सभी कष्टों से मुक्ति मिलने वाली है | माँ काली ???? - Kabrau Mogal Dham

सभी कष्टों से मुक्ति मिलने वाली है | माँ काली ????

मेरे बच्चे मैं तुमसे नाराज हूं क्योंकि

तुमने मुझे काफी समय से अनदेखा किया है

मैं जानती हूं की तुम्हारे जीवन में बहुत

सी परेशानियां हैं किंतु तुम मुझे इस

प्रकार से अनदेखा करोगे यह मैंने नहीं

सोचा था मेरे बच्चे मैं तुम्हारी माता हूं

इसलिए मैं तुम्हें अपने दर्शन देने स्वयं

ए गई हूं आज मेरा यह संदेश तुम्हारे जीवन

में फाइल अंधकार को दूर करने के लिए रोशनी

का कार्य करेगा हर किसी के जीवन में

अंधेरा और उजाला दोनों ही समय समय पर आता

है परंतु जो इन अंधेरों से डर जाता है वह

अपने जीवन में हर जाता है परंतु जो इन

अंधेरों से लड़ता है वह अपने जीवन में कभी

नहीं हारता क्योंकि जीवन का कड़वा सच यह

है की जो मनुष्य जैसे कार्य करता है उसको

फल भी वैसे ही मिलते हैं इसीलिए जीवन इसे

अच्छे कार्यों को करते रहो तुम्हारे कार्य

तुम्हारा परिश्रम तुम्हारी लगन सब तुम्हें

एक ना एक दिन अच्छा फल अवश्य प्रधान करते

हैं मैं तुमसे तुम्हारे जीवन में चल रहे

उन परेशानियां के बड़े में बात करने आई

हूं जिनके करण तुम मुझे भूल चुके हो मेरे

बच्चे तुम्हारी परेशानियां मुझे अब अच्छी

नहीं जाति तुम मेरे बच्चे हो और तुम ही

मेरे भक्ति भी हो तुम्हारे लिए मैंने जीवन

में वह सभी कार्य किया हैं जो तुम्हारे

जीवन को अच्छी र पर लेकर जैन तुम्हारी

जिंदगी का कुछ भी नहीं छुपा है मुझे

तुम्हारे लिए वह सभी कार्य करना आसन है जो

तुम्हें करने चाहिए परंतु तुम्हारी सोच के

करण तुम किसी भी कार्य को करने में समर्थ

हो और मेरे बच्चे जब तक तुम कार्यों को

उचित प्रकार से नहीं कर पाओगे तुम जीवन

में आगे नहीं बाढ़ पाओगे

मैं तुम्हारे जीवन की शुरुआत और मुझे मैं

इसका अंत भी है मुझे तुम्हारे जीवन का हर

एक शर्ट का हर एक पाल का सब कुछ पता है

परंतु तुम इस समय रूपी सच को नहीं समझ

सकते मेरे बच्चे समय के साथ ही तुम्हें

चलना होगा

वरना जीवन में सब कुछ जगन पद सकता है

तुम्हारा मुझमें पर विश्वास होना अति

महत्वपूर्ण है अपने भविष्य के लिए ताकि

तुम अच्छे भविष्य में जा सको तुम्हारा आज

ही तुम्हारा भविष्य ते करेगा की तुम जीवन

में किस र पर चलोगे और उसके लिए तुम्हें

आज अपने को बदलना होगा

तुम जो भी आज कार्य करोगे वही तुम्हारा

भविष्य निर्मित करेगा तुम मुझे अपनी साड़ी

परेशानियां दे दो अपनी साड़ी तकलीफें

साड़ी दुख सब कुछ मुझे दे दो मैं तुम्हारे

सारे दुखों को हर लूंगी तथा तुम्हें एक

सुखी जीवन प्रधान करूंगी बाकी सब कुछ तुम

मुझमें पर छोड़ दो मैं तुम्हारे जीवन को

एक नए मोड पर ले जाऊंगी जहां केवल खुशियां

और नई सफलताएं तुम्हारा इंतजार कर रही है

मेरे बच्चे जिंदगी में शांति आशा और आस्था

यह तीनों चीज होना बहुत आवश्यक है और यह

केवल तुम्हें तुम्हारी माता ही प्रधान कर

शक्ति है इसीलिए हमेशा अपनी माता पर

विश्वास रखो

[संगीत]

तुम्हारे जीवन में इस समय जो भी

परेशानियां चल रही है

इन सभी परेशानियां और दुख से मैं तुम्हें

मुक्त कर दूंगी

और दुख से मैं तुम्हें मुक्त कर दूंगी

मेरे बच्चे इन घनघोर कल समय तुम मत चलो

तुम्हारी माता के होते हुए तुम्हारा कुछ

नहीं बिगड़ सकता जो भी मनुष्य इस धरती पर

आता है एक एन एक दिन उसे जाना भी होता है

इस बीच के चक्र में जो वह कर्म करता है

उसे कर्म का फल ही वह भुक्त है इसीलिए

मेरे बच्चे अपने आने वाले अंत से मत करो

एक ना एक दिन तो हर किसी को इस संसार से

जाना है अपने सारे डर को बाहर कर दो और

निडर बानो तुम्हारे जीवन में चल रही है

चिटा से और परेशानियां से तुम्हें डरने की

कोई आवश्यकता नहीं है इन समस्याओं को लेकर

चिंता मत करो बल्कि इन समस्याओं से समाधान

की र ढूंढो

मेरे बच्चे जीवन में कभी भी चिंता नहीं

करनी चाहिए क्योंकि चिंता वह आज है इंसान

को धीरे-धीरे जलती है और इस आज में इंसान

पाल पाल मरता है चिंता करने से इंसान के

जीवन में बहुत सुखों का आगमन यूं ही हो

जाता है

[संगीत]

और मैं ही तुम्हारे जीवन का अंत हो तो जब

अंत मुझमें में है तो तुम्हें अपने जीवन

में आधे कठिनाइयां से क्या डरना यदि तुम

अपने लक्ष्य को अपने के लिए नीडल को और

साहस से आगे बढ़ते हो तो तुम्हें दुनिया

की कोई भी ताकत अपने लक्ष्य को अपने से

नहीं रॉक शक्ति अपनी साड़ी परेशानियां

सारे दुख तो मुझे दे दो अपनी साड़ी

परेशानियां सारे दुख तुम मुझे दे दो मैं

तुम्हारे सारे दुखों को सुख में बादल

दूंगी तथा तुम्हारे जीवन में खुशियां ही

खुशियां भर दूंगी

मेरे बच्चे तुम्हारी खुशी में ही मेरी

खुशी है मेरे बच्चे अब तुम अपने जीवन की

एक नई शुरुआत करने की सोचो और अपने दुखों

को भूलकर केवल अपने बेहतर भविष्य के लिए

योजनाएं बना क्योंकि विनय योजना के तुम

कोई भी कार्य भाले प्रकार से नहीं कर सकते

अपने जीवन में तुम जो भी करना चाहते हो

उसे कागज पर लिखो और हर रोज अपने लक्ष्य

को पढ़ो क्योंकि जब तुम अपने लक्ष्य को हर

रोज पढ़ोगे उससे तुम्हारे मां में

तुम्हारे लक्ष्य के प्रति और भी ज्यादा

पानी की इच्छा प्रबल होगी अपने प्रभु को

हर रोज याद करो मेरी पूजा अर्चना करो मेरी

पूजा अर्चना से तुम्हें जो फल प्राप्त

होंगे उसे पागल तुम्हारे जीवन में सिर्फ

खुशियां ही खुशियां होगी मेरे बच्चे

तुम्हारा इस संसार में आने का एक उद्देश्य

है उसे उद्देश्य को पहचान

और वह उद्देश्य तुम्हें केवल भगवान के पास

ही प्राप्त हो सकता है अब तुम्हारी माता

को जाना होगा लेकिन जान से पहले

मैं आशीर्वाद देती हूं की यदि तुम अपने

लक्ष्य को अपने के लिए ईमानदारी और सच्चाई

से कम करोगे तो तुम्हें लक्ष्य अवश्य

प्राप्त होगा और अपने अच्छे कर्म से

तुम्हें जो भी फल की प्रताप होगी उससे

तुम्हारे जीवन में केवल सुख और समृद्धि

होगी मेरे बच्चे तुम सदा खुश रहो यही मेरा

आशीर्वाद है मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा

करना

[संगीत]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *