सावन में सभी मनोकामनाएं होगी पूरी 1 बार सुन लेना | Matarani Ke Bhajan | Maa Kali Amritdhara | Bhajan - Kabrau Mogal Dham

सावन में सभी मनोकामनाएं होगी पूरी 1 बार सुन लेना | Matarani Ke Bhajan | Maa Kali Amritdhara | Bhajan

[संगीत]

[प्रशंसा]

जय मां काली कलब विनाशिनी नमन करूं मां

परवटवासी निबंध

[संगीत]

हो जाता है खुशहाल

तेरे बिन

डर जाता

माता जब तू गॉड में आए देख के तीनों लोक

घबराए

मप देती मचाए में देख असुर का जब घर आते

तब तो मैं लेती हो बता लेकर अपनी आंख

काटते संसार ब्रह्मा विष्णु और गणेश

देवराज सॉन्ग

तभी तुम्हारी डर पे आई हैं आकर शीश झुकते

गियर तेरी चरणों के पास मूर्ख बन गया काली

रात मां तुमसे बैंक वर्धा एक

जीवंज मां काली खबर वाली तेरी महिमा बड़ी

निराली मुंडन मोल लगाने वाली

गली दो बी

के रहा दोस्तों

मैं जगदंबे काली मैया बरसाने वाली दुखियों

की

दुखदेमा जोगी तेरी आरती उसे पर तो कृपा

बरसाती

लगती भूत का भूत भले हो जाता माता कभी ना

होती को माता माता सर्व सुखों की डाटा

[संगीत]

कल्याण करूं विनय कानों तेरे नाम दो अपनी

भगत के शक्ति जन्म सफल हो जा

[संगीत]

लिक भवानी तुम्हारो जश्न जाट मखनी तेरे

महिमा जग में छी

[संगीत]

जब देव पर भी पता था ही तब तो मैं आई ही

महामाई महाकाली का घर स्वरूप

श्याम भजन

अब तो भयंकर

करो हाथ में धरती

माता क्रोध में

मंद तलवार चला ही मां तूने फिल्मी कैट

गिरी

ससुर है दीवाल

लगे करने

संधा चंद मुंड को मार गिरी मां तो चामुंडा

कहलाए गले में शुभ रहा मुंडवा है असो की

नींद दयाल विरद संभारी ह्यू महात्मा संकट

भारी मंगल भवन अमल हरि ओम

जय काली कर दो कल्याण में हो मां तेरी

संतान सर

पे तो चल की छाया आई तेरे डर पे मैं आया

महिमा तेरी मां पर तुमसे शादी में हो

संसार जो भी करता मां तेरी भक्ति

की काली डर से भक्ति एन जाए खाली भक्तों

की करती रखवाली

रूप से रूप कर ले हेमा गाल सहे मुंडवा

की

सुरजन की कल

रन में भेजो यह दिलाने वाली भक्तों को हर

शन वाली सभी सो खबर सैन वाली

[संगीत]

प्रेम सुधा बरसाने वाली सबकी बिगड़ी बनाने

वाली संकट में होती

साली तू कृपा बरसाए जो भी करते तेरी भक्ति

बातें तुमसे अनुपमा शक्ति दे देव भी डर

तेरे आते

मां तुम शक्ति की अवस्था करती हसूरों का

संघर्ष लेकर तलवार

पर कर दी प्यार ना कभी

[संगीत]

घबराए रात में

पसीना पति

नाथ भेज बाद करने वाली खप्पर में खून पीने

वाली

मैं जब माही निकाल रब तीनों घबराए लेकर

काली

कावत और जब तू करने लगी सहर मां तूने

मोहब्बत

[संगीत]

भी तेरी सामने आते तेरे हाथों मारे जाते

लगता था कोई बचाना

कोई नजर से सामने आए देवता ने पहुंचे

कैलाश महादेव शंभू के पास बोले काली से हम

ही बचाओ

[संगीत]

किसी के रॉक रुक ना पे काली ने दिया

कलाइयां मचाए थे नाथ नादिर लगाओ

[संगीत]

[संगीत]

तुमसे शादी

[संगीत]

[संगीत]

जय जय काली कंकाली

काली माता को आहे

से सबको बचाओ देवता शरण में शिक्षा झुकाए

मां के ऊपर

साइन भक्तों को भस्म करें

[संगीत]

[संगीत]

[संगीत]

अवतार

[संगीत]

खलबली मचत सुनत हमारी आग जग व्यापक दी है

तुम्हारी

सरदर्शी मोनिका रे बधाई

[संगीत]

[संगीत]

[प्रशंसा]

[संगीत]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *