माँ दुर्गा आपके लिए अत्यावश्यक संदेश | माता रानी का संदेश | माँ वैष्णो देवी | माँ काली - Kabrau Mogal Dham

माँ दुर्गा आपके लिए अत्यावश्यक संदेश | माता रानी का संदेश | माँ वैष्णो देवी | माँ काली

मेरे प्यार बच्चों आज तुमने मुझे याद किया

और मैं तुम्हारे पास ए गई हूं क्या हुआ

मेरे बच्चे तुम अपनी माता से कुछ मत छुपाओ

मैं तुमसे जो जानना चाहती हूं वह केवल तुम

मुझे बता सकते हो इसलिए अपनी माता को

निरसा मत करना मेरे बच्चे आज मेरा यह

संदेश तुम्हारे लिए ही है ताकि तुम अपने

परेशानियां से मुक्ति का सको मैं जानती

हूं इस समय जो तुम्हारे हालात चल रहे हैं

तुम उन सबसे बाहर आना चाहते हो तुम्हारा

मां इन हालातो से काफी विचलित हो चुका है

तुम्हारा विचलित होना तब उचित है जब

तुम्हें अपनी परेशानियां से लड़ने का

रास्ता ना मिले लेकिन जब मैं तुम्हारे साथ

हूं तो तुम्हें विचलित होने की कोई

आवश्यकता नहीं है इसलिए मेरे बच्चे यदि

तुम आज सही में यह चाहते हो की तुम्हारे

जीवन से हमेशा के लिए

दुख समाप्त हो जाए तो मुझे अनदेखा मत करना

मैं यह जानती हूं की तुम्हारे जीवन में चल

रही लगातार परेशानियां के करण तुम इतने

अधिक परेशान हो चुके हो की तुम अब कुछ भी

करने में स्वयं को सक्षम नहीं मानते परंतु

मैंने आज तक तुम्हें जितनी भी बातें बताने

का प्रयास किया है तुमने उनमें से किसी का

पालनपुर ठीक से नहीं किया है मैं तुमसे

पूछना चाहती हूं जब तुम मेरी बटन का ठीक

प्रकार से पालनपुर नहीं करोगे तो क्या तुम

अपनी परेशानियां से बाहर निकाल सकते हो

तुम्हारी माता हर बार आकर तुम्हें एक नया

संदेश देती हैं परंतु उसके बावजूद भी तुम

मेरी बटन को अनदेखा कर देते हो मैं तुमसे

यह पूछना चाहती हूं मेरे बच्चे अपनी माता

को बार-बार अनदेखा करोगे तो तुम्हें किस

प्रकार से यह समझ में आएगा की तुम्हें

क्या करना है अपने जीवन में तुम केवल आलस

करते हो तुम ज्यादा ध्यान का अभ्यास नहीं

करते और इस बात की कामना करते हो की

तुम्हें तुम्हारा उद्देश्य पता चल जाए और

बिना मेहनत के तुम्हारा कम बन जाए बिना

मेहनत का कोई कम कभी सफल नहीं होता इसलिए

मेरे बच्चे मेहनत से मत डरो परंतु चंचल

मां तुम्हें गलत मार्ग पर ले जाता है और

तुम केवल क्षण भर के आनंद के लिए अपना

उद्देश्य भूल जाते हो तुम मुझे कम ना करते

हो की मैं तुम्हारे लिए सभी मार्ग को सरल

बना डन परंतु तुम्हें उसके लिए जरा भी

प्रयास ना करना पड़े जिंदगी में इतना याद

रखो की कर्म का नियम यही है की कुछ अपने

के लिए कुछ कीमत भी चुकाने पड़ती है तुम

अपने जीवन में निरंतर प्रयास नहीं करते

इसलिए काफी परेशानी में ए चुके हो यह

तुम्हारे जीवन की लगातार परेशानी का अनुभव

बता रहा है की तुम पर कितनी समस्याएं ए

राखी हैं जिसके करण तुम अपने जीवन से नफरत

करने लगे हो परंतु मैं तुम्हारी मां ए गई

हूं मैं तुम्हारे सारे दुखों को हर लूंगी

तुम्हारी साड़ी परेशानियां से तुम्हें

मुक्त कर दूंगी केवल तुम्हें जीवन में

सच्चाई और स्मृति का मार्ग दिखाने के लिए

मेरे बच्चे तुमने निकॉन कासन का सामना

किया

तुम्हारी माता को तुम्हारी हर एक पीड़ा

दिखे रही है अब उन सारे दुखों का अंत का

समय ए गया है मैं अब तुम्हारे रास्ते में

आने वाली सभी बढ़ाओ को नष्ट कर दूंगी

तुमने जो कुछ शाह है जीवन में उन सभी का

अंत निश्चित है वह सब दुख तुम्हारे जीवन

का एक हिस्सा था परंतु अब तुम्हारे सुख के

दोनों का आगमन होने का समय ए गया है मेरे

बच्चों तुम्हें इस नई सुबह का स्वागत करना

है जो आज तुम्हारे लिए एक नई किरण लेकर आई

है हर सुबह तुम्हारे जीवन में हमेशा एक

नया उद्देश्य लेकर आई है बस तुम्हें उसे

पहचान की जरूर है और वह समय ए गया है की

तुम अपने जीवन में आने वाले सुख का स्वागत

खुशी से करो तुम मेरे अत्यंत प्रिया बच्चे

हो इसलिए मैं तुम्हें खुशियां सुख समृद्धि

ज्ञान यह सब कुछ देना चाहती हूं ताकि

तुम्हें किसी प्रकार की कोई परेशानी ना

झेलनी पड़े परंतु तुम याद रखो

की कुछ ना कुछ कीमत चुकाने ही पड़ती है और

यहां तुम्हें केवल अपनी नकारात्मक विचारों

को त्यागना होगा बस यही कीमत तुम्हें

चुकाने है मैं ही पार्वती और मैं ही रौद्र

रूप काली हूं परंतु फिर भी मैंने अपने

क्रोध को त्याग कर और तुम्हारी गलतियां को

माफ करके सिर्फ तुम्हारे लिए सदा सौभाग्य

ही रही हूं मेरी कृपा जी पर भी पड़ी है

उसका जीवन सांवर गया है उसको जीवन में कभी

भी दुखों का सामना नहीं करना पड़ा है मैं

सदा तुम्हारे निकट हूं इसलिए घबराने की

आवश्यकता नहीं है बस मेरे ऊपर हमेशा

विश्वास और आस्था बनाए रखना क्योंकि

तुम्हारे विश्वास में ही मेरी शक्ति है

तुम जितना मुझमें पर विश्वास करोगे उतना

ही मैं तुम्हारे निकट रहूंगी और उतना ही

तुम्हें मेरा आशीर्वाद और मेरा प्यार

प्राप्त होगा

मैं तुम्हें जीवन में खुशियां ही खुशियां

देना चाहती हूं क्योंकि तुम इन खुशियों के

हकदार हो बस अपने आलस के करण तुम इन

खुशियों से दूर हो चुके हो जी दिन तुम

अपने आलस को त्याग डॉग इस क्षण तुम्हें

साड़ी खुशियां प्राप्त हो जाएगी मेरे

बच्चे तुम्हारा कोई शत्रु मेरे होते हुए

तुम्हारे निकट तक नहीं ए सकता तुम्हारी

माता तुम्हारी रक्षा सदैव करती हैं इसलिए

आपसे तुम जीवन में कभी भी नाराज मत होना

क्योंकि नाराज मनुष्य अपने जीवन में कुछ

नहीं कर पता और जब भी तुम्हें निराशा का

अनुभव हो तो यह याद कर लेना की भले ही

पूरा संसार तुम्हारे विरोध में खड़ा क्यों

ना हो जाए परंतु तुम्हारी यह मां हमेशा

तुम्हारा साथ देगी मेरे आशीर्वाद और प्यार

से तुम अपने जीवन की एक नई शुरुआत करो और

अपने इस आलस को हमेशा के लिए त्याग दो सदा

खुश रहो मेरे बच्चे अपने जीवन में उन्नति

करते रहो तुम्हारा सदैव भला हो यही मेरा

आशीर्वाद है मेरे प्रिया तैयार रहना कुछ

बहुत ही बहुत ही अच्छा होने वाला है वह

पूर्ण रूप से तुम्हारा होने वाला है आने

वाले घंटे में ही कुछ ऐसा घटित होगा

तुम्हारे जीवन में चमत्कार की ऊर्जा को

आकर्षित करेगा मेरे बच्चे इस वक्त में

संदेश मिला इस और इशारा करता है की शीघ्र

ही तुम्हारे जीवन में चमत्कार होने वाला

है इतने दोनों से तुम्हारा जो कम रुक हुआ

था अब वह पूर्ण हो जाएगा मेरे बच्चे आज

मैं तुम्हें बताने जा रही हूं उसे

ध्यानपूर्वक सुनो और समझो क्योंकि इस

चमत्कारी ऊर्जा को तीव्र गति से अपनी और

आकर्षित करने के लिए तुम्हें करना ही होगा

क्योंकि यह तुम्हारे लिए बेहद आवश्यक है

मेरे बच्चे आज रात सोनी से पूर्व खुद को

स्थिर करते हुए अपना पूरा ध्यान आजा चक्र

पर केंद्रित करना आजा चक्र अर्थात माथे के

बीचोबीच एक छोटा सा बिंदु इस स्थान पर

अपना पूरा ध्यान केंद्रित करते हुए अपनी

इच्छा को पूर्ण विश्वास के साथ बोलते हुए

मुझे समर्पित करना होगा मेरे बच्चे

तुम्हें केवल मिनट तक ही यह करना होगा

और तत्पश्चात निद्रा में प्रवेश करना होगा

मेरे बच्चे ऐसा करते ही तुम्हारे जीवन में

चमत्कार होना प्रारंभ हो जाएगा तुम्हारा

बड़े से बड़ा कार्य शीघ्र पूर्ण हो जाएगा

सभी बिगड़े कार्य बने लगेंगे मेरे बच्चे

बस तुम पूर्ण विश्वास के साथ अपने इच्छा

चमत्कारी बिंदु जो केंद्रित करते हुए मुझे

समर्पित करना मेरा आशीर्वाद तुम्हें शक्ति

प्रधान करेगा मेरे बच्चे आज तुम्हें यह

संदेश प्राप्त हुआ है इसका अर्थ है की

तुमने अपने आंतरिक आध्यात्मिक साधना

सफलतापूर्वाकपूर्ण कर चुके हो तुम्हारी और

एक विशिष्ट आकर धरण करने की दिशा में

अग्रसर हो रही है अर्थात तुम्हारी आत्मा

शक्ति भ्रूण हो चुकी है अब वक्त है तो

केवल बाहरी परिवर्तन का जो बड़े ही सहजता

से तुम्हारे जीवन में होने वाला है जिसे

अब कोई भी शक्ति रॉक नहीं शक्ति क्योंकि

वास्तविक परीक्षा तो तब होती है जब

परिवर्तन आंतरिक स्थल पर होता है यह

परिवर्तन जो तुम्हें अंदर ही अंदर विचलित

किया राहत है तुमने सफलता पूर्वक पूर्वक

परिवर्तन को पर कर लिया है मेरे बच्चे यह

सब किसी करण घटित होता है क्योंकि

ब्रह्मांड तुम्हारे भीतर ही विद्यमान है

और तुम इसी ब्रह्मांड का हिस्सा हो जो

परिवर्तन ब्रह्मांड में घटित होगा वही

तुम्हारे भीतर भी घटित होगा बस व्यक्ति

इसे तब अनुभव करना प्रारंभ करता है जब वह

आध्यात्मिक स्थल पर अग्रसर होता है मेरे

बच्चे जितना अधिक तुम इस प्रकृति के प्रति

संवेदनशील होते चले जाओगे उतना ही अधिक उन

सभी परिवर्तन को अपने भीतर महसूस कर पाओगे

तुम भाग्यशाली हो जो अपने आंतरिक

आध्यात्मिक परिवर्तन को सहजता से स्वीकार

कर पे अब शीघ्र ही तुम्हारी वास्तविकता

वही होगी जो तुम्हारी कल्पना थी जो तुम

चाहते थे वही अब होगा मेरे प्रिया बच्चे

तुम सभी चीजों को इस प्रकार आकर्षित कर

लोग जी प्रकार फूल कीटन को आकर्षित कर

लेते हैं हमने स्वयं को जन का प्रयास किया

तुमने स्वयं से प्रेम किया स्वयं को

रचनात्मक चीजों से जोड़ा यह सब इस के

प्रभाव से तो हो रहा है तुम्हारे जीवन में

सुखद बदलाव शीघ्र होंगे निराशा के बादल

छटाने वाले हैं और खुशियों का आगमन होने

वाला है क्या तुम तैयार हो अपनी बाहरी

आध्यात्मिक साधना की और अग्रसर होने के

लिए यदि हां तो मेरे साथ कहो मैं तैयार

हूं आध्यात्मिक मार्ग पर अग्रसर होने के

लिए मैं अब पुरी तरह से तैयार हूं अच्छी

चीजों को आकर्षित करने के लिए मैं तैयार

हूं समाज की सेवा के लिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *