माँ काली का सन्देशआपके आगे उसे झुकना पड़ेगा मां काली संदेश - Kabrau Mogal Dham

माँ काली का सन्देशआपके आगे उसे झुकना पड़ेगा मां काली संदेश

मेरे बच्चे जब हर कोई साथ देना छोड़ दे तो

मेरी यह दो बातें याद

रखना तब लोग तुम्हारा कहना ही नहीं

मानेंगे बल्कि तुम्हारी इज्जत भी

करेंगे मेरी इस बात पर वोट भरोसा रखना

क्योंकि जो बताने वाली हूं वह आज तक मैंने

तुम्हें कभी नहीं

बताया और तुम्हें भी मेरी बातों पर पूर्ण

रूप से ध्यान देना अति आवश्यक है इसलिए

बातों को विस्तार से और सही से समझना तुम

जल्दी बाजी मत करना क्योंकि जल्दी का काम

शैतान का होता है और जो बड़ों की बातों को

ध्यानपूर्वक सुनकर समझता है और हर कार्य

को तह दिल से करता है तो इस संसार में

बुद्धि के बल जीत हासिल कर सकता

है इसलिए तुम्हें भी जीतना है अपनी बुद्धि

के बल पर जो लोग तुम्हारी इज्जत नहीं करते

हैं वह लोग तुम री इज्जत करेंगे जो लोग

तुम्हें बेकार इंसान समझते हैं वह तुम्हें

अच्छा इंसान और तुम्हारी अहमियत

समझेंगे सबसे पहले तो तुम्हें इस बात को

समझना होगा कि अहमियत लोग

समझेंगे तुम्हारी जब खुद तुम ही अहमियत को

समझोगे यदि तुम बेकार के लोगों के पीछे

पछे तुम उनके चापलूसी करते फिरते रहोगे और

बिन मतलब में उनकी जी हजूरी करोगे तो मेरे

बच्चे तुम्हें सब नाकारा

समझेंगे तुम अपने कर्मों को छोड़कर

दूसरे के काम में ऐसे लोगों की जहां

तुम्हारी जरूरत ही नहीं

होगी भले ही तुम उनकी मदद कर रहे हो लेकिन

उन्हें तुम्हारी मदद की वैल्यू नहीं

है और ना ही वह तुम्हें एक अच्छा इंसान

समझकर तुम्हारी इज्जत

करेंगे बल्कि तुम्हें बेवकूफ समझेंगे

इसलिए सबसे पहली बात तो तुम्हें इस कार्य

को करना छोड़

दो यदि तुम्हारी कोई सहायता चाहता है तभी

तुम किसी की सहायता

करो यदि किसी को तुम्हारी सहायता की

आवश्यकता नहीं

है और तुमसे कोई सहायता नहीं मांग रहा है

तो जबरदस्ती किसी की सहायता करने की सोचना

भी

मत बस अपने काम से काम रखना जो तुम्हारा

है उसे

करना दूसरा यह कि ज्यादा चिंता में घिर

करर अपने समय को बर्बाद मत करो बल्कि अपना

एक लक्ष्य निर्धारित करो और लक्ष्य को

निर्धारित करते समय इस बात का विशेष ध्यान

रखो कि जिस कार्य को करने में तुम्हें यह

पूर्ण विश्वास हो कि हां तुम उस कार्य को

कर सकते

हो उसी को प्रारंभ करने का प्रयास करो और

बिना देरी किए हुए लक्ष्य पर कार्य करना

प्रारंभ

करो इसके साथ ही तुम्हें एक लक्ष्य चुनना

होगा क्योंकि अगर तुम बड़ा लक्ष्य चुनकर

उस पर धीरे-धीरे कार्य करोगे तो तुम एक ना

एक दिन अवश्य सफल हो

जाओगे और जिस दिन तुम सफल हो जाओगे उस दिन

पूरे संसार के सामने तुम्हारी एक अलग ही

इज्जत

होगी एक अहमियत होगी लोग तुम्हारे आगे

सिर्फ झुकाएंगे और तुम्हारा आदर सम्मान

करेंगे तुमसे बात करना

चाहेंगे जो लोग आज तक तुमसे दूर जा रहे थे

वह भी लोग धीरे-धीरे करके आना प्रारंभ कर

देंगे क्योंकि लोगों की नजरों में तुम्हें

उठना है खुद की नजरों में तुम उठे हुए हो

लेकिन लोगों को तुम्हारी अच्छाई दिखाई

नहीं दे रही

है परंतु जैसे ही तुम कोई बड़ा कार्य करके

दिखाओगे तब लोगों को इस बात का विश्वास

होगा कि हां तुम बहुत बड़े और सही इंसान

हो उससे पहले तुम्हारी इज्जत नहीं

करेंगे इसलिए बताए हुए कार्य को करना

प्रारंभ करो और इस बात का ध्यान

रखो मेरे बच्चे तुम्हारा सही समय प्रारंभ

हो चुका है तुम्हारा शुभ समय एक वह समय

जिसमें तुम्हारी वैल्यू सब करेंगे मेरे

बच्चे यह संसार विभिन्न तत्त्वों का

मिश्रण है और जब इन तत्त्वों का आपस में

संतुलन किसी भी व्यक्ति के के जीवन में हो

जाता है तब उसकी वास्तविक स्थिति मजबूत और

आध्यात्मिक रूप से निर्मित होती है और अब

तुम इसी स्थिति की ओर बढ़ रहे हो जिस

प्रकार से एक मजबूत इमारत तभी खड़ी होती

है जब उसकी नीव मजबूत होती है उसी तरह से

तुम्हारा भी जीवन हर दृष्टि से सफल तभी

होगा तुम्हें जीत तभी प्राप्त होगी जब

तुम हारे सारे आधार मजबूती से टिके हो और

आज मैं तुम्हारे जी में उन्हीं आधारों को

मजबूत और सुनियोजित करने आई हूं इसलिए

तुम्हें संदेश को हर हाल में पूरा सुनना

है किसी भी परिस्थिति में इसे अधूरा

छोड़ने की भूल नहीं करनी है मेरे बच्चे और

अच्छा

समझेंगे जो लोग तुम्हारी इज्जत नहीं करते

हैं तुम्हें देखकर अनदेखा कर देते हैं वह

सब देखेंगे कि तुम क्या थे और क्या हो गए

कभी भी अपने आप को क मत समझो क्योंकि

तुम्हारा खुद को कमजोर समझना तुम्हें असफल

व्यक्ति बनाता है अब समय आ गया है तुम्हें

यह बताने का तुम बिल्कुल सही राह पर हो

तुम क्या सोच रहे हो और क्या महसूस कर रहे

हो क्या तुम नहीं देख रहे हो कि तुम्हारे

आसपास कितना बदलाव आ रहा है क्या तुम्हें

शांति की अनुभूति नहीं हो रही

है यदि नहीं जल्द यह सब होने वाला है

अचानक तुम्हारे अंदर यह बदलाव आएगा कि तुम

छोटी-छोटी चीजों के लिए मुझे धन्यवाद

अर्पण करने

लगोगे अचानक तुम्हें ऐसा लगने लगेगा जैसे

तुम्हारा जीवन चमत्कार

है मेरे बच्चे तुम मेरी ओर झुकाव करोगे

तुम अपने भीतर प्रेम का अनुभव करोगे मेरे

आशीर्वाद को महसूस करोगे मेरे आसपास होने

की अनुभूति होगी मेरे बच्चे तुम समझ जाना

कि संकेत मिल गया है अब तुम अपने जीवन में

बहुत आगे बढ़ने वाले

हो बहुत सारी खुशियां और जीवन में बहुत

तरक्की करने वाले

हो तुम्हारी इच्छा भी तुमसे अब ज्यादा दिन

तक दूर नहीं

रहेंगी तुम्हें अचानक से यह सब महसूस होने

लगेगा तब तुम और सकारात्मक ऊर्जा में आ

जाओगे और जब तुम सकारात्मक ऊर्जा में आ

जाओगे तब तुम अपनी इच्छा को भी बहुत जल्दी

अपने जीवन में प्रकट कर

लोगे मेरे बच्चे तब तुम एक बार भी

नकारात्मक भाव में मत

आना मेरे बच्चे तुम हमेशा यह क्यों सोचते

हो कि तुम्हारी चीज तुम्हें नहीं मिलेंगे

कभी-कभी तुम बहुत परेशान हो जाते

हो और तब तुम अपनी पूरी नींद भी नहीं

लेते कभी-कभी अकेले बैठकर रोते हो किसी से

बात करने का मन नहीं करता तुम्हें एक

बेचैनी की महसूस होती है घबराहट होती है

इतना चिंतित हो जाते

हो मेरे बच्चे यह तुम्हारे लिए सही नहीं

है मेरे बच्चे तुम्हें तो अपनी पूरी ऊर्जा

को इकट्ठा करना है और ध्यान में जाकर या

खुद से बोलना है मेरे लिए सभी चमत्कारी

रूप से काम कर रहे हैं मैं बिल्कुल शांत

हूं मेरे ईश्वर मेरे लिए कार्य कर रहे हैं

मुझे परेशान होने की कोई आवश्यकता नहीं

है मेरे बच्चे तुम्हें अपनी ऊर्जा अपनी

पूरी ऊर्जा अपनी तरफ करनी है मैं तुम्हें

हर समय सही उत्तर देने के लिए तैयार हूं

यह कोई तुम्हें नहीं बताएगा कि तुम अपने

जीवन में कैसे आगे बढ़ सकते

हो यह सिर्फ तुम ही अपने आप को बता सकते

हो और तब सब कुछ चमत्कारी रूप से हो

लगेगा इसलिए आज स्वयं आई हूं तुम्हें यह

सब बताने के लिए अवश्य तुम्हें तुम्हारी

मंजिल मिलेंगे तुम्हें चिंता करने की कोई

आवश्यकता नहीं

है बस तुम मुझ पर विश्वास रखो मैं तुम्हें

कभी तकलीफ में देख नहीं सकती मैं तुम्हें

उस मुकाम पर ले जाऊंगी जहां तुम जाना

चाहते हो बस तुम धैर्य साहस और अपने आप पर

विश्वास रखो मैं हमेशा तुम्हारे साथ ही और

साथ

रहूंगी मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है

तुम्हारा कल्याण हो मेरे बच्चे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *