मां काली ?️वह तुम्हारे शत्रुओं से हाथ मिला चुका है अब मैं उसे जवाब दुंगी उसकी बर्बाद - Kabrau Mogal Dham

मां काली ?️वह तुम्हारे शत्रुओं से हाथ मिला चुका है अब मैं उसे जवाब दुंगी उसकी बर्बाद

मेरे प्यारे बच्चे आज मैं आपको कुछ ऐसा बताने आई हूं जिसे सुनकर आपका जीवन पूरा बदल जाएगा तो मेरे

बच्चे अगर तुम मुझे अपनी माता मानते हो तो अपनी माता के लिए एक लाइक कर दीजिए और कमेंट में जय हो

माता रानी लिख दीजिए वीडियो को लाइक करके कमेंट करते हैं आप की माता का आशीर्वाद आपके और आपके परिवार पर सदा के लिए बना रहेगा तो वीडियो को छोड़कर जाने की भूल मत करिएगा मेरे बच्चे तुम्हें

एक परिपाक आत्मा हो कई जन्मों से मेरी भक्ति कर रहे हो और उन सारे जान तुमने मनुष्य का जीवन मेरे कहने पर मेरे आदेश पर ही तुमने यह मनुष्य का जीवन लिया है मेरे बच्चे जीवन के साथ जो सुख दुख आते हैं तुम्हें वह

सब भोगने पढ़ रहे हैं सब को सिर्फ तुम मेरे लिए झेल रहे हो बच्चे तुमने बचपन से अनुभव किया होगा कि तुम बाकी सारे बच्चों से बहुत अलग अलग रहते थे तुम्हारी उम्र के बच्चे अलग दुनिया देखे थे और तुम अलग दुनिया

देखे थे जब से तुमने होश संभाला तुम्हारी रुचि तुम्हारा मेरे प्रति भरने लगा तुम्हारी उम्र के बच्चे गुड्डे गुड़ियों से खेलते थे उसे उम्र में तुम्हें जीवित चीज अच्छी लगती थी प्रकृति अच्छी लगती थी जिसमें तुम्हारी माता बस्ती है

बचपन से ही अपनी इज्जत को अपने परिवार जनों की इज्जत को तुम हमेशा से यह सोचते थे कि तुमसे ऐसी कोई गलती ना हो जिससे तुम्हारे घर वालों का अपमान हो जाए इज्जत थोड़ी सी भी काम हो कभी कोई ऐसा कदम

नहीं उठाया जिससे किसी और को तकलीफ को तुम हमेशा दूसरों के बारे में सोचते थे मेरे बच्चे उसे उम्र में तो बच्चों को यह भी होश नहीं होता था कि वह क्या गलत कर रहे हैं क्या सही कर रहे हैं जिससे तुम्हारे माता-पिता

को तक और जिससे तुम्हारी इज्जत जाएगी तुमने ऐसा कोई कार्य कभी नहीं किया तुम यही सोचते हो ना की माता जब आप मेरे साथ हो जब आप मुझे यह कहते हो कि मैं आपका इतना करीबी हूं तो उसके बाद भी मुझे

इतना दुख क्यों झेलना पड़ रहा है भगवान श्री राम को भी वनवास पर जाना पड़ता था और कृष्ण को भी तपस्या करनी पड़ रही थी अपने प्रेम को खो दिया था उन्होंने गीता का ज्ञान नहीं दिया होता और उनका आकाश तुम्हारे कासन के आगे मुझे पता है तुम बचपन से सोचते थे तुम्हारे सपने बहुत बड़े थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *