माँ काली अभी तुम्हें यह एक्शन लेना ही होगा नहीं तो वह तुम्हें बहुत ही बुरी..मैं - Kabrau Mogal Dham

माँ काली अभी तुम्हें यह एक्शन लेना ही होगा नहीं तो वह तुम्हें बहुत ही बुरी..मैं

मेरे प्यारे बच्चे आज तुम्हें कुछ आवश्यक

बातें बताने आई हूं इसलिए मेरे संदेश को

अंत तक सुनना मेरे बच्चे मैं चाहती हूं कि

तुम अपने जीवन में एक नए सूरज को उदित

होने दो तुम्हें अपने जीवन में बदलाव की

आवश्यकता है और उस बदलाव के लिए तुम्हें

अपने जीवन को पूर्ण रूप से बदलना होगा मैं

चाहती हूं मेरे बच्चे कि तुमने अपने जीवन

में जो भी बुरे कर्म किए थे या करे हो उन

सभी बुरे कर्मों को अब करना छोड़ दो तथा

अपने जीवन को नए कर्मों की ओर अग्रसर करो

मैंने तुम्हें सदैव ही अपने दुखों के कारण

परेशान होते हुए देखा है और मैं अपने

बच्चे को इस प्रकार से परेशानी में नहीं

देख सकती मैं जानती हूं तुम्हारे अंदर

बेहतर होने की गुंजाइश है तुम इतने बुरे

नहीं हो जितने तुम बन चुके हो और यह केवल

तुम्हारे हालातों के कारण है तुम्हारे

हालातों ने तुम्हें इस प्रकार से

परिवर्तित कर दिया है कि तुम अच्छे बुरे

में फर्क समझ नहीं पा रहे और मेरे बच्चे

मैं यह बात जानती हूं कि तुम्हारे अंदर

बुराई से ज्यादा अच्छाइयां भरी हुई हैं और

उन अच्छाइयों को तुम बाहर आने से मत रोको

उन्हें बाहर आने दो क्योंकि अब समय आ गया

है कि तुम्हारे जीवन में परिवर्तन आवश्यक

है मैं तुमसे यह चाहती हूं कि तुम अपने

सभी बुरे कर्मों को त्याग कर अच्छे कर्मों

की ओर आगे बढ़ो और अच्छे कर्मों से अपने

जीवन से सारी बुराइयों को दूर कर दो

तुम्हारे हाथों से किया गया एक भी अच्छा

कार्य जन कल्याण के लिए सार्थक साबित होगा

क्योंकि तुम्हारे अंदर इतनी क्षमता है कि

तुम चाहे तो अपने साथ साथ अपने आसपास के

लोगों का जीवन भी बदल सकते हो किंतु इस

समय तुम केवल इन दुखों के कारण स्वयं को

अकेला महसूस कर रहे हो मेरे बच्चे तुम्हें

अपने अंदर की कलाओं का इस्तेमाल करना

चाहिए तुम्हारे अंदर जो क्षमता है उससे

अपने जीवन के साथ साथ अपने आने वाले

भविष्य के लिए भी तुम्हें कुछ करना चाहिए

क्या तुम अपने इस नए जीवन के लिए इस नए

अवसर के लिए स्वयं को बदलना नहीं चाहोगे

मैं चाहता हूं मेरे बच्चे कि तुम उन लोगों

की मदद करो जो अपनी मदद खुद नहीं कर पाते

तुम उनके दुखों को समझकर उनके जीवन से उन

सभी दुखों को दूर कर दो जिनसे वह पीड़ित

हैं मेरे क्रोध के कारण बहुत सी बुराइयां

तुम्हारे जीवन से पहले ही हट चुकी हैं और

जो बुराइयां तुम्हारे भीतर शेष बची हैं वह

तुम्हें स्वयं हटानी पड़ेंगी एक बात याद

रखो कि तुम्हारी मां तुम्हारे लिए सदैव

अच्छा ही चाहती है मैं यही चाहती हूं कि

तुम अपने अंदर की बुराइयां खत्म करके मेरा

साथ दो इन लोगों की मदद करने में जिन

लोगों को मदद की आवश्यकता है मैं तुम्हें

अपने लिए चुनना चाहती हूं ताकि तुम मेरे

द्वारा उन सभी कार्यों को पूर्ण करो जिससे

मानवता का कल्याण हो मेरे बच्चे यदि तुम

मेरे इस कार्य में साथ देते हो तो मैं

तुम्हें वचन देती हूं कि तुम्हारे जीवन के

लिए जो चीजें आवश्यक होंगी वह सभी चीजें

मैं तुम्हें उपलब्ध

कराऊंगा इयों पर लेकर जाऊंगी जहां से

तुम्हारा जीवन कभी दुखों की ओर लौट कर

नहीं जाएगा मेरी दृष्टि से कोई भी बच नहीं

सका है मैं जानती हूं कि कब कौन क्या कर

रहा है और किस कारण से कर रहा है यही वजह

है कि मैं तुम्हें आज अपने संदेश के

द्वारा यह बताने आई हूं कि तुम्हारे कर्म

इतने बुरे नहीं हैं तुम केवल इन दुखों के

कारण अपने कर्म बुरे बना रहे हो और मैं यह

भी जानती हूं कि तुम में सुधार की गुंजाइश

है इसलिए मैं तुमसे यह चाहती हूं कि तुम

भी अच्छे मार्ग पर चलना शुरू कर दो अपनी

मां की इस बात को मान लो और अपने जीवन को

एक नई दिशा की ओर लेकर चलो तुम्हारे इस

चयन से तुम्हारी आने वाली नई पीढ़ी के

जीवन में सुधार आएगा तथा मेरे आशीर्वाद से

तुम और तुम्हारा परिवार सदैव के लिए इन

कष्टों से दूर हो जाएगा जो कष्ट तुम्हारे

जीवन में में बार-बार दुखों के रूप में आ

जाते हैं तुम केवल खुद को और अपने आने

वाले कार्य को बेहतर बनाने में पहला कदम

रखो उसके बाद मैं तुम्हें उन ऊंचाइयों तक

लेकर जाऊंगी जिन ऊंचाइयों की कल्पना तुमने

स्वप्न में भी नहीं की होगी बस तुम मुझसे

है वादा करो कि तुम अब फिर कभी बुरे कार्य

में स्वयं को लेकर नहीं जाओगे तथा जीवन

में केवल अच्छे कार्य ही करोगे यदि तुम

मुझसे यह वादा करते हो तो तुम्हारे जीवन

से सारे दुखों को हटा दूंगी यदि तुम मेरी

सच्चे दिल से पूजा करते हो तो तुमने अभी

तक जो भी बुरे कर्म किए हैं मैं उन सभी को

माफ कर दूंगी मेरे बच्चे तुम्हारी अंतर

आत्मा में अभी भी कई प्रकार की अच्छाइयां

बाकी हैं और मैं उन्हीं अच्छाइयों को

जगाने के लिए तुम्हारे पास आई हूं तुम्हें

अपनी उन अच्छाई को जगाना बेहद आवश्यक है

अब तुम्हारी माता को जाना होगा लेकिन मेरी

इन बातों को अपने हृदय से लगाकर रखना और

यदि तुम फिर भी मार्ग से भटक गए तो मैं

तुम्हें दोबारा समझाने अवश्य आऊंगी मेरे

अगले संदेश की प्रतीक्षा करना मेरे बच्चे

कैसे हो तुम आज मैं तुमसे प्रेम भरी बातें

करने आई

हूं तुम जो हर पल मुझे याद कर करते हो

मुझसे बातें करते हो मैं सब सुनती

हूं तुम्हारे मन में जो उथल पुथल मची है

मैं उसे शांत करने आई

हूं मेरे बच्चे मैं जानती

हूं समय तुम्हारे विपरीत चल रहा

है कोई भी कार्य तुम्हारी इच्छा से नहीं

हो रहा

है किंतु तुम हताश ना

हो सब कुछ वैसा ही होगा जैसा तुम चाहते हो

किंतु सही समय आने

पर सही समय की प्रतीक्षा

करो मेरे बच्चे मुझे ज्ञात है तुम बहुत

अकेले पढ़ गए

हो तुम्हारा दुख सुख बांटने वाला कोई नहीं

है तुम्हारे साथ किंतु तुम इस बात पर दुखी

ना

हो मेरे लाडले तुम महाकाली की संतान

हो अकेले ही के बराबर

हो तुम्हें किसी के साथ चलने की कोई

आवश्यकता नहीं

है तुमने जिस मार्ग को चुना है उस पर

तुम्हें अकेले ही चलना होगा अकेलेपन से मत

घबराओ क्योंकि सिंहासन पर इंसान सदैव

अकेला ही होता

है मेरे बच्चे तुम यह मत

सोचना कि तुम्हारे साथ जो मानसिक

दुर्व्यवहार हो रहा है उससे मैं अनजान

हूं मैं सब पर अपनी दृष्टि रखती

हूं मेरे प्रिय अगर कोई तुम्हें परेशान कर

रहा

है नीचे गिराने की सोच रहा

है या तुम्हारे आत्म सम्मान को चोट पहुंचा

रहा

है तो तुम्हें दुखी होने की आवश्यकता नहीं

है तुम शांत रहो और अपनी मां पर भरोसा

रखो तुम्हें न्याय

मिलेगा मैं अभी उनके पापों का घड़ा भरने

की प्रतीक्षा कर रही हूं उन्हें दंड अवश्य

मिलेगा तुम चिंता मत करो कुछ बातों का

हिसाब अपनी मां पर छोड़

दो बस तुम अपनी नजर अपने लक्ष्य पर

रखो रास्ते कितने भी भी कांटे भरे हो आगे

बढ़ते

रहना कभी रुकना मत क्योंकि तुम अकेले नहीं

हो तुम्हारी मां भी तुम्हारे साथ चल रही

है खुश रहो तुम्हारा दिन मंगलमय हो सच्चे

मन से कहो जय मां

कालरात्रि मेरे बच्चे तुम मेरे संदेश को

बार-बार अनदेखा कर रहे हो इसका अर्थ है कि

तुम मेरी बातों को अनदेखा कर रहे हो मेरी

बातों को पूर्ण ध्यान से नहीं सुन रहे हो

जो मैं बता रही हूं उसे तुम नहीं सुन रहे

इसलिए मुझे बहुत दुख हो रहा है जिन बातों

को मैं ज्ञात कराना चाहती हूं उन बातों का

तुम कैसे ज्ञात कर पाओगे यदि तुम मेरे

संदेश को सुनोगे ही नहीं तो आगे के मार्ग

तुम्हें कैसे प्राप्त होंगे और आगे चलकर

तुम्हें और कठिनाइयों का सामना करना पड़

सकता है क्योंकि मेरे बच्चे जब घाव छोटा

होता है तभी तुम्हारे इलाज करने पर ठीक

होता है यदि वह घाव नासूर बन जाता है तो

उसका ठीक होना उतना ही मुश्किल पड़ता है

मेरे बच्चे मैं तुमसे इतना प्रेम करती हूं

और मैं तुम्हें ऊंचाइयों पर देखना चाहती

हूं मैं नहीं चाहती हूं कि मेरे बच्चे को

कोई भी कष्ट हो तुम्हारे जीवन के कष्टों

को मैं अपने आंचल में मेट कर रख लूंगी जब

तक तुम्हारी मां तुम्हारी रक्षा करने के

लिए है तब तक तुम्हें चिंता करने की

आवश्यकता नहीं है जो तुम्हारा नुकसान करने

आएगा उसे मैं स्वयं दंड दूंगी मेरी बात का

ध्यान रखो कि यदि बहुत तेज बारिश हो रही

है और तुम्हारे पास छाता है तो तुम

निश्चित ही उस तेज बारिश में भीगने से बच

जाओगे यदि तुम्हारे पास छाता ही नहीं है

तो कैसे बचोगे इसी प्रकार आने वाली

मुसीबतों से बचने के लिए तुम्हारे पास एक

शक्ति है जो तुम्हें मेरे रूप में प्राप्त

हो रही है तुम्हें समस्याओं से बचाने में

सहायक होगी इसके साथ ही आप अपने अंतर

आत्मा की शक्ति को उत्पन्न करो अंतरध्यान

मन से मन को एकाग्र करो और किसी एक कार्य

पर लगाओ जब तुम एकाग्र मन से किसी एक

कार्य को सोचोगे तो जो कार्य तुम्हारे

मस्तिष्क में उत्पन्न होगा उस कार्य को

सोचते हुए यदि तुम्हें यह पूर्ण विश्वास

होने लगे कि तुम उस कार्य को पूण कर सकते

हो अंदर से उत्पन्न हुआ विश्वास ही

तुम्हारे लिए मेरा संकेत है कि तुम्हारा

यही मार्ग है जो तुम्हें तुम्हारी मंजिल

तक पहुंचाएगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम्हें

विश्वास तभी होगा जब तुम्हारी किस्मत में

यह कार्य संपूर्ण करने के लिए लिखा होगा

अन्यथा तुम्हें उस कार्य पर विश्वास ही

नहीं होगा और यह विश्वास भी तुम्हें मेरे

द्वारा ही उत्पन्न होगा मेरा ही दिया हुआ

संकेत तुम तक ध्यान के माध्यम से पहुंचेगा

कि तुम इस कार्य को करो इसलिए दुनिया में

किसी से पूछने की ज्यादा आवश्यकता नहीं है

तुम जब भी मेरे समक्ष पूजा करने के लिए

खड़े होते हो तब तुम अपने मन में किसी भी

कार्य के बारे में पूछ सक हो जो भी

तुम्हारे मन में विचार उत्पन्न होगा उस

समय वही रास्ता होगा जीवन में मार्ग बनते

नहीं बनाने पड़ते हैं तुम्हारे अंदर कुछ

बड़ा कर गुजरने की इच्छा पैदा होते ही

तुम्हारे लिए मैं हर बंद रास्ता खोल देती

हूं मेरे बच्चे साधारण आंखों से तुम्हें

भले ही दिखाई ना दे लेकिन मैं तुम्हारे

निकट ही हूं मेरी शक्तियां तुम्हारा साथ

देती है एक बात को हमेशा याद रखना मेरे

बच्चे कि जब तुम शक्तियों पर विश्वास

करोगे तभी सभी शक्तियां तुम्हारी सहायता

करेंगी यदि तुम अविश्वास करोगे तो कोई भी

शक्ति तुम्हारे निकट होकर भी तुम्हारी

सहायता नहीं कर पाएगी क्योंकि हर चीज

विश्वास से है यदि तुम मानो तो मैं

तुम्हारे लिए ईश्वर हूं ना मानो तो एक

पत्थर की मूरत मेरे बच्चे जो तुम्हें धोखा

दे रहा है वह तुम्हा अपने हैं और करीबी

लोगों से धोखा देने वालों से बचना बहुत

मुश्किल होता है परंतु तुम्हें तनिक भी

चिंता करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि

तुम्हारी मां तुम्हारे साथ है तो फिक्र की

क्या बात है तुम्हारी रक्षा के साथ-साथ आज

मैं तुम्हें सावधान करने आई हूं जिससे कि

तुम उन लोगों से सावधान हो जाओ और आगे

चलकर उन व्यक्तियों की बातों में आकर अपना

भविष्य खराब ना कर लो

क्योंकि मेरे बच्चे वह तुम्हारा भविष्य

खराब करना चाहते हैं और ऐसा मेरे होते हुए

नहीं हो सकता इसलिए तुम ऐसे लोगों से

सावधान हो जाओ क्योंकि यदि तुम अनजान हो

और कोई व्यक्ति खिलवाड़ कर रहा है और

तुम्हें धोखा दे रहा है तो तुम्हें इस बात

का ज्ञात होना चाहिए जिससे कि तुम उससे

बचने में सफल हो पाओ और तुम्हारा जीवन

बर्बाद होने से बच जाएगा सफलता के रास्ते

में कोई रुकावट पैदा ना करें और कोशिश

करते हुए कार्य पूर्ण हो मेरे बच्चे एक

बात का ध्यान रखना कि बहते हुए पानी को

यदि कोई जबरदस्ती मोड़ने की कोशिश करता है

तो तेज बहता हुआ पानी कभी मुड़ता नहीं है

क्योंकि उसकी धार जो होती है वह बहुत तेज

होती है उसी तरह तुम अपनी गति को बनाओ कि

यदि कोई उसको मोड़ना भी चाहे तो मोड़ नहीं

पाए मेरे कहने का अर्थ यह है कि तुम्हारी

सफलता के मार्ग में यदि कोई आए तो वह

तुम्हारे सफलता के मार्ग से तुम्हें भटका

ना पाए इस तरह तुम अपने आप को बनाओ और जो

लोग तुम्हें धोखा दे रहे हैं वह तुम्हारे

बहुत करीब हैं मुंह पर मीठी-मीठी बातें

करते हैं परंतु उनका असली मकसद सिर्फ और

सिर्फ तुम्हें बर्बाद करना है वह तुम्हें

आबाद होते हुए नहीं देख सकते अब तुम्हें

स्वयं पहचानना होगा कि वह कौन है तुम्हारे

रिश्तेदार भी हो सकते हैं तुम्हारा कोई

करीबी दोस्त हो सकता है कोई भी इंसान हो

परंतु तुम्हें सतर्क रहना है और किसी की

बातों में आकर अपने चुने हुए मार्ग को

छोड़ना नहीं है मैं स्वयं तुम्हें इतनी

बुद्धि दूंगी कि तुम उसे आराम से पहचान

पाओगे तुम निश्चिंत रहो तुम्हारी बुद्धि

के अंदर वह बात स्वयं ही आ जाएगी मैं

तुम्हें यह पूर्ण विश्वास दिलाती हूं कि

इस मुसीबत से तुम्हें बचा लूंगी तुम

निश्चिंत रहो मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे

साथ है सदा खुश रहना मेरे बच्चे मेरे अगले

संदेश की प्रतीक्षा

करना मेरे बच्चे आज मैं तुमसे थोड़ा नाराज

हूं मैंने तुमसे कई बार कहा है और मैंने

तुम्हें बहुत बार समझाया है परंतु तुमको

बात समझ में ही नहीं आ रही है मैं तुम्हें

बार-बार समझाती हूं पर तुम मेरी बात पर

ध्यान नहीं देते हो मेरे बच्चे तुम्हें

मेरा संदेश प्राप्त होना कोई इत्तेफाक

नहीं है बल्कि मैं तुम्हें उस बात से अवगत

कराना चाहती हूं जिस बात को तुम्हें जानना

बहुत जरूरी है मेरे बच्चे एक बात को तुम

समझ लो और तुम्हारी जो अभी परिस्थिति है

उसका जिम्मेदार सिर्फ तुम हो क्योंकि मैं

जो मार्ग बताती हूं उस पर तुम चलते नहीं

हो लेकिन आज जो मैं बातें बता रही हूं वह

भूलकर भी तुम अनसुना और अनदेखा मत

करना मेरे बच्चे यदि जीवन में स्मरण नहीं

रखोगे तो तुम्हें जीवन में बहुत कष्ट

उठाने पड़ेंगे जो कि मैं हरगिज नहीं चाहती

हूं यह संदेश आज तुम्हें प्राप्त हुआ है

इसका तात्पर्य यह है कि यह संदेश तुम्हारे

लिए ही है मेरे बच्चे तुम सही दिशा में

चलो क्योंकि तुम जो यह गलतियां बार-बार

दोहरा रहे हो इसमें तुम्हारा बहुत बड़ा

नुकसान हो सकता है क्योंकि यह जो गलतियां

है वह तुम्हें तुम्हारे जीवन में उन्नति

करने से रोक रही

है मेरे बच्चे मेरी बातों को ध्यान से

समझो क्योंकि तुम्हारा जीवन मैं उन

ऊंचाइयों पर ले जाना चाहती हूं

जहां तक संसार में हर व्यक्ति की नजर

देखकर आश्चर्य हो जाएगी मेरे बच्चे

तुम्हें इन बातों का विशेष ध्यान रखना

है तुम्हें अपने जीवन के कार्य पर एक

निष्ठा के साथ ध्यान देना अति आवश्यक है

जो आज मैं तुम्हें बता रही हूं परंतु आगे

तुम्हें और ध्यान देने की आवश्यकता है जब

तुम अपने कार्य को करते

सही मार्ग पर चलते

हैं तब मेरी शक्ति तुम्हारे अंदर विद्यमान

हो जाती है मेरे बच्चे अब पुरानी बातों को

भूलना होगा पुरानी बातों की उलझन में मत

रहो अब नई योजनाएं बनाने का समय है मेरे

बच्चे तुम अब तक भविष्य के बारे में सोचना

प्रारंभ नहीं कर रहे

हो मेरे बच्चे तुम उन्हीं पुरानी बातों

में लगे हुए हो इसलिए तुम्हें मार्ग नहीं

दिखाई दे रहा है जिस कार्य को पूण करने के

बारे में बार-बार सोचकर परेशान हो रहे हो

मेरे बच्चे तुम्हें ऐसा नहीं करना चाहिए

तुम वही हो जिसका हृदय मेरे हृदय से जुड़ा

हुआ है मेरे बच्चे तुम्हारे मन में जो

मेरे लिए प्रेम बसा है वही प्रेम मुझे

बाध्य करता जा रहा है और मैं तुम ओर

आकर्षित हो रही हूं मेरे बच्चे अब तुम एक

नए समय में प्रवेश कर चुके

हो यह चक्र तुम्हें एक उन्नति की ओर ले

जाएगा इस मार्ग पर तुम्हें जो भी

परीक्षाएं मिलेंगी उससे तुम कुछ ना कुछ

सीखते जाओगे तुम्हें मेरी ओर से अधिक से

अधिक ऊर्जा दी जाएगी मैं तुम्हारे साथ हूं

बस एक बार अपना हाथ

बढ़ाओ तुम्हें मेरी उपस्थिति का दर्द

महसूस होगा मैं हर पल तुम्हारे साथ हूं तो

तुम्हें डरने की कोई आवश्यकता नहीं है बस

मेरी बातों को माना करो मैं हमेशा

तुम्हारे हित में ही सोचती हूं मेरे बच्चे

मुझे ज्ञात है कि तुम्हारे जीवन में कई

कष्ट हैं यह कष्ट बार-बार तुम्हारे जीवन

में आकर तुम्हें परेशान करते हैं तुम्हें

यह समझने की आवश्यकता है कि तुम्हारे जीवन

के अधिकतम कष्ट तुम्हारे वर्तमान के कारण

नहीं है तुम्हारे जीवन के अधिकतम कष्ट

तुम्हारी यादों और विचारों के कारण है

तुम्हें या तो तुम्हारे बीते हुए कल की

यादों ने परेशान कर रखा है या तो आने वाले

कल के विचारों ने यदि तुम यह समझ लो कि ना

तो बीता हुआ कल तुम पर कोई प्रभाव डाल

सकता है और ना ही आने वाला

कल तो तुम्हारी अधिकतम परेशानियों का अंत

हो जाएगा तुम्हारे प्रेम सौ हरत की यदि

संसार में किसी को भी सबसे अधिक आवश्यकता

है तो वह स्वयं तुम्हें है संसार में

तुम्हें बहुत कम ही व्यक्ति ऐसे मिलेंगे

जो तुमसे सच्चे मन से प्यार करते

हो और तुम्हारा ध्यान रखते हो तुम्हारे

अंदर जो भी प्रेम और सौहत की भावना है

तुम्हें उसका इस्तेमाल सबसे पहले स्वयं के

लिए करना चाहिए तुम्हें स्वयं में पूर्ण

बनने का प्रयास करना चाहिए संसार में सदा

सदैव तुम्हारी रक्षा के लिए कोई नहीं है

तुम्हें अपने जीवन के पथ पर अकेले ही आगे

बढ़ने की क्षमता रखनी चाहिए क्योंकि एक

तुम ही हो जो स्वयं का साथ जीवन भर दोगे

तुम्हें इस बात का सदैव स्मरण रखना चाहिए

कि यदि तुम वर्तमान के अलावा किसी और समय

की बात को लेकर परेशान

रहोगे तो वह परेशानी एकदम व्यर्थ है यदि

तुम बीते हुए कल या आने वाले कल को लेकर

ही परेशान रहोगे तो तुम और किसी का नहीं

बल्कि स्वयं को हानि ही पहुंचाओ

ग मेरे बच्चे प्रसन्न जीवन का सबसे छोटा

मार्ग है समय से प्रेम करना यदि तुम स्वयं

से अटूट प्रेम करते हो तो तुम्हारे तो

तुम्हारे जीवन में चाहे कितनी भी

परेशानियां क्यों ना आए तुम्हारी खुशियों

का अंत कभी नहीं होगा मेरे बच्चे तुम्हारे

इरादे मजबूत होने चाहिए तुम्हारी

आकांक्षाएं आश्चर्यजनक रूप से पूर्ण होंगी

बशर्ते कि तुम अपने मन में इसके लिए ऐसे

विचार स्थिर किए रहना होगा मन में और

आत्मा में तुम्हें सदा पवित्रता सुंदरता

रखनी

होगी मेरे बच्चे सदा खुश रहो यही तुम्हारी

माता का आशीर्वाद है मेरे अगले संदेश की

प्रतीक्षा करना मैं फिर आऊंगी तुमसे मिलने

अपना ख्याल रखना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *