मां काली ज़ख्मी शेर हो तुम जिसे छेड़ कर उसने अपनी बरबादी को बुला लिया - Kabrau Mogal Dham

मां काली ज़ख्मी शेर हो तुम जिसे छेड़ कर उसने अपनी बरबादी को बुला लिया

मेरे बच्चे तुम पर इतना भयानक प्रहार किया

गया जिससे बच पाना मुश्किल था तुम्हें

क्षति पहुंचाई मानसिक आर्थिक नुकसान

पहुंचाया मेरे बच्चे कुछ लोगों ने तुम्हें

इस कदर तोड़ने की चेष्टा की मेरे बच्चे कि

तु फिर कभी सपने ना देख पाओ फिर कभी उठ ना

सको कोई तुम्हारा साथ ना दे उसने तुम्हें

जीवन के प्रत्यक क्षेत्रों में मेरे बच्चे

हानि पहुंचाई तुम्हें रोता देख तुम्हें

तड़पता देख वो खुश होते रहे तुम्हें इतना

तकलीफ दी गई कि तुम्हारा इंसानियत सबसे

विश्वास टूट गया तुम्हारी भक्ति ने भी

तुम्हारा साथ नहीं दिया तुम्हें समाज में

मेरे बच्चे बदनाम किया गया तुम्हारा नाम

खराब किया गया किसी ने भी तुम्हारा साथ

नहीं दिया मेरे बच्चे मैंने भी तुम्हारा

साथ नहीं दिया तुम्हें बेबसी के हालत में

देख तुम्हारे चेहरे पर पीड़ा देख उन्हें

बड़ा मजा आता था उन्हें तो लगने लगा था

मेरे बच्चे कि फिर कभी कि तुम अब कभी कम

बैक नहीं करोगे जीवन भर ऐसे ही सिसकते

रहोगे मेरे ब मेरे बच्चे यह तो समय का खेल

था हां मेरे बच्चे नियती अपनी चाल चल रही

थी पर वो अपने अकार में अंधा अपने इशिया

में अंधा भूल गया कि उसके गलत कर्मों की

अति अब हो गई है उसके पापों का घड़ा हर

चुका है उसने तुम्हारे बुरे वक्त को अपनी

जीत समझ लिया उसने तुम्हारे साथ ना जाने

मेरे बच्चे क्या कर दिया बुराई की सीमा

पार कर चला गया अब मेरे प्रकोप से उसे कोई

नहीं बचा सकता

मेरे बच्चे मेरे क्रोध से उसे कोई नहीं

बचा सकता चाहे वह कितनी चालाकी कर ले किसी

की भी शरण ले ले खुद को कहीं भी छुपा ले

मेरे क्रो से उसे कोई नहीं बचा सकता उसका

ओवर कॉन्फिडेंस उसे ले डूबा तुमने भी ठान

लिया है कि इनको इनकी औकात बता कर रहोगे

यह सोच रहे थे कि तुम अब कभी वापसी नहीं

करोगे कभी अपने नों को पूरा नहीं करोगे

मेरे बच्चे तुम अपने सपनों को पूरा भी

करोगे और उसे जियोगे भी तुम तुम्हें जो

दर्द दिया गया यह सोचकर कि अब तुम फिर कभी

खुश नहीं रहोगे लेकिन तुमने अपनी पीड़ा को

ही मेरे बच्चे अपनी ताकत बना लिया

तुम्हारे आंसू तो सब सूख गए पर तुम भूले

नहीं हो मेरे बच्चे जो जो तुम्हारे साथ

हुआ मेरे बच्चे वो तुम हां मेरे बच्चे वो

तुम भूले नहीं हो वो घाव आज भी ताजा है

तुम्हारे जहन में उसने रिश्तों में जो

दरार डाली उससे कितनों के चेहरे मेरे

बच्चे तुम्हारे सामने आए हां मेरे

बच्चे जो तुमसे छुपे हुए थे मेरे बच्चे अब

तुम फूल से चट्टान बन गए हो अब तुम पहले

जैसे भाबुक नहीं होते हो मेरे

बच्चे अब तुम्हें बातें बुरी नहीं लगती

तुम्हें भीतर से मजबूत देखकर वह हिल गया

है डर गया है क्योंकि उसके मंसूबों पर

पानी फिर रहा है मेरे बच्चे अब तुम जख्मी

शेर बन गए हो जो मौका मिलते ही उसे धर द

बजेगा उसे बर्बाद कर देगा उसने तुम्हारा

यह रूप मेरे बच्चे कभी सोचा नहीं था कभी

देखा नहीं था हां मेरे

बच्चे उसके पसीने छूटते हैं तुम्हें इस

निडर भाव में देखकर वो समझ गया है कि उसका

गुंडा राज नहीं चलेगा हां मेरे बच्चे व

समझ गया है तुम उसके हाथ से निकल गए हो

उसको अब ऐसा लग रहा है व तुम्हारी हंसी से

हैरान है परेशान है कुछ लोग ऐसा सोच रहे

हैं मेरे बच्चे कि तुम अपने पैरों पर खड़े

कैसे हो गए इस बात ने उनकी रातों की नींद

उड़ा दी है मेरे बच्चे वो कुछ भी कर ले

अब मेरे बच्चे तुम पीछे नहीं हटोंग अब

आपको दर्द नहीं होता यह बात उन्हें अंदर

ही अंदर खाए जा रही है उनकी बेचैनी बढ़ती

जा रही है मेरे बच्चे रात दिन बेचैन है वह

तुम्हारा समय कमजोर था इसलिए उन्होंने

तुम्हें कमजोर समझ लिया मेरे बच्चे

तुम्हारे व्यक्तित्व का यह रूप देख यह

पहलू देख उनके हाथ पैर मेरे बच्चे हिल रहे

हैं

फूल रहे हैं उसकी सबसे बड़ी गलती यही थी

कि उसने मुझे और मेरे भक्त को कम समझ लिया

था अब मेरा शेर उस चूहे को मेरे बच्चे

चूहे को डर क्या होता है डर किस नाम की

चीज है यह बताएगा अब वह कभी सपने नहीं देख

पाएगा इतने बुरे सपने दिखाऊंगी मेरे बच्चे

अब जो तुम चाहते हो जैसा तुम चाहते हो वही

होगा तुम्हारा कंट्रोल तुम्हारे हाथ में

है तुम अपने व्यक्तित्व के इस चेंज से

अपनी सोल फैमिली को अट्रैक्ट करोगे मेरे

बच्चे जो तुम्हारा साथ देंगे अब यह

कार्मिक लोगों से छूटने का समय आ गया है

अब वह लोग तुम्हें मिलेंगे मेरे बच्चे जो

तुम्हें सहयोग करेंगे तुम्हारा साथ देंगे

जो तुम्हें तुम्हारे सोल परपज को पूर्ण

करने में तुम्हारी मदद करेंगे और जो लोग

तुम्हारी बर्बादी की योजनाओं को पूर्ण

करने में अपना ना दिमाग लगाते थे मेरे

बच्चे अब उनका दिमाग ही नहीं चल रहा है वो

क्या करें जिससे तुम रुक जाओ तुमने बिना

मेरे बच्चे बिना कुछ कहे बिना कुछ बोले

उन्हें मुंह तोड़ जवाब दिया है अपने पैरों

पर खड़ा होकर दिखा दिया है तुम्हारी

हिम्मत उन्हे मेरे बच्चे तुम्हारी हिम्मत

और

साहस तोड़ रही है तुम आज भी मेरी भक्ति

करते वो उन्हें सहन नहीं तुमने फिर से एक

नई शुरुआत की है मेरे बच्चे एक नई शुरुआत

से वह डर गए हैं तुम्हें मानसिक पीड़ा और

रुलाने के सिवा वह आपका बाल भी बाक नहीं

कर पाए अब उनकी मेरे बच्चे अब उनकी बारी

है अब उनकी रूह काप रही है मेरे बच्चे

आपकी ऊर्जा में उन्हें मैं नजर आ रही हूं

मेरी ऊर्जा का तुम में प्रवेश हो रहा है

मेरे ब बचे और वह इन्हें महसूस हो रहा है

और यह वह उन्हें दिखाई दे गया है उन्हें

यकीन नहीं हो रहा कि तुम उनकी आंखों के

सामने सही सलामत हो और फिर से तुम खड़े हो

गए हो तुमने एक नई शुरुआत कर दी है मेरी

भक्ति मेरी शक्ति का आभास हो रहा है तुम

उन्हें अब उनकी हिम्मत टूट गई है वह झुक

रहे हैं मेरे बच्चे मेरी शक्ति और

तुम्हारी भक्ति साहस के आ

तुम में उन्हें मैं दिख रही हूं वह डर गए

हैं शक्ति के आगे मेरे

बच्चे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *