रात को उल्लू की आवाज सुनाई देने पर मिलते है शुभ अशुभ संकेत | Vastu tips Lakshmi - Kabrau Mogal Dham

रात को उल्लू की आवाज सुनाई देने पर मिलते है शुभ अशुभ संकेत | Vastu tips Lakshmi

रात में और दिन में उल्लू की आवाज सुनाई देती है तो मिलते हैं शुभ अशुभ संकेत उल्लू का दिखाई देना भी हमें आने वाले भविष्य की जानकारी देता है नमस्कार आपका स्वागत है दोस्तों मनुष्यों के साथ ही पशु पक्षी भी प्रकृति

का अभिन्न अंग है और हमारे मित्र भी है हर पशु पक्षी की अपनी एक विशेषता होती है और इन्हीं विशेषताओं की वजह से भी जाने जाते हैं कई बार इन्हें शुभ अशुभ और शंकु अपशकों से जोड़कर भी देखा जाता है शास्त्रों के

अनुसार मनुष्यों को पशु पक्षियों के द्वारा कई महत्वपूर्ण संकेत प्राप्त होते हैं यदि मनुष्य इन संकेतों की तरफ ध्यान से देखें तो उसे भविष्य से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सकती है जीवन में अच्छा और बुरा समय

आने से पहले पशु पक्षी तथा पेड़ पौधे हमें विशिष्ट प्रकार के संकेत देते हैं क्योंकि ईश्वर ने उन्हें अदभुत शक्ति प्रदान की है जिससे वह वातावरण में मौजूद ऊर्जा की सूक्ष्म करने को महसूस कर सकते हैं आज हम बात

करेंगेएक ऐसे ही एक पक्षी उल्लू के विषय में दोस्तों उल्लू के विषय में कई ऐसी बातें और मान्यताएं हैं जो आज भी उसे शुभ और अशुभ के बीच में उलझाएं रखती है कई लोग उल्लू को अत्यंत शुभ मानते हैं तो कुछ लोग ऐसे भी हैं जो उल्लू को अशुभ समझते हैं दोस्तों उल्लू एक निशाचर पक्षी है जो रात में जागता है और दिन में सोता है

असल में उल्लू की शरीर रचना और उसकी आवाज ऐसी होती है कि कोई भी उसे देखकर डर जाए शायद इसी कारण से इसे देखना अब शकुन माना जाता है उल्लू के मुंह से निकलने वाली ध्वनि रात के शांत वातावरण को

डरावना बनती है उल्लू की आंखें बड़ी और बेहद डरावनी और इंसानों की तरह सामने की ओर होती है बड़ी आंखें बुद्धिमान व्यक्ति की निशानी होती है और इसलिए उल्लू को बुद्धिमान माना जाता है उल्लू के कान भी बड़े

होते हैं चेहरा बादाम के आकार का होता है उल्लू अपनी गर्दन और आंखों को चारों ओर घुमा सकता है भयानक देखने वाले इस पक्षी की आवाजभी बहुत भयानक होती है यह हमेशा रात में ही चिल्लाते हैं और अपना शिकार करते हैं इसलिए इनके भयानक रूप के कारण पुराने लोग इसे अशुभ मानते हैं लेकिन दोस्तों पुराणों में वर्णित

एक कथा के अनुसार लक्ष्मी जी जब स्वर्ग से धरती पर आ रही थी तो उन्हें सबसे पहले प्राणियों में उल्लू ही दिखा था क्योंकि वह रात का समय था तो प्राणियों में उल्लू ही ऐसा था जो जाग रहा था इसलिए उन्होंने उसी को अपना

वहां बना लिया इसलिए दीपावली के समय उल्लू का देखना या उसकी आवाज सुनाई देना अत्यंत शुभ माना जाता है पश्चिम बंगाल असम और उड़ीसा में तो लक्ष्मी जी के साथ-साथ उनके वाहन उल्लू की भी पूजा करने का रिवाज है कई जगहों पर माना जाता है कि यदि किसी भी गर्भवती महिला को उल्लू दिख जाता है तो यह शुभ

संकेत है और यदि उसे उल्लू छू ले तो उसकी होने वाली संतान सौभाग्यशाली होती है इसी प्रकार उल्लू यदि किसी रोगी को छूकर चला जाता है तो उसकी गंभीर रोग भी ठीक हो जाता हैकी कुछ आवश्यक कार्य जैसे

नौकरी परीक्षा आदि के लिए जा रहे हैं और उल्लू दिख जाएं तो यह भी शुभ माना जाता है सुबह-सुबह यदि उल्लू

दिखाई दे या उसकी आवाज सुनाई दे तो यह धन प्राप्ति का संकेत है इसलिए उल्लू को या उसकी आवाज को कभी भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए उल्लू की आंखों में आंखें डालकर देखना या उस नजर मिलाना या मिल जाना यूं तो मुश्किल काम है फिर भी यदि ऐसा होता है तो यह अत्यंत शुभ होता है समझ लीजिए कि आप पर

धन की वर्षा होने वाली है इसी प्रकार से कुछ लोग उसकी आवाज सुनाई दे जाने को अब गन की वह एक-एक आंख से एक दिशा में तथा दूसरी आंख से दूसरी दिशा में देख सकता है इसीलिए यह कहा जाता है कि उल्लू यदि दाएं और देखकर बोलता है तो यह अशुभ होता है जबकि यदि बाई और देखकर बोलता है तो इस शुभ माना जाता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *