माँ काली तुमने पूरी बाजी पलट दी बेहोश होते-होते रह गए वह ब्रह्मांड संदेश - Kabrau Mogal Dham

माँ काली तुमने पूरी बाजी पलट दी बेहोश होते-होते रह गए वह ब्रह्मांड संदेश

मेरे बच्चे जीवन के सफर में कई बार ऐसे

मोड़ आते हैं जहां एक पल के लिए सब कुछ

ठहरता जाता है ऐसा लगता है जैसे सारी

दुनिया चल रही है और हम रुक गए हैं कोई

रिश्ता जिसे हम अपनी दुनिया मान बैठे हैं

वह हमसे दूर हो जाता

है परिवार का कोई सदस्य इस दुनिया को

छोड़कर चला जाता है या मुसीबत का पहाड़ एक

साथ टूट पड़ता है ऐसा लगता है जिस दिशा

में देखो वहां से मुसीबतें हमारी और बढ़

रही हैं ऐसा लगता है जैसे सब कुछ खत्म हो

चुका

है मेरे बच्चे क्या तुम्हारे साथ कभी जीवन

में ऐसा हुआ है यदि हां तो आज इसका कारण

भी जान लो एक छोटा बालक खेलते खेलते अपने

घर से दूर निकल गया माता पुकारती रही वह

अपनी धुन में आगे चलता चला

गया अपने बालपन में वह ऐसे स्थान पर पहुंच

गया जहां चारों तरफ से झाड़ियां और

कांटेदार वृक्ष हैं वह एक कटीली वृक्ष की

पत्ती पकड़कर बैठ गया उस स्थान के जल में

विष मिला हुआ है वहां ने की हर वस्तुएं

जहरीली हैं बच्चा यह सब नहीं जानता था

बच्चे के पास कुछ लोग आकर खेलने लगते हैं

वह लोग उसे थोड़े ही समय में मारना चाहते

हैं परंतु बच्चा इन सभी बातों से अनजान

खेल रहा होता है उसे महसूस हो रहा है कि

वह सुंदर जगह पर है जहां वह प्रसन्नता से

रह सकता है बच्चा आनंद पूर्वक

खेल ही रहा होता है कि उसकी मां वहां

पहुंच जाती है और उस कटीले वृक्ष को बच्चे

के हाथ से छुड़ाकर उसे अपने साथ जबरदस्ती

घर ले आती है बच्चा रोता है चिल्लाता है

और मां पर क्रोध करता है पर मां उसकी एक

बात नहीं

सुनती क्योंकि उसने तो अपने बच्चे के लिए

मलमल का एक बिछौना तैयार किया है उसके

भोजन के लिए स्वादिष्ट पकवान बनाए हैं

खेलने के लिए उसके दोस्तों को बगीचे में

आमंत्रित किया है पर बच्चा अभी नहीं जानता

कि उसकी मां उसे मृत्यु से जीवन की ओर ले

आई जब बालक समझदार होगा तब मां का

कोटि-कोटि धन्यवाद करेगा मेरे बच्चे जब

तुम्हारे जीवन में ऐसा मोड़ आया जब सबसे

सब कुछ छीन लिया गया तब वास्तव में ईश्वर

रूपी माता ने तुम्हें उस कटीले स्थान से

सुरक्षित स्थान पर लाने का कार्य

किया जब तक तुम अपने हाथों में कटीले

वृक्ष को पकड़ते हो तब तक किसी दूसरे

वस्तु को कैसे पकड़ सकते हो ईश्वर जब हाथ

खाली करते हैं तब कुछ भारी चीजें तुम्हें

देना चाहते हैं शायद तुम उस पल भविष्य की

कल्पना भी नहीं कर सकते

थे जहां गिरने से तुम्हारी मा ने तुम्हें

थाम लिया था मेरे बच्चे तुम्हें उस दलदल

से बचा लिया गया था मेरे बच्चे मैं

तुम्हारे साथ गलत नहीं होने दूंगी जब भी

जीवन में ऐसा हो रहा हो समझ जाना आगे खाई

थी जहां गिरने से तुम्हें रोका जा रहा है

समझ जाना ईश्वर रूपी माता तुम्हारा हाथ

पकड़ तुम्हें घर की ओर ले जा रही हैं मेरे

बच्चे तुम मेरी ही संतान हो बस इस बात को

स्वीकार करो तुम नहीं जानते हो किंतु मैं

तो यह जानती हूं कि तुम मेरे बच्चे

हो तुम्हारे हृदय की भावनाओं से मैं भली

भाति परिचित हूं तुम जिस अलौकिक वस्तुओं

की मांग कर रहे हो वह तो केवल मिथ्या है

तुम वही देख पाते हो जो तुम्हारे संस्कार

विचार और विश्वास है मेरे बच्चे तुम मेरे

बच्चे हो और यह परम सत्य है तुम सदैव मेरी

पूजा करते हो मेरी आराधना करते हो

तुम्हारी माता तुम्हारे जीवन में कुछ गलत

कैसे होने दे सकती है मेरे बच्चे मैं

तुम्हें अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाना

चाहती हूं कांटेदार वृक्षों से शाश्वत की

ओर ले जाना चाहती

हूं वह तो मृत्यु है मैं तो तुम्हें अमृत

की ओर ले जाना चाहती हूं किंतु तुम यह सब

छोड़कर भ्रम का हाथ थाम लेना चाहते हो

मेरे बच्चे तुम जिस अलौकिक वस्तुओं की

कामना करते हो वह तो अपने आप ही तुम्हारे

चरणों में आ

जाएंगी अनेकों अनेक लोगों में वह क्या है

जिसे तुम नहीं प्राप्त कर सकते किंतु मैं

तुम्हें भ्रम की ओर ले जाना नहीं चाहती

तुमसे अधिक मैं तुम्हा हित अहित जानती हूं

मैं तुम्हें कभी उस दलदल में नहीं जाने

दूंगी जहां से तुम निकलकर ही ना आ

पाओगे शायद इसीलिए आज का संदेश तुम्हारे

समक्ष आया है मेरे बच्चे चलो मृत्यु से

अमृत की ओर कंकड़ पत्थर और कांटों से हाथ

खाली करोगे तभी रत्नों से सुशोभित मुकुट

को ग्रहण कर पाओगे मुस्कुराओ मेरे बच्चे

क्योंकि दिन बदलने वाले हैं मुस्कुराओ

क्योंकि तुमने जो मांगा था वह तुम्हें

मिलने वाला है तुम तब तक मुस्कुराते हो जब

तक तुम्हारे किए गए गलतियों को कोई क्षमा

कर देता है ऐसा ही अद्भुत परिवर्तन होने

जा रहा है तुम्हारे जीवन में तुम्हारे

प्रियजनों से अचानक से तुम्हें कुछ मिलेगा

तुम्हारे मन को प्रसन्नता मिलेगी

बहुत ज्यादा खुश हो जाओगे किंतु तुम्हें

बार-बार ऐसा लगेगा मुझे यह तोहफा क्यों

दिए जा रहे हैं मेरे बच्चे तुम समझ जाना

यह मेरी शक्ति है यह ब्रह्मांड की

शक्तियां है जब यह शक्ति तुमसे जुड़ जाती

हैं तब वह इतना देती हैं जिसे तुम संभाल

नहीं सकते चाहे वह धन हो चाहे वह खुशियां

हो मेरे बच्चे तुम्हा भी भाग्य उदय होने

वाला है इस वर्ष तुम उन सारी इच्छाओं को

पूर्ण कर पाओगे क्योंकि पिछले वर्ष कुछ

इच्छाएं अधूरी रह गई हैं कुछ कामनाओं को

तो तुमने स्वयं छोड़ दिया था किंतु मैं

परिवर्तन होने वाला है तुम्हारे जीवन में

एक अजनबी व्यक्ति भी प्रवेश करेगा

तुम्हारे जीवन में तुम्हें अजीब सा महसूस

होगा तुम महसूस करोगे ना जाने यह कौन है

और कहां से आया है किंतु वह भी मददगार

साबित होगा तुम्हारे जीवन के लिए सुख की

घड़ी याद आएगी मेरा साथ मिलेगा मेरा आगमन

होगा तुम्हारे घर में तुम्हारा हृदय सुकून

भरा होगा मैं आ रही हूं मेरे

बच्चे मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

तुम्हारा कल्याण हो मेरे प्यारे बच्चे इस

संसार में मैंने सभी को किसी ना किसी

उद्देश्य से भेजा है सभी कोई ना कोई कार्य

करने के लिए संसार में आए हैं तुम भी आए

हो तुमको भी मैंने ही भेजा है मैंने

तुम्हें जिस कार्य के लिए भेजा है उसे तुम

करोगे इसमें तुम्हें कोई भी संदेह नहीं

करनी चाहिए यदि कोई संदेह हो तो निकाल कर

फेंक दो मेरे बच्चे

मन में संदेह के भावों को ना आने दो संदेह

के भावों को बिल्कुल निकाल फेंको मेरे

प्यारे बच्चे तुम्हें अच्छे विचारों को ही

मन में उत्पन्न करना होगा जो तुम्हारे हित

में हो वही तुम्हें सोचना होगा ऐसी

प्रत्येक वस्तु को जो तुमको दुख निराशा और

असफलता की ओर ले जाने वाली है उसे अपने

अपने पास आने ही क्यों देते हो ऐसे

विचारों को अपने पास ना आने दो ऐसे विचार

बिल्कुल त्याग दो उन भावों का तिरस्कार कर

दो जो निराशा से भरे हैं जो संदेह जनक हैं

जो तुम्हारी प्रगति में बाधक हैं जब

तुम्हारी आदत सदा शुभ और आशावादी विचार ही

बनाए रखने की होगी तुम्हारे मन में सदा

आनंद और उत्साह भरा रहेगा तब आप निश्चित

रूप से अधिक कार्य करोगे सफलताएं प्राप्त

करोगे कभी दुखों और निराशा हों का मुंह

नहीं देखना पड़ेगा मेरे प्यारे बच्चे जब

तुम्हारा भाव सदा आशाम और शुभ सूचक रहेगा

तब तुम आनंदमय और प्रसन्न रहोगे दृढ़ता

पूर्वक कार्य करते रहने की आदत बना लेते

हो तो सदा आगे ही बढ़ते रहोगे अगर शत्रु

तुम्हारी सफलता सुख और शांति में बाधा

पहुंचाता है तो तुम उसे परास्त कर सकते हो

मेरे प्यारे बच्चे तुम्हारी धारणा यदि यही

है कि बिना धन पूंजी के संसार में सफलता

नहीं मिलती है तो इसे मन से निकाल

दो मन वचन और कर्म से तुम प्रयत्न करो कि

तुम्हारा भविष्य उज्जवल होना चाहिए तुम

सभी प्रकार से सुखी सफल और उन्नत हो तो

तुमको सभी आवश्यक चीजें प्राप्त होती चली

जाएंगी मेरे प्यारे बच्चे सफलता के लिए

संसार में प्रवेश करते समय जो धन पूंजी

तुम्हारे पास बिल्कुल नहीं थी वह आती चली

जाएगी क्योंकि तुम्हारे पास आशाम उत्तम

विचारों की पूंजी है और वही सबसे बड़ी

पूंजी है कुछ लोग अपनी इच्छाओं को स्वयं

कमजोर बना लेते हैं वे नहीं जानते कि

इच्छाओं की पूर्ति के लिए दृढ़ निश्चय और

भाव जरूरी हैं और निरंतर मन वचन और कर्म

से प्रयास करते रहने से ही अपनी इच्छाओं

को पूण करने की शक्ति मिलती है इच्छाएं

तभी पूर्ण हो सकती हैं जब वे प्रबल होती

हैं कमजोर इच्छा अपूर्ण रहती हैं प्रारंभ

में यदि इच्छाएं पूर्ण होती दिखाई ना दे

किसी प्रकार की रुकावट है तो तनिक भी

घबराने की जरूरत नहीं है प्रयत्न जारी

रखें आशाम विचार उसी प्रकार धड़ रहे

निश्चित रूप से तुम उन रुकावट को पार कर

लोगे तुम्हारी ही जीत होगी बस यह मत भूलना

कि अभिलाषा तभी पूरी होती हैं जब दृढ़

निश्चय के साथ साथ परिश्रम और प्रयत्न किए

जाते

हैं दृढ़ निश्चय ही सफल हुआ करते हैं

उत्पादन शक्ति बढ़ाने के लिए इच्छा और

दृढ़ निश्चय के साथ प्रयास करना आवश्यक है

तभी सफलता प्राप्त होती

है मेरे प्यारे बच्चे तुम मेरे ही अंश हो

यह तुमको प्रत्येक क्षण ध्यान में रखना

चाहिए मैंने तुमको भी पूर्ण बनाकर भेजा है

जब तुमको यह विश्वास दृढ़ होगा तो तुमको

शक्ति प्राप्त होगी उत्पादक शक्ति बढ़

जाएगी तुम अधिक से अधिक कार्य कर सकोगे

तुम्हारे विचारों में सदा वही बातें हो

वही सोच और कहे जिन्हें तुम पूण करने की

इच्छा रखते हो तरह-तरह की व्यर्थ बातें

सोचने या कहने से क्या

लाभ मेरी मेरे बच्चे कुछ लोग घोर

निराशावादी होते हैं और वे सदा अपने

दुर्भाग्य पर आंसू बहाते हैं कुछ सदा अपनी

असफलताओं का रोना रोते रहते हैं और भाग्य

और भगवान को दोषी ठहराते

हैं वे नहीं जानते कि निराशा भरे विचार और

रोना धोना ही उनके शत्रु हैं और इन्हीं के

कारण यह असफलताएं और दुख बार-बार उन की ओर

लौट आते

हैं मेरे बच्चे तुमको अपने मन से ऐसे बुरे

विचारों को मन से बिल्कुल निकाल

दो रोने धोने की बीमारी से छुटकारा पा लो

तुम यही सोचो कि ऊंचे पवित्र और उत्तम

विचारों से ही आत्मा को सुख शांति और आनंद

प्राप्त होता है तुम जिस विषय में निपुण

होना चाहते हो उसकी गहराइयों को जानना और

ऊंचाइयों को छूना चाहते हो उसके लिए पूरी

शक्ति से मन से उसमें तब तक लगे रहो जब तक

तुमको सफलता के दर्शन ना होने लगे तुमको

उसमें संदेह ही ना हो मेरे प्यारे बच्चे

तुम्हारे जीवन को वास्तविक जीवन तुम्हारा

आदर्श ही बनाता है जैसे तुम्हारा आदर्श

होगा वैसे ही तुम होगे तुम अपने आदर्श को

अपने चेहरे के हाव भाव से प्रकट करते हो

यही वास्तविक है तुम छिपा नहीं सकते

हो तुमको देखते ही तुम्हारे आदर्श का पता

लग सकता है तुम्हारे आदर्श तुम्हारे विचार

और मन के भाव सदा उत्तम ही रखने चाहिए

श्रेष्ठता और दिव्यता तुम्हारे विचारों और

मन में भरी हुई

हो तुम्हारा यह दृढ़ विश्वास और निश्चय हो

कि तुम्हारा किसी भी प्रकार का संबंध

निर्धनता कमजोरी और अज्ञान से नहीं है रोग

शोक से तुम्हारा कोई वास्ता नहीं

है तुम्हारे हाथों से कोई कार्य बुरा नहीं

होगा तुम सदा अच्छा कार्य ही करते हो

बुराइयों से तुम्हारा संबंध नहीं है अगर

तुम ऐसा कर सकते हो तो मेरे बच्चे तुम्हें

अपनी सफलता से कोई भी नहीं रोक सकता मैं

कभी नहीं चाहती कि मेरे बच्चे को असफलता

का सामना करना पड़े मेरे प्यारे बच्चे

मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है सदा

खुश

रहना मेरे बच्चे तुम अपने जीवन में सफल तो

होना चाहते हो और तुम उसके लिए मेहनत भी

बहुत करते हो पर बहुत बार तुम्हारे साथ

ऐसा होता है कि तुम्हारा काम बनते बनते

बिगड़ जाता है बहुत बार ऐसा हुआ है जब

तुम्हें लगा है कि अब तो सफलता तुम्हें

मिलकर रहेगी अब यह चीज तुम्हें मिलकर

रहेगी और ऐसा होता है कि वह चीज तुमसे

बहुत दूर हो जाती है तुम हमेशा मुझसे यही

पूछते हो ना कि माता हमेशा मेरे साथ ऐसा

क्यों होता है हर बार मैं ही असफल क्यों

होता हूं आज तुम्हारे उसी प्रसन का उत्तर

दूंगी मैं तुम्हें मेरे बच्चे अपने भाग्य

को दो देना बंद कर दो क्योंकि गलती कहीं

ना कहीं तुम्हारी भी है तुम अपनी योजना

पहले ही अपने विरोधियों को बता दे रहे हो

तुम अपनी हर छोटी से छोटी बातें अपनी हर

भावनाएं उन लोगों को बता दे रहे हो जो

तुम्हें सफल होता नहीं देखना चाहते मैंने

तुम्हें अनेक बार समझाया है कि अपनी योजना

को गुप्त रखना सीख जाओ अपनी योजनाओं को

खुद तक रखना सीखो और शांति में का काम

करना सीख जाओ एक दिन तुम्हारी सफलता शोर

मचाएगी पर तुम तो पहले ही वाह वाई लेने

में सबको सब कुछ बता देते हो और फिर वही

लोग उन्हीं बातों का तुम्हारे खिलाफ

इस्तेमाल करते हैं वो लोग धीरे-धीरे मीठी

मठी बातें करके तुम्हारे दिमाग में

नकारात्मक विचार भरते हैं वह तुम्हारा

प्रेम संबंध हो तुम्हारा परिवार हो

तुम्हारा स्वास्थ्य हो तुम्हारे जीवन के

हर त्र को बर्बाद करने की कोशिश की है उन

लोगों ने वो लोग तुमसे ही तुम्हारा सब कुछ

बर्बाद करवा रहे हैं जिन्हें तुम अपना

मानकर सब कुछ बताते जा रहे हो वही

तुम्हारे दिमाग में नकारात्मक विचार डाल

रहे हैं यह कार्य करना छोड़ दो इसमें तो

तुम कभी सफल ही नहीं होगे अरे तुम यह कर

लो तुम्हें इसमें सफलता मिल जाएगी तुम सही

नहीं जा रहे हो तुम्हारे परिवार के लोग तो

तुम्हारी सफलता देख ही नहीं सकते जिससे

तुम बहुत प्रेम करते हो वह तुम्हारे लिए

सही नहीं है ऐसी ही अनेक बातें करके

उन्होंने तुम्हारे जीवन की हर एक छोटी से

छोटी चीज तुमसे छीन ली और अंत में तुम

भाग्य को दोष दे दिया नहीं मेरे बच्चे तुम

लोगों की बातों में आ गए तुम अपने मार्ग

से भटक जाते हो तुम्हें यह लगता है कि अब

मैं सफल नहीं हो पाऊंगा तुम पहले ही हार

मान लेते हो तुम्हें एक चीज चुननी ही

पड़ेगी अपने जीवन के किसी भी क्षेत्र में

या तो तुम सफलता चुन लो या लोगों की बावा

ही क्योंकि वोह लोग तो तुम्हें कभी सफल

नहीं होने देंगे वो लोग तो हमेशा तुम्हारे

दिमाग में नकारात्मक विचार ही डालते

रहेंगे हर चीज को लेकर नकारात्मकता फैलाए

तुम्हारे जीवन में ऐसा क्या कोई व्यक्ति

नहीं है तुम्हारे जीवन में और अगर ऐसा

व्यक्ति है तुम्हारे जीवन में तो उससे अभी

से दूर हो जाओ क्योंकि कि ऐसा व्यक्ति ना

खुद किसी का होता है ना तुम्हें किसी का

होने देगा ऐसा व्यक्ति ना खुद सफल होता है

ना तुम्हें सफल होने देगा तो तुम्हें हर

चीज से डराए वो तुम्हें हर चीज से दूर

करेगा तुम हल्का सा गिरोगे तो वह कहेंगे

कि तुम तो गिर गए अब तुम कभी चल ही नहीं

पाओगे तुम्हें हल्की सी खरोच आएगी तो वह

कहेगा तुम्हारी टांग टूट गई है ऐसे

नकारात्मक व्यक्ति से दूर हो जाओ और अगर

दूर नहीं हो सकते तो अपनी योजना बताना बंद

कर दो अपनी योजनाओं को खुद तक रखो और अपनी

सफलता की शोर मचाने का इंतजार करो शांति

में कार्य करना शुरू कर दो और फिर देखना

तुम्हारा कोई भी बना हुआ काम कभी बिगड़ेगा

नहीं फिर तुम्हें कभी कोई पीछे नहीं खींच

पाएगा फिर तुम्हारा भाग्य भी तुम्हारा साथ

देगा ओम नमः

शिवाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *