लक्ष्मी मां तुम्हारे जीवन का बुरा समय अब समाप्त हुआ - Kabrau Mogal Dham

लक्ष्मी मां तुम्हारे जीवन का बुरा समय अब समाप्त हुआ

आज मैं तुम्हें बताने वाली हूं कि तुम

अपने सभी कार्यों को किस प्रकार से स्वयं

ही खराब करते हो और तुम्हारे बनते हुए

कार्य क्यों बिगड़ जाते हैं मेरे बच्चे

तुम्हें अब यह समझना होगा कि तुम्हारे

कार्य तुम्हारे जीवन के लिए कितने

अनिवार्य

हैं

मैं लक्ष्मी मां हूं और मेरे नाम से ही

सारे कार्य सिद्ध हो जाते हैं यदि

तुम्हारे जीवन में सुख और शांति तुम्हें

चाहिए तो मेरे नाम का स्मरण करो और मेरा

आशीर्वाद प्राप्त

[संगीत]

करो मेरे बच्चे तुम अपने कार्यों को शुरू

तो कर देते हो परंतु तुम्हें यह नहीं पता

चलता कि वह इस प्रकार से तुम्हें आगे

बढ़ना है और तुम्हारी यही लापरवाही

तुम्हें तुम्हारे कामों में रुकावट पैदा

करती

है यदि मुझ पर विश्वास है और तुम्हें लगता

है कि मेरे होने से तुम्हारे जीवन में सब

कुछ अच्छा है तो तुम्हें आज मुझे हर शुभ

कार्य में शामिल करना होगा तथा मुझे वचन

देना होगा

कि जीवन के हर छोटे बड़े कार्यों में मेरा

नाम लेकर ही तुम उसके आगे की शुरुआत करोगे

ताकि तुम्हें जीवन में कोई दुख ना

आए इस संदेश को सुनने वाले सभी व्यक्ति के

परिवार में सुख शांति और समृद्धि आएगी यह

मेरा वचन है और स्वयं मेरी बातों को सुनकर

जो मुझे याद करेगा उसके बिगड़े काम बनने

शुरू हो

जाएंगे मेरे बच्चे सबसे पहला काम तुम्हारा

मुझ पर विश्वास करना है मुझ पर विश्वास

करके ही तुम्हें अपने जीवन में सफलता मिल

सकती है क्योंकि सफलता पाने का मंत्र

स्वयं पर विश्वास है विश्वास से बड़ी ताकत

इस संसार में और कोई नहीं है यदि तुम मुझ

पर विश्वास करोगे तो तुम्हारे जीवन में सब

कुछ अच्छा होगा बुरी से बुरी शक्ति भी

तुम्हारा कुछ नहीं बिगाड़

सकती अपने जीवन में उस राह पर सफलता पाने

के लिए धीरे-धीरे कोशिश करते हुए आगे

बढ़ते जाओ सफलता कुछ ही दिनों में

तुम्हारे कदमों में होगी बस तुम अपने मन

में सोचो कि जो रास्ता तुमने चुना है वह

बिल्कुल सही चुना है और ऐसी राह पर अगर आप

चलेंगे तो वह आपके लिए हितकारी होगी आप

अपने साथ-साथ मुझ पर भी विश्वास

रखो जब जीवन में तुम्हें असफलता मिले और

कुछ समझ नहीं आए तो आंखें बंद करके अपने

माता-पिता के साथ-साथ मेरा ध्यान करो

तुम्हारे बंद रास्तों में भी मैं खुशियां

भर दूंगी और तुम्हें खुशी अपने आप ही

दिखाई देने लगे

अगर तुम ज्यादा दुखी रहोगे तो अंदर से

बिल्कुल ही थक जाओगे और अपने आप को कमजोर

महसूस करोगे जिससे कि तुम फिर कल कोई भी

कार्य नहीं कर पाओगे लेकिन मेरे बच्चे मुझ

पर विश्वास बनाए रखो उस चिंता को छोड़कर

आगे बढ़ो अपने कार्य करते चलो तो जीवन में

तुम्हें सफलता जरूर मिलेगी एक बात अवश्य

याद रखना ना जो भक्त दुखों के साथ-साथ सुख

में भी मुझे याद करता है उसे मैं आजीवन

उसका ध्यान रखती हूं मेरे बच्चे कभी भी

तुम अपने कार्य करते हो तो उसके परिणाम की

चिंता मत

करो कि कार्य करना तुम्हारे हाथ में है

परंतु उसका फल देना मेरे हाथ में इसलिए

तुम हमेशा अच्छे कार्य करते जाओ तुम अच्छा

ही फल प्राप्त होगा क्योंकि जब जब तुम

अच्छे कार्य करते जाते हो वह सब अच्छे

कार्य तुम्हारे कोश में इकट्ठे होते जाते

हैं और इन सबके चलते तुम एक ना एक दिन

जरूर तुम्हें अच्छे फल प्राप्त होंगे

इसलिए बेकार की चिंता करना छोड़ दो और

अपने कार्य करते हुए आगे

बढ़ो मेरे बच्चे तुम अपने चारों तरफ फैले

इस माया जाल में फस चुके हो जहां तुम्हें

अपने दुख और तकलीफ सबसे बड़े नजर आते हैं

जिसके चलते तुम अपने जीवन में छोटी-छोटी

खुशियों को भी नहीं देख पा रहे

हो ऐसा करना सही नहीं है यदि तुम ऐसे अपने

आप को दुख दोगे तो तुम बिल्कुल ही खो

जाओगे अपने जीवन को खुशी खुशी बिताओ दुखों

को भुलाकर आगे बढ़ो मैं चाहती हूं मेरी

शक्तियों का उपयोग करके तुम अपने जीवन में

खुशहाली लाओ छोटे बड़े दुख सबके जीवन में

आते हैं लेकिन ऐसे करने वाले व्यक्ति कभी

भी आगे नहीं बढ़

पाते और तुम मेरे प्रिय भक्तों में से एक

हो तुम्हारे पास तो अदभुत शक्तियों का

भंडार है फिर भी तुम इतना किस लिए घबरा

रहे हो मेरे बच्चों अपनी आंखें बंद करके

अपने सारे दुख मुझे कह दो तुम अपने भूतकाल

को लेकर चिंतित क्यों रहते हो ऐसा मत करो

क्योंकि इससे तुम अपना आज भी नहीं जी पा

रहे हो जो गुजर चुका है उस पर चिंता करना

व्यर्थ

है क्योंकि जो पल हम जिंदगी से जा चुका है

उसको हम बदल नहीं सकते इसलिए तुम सिर्फ

अपना आज अच्छे से जियो भविष्य का किसी को

पता नहीं कि क्या होगा यह जीवन बहुत

मुश्किलों के बाद मिलता है इसलिए तुम्हें

इस जीवन में अच्छे कार्य करके जाना है

जिसके लिए मैंने तुम्हें धरती पर भेजा है

इसलिए तुम दुखी ना हो मुझ पर विश्वास रखो

और अपने मन को एकांत और शांत करके आगे

बढ़ो मेरे बच्चों मैं तुम्हारी माता

तुम्हें बस यही समझाना चाहती हूं कि जीवन

एक बार मिला है तो जीवन में ऐसे कार्य

करना कि तुम्हारे जाने के बाद भी सब लोग

तुम्हें याद करें और तुम्हारे अच्छे

कर्मों को याद करके ही वह बहुत कुछ अपने

जीवन में सीखें

[संगीत]

यदि तुम सच्चे दिल से मेरी पूजा अर्चना

करते हो तो तुम्हारी सभी मनोकामना पूर्ण

हो जाएंगी कहने का अर्थ यह है कि फिर तुम

गलत कार्य छोड़ दो और अच्छे कार्यों की

तरफ ध्यान लगाओ जो तुम्हारी सभी इच्छाओं

को फिर मैं पूरा कर

सकूं मेरे बच्चों में लक्ष्मी माता आज

अपने प्यार बच्चों से मिलने आई हूं मेरे

बच्चों कैसे हो तुम तुम मुझे बहुत समय से

याद कर रहे थे लो मैं तुम्हारे जीवन के

दुखों को दूर करने के लिए आज आई

हूं एक बार फिर मैं तुम्हें बहुत बड़े

खतरे से बचाने आई हूं जो तुम्हारे

आसपास खतरा मंडरा रहा है

इससे मैं तुम्हें बचाना चाहती हूं आज मैं

अपने संदेश में तुम्हें कुछ ऐसी बातें

बताऊंगी जो तुम्हें आने वाली परेशानियों

से दूर रखेंगी और फिर जब भी तुम्हें ऐसा

महसूस होगा कि तुम्हारे जीवन में कुछ होने

वाला है तब तुम स्वयं अपने आप को संभाल

लोगे मैं जानती हूं तुम्हारे जीवन में

काफी समय से उतार चढ़ाव चल रहे हैं जिसके

चलते तुम बेहद परेशान हो किंतु जब

तुम्हारी माता स्वयं तुम्हारे पास हैं तो

फिर तुम्हें किस बात की चिंता

है तुम मेरे प्रिय भक्तों में से एक हो

तुम्हारे पास तो अद्भुत शक्तियों का भंडार

है फिर भी तुम इतना किस लिए घबरा रहे हो

मेरे बच्चे अपनी आखी बंद करके अपने सारे

दुख मुझसे कह

दो यदि मनुष्य मेरी बताई गई पांच बातों को

अपने जीवन में अपनाता है तो उसका जीवन

सार्थक बन जाता है उसे कभी भी हिंसा नहीं

करनी चाहिए ना ही चोरी करनी चाहिए ना ही

अभद्र व्यवहार करना चाहिए ना ही कभी झूठ

बोलना चाहिए और ना ही किसी प्रकार का नशा

करना चाहिए यदि यह पांच बातें वह अपने

जीवन में अपनाता है तो उसका जीवन हमेशा के

लिए अच्छा बन जाता

है तुम अपने भूतकाल को लेकर इतने चिंतित

क्यों रहते हो तुम अपना आज भी इसलिए अच्छे

से नहीं जी पा रहे हो इसलिए मेरे बच्चों

जो गुजर चुका है उसकी चिंता करना व्यर्थ

है क्योंकि जो पल हमारी जिंदगी से जा चुका

है उसको हम बदल नहीं सकते हैं इसलिए तुम

सिर्फ अपना आज अच्छे से जियो क्योंकि

भविष्य का किसी को भी नहीं पता है कि क्या

[संगीत]

होगा जब भी हमारा मन विचलित हो या इधर-उधर

भटकता हो तो हमें अपनी आंखें बंद करके

प्रभु का ध्यान लगाना चाहिए

और अपने माता-पिता का ध्यान लगाना चाहिए

जो भी हमारे भूतकाल में हो चुका है और जो

वर्तमान में चल रहा है अपने भविष्य को

सोचते हुए अपने मन से उन सभी बुरी बातों

को दूर कर देना चाहिए फिर आप देखेंगे कि

आपके शरीर में बहुत ज्यादा सकारात्मक

ऊर्जा आएगी जिससे आप सभी कार्य कर

सकेंगे यह जीवन तुम्हें बहुत मुश्किलों के

बाद मिला है इसलिए तुम इस जीवन में सब कुछ

अच्छे कार्य करो जिन कार्यों करने के लिए

मैंने तुम्हें इस धरती पर भेजा है तुम

दुखी मत हो बस अपने मन को एकांत और शांत

जय पर

लाकर विचार करके आगे बढ़ते

जाओ मैं तुमसे आज एक ऐसा वादा करने आई हूं

कि यदि तुम मेरे संदेश को अंत तक सुनोगे

तो तुम्हारे जीवन में कभी भी धन की कमी

तुम्हें महसूस नहीं होने दूंगी बस तुम्हें

जीवन में आगे बढ़ते जाना है और अपनी मेहनत

करके ही धन को अर्जित करना है तुम काफी

समय से मेरी भक्ति कर रहे हो उस भक्ति का

फल मैं तुम्हें दूंगी मुझे पता है मनुष्य

जीवन जो तुम्हें मिला है उसमें तुमने

हमेशा सच्चाई का मार्ग अपनाया है मेरा

ज्ञान जो तुमने भक्ति प्राप्त करके किया

है इसे ऐसे ही हमेशा बनाए

रखना मनुष्य जीवन में सुख दुख सभी आते हैं

और तुम सब कुछ भोग रहे हो यह सिर्फ इसलिए

है क्योंकि तुमने बचपन से ही बहुत दुख

देखे हैं तुम्हारे जीवन में अपार दुख थे

लेकिन फिर भी तुमने क कभी हार नहीं मानी

तुमने बचपन से ही मेरी भक्ति पूजा पाठ

करके सब कुछ पाया और अपने दुखों से बाहर

निकल

[संगीत]

पाए जिस व्यक्ति का मन शांत होता है जो

व्यक्ति बोलते और अपना काम करते समय शांत

रहता है वह वही व्यक्ति होता है जिसने सच

को हासिल कर लिया है और जो दुख तकलीफ से

मुक्त हो चुका है जो व्यक्ति अपने जीवन को

समझदारी से जीता है उसे मृत्यु से कभी डर

नहीं लगता

है जीवन में कौन अपना है कौन पराया है यह

तभी पता लगता है जब हमारे जीवन में बुरा

वक्त आता है बुरा वक्त आने पर अच्छे से

अच्छे मित्र और रिश्तेदार संबंध तोड़ देते

हैं लेकिन आप निराश ना हो आप अपने कार्यों

को अच्छे से करें अपनी वाणी का प्रयोग भी

अच्छे से करें

मेरे बच्चों कैसे हो तुम सब आज मैं

तुम्हें एक महत्त्वपूर्ण संदेश देने आ रही

हूं जिससे तुम्हारा सारा जीवन बदल जाएगा

इसलिए मुझे आज ध्यानपूर्वक सुनना मेरे

बच्चों जो बात मैं तुम्हें बताने जा रही

हूं अगर तुम उसे अपने जीवन में ना लोगे तो

तुम्हारे जीवन के सारे दुख समाप्त हो

जाएंगे मेरे बच्चों मैं चाहती हूं कि तुम

इस पर प्रण लो कि तुम कभी भी किसी का दिल

नहीं दुखाओ ग हमेशा सबकी मदद करोगे और

हमेशा सबके साथ प्यार से अपना जीवन व्यतीत

करोगे मेरे बच्चे मैं चाहती हूं कि जैसे

तुम मेरी पूजा अर्चना करते हो

मेरा सम्मान करते हो मुझे दिल से याद करते

हो वैसे ही हमेशा अपने घर में भी सभी

नारियों का सम्मान

करो मैं जानती हूं मेरे बच्चों कि तुम

काफी वर्षों से अपने जीवन में होने वाली

परेशानियों से जूझ रहे

हो लेकिन अभी तुम्हारी

जिंदगी कुछ ही दिनों में बदलने वाली है

तुम महसूस करोगे कि तुम्हारे जीवन में

खुशियां आनी शुरू हो गई

हैं आज मेरे संदेश को सुनने के बाद

तुम्हारे जीवन में तुम्हें अच्छी खबर

मिलना शुरू हो जाएंगी तुम जिस चीज को पाना

चाहते थे वह सब चीजें तुम्हें प्राप्त

होना शुरू हो

जाएंगी मेरे बच्चों परमात्मा हमेशा भक्तों

की पुकार सुनकर पल भर में चले आते हैं

और उन्हें सब कुछ प्रदान कर देते हैं

लेकिन हमें उस चीज को पाने के लिए मेहनत

करना बहुत आवश्यक होता है अब मैं अपना

आशीर्वाद देकर अपने धाम वापस जाना चाहती

हूं मेरे आशीर्वाद से तुम जीवन में सुखी

रहो स्वस्थ रहो तुम्हारा दिन मंगलमय हो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *