माँ काली 🕉️ मेरे बच्चे मैंने तुम्हारे साथी को तड़पता देखा है 😭अब वो पाना चाहता है तुम - Kabrau Mogal Dham

माँ काली 🕉️ मेरे बच्चे मैंने तुम्हारे साथी को तड़पता देखा है 😭अब वो पाना चाहता है तुम

मेरे बच्चे वह व्यक्ति सोते उठते बस तुम्हारे बारे में सोच रहा है तुम्हारे जीवन में क्या चल रहा है उसे सब कुछ

जानना है तुमसे दूर है लेकिन उसकी नजर उन पर ही है तुम कब कहां जाते हो किसी से बात करते हो उसे सब

कुछ जानना है बच्चे उसे तुम पर बहुत क्रोध भी आता है क्योंकि तुमने उसको अपने जीवन से हमेशा के लिए निकाल दिया है तुम्हें उसके होने या ना होने से कोई फर्क नहीं पड़ता है वह अकेले तड़प रहा है क्योंकि उसे

तुम्हारा यह बदला हुआ रूप नहीं देखा जा रहा वह तुम्हें खुश नहीं देख पा रहा है तुम्हें अपने जीवन में आगे बढ़ता हुआ नहीं देख पा रहा है वह यह यकीन नहीं करना चाहता व्यक्ति कल तक उसके बिना एक दिन भी नहीं

जी सकता था आज तुम्हें उसके उससे यह बर्दाश्त नहीं हो रहा है हर बात पर यकीन कर लेने वाला व्यक्ति आज उसकी कोई भी बात नहीं सुनना चाहता रो रहा है और तुम पर गुस्सा भी कर रहा है आज भी तुम्हें बुरा भला

बोलता है वह आज भी अपनी की गलतियों का नाम उसे कोई अफसोस है ना एहसास है गंदे बर्ताव की वजह तुम इतना बदल गए उसके लगातार धोखा झूठ बोलने की आदत की वजह से पत्थर दिल इंसान बन गए किसी पर

यकीन करता है ना किसी के लिए रोता है उसे ऐसा लगता है कि तुम्हारा जीवन बहुत आसान हो गया है लेकिन

उसे इंसान की बहुत अहमियत तुम्हारे जीवन में वह कोई किताब का एक पन्ना नहीं था जिस पर कर तुम सब कुछ भूल जाओ एक समय में अपना अतीत पीछे छोड़ दो तो तुम भी यही हो कि तुम एक समय में सब कुछ भूल जाओ सब कुछ छोड़ दो लेकिन तुम ऐसा कर नहीं पा रहे हो आज भी तुम रोते हो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *