माँ दुर्गा का सन्देश / भूल कर भी अनदेखा ना करें - Kabrau Mogal Dham

माँ दुर्गा का सन्देश / भूल कर भी अनदेखा ना करें

मेरे बच्चे आज तुमने मुझे याद किया है मैं

समझती हूं कि तुम्हारे जीवन में कुछ बहुत

बड़ी परेशानी चल रही है तभी तुमने अपनी

माता रानी को याद किया है किंतु अब

तुम्हें घबराने की कोई जरूरत नहीं है

जिन्होंने तुम्हें कष्ट पहुंचाई है

तुम्हारे मन को ठेस पहुंचाई है तुमने जो

दर्द सहा है अब उन लोगों की बारी है

उन्हें भी उतना ही दर्द उतनी ही पीड़ा सहन

करनी होगी उन सबको मैं बहुत बड़ा सबक

[संगीत]

सिखाऊंगा

है मैं उन्हें उस दर्द को महसूस

कराऊंगा सदा तुम्हारे साथ है यदि तुम इस

मैसेज को देख रहे हो तो तुम इस मुसीबत से

बाहर आने वाले हो जिन लोगों ने तुम्हारे

भोलेपन का फायदा उठाया है अब उन सब की

बारी है कि वह तुमसे स्वयं आकर माफी मांगे

मैं जानती हूं कि तुम बहुत भोले हो इसलिए

तुम इतने दुखी रहते हो तुम औरों की तरह

चालाक और तेज नहीं हो नहीं तो तुम भी दुखी

होते मेरे बच्चे किंतु इस कलयुग में

अधिकतर लोग तुम्हारे जैसे ही हैं जो

दूसरों को खुद से देखकर स्वयं की खुशी

ढूंढते हैं तुम भले ही उन लोगों के कर्मों

को नहीं पहचान पा रहे हो जो लोग तुम्हारे

साथ यह कर रहे हैं परंतु

तुम्हारे अपने ही हैं जो तुम्हें इतना दुख

दे रहे हैं लेकिन तुम उनके सरयत को नहीं

पहचान पा रहे हो परंतु मेरे बच्चे

तुम्हारी मां को सब पता है कि कौन

तुम्हारे साथ क्या कर रहा है इसलिए आज मैं

तुम्हारे आज मैं तुम्हें उस मुसीबत से

बाहर निकालने वाली हूं और तुम्हें मार्ग

दिखाने आई हूं मैं आज उन लोगों से उनके

कर्मों का हिसाब लूंगी जिन लोगों ने

तुम्हें रुलाया है उन्हें अपने कर्मों का

हिसाब देना ही होगा किंतु यह कार्य करने

के लिए मैं तुम्हें चेतावनी देने आई हूं

ताकि तुम फिर से गलती ना करो अब तक करते

आए हो जो गलती तो मैं ऐसे लोगों से सावधान

होने के लिए जरूर कहूंगी जो तुम्हारे अपने

तो हैं लेकिन फिर भी तुम्हारे अपने नहीं

हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *