मां काली कह रही है खुशियां तुम्हारी अब खत्म हो गई। - Kabrau Mogal Dham

मां काली कह रही है खुशियां तुम्हारी अब खत्म हो गई।

मेरे बच्चे वह महिला तुम्हारे जीवन के खुशी छीनना चाहती है तुम्हारी जिंदगी में

दुख भरना चाहती है तुम्हें तड़पता हुआ देखना चाहती हैं वह तुमसे बहुत नफरत करती

है उसे महिला के नाम इस संदेश में बताने वाले हैं इसलिए हमारे प्यारे बच्चों हमारे

संदेश को बीच में अनदेखा मत करना वरना तुम्हारे जिंदगी भर पछताना भी पड़ सकता है

इसलिए मेरे संदेश को अंत तक सुना बच्चों मानव की इस संदेश के सुन लिए तो जिनके के

सारे खुशी तुम्हारे ऊपर आ जाएगी बच्चों अगर तुम्हें दुख नहीं चाहिए खुशी चाहिए तो

हमारे काली मां के चैनल को लाइक और सब्सक्राइब कर दीजिएगा और कमेंट में जय हो

माता रानी हर हर महादेव लिख दीजिएगा सभी लोग सभी बच्चे हमारे चैनल को जरूर

सब्सक्राइब कीजिएगा नहीं तो आपको बाद में पछताना भी पड़ जाएगा दिन रात तुम्हारे

विषय में ही सोचती रहती है क्योंकि मेरे बच्चे हाल ही में उसके जीवन में कुछ ऐसा

हुआ है जो बहुत दर्दनाक है इसलिए वह चाहती है कि जब तक वह तुम्हें अपने समान नहीं कर

लेगी उसे सुकून नहीं मिलेगा वह तुम्हारे सामने तो बहुत मीठी बातें करती है लेकिन

पीठ पीछे तुम्हारी बहुत बुराई कर रहे हैं मेरे बच्चे वह तुम्हारी मौत की दुआ मान

रहे वह सबसे कहती है जब तक वह तुम्हें बर्बाद नहीं करेगी उसे सुकून नहीं मिलेगा

हमें बहुत सावधान रहना है क्योंकि वह महिला बहुत खतरनाक है तुम्हारे घर के

इर्दगिर्द घूम रहे हैं वह तुम पर तांत्रिक क्रियाएं करने का प्रयास कर रहे हैं परंतु

उसका हर प्रयास असफल हो रहा है क्योंकि प्रत्यक्ष रूप से वह कुछ नहीं कर पा रही

है इसलिए वह कुछ नई योजनाएं बना रही है तुम्हारे परिवार से मित्रता बढ़ा रही है

तुम्हारे घर में प्रवेश लेने का उपाय ढूंढ रहे हैं मेरे बच्चे ध्यान रखना यदि वह

तुम्हारे घर में प्रवेश करेंगे तो हर पल अपनी दृष्टि उस पर रखना तुम्हें तुम्हारे

परिवार के किसी सदस्य को यह तुम्हारी किसी चीज को स्पर्श ना कर पाए क्योंकि उसके मन

में बहुत बुरे विचार आ रहे हैं वह तुम्हारे कपड़ों के साथ कुछ बुरा करना

चाहती है आज तक उसने जो भी तांत्रिक क्रियाएं तुम्हारे ऊपर की है वह काम नहीं

कर रही है इसलिए वह ऐसी चीज झूल रही है जिसे तुम इस्तेमाल कर रहे हो जिसमें

तुम्हारी खुशबू हो ताकि उसके माध्यम से वह अपनी क्रिया कर सकी मेरे बच्चे अपने कपडों

पर विशेष ध्यान देना उसे कभी भी बाहर खुले में मत छोड़ना उसे धारण करने से पूर्व

अच्छी तरह से देखना यदि उसमें कोई कट लगा हो यह कोई रंगबिरंगी चीज लगी है तो कपडों

को कभी धारण मत करना मेरे बच्चे वह तुम्हें मानसिक शारीरिक आर्थिक हर प्रकार

से क्षति पहुंचाना चाहती है वह देख रही है कि तुम्हारी बुद्धि बहुत तीव्र है उसका

खुद का परिवार बहुत पीछे जा रहा है दिन प्रतिदिन उसके परिवार का विनाश हो रहा है

इसलिए वह बहुत तिलमिला रहे हैं उसने निश्चय कर लिया है वह तुम्हें कभी भी आगे

नहीं बढ़ने देगी वह तुम्हारी बुद्धि को बांधने का प्रयास कर रहे हैं आए दिन

तुम्हारे घर में उपद्रव करवाने की कोशिश कर रही है क्योंकि उसका खुद का परिवार

बिखरा पड़ा है एक दूसरे के बीच बहुत मनमुटाव है इसलिए तुम्हारे घर की एकता

तुम्हारी शांति उसे बर्दाश्त नहीं हो रही है वह अपनी नीच हरकतों से तुम्हारे

परिजनों के मन में नफरत का बीज बो रहे उसके घर में भी उसका कोई सम्मान नहीं करता

है यहां तक कि उसके बच्चे भी उसका आदर नहीं करते हैं उसके परिवार के लोग

उसकी नीच हरकत से परेशान है उसकी कारण प्रतिदिन उसके अपने लोग बेइज्जत हो रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *