राज्यसभा चुनाव में गज़ब पटकथा लिखी जा रही है, कांग्रेस को बर्बाद करके छोड़ेंगे अमित शाह - Kabrau Mogal Dham

राज्यसभा चुनाव में गज़ब पटकथा लिखी जा रही है, कांग्रेस को बर्बाद करके छोड़ेंगे अमित शाह

नमस्कार मैं पंकज
प्रसन दोस्तों अगले चंद दिनों में देश भर
में 56 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव होने
वाले हैं और इन 56 सीटों में जहां सबसे
ज्यादा मजेदार चुनाव होगा राज्यसभा का वह
है

महाराष्ट्र महाराष्ट्र वैसे भी अमित शाह
पहले भी कह चुके हैं कि हमारे लिए सबसे
बड़ा चैलेंज महाराष्ट्र है तो महाराष्ट्र
की छह राज्यसभा सीटों पर चुनाव होने हैं
छह सीटें खाली हो रही है संख्या बल के

हिसाब से अगर देखा जाए तो बीजेपी को दो
सीटें आराम से मिल सकती है लेकिन बीजेपी
का प्रयास है कि कोई तीसरी सीट जीती जाए
और इसे लेकर बड़ा खेला करने की तैयारी है

वह खेला क्या होगा बीजेपी ने आधा खेला
किया है आधा बाकी है महाराष्ट्र के
राज्यसभा चुनाव में बीजेपी की रणनीति क्या
होगी क्या महाराष्ट्र से जो बीजेपी के

सदस्य जिनकी राज्यसभा सदस्यता खत्म होने
वाली है उनमें से किसी को दूसरा मौका
मिलेगा कौन-कौन है वह लोग तीसरा और सबसे
महत्त्वपूर्ण बात कि जहां मौका पाओ गांधी

परिवार को डैमेज करो इस रणनीति के तहत
महाराष्ट्र में ऑपरेशन लोटस में क्या कुछ
चल रहा है यह सब आपको बताएंगे लेकिन उससे
पहले आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर ले

इस वीडियो को लाइक कर ले दोस्तों आपने खबर
सुन ली होगी अशोक
चौहाण महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री
कांग्रेस के दिग्गज

नेता शंकर राव चौहाण के
बेटे महाराष्ट्र के बहुत बड़े मराठा नेता
उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी कांग्रेस
छोड़कर वह बीजेपी में शामिल होने वाले हैं

यह महाराष्ट्र कांग्रेस के लिए अब तक का
सबसे बड़ा झटका माना जा सकता है इस लिहाज
से
क्योंकि अगर मिलिन देवड़ा जाते हैं तो वह
हाईफाई कॉरपोरेट नेता हैं उनके पिताजी

बहुत पैसे वाले
थे मुरली देवड़ा पेट्रोलियम मंत्री रहे
लेकिन दक्षिण मुंबई के एलिट सर्किल में ही
मिलिन देवड़ा का जो पकड़ है जो औरा है वह
है अगर बाबा सिद्दीकी छोड़ के गए तो वो

एनसीपी में गए हैं अजीत पवार की एनसीपी
में इससे बीजेपी को बहुत ज्यादा लेना देना
है नहीं लेकिन आज महाराष्ट्र भाजपा को एक
ऐसा कैच मिला है एक ऐसा चेहरा मिला है

जिसके जरिए वह ग्रामीण मराठा राजनीति को
साध सकता है यह इसलिए कि पीढ़ियों से
शंकरराव चौहान और अशोक राव चौहाण की पकड़
महाराष्ट्र के मराठा समाज पर रही है खबर

बस इतनी नहीं है खबर यह है कि अशोक राव
चौहाण के साथ ही 10 12 और कांग्रेसी
विधेयक विधायक बीजेपी में शामिल होने जा
रहे

हैं यह सभी के सभी ग्रामीण क्षेत्रों के
विधायक तो ग्रामीण मराठा वोटरों में पकड़
मजबूत करने के लिए बीजेपी का सबसे बड़ा
दाव है एक और कारण कारण यह है कि मैंने

आपको बताया कि छह सीटों पर राज्यसभा चुनाव
होने वाला है महाराष्ट्र की छ सीटों पर
कुमार केतकर कांग्रेस से थे उनका टर्म

खत्म हो गया उसके बाद वंदना
एनसीपी की थी उनका टम खत्म हो गया अनिल
देशमुख शिवसेना उद्धव गुट के थे उनका टर्म
खत्म हो गया इन तीनों के अलावा तीन सदस्य
बीजेपी के थे नारायण राणे मुरली धनन जी और

प्रकाश जावड़ेकर अब हो यह रहा है कि शरद
पवार गुट के वन्ना चौहान किसी भी कीमत पर
दोबारा चुनकर नहीं आने वाली क्योंकि शरद
पवार गुट के पास सिर्फ 11 विधायक है 11

विधायकों के साथ व एक क्रिकेट टीम तो बना
सक पर किसी को राज्यसभा नहीं भेज सकते और
क्रिकेट टीम ही बनाई बनानी होगी तो बिना
किसी एक्स्ट्रा प्लेयर के बनानी होगी

क्योंकि सिर्फ 11 विधायकों के भरोसे आप
किसी को राज्यसभा नहीं भेज सकते तो वंदना
चौहाण

गई अनिल देशमुख शिवसेना उद्धव गुट के टिकट
से राज्यसभा के सदस्य थे इस बार उनका भी
चुनाव नहीं होने वाला क्योंकि आपको य पता
है कि उद्धव ठाकरे की सारी लुकिया डूब गई

सारे के सारे विधायक वगैरह सब चले गए
एकनाथ शिंदे के साथ तो अनिल देशमुख साहब
वैसे भी बहुत उम्र हो चुकी है तो वह
दोबारा नहीं जाने

वाले तीसरा कुमार
केतकर वरिष्ठ पत्रकार हैं इंडियन
एक्सप्रेस के एडिटर रह चुके हैं मराठी
लोकमत के एडिटर रह चुके हैं दिव्य भास्कर

जो कि भास्कर ग्रुप का एक अखबार है उसके
एडिटर रह चुके हैं यह वरिष्ठ तथा कथित
न्यूट्रल पत्रकार हैं जिन्हें कांग्रेस ने
राज्यसभा भेजा

था यह अलग बात है कि कुमार केतकर ने अपने
जीवन में कभी किसी कांग्रेसी की बुराई
नहीं की कभी किसी पंथी की बुराई नहीं की

उनके निशाने पर हमेशा या तो बाला साहब
ठाकरे रहे उनकी शिवसेना रही या फिर भारतीय
जनता पार्टी रही तो इस

न्यूट्रलिज्म
है गांधी परिवार की खूब तारीफ करते हैं
इसके बावजूद इतनी चाशनी में लपेटकर गांधी
परिवार के शब्दों को बोलने के बावजूद इतना
वरिष्ठ पत्रकार होने के बावजूद भी

कांग्रेस इस बार उन्हें राज्यसभा नहीं
भेजने
वाली तो कुल मिलाकर कहानी यह है कि जो
विपक्ष के तीनों राज्यसभा मेंबर हैं वह
राज्यसभा नहीं जाने वाले अब आते हैं

बीजेपी और सत्ता पक्ष प्रकाश जावड़ेकर की
राजनीति खत्म होने वाली है ऐसा मेरा
अंदाजा है क्योंकि प्रकाश जावड़ेकर को
दोबारा राज्यसभा नहीं भेजने

वाली वैसे भी वह धीरे धीरे धीरे धीरे राज
नीति से साइडलाइन होते चले गए आज उनका
इंपैक्ट महाराष्ट्र की राजनीति पर अभी
कहीं नहीं है किसी जमाने में पुणे के

सांसद हुआ करते थे लेकिन पुणे में भी अब
कई नए नेता उभर आए हैं तो प्रकाश जावडेकर
को दोबारा राज्यसभा भेजने का कोई मतलब
नहीं है बीजेपी ने डिसाइड कर लिया है कि

उन्हें नहीं
भेजें दूसरा है नारायण राणे जो कि
राज्यसभा सदस्य हैं भारतीय जनता पार्टी
से उनके बारे में कहा जा रहा है कि इस बार
नारायण राणे को चुनाव की योजना है

दक्षिण मुंबई की सीट जहां से शिवसेना
उद्धव गुट के अरविंद सावंत अभी सांसद हैं
उसी सीट से नारायण राण को चुनाव लड़ाने की
रणनीति बनाई जा रही है इसका कारण है

नारायण राने कोंकण से आते हैं दक्षिण
मुंबई के इस संसदीय क्षेत्र में
कोंकणी जो मराठी है कोंकणी जो लोग जो हैं
उनकी अच्छी खासी संख्या
है उसके अलावा बीजेपी का यह मजबूत गढ़ रहा

है आमतौर पर बीजेपी शिवसेना का पिछली बार
अरविंद सावंत जीते थे इस बार वोह उद्धव
गुट में चले उनके सारे कार्यकर्ता एकनाथ
शिंदे के साथ चले
गए तो कुल मिलाकर अरविंद सावंत की जमीन
कमजोर है और बीजेपी को लगता है कि अगर

नारायण राने को दक्षिण मुंबई की उस सीट से
लड़ाया गया तो जो मूलवासी जो मराठी वोटर
है उसका बहुत साथ मिलेगा उसका इंपैक्ट
आसपास की सीटों पर पड़ेगा तो नारायण ने
लोकसभा चुनाव लड़ेंगे तीसरा मुरली धरण

साहब है वह केरला से आते हैं लेकिन
महाराष्ट्र कोटे से वो राज्यसभा थे इस बार
चर्चा है कि उन्हें भी नहीं भेजा जा रहा
है महाराष्ट्र से तो नहीं भेजा जा रहा है

किसी दूसरे राज्य से भेजा जा रहा हो तो
अलग बात है तो छह के छह राज्यसभा सदस्य
महाराष्ट्र से बदल जाएंगे बीजेपी भेजने
वाली किसे है जैसा मैंने बताया कि बीजेपी
इस बार सोशल इंजीनियरिंग करने वाली है एक

मराठा एक ओबीसी और एक ब्राह्मण रहेंगे
मराठा की बात करें तो मैंने आपको नाम बता
दिया अशोक चौहाण कांग्रेस से आए हैं
बीजेपी में और व अपने साथ 1012 विधायकों

को ला रहे हैं तो इसका मतलब कि जो 101 जो
वोट कम रहे थे बीजेपी के पास तीसरी सीट को
जीतने के लिए वो पूरी हो जाएगी और अशोक
चौहाण चले जाएंगे राज्यसभा और मराठा का

कोटा भी पूरा हो जाएगा तो एक मराठा चले गए
बीजेपी की तरफ से बीजेपी जो दूसरा सदस्य
जिसे राज्यसभा भेजने जा रही है वह है
पंकजा मुंडे ओबीसी नेता तो एक मराठा हो

गया दूसरा ओबीसी हो गया हाल के दिनों में
पंकजा मुंडे की महाराष्ट्र बीजेपी के
नेतृत्व के साथ नहीं पट रही है बार-बार इस
तरह के असंतोष की खबरें आती है तो प्लान

यह है कि पंकजा मुंडे को केंद्र की
राजनीति में लाया जाए उन्हें राज्यसभा
भेजा जाए ऐसे ही पंकजा मुंडे की जो बहन है
वह चुनाव जीतती है और पंकजा मुंडे अगर

राज्यसभा रहेगी तो एक गोपीनाथ मुंडे का एक
परिवार लोकसभा एक राज्यसभा में आएगा और
केंद्र की राजनीति में ओबीसी का एक और
मजबूत चेहरा जो कि महिला भी हो वह

राज्यसभा जाएगी तीसरा ब्राह्मण चेहरा कौन
होगा इसे लेकर अभी तक कुछ खास खुलासा नहीं
है वह कोई पुणे से भी हो सकता है कोई
ब्राह्मण चेहरा नागपुर से भी हो सकता है

तो उस बारे में अभी मैं रहने देता हूं
आखिरी कांग्रेस के बारे में सोनिया गांधी
राज्यसभा जाएंगी यह लगभग तय है खबर यह है
कांग्रेस की ओर से कि राजस्थान से

नॉमिनेशन करेंगी सोनिया गांधी और राजस्थान
कोटे से वोह राज्यसभा जाएंगी सोनिया गांधी
राज्यसभा जाएंगी इसका मतलब यह तय हो गया
कि प्रियंका गांधी और राहुल गांधी चुनाव

लड़ेंगे एक अमेठी से लड़ेंगे दूसरे
रायबरेली से लड़ेंगे और एक-एक और सीट पर
लड़ेंगे मैंने किसी एक वीडियो में आपको
बता दिया है कि प्रियंका गांधी के लिए
तेलंगाना की एक सुरक्षित सीट खोजी गई है

और शायद दक्षिण के किसी सीट से राहुल
गांधी लड़ेंगे क्योंकि वायनाड अगर समझौता
हुआ तो वह सीपीएम के हिस्से जाएगा अगर
सीपीएम के हिस्से जाता है तो कांग्रेस के

राहुल गांधी वायनाड से नहीं लड़ सकेंगे
दिलचस्प होने वाला है राज्यसभा चुनाव पहले
हो जाने दीजिए उसके बाद मैंने पहले वीडियो
में बताया है कि गांधी परिवार के दो सदस्य
लड़ेंगे दोनों जगह उनकी जमीन कैसी है इसे
मैं एक्सप्लेन करके बताऊंग
नमस्कार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *