महाकाली को क्रोध ऐसा Maa - Kabrau Mogal Dham

महाकाली को क्रोध ऐसा Maa

कि अब तो तुम्हें पाए बिना मेरा जीवन कर

फिर सुंदरी मेरी बात मान जाओ और मेरा

प्रेम निमंत्रण स्वीकार कर लो मैं जीवन भर

तुम्हारे चरणों का दास बना रखूंगा

प्लेलिस्ट महिषासुर

वास ताकि अगले ने तीन पत्ती को धो लिया है

का रिश्ता की काली मां तेरी आत्मा को

आध्या

[संगीत]

शुक्र है

और आप व्यक्तियों

तेरा स्पर्श करने को लालायित है

को अधिकतम बार तुझे चेतावनी देती हूं

तुरंत पाताल लोक चले जाओ अन्यथा इससे यह

कर दो

कि इस युद्ध में मुझे तमाम शिकायत में

सदा-सदा के लिए मान व देवताओं को भयभीत कर

दूंगी और डॉली जी

पूरे मेरा प्रेम निवेदन स्वीकार करके पूरा

युद्ध के लिए ललकारा है अब मैं तुझे

समाप्त करके फिर हम यह क्वेश्चन पूंछा हुआ

था ना

[संगीत]

अजय को

[संगीत]

कर दो

[संगीत]

कर दो

[संगीत]

कर दो

[संगीत]

कि

उन्हें शुभकामनाएं देते हैं

[प्रशंसा]

[संगीत]

कर दो

कर दो

[संगीत]

अजय को

कर दो

[संगीत]

कि अ

कर दो

[हंसी]

बहुत ही

तो

बहुत करता हूं

में आ

रे तुझे इतनी सुंदर है धुंध भी

तूने महाबली महिषासुर के साथ शत्रु का

करके भूल की है

उन्हें ना रिसर्च कर कुछ पर अब तक प्रणाम

तक प्रहार नहीं किया और

फिर तुम्हें महाबली का जूस चेस और तो उस

पर दया नहीं करूंगा अब

के लिए वक्त अपनी व्यस्तता का परिणाम कब

है

[संगीत]

कर दो

[प्रशंसा]

[संगीत]

झाल

कर दो

[प्रशंसा]

[संगीत]

इस पूरे क्षेत्र का अंत कर दिया अपितु आप

रोम तेरा डांस करते कायम है

[संगीत]

कि अ

[संगीत]

कर दो

अजय को

अजय को

झाल

[संगीत]

MP सॉन्ग ऑल

[संगीत]

यह

[संगीत]

तुम हो

आ रहा

कर दो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *