महाकाली कलकत्ते वाली आल्हा स्वर -संजो बघेल - Kabrau Mogal Dham

महाकाली कलकत्ते वाली आल्हा स्वर -संजो बघेल

कलकत्ते

वाली जिनके आज रहे गुनगान जिनका भव बना है

[संगीत]

मंदिर कलकाता बंगाल में जा जिसे

दक्षिणेश्वर मा

काली कहते हैं सब लोग बताए विश्व प्रसिद्ध

मा का

मंदिर लोग यहां दर्शन को आ दे जो वरदान

किसी

को वरदान सफल हो जाए मा काली कलकत्ते

वाली तेरा वचन ना खाली जा मा काली कलकत्ते

वाली जय

[संगीत]

काली मा काली कल ते वाली तेरा वचन न खाली

जा देश विश से

श्रद्धालु आते मा काली के द्वार मा काली

अपने भक्तो

के सपनों को करती सकार मांगी मुराद पूरी

[संगीत]

करती कर देती मा भाव से पार बना हुआ है

गंगा

किनारे मैया का पावन दरबार मैया के दर्शन

पाने

को आता है सारा संसार लाखों भक्त लोग आते

हैं हो जाती है भीड़ पार मा काली तू भक्त

जनों

को खाली हाथ नहीं लौटा मा काली कलकत्ते

वाली तेरा वचन ली जा मा काली कलकत्ते

[संगीत]

वाली मा काली कलकत्ते वाली तेरा चचन खाली

जा इन क्या बन सकती पीठों

में शामिल है ये धाम बता जब विष्णु ने

माता सती

के सबके टुकड़े किए बताए तभी सती के दहन

पैर

[संगीत]

की उंगली चार गिरी यहां आ शक्ति पीठ बन

गया यहां भी आदि भवानी मा क आ आदि शक्ति

महाकाली रूप

[संगीत]

में विराजमान यहां हो गईया कई तांत्रिक

सिद्ध महात्मा

मां तेरी चौखट पर है आ करके तेरी पूजा

अर्चना लेते बड़ी सिद्धियां पाए मा काली

कलकत्ते

वाली तेरा वचन न खाली जाए मा काली कलकत्ते

वाली जय

[संगीत]

काली

[संगीत]

मां काली कलकत्ते वाली तेरा वचन न खाली जा

गंगा टट के काली घाट

प बना है मां का धाम बता ये गंगा मैया ही

यहां पे उगली नदी गई कहला दक्षेश्वर मा

काली धाम

[संगीत]

की मूरत बड़ी भव्य बतला जो चांदी से बनी

हुई है पाव से शिवजी लिए दवा नर मुंडो की

माला

[संगीत]

पहने रूप भयंकर सा दिखलाए बाहर को निकली

है

जिया खून से सनी हुई दिखलाए मा तुमने

दुष्टों की

[संगीत]

खातिर रूप भयंकर लिया बना मा काली कल क

कते

वाली तेरा वचन ना खाली जाए मा काली

कलकत्ते

[संगीत]

वाली मां काली कलकत्ते वाली तेरा वचन न

खाली जा मां काली अपने भक्तों

[प्रशंसा]

की रक्षा करती हर पल आ बड़ी दयालु है मां

काली दया दृष्टि जिसने हो जाए जीवन में

आगे

[संगीत]

खुशहाली बिगड़े हुए काम बन जा रोग दोष मिट

जाते

सारे घर में सुख संपत्ति आ सोए भाग जाग

जाते

हैं मां काली के र पे जा जिसने सरण गही

मां

तेरी दिया उसे खुशहाल बनाए मां काली तू

कप्पर

[संगीत]

वाली भक्तों पे कृपा बरसा मा काली कलकत्ते

वाली तेरा वचन ना खाली जाए मा काली

कलकत्ते

वाली जय

काली

[संगीत]

मां काली कलकत्ते वाली तेरा वचन खाली जा

इसी दक्षिणेश्वर म

काली मंदिर का

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *