लक्ष्मी मां धन भंडार का आर्शीवाद आज तुम्हे प्राप्त हुआ है - Kabrau Mogal Dham

लक्ष्मी मां धन भंडार का आर्शीवाद आज तुम्हे प्राप्त हुआ है

[संगीत]

मेरे बच्चे मैं लक्ष्मी मां आज तुम्हें यह

संदेश देना चाहती हूं कि तुम अपने जीवन

में जिन चीजों की जब हद से ज्यादा सोचने

लगते हो तो उसके कारण ही तुम्हें जो

परेशानियां होती हैं उन्हें दूर करने के

लिए ही आज में तुम्हें कुछ उपाय बताना

चाहती

हूं तुम यह बात जानते हो कि बार-बार एक ही

बार सोचने से तुम्हारे मन पर बहुत बुरा

प्रभाव पड़ता है किंतु उसके बाद भी तुम

दूसरों के बारे में दिन रात सोचते रहते

हो मेरे बच्चे मैं तुमसे बहुत अधिक प्रेम

करती हूं और मैं तुम्हें और ज्यादा

परेशानी में नहीं देखना चाहती तुम बार-बार

एक ही सवाल को इतनी बार सोचते हो जिससे

तुम्हारे जीवन में तुम्हें दुख पहुंचता है

और तुम फिर आगे की जिंदगी के बारे में कुछ

भी नहीं सोच

पाते तुम्हारी जिंदगी में जो इंसान जुड़ते

हैं वह तुम्हारे जीवन को बहुत अधिक

प्रभावित करते हैं क्योंकि तुम उनके साथ

इतना ज्यादा मन से जुड़ जाते हो कि अगर वह

तुम्हें कुछ जरा सा भी दुख पहुंचाते हैं

तो तुम्हारे दिल को बहुत ज्यादा ही आघात

पहुंचता

है किसी दूसरे इंसान के विचार को अपने

विश्वास के साथ तुम जोड़ लेते हो वह इंसान

तुम्हारी इच्छा के बारे में क्या सोच रहा

है वह चीज तुम्हें मिलनी चाहिए या नहीं

मिलनी

चाहिए क्या तुम सच में उन चीजों के हकदार

हो तुम दूसरों के विचारों को अपनी इच्छा

में डाल दे हो तुम अपने विश्वास को उन

बातों में डाल देते हो इस इच्छा को तुम

ईश्वर से मांग रहे हो तुम उसके लिए पूरी

तरह से तैयार हो सकारात्मक हो और तुम अपना

एक विश्वास तैयार कर रहे

हो और तुम दूसरों की बातों में आ जाते हो

तो दूसरों की बातों के हिसाब से चलने लगते

हो तो कई बार यह एक बहुत बड़ा कारण बन

जाता है तुम्हारी इच्छा समय पर पूरी नहीं

होती अब दूसरी इन बातों को जानना तुम्हारे

लिए बहुत जरूरी

है तुम्हारे जीवन में किसी से अनबन हो

जाती है या झगड़ा हो जाता है खास तौर पर

जो अपने परिवार को सदस्य के साथ-साथ आपकी

लड़ाई हो जाती है या तुम्हारे परिवार में

किसी से तुम्हारी लड़ाई हो जाती है या

मनमुटाव हो जाता है और छोटे-मोटे झगड़े हो

जाते

हैं और अगर तुम इन चीजों को किसी और इंसान

के आगे बताते हो उसके साथ अपनी बातों को

सांझा करते हो तो ऐसा करने से क्या होता

है पहला प्रभाव तो यह है कि इंसान के

सामने ही तुम्हारी दिल की सारी बातें आ

जाती

हैं इससे पता चलता है कि तुम एक शक्तिशाली

इंसान हो ही नहीं तुम्हारे अंदर में शक्ति

ही नहीं जो शक्तिशाली इंसान के अंदर होनी

चाहिए तुम्हारे घर परिवार में कोई इज्जत

नहीं वह इंसान तुम्हें उस नजर से देखने लग

जाता

है तुम्हें उन्हीं परिस्थितियों के हिसाब

से भांप लेता है तुम कभी भी शक्तिशाली

इंसान नहीं बन सकते जब तुम इन सारे

रिश्तों को अपने अंदर ही संभाल नहीं सीख

सकते फिर तुम अपनी सारी छोटी-मोटी बातों

को अपने भीतर ही कैसे रख पाते हो

यदि तुम चाहते हो कि लोग तुम्हारी इज्जत

करें तुम्हारी बातों को ध्यान से सुने

तुम्हारा मान सम्मान करें वह तुम्हें सारी

बातें कभी भी किसी इंसान के साथ सांझा

नहीं करनी है वह तुम्हारा कितना ही करीबी

मित्र क्यों ना हो जब तुम सारी बातों को

अपने अंदर रखना सीख लेते हो तुम बातों को

संभालना सीख लेते हो तो तुम जल्दी आगे बढ़

जाते हो शक्तिशाली व्यक्तित्व की ओर आगे

बढ़ जा

हो मैं तुमसे प्रेम करती हूं तुम्हारे साथ

कभी अन्याय और गलत नहीं होने दूंगी मेरे

बच्चे मेरी कृपा तुम पर हर वक्त बनी रहती

है मैं तुम पर हमेशा ही ध्यान रखती हूं कि

तुम गलत रास्तों पर ना आ जाओ तुम्हारे

जीवन में तुम्हें सफलता

मिले प्यारे बच्चों यदि आप चाहते हैं कि

आपके घर में माता लक्ष्मी का वास हो एवं

माता लक्ष्मी सदा ही आपके घर में धन का

भंडार बनाए रखें तो आज मैं आपको मां

लक्ष्मी का एक ऐसा मंत्र और संदेश सुनाने

वाली हूं जिसे

[संगीत]

सुनकर जो माता लक्ष्मी को बहुत प्रिय है

इस मंत्र को सुनने से माता लक्ष्मी स्वयं

तुम्हारे जीवन से हर प्रकार के दुख को दूर

कर

देंगी वह तुम्हारे घर में आने वाली हैं बस

आपको इस मंत्र को एक बार हर रोज अवश्य

सुनना है और इस संदेश को सुनकर अपने जीवन

में अपनाना

है इस मंत्र का जाप करते ही माता लक्ष्मी

का

चमत्कार आपको दिखने लगेगा मां स्वयं आपके

घर में वास करने लगेंगी

आपके घर में हमेशा धन का भंडार लगा रहेगा

व्यापार में वृद्धि हो जाएगी और नौकरी में

प्रमोशन हो जाएगा आपके हर बिगड़े हुए और

अधूरे काम पूरे हो

जाएंगे यदि किसी कारण वश इस संदेश को नहीं

सुन पा रहे हैं और इस मंत्र को सुनने में

आप असमर्थ हैं तो आपको घबराने की आवश्यकता

नहीं है आप इसे अपने मोबाइल फोन में लगाकर

सुन सकते हैं और ऐसा करने पर भी आप पर

माता लक्ष्मी की कृपा होगी और मां लक्ष्मी

आपके घर में वास करने लगेंगी तो चलिए आज

इस संदेश की शुरुआत करते

हैं

ओ श्री

महालक्ष्मी

महालक्ष्मी ए होही सर्व सु भाग्यम देही

में

स्वाहा मेरे बच्चे जो इसे हर रोज एक बार

इसका चाप कर लेता है और इस संदेश को सुन

लेता है उसके जीवन के सभी दुखों को मैं

दूर कर देती हूं मैं जानती हूं कि

तुम्हारे जीवन में काफी समय से बहुत दुख

चल रहे हैं लेकिन अब सब समाप्त होने वाला

है मैं जानती हूं तुम अपने जीवन में बहुत

से दुखों का भज ढो रहे हो और तुम इन बातों

से बाहर आना चाहते हो परंतु मेरे बच्चे

तुम्हें पहले स्वयं को बदलना होगा जब तक

तुम स्वयं को बदलना शुरू नहीं करोगे तब तक

से ही तुम्हें दुखों का सामना करना पड़ेगा

मेरे बच्चे अब वह समय है जब तुम्हें हर

दुख से निकलना होगा मैं जानती हूं कि

तुम्हें बहुत कष्ट सहने पड़ रहे

हैं परंतु तुम मेरे भक्त हो और मैं अपने

भक्तों को दुख में नहीं देख सकती इसलिए

मैं तुम्हें इन परेशानियों से बाहर निकलने

का रास्ता बताने आई हूं और यह रास्ता

तुम्हारे जीवन को इस तरह से बदल देगा कि

तुम फिर कभी इस रास्ते पर वापस नहीं आ

पाओगे क्योंकि तुम्हारा यह अंधेरे का

रास्ता सदा के लिए मिटकर रोशनी की ओर बढ़

जाएगा मेरे प्यार और आशीर्वाद से तुम्हारा

जीवन सोने की तरह चमकने वाला

है मेरा आशीर्वाद पाने के लिए इस वीडियो

को अंत तक अवश्य सुनना मुझे मुझे नजर

अंदाज बिल्कुल मत करना मैं हमेशा तुम्हारे

साथ हूं मुझे बस तुम्हारे कीमती समय में

से थोड़ा सा समय चाहिए ताकि मैं तुमसे कुछ

समय के लिए बात कर

सकूं मैं चाहती हूं तुम अपने जीवन में आगे

बढ़ो यह याद रखना सांसारिक मोह माया से

तुम्हें बाहर आना होगा और अपने जीवन में

आगे बढ़ना है तुम्हारे साथ जो बहुत सारे

अत्याचार हुए हैं यह सब मैं जानती हूं

लेकिन हर अत्याचार का समाधान मैं तुम्हें

बता रही हूं और आगे भी तुम्हें ऐसे ही

बताती

रहूंगी जो एक बार माता लक्ष्मी का नाम ले

लेता है उसके जीवन के दुख उससे कौसो दूर

चले जाते हैं और शत्रु उसके सामने शीष

झुकाने लगते हैं जीवन में हर तरीके से

उसको दुखों से मुक्ति मिल जाती

है मेरे बच्चे जीवन में कभी भी किसी को

ऐसे ही कुछ भी नहीं मिलता है ना कर्म से

मिलता है ना संसार से मिलता है जो भी कुछ

मिलता है मां लक्ष्मी के दरबार में आने से

ही मिलता

है जो मां के दरबार में एक बार आ जाता है

उसके जीवन के सभी दुखों को पल भर में माता

दूर कर देती हैं लेकिन बस उनकी एक शर्त

होती है कि अपने भक्तों के मन में वह

श्रद्धा और भाव के साथ वह देखना चाहती हैं

कि जब उनके भक्त उनके दरबार में आए तो

उनके मन में श्रद्धा ए भाव के साथ ही आएं

किसी के लिए बुरे विचार लेकर उनके दरबार

में ना

जाएं माता तुम्हारी अंधेरी दुनिया को अब

रोशनी में बदलने वाली है बस तुम्हें इस

संदेश को हर रोज अपने जीवन में अपनाना है

इन विचारों को सुनने के बाद सकारात्मक

विचार तुम्हारे मन में आएंगे जिसे तुम सभी

प्रकार से फिर अच्छे कार्य कर सकोगे और

माता की कृपा तुम पर बरसेगी

अब माता अपने धाम वापस जा रही हैं जीवन

में खुश रहो स्वस्थ रहो तुम्हारा दिन

मंगलमय हो हे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *