माँ काली का सन्देश // आज रात इतने खुश हैं आपके शत्रु काली क्रियाएं करने की तैयारी में है | - Kabrau Mogal Dham

माँ काली का सन्देश // आज रात इतने खुश हैं आपके शत्रु काली क्रियाएं करने की तैयारी में है |

मेरे बच्चे जीवन में इतना संघर्ष देखकर

तुम अब अपने अस्तित्व पर सवाल उठाने लगे

सोए को अपने सपनों पर सवाल उठाने

लगे सोचो अपनी काबिलियत पर सवाल उठाने लग

गए हो तुम्हें यह लग रहा है कि कोई

तुम्हारा साथ नहीं दे रहा तो कहीं तुम ही

तो गलत नहीं

हो तुम उन लोगों के हिसाब से खुद को बदलने

की कोशिश कर रहे

हो तुम्हें लग रहा है कि शायद मुझ में कोई

मिया है तभी मुझे लोग चले जा रहे हैं

मुझसे कोई प्रेम नहीं करता मुझे कोई

सम्मान नहीं

देता जी सम्मान का मैं हकदार हूं तो मैं

खुद को बदलकर उनके हिसाब से जीने लगता

हूं कुछ नहीं मिला तो कम से कम लोग तो

रहेंगे और वह लोग कब तक

रहेंगे मेरे बच्चे वह ज्यादा दिन नहीं

रहेंगे तुम्हारे साथ जब तुम बदल जाओगे तो

तब भी तुम उन्हें अच्छे नहीं लगोगे

क्योंकि अगर किसी व्यक्ति को तुम उसे

प्रेम करना होता अगर तुम किसी व्यक्ति को

अच्छे लगते हैं अगर वह तुम्हें अपना मानते

तो तुम जैसे जैसे भी हो वह वैसे ही

तुम्हें अपनाते और वैसे ही तुमसे प्रेम

करते हैं जो व्यक्ति तुम्हें बदलने की

कोशिश करें वह कभी तुमसे प्रेम नहीं कर

सकता

है वह कभी तुम्हारा अच्छा नहीं सोच

सकता वह कभी तुम्हारा सगा नहीं है तो उसके

लिए खुद को बदलो

मत उसके लिए खुद की कीमत कम मत

आंखों हमेशा याद रखना जब तुम एक डायमंड

लेकर किसी के पास जाओगे तो जीस मूर्ख

व्यक्ति को उसकी समझ नहीं

है वह यह सोचेगा कि एक तो चमकदार पत्थर है

नहीं तो कोई क्रिस्टल सी चीज

है वह अपने ज्ञान के हिसाब से अपने अनुभव

के हिसाब से ही उसका मोल लगाएगा

तो इसमें गलती उस डायमंड की तो नहीं

है बस इतनी सी बात है कि तुम किस व्यक्ति

के पास उसकी कीमत पूछने जा रहे हो और यही

हुआ है तुम्हारे अब तक के जीवन में तुमने

खुद को पहचाना

नहीं खुद की शक्तियां को नहीं पहचानना और

तुम ऐसे लोगों के पास जाज जाकर अपनी कीमत

पूछ रहे थे

अपने गुणों से पूछ रहे थे जिनको खुद कोई

अनुभव नहीं है जिनके भीतर खुद इतनी

नकारात्मकता भरी हुई

है इसलिए वह हमेशा तुम्हें नकारात्मक

बातें बताते

हैं वह हमेशा तुम्हें नीचे खींचने की

कोशिश करते

थे उनके खुद के सपने बर्थडे नहीं है

तुम उनसे अगर कहोगे कि एक दिन आसमान में

उड़ेंगे तो वह कहेंगे चिं की तरह चलना

सीखो चिं इतनी परिश्रम करती है चिं यह

करती है कहां चीन की तरह आसमान उगे बहुत

बढ़े लक्ष्य देख रहे होते तुम वह तुम्हें

हमेशा नीचे खींचे ग मैं यह नहीं कह रही कि

चिंति परिश्रम नहीं करती है मेरे बच्चे पर

तुम्हारा भाग्य ऐसा है कि कम मेहनत करके

भी तुम्हें सफलता

मिलेंगे पर वह लोग उस चीज से वंचित रख रहे

हैं तो उन्हें पता है तुम्हारी काबिलियत

इसलिए वह तुम्हें पीछे खींच रहे

हैं इसका मतलब यह नहीं कि तुम्हारे अंदर

कोई गलती

है इसका मतलब यह नहीं कि तुम खुद को बदल

लो

उनको इतना ध्यान ही नहीं है क्योंकि इससे

कैसी बातें करनी

है उनको इतना ध्यान ही नहीं है कि वह

तुम्हारी शक्तियों को समझ

पाए जिससे आध्यात्मिक रास्ते पर तुम चल

रहे हो उस रास्ते पर चल

जाए इतनी हिम्मत ही नहीं है उनमें क्योंकि

उस रास्ते पर चलने के लिए बहुत संघर्ष

करना पड़ता है और बहुत दर्द झेल करर खुद

को साबित करना है जो तुमने किया है तो तुम

ऐसे लोगों की सलाह पर अपना जीवन व्यतीत

करो ऐसे लोगों की सलाह मानकर तुम अपने आप

को बदल दोगे अपने सपनों को पीछे छोड़ दोगे

अगर नहीं तो अपने आप पर यकीन रखो अपने दिल

की सुनो तुम्हारे दिल में दो मार्ग बने

हुए हैं कि तुम अभी जो कर रहे हो क्या

तुम्हें वह करना

चाहिए क्या उसने तुम्हें सफलता

मिलेंगे तुम थक जाते हो तो अपने दिल से

पूछो किसी और व्यक्ति से मत

पूछो कि तुम्हें यह कंपनी में काम करना

चाहिए या नहीं करना

चाहिए तुम्हें इस परीक्षा का इम्तिहान

देना चाहिए या नहीं देना

चाहिए यह सवाल सिर्फ अपने दिल से पूछो और

अगर तुम्हारा दिल कहता है कि तुम इस

परीक्षा में सफल होंगे अगर तुम्हारा दिल

कहता है कि इस कंपनी में इस जगह पर काम

करके तुम्हारे सपने पूरे होंगे तो सिर्फ

अपने दिल की सुनो और अगर तुम्हारा दिल

नहीं करता है अगर तुम किसी और के दबाव में

आकर कुछ कर रहे हो तो वह काम छोड़ो सिर्फ

खुद पर यकीन रखो दूसरों पर निर्धारित होना

छूट

दो दूसरों की बातों में आना छुट्टियों और

दूसरों की बातों को सुनकर खुद पर अपनी

काबिलियत पर उंगली उठाना बंद कर

दे मेरे बच्चे तुम बहुत असमंजस में फंसे

हो कि माता मैं अपने अतीत को पीछे छोड़कर

आगे बढ़

जाऊं यह फिर से उस व्यक्ति का हाथ था जो

कुछ भी हुआ मेरे साथ वह सब कुछ भूल जाओ या

अपने जीवन का एक नया अध्याय शुरू करो मेरे

बच्चे मुझे पता है तुमने अपना बेस्ट किया

कि तुम अपने जीवन के उस अध्याय को खत्म कर

दो अपने जीवन के उस टर को तुम हमेशा के

लिए भूलना चाहते हो पर तुम्हारे मन में एक

डर

है कि माता अगर मैं वह सब कुछ भूलकर उस

व्यक्ति को छोड़कर आगे बढ़ गया और मुझे

कभी सच्चा प्रेम मिला ही नहीं तब माता अगर

मुझे कभी सफलता मिली ही नहीं तब अगर मैं

हार गया तब मात्रा इस बात का डर तुम्हें

अंदर ही अंदर खाए जा रहा

है मेरे बच्चे और तुम्हें सबसे ज्यादा डर

इसी बात का

है कि अगर तुम्हारा परिवार नहीं बचा तब

क्या होगा तुम्हारे साथ क्या तुम अकेले रह

जाओ क्या तुम्हें यह जीवन ऐसे ही अकेले

बिताना पड़ता

रहेगा तुम्हें कभी सच्चा और अच्छा जीवन

साथी नहीं मिलेगा तो उस इंतजार से अच्छा

है कि तुम उस व्यक्ति का हाथ थाम दो

क्योंकि वह तो आज भी तैयार है कि तुम उसे

माफ कर दो और उसके साथ फिर से घर बसाने के

सपने देखना शुरू कर

दो पर जो उसने तुम्हारे साथ किया जो उसने

तुम्हारे साथ धोखा किया वह भी भूलना आसान

नहीं

है तुम्हारे लिए तुम्हें उस बात से भी डर

लगता है कि माता घर में उस व्यक्ति के पास

वापस गया और उसने जो मेरे साथ किया है

उससे भी बुरा

किया मेरे साथ तो मैं फिर से अपना इतना

समय व्यर्थ कर

दूंगा यह विचार मुझे बहुत परेशान कर रहे

हैं कुछ करो मुझे उलझनों से बाहर निकालो

मुझे कोई रास्ता दिखाओ इस महीने में वह

व्यक्ति तुमसे बात करेगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *