मां काली आपके सपनों से आपके दुश्मन क्यों डर रहे हैं आपके दुश्मन उनके कर्मों से डर रहे हैं - Kabrau Mogal Dham

मां काली आपके सपनों से आपके दुश्मन क्यों डर रहे हैं आपके दुश्मन उनके कर्मों से डर रहे हैं

मेरे बच्चे मैं जानती हूं कि तुम प्रत्येक

क्षण मेरा ही स्मरण करते रहते हो देखो

तुम्हारी पुकार सुनकर मैं आ गई हूं अब

तनिक मुस्कुराओ क्योंकि इस सप्ताह में

तुम्हें एक अच्छी खबर मिलने वाली है जो

तुम्हें हृदय से प्रसन्नता

देगी मेरे बच्चे जीवन की छोटी-छोटी खुशी

को पूरे उत्साह से स्वीकार करना चाहिए जो

व्यक्ति हर दिन छोटी सी छोटी कामयाबी को

अपनी प्रसन्नता बना लेता है उसे यह

प्राकृतिक और भी बड़े अवसर देती है

प्रसन्न होने के

लिए वही दूसरी तरफ जो लोग जो हर दिन निराश

होने का कोई ना कोई कारण ढूंढ ही लेते हैं

तो ऐसे में वह जीवन भर दुखी रहते हैं

इसलिए छोटी कामयाबी को नजर अंदाज नहीं

करना चाहिए क्योंकि एक-एक सीढ़ी चढ़कर ही

शिखर पर पहुंचा जाता

है मेरे बच्चे तुम इतना कामयाब हो जाओगे

कि तुम्हारे लिए समय की रफ्तार कई गुना

बढ़ जाएगी छोटे-छोटे पल का आनंद लेना कठिन

हो जाएगा इसलिए मेरे बच्चे जीवन में हर एक

पल में वास्तविक जीवन होना चाहिए वही तो

शुद्ध जीवन

है अथवा बिना किसी उत्साह के कार्य करते

चले जाना यह तो एक मशीन के समान है तुम तो

मेरी सबसे सुंदर रचना हो जब तुम जीवन को

उत्साह से जीते हो तब मुझे यह देखकर

प्रसन्नता होती है मेरे बच्चे जब तुम

स्वयं से पहले दूसरे के बारे में सोचते

हो तब मुझे तुम पर गर्व होता है जब तुम

जिस कामयाबी की अभिलाषा कर रहे हो वह

तुम्हें अवश्य मिलेगी तुम्हें इतना मिलेगा

जो तुम्हारे लिए एकत्र करना भी कठिन हो

जाएगा किंतु स्मरण रखना तुम्हारा विचार

इसी प्रकार निर्मल रहना

चाहिए मैं देख रही हूं कि दो दिनों में

कुछ परेशान हो किसी बात से परेशान हो तुम

भले ही तुम्हारे मुख पर मुस्कान है परंतु

मन किसी कोने में किसी बात के लिए विचलित

हो मेरे बच्चे तुम्हारे अपनों की बातें और

जो तुम सपने देख रहे हो उसको लेकर चिंतित

हो

हो आध्यात्मिक विकास के साथ में जो संकेत

प्राप्त होते हैं वह तुम्हें प्रसन्नता के

साथ कई प्रश्न भी देते हैं मेरे बच्चे

घबराओ मत तुम सपने में एक साथ भूत और

भविष्य को देख रहे हो तुम्हारे पूर्व

जन्मों के चलचित्र अचानक तुम्हारे समक्ष

में आ जाते

हैं तो कभी तुम भविष्य की कुछ घटनाए को

देख लेते हो ध्यान में प्रकाश कुंज दिखता

है कभी मेरा कभी सारा दिन सर दर्द करता है

तुम धीरे-धीरे अपने सक्ष शरीर के प्रति

सचेत और जागृत हो रहे हो जिस प्रकार जब

किसी वस्तु का मथन किया जाता

है तब उस वस्तु का मूल्य तत्व ऊपरी सतह पर

तैरने लगता है ठीक उसी प्रकार जब शक्ति का

आध्यात्मिक मथन होता है तब उसकी भूतकाल से

जुड़ी और भविष्य की घटनाएं उथल उथल के

सामने आती

हैं

जिसके साथ ही व्यक्ति का वह नष्ट होना

प्रारंभ हो जाता है जो उसे पीरा दे रहे थे

मेरे बच्चे तुम सत्य के मार्ग पर हो यह

बात रखना और विचलित मत होना मैंने तुम्हें

अपना सुरक्षा कबज प्रदान किया है जो

तुम्हें हर परिस्थिति में मेरे होने का

एहसास कराता

है

मेरे बच्चे जब तुम अपना एक कदम मेरी ओर

बढ़ाते हो तब मैं प्रेम से सैकड़ों कदम

भागते हुए तुम्हारी ओर आती हूं क्योंकि

तुम शायद अपने सभी पूर्व जन्म भूल गए हो

किंतु मैं तो कब से तुम्हारी प्रतीक्षा कर

रही हूं कि कब मेरी संतान मेरे पास भागते

हुए

आएगा और मुझे प्रेम से पुकारेगा और मुझे

प्रेम करेगा तुमसे अधिक व्याकुल मैं हूं

मेरे बच्चे मैं तुम्हारी प्रतीक्षा कर रही

हूं क्या तुम इस यात्रा को पूरा करोगे

मेरे बच्चे मैं जानती हूं कि तुमने अब तक

जीवन में बहुत संघर्ष किए

हो दुख की पीड़ा अपने हृदय में अकेले

चुपचाप बर्दाश्त करते आए हो मेरे बच्चे अब

अपना विश्वास मत खो मैंने तुम्हारे लिए जो

निर्धारित किया है वह तुम्हें मिलकर रहेगा

किंतु सभी कार्य का एक निर्धारित समय होता

है तुम्हारे जीवन में जिस वक्त जो जो

घटनाएं घटित हुई हैं वह पूर्व निर्धारित

है इसलिए तुम्हें मुझ पर विश्वास कर चाहिए

तुम्हारा विश्वास तुम्हारी शक्ति में

वृद्धि करेगा और अपने बच्चों को सत्य के

मार्ग पर चलते देख मुझे अत्यधिक प्रसन्नता

होती

है तुम्हारे लिए दिव्य द्वार पहले ही खुल

चुके हैं मैं तुम्हारे लिए वह सब कर रही

हूं जो तुम्हारे जीवन को खुशियों से भर

देगी तुम्हें यह रखना चाहिए सफलता तुम्हें

अवश्य मिलेगी मैं तुम्हें कुछ अनुभव कराना

चाहती

हूं यह अनुभव तुम्हारे सफलता का कारण

बनेगी जब तुम्हारे मन में प्रसन्न उठते

हैं तब तुम्हें केवल एक वाक्य स्मरण रखना

चाहिए कि तुम मेरी संतान हो तुम

सर्वश्रेष्ठ हो क कोई तुम्हारे बारे में

क्या सोचता है यह मायने नहीं

रखता किंतु तुम खुद के लिए क्या सोचते हो

यह अवश्य मायने रखता है मेरे बच्चे क्या

तुम मुझे एक प्रश्न का उत्तर दोगे यदि

तुम्हारे पास छात्र हैं और तुम्हें

उनको शिक्षा देनी है तो उनमें से कुछ

छात्र एक ही बार में तुम्हारी बात समझ

जाएंगे

कुछ बच्चे अधिक प्रयास करने पर समझेंगे

किंतु कुछ ऐसे भी होंगे जिन्हें पूर्ण वह

सब पहाड़ा पढ़ना पड़ेगा इसी प्रकार संसार

में सभी आत्माएं शिक्षा ग्रहण करने आए हैं

सभी की क्षमता के अनुसार मैं उन्हें

अलग-अलग प्रकार से शिक्षा देती

हूं

छात्र को बस यह स्मरण रखना चाहिए उनका

गुरु उनका सदैव भला ही चाहता है और तुम

मेरे प्रिय छात्र हो मैं तुमसे प्रेम करती

हूं हर राह पर तुम्हारे साथ हूं मैं तुमसे

दूर नहीं तुम्हारे हृदय में ही उपस्थित

हूं मेरे बच्चे तुम अत्यधिक शक्तियों के

माले

हो तुम उन सभी वस्तुओं को एवं लोगों को

आकर्षित कर सकते हो जो इस ब्रह्मांड से

जुड़े हुए हैं यह वर्ष तुम्हारे लिए

अत्यंत भाग्यशाली सिद्ध होगा तुम सुख

समृद्धि एवं प्रेम बंधनों में उन्नति

प्राप्त

करोगे एक बार तुम्हारी धरती पर जन्म लेने

का मूल उद्देश्य क्या है यह स्वयं से

प्रसन्न करो अपनी चेतना के मूल उद्देश्य

को ज्ञात करो व ही तुम्हे इस भौतिक जगत

में सुख समृद्धि एवं ऊंचाइयों तक ले जाएगा

मेरे बच्चे अत्यंत खुशियों का द्वार

एकमात्र ध्यान

है तुम ध्यान करना प्रारंभ करो मैं आगे भी

तुम्हें रास्ता दिखाती रहूंगी और बिना डरे

चलना तुम्हें है मैं तुम्हें क्षण भर भी

नहीं छोड़ती मेरे बच्चे या जीवन में कुछ

कर दिखाना है आकाश की वह सीमा छूनी है

जिसे छूने के विषय में तुमने कभी सोचा भी

नहीं

होगा तो अपने भीतर यह तीन गुण अर्जित कर

लो पहला अपने लक्ष्य को पाने की चाहत और

लगन यह तुमसे वह करवा सकता है जो तुम कभी

नहीं कर सकते दूसरा साहस और संकट उठाने की

क्षमता यह तुमसे वह करवा सकता है जो तुम

करना चाहते

हो और तीसरा है अनुभव अनुभव तुम्हें यह

बताएगा कि तुम्हें करना क्या है मेरे

द्वारा बताए गए गुण रहस्य को अपने जीवन

में लागू करो और मुझ पर अपना विश्वास बनाए

रखो बाकी सब कुछ मुझ पर छोड़ दो मैं

तुम्हारे लिए हमेशा भला ही चाहती

हूं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *