माँ काली जी का संदेश आपके जीवन में कुछ घटित हो रहा है - Kabrau Mogal Dham

माँ काली जी का संदेश आपके जीवन में कुछ घटित हो रहा है

मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें सावधान करने आई

हूं क्योंकि खतरा तुम्हारे सिर पर

मडराम पहले ही बचना है एक गलती से बचना

होगा तभी वह खतरा तुमसे दूर हो जाएगा जिस

प्रकार एक छोटा सा जहर का टुकड़ा खाने से

इंसान की जान चली जाती है उसी प्रकार एक

ऐसा शुभ समय जिस समय यदि तुम छोटी सी भी

गलती करते हो तो वह गलती तुम पर बहुत भारी

पड़ती है वह तुम्हारे कई गुना किए हुए

अच्छे कर्म

को निफल कर देती है जिस तरह एक विद्यार्थी

काफी समय से पढ़ रहा हो लेकिन यद वह

परीक्षा करीब आने पर पढ़ना छोड़ दे या वह

कुछ ऐसे कार्य में व्यस्त रहे उसका पढ़ाई

में मन ना लगे

तो उसके पहले की की गई परिश्रम सब बेकार

हो जाता है और वह जितने अंक का अधिकारी

होता है वह उसे प्राप्त नहीं होते हैं इसी

प्रकार तुम्हारे जीवन में भी कुछ ऐसा पल

आने वाला है जो तुम्हारे पिछले किए गए

कर्मों को तेज पानी में बहाकर अपनी ओर

लेकर जा सकता है खतरे से बचने के लिए जिस

तरह सदा तुम या तो अपने आप को सुरक्षा

देने के लिए अपने हाथ में अस्त्र रखना या

तुम सुरक्षा कवच पहनते हो पर यहां

तुम्हारे हाथ में ऐसा कुछ नहीं है मेरे

बच्चे यहां पर केवल तुम्हें एक ऐसी शक्ति

को अर्जित करना है जो तुम्हें बड़े खतरे

से बचाव करेगा और आने वाले खतरे से बचाने

के लिए तुम्हें केवल कुछ खास बात का ध्यान

रखना होगा आने वाली मुसीबत तुम्हारे निकट

है उससे पहले एक बहुत बड़ा दिन आने वाला

है इस दिन यदि तुम थोड़ा सा पूजा पाठ कर

लो तो निश्चित ही तुम अपने ऊपर सुरक्षा

कवच के रूप में उसे तैयार कर पाओगे और

निश्चित ही आने वाली परेशानी से बचाव कर

पाओगे आने वाले सोमवार के दिन सुबह प्रात

काल सूर्य निकलने से पहले तुम उठ जाना और

स्नान कर स्वक्ष वस्त्र धारण करके थोड़ी

सी मिट्टी लेकर उससे एक शिवलिंग बनाना और

एक पुष्प चढ़ाकर उस पर थोड़ा जल और एक

पुष्प अर्पित करने के पश्चात तुम्हें उस

दिन सुबह बार किसी भी इष्ट देवता का

जाप करते हुए ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप

करना

अति आवश्यक है यदि सुबह ही यह कार्य करना

है वह भी सूर्य निकलने से पहले इस कार्य

को संपन्न कर लेना है मेरे बच्चे क्योंकि

इस दिन पूजा की जाती है तीन गुना ज्यादा

शक्तिशाली होता है इस दिन तुम यदि शक्ति

एकत्रित कर लोगे तो तुम आने वाली परेशानी

से निश्चित ही बच पाओगे क्योंकि यह दिन

तुम्हारे बचाव के लिए बहुत ज्यादा शक्ति

रखता है और इस दिन तुम किसी भी गलत वस्तु

को हाथ मत लगाना ऐसा कोई कार्य मत करना

जिससे कि तुम्हें परेशानी का सामना करना

पड़े अर्थात किसी गलत चीज का सेवन ना करना

ना ही किसी का अपमान करना मेरे बच्चे सबका

आदर सम्मान करते हुए इष्ट देव का स्मरण

करना मेरे बच्चे कभी जीवन में अच्छे दिन

आते हैं कभी बुरे दिन आते हैं जब तुम्हारे

ग्रहों की स्थिति बदलती है तब ऐसा होता है

अभी तुम्हारे ऊपर एक खतरा जो मंडरा रहा है

वह तुम्हारी आंखों को धोखा होने वाला है

सही चीजें भी तुम्हें गलत दिखाई देने

लगेंगी

तुम्हारा दिमाग विपरीत दिशा में चलेगा ऐसे

में तुम किसी से भी भयंकर शत्रुता भी कर

सकते हो और हो सकता है कि वह शत्रुता

तुम्हारी बहुत ज्यादा बढ़ जाए इसलिए अपने

दिमाग को थोड़ा शांत रखना और शांति और

धैर्य से ही हर कार्य को करना क्योंकि सोच

समझकर किए गए कार्य पर खतरा कम होता है और

अगर कुछ कमी है तो सोचकर केवल मन लगाकर

करने की समझकर करोगे वैसे ही हर परेशानी

से निकल जाओगे मेरे बच्चे मैं जानती हूं

कि तुम कभी नहीं चाहते कि तुम्हारे अपनों

के साथ चाहे तुम खुद तकलीफ में कितनी भी

रहो परंतु तुम अपनों की सलामती सबसे पहले

चाहते हो परंतु जैसे तुम्हारे भीतर बहुत

अच्छे गुण हैं वैसे ही कुछ बुराइयां भी

हैं जिसे तुम स्वयं नहीं देख पाते मेरे

बच्चे क कभी कभी तुम गलत बातों को सुनकर

बहुत ही ज्यादा क्रोधित हो जाते हो क्रोध

के कारण तुम्हारे मुख से जो शब्द निकलते

हैं वह अच्छे हैं या बुरे उसका कोई आभास

तुम्हें नहीं रहता ऐसा नहीं है कि क्रोध

केवल तुम्हें ही आता है क्रोध तो हर

व्यक्ति को आता है यह बात मैं समझती हूं

परंतु कुछ परिस्थितियों में शांत रहना

आवश्यक होता है क्योंकि वास्तव में

तुम्हारा अच्छा व्यवहार ही तुम्हारी पहचान

है और तुम्हारी पहचान ही तुम्हारी शक्ति

है मेरे बच्चे हमें सदैव जितना आवश्यक हो

उतना ही भाव दूसरों को प्रकट करना चाहिए

क्योंकि तुम जितना शांत रहकर संयम व्यवहार

करते हो उतना ही तुम्हारे भीतर सकारात्मक

ऊर्जा का प्रभाव होता है

और जितना तुम क्रोध को बढ़ावा देते हो

उतनी ही बुरी शक्तियां तुम्हारे प्रति

आकर्षित होती रहती

हैं मेरे बच्चे बुरा तो कोई भी बिना

परिश्रम किए भी बहुत आसानी से बन सकता है

परंतु अच्छा होने के लिए उसे धैर्य और

परिश्रम की आवश्यकता होती है जब हम खुद

में ही सहनशीलता नहीं ला पाते तब तक हम

केवल दूसरों की गलतियों को ही देखते हैं

खुद में तो कभी भी कोई बुराइयां नहीं देख

पाता जो व्यक्ति खुद की बुराइयों को पहचान

लेता है उसके लिए खुद को और दूसरों को

समझना बहुत ही सरल हो जाता है मेरे बच्चे

आज तुम्हें मेरी एक बात माननी होगी जो

जीतता है वह हार भी सकता है किंतु जो

दूसरों के दिलों को जीतता है वह कभी अपने

जीवन से हार नहीं सकता परिवार के साथ

धैर्य प्यार कहलाता है दूसरों के साथ

धैर्य सम्मान कहलाता है स्वयं के साथ

धैर्य आत्मविश्वास कहलाता है और मेहमान के

साथ धैर्य आस्था कहलाता है प्रकृति का काम

तो लोगों को मिलाना है रिश्तों की उम्र

क्या होगी यह तो तुम्हारे व्यवहार पर ही

निर्धार होता है जीवन का प्रारंभ तुम्हारे

रोने से होता है और जीवन का अंत दूसरों के

रोने से इस आरंभ और अंत के बीच का समय

भरपूर रहस्य भरा हो बस यही सच है मेरे

बच्चे बड़पन वह गुण है जो पद से नहीं

संस्कारों से प्राप्त होता है परायो को

अपना बनाना इतना मुश्किल नहीं है जितना

अपनों को अपना बनाए रखना है जीवन में ऐसे

कई लोग होते हैं जिन्हें तुम समय के साथ

साथ भूल जाते हो परंतु ऐसे कुछ ही लोग

होते हैं जिनके साथ तुम समय भूल जाते हो

ऐसे लोगों को तुम्हें कभी नहीं खोना चाहिए

जो व्यक्ति के चेहरे पर हंसी और जीवन में

खुशी लाने की क्षमता रखता हो ईश्वर उसके

चेहरे से कभी हंसी और जीवन में से खुशी कम

ना करें लोग इसलिए अकेले होते हैं क्योंकि

बहुत लोग मित्रता का पुल बनाने की वजह

दुश्मनी का दीवार खड़ी कर देते हैं परंतु

चेहरे पर हंसी लाना है हताश लोगों के जीवन

में खुशी लाने की क्षमता रखनी है तब मैं

तुमसे वादा करती हूं कि तुम्हारे जीवन से

खुशी और तुम्हारे चेहरे से मुस्कान कम

नहीं होने दूंगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *