भगवान का संदेश माता रानी का संदेश ब्रह्माण्ड संदेश - Kabrau Mogal Dham

भगवान का संदेश माता रानी का संदेश ब्रह्माण्ड संदेश

हर हर महादेव प्यारे भक्तों प्यारे भक्तों

आज महादेव जी आपको बहुत ही महत्त्वपूर्ण

संदेश देने आए हैं इस संदेश को कृपा वश

पूरा सुनिए आज के मेरे संदेश में तुम्हें

यह ज्ञात होगा कि तुम्हें कौन से ऐसे

कार्य किए हैं जिन्हें करने से तुम्हारे

जीवन में निश्चित तौर पर बदलाव होंगे बस

तुम्हें आज मेरी कुछ बातों को मानना है

मेरे बच्चे यदि तुम मुझे मानते हो तो

तुम्हें उसका फल अवश्य प्राप्त होगा मैं

तुम्हारे द्वार पर सदा आता हूं और सदा ही

खाली हाथ लौट जाता हूं और आज मैं तुम्हारे

द्वार पर फिर खड़ा हूं

और फिर यदि मैं खाली हाथ चला गया तो मेरे

बच्चे इससे बड़ा अपमान मेरा और क्या होगा

कि तुम मुझे बार-बार खाली हाथ लौटा देते

हो मेरे बच्चे यदि तुम मुझ पर विश्वास

करोगे तो अपने जीवन में सफलता की सीढ़ी

चढ़ सकते हो और तुम यह देखो कि यदि

तुम्हें मुझ पर विश्वास है या नहीं यदि

तुम मुझ पर विश्वास करोगे तो सफलता की

सीढ़ी तुम्हारा इंतजार कर रही है तुम्हें

अपने जीवन में सबसे पहले यह समझना है कि

तुम्हारे लिए सबसे महत्त्वपूर्ण

कार्य कौन से हैं जिससे तुम्हें अपने जी

जीन में उन कार्यों को यदि पूरा नहीं

करोगे तो तुम कभी आगे नहीं बढ़ सकते जीवन

क्या है यह जानना तुम्हारे लिए बहुत

आवश्यक है मेरे बच्चे अगर तुम मुझ में

विश्वास रखते हो तो कमेंट बॉक्स में हर हर

महादेव ओम नमः शिवाय लिखना मत भूलना मे

बच्चे क्योंकि जीवन भगवान की देन है और यह

बहुत सुंदर रचना है यहां सुख और दुख दोनों

ही भोगे जाते हैं लेकिन तुम्हें हर हाल

में संयम बनाए रखना है मेरे बच्चे जब कभी

तुम सुख में रहे हो तो तुमने कभी भी मुझे

याद नहीं किया परंतु जब जब तुम पर दुख आया

है या कोई बपता आई है तुमने हमेशा मुझे

याद किया है मेरे बच्चे इंसान का स्वभाव

ही यही है कि सुख में उसे किसी की भी

जरूरत नहीं होती किंतु दुख में वह सदैव

सबको याद करता है और आज मैं तुम्हें यही

समझाने आया हूं मेरे बच्चे मैं जानता हूं

इस समय जो तुम्हारे हालात चल रहे हैं तुम

उन सबसे बाहर आना चाहते हो और तुम रात दिन

मुझे याद कर रहे हो तुम्हारा मन इन

हालातों से काफी विचलित हो चुका है इसका

कारण जीवन में आ रही समस्याएं हैं जिनका

तुम लगातार सामना कर रहे हो

परंतु मैंने आज तक तुम्हें जितनी भी बातें

बताने का प्रयास किया है तुमने उनमें से

किसी का भी पालन ठीक प्रकार से नहीं किया

है तुमसे पूछना चाहती हूं जब तुम मेरी

बातों का ठीक प्रकार से पालन नहीं करोगे

तो क्या तुम अपनी परेशानियों से बाहर निकल

पाओगे

मेरे बच्चे जो भी तुम्हारा हाल है मैं भली

भाति जानता हूं तुम्हारा पिता हर बार आकर

तुम्हें एक नया संदेश देता है परंतु उसके

बावजूद भी तुम मेरी बातों को अनदेखा कर

देते हो तुमने केवल आलस करते हो तुम

ज्यादा ध्यान का अभास नहीं करते हो और इस

बात की कामना करते हो कि तुम्हें तुम्हारा

उद्देश्य पता चल जाए बिना मेहनत की

तुम्हारा काम बन जाए तुम्हारा मन तुम्हें

गलत मार्ग पर ले जाता है और तुम केवल क्षण

भर के आनंद के लिए अपना उद्देश्य भूल जाते

हो तुम मुझसे कामना करते हो कि मैं

तुम्हरे लिए सभी मार्ग को सरल बना दूं

लेकिन मेरे बच्चे बिना मेहनत का कैसा फल

प्रिय

भक्तों भोलेनाथ जी को हमेशा से ही संकटों

को दूर करने वाला देवता माना जाता है यदि

आप महादेव जी को प्रसन्न करना चाहते हो तो

उसका जीवन बदलना निश्चित है और यदि महादेव

जी आपसे प्रसन्न होते हैं तो आप पे आने

वाला हर संकट हर

परेशानी दूर हो

जाएगी मेरे बच्चे तुम क्या समझते हो कि

मुझे तुम्हारा दुख

देखकर दुख नहीं होता तुमसे ज्यादा दुख

मुझे होता है

जब तुम गलत राह पर चलने लगते हो आज मैं

तुम्हें सही राह दिखाने आया हूं मेरे

बच्चे आपको अपने जीवन को एक नई दिशा में

ले जाना होगा और इस संदेश को पूरा सुनना

होगा जीवन पर चमत्कारी प्रभाव आपको देखने

को मिलेंगे बस आपको सब कुछ मेहनत से करना

है पलक झपकते ही इंसान को कुछ नहीं मिलता

अगर तुम मेहनत करते हो तुम्हें बहुत जल्द

अपने जीवन में बदलाव देखने को

मिलेंगे जिस दिन आप यह सब करेंगे उसी दिन

से आपके जीवन में सब कुछ अच्छा होने लगेगा

और किसी के भी आगे तुम्हें हाथ फैलाने की

जरूरत नहीं होगी मेरे

बच्चे जीवन पर चमत्कार होते हैं परंतु

उन्हें देखने के लिए उस नजर की जरूरत है

जिस नजर की आज मैं तुम्हें बात बता रहा

हूं अगर तुम मेहनत करते हो तो तुम्हें

तुम्हा फल अवश्य प्राप्त होगा और तुम

महसूस कर पाओगे उस मेहनत के फल को उसकी

खुशी को यदि तुम्हें पलक झपकते ही मैं सब

कुछ दे दूंगा तो तुम उसकी कदर कभी भी नहीं

कर पाओगे कदर वही होती है जहां मेहनत से

सब कुछ पाया हो मेरे बच्चे मैं तुमसे

अत्यंत प्रसन्न हूं किंतु तुम जिस राह पर

चलने की बातें करते हो मुझे वह पसंद नहीं

है मुझे तुम्हारे उद्देश्य से कोई भी

परेशानी नहीं है किंतु उस उद्देश्य को

पाने के लिए तुमने जो राहा चुनी है वह रहा

गलत है तुम्हें गलत राह पर ले जाने वाली

है

इसीलिए मैं तुम्हें समझाने आया हूं उस राह

को छोड़ अपनी अच्छी राह पर चलो जो तुम्हें

अंत तक खुशी का महसूस कराएगी

तुम्हें तुम्हारे जीवन में मिलने वाली हर

खुशी महसूस होगी उस राह पर जब तुम मेहनत

से सब कुछ पा लो तो मुझे अत प्रसन्नता

होगी और मेरा आशीर्वाद

तुम्हारे साथ हमेशा होगा तुम्हें खुद पर

विश्वास रखना है अपने उद्देश्य को पाने के

लिए मेरे बच्चे मेरा आशीर्वाद सदैव

तुम्हारे ऊपर बना रहेगा तुम्हारी राह में

आने वाले कांटों को फूल मैं बनाऊंगा किंतु

तुम्हें सच्चाई के राह पर चलना होगा हर हर

महादेव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *