माँ काली का सन्देश अब उस रहस्य को जानने का समय आ गया है| - Kabrau Mogal Dham

माँ काली का सन्देश अब उस रहस्य को जानने का समय आ गया है|

मेरे बच्चे यदि अचानक से तुम्हारे समक्ष मेरा यह संदेश आया है तो निश्चित ही

तुम्हें भी उस राज के बारे में आज पूर्ण ज्ञात हो जाएगा और तुम्हें यह भी पता चल

जाएगा कि वह ऐसी कौन सी बात है जिसे अभी तक ना तो तुम जान पा रहे थे और ना मैं

तुम्हें बता पा रही थी क्योंकि एक ऐसा गहरा राज जो तुम्हारे जीवन के कड़वे सत्य

से जुड़ा हुआ है वह आज मैं आज बताने के लिए विवश हो चुकी हूं वह सत्य जो मैं तुम्हें बताऊंगी और

निश्चित ही तुम इसे जानकर दंग रह जाओगे मेरे बच्चे मैं तुम्हें उस राज के

बारे में बताऊंगी और उसके पश्चात तुम्हें उस राज के बारे में पूर्ण रूप से ज्ञात

[संगीत] कराऊंगा करना होगा कि हमारे संदेश को

सुनने के पश्चात और उस राज को जानने के पश्चात निश्चित ही तुम अपने जीवन में

परिवर्तन लेकर आओगे मैं जो कहूंगी तुम मेरा कहना

मानोगे मेरे बच्चे जीवन में गलतियां तो हर बच्चे से होती हैं चाहे बच्चा बुद्धिमान

हो या ना समझ बल्कि समझदार बच्चे से कुछ कम गलतियां होती हैं और नासमझ बच्चे से

कुछ ज्यादा लेकिन गलतियां इसलिए होती हैं क्योंकि जो व्यक्ति इस संसार में आया है

और वह कर्मों को कर रहा है कार्यों को करते हुए आगे बढ़ रहा है तो निश्चित है कि

उससे कुछ ना कुछ गलती अवश्य होगी मेरे बच्चे यदि कोई व्यक्ति कार्य ही

ना करें तो फिर कैसी गलती क्योंकि जो कार्य करता है उससे कुछ ना कुछ गलती अवश्य

होती है कहीं ना कहीं ऐसी गलती हो जाती है जिसकी वजह से कई बार उसे अपने परिवार के

सदस्यों से बुरा भला सुनना पड़ता है और कई बार उसे अपने हृदय से भी गलानी होती है कि

उससे ऐसा कैसे हो गया यही तो पश्चाताप होता है जो इंसान के हृदय के अंदर उत्पन्न

तब होता है जब उसका मन साफ हो और उससे ऐसी कोई गलती हो जाए जो नहीं होनी

चाहिए लेकिन मेरे बच्चे एक ऐसी गलती जो कि इंसान से यदि जानबूझकर हो जाए तो उसे

सृष्टि की कोई भी शक्ति ना तो बचा सकती है और ना ही उसके बचने का फिर रास्ता रहता है

और यह तुम्हारे लिए अभी तक राज बना हुआ था लेकिन अब आज मैं इस राज से तुम्हारे सामने

वल पर्दा भी हटाऊ और तुम्हें उस राज के बारे में बताऊंगी तुम्हें ज्ञात

[संगीत] कराऊंगा रे जीवन में क्या असर

पड़ेगा मेरे बच्चे यदि तुम पुरुष हो और तुम किसी महिला का या किसी कन्या का मान

सम्मान नहीं करते या उसकी इज्जत पर तुम्हारी वजह से आंच आती है तो निश्चित ही

तुम उसके गुनाहगार बन जाते हो ऐसा गुनाह यदि तुमसे जानबूझकर होता है तो वह माफी के

योग्य नहीं होता लेकिन यदि अनजाने में तुम उसकी इज्जत नहीं कर रहे तो उस बात का आज

से आभास कर लो कि किसी भी महिला का या किसी भी कन्या का मान सम्मान करना उसकी

इज्जत करना तुम्हारा परम धर्म है क्योंकि मेरे बच्चे वह कन्या या वह स्त्री किसी ना

किसी देवी का रूप होती है और यदि तुम्हें ऐसा आभास होता है कि वह केवल साधारण

मनुष्य की भाती जीवन जी रही है तो यह तुम्हारी बहुत बड़ी भूल है क्योंकि जो

छोटी कन्या होती है वह तो साक्षात देवी का रूप होती है लेकिन जो स्त्री होती है जो

परिवार को चलाने वाली अपने घर संसार के लिए इतने बड़े-बड़े त्याग करती है बलिदान

देती है तब जाकर वह अपने परिवार के सदस्यों का ख्याल रख पाती है वह एक मां के

रूप में अपने बच्चों की रक्षक होती है और अपने बच्चों को शिक्षक बन के अर्थात गुरु बन के हर

अच्छे मार्ग को दर्शाती है मेरे बच्चे वह यह जानती है कि कहीं उसका बच्चा किसी गलत

रास्ते पर ना चला जाए इसलिए उसे बचपन से वह मार्ग सिखाती है कि कौन सा मार्ग उसके

जीवन के लिए सही है और कौन सा मार्ग उसके जीवन के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है

धीरे-धीरे करके बच्चा उसकी छाया में बड़ा होता है और वह बड़ा होकर एक ऐसा पुरुष बन

जाता है जो सभ्यता पूर्वक पुरुष जो सभी का मान सम्मान करते हुए जीवन में कभी भी ना

तो डरता है और ना ही वह गलत मार्ग पर जाता है इसके पीछे केवल उस महिला का अर्थात

उसकी मां का हाथ होता है जो गुरु बनकर उसे बहुत ही ध्यान से हर कार्य को

करना सिखाती है और सही गलत का मार्ग बताती है मेरे बच्चे इसके साथ-साथ वह अपने पति

के लिए हर चीज का बलिदान करती है अपने घर का बलिदान करती है और इसके साथ-साथ अपने

हर अरमान को हर सोच को हर चाहत को अपने पति के अनुसार रखती है उसके पति को जो बात

अच्छी लगती है वह उसमें खुश रहती है और अपने जीवन को केवल उनके लिए जीती है उनका

ख्याल रखते रखते वह अपने आप को इस तरह से ढाल लेती है कि वह अपने जीवन में उसे कब

खुश र रहना है कब दुखी रहना है यह केवल वह अपने पति को देखकर करती है उनका ख्याल

रखते रखते वह अपने जीवन को समाप्त कर लेती है लेकिन अपने चेहरे पर उस मुस्कान को कभी

हटने नहीं देती जिसे देखकर उसके परिवार के सदस्यों के जीवन में खिलखिला हट आती

है मेरे बच्चे इसके साथ-साथ वह अपने जीवन में बहुत ज्यादा त्याग की मूर्ति होती है

और यदि ऐसी महिला का तुम अपमान करते हो उसकी इज्जत नहीं करते हो तो तुम इतना समझ

लो कि तुम्हारे हाथों से यह घोर पाप हो रहा है और इसके साथ-साथ तुम एक बात का और

ध्यान रखो कि प्रकृति में विद्वान शक्ति तुमसे अवश्य ही बदला लेती है मेरे बच्चे

यदि तुम किसी का मान सम्मान नहीं करते किसी स्त्री की इज्जत नहीं करते किसी

स्त्री की इज्जत से वा करते हो तो निश्चित ही तुम्हारी मां के दिए हुए ज्ञान का

अपमान करते हो और इस बात को स्मरण रखना कि जीवन में जब तुम इस जीवन को जी के समाप्त

कर लोगे अर्थात अगला जन्म लोगे तब तुम स्त्री बनोगे और वही पुरुष आकर तुम्हारी

इज्जत नहीं करेगा अर्थात प्रकृति तुमसे अवश्य इस बात का बदला लेगी क्योंकि

प्रकृति हर बात का तुम्हें जवाब देती है और इसके साथ-साथ तुम्हारे जीवन में

प्रकृति भी तुम्हारी इज्जत नहीं करेगी यदि मेरे बच्चे तुम स्त्रियों की

इज्जत नहीं करते तो तुम्हारी खुद भी इज्जत नहीं की जाएगी तुम्हारा मान सम्मान लगातार

गिरता चला जाएगा क्योंकि उसमें विद्वान शक्ति इसी प्रकार से कार्य करती है कि यदि

तुम दूसरों की इज्जत करते हो तो तुम्हें इज्जत मिलती है और यदि तुम इज्जत लोगों की

करना भूल जाते हो तो प्रकृति भी अर्थात प्रकृति में विद्यमान शक्ति भी तुम्हें इस

प्रकार का बना देती है कि कोई तुम्हारी इज्जत नहीं करता कोई तुम्हारा मान सम्मान

नहीं करता और फिर तुम एक ऐसी दिशा में चले जाते हो

जहां पर तुम्हें बहुत ज्यादा पछतावा होता है बहुत ज्यादा रोना आता है बहुत ज्यादा

दुखी हो जाते हो लेकिन तुम कुछ कर नहीं सकते क्योंकि मेरे बच्चे तुमने स्वयं अपने

आप को इस साचे में ढाल लिया होता है कि तुम जीवन में फिर चाहकर अपने आप को बदलो

यह तुम्हारे लिए और भी ज्यादा मुश्किल हो जाता है इसलिए कन्या हो या स्त्री उसकी

इज्जत करना सीखो और उसका मान सम्मान करना सीखो उसके त्याग की भावना को समझो इसके

साथ-साथ हर कन्या को हर स्त्री को इस बात का ज्ञात होना चाहिए कि वह कोई भी पुरुष

हो लेकिन उसका मान सम्मान करें ना तो कभी भी किसी पुरुष का निरादर करें और ना ही

उसके मान सम्मान के साथ खिलवाड़ करें यहां तक कि उसके जीवन के साथ कभी भी किसी भी

स्त्री को खिलवाड़ नहीं करना चाहिए क्योंकि वह कोई वस्तु नहीं है जिसके

जीवन से तुम खेलो और चले जाओ क्योंकि बहुत सारी स्त्रियां इस तरह की होती हैं कि वह

पुरुष को नासमज समझती हैं और वह उसके जीवन से खिलवाड़ करती हैं उसके हृदय से अर्थात

उसके प्रेम से खिलवाड़ करती हैं और उसे एक ऐसे झूठ में बहका कर रखती है जिससे कि वह

पुरुष इस बात का ज्ञात ही नहीं कर पाता कि वह स्त्री उससे प्रेम नहीं करती बल्कि वह

उससे झूठ बोल रही है भले ही वह कोई भी स्त्री हो या कोई भी कन्या हो किसी भी

कन्या को किसी लड़के के साथ कभी ऐसा नहीं करना चाहिए कि उसके जीवन से वह खिलवाड़ करे और

झूठ की फरेब की जाल में फसाकर उसे रखे क्योंकि मेरे बच्चे तुम्हारा बोला गया

एक झूठ किसी के जीवन को पूर्ण रूप से बर्बाद करने की ताकत रखता है क्योंकि जिस

समय तुम झूठ बोल रहे हो तुम इस बात का आभ भास नहीं कर पा रहे कि किसी व्यक्ति के

जीवन पर तुम्हारे बोले गए झूठ का क्या प्रभाव होगा क्योंकि जब कोई व्यक्ति

विश्वास से तुम्हारी बात का विश्वास करता है और तुम बार-बार उसको झूठ बोलते हो तो

निश्चित ही उसके जीवन में यह एक बहुत ही बड़ा खिलवाड़ होता है और यह बोलने वाले को

समझ में नहीं नहीं आता क्योंकि बोलने वाला व्यक्ति बोलकर निकल जाता है और बर्दाश्त

करने वाले व्यक्ति के दिल पर क्या गुजरती है यह वही समझ सकता है जिसके जीवन में

किसी ने ऐसा खिलवाड़ किया हो मेरे बच्चे किसी भी व्यक्ति को अपने

हृदय से उस बात को सोचना चाहिए जो बात खुद के ऊपर बीत सकती है या तुम्हारे ऊपर वह

बात बीते तो तुम्हें कैसा आभास होगा अर्थात यदि तुम किसी के हृदय से किसी के

प्रेम से वा कर रहे हो तो तुम इस बात का आभास अपने हृदय से करो कि यदि तुम्हारे

जीवन में कोई इस प्रकार से तुम्हारे साथ खेल खेले तो तुम्हें कैसा आभास होगा कितना

कष्ट होगा तुम्हारे हृदय को तुम कितना रोगे कितना तड़पोगे और इस तरह का आभास

करके तुम कभी भी किसी के हृदय को कष्ट मत पहुंचाओ मेरे बच्चे मैं तो तुम्हें डरा

नहीं रही हूं मैं तुम्हें समझा रही हूं कि यदि तुम ऐसा किसी के साथ करोगे तो तुम

कन्या हो या स्त्री तुम इस सृष्टि के चक्रव्यूह से कभी नहीं बच पाओगी सच्चे दिल

से किसी के साथ रिश्ता है अर्थात प्रेम का शब्द यहां पर गलत नहीं है प्रेम के बहुत

सारे शब्द होते हैं मां बेटे का प्रेम होता है पति-पत्नी का प्रेम होता है

मित्रता का प्रेम होता है माता पिता और बच्चों के बीच का प्रेम होता है तो

तुम्हें किसी की प्रेम के साथ खिलवाड़ नहीं करना है किसी का इस तरह से

फायदा नहीं उठाना है कि वह तुम पर विश्वास करें और तुम उसे झांसे में लेकर उससे साथ

कुछ ऐसा करो जिससे उसका अपमान करो ऐसे झूठ बोलो जिससे कि उसे बहुत ज्यादा कष्ट

हो क्योंकि मेरे बच्चे यदि तुम्हारी वजह से किसी को कष्ट होगा तो निश्चित ही उसका

फर्क तुम्हारे जीवन पर अवश्य पड़ेगा क्योंकि आज नहीं तो कल तुम्हें उसका फल

भोगना ही होगा और आज नहीं तो कल तुम्हारा जो तुमने किया है वह तुम्हारे सामने

आएगा क्योंकि मेरे बच्चे यह कड़वा जरूर है लेकिन सत्य है और यही बात मैं तुम्हें

बताना चाहती हूं इसलिए तुम्हारे जीवन में ऐसी को कोई गलती यदि तुम कर देते हो तो

अभी भी वक्त है संभल जाओ अपनी गलतियों की माफी मांग लो और तुम पुनः ऐसा कोई कार्य

नहीं करोगे जिससे किसी का हृदय टूटे या विश्वास टूटे या किसी के साथ धोखा हो खुद

से वादा करो और इस वादे को तुम कभी नहीं तोड़ोगे ना टूटने

दोगे मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें एक राज को बताना चाहती हूं जिस राज को जानना

तुम्हारे लिए अत्यंत आवश्यक हो चुका है क्योंकि कई बार मैं ऐसा आस करती हूं कि

तुम यहां पर बहुत बड़ी गलती कर रहे हो लेकिन तुम समझ नहीं रहे और गलती पर गलती

किए जा रहे हो और राज की बात ज्यादा बड़ी नहीं है बस इतनी सी है कि जिस चीज की

इज्जत करोगे वह तुम्हारे पास आएगी मेरे बच्चे तुम कई बार धन को अर्थात स्वयं

मेरे ही स्वरूप को ऐसे हाथों से छू लेते हो तुम्हें नहीं छूने चाहिए ऐसी जगह रख

देते हो जहां नहीं रखनी चाहिए क्योंकि तुम इस बात का आभास नहीं करते कि साक्षात जिसे

मंदिर में रखकर पूज रहे हो वह मेरा ही स्वरूप है जिसे तुम गंदे हाथों से छू रहे

हो या किसी ऐसी जगह रख रहे हो जहां पर तुम गंदी वस्तुओं को रखते हो इस बात का

तुम्हें आभास होना चाहिए कि तुम ऐसी जगह रखकर मेरा अपमान कर रहे हो साफ सुथरी जगह

रखो और किसी ऐसी चीज में मुझे खर्च मत करो

अर्थात पैसों को ऐसी चीज खाने में जो कि गंदी वस्तु कहा जाता है खर्च करते हो तो

निश्चित ही तुम बहुत बड़ी गलती करते हो क्योंकि मेरे बच्चे ऐसी कोई भी वस्तु

खाने से तुम्हारे घर की बरकत होते होते रुकने लगती है और तुम्हारे हाथों से

साक्षात लक्ष्मी निकलती चली जाती है तुम्हें इस बात का आभास भी नहीं होता कि

तुम्हारे हाथों में लक्ष्मी क्यों नहीं रुक रही और तुम जिन कार्यों को करना भी

नहीं चाहते हो वह कार्य अपने आप ही होने लगते हैं तुम्हारे जीवन में एक पर एक

कार्य ऐसा होता चला जाता है जिसे तुम करना नहीं चाहते लेकिन वह होता है उसका कारण

केवल इतना ही होता है कि तुम इस संसार में सबसे ज्यादा जिस चीज की

कीमत समझोगे वह चीज तुम्हारे पास आती चली जाएगी और जिस चीज की कीमत नहीं समझोगे वह

तुमसे दूर चली जाएगी मेरे बच्चे इस बात का ध्यान रखो कि

जीवन में यदि कुछ भी प्राप्त करना है तो हर चीज की अहमियत को समझो किसी भी हालत

में और किसी भी चीज के लिए तुम्हें परेशान होने की आवश्यकता नहीं पड़े केवल इस बात

को हमेशा ध्यान रखो कि जीवन में यदि तुम्हें कुछ भी चाहिए हो तो तुम केवल

गुप्त रूप से ही मुझ से मांगना यह राज की बात जो मैं तुम्हें बता रही हूं यह

तुम्हें हमेशा स्मरण रखनी है क्योंकि गुप्त रूप से बोली गई तुम्हारे द्वारा कोई

भी बात सीधे मुझ तक है क्योंकि मेरे बच्चे मेरे और तुम्हारे

बीच की वार्तालाप में यदि तुम किसी तीसरे को आने देते हो तो वह बात सीधी मुझ तक

नहीं पहुंचती इस बात का ध्यान रखना तुम्हें अति आवश्यक है कि जीवन में जब भी

तुम किसी भी बात को मुझसे कहना चाहते हो और मुझसे कहते हो तो तुम निश्चित ही इस

बात को समझ लो कि तुम्हारे हृदय से निकली एक एक बात बात मेरे मन तक पहुंच जाती है

और तुम कभी भी किसी भी कार्य को करने में सक्षम हो जाते हो उसका कारण यह है कि यदि

तुम कभी किसी कार्य को करना चाहते हो तो उसका संपूर्ण रास्ता में तुम्हें गुप्त

रूप से बताती हूं क्योंकि मेरे बच्चे संसार में बताई

हुई बात यदि बिखर जाए तो उसकी शक्ति बिखर जाती है और वह बात जो इतनी शक्तिशाली है

वह कमजोर हो जाती है और फिर तुम्हारे जीवन में ना तो वह कार्य होना प्रारंभ हो पाता

है और ना ही तुम उस कार्य को कर पाते हो मेरे बच्चे तुमने अपने जीवन में यह कई

बार महसूस किया होगा कि जब जब तुमने किसी को कोई ऐसी बात बताए हो जो तुम्हारे और

किसी व्यक्ति के बीच की मध्य बात है वह कभी भी पूर्ण नहीं होती और ना ही वह कार्य

कभी पूर्ण हो पाता है जिसे तुम करना चाहते हो यदि उसके बारे में तुमने किसी तीसरे

व्यक्ति को बता दिया तो निश्चित ही उसकी शक्ति क्षीण होना प्रारंभ हो जाती है कोई

भी व्यक्ति उस शक्ति को प्राप्त नहीं कर पाता है जिस शक्ति को प्राप्त करने के लिए

वह इतने जप तप करता है और वह इस बात को कभी ना भूले मेरे बच्चे यदि जीवन में तुम्हें कोई

भी ऐसा मार्ग चाहिए हो जहां पर तुम्हें तुम्हारा मार्ग अवगत कराने वाला व्यक्ति

तुम्हारे समक्ष खड़ा हो और तुम उसे देखकर अनदेखा कर रहे हो तब तुम अपने कार्यों में

सफलता प्राप्त करते चले जाओगे और यदि तुम जानते हो कि वह व्यक्ति तुम्हारे कार्यों

को अवरुद्ध करना चाहता है तुम्हारे कार्यों के बीच में वह कोई ना कोई ऐसा

बांधा उत्पन्न करता है जिससे कि तुम्हारा कार्य बनने की जगह और बिगड़ता चला जाता है

तो निश्चित ही तुम चाहकर भी किसी भी कार्य को पूर्ण नहीं कर

सकते क्योंकि मेरे बच्चे भले ही प्रयास तुम्हारा संपूर्ण हो लेकिन यदि बीच में

कोई ऐसी बांधा हो जिसे तुम चाहकर दूर नहीं कर रहे जानते हुए उसे अपने करीब आने दे

रहे हो तो यह तुम बहुत बड़ी गलती कर रहे हो इस बात को सदैव ध्यान रखो कि तुम्हारे

आने वाला व्यक्ति कौन है किस हद तक तुम्हारा मित्र है और किस हद तक वह

तुम्हारे साथ मित्रता निभाता है इस बात का यदि तुम्हें आभास होता है और फिर तुम ऐसे

व्यक्ति को अपने निकट आने देना प्रारंभ कर देते हो तो निश्चित तुम अपनी बर्बादी का

रास्ता स्वयं चुनते हो मेरे बच्चे ऐसे व्यक्ति यदि तुम्हारे

निकट रहते हैं तो तुम्हारे बनते कार्यों को तो अवरु करते ही हैं इसके साथ-साथ ऐसे

व्यक्तियों के संपर्क में रहने से तुम्हारी बुद्धि भी क्षीण हो जाती है ना

तुम्हें रुपए पैसे धन दौलत की समझ रहती है और ना ही धन का महत्व तुम्हारे मन के अंदर

विराजमान होता है किस प्रकार से धन को खर्च करो किस प्रकार से इकट्ठा करो किस

प्रकार से कार्यों में लगाओ और किस प्रकार से उन्नति करो यह सब समझ तुम्हारी बंद हो

जाती मेरे बच्चे इस बात का सदैव ध्यान रखना कि

जीवन में कोई भी व्यक्ति यदि अच्छा है और तुम्हारे साथ है तो वह तुम्हें कभी भी गलत

सलाह नहीं देगा वह खुद भी कार्यों पर ध्यान देगा और तुम्हें भी कार्यों पर

ध्यान देने की मार्ग पर तुम्हें लेकर जाएगा और यदि कोई ऐसा खाली बैठने वाला

व्यक्ति तुम्हारा मित्र है तो वह निश्चित ही तुम्हें ही राय देगा और तुम्हारी जमा

पूंजी को भी खर्च करवा देगा मेरे बच्चे इस बात को ध्यान रखना कि

कभी भी किसी भी इंसान की राय तभी मानना जब उसके जीवन को देख परख लो जब तुम्हें इसका

आभास होने लगे कि उसने अपने जीवन में कुछ कमाया है कुछ करके दिखाया है तभी तुम उसकी

बातों को मानना केवल बोलने वाला व्यक्ति और कुना करके दिखाने वाला व्यक्ति

तुम्हारा मित्र है तो निश्चित ही तुम समझ लेना कि वह अपने जीवन में कुछ भी नहीं

करेगा और तुम्हारे कार्यों को भी निश्चित बिगाड़ देगा और तुम उसके संपर्क में अधिक

से अधिक रहोगे तो निश्चित ही अपने बनते कार्यों को भी वयं बिगाड़

बैठोगे क्योंकि मेरे बच्चे जैसा साथी होता है वैसा ही व्यक्ति का मन होता चला जाता

है कोई भी व्यक्ति अपने मन पर पाबंदी नहीं लगा सकता इसलिए जीवन में अच्छे मित्र चुनो

और अच्छे ही लोगों की संगति में रहो इसके साथ-साथ खाने वाले अन्य की कीमत को भी

समझना बहुत जरूरी है और अपने रुपए पैसे धन को जो भी तुम्हारे पास है भले ही तुम एक

साधारण इंसान हो या धनवान इंसान हो लेकिन यदि तुम अपने धन की अहमियत को समझो

तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन में तुम बहुत ज्यादा धन इकट्ठा कर पाओगे और तुम्हारे

जीवन में मैं कभी भी धन से संबंधित कोई कमी नहीं रहने

दूंगी मेरे बच्चे इस बात का सदैव ध्यान रखना कि जीवन में जिस व्यक्ति के पास धन

की कमी होती है तो उस व्यक्ति के जीवन में कभी भी सुख और खुशी का उसे आनंद नहीं

प्राप्त होता है बल्कि वह अपने जीवन में धन के लिए हमेशा तरसता रहता है और उसके

जीवन में एक के बाद एक मुसीबतों का आगमन होता ही रहता है वह कभी भी अपने जीवन में

ना तो खुशियों को महसूस कर पाता है और ना ही खुश रह पाता है वह हमेशा कष्टों से भरे

जीवन को गुजारता है और उसे ऐसा महसूस होता है कि वह अपने जीवन में कभी खुश नहीं रह

पाएगा लेकिन मेरे बच्चे सच तो यह है कि यदि तुम धन का मान करोगे धन का सम्मान

करोगे धन को भले ही तुम खर्च करो लेकिन सही रास्तों से धन को खर्च करोगे तो तुमसे

मां लक्ष्मी हमेशा प्रसन्न रहेंगी अर्थात मैं हमेशा तुमसे प्रसन्न रहूंगी तुम्हारे

जीवन में तुम्हारी बरकत करूंगी मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ रहेगा

तुम्हारा कल्याण होगा जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे प्रेम हर किसी के नसीब में नहीं होता है और जीत के लिए हर कोई

प्रयासरत नहीं होता है लेकिन जिस पर तुम्हारी माता कृपा हो जाती है जिस पर देव

दूतों की कृपा हो जाती है फिर वह प्रयास करे या ना करे उसके जीवन में आगात प्रेम

उत्पन्न होता है वह मोक्ष और प्रेम के असली महत्व को समझने में रुचि होने लगता

है मेरे बच्चे ऐसे क्षण में उसके जीवन में प्रेम ही प्रेम बसता है और धन तो इतनी

मात्रा में बरसता है जिसकी वह कभी कल्पना कर ही नहीं सकता था असंभव को भी संभव कर

देता है उसका जीवन ऐसा हो जाता है मानो किसी स्वर्णम युग में जी रहे मनुष्य का

जीवन हो क्योंकि मेरे बच्चे कुछ ही क्षणों में कलयुग में ही सतयुग की रूप रेखा प्रज्वलित

हो उठती है और अब तुम्हारा भी जीवन ऐसा ही होने वाला है तुम्हारा यह जीवन प्रेम से

भरा होने वाला है लेकिन इसके लिए तुम्हें आज यह संदेश भेजा गया है तो तुम्हें हर

हाल में इस संदेश को पूरा अंत तक सुनना है किसी भी परिस्थिति में इसे बीच में छोड़कर

जाने की भूल नहीं करनी है अन्यथा पछतावे के अलावा कुछ नहीं

बचेगा मेरे बच्चे जो आज तुम्हें प्रदान किया जा रहा है यह विशेष आशीर्वाद से ही

प्राप्त होता है कुछ मूर्ख मनुष्य इसे अपने हाथों से रेत की तरह बह जाने देते

हैं लेकिन जो समझदार होते हैं जो ज्ञानवान होते हैं और जिन्हें इसका मूल्य पता होता

है वह इसे सजो कर रखते हैं अपने जीवन में उतारते हैं इसकी महिमा को समझते हैं और

इसके प्रताप से वह अपने जीवन को एक सही रूप रेखा देते

हैं मेरे बच्चे तुम अब सुरक्षा कवच के घेरे में आ चुके हो काली शक्तियों से

बचाकर तुम्हें सानिध्य के घेरे में पहुंचाया जा चुका है इसे किसी भी हाल में

टूटने ना देना चाहे निराशा तुम पर कितनी ही हावी क्यों ना हो जाए चाहे तुम्हारे

भीतर का प्रत्येक अणु प्रत्येक कर्म तुमसे यह कह रहा हो कि हार के तुम बहुत करीब हो

फिर भी इसे अपने आप से दूर नहीं होने देना है क्योंकि मेरे बच्चे यह मात्र माया जाल

है एक ऐसा भ्रम जाल जिसमें तुम्हें कुछ भी अच्छा नहीं लगेगा जिसमें तुम्हें सब कुछ

ऐसा लगेगा मानो तुम्हारे काम का ही ना हो सब कुछ व्यर्थ मालूम चलेगा लेकिन व्यर्थ

के आवरण उड़े हुए हैं बहुत सुनहरा भविष्य तुम्हारा स्वागत करने को तैयार खड़ा है

अपनी बाहे लाकर यह तुम्हें आलिंगन करना चाहता है लेकिन मेरे बच्चे यह परखता है यह

जांच है अंतिम परीक्षाएं लेता है बार-बार तोड़ता है यह जानने के लिए कि क्या तुम

पूर्ण रूप से इसके योग्य हो क्या तुम इसे अपनाने के योग्य हो क्या वास्तव में इसे

स्वीकार करने की श्रेणी में तुम हो भी अथवा नहीं यह तुम्हारे भीतर ऐसी ज्वाला

प्रज्वलित करेगा जो तुम तुम्हे झकझोर कर रख देगी लेकिन मेरे बच्चे इसके तेज से इसके

प्रताप से जब तुम्हें परिणाम हासिल होगा तो ऐसा लगेगा मानो जीवन स्वर्ग सा सुंदर

हो चुका है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन को प्रेम से

भरने के लिए स्वर्ग से देवदूत चल पड़े हैं यह तुम्हें आगे बढ़ाने आ रहे हैं तुम्हारे

जीवन को सही राह पर ले जाने के लिए और तुम्हें अपना आशीर्वाद प्रदान करने के लिए

आ रहे हैं वह निकल चले हैं बहुत ही जल्द इनका तुम्हारे जीवन में आगमन हो जाएगा ना

केवल बल्कि इनके आने से तुम्हारे हृदय चक्र में भी परिवर्तन प्रारंभ होगा ऐसा

परिवर्तन ऐसा तेजस जो तुमने कभी भी ना सोचा था मेरे बच्चे वह तुम्हारे जीवन में आएंगे

और सब कुछ चमत्कारिक रूप से बदल जाएगा तुम साक्षी हो ग एक ऐसे सुंदर भविष्य के एक

ऐसे सुनहरे जीवन के जो अब तक तुमने नहीं देखा था लेकिन तुम्हारे प्रेम को लेकर जो

चुनौतियां तुम्हारे जीवन में आ रही हैं उनसे भी तुम्हारा साक्षात्कार होना यह

अत्यंत आवश्यक है मेरे बच्चे कई बार मनुष्य जब प्रतीक्षा

कर रहा होता है तब वह उसे हासिल ही नहीं होता जिसके इंतजार में वह अपना सब कुछ गवा

बैठता है और फिर जब वह उसकी प्रतीक्षा त्याग देता है तब उसे सब कुछ एक एक कर

प्राप्त होने लगता है तुम भी कुछ इसी तरह के अनुभवों से गुजर रहे हो और अभी तुम कुछ

समय तक इससे गुजरो ग भी लेकिन जो परिणाम तुम्हारे जीवन में अब आने वाला है वह कहीं

ज्यादा प्रभावशाली कहीं ज्यादा तेजस्वी है मेरे बच्चे अब जो जीत तुम्हें हासिल होने

वाली है उसकी इसी छड़ पुष्टि कर दो ताकि तुम इससे वंचित ना रह सको ताकि तुम्हें

पछताना ना पड़े इसी छण संख्या पा पा लिखकर इसकी पुष्टि करो यह तुम्हें आगे भी

करना होगा किंतु अभी यह आवश्यक है तुम्हारे जीवन को सौभाग्यशाली रूप देने के

लिए मेरे बच्चे तुम प्रेम से संबंधित बहुत से महत्त्वपूर्ण बातें अभी संदेश में

जानोगे जिसका तुम्हारे लिए जानना अत्यंत आवश्यक है जिससे परिचित होना तुम्हारे लिए बहुत

जरूरी है और धीरे-धीरे तुम देखोगे कि अब रहस्य से पर्दा हट रहा है तुम देखोगे कि

तुम्हारा जीवन किस दिशा की ओर बढ़ रहा है और यह जानने के लिए तुम्हें इस संदेश में

अंत तक सुनना ही होगा मेरे बच्चे मनुष्य जब प्रेम का

इंतजार करता है तब उसके जीवन में प्रेम नहीं मिलता लेकिन जैसे ही वह प्रेम को

छोड़कर कोई और कार्य करने में व्यस्त हो जाता है तब कहीं से उसके जीवन में प्रेम

का प्रवेश होने लगता है तब मनुष्य अपने जीवन में आ रहे साथी को बहुत सम्मान देने

लगता है उसकी बहुत परवाह करने लगता है उसकी छोटी-छोटी जरूरतों का ध्यान रखता है

उसके भीतर प्रेम पाने की चा ऐसी दबी होती है कि वह अपनी सारी जरूरतों को भूलकर अपने

साथी को ही प्रथम प्राथमिकता पर रख देता है और उसे लगता है कि

जैसे उसका जीवन संपूर्ण हो गया है लेकिन मेरे बच्चे जैसे जैसे समय बीतता

है उसके भीतर लगाव तो बढ़ता जाता है लेकिन उसके भीतर का आकर्षण समाप्त होने लगता है

और यहीं से वह गलतियां करना शुरू करता है क्योंकि तब वह उस व्यक्ति की प्राथमिक को

छोड़कर अन्य बातों पर ध्यान देने लगता है जहां पहले वह उसे ही प्रथम प्राथमिकता पर

रखता था अब वह उसकी प्राथमिकताएं कम कर देता है जिस वजह से उनके बीच दूरियां

बढ़ने लगती है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में भी प्रेम

पाने की चाह बहुत समय से दबी हुई थी ऐसा नहीं है कि तुम्हारे साथ यह सारी घटनाएं

घटी नहीं है लेकिन अन्य लोगों में और तुम में एक बहुत बड़ा अंतर है तुमने

अपने साथी को प्रथम प्राथमिकता पर तो रखा अन्य लोगों की तरह ही लेकिन तुमने उसकी

प्राथमिकताओं को कभी कम नहीं होने दिया जबकि तुम्हारे साथी के मन में तुम्हें

लेकर प्राथमिकताएं बदलती गई ऐसा नहीं है कि उसके मन में तुम्हारे प्रति प्रेम नहीं

बचा ऐसा नहीं है कि उसके मन में लगाव समाप्त हो गया लेकिन समय

के साथ-साथ चीजें बदलती चली गई उसका कारण यह है कि आकर्षण कहीं ना कहीं समाप्त होने

लगा लेकिन प्रेम बरकरार है मेरे बच्चे अब समय कुछ अलग सोचने का है

अब समय उन चीजों को प्राथमिकताओं से हटाकर कुछ अन्य विचारों को सोचने का है तुम्हारे

जीवन में बहुत से लोग आए बहुत से लोग चले गए कुछ ने तुम्हें परेशान किया तो कुछ ने

तुम्हारा साथ दिया लेकिन वास्तव में प्रेम तुम्हें बहुत ही कम लोगों से मिला है

तुम्हें जिनसे लगता है कि तुम्हें उनसे प्रेम मिला है तो मैं आज तुम्हें यह बताने

आई हूं कि तुम्हें हर किसी से प्रेम नहीं मिला तुम्हें ऐसा भले ही लग रहा हो कि

उसने तुमसे प्रेम किया लेकिन वह प्रेम नहीं था मेरे बच्चे कई बार अपने मतलब को साधने

के लिए मनुष्य दूसरे का सम्मान करना शुरू कर देता है तो कई बार दूसरे से कुछ लाभ

पाने की जा में वह दूसरे को प्राथमिकताएं देने लगता है लेकिन वास्तव में प्रेम तो

प्राथमिकता से कहीं ऊपर होती है प्रेम में लोभ और मोह नहीं होता जब तुम यह विचार

करते हो कि तुम किसी के लिए सब कुछ करने को तैयार हो तो वहां वास्तव में वास्तविक

प्रेम नहीं होता बल्कि लगाव और मोह ज्यादा होता क्योंकि मेरे बच्चे मोह चाहता है कि

इंसान अपने साथी के लिए सब कुछ करें जबकि जहां प्रेम होता है वहां मनुष्य यह सोचता

है कि उसकी माता उसके साथी के लिए सब कुछ करती रहे उसकी माता उसकी राह आसान बनाती

रहे वह उसके जीवन में कष्ट ना डाले मेरे बच्चे तुम्हारे मन में प्रेम तो

है लेकिन मोह की भावना ज्यादा आ गई है और ऐसा नहीं है कि तुम्हारे साथी के मन में

यह कम हुई है तुम्हारे साथी के मन में भी मोह की भावना बढ़ती गई है परंतु तुम दोनों

का प्रेम सर्वोत्तम है और आज मैं ऐसा क्यों कह रही हूं यह तुम्हें अवश्य पता

चलेगा आगे आते आते तुम यह जान जाओगे कि मैं वास्तव में तुमसे क्या बताना चाहती

हूं मेरे बच्चे कई बार लोग दो साथियों के बीच में दरार पैदा करने की कोशिश करते हैं

तो कई बार वह दोनों परिस्थितियों के तले दबकर अपने बीच दरार को जन्म दे देते हैं

और ऐसी परिस्थिति में कोई तीसरा ही सदस्य आकर वहां पर अपने मतलब को साधने का

प्रयत्न करता है कई बार भौतिक शरीर रूप रंग और अभिमान के कारण ऐसा होता है तो कई

बार वर्चस्व धन समृद्धि के लोभ में अन्य लोग ऐसा करना शुरू कर देते हैं और दो

जोड़ों के बीच में दरार पैदा करने की कोशिश कर देते हैं मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में ऐसे ही

एक तीसरे शख्स का प्रवेश हो चुका है मैं आज तुम्हें यह बताना चाहती हूं कि वह

इंसान तुम दोनों के बीच दूरियां पैदा करने के बहुत प्रयत्न कर चुका है जिस वजह से भी

तुम्हारे रिश्ते में कहीं ना कहीं एक समस्या उत्पन्न हुई है तुम्हारा साथी

तुमसे प्रेम करता है मैं तुम्हें वास्तविकता का आभास करा रही हूं वास्तव

में तुम जिस संदेह की नीव पर आगे बढ़ने का प्रयत्न कर रहे हो वह झूठा है क्योंकि

उसके बजाय तुम्हें कुछ और प्रयत्न करने की आवश्यकता थी मेरे बच्चे जब प्रेम की कमी होती है तो

उसका कभी भी हल क्रोध ईर्ष्या द्वेष और संदेह नहीं होता इसलिए जब कभी भी किसी

रिश्ते में दरार उत्पन्न हो तो वहां पर शक को दरकिनार करके सर्वप्रथम प्रेम की

मात्रा को बढ़ा देना चाहिए प्रेम की मात्रा बढ़ाने का तात्पर्य यह है कि प्रेम

जताने की अपने हुनर को और ज्यादा प्रदर्शित करना चाहिए प्रेम को और भी

ज्यादा दर्शाया जाना चाहिए वास्तव में वास्तविक प्रेम को दर्शाने की आवश्यकता

नहीं पड़ती किंतु यदि कोई अन्य व्यक्ति तु तुम्हारे जीवन में सेंध मारने का

प्रयत्न करें तो वहां अपने प्रेम को अवश्य दर्शा

चाहिए मेरे बच्चे तुमने अपने जीवन में बहुत से उतार चढ़ाव देखे हैं तुमने वह दिन

भी देखे हैं जब तुम प्रेम की चाह में पूरे के पूरे समय को गुजार दिया करते थे जब तुम

अकेलेपन में रोया करते थे जब तुम यह चाहत रखते थे कि कोई ऐसा व्यक्ति तुम्हारे पास

हो जिससे तुम अपनी सारी बातें कह सको कोई ऐसा व्यक्ति तुम्हारे पास हो जो तुम्हें

अपने सीने से लगाकर रखे तुमने अकेले रह के बहुत सारे दिन गुजारे हैं लेकिन वास्तव

में जब तुम्हारी जिंदगी में उस सच्चे व्यक्ति ने प्रवेश करना चाहा तो तुम उसे

वह प्रेम दर्शा नहीं पाए तुम्हारे दिल में तो प्रेम

था लेकिन जिस प्रकार से तुम्हें उसका प्रदर्शन करना था तुम वह नहीं कर पाए जिस

वजह से तुम्हारे साथी को यह लग गया कि तुम उससे उतना प्रेम नहीं करते लेकिन

वास्तविकता इससे बिल्कुल अलग थी तुम्हारे मन में तो सदैव से ही प्रेम बसा रहा है

मेरे बच्चे मैं जानती हूं तुमने कितने कष्ट में अपने दिन गुजारे हैं कितनी पीड़ा

सहकर अपने रात काटे हैं तुमने किस प्रकार संगीत सुनते हुए तुम तुमने कल्पनाएं की

मैं सब जानती हूं तुमने बहुत सारी कल्पनाएं की एक बेहतर भविष्य के लिए एक

बेहतर साथी के साथ तुमने बहुत कुछ सहा है मेरे बच्चे मैं जानती हूं कि जब मनुष्य के

ऊपर दुखों के बादल छाते हैं तो उसका जीवन किस प्रकार अंधकार में होता चला जाता है

कैसे उसे अपने जीवन में कोई भी राह सूझ नहीं रही होती कैसे वह आ का मार्ग देख

नहीं पाता और कैसे उसी समय उसके जीवन में क्रोध करने के इतने मौके आते हैं कि वह

स्वयं को संभाल भी नहीं पाता और कैसे दुख भरे दिनों में एक के बाद एक दुख निरंतर

आते ही जाते हैं मनुष्य कितना भी स्वयं को सुधारने का प्रयत्न करें लेकिन जब उसका

भाग्य उसके पक्ष में नहीं होता है तो सब कुछ बिखरता

चला जाता है सब कुछ बदलता चला जाता है

मेरे बच्चे तुम्हारे साथ भी ऐसा ही कुछ बहुत समय तक घटा है इन सबके बावजूद एक बात

है जो तुमने हमेशा सकारात्मक बनाए रखी सारे ही दुख में तुमने प्रार्थना हों का

दामन नहीं छोड़ा सारे ही दुख में बहुत ज्यादा व्यथित होने के बाद भी तुम उम्मीद

छोड़ नहीं पाए और यह वास्तव में तुम्हारे पक्ष में काम करता गया

क्योंकि अब से मैं तुम्हारे भाग्य को ही बदलने जा रही हूं तुम्हारे जीवन में

ग्रहों की चाल बदलने का समय आ गया है बहुत से ग्रह नक्षत्र तुम्हारी कुंडली के

अनुसार कार्य करते हैं लेकिन बहुत से ऐसे ग्रह हैं जिनका आभास आज के मनुष्यों को

नहीं है ऐसे ग्रह ऐसे उल्का पिंड जिनका प्रभाव तुम्हारे जीवन में पड़ता है ऐसी

तरंगे ऐसी किरणें इस सृष्टि में मौजूद है जिनके बारे में मनुष्य अभी तक जान भी नहीं

पाया है मेरे बच्चे तुमने महसूस किया होगा कि

जब तुम किसी सामान्य परिस्थिति में रहते हो तो तुम्हारे सासे चलने की गति अलग होती

है लेकिन जैसे ही तुम किसी मुश्किल परिस्थिति में जाते हो तो तुम्हारी सासों

की गति अलग हो जाती है जैसे ही तुम चिंता में आते हो तुम्हारे माथे पर पसीना आ जाता

है और तुम्हारी सांसे बिल्कुल ही अलग तरीके से चलने लगती हैं प्रेम में सांसे

अलग चलती हैं उत्साह में सांसे अलग चलती हैं और दर्द में भी सांसे अलग चलती

हैं मेरे बच्चे यह सब उन तरंगों उन ग्रहों की चालों से प्रभावित होता है चंद्रमा के

बढ़ते दिनों के क्रम में तुम्हारे जीवन में क्रोध संशय बढ़ता जाता है चंद्रमा के

घटने के क्रम में तुम्हारे जीवन में क्रोध कम होता जाता है इसका सीधा संबंध चंद्रमा

की किरणों से है जो तुम्हारे जीवन में प्रभावित होती है लेकिन इसके बारे में तुम

समझ नहीं पाते बहुत से मनुष्य जो स्वयं को ज्योतिषाचार्य भी कहते हैं वह इसका ज्ञान

नहीं रखते इसलिए मेरे बच्चे अब तुम्हें चिंता करने की आवश्यकता नहीं है तुम्हारी कुंडली

के भीतर में ऐसी तरंगे ऐसे किरणों तुम्हारे जीवन में भेजूंगी जो तुम्हारे

जीवन को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने लगेंगे जो तुम्हारे जीवन में प्रेम को

बढ़ाने का कार्य करेंगे जो तुम्हारे जीवन के सभी दुखों को धीरे-धीरे करके समाप्त

करने का कार्य करेंगे आगे आने वाले कुछ दिनों में ही तुम्हें इसका एहसास होगा आने

वाले कुछ दिनों में तुम एक अलग ऊर्जा महसूस करने लगोगे तरंगे तुम्हारे पूरे

शरीर प्रवाहित होने लगेंगी तुम हे एक कंपन सा महसूस होगा तुम अपने मन

में अपने स्वप्न में इसे महसूस कर पाओगे मेरे बच्चे आज तुम्हें जो स्वप्न

आएगा उससे तुम्हें इसका एहसास होगा आज तुम यह जान पाओगे कि मैं तुम्हें क्या बताना

चाहती हूं मैं तुम्हें क्या संकेत देना चाहती हूं तुम यह सब कुछ आज समझ जाओगे

मेरे बच्चे तुम्हारा भविष्य बेशक आगे बेहतर होने वाला है लेकिन उससे पहले

तुम्हें कुछ चीजों को समझना होगा कुछ ऐसी चीजें हैं जिनसे तुम्हें गुजरना होगा ऐसी

ही एक प्रक्रिया आगे आने वाले दिनों में तुम्हारे समक्ष आएगी जब तुम बहुत सी चीजों

को जो तुम्हारे लिए बिल्कुल ही नई होंगी तुम उनका अनुभव करोगे अपने भीतर तरंगों को

महसूस कर पाओगे मेरे बच्चे प्रेम तुम्हारे जीवन में

बढ़ने वाला है तुम्हारे साथी के मन में तुम्हारे त्याग की भावना बैठने वाली है

यहां तक कि तुम्हारे चाहने वाले तुम्हारे मित्र उन सबके मन में भी यह भावना स्वप्न

में जागृत होगी कि तुम उनके लिए कितना त्याग करते हो कि तुम उनसे कितना प्रेम

करते हो आज वास्तव में उन्हें इसका आभास होगा और आगे आने वाले समय में जब वह तुमसे

बात करेंगे तो तुम्हें इसका एहसास होगा कि धीरे-धीरे उनके मन में यह भावना जागृत हो

रही है वह तुम्हारे लिए इतनी सहानुभूति रखने लगेंगे

जिसको तुमने कभी सोचा भी नहीं होगा और वह आगे आने वाले समय में ही तुम्हें इतना

सम्मान देने लगेंगे कि तुम स्वयं ही अचंभित हो जाओगे लेकिन मेरे बच्चे इन सबके साथ ही

मैं तुम्हें बता दूं कि जीवन में जो व्यक्ति आर्थिक रूप से स्वतंत्र नहीं होता

कोई भी उसका सम्मान उचित ढंग से कर नहीं पाता इसलिए मैं तुम्हारे जीवन में ऐसे

रास्ते बनाऊंगी जिनसे कि तुम आर्थिक स्वतंत्रता को बेहतर तरीके से प्राप्त कर

सको और आर्थिक स्वतंत्रता से मेरा अर्थ यह नहीं है कि तुम्हारे पास केवल कुछ धन आ

जाए थ स्वतंत्रता से मेरा अर्थ यह है कि तुम्हें धन के लिए कभी किसी के सामने सर

ना झुकाना पड़े कि तुम्हें धन के लिए किसी का गुलाम ना होना

पड़े मेरे बच्चे तुम्हारी जीत का समय आ गया है समय आ गया है कि जब तुम अपने जीवन

के बारे में अच्छे ढंग से जान पाओ अब समय आ गया है कि तुम प्रेम को वास्तविक अर्थ

में महसूस कर पाओ जो लोग तुमसे प्रेम करते हैं उनके मन में बहुत सारी भावना तुम्हें लेकर

आने वाली है उनके मन में बहुत सारे स्वप्न तुम्हें लेकर आने वाले हैं यह स्वप्न

सकारात्मक भी होंगे और नकारात्मक भी किंतु यह सिर्फ यह बताने आ रहे हैं कि तुम उनके

जीवन में कितने महत्त्वपूर्ण हो मेरे बच्चे तुमने सदा ही प्रेम की चाह

की है लेकिन धीरे-धीरे तुम्हारा मन उससे हटकर किन्हीं अन्य चीजों में भी लगता गया

अब तुम्हारे जीवन में वास्तविक प्रेम का प्रवेश होगा किंतु अपने भीतर कभी भी

अहंकार आने मत देना क्योंकि तुम आर्थिक स्वतंत्रता को प्राप्त करने वाले हो वह

आर्थिक स्वतंत्रता जिसे पाने की चाह बहुत से लोग अपने मन में रखते हैं लेकिन

वास्तविक अर्थों में उसे पाया कैसे जाए यह जान नहीं

पाते मेरे बच्चे तुम्हारा बदलने वाला है तुम्हारे जीवन में ग्रहों की चाल बदलने

वाली है नई तरंगे नई उमंगे तुम्हारे जीवन में प्रवेश करने वाली है उत्सव का मौसम

आने वाला है अब तुम्हारे जीवन में जश्न ही जश्न होगा सारी चिंता त्याग दो और

निश्चिंत होकर अपना जीवन जियो मेरे बच्चे तुमने बहुत से अच्छे कर्म

किए हैं इसलिए अपना आत्मविश्वास कमजोर करने की तुम्हे कोई भी आवश्यकता नहीं है

स्वयं को किसी से भी कमजोर मानने की तुम्हे को कोई भी आवश्यकता नहीं है और इन

सबके बीच मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ रहेगा मेरा आशीर्वाद तुम्हें संरक्षण

प्रदान करेगा मेरे बच्चे मेरा आशीर्वाद सदैव

तुम्हारे साथ है मेरा आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए दो दो दो लिखकर मुझे अपनी

स्वीकृति प्रदान करनी है और अपनी माता का अगला संदेश प्राप्त करने के लिए अपनी माता

के इस संदेश को लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब अवश्य कर लेना ताकि आने वाला

आपकी माता का संदेश आपको प्राप्त हो सके जय हो माता रानी हर हर महादेव

[संगीत]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *