मां काली मेरे बच्चे मुझे पता है मुझ से नफ़रत करते हो मेरा संदेश नहीं देखना चाहते - Kabrau Mogal Dham

मां काली मेरे बच्चे मुझे पता है मुझ से नफ़रत करते हो मेरा संदेश नहीं देखना चाहते

मेरे बच्चे आज का संदेश तुम्हारे जीवन को

बदल कर रख देगी इसलिए इस संदेश को पूरा

सुनाना मेरे बच्चे अगर तुम्हें मुझ पर

विश्वास है तो इस संदेश को लाइक करके

कमेंट में जय हो माता रानी लिख दीजिए अब

तुम्हें पहचानना मुश्किल होगा मेरे प्रिय

बच्चे तुम्हारे हृदय को स्पर्श कर रही

आनंद तरंगे इस बात का प्रमाण है कि तुम

ब्रह्मांड की ऊर्जा से एक हो रही हो वह

दिव्य समय आ रहा है जिसकी प्रतीक्षा तुम

बेसब्री से कर रहे थे वह उल्लास भरी खबर

बहुत जल्द तुम्हारे पास आ रही है मेरे

प्रिय बच्चे तुम जो

सुष्मिता हो आध्यात्मिक अनुभव कर रहे हो

उसमें कोई भेद नहीं है जिस प्रकार

बहुमूल्य रत्न की प्रकाश को छुपाया नहीं

जा सकता है चाहे अंधकार हो या प्रकाश रत्न

प्रकाश चारों ओर दिशाओं में बिखरता रहता

है उसी प्रकार आध्यात्मिक व्यक्ति के जीवन

में जो भी अनुभव होते हैं वह जागते हुए या

सोते हुए एक ही सामान्य है बल्कि नींद में

प्राप्त हुए अनुभव अधिक बहुमूल्य होते हैं

क्योंकि उस अवस्था में व्यक्ति शरीर के

बंधनों से मुक्त अपने वास्तविक स्वरूप में

आने का प्रयास करता है मेरे बच्चे तुम्ह

अपने भीतर हो रहे बदलावों को ग्रहण करना

है तुम एक ऊंचाई को छड़ चुके हो अब कुछ

विशेष प्राप्त करने का समय है इसे ग्रहण

करने के लिए अपने दोनों बाहे खोलो के

साथ लिखि मैं पूर्णता की ओर बढ़ रहा हूं

के साथ लिखे मेरी आध्यात्मिक और भौतिक

उन्नति हो रही है अपनी माता रानी को तीन

बार धन्यवाद लिखे क्योंकि उन्होंने आपको

किसी विशेष पद के लिए चुना है कोई है जो

तुम तक उस दिव्य संदेश को लेकर आ रहा है

यही कारण है कि कुछ दिनों से तुम ऐसा

महसूस कर रहे हो क्या तुम महसूस कर रहे हो

तुम्हारी ऊर्जा दिन प्रतिदिन सकारात्मक

होती जा रही है तुम्हारी ओर आने वाले

लोगों को अच्छा महसूस हो रहा है तुम्हारे

मस्तिष्क का तेज बढता जा रहा है उसे अब

लोग भी देख पा रहे हैं मेरे प्रिय बच्चे

तुम्हारी चर्चित शुरू हो चुके हैं क्या

कुछ दिनों से तुम्हें अपने भीतर कुछ बदलाव

महसूस नहीं हो रही है तुम्हारा स्वभाव

तुम्हारा व्यक्तित्व बदलता जा रहा है यदि

आप स्वयं में कुछ बदलाव महसूस कर रहे हो

तो पुष्टि में यस लिखकर अपनी पुष्टि

प्रदान करें मेरे प्रिय बच्चे तुमने स्वयं

को बदलने का पहला कदम उठा लिया है अब अब

तुम रुकने से भी नहीं रुकने वाले हो जो

ठान लिया है उसे पूरा करने वाले हो और वह

पूरा होगा भी अभी तुम्हारे तेज और चमक को

कुछ ही लोगों ने देखा है वो दिन दूर नहीं

जब चारों ओर तुम्हारे ही चर्चे होंगे मेरे

प्रिय बच्चे अब तुम स्वयं को नकारात्मक

ऊर्जा से बाहर निकालते जा रहे हो मैं देख

पा रही हूं कुछ दिनों से तुम किसी धुन या

आध्यात्मिक संगीत को बार-बार सुन रहे हो

जिसे तुम बेहद अच्छा महसूस कर रहे हो चल

पड़े हो एक ऐसी सफर की ओर जहां अब तुम्हें

रुकना अच्छा नहीं लगता कुछ पाना है तुम्ह

जिसकी शुरुआत तुम कर रहे हो इस दिव्य

ऊर्जा से जुडने के लिए अंक आठ आठ लिखे और

वीडियो को आवश्य से ही लाइक करें मेरे

बच्चे तुम कुछ ऐसा कर रहे हो जिससे

तुम्हें सुक और प्रसन्नता की अनुभूति होती

है बाहर की शोर से तुम स्वयं को धीरे धीरे

अब दूर करने लगे हो और ब्रह्मांड के कुछ

दिव्य संकेतों को भी समझने लग गए हो अब

मेरे एक प्रश्न का उत्तर दोगे क्या तुम

पहले के मुताबिक स्वयं को संवारने में

नहीं रही हो कोई आकर्षक नियम नहीं कर रहे

हो जहां तुम बहुत ज्यादा चमक रही हो पहले

के मुताबिक अब तुम स्वयं से ज्यादा प्रेम

करने लग गए हो या तुम कल्पना करते हो कि

तुम एक राजा के भाति सफल इंसान हो गए हो

यदि यह सत्य है तो पुष्टि में हा अवश्य से

ही लिखे लेकिन सब औरों को छोड़ ढक तुम्हे

ही देखकर क्यों मुस्कुरा रहे हैं तुम्हें

इतना विशेष लोग क्यों समझ रहे हैं तुम सच

में सोच में पड डीच जाओग कि तुमने ऐसा

क्या किया है सोचने लग जाओगे मुझे देखकर

क्यों मुस्कुरा रहे हैं मुझे इतना विशेष

क्यों समझ रहे हैं मेरे प्रिय बच्चे यही

तो मैं तुम्हें बताना चाहती हूं तुम स्वयं

को आकर्षित कर रहे हो स्वयं से पहले से

ज्यादा प्रेम करने लगे हो स्वयं को संवार

रही हो जाने ही अनजाने में स्वयं को अच्छा

महसूस कराने का प्रयास कर रहे हो खुशियों

को तेजी से आकर्षित करने का अंक सात सात

सात अवश्य से लिख मेरे बच्चे मैं तुम्हारी

माता और पिता सखा भी हूं मैं सब कुछ जानती

हूं तुम्हारे भीतर हो रही परिवर्तनों को

तुमसे पहले ही देख लेती हूं आने वाले

दिनों में तुम स्वयं को अपने भीतर इन

बदलावों को महसूस कर पाओगे तुम्हें सब कुछ

धीरे-धीरे स्वयं ही स्पष्ट ब्रह्मांड करा

देगा मैं तुम्हारे इस बदलाव से बेहद

प्रसन्न हो यह बदलाव ही तुम्हे सफलता और

खुशियों की तरफ ले जा रही है यदि इस बदलाव

के लिए तैयार हो तो भाग्यशाली अंक

अच्छा तो अब मेरी एक सरल से उत्तर का

जवाब दोगे क्या तुमने अपने व्यक्तित्व में

अपने भीतर कुछ भी बदलावों को महसूस नहीं

किया है मेरे प्रिय बच्चे अब तुम पीछे

देखना छोड़ डाल चुके हो भले ही अभी तुम

अपने इन बदलावों से अनजान हो परंतु

धीरे-धीरे तुम्हें स्वयं आभास होने लगेगा

कि तुम बदल रहे हो तुम वह हो रहे हो जो

तुम बनना चाहते थे जो अपना ज्यादा से

ज्यादा समय नकारात्मक बातों को सोचकर नहीं

बल्कि सकारात्मक बातों को सोचकर अपने जीवन

की ओर आगे बढ़ रहा है अब तुम स्वयं की कदर

कहीं ना कहीं समझने लगे हो तुम कौन हो और

क्या-क्या कर सकते हो इसका आभास तुम्हें

होने लगा है मेरे प्रिय बच्चे अब तो तुम

अपनी मंजिल की ओर पर रहे हो यदि यह सत्य

है तो लिखो हां मैं अब बदल रहा हूं अपनी

मंजिल की ओर बढ़ रहा हूं तुम निकल पर

डेढ़े हो स्वयं को जानने के प्रयास अब

तुम्हें रुकना अच्छा नहीं लग रहा है मेरे

प्रिय बच्चे तुमने अपना प्रयास पहले से

अधिक बढ़ा लिया है परिश्रम कर रहे हो अब

तुम अधिक अब आगे पचने का प्रयास कर रहे हो

जहां जीत तुम्हारी ही होगी तुम्हें जो

अच्छा लग रहा है जिससे तुम्हें सुकून मिल

रहा रहा है वह कार्य तुम करने लगे हो कुछ

ऐसी प्रक्रिया कर रही हो जो तुम्हें उस

दिव्य शक्ति से जोय रहा है मेरे बच्चे

हमेशा याद रहे भले ही आज तुम ही मुश्किल

दौर से गुजरना पडि रहा परंतु आखिर में जीत

तुम्हारी अवश्य होग क्योंकि मैं तुम्हारे

कर्मों से बहुत ही प्रसन्न हू अब तुम सत्य

के मार्ग को चुन रहे हो यही सब संकेत

तुम्हारी जीत को सुनिश्चित करा है अब भूल

जाओ उन बातों को क्योंकि जो हुआ था व बस

तुम्हें कुछ अनुभव दिलाने के लिए था अब

तुम दिव्य मार्ग की ओर चल पड़े हो जो

तुमसे ईर्षा करते हैं वह तो अभी भी वहीं

खड़ हैं जहां पाच साल पहले थे तुम्हारी

जीत ऐतिहासिक होगी तुम्हें देखकर सबकी

नींद अब हैरानी हो जाएगी एक एक साथ लिखें

और अपनी कोई भी इच्छा ब्रह्मांड में प्रकट

करें

मेरे प्रिय बच्चे तुम्हें हर एक क्षेत्र

में जीत मिलेंगे अपने आप को इसी तरह आगे

बढ़ाते रहो यदि तुम अभी गिर जा मेरे बच्चे

मैं तुम्हारी माता रानी तुम्हारे जीवन को

खुशहाल जीवन बनाने के लिए आज आई हूं इसलिए

इस संदेश को लाइक करके अपनी माता रानी की

स्वीकृति दो और कमेंट में जय हो माता रानी

और हर हर महादेव जी लिख दो मेरे बच्चे

तुम्हारे जीवन में कोई ऐसा व्यक्ति है

जिसकी बुरी नजर है तुम पर वह वक्त वक्त पर

कुछ ऐसी क्रियाएं करता है जिससे तुम्हें

बहुत तकलीफ होती है पिछले कुछ महीनों में

तुम्हारे साथ बहुत बुरा घटित हुआ है कुछ

बहुत बुरा जिसने तुम्हारे मन को अंदर से

झंझोट बहुत खराब रहा है तुम्हारे बने हुए

काम बिगड़े हैं वह व्यक्ति तुमसे बहुत

ईश्वर्या करता

और तुम्हें भी पता है कि वह व्यक्ति कौन

है तुम्हारा काम बनते बनते बिगड़ जाता है

और जब तुम मन लगाकर काम करते भी हो तो एक

दो दिन तक तो बहुत उत्साह रहता है पर उसके

बाद अपने यहां आप ही तुम्हारी ऊर्जा

तुम्हारी एनर्जी डाउन हो जाती है तुम्हारा

फिर किसी चीज में काम करने का मन नहीं

करता है तुम्हें बहुत उलझन से महसूस होती

है तुम्हे सब कुछ छोड़कर भाग जाने का मन

करता है कुछ अच्छा होता भी है तो उसकी

खुशी भी ज्यादा देर नहीं टिकती तुम्हारे

मन में तुम्हारे मन में एक डरा जाता है कि

अगर यह खुशी तुमसे किसी ने छीन ली तो अगर

उस व्यक्ति ने तुम्हारे ऊपर किसी ऊर्जा का

प्रयोग कर दिया तो अगर उसने तुम्हें

बर्बाद करने के लिए कुछ बहुत बड़ा

षड्यंत्र रच दिया तो तुम कैसे बचोगे

तुम्हारा परिवार कैसे बचेगा और वह डर

तुम्हें आगे नहीं बढ़ने दे रहा है और मैं

तुम्हारी इस चिंता को समझ रही हूं क्योंकि

मुझे भी पता है उस व्यक्ति की मानसिकता

कितने विकृत है वह कितना गंदा सोच सकता है

और वह कितना गंदा कर सकता है यह तो

तुम्हारी कल्पना से परे है पर अब और डरने

की जरूरत नहीं है तुम्हें अब मैं उसे

तुम्हारे जीवन से बाहर निकालने वाली हूं

अब उसके कर्मों का फल उसे मिलने वाला है

उसके शडा यंत्रों की सजा उसे मिलने वाली

है मेरे बच्चे तुम परेशान हो ना छोड़ दो

यह सोचना छोड़ दो कि तुम्हारे अच्छे

कर्मों का फल तो तुम्हें मिला ही नहीं वह

तुम्हें बर्बाद कर देगा व तुम्हारे साथ

ऐसा कर देगा वो वैसा कर रहा है इसलिए तुम

इतने दुखी हो नहीं तो इसलिए दुखी हो

क्योंकि तुम्हें कुछ सिखाने के लिए यह दुख

दिया जा रहा है मेरे रहते कोई भी शत्रु

कितना भी ताकतवर हो वह तुम्हें हानि नहीं

पहुंचा सकता है मैं तुम्हारी रक्षा के लिए

खडी ढ़ हूं तो उस विचार को तो अपने दिमाग

से निकाल बाहर फेंको और अब उसके कर्मों का

फल मिलेगा अब उसे सजा मिलेगी और अब वो

तुम्हारे जीवन से बाहर जाने वाला है पूरी

तरी

यही से एक नए अध्याय की शुरुआत होगी

तुम्हारे जीवन में जहां पर खुशियां होंगी

उसके जाने के बाद तुम्हारा मानसिक संतुलन

बहुत मजबूत हो जाएगा तुम अंदर से बहुत

मजबूत हो जाओगे उस व्यक्ति के जाने के बाद

उसके साथ-साथ उसकी नकारात्मक ऊर्जा भी

तुम्हारे जीवन से बाहर चली जाएगी जिसके

बाद तुम्हारा हर बिग हुआ काम बनने लगेगा

तुम खुश रहने ल तुम्हारा स्वास्थ्य

तुम्हारा साथ देने लगेगा तुम्हारे परिवार

में खुशियों का आगमन होगा और वो इंसान

बाहर जाएगा यह निश्चित है अब उस इंसान का

तुम्हारे जीवन से बाहर निकलने का समय आ

गया है और अपनी सजा अपने कर्मों का फल

भोगने का समय आ गया है अब वह तुम्हारा और

बुरा नहीं कर पाएगा बुरा करना तो छोड़ दो

अब वो तुम्हारा बुरा सोच भी नहीं पाएगा तो

तैयार हो जाओ एक नए अध्याय के लिए तैयार

हो जाओ उस इंसान की नकारात्मक ऊर्जा के

बिना एक खुलकर सांस लेने के लिए क्योंकि

अब तक तो तुम घुटन की जिंदगी जी रहे थे

जिसमें तुम्हारा दम घुटता था तुम सांस भी

खुलकर नहीं ले पा रहे थे तुम्हारे परिवार

में खुशियां टिकती ही नहीं थी क्योंकि वह

व्यक्ति यह सब कुछ कर रहा था वो व्यक्ति

तुम्हारे बहुत करीब होकर सब कुछ बहुत करीब

से देख रहा था और उस एक एक चीज तुम्हें

वार कर रहा था एक एक चीज पर तुम्हें चोट

पहुंचा रहा था पर अब और नहीं अब यही से एक

नई शुरुआत होने वाली है तुम्हारे जीवन में

और यही शुरुआत है खुशियों की शुरुआत

तुम्हें जीवन को जीने में कोई उत्साह नहीं

रह गया था तुम्हें तो मन ही नहीं करता था

एक मेरा सा भरा जीवन जी रहे थे तुम पर अब

तुम्हे जीवन को जियोगे और खुलकर जियोगे

खुशी के साथ आत्म सम्मान के साथ जियोगे

जिस मान सम्मान के तुम हकदार हो वह वह मान

सम्मान तुम्हें मिलेगा और उस इंसान का

झूठा बसाया हुआ संसार ध्वस्त हो जाएगा वह

संसार जिसमें वह माया जाल बिखेर के बैठा

हुआ था वही संसार उसे ले डूबेगा और उसी पर

तुम्हारे नए आशियाने का

जन्म होगा एक नए जीवन का जन्म होगा जिसमें

खुशियां होगी हरियाली होगी और तुम्हें यह

परिवर्तन खुद महसूस होगा अपने भीतर अपने

अगल बगल उस इंसान की नकारात्मक ऊर्जा जाने

के बाद तुम्हें एक बहुत अच्छी एनर्जी फील

होगी अपने आसपास तो अपने आप को शुद्ध करना

शुरू कर दो सूर्य की रोशनी में बैठो बाहर

जाओ सांस लो लोगों से मिलो मेरे बच्चे और

अपने जीवन को जीना सीख लो अब वो व्यक्ति

तुम्हारे जीवन से जा रहा है खुशियां आ रही

है उन खुशियों का स्वागत करो मेरे बच्चे

तुम्हारा मन आजकल बहुत बेचैन रहता है बहुत

उल्टे सीधे ख्याल आते हैं तुम्हारे दिमाग

में सर भारी रहता है तुम्हें रात में नींद

नहीं आती है जिसकी वजह से तुम्हें बहुत

क्रोध आ रहा है तुम्हारा यकीन मुझ पर से

भी गड गाता जा रहा है कि माता मैंने आपसे

बहुत गिनती की बहुत बार अर्जी लगाई है

आपके द्वार पर पर आपने मेरी नहीं सुनी आप

मुझसे वादे तो बहुत करती है क्या आप मुझे

सब कुछ देंगी माता पर यहां तो मुझे मेरी

परिश्रम तक का फल नहीं मिल रहा है मेरे

बच्चे ऐसा तुम्हारे साथ हो रहा है तो हां

टाइप करो मेरे बच्चे यही सब बातें सोचकर

तुम्हें बहुत आ रहा है कि कहीं तुम्हारा

भविष्य अंधियारे में ना डूब जाए ऐसा इसलिए

ही हो रहा है तुम्हारे साथ मेरे बच्चे

क्योंकि तुम्हारे जीवन की बहुत बड़ी

मुश्किल बहुत बड़ी प्रॉब्लम खत्म होने

वाली है वह मुसीबत अपने अंतिम चरण में है

इसलिए तुम्हें बहुत क्रोध आएगा और बहुत

सारी बातें आएंगी तुम्हारे दिमाग में जो

तुम्हें खुद भी पता है कि नहीं आनी चाहिए

तुम्हारा दिल भी जानता है कि वह सारी

बातें तुम्हें कभी नहीं सोचनी चाहिए जो

बातें अब भी तुम्हारे दिमाग में आ रही है

तो इसलिए क्रोध मत करना जो मैंने

निर्धारित कर रखा है उसको मत बिगाड़ना

अपने क्रोध में कुछ भी मत बोलना या

तुम्हें क्रोध आया जब तुम्हारे मन में

विचार आए तो शांत हो जाना मेरे बच्चे अपने

शब्दों से तुम्हारी माता ने जो तुम्हारे

लिए लिखा है उसको मत खो देना क्योंकि तुम

जो सोच रहे हो जो तुम नकारात्मकता खींच

रहे हो अपने विचारों से वही तुम्हारा जीवन

बन जाएंगे इसलिए क्रोधित मत हो कुछ भी मत

सोचो तुम्हारे हर परिश्रम का फल तुम्हें

मिलेगा आज नहीं तो कल वो मिलेगा ही मिलेगा

और गुना ज्यादा मिलेगा मेरे बच्चे मुझे

मानते हो तो लाइक करो और अंक टाइप करो

मेरे बच्चे तुम्हारी अंतर आत्मा जानती है

तुम्हारा दिल जानता है कि तुम्हारे जीवन

में बहुत जल्द ही खुशियां आने वाली है

क्योंकि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *