माता रानी का संदेश // - Kabrau Mogal Dham

माता रानी का संदेश //

आज मैं तुम्हें जो भी कहूंगी वह तुम्हें

मैंने इससे पहले कभी नहीं कही है मेरे

बच्चे आज मैं तुम्हे यह बात सांझा नहीं

करना चाहती थी परंतु अब तुम्हें उन

रहस्यों से परिचित होना ही होगा जिससे तुम

अब तक अनजान थे इसलिए आज का संदेश

तुम्हारे लिए बेहद आवश्यक होने वाला है

मेरे बच्चे तुम्हें अपने माता रानी पर

विश्वास है तो कमेंट में जय हो माता रानी

और इस संदेश को लाइक कर देना चैनल को

सब्सक्राइब कर देना मेरे बच्चे मैं देख पा

रही हूं तुम अचंभित हो और दुखी भी हो इस

बात से कि संसार में यह सब क्या हो रहा है

ना जाने भविष्य में आगे क्या होगा मेरे

बच्चे तुम जो कुछ भी देख रहे हो वह य

अवश्यक टेराना है परंतु यही एक सत्य है जब

प्रकृतिक में नई शुरुआत होती है तब अंत भी

प्रारंभ हो जाता है जो होना है वो तो होकर

ही रहेगा परंतु यह उन्हीं के साथ होगा

जिनका मार्ग अधर्म की ओर है जिनके मन में

ईश्वर के प्रति प्रेम नहीं है शायद वह यह

नहीं जानते हैं जिन्होंने इस मनुष शरीर को

पाने के लिए अपरांत भी क्या खो दिया है वह

जिसने संसार की वस्तुओं के प्रति इतना

मोहित हो चुके हैं यातना कर रहे हैं कि

जिन्होंने सब कुछ बनाया है भोलेनाथ ने जो

सृष्टि के रचयिता है और वही सब कुछ नष्ट

भी कर सकते हैं मेरे बच्चे यदि

तुम उन्हें ही अपना बना लोगे जिन्होंने इस

संसार को बनाया है सबसे अधिक प्रेम करोगे

जो तुमसे बेहद प्रेम करते हैं जो इस संसार

का हर वस्तु अपने आप तुम्हारी सहायता करने

लगेगा संसार का हर वस्तु तुम्हारी ओर

आकर्षित होने लगेगा मेरे बच्चे जिन्होंने

तुम्हें यह स्वस्थ शरीर दिया है ह सुख

सुविधाएं दी है और भविष्य में ऐसे बहुत

कुछ है जो तुम्हें प्राप्त होंगे यदि तुम

उन्हीं की भक्ति अपने मन में गहराई से ना

कर पाओगे तो वास्तव में तुम्हारा यह जीवन

निरर्थक है तो किंतु जिन्होंने इनकी भक्ति

की है वह निषे कृपा उनकी दृष्टि बनी ही

रहती है जिनके जीवन में आएगा समस्या केवल

उनकी ही नहीं वह समस्या भोलेनाथ की भी हो

जाती है और

उनका समाधान भी वो स्वयं करते हैं मेरे

बच्चे भगवान शिव पर भरोसा हमेशा बनाए रखना

अब जो मैं तुम्हें बताने आई हूं वो

सुनो उसे समझने का प्रयास भी करते जाओ

मेरे बच्चे मेरी यह बातें तुम्ह सदैव

स्मित रखना है कि सृष्टि में तुमसे बेहतर

प्रेम करती है तुम मानो या ना मानो वह समय

भी निकट है जब प्राकृतिक में बड़े बदलाव

दिखाई देंगे अब तुम्हें उन लोगों से

निश्चित रूप से दूरी बना के रखना है मेरे

बच्चे यह वही लोग है जो तुम्हे बार बार

दोहराए प लाकर खड़ा कर देते हैं तुम्हारे

सामने अच्छाई का मुखौटा पहनेंगे और

तुम्हारे पीछे तुम्हारी बुराइयां करते

जाते हैं वापस उसी चक्कर में तुमको लाकर

फसा देते हैं जिससे तुम निकलते हो मेरे

बच्चे अब वक्त आ चुका है उन लोगों को खुद

से तुम पहचानो उन से तुम खुद खुद दूर हो

जाओ मैं तुम्हें बारबार संकेत देती जा रही

हूं प्रकृति उन लोगों को अपने तरीके से

वास्तविकता से अवगत कराएगी किंतु तुम खुद

इस सब से

तुम खुद को इनसे दूरी रखो तभी तुम्हारी

भलाई है मेरे बच्चे मेरी चेतावनी उन लोगों

के लिए भी है जो अभी तक अपनी आंखी बंद

करके बैठे हुए हैं यदि वह अभी तक नहीं जगे

तो बहुत ही उनके कर्मों का फल उन्ह अवश्य

मिलेगा मेरे बच्चे आने वाले समय में बहुत

संभव कर चुका हो कि प्रयास करना कि उन

लोगों से तुम दूर रहो अ शब्द करने की

कोशिश ना करो क्रोध प कंट्रोल रखो अपने और

मन शांत रखो ईश्वर का ध्यान करो प्रार्थना

करो और अपने आप को ईश्वर के प्रति प्रेरित

कर दो क्योंकि यह प्रारंभ हो रहा है कि

कर्म फल जिसने जैसा बीज बोएगा ही फल पाएगा

मेरे बच्चे यदि तुमने अच्छाई के बीज है तो

तुम्ह अनिश्चित रूप से फल दुगनी रफ्तार से

प्राप्त होंगे और जिसने बुराई के बीज उन्ह

तो काटे ही मिलेंगे मेरे बच्चे तुम भय भीत

ना हो बिना सोचे तुम आगे बढो मेरे बच्चे

तुम इतना दुखी क्यों हो रहे हो मैं हूं ना

तुम्हारे साथ मैं सदैव तुम्हारे साथ ही

रहूंगी तुम अपने मन को एक स्थिर प रखो और

ईश्वर की प्रार्थना में अपने मन सब कुछ

लगा कोई ऐसी बात है जो तुम्ह अत्यधिक

परेशान कर रही है तो तुम्हारे मन में अनेक

संदेह उठ रहे है मेरे बच्चे तुम विचलित ना

हो मैंने तुम्ह बताया ही है कि मैं हर समय

तुम्हारे मन की दशा को देख सकती हूं जो हो

रहा है वह स्वाभाविक है ब्रह्मांड में

होने वाली घटनाए का प्रभाव है सभी चीज पर

एक जैसा प्रभाव पड़ेगा मेरे बच्चे तुम्ह

होने की कोई जरूरत नहीं है जल्द ही तुम्ह

अपने सभी प्रश्नों के उत्तर मिलेंगे सरलता

से सभी उलझन तुम्हारी लुप्त हो

जाएगी अब तक जो भी परेशानी लंबे समय तक चल

रही थी ना वह बहुत ही सरलता से समाप्त हो

जाएगी आज रात सोने से पहले अपने मन के सभी

चिंताओं को मुझे समर्पित कर देना अपनी सभी

इच्छाएं मुझसे प्रकट कर देना मेरे बच्चे

जीवन का वास्तविक स्वरूप तुम अपने हृदय

में प्रेम की ऊर्जा को उस क्षण को स्मरण

करो जबकि अपने प्रेम को अनुभव किया करते

थे उस प्रेम की ऊर्जा को तुम्हें अपने

पूरे जीवन में बसा लेना है तुम्हें यह

संसार को प्रेम की वास्तविकता को परिभाषित

देने के लिए तुम्हें अपने जीवन में ऐसे

कार्य करने हैं जो दूसरों के लिए उदाहरण

स्थापित करें

तुम्हारा यह सफर अब शुरू हो चुका है इस

जीवन में सदैव एक बात याद रखना तुम्हारी

ऊर्जा तुम्हारे भीतर से उत्पन्न होती है

और नकारात्मकता निर्माण भी तुम्हारी भीतर

से ही होती है इसलिए मेरे बच्चे क्या तुम

अपने भीतर के प्रकाश को उजागर करके इस

संसार को प्रकाशित करना चाहोगे या अपने

भीतर की नकारात्मकता को जगाकर इस संसार

में अंधेरा फैलाना चाहते हो निर्णय

तुम्हारा है मेरे बच्चे जीवन को सुखद

बनाने के लिए सबसे आवश्यक यह है कि

तुम्हारा मन खाली हो ज्यादा से ज्यादा

तुम्हे सकारात्मकता भाव में रहना है तो

मेरे बच्चे तुमने बासुरी तो देखी होगी

बांसुरी के भीतर कुछ भी नहीं होता है ना

राग होता है ना द्वेष होता है और ना ही

फूक मारते हैं जब भी हम लोग दु स्वर

निकलते हैं इसी प्रकार तुम्हे भी अपने मन

के भावनाओं से मुक्त रखना होगा सता स्मरण

रखो की यदि मन में कुछ भी भटक रहा है तो

जीवन कभी मन भर के नहीं जी पाओगे जीवन का

आनंद भी नहीं ले पाओगे मेरे बच्चे तुम्हें

कभी ना कभी ऐसा प्रतीत हो रहा होगा

कि तुम्हें कभी भी अगर ऐसा प्रतीत होता है

कि मैं तुम्हे तुम्हारे कर्मों के अनुसार

फल प्रदान नहीं करती हूं तो ऐसा नहीं है

यह सत्य नहीं है और तुम ऐसा कोई अंतर करती

हो कि मेरे लिए तुम सबसे प्यारे बच्चे हो

ऐसा भाव भी कभी अपने भीतर ना लाना तुम

अपने मन में स्मरण रखना कि मैं सुनती हूं

तुम मन में मुझे पुकारते हो तो मुझे कुछ

नहीं चाहिए यदि तुम मन को निर्मल बनाते हो

तो वही मेरा शांति से र्पण निवास है वही

मेरा सुंदर कछ है

वही मेरा सब कुछ है मेरे बच्चे अपने आप को

कभी भी अकेला ना समझो प्रत्येक क्षण में

तुम्हारे साथ हूं तुम्हारा भविष्य में

निर्धारित करती हूं मेरे बच्चे तो तुम

अपने वर्तमान या भविष्य की चिंता करने की

आवश्यकता नहीं है क्योंकि मैं सभी को देख

रही हूं क्या तुम तैयार हो अपने जीवन के

महत्त्वपूर्ण सफर के लिए मेरे बच्चे तुम

मुझे सच्चे हृदय से

पुकारोगे इसलिए तुम तुम्हारा मार्गदर्शन

करने आ रही हू मैं देख पा रही हूं कि तुम

अंदर ही अंदर सवालों के घेरे में घिरे हुए

हो तुम्हारी हिम्मत टूट रही है ताब

समस्याए भी तुम्हारे समझ खड़ी है तो इस

संदेश को लाइक करके कमेंट में जय हो माता

रानी लिख के इस चैनल को सब्सक्राइब कर

दीजिए मेरे बच्चे इतना परेशान मत हो

मुश्किल है पर उसके पास खुशिया भी तो है

अंधेरा तभी तक रहता है जब तक मन में

अंधेरा रहे अपने चमक पर होता ही है उसके

बाद ही प्रकाश की किरण धाराए पर पड़ती है

तो मेरे बच्चे तुम्हे बताना चाहते ह कि

तुम्हें अचानक ही खुशियों का सूचना मिलेगा

खुद प ही बधाइयां देने लगेंगे तैयार हो

जाओ आत्मविश्वास को बढ़ाओ अपने परंतु अपने

अहंकार को हावी ना हो

देना मेरे बच्चे प्रेम पाने के लिए सबसे

सरल मार्ग ईश्वर को पाना प्रेम सही या गलत

नहीं होता है प्रेम सर्वा पवित्र श्रेष्ठ

है ईश्वर का प्रयास प्रेम में है क्या तुम

परम कुपाल ब्रह्मांड एक प्रेम में नहीं पा

सकते हो पूरे संसार उसकी प्रेमिका नहीं है

जब तक तुम किसी से प्रेम करते हो तब तक

उनके हृदय में एक सकारात्मकता

महसूस होती रहती है ऐसे ही जो तुम्हे तारो

ताजा अनुभव कराती है तुम्हारे चेहरे पर

मुस्कुराहट चमक और प्रदर्शित करती है ऐसी

ऊर्जा जो तुम्हें कार्य करने के लिए

प्रेरित करती है एक ऐसी ऊर्जा जो तुम्हें

बलिदान करना सिखाती है यदि तुमने अपने

जीवन में कभी भी इस तरीके की ऊर्जा का

अनुभव किया है तो यह कुछ और नहीं यदि

ईश्वर की ऊर्जा को आत्मा का मूल स्वरूप

स्वतंत्रता प्रेम एवं प्रसन्नता को मेरे

बच्चे जब तक तुम अपने मन के अंदर की ऊर्जा

को नहीं पहचानोगे तुम इस जीवन में सदैव

दुखी ही रहोगे इसलिए अपनी ऊर्जा को पहचानो

मेरे बच्चे और खुश रहने की कोशिश करो और

दूसरों को भी खुश

रखो तुम सदैव अपने आप को पहले प्रायोरिटी

दिया करो क्योंकि लोग तुम्हारे साथ खेल

खेलते हैं तुम्हें धोखा देते हैं तुम्हारी

बुराई करते हैं इसलिए सदैव खुद को अपने आप

को ही और अपने परिवार को आगे रखो लोगों से

तुम्हारे जीवन में चमत्कार प्रारंभ हो

चुका है मेरे बच्चे तुम्हें कुछ अच्छी खबर

सुनने को मिलेगा आज रात ईश्वर को धन्यवाद

करना ना भूलना क्योंकि तुम जिससे प्राथना

करना है वो लगातार तुम्हारी कार्य कर रहे

हैं मेरे बच्चे तुम मुझे यहां वहां मत

ढूंढो क्योंकि मैं तुम्हारे हृदय में वास

करती हूं मेरे बच्चे आज तुम्हारे पास जो

भी है उसका सभी अभिमान मत

करना कई बार अनजाने में ये मनुष्य अपने

भौतिक चीजों के लिए अभिमान कर बैठता है और

वह यह भूल जाता है कि हर क्षण ईश्वर देख

रहे हैं मेरे बच्चे मैं तुम्हे तुम्हारे

लिए एक फरिश्ते को धरती पर भेज रही हूं

बहुत ही जल्द तुम्हारी मुलाकात उससे होगी

तुम्हारे जीवन में चमत्कार होना प्रारंभ

हो चुका है मेरे बच्चे

[संगीत]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *