मां काली बहुत ताने सुन लिए तुम्हारे मित्र शत्रु रिश्तेदार अब सब के मुंह पर ताला लगने वाला - Kabrau Mogal Dham

मां काली बहुत ताने सुन लिए तुम्हारे मित्र शत्रु रिश्तेदार अब सब के मुंह पर ताला लगने वाला

मेरे प्यारे बच्चे आज तुम्हें कुछ आवश्यक

बातें बताने आई हूं इसलिए मेरे संदेश को

अंत तक सुनना मेरे बच्चे मैं चाहती हूं कि

तुम अपने जीवन में एक नए सूरज को उदित

होने दो तुम्हें अपने जीवन में बदलाव की

आवश्यकता है और उस बदलाव के लिए तुम्हें

अपने जीवन को पूर्ण रूप से बदलना होगा मैं

चाहती हूं मेरे बच्चे कि तुमने अपने जीवन

में जो भी बुरे कर्म किए थे या करे हो उन

सभी बुरे कर्मों को अब करना छोड़ दो तथा

अपने जीवन को नए कर्मों की ओर अग्रसर करो

मैंने तुम्हें सदैव ही अपने दुखों के कारण

परेशान होते हुए देखा है और मैं अपने

बच्चे को इस प्रकार से परेशानी में नहीं

देख सकती मैं जानती हू तुम्हारे अंदर

बेहतर होने की गुंजाइश है तुम इतने बुरे

नहीं हो जितने तुम बन चुके हो और यह केवल

तुम्हारे हालातों के कारण है तुम्हारे

हालातों ने तुम्हें इस प्रकार से

परिवर्तित कर दिया है कि तुम अच्छे बुरे

में फर्क समझ नहीं पा रहे और मेरे बच्चे

मैं यह बात जानती हूं कि तुम्हारे अंदर

बुराई से ज्यादा अच्छाइयां भरी हुई है और

उन अच्छाइयों को तुम बाहर आने से मत रोको

उन्हें बाहर आने दो क्योंकि अब समय आ गया

है कि तुम्हारे जीवन में परिवर्तन आवश्यक

है मैं तुमसे यह चाहती हूं कि तुम अपने

सभी बुरे कर्मों को त्याग कर अच्छे कर्मों

की ओर आगे बढ़ो और अच्छे कर्मों से अपने

जीवन से सारी बुराइयों को दूर कर दो

तुम्हारे हाथों से किया गया एक भी अच्छा

कार्य जन कल्याण के लिए सार्थक साबित होगा

क्योंकि तुम्हारे अंदर इतनी क्षमता है कि

तुम चाहे तो अपने साथ-साथ अपने आसपास के

लोगों का जीवन भी बदल सकते हो किंतु इस

समय तुम केवल इन दुखों के कारण स्वयं को

अकेला महसूस कर रहे हो मेरे बच्चे तुम्हें

अपने अंदर की कलाओं का इस्तेमाल करना

चाहिए तुम्हारे अंदर जो क्षमता है उससे

अपने जीवन के साथ-साथ अपने आने वाले

भविष्य के लिए भी तुम्हें कुछ करना चाहिए

क्या तुम अपने इस नए जीवन के लिए इस नए

अवसर के लिए स्वयं को बदलना नहीं चाहोगे

मैं चाहता हूं मेरे बच्चे कि तुम उन लोगों

की मदद करो जो अपनी मदद खुद नहीं कर पाते

तुम उनके दुखों को समझकर उनके जीवन से उन

सभी दुखों को दूर कर दो जिनसे वह पीड़ित

हैं

मेरे क्रोध के कारण बहुत सी बुराइयां

तुम्हारे जीवन से पहले ही हट चुकी हैं और

जो बुराइयां तुम्हारे भीतर शेष बची हैं वह

तुम्हें स्वयं हटानी पड़ेंगी एक बात याद

रखो कि तुम्हारी मां तुम्हारे लिए सदैव

अच्छा ही चाहती है मैं यही चाहती हूं कि

तुम अपने अंदर की बुराइयां खत्म करके मेरा

साथ दो इन लोगों की मदद करने में जिन

लोगों को मदद की आवश्यक है मैं तुम्हें

अपने लिए चुनना चाहती हूं ताकि तुम मेरे

द्वारा उन सभी कार्यों को पूर्ण करो जिससे

मानवता का कल्याण हो मेरे बच्चे यदि तुम

मेरे इस कार्य में साथ देते हो तो मैं

तुम्हें वचन देती हूं कि तुम्हारे जीवन के

लिए जो चीजें आवश्यक होंगी वह सभी चीजें

मैं तुम्हें उपलब्ध

कराऊंगा पर लेकर जाऊंगी जहां से तुम्हारा

जीवन कभी दुखों की ओर लौट कर नहीं जाएगा

मेरी दृष्टि से कोई भी बच नहीं सका है मैं

जानती हूं कि कब कौन क्या कर रहा है और

किस कारण से कर रहा है यही वजह है कि मैं

तुम्हें आज अपने संदेश के द्वारा यह बताने

आई हूं कि तुम्हारे कर्म इतने बुरे नहीं

है तुम केवल इन दुखों के कारण अपने कर्म

बुरे बना रहे हो और मैं यह भी जानती हूं

कि तुम में सुधार की गुंजाइश है इसलिए मैं

तुमसे यह चाहती हूं कि तुम भी अच्छे मार्ग

पर चलना शुरू कर दो अपनी मां की इस बात को

मान लो और अपने जीवन को एक नई दिशा की ओर

लेकर चलो तुम्हारे इस चयन से तुम्हारी आने

वाली नई पीढ़ी के जीवन में सुधार आएगा तथा

मेरे आशीर्वाद से तुम और तुम्हारा परिवार

सदैव के लिए इन कष्टों से दूर हो जाएगा जो

कष्ट तुम्हारे जीवन में बार-बार दुखों के

रूप में आ जाते हैं तुम केवल खुद को और

अपने आने वाले कार्य को बेहतर बनाने में

पहला कदम रखो उसके बाद मैं तुम्हें उन

ऊंचाइयों तक लेकर जाऊंगी जिन ऊंचाइयों की

कल्पना तुमने स्वप्न में भी नहीं की होगी

बस तुम मुझसे है वादा करो कि तुम अब फिर

कभी बुरे कार्य में स्वयं को लेकर नहीं

जाओगे तथा जीवन में केवल अच्छे कार्य ही

करोगे यदि तुम मुझसे यह वादा करते हो तो

तुम्हारे जीवन से सारे दुखों को हटा दूंगी

यदि तुम मेरी सच्चे दिल से पूजा करते हो

तो तुमने अभी तक जो भी बुरे कर्म किए हैं

मैं उन सभी को माफ कर दूंगी मेरे बच्चे

तुम्हारी अंतर आत्मा में अभी भी कई प्रकार

की अच्छाइयां बाकी हैं और मैं उन्हीं

अच्छाइयों को जगाने के लिए तुम्हारे पास

आई हूं तुम्हें अपनी उन अच्छाइयों को

जगाना बेहद आवश्यक है अब तुम्हारी माता को

जाना होगा लेकिन मेरी इन बातों को अपने

हृदय से लगाकर रखना और यदि तुम फिर भी

मार्ग से भटक गए तो मैं तुम्हें दोबारा

समझाने अवश्य आऊंगी मेरे अगले संदेश की

प्रतीक्षा

करना मेरे प्यारे बच्चे आज तुम्हें कुछ

आवश्यक बातें बताने आई हूं इसलिए मेरे

संदेश को अंत तक सुनना मेरे बच्चे मैं

चाहती हूं कि तुम अपने जीवन में एक नए

सूरज को उदित होने दो तुम्हें अपने जीवन

में बदलाव की आवश्यकता है और उस बदलाव के

लिए तुम्हें अपने जीवन को पूर्ण रूप से

बदलना होगा मैं चाहती हूं मेरे बच्चे कि

तुमने अपने जीवन में जो भी बुरे कर्म किए

थे या करे हो उन सभी बुरे कर्मों को अब

करना छोड़ दो तथा अपने जीवन को नए कर्मों

की ओर अग्रसर करो मैंने तुम्हें सदैव ही

अपने दुखों के कारण परेशान होते हुए देखा

है और मैं अपने बच्चे को इस प्रकार से

परेशानी में नहीं देख सकती मैं जानती हूं

तुम्हारे अंदर बेहतर होने की गुंजाइश है

तुम इतने बुरे नहीं हो जितने तुम बन चुके

हो और यह केवल तुम्हारे हालातों के कारण

है तुम्हारे हालातों ने तुम्हें इस प्रकार

से परिवर्तित कर दिया है कि तुम अच्छे

बुरे में फर्क समझ नहीं पा रहे और मेरे

बच्चे मैं यह बात जानती हूं कि तुम्हारे

अंदर बुराई से ज्यादा अच्छाइयां भरी हुई

है और उन अच्छाइयों को तुम बाहर आने से मत

रोको उन्हें बाहर आने दो क्योंकि अब समय आ

गया है कि तुम्हारे जीवन में परिवर्तन

आवश्यक है मैं तुमसे यह चाहती हूं कि तुम

अपने सभी बुरे कर्मों को त्याग कर अच्छे

कर्मों की ओर आगे बढ़ो और अच्छे कर्मों से

अपने जीवन से सारी बुराइयों को दूर कर दो

तुम्हारे हाथों से किया गया एक भी अच्छा

कार्य जन कल्याण के लिए सार्थक साबित होगा

क्योंकि तुम्हारे अंदर इतनी क्षमता है कि

तुम चाहे तो अपने साथ-साथ अपने आसपास के

लोगों का जीवन भी बदल सकते हो किंतु इस

समय तुम केवल इन दुखों के कारण स्वयं को

अकेला महसूस कर रहे हो मेरे बच्चे तुम्हें

अपने अंदर की कलाओं का इस्तेमाल करना

चाहिए तुम्हारे अंदर जो क्षमता है उससे

अपने जीवन के साथ-साथ अपने आने वाले

भविष्य के लिए भी तुम्हें कुछ करना चाहिए

क्या तुम अपने इस नए जीवन के लिए इस नए

अवसर के लिए स्वयं को बदलना नहीं चाहोगे

मैं चाहता हूं मेरे बच्चे कि तुम उन लोगों

की मदद करो जो अपनी मदद खुद नहीं कर पाते

तुम उनके दुखों को समझकर उनके जीवन से उन

सभी दुखों को दूर कर दो जिनसे वह पीड़ित

हैं मेरे क्रोध के कारण बहुत सी बुराइयां

तुम्हारे जीवन से पहले ही हट चुकी हैं और

जो बुराइयां तुम्हारे भीतर शेष बची हैं वह

तुम्हें स्वयं हटानी पड़ेंगी एक बात याद

रखो कि तुम्हारी मां तुम्हारे लिए सदैव

अच्छा ही चाहती है मैं यही चाहती हूं कि

तुम अपने अंदर की बुराइयां खत्म करके मेरा

साथ दो इन लोगों की मदद करने में जिन

लोगों को मदद की आवश्यकता है मैं तुम्हें

अपने लिए चुनना चाहती हूं ताकि तुम मेरे

द्वारा उन सभी कार्यों को पूण करो जिससे

मानवता का कल्याण हो मेरे बच्चे यदि तुम

मेरे इस कार्य में साथ देते हो तो मैं

तुम्हें वचन देती हूं कि तुम्हारे जीवन के

लिए जो चीजें आवश्यक होंगी वह सभी चीजें

मैं तुम्हें उपलब्ध कराऊंगा तुम्हें उन

ऊंचाइयों पर लेकर जाऊंगी जहां से तुम्हारा

जीवन कभी दुखों की ओर लौट कर नहीं जाएगा

मेरी दृष्टि से कोई कोई भी बच नहीं सका है

मैं जानती हूं कि कब कौन क्या कर रहा है

और किस कारण से कर रहा है यही वजह है कि

मैं तुम्हें आज अपने संदेश के द्वारा यह

बताने आई हूं कि तुम्हारे कर्म इतने बुरे

नहीं है तुम केवल इन दुखों के कारण अपने

कर्म बुरे बना रहे हो और मैं यह भी जानती

हूं कि तुम में सुधार की गुंजाइश है इसलिए

मैं तुमसे यह चाहती हूं कि कि तुम भी

अच्छे मार्ग पर चलना शुरू कर दो अपनी मां

की इस बात को मान लो और अपने जीवन को एक

नई दिशा की ओर लेकर चलो तुम्हारे इस चयन

से तुम्हारी आने वाली नई पीढ़ी के जीवन

में सुधार आएगा तथा मेरे आशीर्वाद से तुम

और तुम्हारा परिवार सदैव के लिए इन कष्टों

से दूर हो जाएगा जो कष्ट तुम्हारे जीवन

में बार-बार दुखों के रूप में आ जा हैं

तुम केवल खुद को और अपने आने वाले कार्य

को बेहतर बनाने में पहला कदम रखो उसके बाद

मैं तुम्हें उन ऊंचाइयों तक लेकर जाऊंगी

जिन ऊंचाइयों की कल्पना तुमने स्वप्न में

भी नहीं की होगी बस तुम मुझसे यह वादा करो

कि तुम अब फिर कभी बुरे कार्य में स्वयं

को लेकर नहीं जाओगे तथा जीवन में केवल

अच्छे कार्य ही करोगे यदि तुम मुझसे यह

वादा करते हो तो तुम्हारे जीवन से सारे

दुखों को हटा दूंगी यदि तुम मेरी सच्चे

दिल से पूजा करते हो तो तुमने अभी तक जो

भी बुरे कर्म किए हैं मैं उन सभी को माफ

कर दूंगी मेरे बच्चे तुम्हारी अंदर आत्मा

में अभी भी कई प्रकार की अच्छाइयां बाकी

हैं और मैं उन्हीं अच्छाइयों को जगाने के

लिए तुम्हारे पास आई हूं तुम्हें अपनी उन

अच्छाइयों को जगाना बेहद आवश्यक है अब

तुम्हारी माता को जाना होगा लेकिन मेरी इन

बातों को अपने हृदय से लगा कर रखना और यदि

तुम फिर भी मार्ग से भटक गए तो मैं

तुम्हें दोबारा समझाने अवश्य आऊंगी मेरे

अगले संदेश की प्रतीक्षा

करना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *