महायोगी गोरखनाथ और माँ काली का युद्ध | Mahayogi Gorakhnath Part 11 | Maa Kali Gorakhnath 11 | Chanda - Kabrau Mogal Dham

महायोगी गोरखनाथ और माँ काली का युद्ध | Mahayogi Gorakhnath Part 11 | Maa Kali Gorakhnath 11 | Chanda

ए रुक जाओ

कि आज तक इस सृष्टि पर ऐसा कोई पैदा नहीं

हुआ जो गोरखनाथ के बढ़ते कदमों को रोक

सकते हैं

एक महत्वपूर्ण चेतावनी देती हूं गोरखनाथ

रुक जाओ

अगर तुमने

उड़ जाओगे

अगर तुम में साहस है तो छुपकर चेतावनी

क्यों देती हो मैं भी देखूं तुम्हारा साहस

जो डरपोक होते हैं वह चुप कर चेतावनी नहीं

देते हैं

कि मेरे समक्ष अप विद देखते हैं कौन

मृत्यु को प्राप्त होता है सावधान

कि मैं

अजय को

कर दो

में

ही काली माता आपको गोरखनाथ का परिणाम है

मैं तुम्हारे

कि

माता प्रसन्न क्षमा करने या ना करने का

नहीं है आप तो देवी स्वरूप हो

महाकाली आप मेरे लिए बहुत ही आदरणीय है और

पूजनीय है कि गोरखनाथ नाथ योगी जरूर सामने

लेकिन

यह लेकर आ

कर दो

अजय को

कर दो

कि हे माता काली आप मुझ पर इस तरह से

क्रोधित क्यों हो रही हो मैं इसका कारण

जानना चाहता हूं

कुछ जानते हुए भी अनजान मत बनो गोरखनाथ

अपने मेरा क्षेत्र है

कि जो

क्वेश्चन की बलि देकर मुझे प्रसन्न करना

पड़ता है

ऐसा क्यों कोई असर नहीं पड़ता है लेकिन

छोटे-छोटे टुकड़े करते-करते बलि ले लेती

हूं

हे माता आपका इस तरह निर्दोष प्राणियों की

बलि लेना एक नहीं है

[संगीत]

है और वैसे भी हम संतों पर आपके यह नियम

लागू नहीं होते हैं

कि मुझे ज्यादा उपज देने की आवश्यकता नहीं

है गोरखनाथ मठ

कि किस प्रक्रिया नियम लागू होते हैं यह

सोचना हमारा काम है

क्योंकि इस समय में तुम मेरे अधिकार

क्षेत्र में खड़े हो

मैं तुम्हें एक आखिरी अवसर प्रदान करती

हूं गोरखनाथ मठ

कि अगर तो अपने प्राणों की रक्षा चाहते हो

तो इतना अधिक है कि भेज दो तो

ब्लुटूथ

अजय को

क्यों नहीं माता नहीं अपने शिष्यों और

भक्तों की रक्षा करना मेरा परम धर्म है

मैं स्वयं के प्राणों के लिए किसी से की

बलि नहीं दूंगा आपको जो करना है कर लीजिए

अब

लुट गोरखनाथ लगता है तुम्हारा अपने

प्राणों से मोह भंग हो चुका है द्रविड़ ने

ड्यूटी पर हो

तुम्हें शायद मेरी शक्तियों का अंदाजा

नहीं है

कि मैंने बड़े-बड़े राक्षसों का डर से

सिलेक्ट करके खून किया है गोरखनाथ

सृष्टि में देव दानव मानव किसी ने प्रशांत

ने जो मेरा सामना कर सके और तुम तो एक

मामले से योगी गोरखनाथ

पता लगता है आपका सामना किसी धूनी रमाने

वाले बाबा से नहीं हुआ है

अन्यथा आपको उनकी शक्तियों के बारे में

ज्ञात होता था हम ऋषि सैकड़ों-हजारों

वर्षों तक तप करते हैं

मैं तो भगवान से शक्ति प्रदान होती है

और हम जब कल्याण करते हैं

है तो यह संसार चलता है और स्वयं ब्रह्मा

के लिखे लेख को पढ़ छन में बदल सकते हैं

और हमारे लिखे लेख को संसार में कोई नहीं

बदल सकता

माता-पिता आज यह ढूंढ हमारे वाला गोरखनाथ

रात धरती आकाश पाताल चारों दिशाओं को

शक्तिमान कर दो

है और आपको खुले शब्दों में चेतावनी देता

है यह आपके मन में जो आए चीजी

पीढी को

[संगीत]

आज हम भी तो देखें हमारी योग शक्तिजीत है

यह अभिमान जीता है हम्म तुम्हें कोई नहीं

बचा सकता गोरखनाथ मठ

कर दो

कर दो

MP

लुट

इस

मुद्दे को

कर दो

कर दो

कर दो

कर दो

कर दो

कर दो

कर दो

कर दो

अजय को

कर दो

कर दो

कर दो

कर दो

कर दो

कर दो

कर दो

हुआ है

कर दो

कर दो

अजय को

कर दो

और सुनाओ

अजय को

कर दो

और

[संगीत]

तुम ठीक हो

[संगीत]

कर दो

है कि शहर में कालों नाथ मुझे मैं अंदर

बंद

विचारी

हंसी थी साइलेंट नाथ मुझे में अंतर

इस

प्यारी

हंसी यहां है दुग्गी जूमला

ए प्रेयर

MP ईएस बहनें कालों ना सुने मुझे में

अनधिकारी

पढ़ने में का नात मुझे में

[संगीत]

उड़े रे

[संगीत]

तेरा घाघरा

[संगीत]

कि

[संगीत]

उन्हें मे नरभक्षी लुट की बनकर खुश

विनय को

गुस्सा करें का ने

ली थी

[संगीत]

आज

[संगीत]

दिनांक बचाने है को

[संगीत]

शुरू करो

को

चूरमा

लुट

मेरा चेहरा बन जाति है

कि बहन

तु तु

अमेज़न अंदर इन थे विचार मीडियम

पाणि कुठार

नाथ मुझे दो

[संगीत]

अजय को

[संगीत]

कर दो

अजय को

कि

उन्हें

नाहक प्योर घी तेल हम शक्तिं

झाला

में

शक्तिमान आप पता नहीं

हु मे

झाल

[संगीत]

धोऊंगी खता नही आंसू

को

स्ट्रेट

कर्मों री

कि बहनें

काजोल ना सूझे हुए दो अंदर इन थे विचार

मीडिया

पर ने

नाथ मुझे में

[संगीत]

उड़े रे

उड़े रे

[संगीत]

तेरा घाघरा

[संगीत]

ओढणी यज्ञ

नियुक्त किए जाने वाली

अ जुबान

झाली है कि विनोद

दे रे

ईद तो

चित्तौड़ अगली है

पूर्व झाल

कर दो के

पिंपल्स को एक

तेरी

हंसी बिल्कुल ऐसा ना मुझे में

अनधिकारी

में का नाम मुझे बता

गोरखनाथ सूजी बाहर निकालो मैं इस अग्नि

में भयंकर रूप से जल रही हूं

मुझ से नहीं हो रही है मुझे बाहर निकालो

योगिराज मैं हार गई है ना शिरोमणि विजय हो

गए हैं

तो कृपा करके मुझे बाहर निकालो जो माता आप

तो चंडी रूप हो इस सृष्टि में आपका सामना

कोई नहीं कर सकता हूं

कि हम तो मामुली से धूनी रमाने वाले बाबा

है अब लीजिए ना हमारी भेज

कि हिना शिरोमणि मुझे क्षमा करें कि मैं

आपके शक्तियों को जान नहीं सकी मैंने अपनी

शक्तियों के अभिमान में जाने आपको

क्या-क्या कह दिया मुझे चमक रही योगिराज

है

कि आप में साक्षात भोलेनाथ का तेज है अपनी

योगशक्ति समेटकर पूंजी सनी से बाहर निकाल

लिए योगिराज प्रोजेक्ट कोई भेद नहीं चाहिए

नहीं माता आ मैं आपको बाहर नहीं निकल सकता

इसलिए आपको तीन वचन मुझे देने पड़ेंगे अ

कि अगर आपको यह स्वीकार है तो मैं आपको

बाहर निकाल देता हूं

कि योगी मुझसे कोई भी ले सकते हो फिर से

बच्चन स्वीकार सकते हो लेकिन मैं इस भयंकर

अग्नि में और पीड़ा सहन नहीं कर सकती

यथाशीघ्र तय योगी नाथ तीनो वचन कौन-कौन से

हैं मापा पहला वचन तो आप मुझे यह दो आप

अपने मंदिर में देश स्वरूप किसी इंसान की

बलि नहीं लोगे और जो भी व्यक्ति आपके

दरबार में मन्नत लेकर आएगा आप उसके साथ

उच्च नीच का कोई भेदभाव नहीं करोगी और

तीसरा वचन यह है आप किसी साधु का अनादर

नहीं करोगी बल्कि उनके लिए आपके मन में

उचित मान-सम्मान होगा है और आपको यह भी

ज्ञात होना चाहिए किसी योगी का अपमान करने

से बड़ा पाप लगता है ना शिरोमणि मैं आपको

यह वचन देती हूं कि आज के बाद में किसी

इंसान की बलि नहीं लूंगी मेरे मंदिर में

जो भक्त श्रद्धा से आएगा जो भी वेट यह

चढ़ावा चढ़ाए का यह वही मुझे स्वीकार होगा

और ना ही मैं कभी किसी साधु का अपमान

करूंगी भूलकर भी

मेरे हृदय में सदा उनके लिए आदर और सम्मान

रहेगा ही योगिराज मुझे आपकी तीनों बच्चन

स्वीकार हैं और मुझे कृपया इस भयंकर अग्नि

से बाहर निकालिए ठीक है मावा मैं आपको

बाहर निकालता हूं

जय

हिंद

माता अब मेरी बात ज़रा ध्यान से सुनो कभी

मिथ्या वचन नहीं नात कहे

कभी मिथ्या वचन नहीं

नाथ कहते हैं काली देवी तुझे याद मेरी पा

रहे हैं काली देवी कुछ यादें मेरी बात रहे

अमिताभ बच्चन

अमिताभ बच्चन नहीं था कि

मुझे याद

रहे हैं

[संगीत]

[संगीत]

कि यह नर चोला हमने

जैसा भी पाया है

नाथों के नाथ मेरे भोले चीख की माया है

कोई देवी-देवता

कोई यहां इंसान बना किसी का हृदय खाली है

किसी को यहां ज्ञान बना

छोटा नाम बड़ा कोई सभी एक समान है

शक्तिशाली मत सब्जियों यही तो प्यार है

यहां जुड़ी चीजों

साथ रहे शेयर

यहां जुड़े बीच दोनों

साथ रहे

काली देवी तुझे याद मेरी बात रे तालिब

विद्या मेरी तरह से प्रभावित या वचन नहीं

डांट कहीं कभी मिथ्या वचन नहीं था कि खाली

पेट विद्या तुम्हारे पास अब एक मुझे यह

झरबेरी

बहुत रहे

[संगीत]

तेरे मंदिर में इंसान की बलि नहीं ले रहा

तू जैसी जिनकी मन्नत है वैसा फल देना तू

जैसी जिसकी इच्छा है वैसे भी क्वेश्चन आता

है

श्रद्धा लेकर ही कोई भी

तेरे मंदिर में जाता है

सच्ची भक्ति ही सदा

आधार बनती है

हम दिखना भत्तों का घर चित्त से तू सुनती

है

कोई दी नहीं रहीं

ज्ञात रहे

कोई दिन नहीं

आ हाथ रहे

करिदे तुझे याद मेरी तरह अबे तुझे पा रहे

अमिताभ बच्चन

अमिताभ बच्चन

तुझे

पूछ

रहे हैं

[संगीत]

कि

यदि

मुझ

तो अभी तक किसी योगी का

नहीं अपमान हर देवी-देवता

चाहते हैं जब तक कल्याण हो

टुबमेट तो हार-जीत लगी रहती है

हम अंधे कभी मत करो की नीति यही कहती है

और मुझे ज्यादा कुछ नहीं समझणा है

कहना था जो कह दिया

अब मुझे जाना है

कि लेमन के कमल

दिन-रात रहे शेयर

ओके लेमन के कमल दिन जरा

शेयर काली देवी की याद में वृद्धि रहता

हृदय वे तुझे याद मेरी ताकत रे कभी मिथ्या

वचन नहीं दांत करें तभी अमिताभ बच्चन नहीं

ना पे पाली दुबे कुछ विद्यार्थी मेरी बात

राय तालिब तुझे याद मेरी बहुत रे

[संगीत]

शिव अवतारी गोरखनाथ

आपने मेरा अभिमान तोड़कर मुझे नहीं रहा है

उससे मेरा जीवन धन्य हो गया है आज मुझे

एहसास हुआ है कि कोई भी देवी देवता अपने

आप को शक्तिशाली ना समझें क्योंकि उससे

बड़ा इस सृष्टि में कोई ना कोई अवश्य होता

है निर्माता अब हम यहां से प्रस्थान करना

चाहते हैं ताकि हम अपने कार्यों को पूर्ण

कर सकें अ अयोध्या नाथ जी की

झाला

[संगीत]

कि आदि डुबोई लुटिया

MP

कर दो

ये

[संगीत]

कुछ

[संगीत]

नहीं कहेगी

पूछेगी

[संगीत]

साल्ट ए खोल बनी है मैया महाकाली वाली

लालटेन फूल बनी है मैया महाकाली पहले के

हाथ बनी है भैया खप्पर वाली चप्पलें के

हाथ बनी है भैया खप्पर वाली नहर में डूबने

की माला है डाली कुछ कुंठित करने वाली

जिसका समर्थन करने वाली

महिला दिखाइए

कर दो

[संगीत]

कर दो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *