रिश्तो मे जान कैसे डाले जानिए श्री कृष्णा से | - Kabrau Mogal Dham

रिश्तो मे जान कैसे डाले जानिए श्री कृष्णा से |

रिश्ते मानवीय भावनाओं का प्रतीक होते हैं एक और जहां हमारे जीवन में कुछ रिश्ते खून के होते हैं वहीं कुछ

रिश्ते भावनाओं से बने होते हैं जो कभी-कभी खून के रिश्ते से भी ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं रिश्तो के बिना मनुष्य

का जीवन अधूरा हो जाएगा वास्तव में रिश्तों का कोई डेरा नहीं होता एक रिश्ता प्रेम कथा विश्वास पर आधारित होता है जिसे हम अपने कार्यों द्वारा सीखते हैं रिश्तो में अपनेपन की भावना की खातिर ही व्यक्ति एक दूसरे पर

मर मिटने तक को तैयार हो जाते हैं एक मां के अंदर प्रारंभ से ही अपने बच्चों के प्रति बेहद अपनेपन की भावना कायम हो जाती है उसे अपना बच्चा सारी दुनिया से प्रिया वह सुंदर लगता है गरीबी रिश्तेदारों से व्यक्ति अक्सर

अपने मन की वह सभी बातें करते हैं जिन्हें वे अन्य व्यक्तियों से नहीं कर सकते रिश्तेदार वह परिवार व्यक्ति के बुरे समय में साथ खड़े होते हैं ऐसे में एक अकेले व्यक्ति की पीड़ा पूरे परिवार व रिश्तेदारों की पीड़ा बन जाती है

वह एकजुट होकर मुसीबत से लड़ते हैं और मुसीबत को दूर भगाकर कामयाबी पाते हैं कैलिफोर्निया की एक प्रांत में हुए एक शोध के अनुसार जिन लोगों का पारिवारिक या सामाजिक जुराब काम होता है उन्हें दिल की

बीमारियों और रक्त संचरण की समस्याओं के खतरे बढ़ जाते हैं वहीं जिन लोगों के दोस्त और पारिवारिक बंधन मजबूत होते हैं वह जल्दी जल्दी बीमार नहीं होते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *