो कि तुम पहले कैसे थे और आज तुमने अपनी
कैसी दशा बना ली है इसलिए अब तुम्हें अपने
पंखों को खोलना है अब तुम्हें अपनी सबसे
ऊंची उड़ान भरनी है अब तुम्हें स्वयं से
जुड़ना होगा आज का यह संदेश अत्यंत विशेष
है यह बस तुम्हारे लिए ही है आज मैं
तुम्हें जीवन का सबसे बड़ा सत्य बताऊंगी
मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें बताने जा रही
हूं आज से ही तुम्हारा जीवन बदल सकता है
तुम्हारे जीवन की खुशियां कई गुना बढ़
सकती हैं मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में एक
ऐसा व्यक्ति है जो तुम्हें स्वयं से अधिक
महत्व देता है एक ऐसा व्यक्ति जो तुम्हें
निराश में भी आशा की छवि दिखाता है वह
तुमसे दूर हो अथवा पास कभी तुम्हें अकेले
होने का एहसास नहीं कराता मेरे बच्चे ऐसे
दुर्लभ लोग बहुत ही कम लोगों के भाग्य में
आते हैं कभी मित्र बनकर तो कभी जीवन साथी
बनके कभी प्रेम बनकर तो कभी सहपाठी बनकर
तुम्हारे जीवन में वह चाहे किसी भी रूप
में आया हो उसे अपना भाग्य समझो और आज उसे
हृदय से नमन करो जहां चारों तरफ स्वार्थ
में डूबे लोग अपने सगे संबंधियों को भी
नष्ट देने में पीछे नहीं हटते वही एक
व्यक्ति तुम्हारे जीवन को खुशियों से भरने
के लिए पीड़ा सहने को तैयार हो जाता है यह
तुम्हारे लिए ईश्वर मेरे बच्चे तुम बहुत
अच्छे हो इसके बाद भी लोग तुम्हें ही बुरा
समझते हैं किंतु तुमने हमेशा से ही एक
बहुत अच्छा कार्य किया है कि तुमने कभी
किसी की बात पर ध्यान ही नहीं दिया कौन
तुम्हें किस दृष्टि से देखता है कौन
तुम्हारे बारे में कैसा सोचता है तुम्हें
कोई फर्क नहीं पड़ता मेरे बच्चे बुरी
चीजों को बुरे लोगों को अनदेखा करने के
कारण ही तुम जीवन में बहुत आगे निकल गए हो
मेरे बच्चे क्या तुम यह बात जानते हो कि
तुम्हारा शत्रु अब तुम्हारे जीवन से बहुत
दूर जाने वाले
क्योंकि अब उन्हें तुमसे डर लगने लगा है
मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रुओं ने तुम्हें
मानसिक रूप से परेशान करने के लिए अनेकों
गंदी चाल चली है किंतु अब वह समझ गए हैं
कि उनके किसी भी बात में तुम्हें कोई रुचि
नहीं है ना उनके किसी षड्यंत्र से तुम्हें
कोई मानसिक तनाव होता है बल्कि तुम मौन
रहते हो किसी की बात का कोई उत्तर नहीं
देते मेरे बच्चे तुम्हारे शांत रहने की
वजह से तुम्हारे शत्रुओं
[संगीत]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *