मां काली आपसे कुछ कहना चाहती है - Kabrau Mogal Dham

मां काली आपसे कुछ कहना चाहती है

मेरे बच्चे मैं आपको विश्वास दिलाती हूं

आपके सभी रुके काम आज से बनने शुरू हो

जाएंगे मैं चैन से नहीं बैठूंगी हां मेरे

बच्चे जब तक आपका जीवन खुशियों से नहीं भर

देती मेरे बच्चे संदेश को लाइक करके कमेंट

में जय मा काली लिख दें मेरे बच्चे कैसे

हैं आप उसका अहम उसका अहंकार ही उसे

बेनकाब कर देगा वह अब तुम्हें परे नहीं कर

पाएगा उसका किस्सा खत्म मैं स्वयं

तुम्हारे साथ खड़ी हूं मेरे रहते हुए आपको

किस चीज की चिंता की आवश्यकता है उस बह

रूपी के ना जाने कितने चेहरे हैं उसने

तुम्हारी सोच और तुम्हारी मेंटल स्थिति को

बहुत चोट पहुंचाई है मेरे बच्चे तुम आने

वाले दिनों में कुछ दिनों के लिए अपने

बीते कल को लेकर दुखी हो जाओगे जो आपने

सहा जिसकी वजह से आपने सहा आपको उन लोगों

पर क्रोध आएगा दिल भर जाएगा अपने मन की

व्यथा से पार आने वाले दिनों में मैं

कुछ ऐसा करूंगी कि दुश्मन तुम्हारे पैरों

में पड़ा होगा उसे तुम्हारे जीवन से निकाल

फेंकू अब और उसे उसके षड्यंत्र में सफल

नहीं होने दूंगी मेरे बच्चे तुम सोचकर

दुखी हो जाते हो कि मेरा इतना अच्छा सोचने

के बाद भी इतनी भलाई करने के बाद भी इतनी

भक्ति करने के बाद भी मुझे कष्टों और

दुखों का सामना करना पड़ रहा है और लोग

इतना गलत करने के बाद भी इतना गंदा करने

के बाद भी अपनी गंदी योजनाओं में सफल हो

जाते हैं इन लोगों ने बार-बार तुम्हारे

दिमाग से खेला है मेरे बच्चे हां मेरे

बच्चे मैं जानती हूं तुम्हारी सोच और

सफलता को बाधित किया है मेरे बच्चे जो

स्थितियां टस से मस नहीं हो रही व रातों

रात बदलने वाली है मेरे बच्चे सुनो

दिनों के अंदर तुम्हारे नाम का डर बैठा

दूंगी मैं तुम्हारे शत्रुओं के मन में

मुंह छुपाकर भाग जाएगा वो मेरे बच्चे

तुमसे दूर व वो कितना ही छुप ले पर मेरी

नजरों से नहीं छुप सकता उसे कभी माफ नहीं

करूंगी उसने तुम्हें मेरे बच्चे उसने

तुम्हें कैद कर दिया था अब हर हाल में

तुम्हारी जीत होगी उसने तुम्हें पिंजरे

में कैद कर दिया था अब तुम आजाद हो मेरे

बच्चे उस पिंजरे से उस पिंजरे को तोड़कर

तुम आजाद हो अब फिर से तुम्हारा विश्वास

कायम होगा मुझ पर और अच्छाई पर मेरे बच्चे

अब उसका जीना हराम होगा एक एक सांसे गिने

का वह वह उम्र में बड़ा है आपसे लेकिन

इससे अधिक इंसानियत और अनुभव आपके अंदर है

पर अब मैं उसे ऐसी जोड़ दूंगी कि उसे पता

चलेगा उसे वह जीवन के अनुभव मिलेंगे मेरे

बच्चे जो उसको नीचे की तरफ खींचें

तुम्हारा जीवन खुशियों से भरने वाला है

तुम अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखना मेरे

बच्चे जिन लोगों ने तुम्हें गलत समझा

तुम्हें छोड़कर किसी तीसरे पर यकीन किया

उन्हें भी मेरे बच्चे अपनी गलतियों का

एहसास होगा मेरे बच्चे पर उनकी माफी से

पिघल मत जाना अपने बुरे दिनों की सीख को

मेरे बच्चे याद रखना भूल मत जाना मैं

तुम्हारे लिए बहुत बड़ा कदम उठा रही हूं

बस अपने मन से सारी नरा नकारात्मकता निकाल

दो मेरे बच्चे नियम बना लो कि दिन में दो

बार मेरे सामने बैठकर या शीशे के सामने

बैठकर सिर्फ सकारात्मक बातें करोगे और

अपनी भीतर की शक्ति को पहचानोगे जब भी तुम

अपने बीते कल को याद करके दुखी होते हो तब

मेरे बच्चे तुम जब अकेले थे इसके बाद भी

तुमने समय काट लिया जब गिराने वाले अनेक

थे पर कोई संभालने वाला कोई नहीं था आपको

फिर भी आपने मेरे बच्चे हार नहीं मानी

तुमने जब हिम्मत नहीं हारी जब टूट करर

नहीं बिखरे तो तुम अब सक्षम हो जीवन की हर

चुनौतियों को पार करने के लिए जब मेरे

बच्चे तुम अपनी भीतर की शक्ति को पहचानोगे

तुम्हारी माता चमत्कार कर सकती है मेरे

बच्चे अगले दिनों में तुम्हारे जीवन

में एक नया सूर्य हदय होगा तुम्हारे जीवन

से सभी बुरे लोग सभी बुरे विचार उखाड़

फेंकने हैं मुझे हां मेरे बच्चे अब सिर्फ

तुम्हें खुद को देखना है खुद की भीतरी

सुंदरता को देखना है आपकी आत्मा कितनी

प्यारी है उसे मेरे बच्चे बाहरी और भीतरी

बुराई से बचाना है छोटी सी उम्र से ही

आपको समझ थी आपको अनुभव था आपकी आत्मा को

ज्ञान है मेरे बच्च

और यह ज्ञान तुम्हें है यह ज्ञान इसलिए है

क्योंकि तुमने पिछले जन्म से ही मेरी

भक्ति की है हां मेरे बच्चे नेकी का

रास्ता कभी नहीं छोड़ा फिर चाहे रास्ते

में तुम्हें लाख कांटे मिले हो पर अपनी

भक्ति नहीं छोड़ी अपनी श्रद्धा नहीं छोड़ी

मेरे बच्चे तुमने इसलिए इस दुनिया को रोकर

मत दिखाओ अपनी ताकत को दिखाओ दहाड़ लगाओ

यह दिखाओ कि तुम मेरे बच्चे कमजोर नहीं हो

कभी नहीं झुको तो आगे भी नहीं झुको ग इन

आने वाले दिनों में तुम्हें अपने

विचारों में बदलाव लाना होगा मेरे

बच्चे तुम्हारे शत्रु तुमसे डरेंगे तभी

तुम्हारी माता तुम्हारे साथ न्याय कर

पाएगी मेरे बच्चे तुम कसम खा लो कि मेरे

बच्चे अब कभी नहीं रोगे मेरे बच्चे अपने

आंसू पोच लो क्योंकि तुम्हारी माता

तुम्हारे साथ है मैं बुरे से बुरे समय में

मेरे बच्चे

भी तुम्हारे साथ हूं यह कभी भी मत सोचना

कि तुम्हारे साथ अन्याय होता रहेगा और

तुम्हारी माता मुह पनी सब देखती रहेगी अगर

तुम चाहते हो कि तुम्हारे साथ न्याय हो तो

मेरे बच्चे तुम्हें पहले खुद के साथ न्याय

करना होगा मेरे बच्चे तुम्हें इन दो टके

के लोगों की बातों को सुनकर दिल पर लेना

छोड़ना होगा रोना छोड़ना होगा मेरे बच्चे

इनकी बातो से प्रभावित मत हो उनकी बातों

को खुद पर हावी होने से रोकना होगा लोगों

के बारे में सोचकर अपना भविष्य खराब मत

करो खुद की शक्तियों को पहचानो यह देखो कि

तुम्हारी माता तुम्हें क्या देना चाहती है

जब तुम समझ जाओगे तुम्हें इस संसार की

बातें छोटी लगने लगेंगी यह दुनिया छोटी

लगेगी छोटे लोगों की छोटी बातें आने वाले

दिन में उनको उनकी औकात दिखा दूंगी बस

तुम हिम्मत मत धरना उन लोगों को खुद से

अधिक बलवान मत समझ लेना खुद से अधिक

बुद्धिमान मत समझ लेना तुम्हारे पास विवेक

है क्या उनके पास है नहीं मेरे बच्चे अगर

आप महाकाली पर विश्वास करते हैं तो मेरी

इस संदेश को लाइक कर देना कमेंट में अपना

नाम लिख देना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *