माँ कालरात्रि आज बहुत दिनों बाद मैं तुम्हें अपने दर्शन देने आई हूं। - Kabrau Mogal Dham

माँ कालरात्रि आज बहुत दिनों बाद मैं तुम्हें अपने दर्शन देने आई हूं।

मेरे प्यारे बच्चे तुम आध्यात्मिक रूप से

पहले से ही निर्देशित हो तुम्हारे पास

बहुत ही प्यारी शक्ति है और ऐसे बहुत ही

कम लोग होते हैं जो पहले से ही निर्देशित

होते

[संगीत]

हैं जब तुम आध्यात्मिक रूप से निर्देशित

होते हो तब तुम्हारे जीवन में कई तरह के

बदलाव आ जाते हैं और यह बदलाव कई बार

तुम्हारे जीवन में बेहद सकारात्मक लाते

हैं परंतु कई बार ऐसा भी होता है कि यह

बदलाव आपके लिए असुविधा जनक भी हो जाता

[संगीत]

है क्योंकि तुम्हें समझ नहीं आता कि

तुम्हारे साथ ऐसा क्यों हो रहा है आज तुम

यह जान के बहुत ही खुश हो होने वाले हो

सबसे पहला यह है कि तुम्हारे जीवन में कभी

भी कुछ भी अचानक नहीं हो

सकता तुम्हारे जीवन में कभी भी ऐसी

परिस्थितियां नहीं आएंगी जहां पर तुम्हारे

साथ कुछ भी अचानक से होने लगे मतलब यह है

कि तुम्हें पहले से ही तुम्हारी अंतरात्मा

तुम्हें धीरे-धीरे बताने लग जाती है कि

तुम्हारे जीवन में कुछ बदलाव आने वाले

हैं कई बार तुमने अपने भीतर यह महसूस किया

होगा कि जब तुम्हारे जीवन में कुछ भी होने

वाला होता है तब तुम्हें अपने अंदर से यह

महसूस होने लगता है या तो कुछ गड़बड़ होने

वाला है या तो कुछ बहुत ही अच्छा होने

वाला

है

यदि इस तरह की भावनाएं तुम अपने भीतर

महसूस कर रहे हो और आप पूरा होने से पहले

ही उस अनुभव को महसूस करने लग जाते हो तब

तुम्हें समझ जाना है कि आप बेहद भाग्यशाली

[संगीत]

हो और भगवान ने आपको पहले से ही

आध्यात्मिक रूप से निर्देशित किया है

इसलिए तुम्हारी अंतरात्मा

तुम्हें कदम-कदम पर मार्ग दिखा रही है कई

बार तुम्हारे जीवन में ऐसी परिस्थितियां

तुम्हारे सामने आ जाती

हैं जहां पर तुम्हारे जीवन में कुछ गलत

होने वाला होता है परंतु पहले से ही

तुम्हारा दिल तुम्हें यह बताने लग जाता है

कि कहीं कुछ ठीक नहीं है हो सकता है अभी

तुम्हारे जीवन में सब कुछ अच्छा चल रहा हो

परंतु तुम्हारा मन पहले से ही बेचैन होने

लग जाता

है यदि इस तरह से तुम्हारे साथ होने लग

जाता है तब तुम्हें समझ जाना है कि तुम

आध्यात्मिक रूप से निर्देशित हो तुम्हारे

पास एक अद्भुत शक्ति है जो कि वह मेरी देन

है इसलिए तुम्हें पहले से ही मार्ग दिखाया

जा रहा है

है तुम्हें पहले से ही संकेत दिया जा रहा

है ताकि तुम उन सारे अनुभव के लिए अपने आप

को तैयार कर सको क्योंकि कभी भी अचानक से

वह सारी चीजें तुम्हारे सामने नहीं आ सकती

इसलिए तुम्हारी अंतरात्मा तुम्हें पहले से

ही सब कुछ बताने में लग जाती

[संगीत]

हैं मेरे प्यारे बच्चे अब दूसरा और सबसे

महत्त्वपूर्ण बात तुम्हारे जीवन से वैसे

लोग तुमसे धीरे-धीरे करके अलग होने लग

जाएंगे जो लोग तुमसे बहुत ज्यादा जलते हैं

जो लोग तुम्हारा गलत सोचते हैं जो लोग

तुम्हारा फायदा उठाते

हैं जिन लोगों के अंदर तुम्हारे प्रति जरा

भी प्यार नहीं होता कई बार ऐसा होता है कि

तुम्हारे जीवन में जो तुम्हारे करीबी

रिश्तेदार हैं उनमें से कुछ ऐसे लोग होते

हैं जो तुम्हारे सामने तो अच्छे बनते हैं

भले बनते हैं परंतु अंदर ही अंदर वही

लोग तुम्हारे प्रति जलन की भावना रखते हैं

और तुमसे चिड़ते हैं तब मेरी शक्तियां

तुम्हारे जीवन से उन लोगों को अलग करने लग

जा जाती हैं ऐसी परिस्थितियां तुम्हारे

जीवन में आ जाएंगी कि वह लोग अचानक से

तुम्हारे जीवन से दूर हो

[संगीत]

जाएंगे तुम्हारा और उनका रास्ता बदल जाएगा

वह ज्यादा दिनों तक तुम्हारे जीवन के सफर

में आगे तुम्हारे साथ नहीं चल पाएंगे जब

ऐसे लोग तुम्हारे जीवन से जा रहे हैं तब

तुम्हें उन्हें बिना रोके टोके जाने देना

चाहिए तुम्हें उदास नहीं होना है ना ही

तुम्हें रोना

है क्योंकि उनका साथ तुम्हारे जीवन में

यहीं तक था यदि तुम उन लोगों को और ज्यादा

दिन तक अपने जीवन में रखोगे तो बदले में

तुम्हें दुख दर्द के अलावा कुछ और नहीं

मिलने वाला क्योंकि तुम नहीं जानते कि तुम

रे लिए कौन से लोग सही

हैं और कौन से लोग गलत हैं किंतु मैं तो

जानती हूं मैंने तो तुम्हारा भविष्य उनके

साथ से आगे देख रखा है इसलिए उन गलत लोगों

को तुमसे दूर कर देती

हूं जिससे तुम्हारे भविष्य में आगे जाकर

कष्ट ना

हो

मेरे बच्चे यदि तुम आध्यात्मिक रूप से

निर्देशित हो तब मेरी शक्तियां तुम्हारी

रक्षा करने के लिए इस तरह की चीजें

तुम्हारे जीवन में पहले से ही करने लग

जाती हैं अब तीसरी और सबसे अहम बात कई बार

तुमने यह ध्यान दिया

[संगीत]

होगा कि तुम्हारे जीवन में जो चीजें हो

रही हैं उनकी पर छाई तुमको पहले से ही

सपने में आ रही हैं कई बार तुम्हें ऐसा

महसूस हो सकता है कि ऐसा तो मेरे साथ पहले

हो चुका है कभी ना कभी तो यह चीजें मेरे

साथ हुई हैं यह बार-बार मेरे साथ हो रहा

[संगीत]

है इस तरह की भावना यदि तुम्हारे मन में

चल रही हैं तुम बार-बार अपने आप से सवाल

पूछ रहे हो कि इस भव को तो मैंने कभी किया

है ऐसा पहले मेरे साथ हो चुका है यह सब

कुछ तुम्हारे साथ हो रहा है तो समझ जाओ कि

तुम्हारी अंतरात्मा तुम्हें राह दिखा रही

[संगीत]

है और तुम आध्यात्मिक रूप से निर्देशित हो

इसलिए तुम्हारे जीवन में यह सारी चीजें हो

रही हैं कई बार यह सारी चीजें अचानक

कभी-कभी तुम्हारे साथ होती हैं परंतु वही

चीज तुम्हारे साथ बराबर रूप से होती जा

रही है तब तुम्हें समझ जाना

है कि तुम्हारा संबंध परमपिता परमेश्वर के

साथ बहुत ज्यादा मजबूत है और तुम उनके साथ

जुड़ रहे हो इसलिए तुम्हें आध्यात्मिक रूप

से निर्देशित किया जा रहा है इसलिए

तुम्हारे साथ यह सारी चीज हो रही

[संगीत]

हैं तुम्हें इन सारी चीजों से डरना नहीं

चाहिए बल्कि तुम्हें उन सारी चीजों को

अपनाकर जीवन में आगे बढ़ना चाहिए मेरे

बच्चे मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है

मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा करना फिर

आऊंगी मैं तुमसे मिलने तुम्हारा कल्याण हो

जय मा

काली

[संगीत]

मेरे प्यारे बच्चे यदि तुम मेरे संदेश को

पढ़ पा रहे हो तो निश्चित ही तुम्हारा वह

समय आ गया है जब तुम्हें इंतजार करने की

आवश्यकता नहीं है क्योंकि शीघ्र ही

तुम्हारा इंतजार खत्म होने वाला है जो तुम

चाहते हो वह तुम्हें मिलने वाला है संसार

में एक ऐसा समय आता है जब तुम्हारा समय

इतना बलवान होता है कि तुम जो चाहते हो वह

तुम्हें प्राप्त होने लगता है क्योंकि वह

समय ही चलकर तुम्हें तुम्हारी सोची हुई

बातों को पूर्ण होने का एक निश्चित समय

तुम्हें करीब ले आता है इसलिए मेरे बच्चे

अब इंतजार की घड़ियां खत्म हुई अब वह समय

नजदीक है केवल तुम्हें देखने की कमी है

जैसे ही तुम अपनी आंखें खोलकर इन बातों को

पहचानोगे वैसे ही तुम्हें पता चल जाएगा

तुम्हें तुम्हारी मंजिल बहुत करीब दिखाई

देगी क्योंकि मेरे बच्चे सच है कि कई बार

तुम्हारे करीब होते हुए भी मंजिल तुम्हें

दिखाई नहीं देती कई बार जो तुम्हें रास्ता

मंजिल पर ले जाता है वह रास्ता भी नहीं

दिखाई देता करीब होते हुए भी तुम्हारी नजर

उस पर नहीं पड़ती जिस प्रकार रास्ते पर

पड़े तुम्हारी कीमती हीरे को तुम केवल एक

पत्थर समझते हो लेकिन तुम उसे पहचान नहीं

पाते क्योंकि उसके लिए दिव्य दृष्टि की

आवश्यकता होती है और वह दृष्टि केवल उन

लोगों के पास होती है जिनके अंदर ईश्वर की

दी हुई शक्ति होती है लेकिन मेरे बच्चे वह

शक्ति तुम्हारे पास है निश्चित ही बस यदि

कुछ कमी है तो ध्यान लगाने की उन संकेतों

को समझने की जो तुम्हारे सामने तो हैं

परंतु तुम उनका आभास नहीं कर पा रहे इसलिए

तुम मेरी बातों को ध्यानपूर्वक सुनो और

समझो मेरे बच्चे यदि अचानक से कोई भी

व्यक्ति आकर तुम्हें कोई रास्ता बताता है

जिसे तुमने आज से पहले कभी नहीं सुना था

वह तुम्हें राय दे रहा है और तुम्हारा

हृदय उस बात के लिए कहता है कि हां वह राय

सही दे रहा है तो मेरे बच्चे वही एक ऐसा

मार्ग है जो तुम्हारे सामने तो है लेकिन

तुम उस पर चल नहीं रहे हो क्योंकि

तुम्हारा हृदय बोल तो रहा है कि यह सही

रास्ता है लेकिन तुम्हारा मन कहता है कि

नहीं तो तुम इस रास्ते पर नहीं चल सकते

तुम चल नहीं पाओगे तुम्हारा अविश्वास

तुम्हें आगे जाने नहीं दे रहा है इसलिए

मेरे बच्चे मैं तुम्हें बताना चाहती हूं

कि तुम अपने हृदय की बात को सुनो वह

शक्तियां तुम्हारे साथ हैं तुम्हें उन्हें

महसूस करने की कोशिश करना है क्योंकि जो

शक्ति तुम्हें सही रास्ते पर चलाना चाहती

है जो तुम्हें मंजिल तक पहुंचाना चा आती

है वही तुम्हें किसी भी व्यक्ति के रूप

में आकर उस मार्ग पर चलने के लिए रास्ता

बताती है यदि तुम फिर भी अविश्वास करके

उसकी बातों को नहीं सुनते तो मेरे बच्चे

तुम्हें जीवन में आगे कई मोड़ ऐसे आएंगे

जहां पर तुम्हें बहुत ज्यादा पछतावा होगा

क्योंकि मैं प्रकृति की सहायता से ही मदद

करती हूं प्राकृतिक में विराजमान

किसी भी व्यक्ति किसी भी जानवर किसी भी

पेड़ पौधे या किसी रूप में तुम्हारी मदद

के लिए तैयार रहती हूं और तुम्हारी मदद

करती हूं इसलिए तुम यदि प्राप्त हो रही

मदद को अनदेखा कर दोगे या अनसुना कर दोगे

तो मैं चाहकर भी तुम्हारी मदद नहीं कर

सकती और अगर तुम मेरी बातों को अपनाओ ग तो

तुम्हारा सभी काम बनते चले जाएंगे और इस

काम को दुनिया देखेगी जब दुनिया को यह

आभास होगा कि सच में तुम एक बहुत ही

शक्तिशाली और कुछ भी कर गुजरने वाले इंसान

हो मेरे बच्चे सफलता और असफलता में केवल

थोड़ा ही अंतर होता है जब बातों को सही

तरीके से समझ लो तो सफलता तुम्हारे कदम

चूमती है और वही तुम उस क्रिया को ना

समझोगे तो केवल असफलता प्राप्त होती है

मेरे बच्चे जो देख ना सके उसे दिखाना

व्यर्थ है जो सुन ना सके उसे सुनाना

व्यर्थ है मेरे बच्चे तुम जो देख रहे हो

जो सुन रहे हो और जो उम्र भर कर रहे हो वह

तुम्हारी आध्यात्मिक उन्नति का फल है

ऊर्जा के स्तर पर जो परेशानी तुम्हें हो

रही है दूसरों को भी हो ऐसा आवश्यक नहीं

इसलिए मेरे बच्चे जो बच्चे अभी उसे देखने

समझने और सुनने को तैयार नहीं है उन्हें

सत्य का प्रकाश दिखाने की कोशिश मत करो

मेरे प्यारे बच्चे तुम वह हो जो दूसरों को

अंधकार से प्रकाश में लाने का कार्य करते

हो जो भटका है वह स्वयं आएगा तुम्हारे पास

कुआ प्यासे के पास नहीं जाता प्यासा स्वयं

कुआ को ढूंढ लेता है भौतिक बाद संसार में

मानव अपने भौतिक शरीर को ही परम सत्य मान

बैठा है जो तुम्हारे अस्त तोव कण मात्र भी

नहीं है जैसे तुम जिस जल को जिस पात्र में

रखो वह उसी रूप में दिखाई देता है यदि उसी

जल को धरती पर बिखेर दो तो भी जल का अपना

अस्तित्व रहे का इसी प्रकार यह भौतिक शरीर

तुम नहीं हो यह बस एक अस्थाई पात्र है

जिसमें तुम्हारी परम चेतना आत्मा ने धारण

किया है वह भौतिकवादी युग तुमसे कहेंगे

आत्मा दिखाई नहीं देती तो वह है ही नहीं

तो इसका उत्तर उन्हें यह देना अनेकों

वस्तुएं हैं जो दिखाई नहीं देती किंतु वह

होती हैं उन्हें केवल महसूस किया जा सकता

है जैसे भूख प्यास गर्माहट

ठंडक पीड़ा ठीक इसी प्रकार वह ऊर्जा जो इस

भौतिक शरीर को चला रही है वही अंतिम सत्य

है जिसे तुम आत्मा कहते हो जब तक आत्मा

भौतिक पात्र में रहती है तब तक तुम इसी

शरीर को सत्य मानकर सब करते हो किंतु जैसे

ही वह ऊर्जा शरीर को छोड़ है मानव का यह

बहुमूल्य शरीर मिट्टी के समान ढेर हो जाता

है कोई भी सगा संबंधी परिजन उस शरीर को

नहीं रखना चाहता जो प्रयोजन तुम्हारे

आत्मा के लिए सारी संपत्ति दाव पर लगाने

को तैयार होते हैं वही लोग उस आत्मा के

निकल जाने पर उस शरीर के लिए कुछ नहीं

देना चाहते यहां तक कुछ दिन भी उस शरीर के

साथ नहीं रह सकते आत्मा रूपी ऊर्जा के

निकलते ही वह इस भौतिक शरीर को ठिकाने लगा

देते हैं अब तुम ही उत्तर दो अस्तित्व

किसका है शरीर का या आत्मा का मेरे बच्चे

तुम जिस मार्ग पर हो वह तुम्हें परम सत्य

से जोड़ रहा है उसे अंतिम सत्य को प्राप्त

करना तुम्हारा अंतिम लक्ष्य है यदि तुम रे

संकेतिक रहस्य को समझ गए तो हर एक दिन

संकल्प लेते रहो मैं भाग्यशाली आत्मा हूं

मैं शरीर नहीं ज्योति स्वरूप आत्मा हूं

मैं आनंदित हूं क्योंकि तुम्हें

अध्यात्मिक मार्ग में काफी आगे तक जाना है

मेरे बच्चे तुम्हारा विचलित मन मुझे भी

विचलित कर देता है तुम क्यों सब कुछ भूलकर

वापस खुद को उसी परिस्थिति में डाल देते

हो मेरे बच्चे तुम्हारी उदासी और तुम्हारे

आंसू मुझे भी दर्द पहुंचाते हैं तुम्हारे

मन में उठने वाले सभी सवालों को शांत करो

मैं तुमसे वादा करती हूं तुम्हारे दिल से

निकली इच्छा मैं अवश्य पूर्ण करूंगी बस

सबसे पहले पूरी ईमानदारी से अच्छे के बारे

में सोच लेना मंजिल पाने की चाह में सफर

को मन चाहा मत करो मैं हमेशा तुम्हारे साथ

हूं मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा करना

मैं फिर आऊंगी तुमसे मिलने तुम्हारा

कल्याण हो ओम नमः शिवाय जय मा काली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *