?️ मां काली ?️मैंने जो तुम्हारे बारे में जो खुलासा किया है उससे हर कोई परेशान हो गया है - Kabrau Mogal Dham

?️ मां काली ?️मैंने जो तुम्हारे बारे में जो खुलासा किया है उससे हर कोई परेशान हो गया है

मेरे बच्चे मैं तुम्हारी पूजा पाठ से बहुत
प्रसन्न हूं और आज मैं तुम्हें कुछ देने
आई हूं जो मैं तुम्हें इस संदेश में
विस्तार से बताने वाली हूं इसलिए इसे पूरा

देखें और अपनी पूजा पाठ को बेकार ना होने
दें आज देख लो मेरी चमत्कार मेरे बच्चे
अगर मैं तुम्हारे जीवन में अहमियत रखती
हूं तो सिर्फ अपनी माता के लिए एक लाइक

करके चैनल को सब्सक्राइब करना और कमेंट
में अपना नाम दर्ज करना जय हो माता रानी
मेरे बच्चे जिसने तुम्हें रुलाया वह बहुत
बढा बेहरूपिया है उसका असली चेहरा असली
रंग समाज में आज तक कोई उसे सही से नहीं

समझ पाया है कि उसका असली व्यक्तित्व कैसा
है असलियत में वह है कौन उसने तुम्हें
बहुत रुलाया बहुत झूठे इल्जाम लगाया है
तुम्हारे ऊपर तुम्हें समाज में पूरी तरह

से अकेला कर दिया तुम्हारी कोई गलती ना
होने के बावजूद भी तुम्हें लोगों से मुंह
छुपाकर जीना पड़ा जैसे ना जाने तुमने
कितना बड़ा गुनाह कर दिया हो तुम हमेशा

सबका ख्याल रखते हो मेरे बच्चे तुम बहुत
भावुक इंसान हो पर उसने हमेशा तुम्हारी
भावनाओं का फायदा उठाया तुम कितना भी भला
कर लो दूसरों का अंत में तुम्हें सिर्फ

धोखा मिलता है बदनामी मिलती है झूठे
इल्जाम लगाए जाते हैं तुम्हारे ऊपर
तुम्हें समाज में इतना अपमान इसीलिए सहन
कर ना पड़ा क्योंकि उस व्यक्ति ने

तुम्हारी बदनामी का चरवा चराया टोने टोटके
किए उसने तुम्हारी ऊर्जा को नीचे खींचने
के लिए और वह कुछ हद तक सफल इसलिए हो पाया
क्योंकि वह तुम्हारी कमजोरी जानता है मेरे
बच्चे कि तुम हमेशा दिल से सोचते हो तुम

वक्त के साथ सबको माफ कर देते हो तुम कभी
किसी और का दर्द नहीं देख सकते हो और
तुम्हारी वजह से किसी को तकलीफ होगी तुम
यह कभी नहीं नहीं चाहते हो जब पूरा समाज

तुम्हारे खिलाफ खड़ा हो गया तो धीरे-धीरे
तुम्हारी हिम्मत टूटने लगी और तुम अपनी
ताकत अपनी शक्तियों को भूल गए तुम उनके
रचे षड्यंत्र का शिकार बन गए मेरे बच्चे

तुम इतना रोते थे कि तुमने खाना पना छोड़
दिया तुम्हें नींद नहीं आती थी जिसकी वजह
से तुम्हारा स्वास्थ्य खराब रहने लगा तुम
इतने भावुक व्यक्ति हो कि तुम मुझसे भी बस

यही बोलकर रोते थे कि माता मेरी क्या गलती
है सब मेरे साथ इतना बुरा क्यों कर रहे
हैं मैंने तो हमेशा सबका अच्छा सोचा सबका
ख्याल रखा सबकी भावनाओं की कदर की तो आज
मेरे अपने ही मेरे खिलाफ क्यों खड़े हैं

कोई मेरी बातों पर यकीन क्यों नहीं कर रहा
है मुझसे ऐसी क्या गलती हो गई माता मैंने
तो हमेशा आपकी भक्ति की क्या यह फल मिल
रहा है मुझे आपकी भक्ति के बदले मेरी

भक्ति करने का तुम्हें क्या फल मिलेगा वो
तुम्हारी कल्पना से परे है मेरे बच्चे
क्या मैंने तुम्हें अतीत में कुछ नहीं
दिया है बहुत कुछ दिया है पर तुमने मेरी

दी हर चीज उस व्यक्ति पर नयो छावर कर दी
आंख बंद करके तुमने यकीन किया और मेरे लाख
समझाने के बाद भी हर बार दिल से निर्णय
लिया दिल से सोचा पर वह व्यक्ति हमेशा

दिमाग का खेल खेलता रहा तुम्हारे साथ वो
कभी भी तुम्हारे साथ रिश्तों में सच्चा था
ही नहीं उसके दिमाग में तो शुरू से ही
षड्यंत्र था तुम्हारे खिलाफ इसके पास जो

कुछ भी है वह सब कुछ मुझे अपने कब्जे में
चाहिए व सब कुछ मेरा होना चाहिए तो मैं उस
बात का भी कोई गम नहीं है लोगों ने तुमसे
जो कुछ भी छीना जितना भी छल किया तुम्हें

यह पता है कि वो तुम्हारी किस्मत का नहीं
लेकर गए हैं वो जो लेकर गए हैं शायद
तुम्हारी किस्मत में नहीं था अपनी किस्मत
समझकर तुम उसमें भी खुश हो तुम्हारे
शत्रुओं का एक झुंड बन गया है मेरे बच्चे

जिनके जीवन का मकसद यह है तुम्हारी बुराई
करना तो किस किस से बचोगे और कब तक बचोगे
तुम यह आज की कहानी नहीं है यह तो ना जाने
कितने वर्षों से हो रहा है तुम्हारे साथ

कि लोग तुम्हारे पीठ पीछे षड्यंत्र रचते
हैं वो लोग हमेशा तुम्हारे विरुद्ध सब कुछ
करते हैं और फिर मुंह पर तुमसे मीठी मठी
बातें करके तुम्हारे सगे बन जाते हैं मेरे

बच्चे क्या तुम्हें अपनी माता पर विश्वास
है तो इस संदेश को लाइक करके मेरा
भाग्यशाली अंक ए 11 लिखकर मुझे अपनी
स्वीकृति प्रदान करा देना मेरे बच्चे
तुम्हें उससे बचने की जरूरत नहीं है

तुम्हें अपने आप को मजबूत बनाने की जरूरत
है तुम्हें उनसे लड़ना सीखना है ऐसे लोगों
के साथ उनके जैसा बर्ताव करना सीखना है
तुम्हें कि अगली बार कोई तुम्हारी भावनाओं
का फायदा ना उठा सके ऐसे लोगों के साथ

तुम्हें भी दिमाग से निर्णय लेना सीखना
पड़ेगा और वह व्यक्ति अपने आप को बहुत
होशियार समझता है उसको यह लगता है कि वह
तुम्हें हमेशा मूर्ख बनाकर तुम्हारा फायदा

उठाता रहेगा पर उसका काल तो उसी दिन शुरू
हो गया था जिस दिन तुमने सब कुछ मेरे हाथ
में सौंप दिया था और मुझसे बोल दिया था कि
माता में कुछ नहीं देखूंगा अब मैं नहीं

रहूंगा अब आप जो करेंगी वह सब कुछ मंजूर
होगा मुझे सब कुछ हंसते हंसते स्वीकार कर
लूंगा मैं उसी दिन से उसकी बर्बादी शुरू
हो गई थी और इसलिए अब वह फिर आएगा

तुम्हारी तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाने कि
मुझे अपनी गलतियों का पछतावा है मैंने
तुम्हारे साथ बहुत बुरा किया एक बार मुझे
माफ कर दो हम बहुत अच्छे दोस्त थे वह बहुत

दुहाई देगा अच्छे वक्त की तुम्हें पर याद
रखना उसके मन का वह शत्रु कभी नहीं मरेगा
उसके मन में जो जलन है तुम्हारे लिए वह
कभी खत्म नहीं होगी तो मेरे सीख याद रखना

कि आप अपनी भावनाओं पर नियंत्रण करना सीख
लो और दिमाग से निर्णय लेना शुरू कर दो जो
जैसा है उसके साथ वैसा रहना सीखना पड़ेगा
तुम्हें तभी तुम ऐसे लोगों से लड पाओगे

क्योंकि तुम नकारात्मकता से भाग नहीं सकते
हो मेरे बच्चे आज यह लोग खत्म होंगे तो
जैसे-जैसे तुम्हें सफलता मिलेंगे तुम्हारे
और शत्रु बनेंगे इनसे भी बुरे लोग मिलेंगे
तुम्हें तब तुम क्या करोगे तुम अपनी सफलता

छोड़ डी डाच कर भाग जाओगे तो तुम्हें इसी
समाज में रहकर इसी गंदगी में रहकर कमल का
फूल बनना सीखना पड़ेगा अपनी खूबसूरती को
बचा कर रखना सीखना पड़ेगा तुम्हें अपनी

अंदर की शक्ति को पहचानना है कि तुम्हारी
भावनाएं ही तुम्हारी अगर सबसे बड़ी कमजोरी
है तो वह तुम्हारी सबसे बड़ी ताक है अगर
तुम चुप रहना जानते हो तुम दहाड़ना भी

जानते हो और यह बात तुम्हें अपने शत्रुओं
को सिखानी पड़ेगी तुम्हें उन लोगों को
उनकी असली औकात दिखानी पड़ेगी क्योंकि तुम
चुप थे इसलिए नहीं क्योंकि तुम मूर्ख
व्यक्ति थे उन्होंने समझा कि इसके पास तो

दिमाग ही नहीं है यह हमेशा दिल से निर्णय
लेता है तो यह बेवकूफ है तुम्हें उन लोगों
को यह दिखाना पड़ेगा कि तुम बेवकूफ नहीं
थे तुम्हें पहले दिन से उनके यंत्र के
बारे में पता था उनके जैसे तुम्हें छल

करना नहीं आता कपट्टी नहीं हो तुम तुम्हें
रिश्ते निभाने आते हैं और और तुमने उस
रिश्ते की गरिमा रखी इसलिए तुम उन लोगों
से कुछ बोल नहीं पाए कोई बदतमीजी नहीं की

तुमने वरना जवाब देना तो तुम्हें भी आता
है जब बात तुम्हारे आत्म सम्मान पर आएगी
तो तुम दहाड़ होगे और जो व्यक्ति इतने
वर्षों से सब कुछ चुपचाप सह रहा था जब वो

दहाड़े का तो उसके शत्रुओं के कान फट
जाएंगे और किसी भी रिश्ते को बचाने के लिए
कभी अपने आत्म सम्मान की कुर्बानी मत देना
मेरे बच्चे और उस व्यक्ति को भली भांति

एहसास हो गया है कि उसके बुरे कर्म
बर्बादी लेकर आ रहे हैं और बर्बादी बहुत
तेजी से उसकी तरफ आ रही है जिसका सामना वह
कर नहीं पाएगा इसलिए अब वह कोशिश में लग

गया है कि वह अपने बुरे कर्मों को अतीत
में किए बुरे कर्मों को जि भी लोगों को
उसने रुलाया है बिना मतलब प्रताड़ित किया
है छल किया है धोखा किया है वह सब ठीक कर

सके वह उन लोगों से माफी मांगकर सबकी
नजरों में अच्छा बन सके अपने कर्मों को
साफ कर सके जो कि अब संभव नहीं है मेरे
बच्चे अब बहुत देर कर दी उसने समस्याओं का

पहाड़ टूटने वाला है उसके ऊपर क्योंकि अगर
उसने किसी एक को तकलीफ भी होती है किसी दो
को तकलीफ दी होती तो एक बार वो माफी
मांगता तो शायद वो माफी उसे मिल भी जाती

पर उसने तो अपने जीवन का मकसद ही बना लिया
था लोगों को रुलाना उन्हें बर्बाद करना
उसने जीवन में कभी कुछ कमाया ही नहीं मेरे
बच्चे बस लोगों के आंसू उनकी बददुआ कमाई
है तो अब चाहकर भी उसे कोई माफी नहीं दे

पाएगा क्योंकि मैं उसे माफ नहीं करूंगी
उसने एक शुद्ध आत्मा को तकलीफ दी उसे चोट
पहुंचाई बार-बार उसकी को कष्ट दिया उसने
तुम्हें मुझसे दूर करने की कोशिश की

तुम्हें प्रताड़ित किया दिन रात तुम्हें
रुलाया अगर तुम्हारे हिम्मत इतनी प्रबल ना
होती और तुम बीच में ही मेरा हाथ छोड़
देते तब मेरे बच्चे वह तो तुम्हारा यकीन
था तुम्हारी भक्ति थी जो लाख क्रोधित होने

के बाद भी तुम मेरे दर से नहीं हटे पर ना
जाने उसने कितनों के साथ यही सब कुछ किया
है और कितनों को गलत मार्ग पर ले जा जाने
की कोशिश की है तो उसके यह बुरे कर्म कभी
नहीं धुलने वाले हैं वह लाख गंगा में जाकर

नहा ले लाख तीर्थ यात्रा कर ले अब उसकी
बर्बादी से उसे कोई नहीं बचा सकता वह बस
भटकता रहेगा भीख मांगता रहेगा माफी की पर
अब उसे माफी नहीं मिलेगी उसने जीतने भी
लोगों को रुलाया है जीतने भी लोगों की

आत्मा को तकलीफ पहुंचाई है वह सब कुछ
मिलाकर उससे 100 गुना ज्यादा तकलीफ हो से
देने वाली हूं मैं अब वह क्या कि उसके
आसपास के लोग भी किसी निर्दोष को अपमानित
करने का उसको बदनाम करने के बारे में नहीं

सोचेंगे किसी पवित्र आत्मा को ठेस
पहुंचाने का नहीं सोचेंगे यह सोचकर भी
उनकी रूह कांप जाएगी वह हर्ष करूंगी मैं
उसका और मेरे दंड से मेरे प्रकोप से अब

उसे कोई नहीं बचा सकता है पर जब वह
व्यक्ति तुमसे माफी मांगने आए तो उसे माफ
कर देना दिल से उसकी गलतियों को भूल जाना
है मेरे बच्चे क्योंकि वह सच में भोग रहा
है सब कुछ मेरे हाथ में सौंप देना पर कभी

भी उस पर आंख बंद करके यकीन मत करना उसका
हाथ थामकर कभी मत चलना याद रखना वह भीतर
से कौन है ओम नमः शिवाय जब पूरा समाज
तुम्हारे खिलाफ खड़ा हो गया तो धीरे-धीरे
तुम्हारी हिम्मत टूटने लगी और तुम अपनी
ताकत अपनी शक्तियों को भूल गए तुम उनके

रचे षड्यंत्र का शिकार बन गए मेरे बच्चे
तुम इतना रोते थे कि तुमने खाना पना छोड़
दिया तुम्हें नींद नहीं आती थी जिसकी वजह
से तुम्हारा स्वास्थ्य खराब रहने लगा तुम
इतने भावुक व्यक्ति हो कि तुम मुझसे भी बस

यही बोलकर रोते थे कि माता मेरी क्या गलती
है सब मेरे साथ इतना बुरा क्यों कर रहे
हैं मैंने तो हमेशा सबका अच्छा सोचा सबका
ख्याल रखा सबकी भावनाओं की कदर की तो आज

मेरे अपने ही मेरे खिलाफ क्यों खड़े हैं
कोई मेरी बातों पर यकीन क्यों नहीं कर रहा
है मुझसे ऐसी क्या गलती हो गई माता मैंने
तो हमेशा आपकी भक्ति की क्या यह फल मिल
रहा है मुझे आपकी भक्ति के बदले मेरी

भक्ति करने का तुम्हें क्या फल मिलेगा वो
तुम्हारी कल्पना से परे है मेरे बच्चे
क्या मैंने तुम्हें अतीत में कुछ नहीं
दिया है बहुत कुछ दिया है पर तुमने मेरी
दी हर चीज उस व्यक्ति पर निछावर कर दी आंख
बंद करके तुमने यकीन किया और मेरे लाख

समझाने के बाद भी हर बार दिल से निर्णय
लिया दिल से सोचा पर वह व्यक्ति हमेशा
दिमाग का खेल खेलता रहा तुम्हारे साथ वह
कभी भी तुम्हारे साथ रिश्तों में सच्चा था
ही नहीं उसके दिमाग में तो शुरू से ही

षड्यंत्र था तुम्हारे खिलाफ इसके पास जो
कुछ भी है वह सब कुछ मुझे अपने कब्जे में
चाहिए वह सब कुछ मेरा होना चाहिए तो मैं
उस बात का भी कोई गम नहीं है लोगों ने
तुमसे जो कुछ भी छीना जितना भी छल किया

तुम्हें यह पता है कि वह तुम्हारी किस्मत
का नहीं लेकर गए हैं व जो लेकर गए हैं
शायद तुम्हारी किस्मत में नहीं था अपनी
किस्मत समझकर तुम उसमें भी खुश हो

तुम्हारे शत्रुओं का एक झुंड बन गया है
मेरे बच्चे जिनके जीवन का मकसद यह है
तुम्हारी बुराई करना तो किस किस से बचोगे
और कब तक बचोगे तुम यह आज की कहानी नहीं
है यह तो ना जाने कितने वर्षों से हो रहा

है तुम्हारे साथ कि लोग तुम्हारे पीठ पीछे
षड्यंत्र रचते हैं वह लोग हमेशा तुम्हारे
विरुद्ध सब कुछ करते हैं और फिर मुंह पर
तुमसे मीठी मठी बातें करके तुम्हारे सगे

बन जाते हैं मेरे बच्चे क्या तुम्हें अपनी
माता पर विश्वास है तो इस संदेश को लाइक
करके मेरा भाग्यशाली अंक ए 11 लिखकर मुझे
अपनी स्वीकृति प्रदान करा देना मेरे बच्चे
तुम्हें उससे बचने की जरूरत नहीं है

तुम्हें अपने आप को मजबूत बनाने की जरूरत
है तुम्हें उनसे लड़ना सीखना है ऐसे लोगों
के साथ उनके जैसा बर्ताव करना सीखना है
तुम्हें कि अगली बार कोई तुम्हारी भावनाओं
का फायदा ना उठा सके ऐसे लोगों के साथ

तुम्हें भी दिमाग से निर्णय ले सीखना
पड़ेगा और वह व्यक्ति अपने आप को बहुत
होशियार समझता है उसको यह लगता है कि वह
तुम्हें हमेशा मूर्ख बनाकर तुम्हारा फायदा
उठाता रहेगा पर उसका काल तो उसी दिन शुरू

हो गया था जिस दिन तुमने सब कुछ मेरे हाथ
में सौंप दिया था और मुझसे बोल दिया था कि
माता में कुछ नहीं देखूंगा अब मैं नहीं
रहूंगा अब आप जो करेंगी वह सब कुछ मंजूर

होगा मुझे सब कुछ हंसते हंसते स्वीकार कर
लूंगा मैं उसी दिन से उसकी बर्बादी शुरू
हो गई थी और इसलिए अब वोह फिर आएगा
तुम्हारी तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाने कि
मुझे अपनी गलतियों का पछतावा है मैंने

तुम्हारे साथ बहुत बुरा किया एक बार मुझे
माफ कर दो हम बहुत अच्छे दोस्त थे व बहुत
दुहाई देगा अच्छे वक्त की तुम्हें पर याद
रखना उसके मन का वह शत्रु कभी नहीं मरेगा

उसके मन में जो जलन है तुम्हारे लिए वो
कभी खत्म नहीं होगी
तो मेरे सीख याद रखना कि आप अपनी भावनाओं
पर नियंत्रण करना सीख लो और दिमाग से
निर्णय लेना शुरू कर दो जो जैसा है उसके

साथ वैसा रहना सीखना पड़ेगा तुम्हें तभी
तुम ऐसे लोगों से लड पाओगे क्योंकि तुम
नकारात्मकता से भाग नहीं सकते हो मेरे
बच्चे आज यह लोग खत्म होंगे तो जैसे-जैसे

तुम्हें सफलता मिलेंगे तुम्हारे और शत्रु
बनेंगे इनसे भी बुरे लोग मिलेंगे तुम्हें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *