मां काली आपके दुश्मनों की तांत्रिक के साथ भयंकर लड़ाई हो गई है लड़ाई की वजह आप हैं - Kabrau Mogal Dham

मां काली आपके दुश्मनों की तांत्रिक के साथ भयंकर लड़ाई हो गई है लड़ाई की वजह आप हैं

मेरे बच्चे कोई व्यक्ति हैं जो तुमसे मन

ही मन बहुत गहरी दुश्मनी पाल बैठा है वह

तुम्हें मानसिक रूप से बहुत परेशान करना

चाहता है वह कुछ ऐसा करना चाहता है कि तुम

इस संसार में अकेले पड़ जाओ कोई तुम्हारा

साथ ना दे और जब तुम अकेले पडी डीडीए जाओ

तो तुम्हारे विचार ही तुम्हें अंदर अंदर

खाए वह तुम्हारे अंदर इतनी नकारात्मकता

भरना चाहता है कि तुम े हो जाओ तुम इतने

परेशान हो जाओ कि तुम कभी जीवन में खुशी

ना हो पाओ एक वक्त पर तुम्हारा इस व्यक्ति

से मिलना जुलना था और मैं तुम्हें यह भी

बात बता दूं कि यह व्यक्ति तुम्हारे घर का

नहीं है तुम्हारे परिवार का नहीं है यह

व्यक्ति कोई बाहर का है जिसके यहां तुम

अक्सर आया जाया करते थे कभी-कभी तुम्हारी

उससे बातचीत भी हो जाती थी और उसको लेके

तुम्हें बहुत सारे लोगों ने चेतावनी दी थी

कि उसका व्यवहार थो अलग सा है वह कुछ अजीब

चीजें करता है उससे दूर रहना क्योंकि वह

कभी किसी का भला नहीं सोच सकता मेरे बच्चे

अगर उसके खुद के परिवार में भी कोई आगे

बढ़ता है तो उसे उस बात से भी जलन होती है

अरे यही हुआ तुम्हारे साथ तुम्हें तो उस

व्यक्ति का नाम तक नहीं पता है तुम्हें तो

उसके बारे में कोई जानकारी नहीं है मेरे

बच्चे यह बात सच है तो हा टाइप करके लाइक

करो मेरे बच्चे तुम्हें तो यह नहीं समझ

में आता है कि कोई तुमसे नफरत करेगा क्यों

कोई तुमसे दुश्मनी क्यों करेगा कोई

तुम्हें बर्बाद करने की कोशिश क्यों करेगा

वह तुमसे बात इसलिए करता था क्योंकि तब

तुम्हारे पास कुछ नहीं था उसको हमेशा खुद

को ऊपर रखना अच्छा लगता है उसको हमेशा यह

अच्छा लगता है कि बाकी सब उसके नीचे है और

उसकी बात मान रहे हैं जो तुम्हारे उससे

बात होती थी तो तुम कहीं काम नहीं करते थे

जैसे ही तुम कहीं काम करने लगे तुम्हारे

दिनचर्या में परिवर्तन आया तुम्हारे

स्थिति में परिवर्तन आया बस इतनी सी बात

से उस व्यक्ति को तुमसे बहुत जलन हो गई जब

लोगों में तुम्हारा उठना बैठना शुरू हुआ

इस चीज से उसे बहुत दिक्कत होने लगी और अब

वही चीजें वो छीनने की कोशिश कर रहा है

तुमसे और तुम्हें भी बहुत अच्छे से पता है

वह व्यक्ति कौन है मेरे बच्चे उसकी आवाज

ही थोड़ी अजीब सी है कि तुम्हारा मन भी

नहीं करता उससे बात करने का तुम भी अक्सर

टालते हो उससे बात करना तुमने उसे कई बार

कुछ क्रियाएं करते हुए देखा है तो तुम्हें

पता है कि वह तंत्र विद्या का प्रयोग करता

है पर मेरे बच्चे वह लाख दिखा ले कि उसे

किसी का डर नहीं है वह लाख ही यह चीज दिखा

ले कि वह तुम्हें बर्बाद कर देगा व सिर्फ

और सिर्फ तुम्हें डरा रहा है वह सिर्फ

तुम्हारे सामने कुछ चीजें फेंक देगा कुछ

ऐसी चीजें कर देगा तुम्हें कुछ ऐसा बोल

देगा और तुम उस बात में पढ़कर यह सोचते

रहते हो कि अच्छा आज मेरा सिर दर्द हो रहा

है क्योंकि उस व्यक्ति ने कुछ किया है

अच्छा आज मैं यहां जा रहा था मेरे साथ ऐसा

हो गया क्योंकि उस व्यक्ति ने मुझे ऐसा

बोला था और वह यही खेल खेल रहा है

तुम्हारे साथ काफी समय से वह यही चाह है

कि तुम मानसिक रूप से बस उसके बारे में

सोचो और उसको लेकर डरते रहो मेरे बच्चे

तुम्हें मुझ पर विश्वास है तो आठ आठ आठ

अंक टाइप करके इस चैनल को सब्सक्राइब करो

मेरे बच्चे तुम जब पूजा पाठ भी कर रहे हो

तो तुम्हारे दिमाग में बस यही ख्याल आ रहा

है कि माता मेरे साथ कोई कुछ कर रहा है

माता मुझे बचा लेना मेरा स्वास्थ्य खराब

हो रहा है माता मेरे परिवार में यह

दिक्कतें आ गई है तो वह तो यही चाह रहा है

कि तुम प्रतिफल उसकी की हुई षड्यंत्र को

उसके रचे हुए खेल में फंसकर जो वह चाहता

है उसको मेनिफेस्ट करो मेरे बच्चे दिन रात

उसी के बारे में सोचो मुझसे भी उसी बारे

में बात करो जिसकी वजह से वह चीज तुम्हारी

हकीकत बन जाए तुम्हारा वो डर तुम्हारी

हकीकत बन जाए पर वह व्यक्ति बहुत डरपोक है

वो सबसे डरता है उसको तुमने कभी अकेले

किसी से लडते हुए नहीं देखा होगा वो

लोगों के बीच में तो बहुत बकवास कर लेता

है मेरे बच्चे पर जो तुम अकेले उससे बात

करोगे तो उसकी आवाज नहीं निकलती है वो

इतना डरपोक इंसान है वह क्या तुम्हारा

बुरा करेगा और वह क्या तुम्हें छूने की

कोशिश करेगा उसे उसे खुद भी पता है कि

तुम्हारे साथ में चल रही हूं तुम्हारी

रक्षा मैं कर रही हूं और उसके इतनी औकात

नहीं है कि वह मुझे चुनौती दे सके तुमसे

ही परेशान हो रहे हो और व्यर्थ ही बाकी

सबको भी परेशान कर रहे हो उस व्यक्ति की

और एक पहचान बता दूं मैं तुम्हें उस

व्यक्ति का रंग थोडा दबा हुआ है और वह

पैसे रुपए से भी बहुत मजबूत है अच्छे भले

परिवार से हैं ऐसा नहीं है कि उसकी जिंदगी

गरीबी में चल रही है फिर भी वह किसी और को

खुद से ऊपर नहीं देख सकता है उसको आदत है

खुद के नीचे लोगों को रखने की खुद को ऊपर

ऊंचा बनाकर रखने की चाहे उसके पास कुछ ना

हो उसके पास तमीज ना हो लेकिन उसको आदत है

कि मैं बधा हूं सब मेरे आसपास बैठो मुझसे

झान लो यानी बहुत बनता है वह और तुम्हें

ऐसा दिखाएगा या इस समाज को ऐसा दिखाएगा कि

कितनी पूजा पाठ करता है वो और कितनी और

कितनी धार्मिक पुस्तकें पढ़ रखी है उसने

और अंदर से उसका मन काला मैला है और वह

पापी है उसे किसी बात का कोई ज्ञान नहीं

है मेरे बच्चे और तुम्हें बहुत बार

चेतावनी दी गई थी पर तुम नहीं समझे तुमने

खुद अपने पैर पर कुल्हाडी मार ली और तुम

अभी भी वही कर रहे हो तुम उसकी व्यर्थ की

बातों को सोच सोच कर अपना समय बर्बाद कर

रहे हो तुम्हारे परिश्रम का फल तुम्हें

इसलिए नहीं मिल रहा है क्योंकि समय नहीं

आया है वह समय जो मैंने निर्धारित कर रखा

है तुम्हारी तबीयत इसलिए खराब हो रही है

मेरे बच्चे क्योंकि सच दिल से बताना क्या

तुमने अपने स्वास्थ्य का उतना ख्याल रखा

जितना तुम्हें रखना चाहिए था तुमने नहीं

रखा तुमने अपनी दिनचर्या पर ध्यान नहीं

दिया तुम यह सोच भी कैसे सकते हो कि

तुम्हारी माता के रहते कोई और व्यक्ति

किसी प्रकार का जादू टोना करने में सफल हो

जाएगा मेरे रहते कोई तुम्हें बर्बाद करने

में सफल हो जाएगा अपने मन से यह बात निकाल

दो बस अपनी माता का नाम यह लेकर टाइप करो

कि माता धन्यवाद आप हर पल मेरे और मेरे

परिवार की रक्षा कर रही है यह बीमारी तो

कुछ नहीं है यह बीमारी तो तुम्हारे शरीर

को लगी है मेरे बच्चे तुम अपनी आत्मा को

बीमार कर रहे हो वह बात है सोच सोच कर यह

विचार सोच कर कि कोई तुम्हारा बुरा करना

चाह ता है फिर किसी की औकात नहीं मेरे

बच्चे कि तुम्हें रोक पाने की मंजिल पर

पहुंचने वाला आखिरी कदम बहुत मुश्किल होता

है तुम्हारे शरीर पर छाले होते हैं आंखों

से खून बह रहा होता है और उससे भी मुश्किल

होता है सफर के लिए बढ़या हुआ पहला कदम जो

यह दुनिया कभी बढ़ाते ही नहीं है हर बीज

में एक विशाल होता है अगर उसे सही मिट्टी

में दबाया जाए ऐसे ही हर किसी इंसान के

अंदर

एक सपने का बीज होता है लेकिन वह कभी

जिम्मेदारी और मेहनत की मिट्टी में खुद को

नहीं दबाता वह कभी तूफानों से नहीं टकराता

वह कभी आंधियों को नहीं ललकार इसीलिए एक

महान कहानी उसके अंदर ही दफन हो जाती है

उसके फेल होने की चिंता ही उसका कफन हो

जाती है हालात यही रहेंगे चुनौतियां यही

रहेंगी रास्ते यही रहेंगे परेशानियां यही

रहेंगी अब तेरे ऊपर है मे बच्चे कि रास्ता

बदलता है या इतिहास मेरे बच्चे जब तुम

हालातों से बिना डरे चलते हो जब तुम झुकते

नहीं हो खड़े-खड़े चलते हो तब मौसम बदल

जाते हैं फिजा बदलती है हवा तुम्हारे लिए

अपनी दिशा बदलती है मेरे बच्चे कब तक यह

दुनिया तुझे झुकाए गी कब तक यह किस्मत

तुझे आजमाए गी बदल देगा अपने तेवर जीज दिन

तू यह दुनिया तेरे आगे सर झुकाए गी हर

किसी को अपने सफर में दिक्कत आती है हर

किसी का मजाक बनता है अपने भी उन्हें

ठुकरा देते हैं बार-बार मजाक बनता है और

वह बिल्कुल अकेले पड़ जाते हैं मेरे बच्चे

ज्यादातर लोग उस रास्ते को अपने सफर को

अपने सपने को भूलकर वापस लौट जाते हैं पर

जो रुकता नहीं है चाहे कुछ भी हो चलता

रहता है लड़ता है खुद से खुद के

रिश्तेदारों से खुद की हारती हुई सोच से

वो एक दिन इस दुनिया को झुका देता है मेरे

बच्चे आज चाहे तुम्हारे हालात कुछ भी हो

चाहे कितनी ही दिक्कतें हो तुम रुकना मत

चाहे कितने ही रिजेक्शंस आए तुम रुकना मत

चाहे कोई साथ ना दे चाहे सब कुछ खत्म होने

के कगार पर आ जाए तब भी तुम रुकना मत

क्योंकि जब जब तुम गिर गिर के उठते रहोगे

तब तब तुम्हारी ताकत बढ़ेगी तुम मजबूत

बनोगे तुम्हारी जिद और तगड़ी होगी और तुम

अपने लक्ष्य के लिए स की हो जाओगे और जब

तुम सनकी हो जाओगे मेरे बच्चे सफलता त्याग

मांगती है इच्छाओं का नींद का रात का सात

का जीत के सवेरे में भले ही पूरा हुजूम

होगा पर मेहनत के अंधेरे अक्सर अकेले

झेलने पड़ते रोज समेटना पड़ता है खुद को

रोज लोगों की हंसी मजाक थानों का सामना

करके सुबह को रात करनी पड़ जाती है और

अगले सुबह फिर खुद को टुकड़ों में देखना

फिर से सपनों में स्वास भरना फिर से खुद

को तैयार करना फिर से रोज जंग में उतरना

और यह भी ना जानना कि यह सिलसिला कब तक

चलेगा क्या जीत मिलेगी या फिर इतना वक्त

लगाकर भी हार को ही गले लगाना पड़ेगा मेरे

बच्चे तुम्हारे मन में सोच होगी कि सचमुच

कोई पागल होगा जिसने जीत का यह रिवाज

बनाया अनिश्चित काल की पीड़ा चुभन दर्द ना

जाने कौन सा कदम मंजिल तक जाए

फिर भी बस चलते रहना जीत सचमुच एक धर्म है

जो बस पागल अपनाते हैं जहां हर दिन भूखा

प्यासा रहकर गाली खानी पड़ती है जब पसीने

से सुबह की शुरुआत होती है जब चुनौतियों

से लड़ने में दिन गुजरता है तब कोई तैयार

होता है सफलता की तरफ बढ़ने को याद रखो

मेरे बच्चे कि अगर तुम्हारा पूरा दिन आराम

से गुजर रहा है तो तुम गलत रास्ते में हो

क्योंकि सही रास्ते आसान नहीं होते वहां

तो अपने भी दूर हो जाते हैं हंसी चैन आराम

सब खो जाते हैं क्योंकि यह कभी रातों की

नींद कभी हाथ से निवाला छोड़ा है मेरे

बच्चे तुम एक घंटे के लिए अपना मोबाइल तक

नहीं छोड़ सकते हो और बात करते हैं और

दुनिया जीतने की याद रखो शर्त सीधी है

जितनी बद्ध चुनौती जितना बदा संघर्ष उतनी

बद्ध जीत उतना बद्धा नाम मेरे बच्चे डर

लगेगा घबराहट बड़ेगी हर कदम पर चुनौती

मिलेगी रास्ता नजर नहीं आएगा आसमान अंगार

बरसाए हर बार हर मोद पर अकेला खदा होगा पर

तुम रुकना मत चलते रहना बिना थमे दुश्मन

की आंखों में आंख मिलाकर तुम्हें अपना सब

कुछ क्यों ना खोना प गिर कर टूट कर भी

चाहे कुछ भी हो जाए बस तुम चलते रहना

क्योंकि तुझे जितना है मेरे बच्चे और हां

मेरे बच्चे मैं जीत के श घर पर तुम्हारा

इंतजार करूंगा बोलो तुम आओगे

ना मेरे बच्चे कोई है जो निरंतर तुम्हें

ही देखता है केवल दिव्य आत्माओं के पास आज

का संदेश पहुंच पाएगा क्योंकि इस संदेश के

हकदार केवल और केवल वही है मेरी प्रिय

बच्चे यह संदेश आज के दिन तुम तक पहुंचने

का अर्थ है शीघ्र ही तुम्हारी मांगी गई

सभी मनोरथ पूर्ण होने वाला है व्यक्ति की

स्थिति और परिस्थिति कब बदल जाए यह कोई भी

नहीं जान सकता है सोने के पलंग पर विश्राम

करने वाला एक पल में कैद खाने में बंद हो

जाता है और सूखी रोटी खराब जीवन यापन करने

वाला एक पल में महलों का मालिक बन जाता है

क्योंकि हर एक चीज जीवन की गति और

परिस्थिति को सबसे बधा मालिक देख रहा है

यदि आज तुम कष्ट में हो तो यहां मत भूलो

कोई है जो निरंतर तुम ही देख रहा है

तुम्हें देखकर मुस्कुरा रहा है कि तुम

कितने धैर्यवान हो मेरे बच्चे मैं व्याकुल

हूं तुम्हें अपनी गोद में बिठाकर दुलार

करने को परंतु मैं तुम्हें इस सृष्टि में

भी श्रेष्ठ पद और सम्मान इसलिए दिलवाना

चाहती हूं क्योंकि तुम उसके हकदार हो जिसे

तुमने अपने सत्य कदम से ही उसे कमाया है

अंकल सुनील अवश्य लिखें उस महान

उद्देश्य तक पहु ने के लिए मेरे प्रिय

बच्चे दिव्य लोक में बैठे तुम्हारे

अभिभावक देवदूत तुम्हें देखकर मुस्कुरा

रहे हैं उनकी प्रेम दृष्टि तुम पर बनी हुई

है वह तुम्हें बताना चाहते हैं तुम्हारे

लिए उच्चतम दिव्य लोक के द्वारा खुल चुके

हैं क्योंकि तुम प्रतिदिन भले ही छोटा

किंतु आध्यात्मिक

अभिभावक इस दिव्य संदेश को अवश्य ही लाइक

करें मेरे प्रिय आज मैं तुम्हें अत्यंत

गहराई बात बताने जा रही हूं जो तुम्हारे

जीवन से जुी हुई है मैं जानती हूं

तुम्हारा मन निर्मल जल की तरह स्वच्छ और

पवित्र है और तुम अब भौतिक वस्तुओं की

अधिक लालसा भी नहीं करते हो क्योंकि

तुम्हें तो उस अलौकिक रत्न की लगन लग गई

है जिसका अभी विनाश नहीं होता विश्वास

करें जिसकी कल्पना तुम मस्तिष्क में कर

रहे हो वह तुम्हें जरूर मिलेगा चाहे वह

अलौकिक हो या अलौकिक तुम्हें सभी प्रकार

के सुख सुविधा अवश्य ही प्राप्त होंगे यह

मत सोचना क्या कब कैसे और क्यों नहीं हो

रहा है विश्वास करना कि यदि तुम्हारी

भावना सच्ची है तो वह तुम्हें मिलकर ही

रहेगा भाग्यशाली अंक लिखे अपनी कोई भी

इच्छा प्रकट करें मेरे प्रिय अब मैं

तुम्हें जो कहने जा रही हूं उसे ध्यान

पूर्वक सुनो और अपने मन में धारण कर लो

मेरे बच्चे मेरे अधिक प्रेमी बच्चे होते

हैं वह उन्हें इस सृष्टि में कभी भेजते

हैं जब उनका कोई विशेष विशेष कार्य होता

है जिसके द्वारा मैं अपना कार्य करवाना

चाहती हूं और सारा श्रेय उन्हें ही देना

चाहते हैं जैसे एक माता अपने बच्चे के साथ

बैठकर उसका हाथ पकड़ड ढाकर उससे चित्रकारी

करवाती है और सारा श्रेय उसे देकर प्रसन्न

हो जाती है कि यहां मेरे बालक ने ही तो

किया है ऐसे ही ईश्वर रूपी माता अपने

प्रिय संतान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *