बैरिकेडिंग तोड़ लाखों किसान दिल्ली कूच! देखते रह गए सारे भाजपाई! देखिए - Kabrau Mogal Dham

बैरिकेडिंग तोड़ लाखों किसान दिल्ली कूच! देखते रह गए सारे भाजपाई! देखिए

आज आर्य पार की लड़ाई है पिछले पाच सालों
से हम धरनाई करते आ रहे हैं लेकिन हमारे
हक हमें नहीं मिल रहा अरे किसानों का
आंदोलन है तुम्हे पता नहीं है अभी देखेंगे
वहां पर कितना जोर है उसे तोड़ेंगे तोड़

के दिल्ली में प्रवेश करेंगे पुलिस की
तानाशाही चल रही है अंदर नहीं जाने दिल्ली
संसद को भने के लिए जा रहे हैं प्रशासन के
द्वारा यहां पर ट्रैक्टर को रोखा जा रहा
है और सीधी तस्वीर देख रहे हैं

बड़े बे आदमी परेशान है सरकार को आख में
शम नहीं बकुल भी हमारे मल और हमारा अधिकार
जब तक नहीं मिलने वाला हम रुकने वाले
नहीं आप सीध तस्वीर देख सकते हैं पुलिस

फोर्स और ट्रैक्टर ड्राइवर और किसानों के
बीच में किस तरीके की झड़प हो रही है आप
तस्वीर देख सकते देखमी
को
आप देख सकते हैं कि पुलिस फोर्स के द्वारा
प्रशासन के द्वारा एक टैंकर भी मंगा लिया

है जिसमें मिट्टी भरी हुई है जिससे कि
आंदोलनकारी ट्रैक्टर वगैरह से जो यहां पर
पहुंच रहे हैं वह आगे ना बढ़ सके हजारों
की तादाद में किसान मौजूद है सब के सब

दिल्ली की तरफ जा रहे हैं आप सीधी तस्वीर
देख सकते हैं किस तरीके से किसान यहां पर
दिल्ली की तरफ जा रहे
हैं आप सीधी तस्वीर देख रहे हैं कि देखिए

महिलाएं भी किसानों के साथ में मौजूद है
पुलिस
जिबा
क्या है कहां जा रहे हो आप लोग हम दिल्ली
कुछ कर रहे हैं अब हमारी मांगे पूरी नहीं
होंगी हम रुकेंगे नहीं मांग पूरी नहीं

होंगी हम अपना हक लेके रहेंगे क्या मांगे
है आपकी यही मांगे है जो हमारी मांगे रुकी
हुई है वो हमारी मांगे पूरी कर दो हम अब
छोड़ देंगे अपने घर चले जाएंगे तमाम

महिलाए यहां पर मौजूद है और तमाम महिलाएं
यहां पर जा रही है अब सीधी तस्वीर देख
सकते हैं कि किस तरीके से महिलाओं का
जत्था किसानों के साथ दिल्ली की तरफ कूज

कर रहा है लेकिन आगे पुलिस
तमाम यहां देख सकते हैं किस तरीके
से जवान दिल्ली जा रहे दिल्ली दिल्ली क्या
करने जा रहे हो दिल्ली दिल्ली संसद को

भरने के लिए जा रहे हैं सीधी तस्वीर देख
रहे हैं कि किस तरीके से प्रशासन के
द्वारा किस तरीके से प्रशासन के द्वारा
यहां पर ट्रैक्टर को रोका जा रहा है और

सीधी तस्वीर देख रहे हैं जो ट्रैक्टर लेके
किसान अपने बॉर्डर की दिल्ली की तरफ पूछ
कर रहे हैं आप सीधी तस्वीर देख सकते हैं
किस तरीके से प्रशासन के द्वारा ट्रैक्टर

को रोखा जा रहा है सीधी तस्वीर देख सकते
हैं
क्या है सर आपके ट्रैक्टरों को अंदर नहीं
जाने जाने दे अंदर नहीं जाने दे रहे पुलिस

की तानाशाही चल रही है अंदर नहीं जाने दे
रहे आप देख सकते किस तरह से किसान को
परेशान करा जा रहा है किसानों का शोषण हो
रहा है पुलिस तंग कर रही है देखो पुलिस

तंग कर रही है मोबाइल लिए जा रहे हमा
वीडियो रिकॉर्डिंग नहीं करने दे रही है
पुलिस गाड़ियों से चाबी निकाल द है हमारी
आप सीध तस्वीर देख सकते किस तरीके से झड़प

और प्रशासन के द्वारा किसानों के बीच में
झड़प हो रही है ट्रैक्टर को रोकने की
कोशिश की जा रही है प्रशासन के द्वारा
तमाम यहां पर प्रशासन के बड़े बे वरिष्ठ

अधिकारी यहां पर मौजूद हैं और ट्रैक्टर को
रोकने के लिए ट्रैक्टर की चाबी प्रशासन के
द्वारा जो ये किया जा रहा है सीधी तस्वीर
देख सकते हैं आप सीधी तस्वीर देख रहे हैं

कि किस तरीके से किस तरीके से किस तरह से
यहां पर किसानों को रोखा जा रहा है किस
तरीके से आप सीधी तस्वीर देख रहे हैं अगर

चाबी किसानों की निकाल ली गई है ट्रैक्टर
से पुलिस प्रशासन के द्वारा क्या हुआ आंडी
क्या हुआ हमारा हक दे दो हक की लड़ाई लड़
रहे हैं बड़े की हमारी जमीन ले ली हम

बच्चे को क्या खवाए क्यों रोक रहे हो हमको
हा जमीन किसने ली है सरकार ने सरकार आपकी
बात काय नहीं सुन रही है सुनी नहीं न साल
हो गए मा ते
घरता लेकिन सबको रोक रखा है बॉर्डर स रखा

है हा किसान नहीं लेडी लेडीज पुलिस गुथ
रही है और ज पुलिस कुतर है किसानों का
जत्था यहां पर पहुंचा है तमाम महिलाए यहां
पर पहुंची है सीधी तस्वीर देख सकते हैं आप

किस तरीके से किसान यहां पर पहुंचे हैं
किसानों का जत्था ट्रैक्टर ट्रॉली लेके
किसान पहुंचे हैं मुबा मुबा मुबा

मुर्दाबाद सीधी तस्वीर देख सकते हैं आप
किस तरीके से यहां प किसानों ने अपना हक
लेने के लिए ये जो दिल्ली कुछ करने की जो
बात कही थी वो पूरी नजर आ रही है आप सीधी

तस्वीर देख क्या है यह कहां जा रहे य
ट्रैक्टर संसद संसद का घेराव है आज संसद
का क्यों राव कर रहे हो अरे किसानों का
आंदोलन है तुम्हे पता नहीं है कितने लोग

जा रहे हैं 25000 कहां जा रहे होरे दिल्ली
जाएंगे और
पैसा दे क्या क रहे हो भैया पैसा नहीं दे

रहे हमारा हां इन दिल्ली कुछ कर दिया हां
दिल्ली को कुछ कर दिया भैया क्या क्या
मिलेगा दिल्ली कुछ

कर मैं कह बूढ़े बूढ़े आदमी परेशान है
सरकार को आंखों में श्रम नहीं बिल्कुल भी
बताओ क्या होगा परेशान है सरकार ने क्या
कहा है कि हमारे करार है हमारे विचार सब

कुछ सब कुछ सरकार के हाथ में है बस उन्हें
लेने के लिए अपने जा रहे हैं क्या पता आज
सरकार दे दे हमको हां लेकिन बॉर्डर सील कर
रखे हैं तो आपको जाने कहां दिया जाए देखे

जाएंगे वो बॉर्डर भी तोड़ेंगे आज हां
बॉर्डर तोड़ेंगे आपको क्या है ये आगे बैठ
के कहां जा रहे हो सरकार दिल्ली क्यों जा
रहे हो किसानों की मांगे पूरी नहीं हुई इस

सील कर रखे हैं आपके बेशक देखेंगे उसे
क्या सील हो रहा है उसे तोड़ेंगे वहां से
जब बाहर तोड़ के निकले सासद चुनाव मोदी जी
आपको गारंटी देने की बात कर रहे हैं मोदी

हमने 15 साल से मोदी को देखते आ रहे हैं
लेकिन किसानों की कोई मांगे पूरी नहीं हुई
है जिससे हम किसान सब परेशान हो गए हैं अब
दिल्ली कूद संसद में कर चढ़ना है आपको

नहीं जाने दिया जाएगा ना अभी रोक लिया गया
है अभी देखेंगे वहां पर कितना जोर है उसे
तोड़ेंगे तोड़ के दिल्ली में प्रवेश
करेंगे जैसी भी परिस्थिति होगी हम वैसा ही
करेंगे लेकिन अब रुकने वाले है नहीं हमारे

मूल और हमारा अधिकार जब तक नहीं मिलने
वाला हम रुकने वाले हैं नहीं लेकिन आपके
लिए तो रोक रखा है ना पूरा सील कर रखा है
पुलिस फोर्स के द्वारा मुझे पता है सत्ता

अधिकारियों के सत्ता अधिकारियों ने पुलिस
बल को पूरा तैनात कर दिया गया है और हमें
बिल्कुल रोका जा रहा है आधे से ज्यादा
किसान भाई हमारे पीछे हैं लेकिन हम रुकने

वाले हैं नहीं आप देख सकते हैं कि तमाम
पुलिस फोर्स यहां प तैना किसानों की जो
आवान था कि 13 तारीख को किसानों ने

ट्रैक्टर की पूछ दिल्ली
कीबा क्या कहेंगे बॉर्डर तो सील कर रखे
बर्डर सील कर रखे आप लोग बर्डर सील हो हम
रुकेंगे नहीं कहीं भी हम सीधा दिल्ली

पहुंचेंगे
कहीं संसद भवन पहुच अपनी मांग रखेंगे संसद
भवन
पहुंचेंगे को प्रशासन द्वारा रोक दिया गया
है और प्रशासन ने बीच हाईवे पर किसानों को

रोक रखा है किसान संसद का घेराव करने के
लिए दिल्ली के लिए कूछ कर रहे हैं तमाम
महिलाएं यहां पे दिल्ली के लिए निकल चुकी
हैं आप सीधी तस्वीर देख रहे हैं तमाम

महिलाएं क्या है अम्मा कहां से आ रही हो स
का क्या लेना है आप पैसा लेने है पैसा ले
धरती के किससे लेना है किसे ही लेना अ

इनसे इन सरकार से हां चारों तरफ से सील कर
रखा है इन लोगों ने हमारे जो मुख्य लोग थे
उन्हो को गिरफ्तार भी कर रखा है हमारी
अपनी मांग थी किसानों की अ हमारे हमारे

चाता के रोके हैं यहां पे हमारे चाता के
रोके साने क्यों रोक रखा है कर रखा
है जब तक य हकना जब तक हम ही रहेंगे और
हमारा जो है मतलब जो अधिकारी है अधिकारी

है कोई सुनने को तैयार नहीं है इसलिए हम
दिल्ली कुछ करनी पड़ आप देख सकते हैं
दिल्ली कुच की जो आवान किया गया था आज वो
पूरा होने की क पर है टर किसान यहां पर

मौजूद है और दिल्ली की तरफ अब ट्रैक्टर भी
पूछ कर चुके हैं पुलिस फोर्स के बीच में
और किसानों के बीच में झड़प हो रही है आप
सीध ये दिखाओ ये आप सीधी तस्वीर देख सकते

हैं कि पुलिस फोर्स और ट्रैक्टर ड्राइवर
और किसानों के बीच में किस तरीके की झड़प
हो रही है आप सीधी तस्वीर देख सकते हैं कि
तमाम पुलिस फोर्स पुलिस फोर्स के
अधिकारियों को हटा दिया गया है और

ट्रैक्टर दिल्ली की तरफ पूछ कर रहे हैं आप
देख सकते हैं किस तरीके का बवाल है और
सीधी तस्वीर आपको मिल रही है आप देख सकते
हैं कि माहौल बिगड़ता हुआ नजर आ रहा है और

दिल्ली की तरफ यह लोग जा चुके हैं पुलिस
वालों को किसानों ने ढकेल के आगे कर दिया
है सर कहां जा रहे हो आप लोग हम दिल्ली
कुज कर रहे हैं संसद का घेरा करने के लिए

हमारे किसानों की करार है हमारी 10 पर की
समस्या है हमारी आबादी की समस्या है हमारे
घरों पर ना का नाम दर्ज है हमने कंपनसेशन
नहीं लिया अब हम जाएंगे दिल्ली और संसद का
घेराव करेंगे आज हम अरे तो बॉर्डर सील कर

रखे हैं कोई बात नहीं कोई बात नहीं मर
जाएंगे कोई बात नहीं आज आर्य की लड़ाई हां
पिछले पा सालों से हम धरनाई करते आ रहे
हैं लेकिन हमारे हक हमें नहीं मिल रहा है

थोड़ सा अंदर बाहर नहीं जाने दे देनी रही
है ना पुलिस नड अथॉरिटी की दलाल है पुलिस
अथॉरिटी के पूरा प्रेसर में है वो किसानों
को रोकना चाहती है लेकिन किसान आज बिल्कुल

भी नहीं रोकेंगे आप देख रहे हैं कि किस
तरीके से क ट्रैक्टर ट्र उने ट्रैक्टर को
पिंचर कर दिया बस को रोक लिया किसानों को
जेल भेज दिया लेकिन आज हम रुकेंगे नहीं

दिल्ली जाने से पहले क्या कहेंगे पम जी
क्या है ये कुछ नहीं कहेंगे देश में
तानाशा चल रहा है देख लीजिए ये देखिए इस
आदमी को हां
देता आप देख सकते हैं कि किस तरीके
से

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *